GLIBS
01-03-2020
कोलकाता में गरजे अमित शाह,कहा- हम नागरिकता देना चाहते हैं,ममता दीदी क्यों कर रही विरोध

कोलकाता। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर कोलकाता में गृहमंत्री अमित शाह ने  जनसभा को संबोधित किया। यहां अमित शाह ने टीएमसी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने एक बार फिर सीएए को सही ठहराया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी सीएए लेकर आएं,लाखों बंगालियों को इससे नागरिकता मिलती है। ममता दीदी ने इसका विरोध किया। बंगाल में दंगे कराएं, ट्रेनें जला दी गई, रेलवे स्टेशन जला दिया गया। मैं सवाल पूछने आया हूं कि हम नागरिकता देना चाहते हैं और आप इसका विरोध क्यों कर रही हो। आपको घुसपैठिए ही अपने लगते हैं। मैं बताने आया हूं कि 70 साल से जो शरणार्थी यहां आए हैं हम उनको नागरिकता देकर रहेंगे।

उन्होंने कहा कि अयोध्या में जहां प्रभु श्रीराम का जन्म हुआ वहां भव्य मंदिर बनाने के लिए हम 500 साल से लड़ रहे थे। अब पीएम नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर को तीर्थ स्थल बनाने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, सपा, बसपा और ममता राम मंदिर बनने के बीच में रोड़ा बने थें। अमित शाह ने कहा कि जब पीएम मोदी सीएए लेकर आए तो टीएमसी फिर से कांग्रेस और कम्युनिस्टों के साथ खड़ी हैं। उन्होंने कहा कि वे अल्पसंख्यकों को इस डर से भर रहे हैं कि वे अपनी नागरिकता खो देंगे। मैं अल्पसंख्यक वर्ग के प्रत्येक व्यक्ति को आश्वस्त करता हूं कि सीएए केवल नागरिकता प्रदान करता है और कुछ भी नहीं लेता है। यह आपको किसी भी तरह से प्रभावित नहीं करेगा। शाह ने कहा कि मैं उनसे पूछना चाहता हूं,'दलितों ने किसी भी तरह से आपके साथ कैसा अन्याय किया है? जब हम उन्हें नागरिकता देना चाहते हैं तो आप क्यों विरोध कर रहे हैं?'

13-01-2020
आधा दर्जन दलों का कांग्रेस की बुलाई बैठक से अलग रहना आखिर क्या बताता है? आखिर विपक्ष एकजुट क्यों नहीं है?

रायपुर। कांग्रेस ने देश की वर्तमान परिस्थितियों पर विचार करने के लिए सभी विपक्षी दलों को एकजुट करने की फिर से एक बार पहल की। लेकिन एक बार फिर विपक्ष एकजुट होने की बजाय बिखरा हुआ नजर आया। बीएसपी टीएमसी और सपा ने कांग्रेस से दूरी बनाए रखने में ही अपनी भलाई समझी। और सबसे महत्वपूर्ण पार्टी आप को तो बुलावा ही नहीं भेजा गया था। आप का अलग थलग रहना राष्ट्रीय मुद्दों के बीच दिल्ली के चुनाव के महत्व को साबित कर देता है। आखिर नागरिकता संशोधन कानून और नागरिकता रजिस्टर के विरोध के नाम पर दिल्ली और उत्तर भारत में मचे बवाल पर राजनीतिक रोटियां सेकने का कांग्रेसी प्रयास आप को अलग-थलग करने से फेल होता नजर आया। बहुजन समाजवादी पार्टी और टीएमसी ने तो साफ-साफ अपने आप को बैठक से अलग कर  बहन जी और दीदी का कांग्रेस से सहमत ना होने का फिर से एक बार प्रमाण सामने आया है। समाजवादी पार्टी भी इस बैठक से दूर ही रही। कुल मिलाकर आधा दर्जन बड़े दल अगर कांग्रेस की बैठक में शामिल नहीं होते हैं तो फिर यह कांग्रेस के लिए शुभ संकेत नहीं है बल्कि यह विवादों में घिरी मोदी सरकार के लिए राहत की बात है कि विपक्ष एक बार फिर एकजुट नहीं हो पा रहा है। लोकतंत्र की सबसे बड़ी खूबसूरती विपक्ष का मजबूत होना है। और एक बार फिर विपक्ष मजबूत होने की बजाय बिखरा हुआ नजर आ रहा है। जो कहीं ना कहीं सत्ताधारी दल को जाने अनजाने मजबूती प्रदान कर रहा है।

