GLIBS
19-09-2020
Breaking : फूलोदेवी नेताम ने केंद्रीय वित्त मंत्री को लिखा पत्र, बकाया राशि शीघ्र देने की मांग

रायपुर। सांसद फूलोदेवी नेताम ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को पत्र लिखा है। सांसद नेताम ने छत्तीसगढ को जीएसटी क्षतिपूर्ति की बकाया राशि शीघ्र जारी करने की मांग की है। छत्तीसगढ़ की बकाया राशि अप्रैल से जुलाई तक 2827 करोड़ रुपए है। अगस्त में भी छत्तीसगढ़ को कोई राशि नहीं दी गई है। इस संबंध में प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि, सांसद के पूछे गए प्रश्न के जवाब में सरकार ने कहा है कि, क्षतिपूर्ति के लिए पैसा नहीं है। सांसद ने पत्र के माध्यम से आग्रह किया है कि, सरकार अपने संसाधनों से या स्वयं ऋण लेकर राज्यों को भुगतान करें।

16-09-2020
फूलोदेवी नेताम ने केन्द्रीय इस्पात मंत्री को लिखा पत्र, नगरनार स्टील प्लांट के संबंध में पुनर्विचार करने किया आग्रह

रायपुर। सांसद फूलोदेवी नेताम ने नगरनार इस्पात संयंत्र के संबंध में इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान को पत्र लिखा है। सांसद ने लिखा है कि, भारत सरकार इस्पात मंत्रालय के अधीन नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम एनएमडीसी लिमिटेड की ओर से लगभग 20 हजार करोड़ रुपए से अधिक की लागत पर बस्तर में नगरनार स्टील प्लांट लगाया जा रहा है। अभी यह प्रोजेक्ट पूरा भी नहीं हुआ है, लेकिन केन्द्र सरकार ने बस्तर के इस स्टील प्लांट का निजीकरण करने का निर्णय कर लिया है।

यह अत्यन्त दुर्भाग्यपूर्ण है कि, छत्तीसगढ़ के आदिवासी अंचल में सार्वजनिक क्षेत्र के प्रस्तावित स्टील प्लांट का निजीकरण किया जा रहा है। इससे लाखों आदिवासियों की उम्मीदों और आकांक्षाओं को गहरा आघात पहुंचा है। आदिवासी समुदाय आंदोलित हो रहे हैं। सांसद ने सरकार से आग्रह किया है कि, केन्द्र सरकार नगरनार स्टील प्लांट के निजीकरण के निर्णय पर पुन: विचार करें और इसे सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम के रूप में ही बनाए रखा जाए।

23-07-2020
राखी त्यौहार का राजनीतिकरण करने में भी नहीं चुके, मानना पड़ेगा : फूलोदेवी नेताम

रायपुर। राज्यसभा सांसद व महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम ने कहा है कि, रक्षा बंधन जैसे पवित्र रिश्ता में भी राजनीति करने से नहीं चुकते है, भाजपा के नेता और नेत्रियां। राजनीति में बने रहने के लिए भाई बहन के रिश्तों पर भी ओछी  राजनीति कर रहे हैं। राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय को अचानक से रिश्तेदारी याद कैसे आई? 15 साल तक भारतीय जनता पार्टी का शासन रहा। इन 15 सालों में सरोज पांडेय ने रमन सिंह को राखी भेजकर शराबबंदी की मांग क्यों नहीं की? क्या सरोज पांडेय को रमन सिंह पर विश्वास नहीं था? लंबे समय तक छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी का  शासन था, तब सरोज पांडेय को याद नहीं आई शराबबंदी की।

राखी जैसे पवित्र त्यौहार का राजनीतिकरण करने में भी नही चुके मानना पड़ेगा। फूलोदेवी नेताम ने कहा कि सरोज पांडेय को छत्तीसगढ़ वासियों का चिंतन यदि होता तो प्रधानमंत्री को पत्र लिख कर छत्तीसगढ़ राज्य को भी गरीब कल्याण योजना में शामिल करने के लिए कहती। केन्द्र की भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने छत्तीसगढ़ राज्य को गरीब कल्याण योजना में शामिल ना कर, छत्तीसगढ़ के गरीब मजदूरों के साथ अन्याय किया। सरोज पांडेय जिस समय छत्तीसगढ़वासियों के प्रति अपना कर्तव्य निर्वाह करने का समय आता है, उस समय पांडेय गुमशुदा हो जाती हैं।

 

03-07-2020
फूलोदेवी नेताम ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, कहा-प्रदेश में सर्वाधिक गरीबी रेखा के नाम तो...

रायपुर। राज्यसभा सांसद फूलोदेवी नेताम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। उन्होंने गरीब कल्याण योजना में छत्तीसगढ़ को शामिल करने की मांग की है। उन्होंने लिखा है कि एनएसएसओ के आंकड़ों के आधार पर छत्तीसगढ़ में सबसे सर्वाधिक प्रतिशत में गरीबी रेखा के नाम है, तो अन्य राज्यों की तरह छत्तीसगढ़ राज्य को गरीब कल्याण योजना में शामिल करना चाहिए। सांसद नेताम ने एक बार फिर मांग को दोहराते हुए केन्द्र सरकार से इस विषय पर ध्यान देने का आग्रह किया है।

29-04-2020
सांसद फूलोदेवी नेताम ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, मजदूरों की वापसी के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने का अनुरोध

