GLIBS
17-08-2020
Video: सरपंच के लेटर पैड का किया गया दुरुपयोग, जांजगीर थाने में की शिकायत

जांजगीर-चांपा। जिले के नवागढ़ ब्लाक के ग्राम पंचायत पचेड़ा के सरपंच के द्वारा जारी किया गया लेटर विवादों के घेरे में है। दरअसल गांव के सरपंच के दस्तखत और मुहर के माध्यम से एक पत्र जारी किया गया है,जिसमें गांव को कोरोना प्रभावित दिखाया गया है। इसमें साफ तौर पर उल्लेख किया गया है कि गांव में सभी का कोरोना जांच होना है साथ ही गांव के लोगों को 28 दिनों के लिए क्वॉरेंटाइन किए जाने का हवाला दिया गया है। यह लेटर किसी व्यक्ति को छुट्टी दिलाने के लिए तैयार किया गया है। 13 अगस्त को जारी इस लेटर में वैश्विक महामारी कोरोना को छुट्टी के लिए इस्तेमाल करने की बड़ी साजिश का खुलासा और लापरवाही दोनों इस लेटर के माध्यम से नजर आ रहा है। इस मामले के उजागर होने के बाद गांव के सरपंच कृष्णा कश्यप ने जांजगीर थाना पहुंचकर इस लेटर को फर्जी बताते हुए शिकायत दर्ज कराई है। जांजगीर थाना प्रभारी ने मामले की जांच करने की बात कही है।

 

16-04-2020
डीएमएफ फंड का दुरुपयोग करने वाली भाजपा ज्ञान न दें : कांग्रेस

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं रमन सरकार के पूर्व कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के सरकार पर लगाए गए निराधार आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि रायपुर दक्षिण विधानसभा के विधायक बृजमोहन अग्रवाल जो कि अपने क्षेत्र के लोगों की तकलीफ को दूर नहीं कर पा रहे हैं और लगातार जनता के बीच से गायब है इन नाकामियों से ध्यान भटकाने के लिए वह प्रदेश सरकार पर झूठा, निराधार आरोप लगा रहे हैं। विकास तिवारी ने कहा कि बृजमोहन अग्रवाल को पहले यह बताना चाहिए कि जब वह कृषि मंत्री थे और उनकी सरकार ने 2100 रु. धान समर्थन मूल्य और हर साल 300 रुपए बोनस देने का वादा किया था उसे पूरा किया कि नहीं किया और नहीं किया तो किस मुँह से किसान हितैषी बनने का स्वांग रच रहे हैं। डीएमएफ फंड का उपयोग कोरोना संक्रमण के समय में करने की बात बृजमोहन अग्रवाल कर रहे है। लेकिन उन्हें प्रदेश की जनता को यह भी बताना चाहिए कि पिछले 15 सालों में डीएमएफ फंड में लगातार जो कमीशन खोरी भ्रष्टाचार और लूट मची हुई थी। उसका हिसाब जनता को देंगे या अपने पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी पर चुप रहेंगे।

विकास तिवारी ने कहा कि बृजमोहन अग्रवाल ने सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि पूरी व्यवस्था लचर है और मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री के बीच समन्वय नहीं है तो उन्हें यह बताना चाहिए कि 15 सालों में प्रदेश के स्वास्थ्य व्यवस्था को अर्श से फर्श पर लाने वाली भाजपा पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और उनके दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता के भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी पर भी प्रकाश डालेंगे की नहीं। तिवारी ने कहा कि यह तो सच है कि पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व कृषि मंत्री की टकराहट और मनमोटाव के कारण भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई की दुर्गति हो गयी है, जिसके कारण भारतीय जनता पार्टी एक सक्रिय विपक्ष की भूमिका भी नहीं निभा पा रही है और पद से हटाए जाने की अनिश्चितता के कारण प्रदेश अध्यक्ष भी शुसुप्त अवस्था में चले गए है। प्रदेश भाजपा की दुर्गति और कमजोर विपक्ष की भूमिका पर पर्दा डालने के लिए पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल केवल बयानबाजी कर रहे हैं। 15 साल तक जनता को आधा पेट राशन देने वाले आज उन्होंने संकट के समय में केवल भाषण दे रहे हैं।