 

02-01-2020
प.बंगाल की झांकी को नहीं मिली गणतंत्र दिवस समारोह में मंजूरी, टीएमसी ने बताया अपमान

कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि इस साल गणतंत्र दिवस के मौके पर पश्चिम बंगाल की झांकी को मंजूरी ना देकर भाजपा ने राज्य के लोगों का 'अपमान' किया है। ऐसा इसलिए किया क्योंकि हमने नागरिकता संशोशन कानून (सीएए) का विरोध किया है। हालांकि रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को जानकारी दी कि बंगाल सरकार की झांकी का प्रस्ताव विशेषज्ञ समिति के पास दो बार भेजा गया। दूसरी बैठक में विस्तृत चर्चा के बाद इसे खारिज कर दिया गया। भाजपा ने कहा है कि टीएमसी को हर मुद्दे पर राजनीति करना छोड़ देना चाहिए। प.बंगाल के संसदीय मामलों के राज्यमंत्री तापस रॉय ने कहा,'सिर्फ इसलिए कि प.बंगाल भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों का विरोध करता रहा है, राज्य के साथ ऐसा व्यवहार किया जा रहा है। चूंकी हमने सीएए जैसे जन-विरोधी कानूनों का विरोध किया है, केंद्र ने हमारी झांकी के प्रस्ताव को खारिज कर दिया। ऐसा पहली बार नहीं है जब प.बंगाल की झांकी का प्रस्ताव ठुकराया गया है।

निकट भविष्य में भाजपा को इसका जवाब मिलेगा।' मामले पर प.बंगाल भाजपा का कहना है, झांकी के प्रस्ताव को इसलिए अस्वीकार किया गया है क्योंकि राज्य सरकार ने प्रस्ताव प्रस्तुत करने में नियमों और प्रक्रिया का ठीक से पालन नहीं किया था। प.बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा,'राज्य सरकार ने नियमों का पालन नहीं किया। बाकी राज्यों ने पालन किया, तो उनके झांकी के प्रस्ताव स्वीकार हो गए। टीएमसी को हर एक मुद्दे पर राजनीति करना बंद कर देना चाहिए।'जानकारी के मुताबिक वर्ष 2020 के गणतंत्र दिवस परेड के लिए 56 झाकियों के प्रस्ताव गृह मंत्रालय को प्राप्त हुए थे। इनमें से 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मंत्रालय या विभाग से आए थे। गणतंत्र दिवस परेड पर हुए पांच दौर की बैठक के बाद 56 झाकियों के प्रस्ताव में से 16 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 22 प्रस्तावों और मंत्रालयों व विभागों की 6 झाकियों को इस बार की परेड में शामिल होने के लिए चुना गया। चुने हुए प्रस्तावों में पश्चिम बंगाल की झांकी का प्रस्ताव नहीं है।

18-12-2019
ममता बनर्जी ने अमित शाह पर साधा निशाना, कही ये बात...

नई दिल्ली। प. बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने गृहमंत्री अमित शाह पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि नागरिकता कानून के खिलाफ देश में आग लगी है लेकिन अमित शाह इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। कोलकाता में बनर्जी ने कहा कि अमित शाह सिर्फ भाजपा के नेता नहीं देश के गृहमंत्री भी हैं। उन्हें सोचना चाहिए कि इससे कुछ हासिल नहीं होगा, देश में शान्ति के लिए उन्हें कोशिश करनी चाहिए। बनर्जी ने कहा कि देश में आग लगी है लेकिन अमित शाह कहते हैं कि नागरिकता कानून तो लागू होकर रहेगा। आखिर कितनी जेल, कितने डिटेंशन कैंप बनाओगे, क्यों देश को जला रहे हो। टीएमसी प्रमुख ने शाह के लिए कहा, आपने सबका साथ सबका विकास नहीं बल्कि सबके साथ सर्वनाश किया है। आपसे कहना चाहती हूं कि एनआरसी और नागरिकता कानून को वापस ले लीजिए और नहीं लेते तो मैं भी देखती हूं कि पश्चिम बंगाल में कौन इस कानूनों को लागू करता है। बनर्जी ने कहा कि भाजपा देश में सांप्रदायिक दंगे कराना चाहती है, बंगाल में हम उनको कामयाब नहीं होने देंगे। 