रायपुर। राज्यसभा सदस्य फूलोदेवी नेताम ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर छत्तीसगढ़ के मजदूरों की वापसी के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने का अनुरोध किया है। फूलोदेवी नेताम ने पत्र में लिखा है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए देश में जारी देशव्यापी लॉकडाउन की अवधी लंबी होने के कारण, रोजी-मजदूरी के लिए देश के विभिन्न राज्यों में बड़ी संख्या में छत्तीसगढ़ के मजदूर फंसे हैं। ये लोग जम्मू कश्मीर, उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, केरल, पश्चिम बंगाल सहित विभिन्न राज्यों के ईट भट्ठा, ड्रिलिंग मशीन, मिर्ची तोड़ेने, सब्जी बाड़ी, कल-कारखाने, कंस्ट्रक्शन कार्य सहित अनेक प्रकार के कार्यों को करने के लिए गए थे। सभी छत्तीसगढ़ लौटना चाहते है, लेकिन लॉक-डाउन के कारण छत्तीसगढ़ वापस नहीं आ पा रहे हैं।देशभर में फंसे छत्तीसगढ़ के मजदूरों को प्रदेश में लाने के लिए ट्रेन की सुविधा ही कारगर होगी। लॉकडाउन के चलते सड़क मार्ग से लाने पर अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा और मजदूरों की संख्या अत्यधिक होने वापसी में समय लगेगा। स्पेशल ट्रेन चलने से मजदूर कम समय में अपने गंतव्य तक पहुंच जाएंगे। सड़कों पर भी यातायात दबाव नहीं रहेगा और लॉक डाउन के नियमों का भी पालन होगा फिजिकल डिस्टेंस भी बना रहेगा। स्पेशल ट्रेन जहां से शुरू होगी।

उस स्टेशन तक उस राज्य में फंसे सभी मजदूरों को पहुंचाने की भी व्यवस्था केंद्र सरकार करें। जिस प्रकार केन्द्र सरकार विदेश में फंसे नागरिकों को वापस लाने विमान भेजी थी, उसी प्रकार देशभर में फंसे छत्तीसगढ़ के मजदूरों को घर लौटने स्पेशल ट्रेन चलाया जाए। साथ ही, केंद्र सरकार राज्य के बाहर फंसे मजदूरों की जानकारी इकट्ठा करने एक टोल फ्री नंबर और सेतु ऐप की तरह एप भी जारी करें। इसमें लॉक डाउन में फंसे मजदूर अपने रुकने का स्थान और वापसी के राज्य की जानकारी साझा कर सके ताकि मजदूरों को भटकना ना पड़े।फूलोदेवी नेताम ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि, श्रमिक/मजदूरों का बद्तर होता जीवन ध्यान में रखते हुए, छत्तीसगढ़ के मूल निवासी मजदूर,जो लॉकडाउन के कारण अन्य राज्यों में फंसे हुए है, उनकी सकुशल घर वापसी कराए जाने के लिए केन्द्र सरकार की ओर से जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप तत्काल स्पेशल ट्रेन चलाए जाने की अनुमति प्रदान करें।

 

18-03-2020
Breaking : फूलोदेवी नेताम और केटीएस तुलसी राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित

रायपुर। राज्यसभा निर्वाचन के लिए बुधवार को नाम वापसी की अन्तिम तिथि के बाद विधानसभा में रिटर्निग अधिकारी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में फूलोदेवी नेताम और केटीएस तुलसी के निर्वाचन प्रमाण पत्र प्रदान किए। फूलोदेवी नेताम ने स्वयं और   केटीएस तुलसी का प्रमाण पत्र उनकी अनुपस्थिति में नगरीय विकास मंत्री डॉ शिव डहरिया ने ग्रहण किया।

इस अवसर पर संसदीय कार्यमंत्री रविन्द्र चौबे, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, विधायक मोहन मरकाम सहित अनेक जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

 

13-03-2020
राज्यसभा के लिए फूलोदेवी नेताम और केटीएस तुलसी ने दाखिल किया नामांकन

रायपुर। राज्यसभा के लिए छत्तीसगढ़ से फूलोदेवी नेताम और केटीएस तुलसी ने नामांकन दाखिल कर दिया है। नामांकन दाखिले के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू मौजूद रहे। नामांकन दाखिले पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि कांग्रेस ने प्रदेश में संख्याबल के हिसाब से दो प्रत्याशी उतारे हैं। दोनों राज्य के मुद्दों को प्रमुखता से रखेंगे। उन्होंने कहा कि फूलोदेवी नेताम को पार्टी की सेवा और धैर्य का फल मिला है। कोरोना के चलते विधानसभा की कार्यवाही स्थगित करने का निर्णय लिया गया है। लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

 

13-03-2020
Breaking : भूपेश बघेल के साथ फूलोदेवी और केटीएस का नामांकन दाखिल करने जाएंगे कांग्रेसी

रायपुर। राज्यसभा के लिए कांग्रेस ने गुरुवार रात अपने पत्ते खोलते हुए छत्तीसगढ़ से कांग्रेस प्रत्याशी केटीएस तुलसी और फूलोदेवी नेताम का नाम फाइनल किया था। शुक्रवार को नामांकन दाखिल करने का अंतिम दिन है। इसलिए एआईसीसी के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के साथ कांग्रेस के विधायक, पार्टी पदाधिकारी और कांग्रेस कार्यकर्ता सुबह 11 बजे राजीव भवन से राज्यसभा के दोनों कांग्रेस प्रत्याशी केटीएस तुलसी और फूलोदेवी नेताम के साथ विधानसभा जाकर कांग्रेस नामांकन दाखिल करेंगें। यह जानकारी शैलेश नितिन त्रिवेदी, महामंत्री, छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने दी है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804