GLIBS
09-09-2020
र‍िया चक्रवर्ती को भायखला जेल में किया गया शिफ्ट,सेशन कोर्ट में जमानत के लिए पेश करेंगी अर्जी

मुंबई। सुशांत केस में ड्रग मामला सामने आने के बाद मंगलवार को कोर्ट ने रिया चक्रवर्ती को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। कानूनी प्रक्रिया में देर हो जाने की वजह से रिया को मंगलवार रात एनसीबी दफ्तर में बने लॉकअप में रखा गया था। जेल मैनुअल के हिसाब से सूर्यास्त के बाद कैदी की एंट्री जेल में नहीं होती है। रिया की रात एनसीबी लॉकअप में कटी। रिया की जमानत की अर्जी खारिज हो चुकी है। रिया को अब भायखला जेल में शिफ्ट कर दिया गया है।
रिया चक्रवर्ती एनसीबी लॉकअप में रात गुजारने के बाद सुबह भायखला जेल पहुंच चुकी हैं।। उनकी लीगल टीम जल्द ही बेल के लिए सेशन कोर्ट जाएगी। रिया को भायखड़ा जेल की महिला विंग में रखा जाएगा। वही बुधवार को शौविक चक्रवर्ती को एनसीबी दफ्तर से कोर्ट ले जाया गया। दीपेश और सैमुअल मिरांडा को भी कोर्ट ले जाया गया।

11-06-2020
ब्रिटेन की अदालत ने बढ़ाई नीरव मोदी दिक्कत, 9 जुलाई तक हिरासत में भेजा

नई दिल्ली। ब्रिटेन की एक अदालत ने भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी को गुरुवार को नौ जुलाई तक और न्यायिक हिरासत में रखने के आदेश दिए। भारत में अरबों रुपये के बैंक कर्ज घोटाले और मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों में अभियुक्त नीरव मोदी पिछले साल मई से लंदन की एक जेल में कैद है।नीरव मोदी को जेल से लंदन की वेस्टमिंस्टर अदालत में वीडियो लिंक के जरिए पेश किया गया। वह पिछले साल मार्च में गिरफ्तारी के बाद से वैंड्सवर्थ जेल में है। अदालत ने सुनवाई में उसकी हिरासत की अवधि नौ जुलाई तक बढ़ा दी।पंजाब नेशनल बैंक के साथ करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी के मामले में नीरव मोदी के खिलाफ ब्रिटेन में प्रत्यर्पण का मुकदमा चल रहा है। उसके प्रत्यर्पण के मामले पर सात सितंबर को सुनवाई होने वाली है। तब तक उसे हर 28 दिन इसी तरह सुनवाई के लिए पेश किया जाएगा।जिला न्यायाधीश सैमुअल गूजी ने नीरव मोदी से कहा कि आपके प्रत्यर्पण की प्रक्रिया के संबंध में सात सितंबर को होने वाली अगले चरण की सुनवाई से पहले आप की पेशी इसी तरह से वीडियो लिंक के जरिए होगी। इस दौरान नीरव मोदी ने सिर्फ अपना नाम व राष्ट्रीयता ही बताई। बाकी समय वह चुप ही रहा। वह (नीरव मोदी) सुनवाई के दौरान कागज पर कुछ लिख रहा था।न्यायाधीश गूजी ने प्रत्यर्पण की प्रक्रिया के पहले चरण की पिछले महीने अध्यक्षता की थी। दूसरे चरण के तहत सात सितंबर से पांच दिन की सुनवाई शुरू होगी।

 

29-04-2020
11 मई तक न्यायिक हिरासत में ही रहेगा नीरव मोदी, वीडियो लिंक से होगी सुनवाई

लंदन। हीरा कारोबारी नीरव मोदी को ब्रिटेन की एक अदालत ने मंगलवार को 11 मई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इसके बाद उसके मामले की पांच दिन वीडियो लिंक के जरिए सुनवाई की जाएगी। नीरव मोदी भारत में पंजाब नेशनल बैंक से दो अरब डालर (चौदह हजार करोड़ रुपये से अधिक) के कर्ज की धोखाधड़ी और मनी-लॉन्ड्रिंग के मामले में आरोपी है। साथ ही उसे भगोड़ा घोषित किया जा चुका है। वह अपने प्रत्यर्पण के आदेश के खिलाफ ब्रिटेन की अदालत में चुनौती दे रहा है। नीरव इस समय दक्षिण पश्चिम लंदन की एक जेल में है।. उसे मंगलवार को वीडियो लिंक के जरिए ही जेल से अदालत के समक्ष प्रस्तुत किया गया।ब्रिटेन की अदालतों में इस समय कोराना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण ऑनलाइन वीडियो संपर्क के माध्यम से ही पेशी हो रही हैं। नीरव के मामले में जिला जज सैमुअल गूजी ने पहले तो इस लॉकडाउन के दौर में प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई कार्यक्रम के अनुसार अगले महीने किए जाने पर आपत्ति जताई। बाद में सभी पक्ष मान गए कि सुनवाई के संबंध में अदालत की सीवीपी यानी सामान्य दृश्य प्रणाली का परीक्षण सात मई को होगा। 