विकास ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल उनका पूरा मंत्रिमंडल दिन रात मेहनत करके छत्तीसगढ़ में कोरोना COVID-19 महामारी को फैलने से रोक रहे हैं। पूरे देश में 64 हजार से अधिक जरूरतमंद मजदूरों से संपर्क करके उन्हें राहत सामग्री पहुंचाई गई है। प्रदेश की जनता को भी राहत समाग्री प्रदान की जा रही है और जो राशन कार्ड धारी नहीं है, उनके भी भरपेट भोजन का इंतजाम मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कर रहे हैं। यह सब देख बृजमोहन अग्रवाल के पेट में दर्द होने हैं। क्योंकि उनके शासनकाल में 30 हजार करोड़ का राशन घोटाला हुआ था, जिसमें मोटा कमीशन भाजपा नेताओं ने डकारा था और जनता की थाली से अनाज की चोरी की गई थी। अब जब जनता भरपेट खाना खा रही है तो भाजपा के विधायक बृजमोहन अग्रवाल और पूरी भारतीय जनता पार्टी को यह बात नागवार गुजर रही है। विकास तिवारी ने बृजमोहन अग्रवाल से कहा कि इस कठिन समय में बयानबाजी छोड़कर धरातल में उतरे और जनता की तकलीफों और समस्या का समाधान करने में सरकार की मदद करें।

13-10-2019
जनता के सामने जाने से कतरा रही डरी हुई भूपेश सरकार : डॉ रमन सिंह

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार मध्यप्रदेश की तरह महापौर चुनाव की प्रक्रिया में बदलाव लाने जा रही है। सरकार के इस कदम की आलोचना करते हुए भारतीय जनता पार्टी ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी है। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व  मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कांग्रेस सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा है कि जनता के बीच अपनी साख खो चुकी भूपेश बघेल सरकार सत्ता का दुरुपयोग करके महापौर चुनना चाह रही है। इससे पार्षदों की खरीदी-बिक्री को और बढ़ावा मिलेगा। बता दें कि दुर्ग के देवांगन समाज द्वारा रविवार को परमेश्वरी आश्रम का लोकार्पण कार्यक्रम रखा गया था जहां डॉ. रमन सिंह मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे। डॉ. सिंह ने कहा कि भूपेश सरकार हार के डर से निगम में महापौर का चुनाव पार्षदों के जरिए कराना चाह रही है। इसलिए चुनाव प्रक्रिया में फेरबदल कर रही है। इससे साफ पता चलता है कि सरकार जनता के बीच जाने से कतरा रही है। उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया से खरीद-फरोख्त को बढ़ावा मिलेगा वहीं सत्ता का जमकर दुरुपयोग भी होगा।  डॉ. सिंह ने कहा कि हमने भी 15 वर्ष तक सरकार चलाई है लेकिन जनता का कभी अपमान नहीं किया बल्कि  लोकतंत्र का सम्मान करते हुए आम जनता के हितों को सबसे ऊपर रखा।  उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भूपेश सरकार ने हमारी सरकार की कई योजनाओं को बंद कर दिया है। कई कुटीर और लघु उद्योग दम तोडऩे की कगार पर हैं।

17-09-2019
पंचों की अनुपस्थिति में कई प्रस्ताव पारित, पंचों ने लगाया अधिकार हनन का आरोप