 

15-12-2019
भाजपा सांसद अर्जुन सिंह पर हमला, बाल-बाल बचे

कोलकाता। भाजपा सांसद अर्जुन सिंह की कार पर शनिवार रात ईंट और बम फेंके गए। पश्चिम बंगाल के जगद्दाल में भाजपा सांसद पर उस समय हमला हुआ, जब वो कंकिनारा से लौट रहे थे। इस हमले में भाजपा सांसद अर्जुन सिंह की कार का शीशा टूट गया। हालांकि सांसद इस हमले में बाल-बाल बच गए। भाजपा सांसद ने इस हमले का सीधा आरोप टीएमसी के कार्यकर्ताओं पर लगाया है। रिपोर्टस के मुताबिक कार के पर पहले तो ईंट पत्थर से हमला किया फिर उसके पास एक बम भी फेंका गया। भाजपा सांसद पर हमले की खबर सामने आने के बाद इलाके में तनाव फैल गया, जिसके चलते इलाके में पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) को तैनात किया गया। हमले को लेकर अर्जुन सिंह ने कहा है कि 'टीएमसी के गुंडों ने मेरी कार पर ईंट फेंके। इसके बाद मैं अपनी कार से बाहर आया और देखा कि एक व्यक्ति जमीन पर पड़ा है। उस व्यक्ति का नाम गणेश सिंह है। इसके बाद अचानक मेरी कार पर बम फेंका गया।'  उन्होंने राज्य सरकार पर आरोप लगाया है कि पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था चरमरा गई है। इसको ध्यान में रखते हुए राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किया जाए।

08-10-2019
मैच के दौरान मैदान में अंपायर को आया हार्टअटैक, मौत

इस्लामाबाद। पाकिस्तान क्रिकेट जगत के एक लोकप्रिय स्थानीय अंपायर का सोमवार को क्लब स्तर के टूर्नामेंट के मैच के दौरान मैदान पर हार्टअटैक आने से निधन हो गया। लायर्स टूर्नामेंट के दौरान टीएमसी मैदान पर नसीम शेख को दिल का दौरा पड़ा जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। मैच के आयोजक ने बताया कि मैच के अंपायरिंग के दौरान वे  गिर पड़े। एंबुलेंस में उन्हें समीप के अस्पताल ले जाया गया लेकिन रास्ते में उनका निधन हो गया।  56 वर्षीय शेख पेशे से कसाई थे लेकिन खेल के प्रति प्यार के कारण वह स्तरीय अंपायर बने।

02-09-2019
प. बंगाल में सांसद पर हमले के विरोध में बैरकपुर बंद, भाजपा और टीएमसी कार्यकर्ताओं में झड़प

कोलकाता। प.बंगाल में भाजपा और टीएमसी के बीच विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। ताजा घटनाक्रम सांसद अर्जुन सिंह पर जानलेवा हमले का है। भाजपा ने इसके विरोध में सोमवार को राज्य के बैरकपुर जिले में सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक बंद का ऐलान किया है। बंद के दौरान भाजपा और टीएमसी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए हैं। इस झड़प में 25 बीजेपी कार्यकर्ताओं के घायल होने की खबर है। बैरकपुर-बारासात इलाके में झड़प के बाद स्थिति कुछ तनाव में है। पुलिस के सामने दोनों पार्टियों के समर्थकों ने एक दूसरे गुट के कार्यकर्ताओं को दौड़ा दौड़ा कर पीटा। बता दें कि रविवार को बीजेपी नेता अर्जुन सिंह पर हमला हुआ था। इसके विरोध में सोमवार को बैरकपुर लोकसभा क्षेत्र में बीजेपी ने 12 घंटे का बंद बुलाया है।