इसमें केवल वकील शामिल होंगे। उसके बाद 11 मई को अंतिम सुनवाई शुरू होगी।जज ने कहा कि कुछ जेलों के कैदियों को व्यक्तिगत रूप से पेश कराया जा रहा है। इस लिए मैं वांड्सवर्थ जेल को निर्देश देता हूं कि नीरव मोदी को सुनवाई के लिए 11 मई को पेश किया जाए। यदि व्यक्तिगत रूप से पेश किया जाना व्यवहारिक ना हो तो सुनवाई में उसे वीडियो लिंक के जरिए शामिल कराया जाए। आज सम्बद्ध पक्षों में सहमति हुई कि सुनवाई के समय अदालत कक्ष में सीमित संख्या में ही लोग रहेंगे। नीरव मोदी को भारत के हवाले किए जाने की अर्जी से संबंधित मामले में यह सुनवाई पांच दिन चलेगी। ब्रिटेन सरकार ने भारत की अर्जी पर कार्रवाई के लिए स्वीकृति प्रदान कर दी थी। यह मामला भारत की दो जांच एजेंसियों केंद्रीय जांच ब्यूरो और सतर्कता निदेशालय ने दायर किया है। आरोप है कि नीरव मोदी ने भारतीय बैंक के फर्जी सहमति-पत्र दिखा कर विदेशों में बैंकों से कर्ज लिए और उस धन की हेरा फेरी की।

 

11-03-2020
दिल्ली हिंसा: ताहिर हुसैन के खिलाफ ईडी ने दर्ज किया मनी लांड्रिंग का मामला

नई दिल्ली। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा के दौरान खुफिया विभाग के अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में आरोपी ताहिर हुसैन के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय ने मामला दर्ज किया है। ईडी ने (मनी लांड्रिंग) धन शोधन निरोधक अधिनियम के तहत आम आदमी पार्टी के निष्कासित पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसके साथ ही कट्टरपंथी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के साथ ताहिर के कथित संबंधों की भी जांच की जा रही है।
इसी बीच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने मुस्तफाबाद निवासी इरशाद, आबिद और शाहदाब को हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि ये तीनों ताहिर हुसैन के बेहद करीबी हैं और 24 फरवरी को अंकित शर्मा की हत्या के समय भी ताहिर हुसैन के साथ थे। इससे पहले सोमवार को दिल्ली पुलिस ने ताहिर के भाई शाह आलम को भी हिरासत में लिया था। अंकित शर्मा की हत्या की जांच के दौरान शाह आलम के शामिल होने की बात भी सामने आई थी। वहीं रविवार को ताहिर हुसैन की सहायता करने वाले पिता-पुत्र रियासत अली और लियाकत को भी कड़कड़डूमा कोर्ट में पेश किया गया था। रियासत अली को तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया और उसके पिता लियाकत को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया।

29-02-2020
दिल्ली हिंसा : कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां गिरफ्तार, दंगा भड़काने का था आरोप

नई दिल्ली। दिल्ली में दंगा भड़काने के आरोप में कांग्रेस की पूर्व निगम पार्षद इशरत जहां को गिरफ्तार किया गया है। इशरत पर दिल्ली के खुरेजी इलाके में दंगा भड़काने का आरोप है। कोर्ट ने इशरत को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इशरत जहां पिछले 50 दिनों से नागरिकता कानून के खिलाफ प्रोटेस्ट भी कर रही थी। बताया जा रहा है कि उत्तर पूर्वी जिले में सोमवार और मंगलवार को सांप्रदायिक हिंसा के दौरान शाहदरा के जगतपुरी इलाके में भी दंगा हुआ था। इस दंगे का आरोप कांग्रेस नेता और पूर्व पार्षद इशरत जहां उर्फ पिंकी पर लगा है।