रायगढ़। ग्राम चिखली में पंचायत की बैठक में विभिन्न कार्यों की स्वीकृति को गांव के पंचों ने पूरी तरह से गलत बताया है। दरअसल ग्राम पंचायत चिखली की सरपंच सरस्वती सिदार को विभिन्न अनियमितताओं की पुष्टि होने के पश्चात एसडीएम द्वारा निलंबित कर दिया गया था परंतु कुछ दिनों बाद पुन: बहाल हुई सरपंच ने पंचायत निधि की राशि का जमकर दुरुपयोग किया। इस बात की शिकायत पंचों ने लगातार उच्चाधिकारियों से की। कलेक्टर ने विभिन्न शिकायतों के बाद सरपंच सरस्वती को बर्खास्त करने का आदेश जारी किया परंतु सरपंच कुछ ही दिन में कमिश्नर का आदेश लेकर पुन: ग्राम पंचायत में सरपंच के रूप में बहाल हो गई और फिर से वही गबन का खेल शुरू हो गया। सोमवार को ग्राम पंचायत के विकास को लेकर विभिन्न कार्ययोजना हेतु एक बैठक आयोजित की गई जिसमें केवल 3 पंच ही उपस्थित थे। बाकी पंचों की अनुपस्थिति में ही बैठक आयोजित कर प्रस्ताव पारित कर दिया। ग्राम पंचायत के  सचिव  के अनुसार पुसौर जनपद सीईओ  ने फोन पर उन्हें निर्देशित किया कि 3 पंचों की उपस्थिति में ही प्रस्ताव पारित कर सरपंच के साथ कॉपरेट  करें। उच्च अधिकारियों से निर्देश पाकर सचिव ने आगे  बैठक जारी रखते हुए विभिन्न प्रस्ताव को पारित किया। चिखली ग्राम पंचायत में महिला पंचों की संख्या अधिक है। उनका आरोप है कि हमारे अधिकारों का हनन करते हुए सरपंच अपने खास 3 पंचों के साथ मिलकर हमारी अनुपस्थिति में बैठक आयोजित कर प्रस्ताव पारित कर दिया है। इस बैठक में निर्णय सर्व सहमति से नही लिए गए है जो कि पूरी तरह अवैधानिक है।
 

07-04-2019
ईडी-आईटी का दुरुपयोग कर रही है मोदी सरकार : के.के.मिश्रा

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने रविवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री  कमलनाथ के प्रमुख सहयोगी आरके मिगलानी, विशेष कर्तव्य अधिकारी प्रवीण कक्कड़ सहित अन्यों के यहां आयकर विभाग की कार्रवाई को राजनैतिक प्रतिशोध की भावना से कीगई कार्रवाई निरूपित करते हुए कहा कि आसन्न लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रामाणिक हमलों से तिलमिलाया भाजपा का शीर्ष नेतृत्व ईडी, आयकर व अन्य संस्थाओं का दुरुपयोग कांग्रेस का मनोबल तोडऩे की नाकाम कोशिशें कर रहा है। पार्टी अपने संवैधानिक मोर्चों पर इसका बिना विचलित हुए जवाब देगी। आज भोपाल में जारी अपने बयान में उन्होंने कहा कि चुनाव की नजदीकियों को दृष्टिगत रखते हुए विगत दिनों से गांधी परिवार, पी.चिदंबरम, अहमद पटेल, राबर्ड वाड्रा के बाद आज मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ के सहयोगियों के साथ जो घिनौना राजनैतिक खेल खेला है, वह इस आरोप का परिचायक है। ऐसी प्रतिशोधात्मक कार्रवाई का कांग्रेस उचित फोरम पर इसका माकूल जवाब देगी। मिश्रा ने कहा कि यदि आयकर विभाग की यह कार्रवाई निष्पक्ष है तो उसे पिछले 14 सालों में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, उनका परिवार व उनके प्रमुख सचिव रहे एसके मिश्रा दिखाई क्यों नहीं दिए? जहां तक भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव चौकीदार  कैलाश विजयवर्गीय के इस बारे में जारी ट्वीट का प्रश्न है तो वे यह भूल बैठे हैं कि उनके पुत्र मौजूदा विधायक आकाश विजयवर्गीय भी व्यापमं घोटाले के मास्टरमाइंड सुधीर शर्मा के यहां गत वर्षों हुई आयकर विभाग की कार्रवाई की जद में आ चुके हैं! कैलाश विजयवर्गीय खुद इंदौर के बहुचर्चित 33 करोड़ के घोटाले के मुख्य आरोपी हैं, जिनके विरुद्ध न्यायालय में अभियोजन की स्वीकृति शासन के अधीन लंबित है। इस आरोप पर (ई) मानदर चौकीदार कैलाश विजयवर्गीय क्या कहेंगे?

 

ReplyForward

Advertise, Call Now - +91 76111 07804