इस मामले में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ममता सरकार पर जमकर हमला बोला। नड्डा ने कहा, "उत्तर 24 परगना जिले में भाजपा कार्यालय पर कब्जा करने का प्रयास और भाजपा सांसद अर्जुन सिंह और विधायक पवन सिंह के साथ हुई हिंसा अत्यंत निंदनीय है। ऐसे अवैध तरीकों का सहारा लेकर, टीएमसी पश्चिम बंगाल में फिर से लोकतंत्र के समय की हत्या कर रही है। गौरतलब है कि रविवार को उत्तर 24 परगना जिले के काकीनाडा इलाके में भाजपा सांसद अर्जुन सिंह की गाड़ी पर कुछ लोगों और पुलिस ने कथितरूप से लाठीचार्ज कर दिया। इसमें सांसद के सिर में गंभीर चोटें आई। अर्जुन सिंह ने आरोप लगाया कि बैरकपुर के पुलिस आयुक्त मनोज वर्मा ने उन्हें मारा, जिससे उनके सिर पर चोट लग गई। सिंह को बाद में इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया।

25-07-2019
प.बंगाल में हिंसा, भाजपा सांसद के घर के बाहर फेंका गया बम

कोलकाता। प.बंगाल के बैरकपुर में भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के घर के बाहर बम फेंके गए। बुधवार रात को भाटपारा नगर निगम के प्रमुख और अर्जुन सिंह के भतीजे सौरभ सिंह ने आरोप लगाया है कि ये एक तरह का जानलेवा हमला है। इतना ही नहीं सौरभ सिंह का दावा है कि घर के बाहर से कई गोलियां भी बरामद हुई हैं। उन्होंने इस हमले के पीछे सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के नेताओं का हाथ बताया है। इस घटना के बाद अर्जुन सिंह के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सौरभ सिंह के द्वारा की गई शिकायत के बाद अब अर्जुन सिंह के आवास के बाहर पुलिस, आरएएफ की तैनाती की गई है। बैरकपुर पुलिस के मनोज कुमार वर्मा भी हादसे के बाद मौके पर पहुंचे और पुलिस ने इस बात की जांच की कहीं वहां और भी जिंदा बम तो नहीं है। सौरभ सिंह का कहना है कि बुधवार रात 9 बजे जब हम मजदूर भवन पहुंचे, तो अचानक हमारे घर पर 2 बम फेंके गए। जैसे ही हम बाहर आए तो हमने वहां पर टीएमसी के नेता प्रमोद सिंह, संजय सिंह, नवनीत सिंह, रंजीत सिंह और हरगोविंद सिंह को देखा।

उनके पास अवैध हथियार और एक रायफल भी थी। भाजपा नेता की तरफ से दावा ये भी किया गया कि टीएमसी नेताओं ने जान से मारने के मकसद से 7-8 राउंड फायर की। उन्होंने कहा कि क्योंकि अर्जुन सिंह, मैं, पवन सिंह सभी एक ही परिवार के हैं इसलिए वह हमें निशाना बना रहे हैं। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव से पहले ही अर्जुन सिंह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे। वो आए तो अपने साथ टीएमसी के कई नेताओं और समर्थकों को भी साथ लाए। अर्जुन सिंह को टीएमसी में एक बड़े रणनीतिकार के तौर पर देखा जाता रहा है। 

02-07-2019
टीएमसी सांसद नुसरत जहां होंगी इस्कॉन की रथ यात्रा में शामिल

कोलकाता। बंगाली अभिनेत्री से सांसद बनी नुसरत जहां को इंटरनेशनल सोसाइटी फॉर कृष्णा कॉन्शियसनेस (इस्कॉन) ने 4 जुलाई को कोलकाता में अपनी रथ यात्रा के लिए आमंत्रित किया है। यह कार्यक्रम उसी दिन है, जिस दिन जहां की शादी का रिसेप्शन है। जहां ने मंगलवार को आमंत्रण स्वीकार करते हुए ट्वीट किया, "आमंत्रण के लिए धन्यवाद इस्कॉन कोलकाता। इस समावेशी कार्यक्रम के साथ जुड़ने में मुझे खुशी होगी।" इस्कॉन ने कहा कि जहां 'सामाजिक समरसता' हासिल करने की दिशा दिखा रही हैं।
अभिनेत्री ने इस्कॉन कोलकाता के प्रवक्ता राधारमण दास के एक संदेश को भी रीट्वीट किया। संदेश में लिखा है, "इस्कॉन कोलकाता रथ यात्रा उस सामाजिक समरसता का एक उदाहरण है जहां हमारे मुस्लिम भाइयों के द्वारा भी भगवान के रथ बनाए गए हैं। भगवान के कुछ सबसे सुंदर कपड़े भी हमारे मुस्लिम भाइयों द्वारा बनाए गए हैं और वे हमारे कुछ मंदिरों में दशकों से ऐसा कर रहे हैं।