पुलिस ने पहले उन्हें हिरासत में लिया था और बाद में केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। कोर्ट में पेश किया गया,जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। पेशे से वकील इशरत ने कोर्ट में जमानत अर्जी भी लगाई, लेकिन खारिज हो गई। बता दें कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में अब तक 42 लोगों की मौत को चुकी है और सैकड़ों की संख्या में लोग घायल हैं। गृह मंत्रालय ने बताया कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने सार्वजनिक स्थानों से अधिकांश मलबा हटा दिया है। 

 

26-02-2020
आजम खान पत्नी और बेटे सहित भेजे गए जेल, 2 मार्च तक न्यायिक हिरासत में

नई दिल्ली। कोर्ट के आदेश पर समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान को जेल भेज दिया गया है। आजम खान के साथ उनकी पत्नी तजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला को भी जेल दाखिल किया गया है। 2 मार्च तक तीनों न्यायिक हिरासत में रहेंगे। एसपी रामपुर ने कानून व्यवस्था बिगड़ने की आशंका जताई है। कहा आजम को रामपुर जेल की जगह किसी अन्य जिले की जेल में रखा जाएगा। बुधवार को आजम खां के साथ पत्नी तजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला ने कोर्ट में सरेंडर किया था। आजम खां ने एडीजे 6 की कोर्ट में जमानत के लिए याचिका दाखिल की थी, लेकिन कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी। जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर तीनों को न्यायिक हिरासत में ले लिया गया। गौरतलब है कि आजम खां ने 20 मामलों में जमानत याचिका दायर की थी। कई मामले में तो जमानत मंजूर हो गई है। लेकिन बेटे अब्दुल्ला आजम के फर्जी प्रमाण पत्र और दो पासपोर्ट के मामले में धारा 420 के तहत दर्ज मामले में जमानत याचिका खारिज की गई है। अब उन्हें जमानत के लिए हाईकोर्ट जाना होगा।

16-01-2020
ओपी गुप्ता की बढ़ी मुसीबते, फास्ट ट्रैक कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के पीए ओपी गुप्ता को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। गुरुवार को फास्ट ट्रैक कोर्ट में राधिका सैनी ने मामले की सुनवाई करते हुए गुप्ता को 14 दिन की न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया है। इससे पहले ओपी गुप्ता को सिविल लाइन थाना पुलिस ने नाबालिग लड़की के साथ रेप के आरोप में गिरफ्तार किया था। गुप्ता पर आरोप है कि नाबालिग के साथ लगातार शारीरिक शोषण कर रहा था। एक सामाजिक संस्था की मदद से पीड़िता ने पुलिस को लिखित शिकायत दी थी। इसके बाद पुलिस ने गुप्ता को गिरफ्तार किया है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी ओपी गुप्ता के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के तहत जुर्म दर्ज किया है।

 

09-01-2020
ओपी गुप्ता को न्यायिक हिरासत मे कोर्ट ने भेजा जेल

रायपुर। पूर्व सीएम रमन सिंह के पीए ओपी गुप्ता को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। कोर्ट में इस मामले की अगली सुनवाई अब 16 जनवरी को होनी है। इससे पहले ओपी गुप्ता को सिविल लाइन थाना पुलिस ने  नाबालिग लड़की के साथ रेप  के आरोप में गिरफ्तार किया था। गुप्ता पर आरोप है कि नाबालिग के साथ लगातार शारीरिक शोषण कर रहा था। एक सामाजिक संस्था की मदद से पीड़िता ने पुलिस को लिखित शिकायत दी थी। इसके बाद पुलिस ने गुप्ता को शुक्रवार को गिरफ्तार किया। इस मामले में पुलिस ने आरोपी ओपी गुप्ता के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के तहत जुर्म दर्ज किया है।

 

20-12-2019
जासूसी के आरोपी नौसैनिक और हवाला कारोबारी गिरफ्तार

नई दिल्ली। खुफिया एजेंसियों और नौसेना की खुफिया इकाई ने पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ किया है। देश के अलग-अलग हिस्सों में की गई संयुक्त कार्रवाई में 7 नौसैनिक और हवाला कारोबारी को गिरफ्तार किया गया है। पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले नौसैनिक मुंबई, विशाखापट्टनम और करवड़ नौसैनिक अड्डे पर तैनात थे। इस संयुक्त कार्रवाई को आंध्र प्रदेश की राज्य खुफिया इकाई के सहयोग से अंजाम दिया गया। आगे की जांच जारी है। आंध्र प्रदेश राज्य खुफिया संस्था ने केंद्रीय खुफिया एजेंसियों और नौसैनिक खुफिया की मदद से देश के विभिन्न हिस्सों में शुक्रवार को इस कार्रवाई को अंजाम दिया। इस पूरे ऑपरेशन का नाम 'डॉल्फिन नोज' रखा गया था। कुछ संदिग्धों से और पूछताछ की जा रही है। शुक्रवार को सभी आरोपियों को विजयवाड़ा में एनआईए कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 3 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। गौरतलब है कि पूर्वी नौसैनिक कमांड का मुख्यालय विशाखापट्टनम है।

 

30-11-2019
हैदराबाद मर्डर केस : आरोपियों के खिलाफ जनाक्रोश, भीड़ ने पुलिस पर फेंके जूते-चप्पल

हैदराबाद। देश को झकझोर देने वाले हैदराबाद के रेप कांड से नाराज लोगों का गुस्सा शनिवार को फूट पड़ा। गुस्साई भीड़ ने शनिवार को उस थाने को घेर लिया था, जिसमें आरोपियों को रखा गया था। लोगों ने पुलिस पर भी चप्पलें बरसा दीं। शादनगर थाने में घुसने की कोशिश कर रही भीड़ को पुलिस ने जब रोकने की कोशिश की तो पुलिस पर लोगों ने चप्पलें भी चलाईं। बाद में एक स्थानीय अदालत ने सभी आरोपियों को 14 दिन के लिए जेल भेज दिया। प्रदर्शनकारियों ने आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिए जाने की मांग की। बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी शादनगर पुलिस थाने के बाहर एकत्रित हुए और आरोपियों के खिलाफ नारेबाजी की। इनमें से कुछ लोगों ने मांग की कि आरोपियों को मौत की सजा दी जाए। एक व्यक्ति ने कहा, ‘यदि उन्हें अदालत ले जाया जाता है तो यह पर्याप्त नहीं होगा। उनसे वैसा ही व्यवहार होना चाहिए जैसा उन्होंने पीड़िता के साथ किया।' एक अन्य व्यक्ति ने कहा, ‘यदि आप वैसा नहीं कर सकते तो उन्हें हमें सौंप दें।’

घटना के बाद से युवती का परिवार स्‍तब्‍ध है। युवती की मां ने बलात्‍कारियों के लिए वही सजा मांगी है जो हश्र उन्‍होंने उनकी बेटी के साथ किया था। लड़की की मां ने कहा, 'मेरी बेटी मासूम थी। मैं चाहती हूं कि उन्‍हें (दोषियों) को भी जला कर मार दिया जाए।' इस घटना के सामने आने के बाद से देश भर से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। देश भर में इस जघन्‍य घटना को लेकर काफी आक्रोश देखा जा रहा है। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के बेटे एवं निकाय प्रशासन मंत्री के टी. रामाराव ने कहा कि वह मामले पर व्यक्तिगत तौर पर नजर रखेंगे। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने घटना पर हैरानी जताते हुए इसे खौफनाक और बिना उकसावे की हिंसा बताया और कहा कि यह कल्पना से परे है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा कि वह इस मामले के मद्देनजर सभी राज्यों को परामर्श जारी करेगा कि वे महिलाओं के खिलाफ अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए एहतियाती कदम उठाएं। इधर स्थानीय अदालत ने आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। तेलंगाना पुलिस ने महिला डॉक्‍टर के साथ गैंगरेप, हत्‍या और जला देने के 4 आरोपियों को शुक्रवार को ही अरेस्‍ट कर लिया था। सभी आरोपियों को चंचलगुड़ा सेंट्रल जेल भेज दिया गया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को भरोसा दिलाया कि वे आरोपियों की 100 फीसदी दोष सुनिश्चित करेंगे और लोगों से सहयोग करने का अनुरोध किया।

 

27-11-2019
11 दिसंबर तक बढ़ी चिदंबरम की न्यायिक हिरासत

नई दिल्ली। आईएनएक्स मनी लॉन्ड्रिंग मामले में विशेष अदालत ने पी.चिदंबरम की न्यायिक हिरासत 14 दिन के लिए बढ़ा दी है। चिदंबरम ने कोर्ट द्वारा ईडी के तर्कों को खारिज अब वे 11 दिसंबर तक तिहाड़ जेल में ही रहेंगे। इससे पहले आज ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी अपनी बहन प्रियंका गांधी के साथ तिहाड़ जेल में पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबरम से मुलाकात करने पहुंचे थे। इस मौके पर उनके साथ पी.चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम भी पहुंचे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804