 

20-06-2019
भाजपा और टीएमसी में झड़प, हुई बमबाजी, 1 की मौत 4 घायल

नई दिल्ली। प. बंगाल में भाजपा और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। घटना 24 परगना जिले में एक पुलिस थाने के उद्घाटन के मौके पर हुई है। इस दौरान दोनों पक्षों में जमकर बमबाजी हुई। बाद में पुलिस को हंगामा रोकने के लिए आंसू गैस के गोलों के साथ हवा में फायरिंग करनी पड़ी। घटना में एक युवक की मौत की खबर है। वहीं 4 घायल हो गए हैं। मिली जानकारी के अनुसार उत्तर 24 परगना के भाटपाड़ा में भाटपाड़ा जांच केंद्र के नाम से एक नए थाने का उद्घाटन होना था। उससे पहले ही दो गुटों में जमकर बमबाजी हो गई। पुलिस ने भी हंगामा रोकने के लिए आंसू गैस के गोले चलाएं और हवा में फायरिंग की। 

 

19-05-2019
टीएमसी ने चुनाव आयोग से की पीएम मोदी की केदारनाथ यात्रा की शिकायत, कहा- आचार संहिता का उल्लंघन

नई दिल्ली। तृणमूल कांंग्रेस ने आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए पीएम मोदी की केदारनाथ यात्रा पर चुनाव आयोग से शिकायत की है। पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी पार्टी ने चुनाव आयोग को लिखी चिट्ठी में मोदी के केदारनाथ दौरे के टीवी प्रसारण को चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करार देते हुए कार्रवाई की मांग की। टीएमसी ने कहा कि पीएम मोदी ने केदारनाथ में मास्टर प्लान का ऐलान किया और जनता एवं मीडिया को संबोधित किया। ऐसा करना आचार संहिता के खिलाफ है। तृणमूल कांग्रेस इस पर तुरंत रोक लगाने की मांग की है। 

तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग को लिखे पत्र में कहा, 'लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के लिए प्रचार समाप्त हो गया है। लेकिन आश्चर्यजनक रूप से बीते दो दिनों से पीएम मोदी की केदारनाथ यात्रा को मीडिया की ओर से बहुत ज्यादा कवरेज दी जा रही है। चुनाव आचार संहिता का यह बड़ा उल्लंघन है। बता दें कि टीएमसी के अलावा अन्य विपक्षी पार्टियों ने भी प्रधानमंत्री की इस यात्रा पर सवाल खड़े किए हैं और चुनाव आयोग से एक्शन लेने की बात कही है।

14-05-2019
प. बंगाल में भाजपा नेता पर हमला, टीएमसी कार्यकर्ताओं ने की हाथापाई

कोलकाता। पं बंगाल के बारासात में टीएमसी कार्यकर्ताओं ने भाजपा नेता पर हमला किया। बताया जा रहा है भाजपा नेता अरविंद मेनन के साथ टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने मारपीट की है। मिली जानकारी के अनुसार अरविंद मेनन के एक होटल में पैसों के साथ होने की खबर तेजी से फैली। इस बीच टीएमसी कार्य‍कर्ताओं ने होटल को घेर लिया और होटल में घुसने की कोशिश की। पुलिस जबरदस्ती होटल में घुसी और भाजपा नेता अरविंद मेनन के साथ कुछ कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया। 
बारासात से टीएमसी उम्मीदवार काकोली घोष ने पुलिस से एक होटल में पैसों के साथ भाजपा नेताओं के होने की शिकायत की थी। इस बीच टीएमसी कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को अरविंद मेमन की कार पर भी हमला कर उसे तोड़ दिया। टीएमसी कार्यकर्ताओं ने होटल में भी तोड़फोड़ की है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804