GLIBS
08-04-2021
पटाखा फैक्ट्री में लगी आग, 5 की मौत

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बिजनौर बख्शीवाला क्षेत्र में गुरुवार को पटाखा फैक्ट्री में आग लगने से 5 की मौत हो गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने फैक्ट्री में लगी आग को काबू कर लिया। हादसे में सभी मृतक मजदूरों के शव पोस्टमॉर्टम के लिए जिला अस्पताल भेजे गए हैं। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण रंजन सिंह ने बताया कि, "बिजनौर जिले के बख्शीवाला क्षेत्र के बुखारा गांव निवासी ने एक मकान ले रखा है। गांव में गुरुवार को दिन में मकान में आग लगने से पांच की मौत हो गई है। यहां पर पटाखा बनाने का काम चल रहा था। आग कैसे लगी कारणों का पता लगाया जा रहा है। फैक्ट्री मालिक को गिरफ्तार किया गया है। शवों को पोस्टर्माटम के लिए भेजा गया है। पूरे प्रकरण की जांच कराई जा रही है इस घटना में जो अन्य लोग शामिल होंगे उनके सामने आने पर पुलिस कार्रवाई करेगी।"

 

25-02-2021
पटाखा फैक्ट्री में लगी आग,6 की मौत,कई घायल

नई दिल्ली। तमिलनाडु के विरुधुनगर इलाके में एक पटाखा फैक्ट्री में गुरुवार को आग लग गई।इसमें 6 लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोगों के घायल हो गए। यह फैक्ट्री शिवकाशी के पास स्थित है। फायर ब्रिगेड की गाड़ियां आग पर काबू पाने में जुटी हैं। घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि अभी तक फैक्ट्री में आग लगने की वजहों का पता नहीं चल पाया है। तमिलनाडु के विरुधुनगर के ज्वाइंट डायरेक्टर ऑफ हेल्थ सर्विसेज ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि हादसे में 6 लोग मारे गए हैं, जबकि कई घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है। साथ ही आसपास की इमारतों को भी खाली करवा लिया गया है।

 

22-01-2021
कर्नाटक के शिमोगा में जबरदस्त धमाका, 6 लोगों की मौत की खबर, आला अफसर पहुंचे घटनास्थल पर

शिमोगा/रायपुर। देर रात शिमोगा में एक जबरदस्त धमाका होने की खबर सामने आई है। धमाके में 6 लोगों की मौत की खबर है और धमाका संभवत बारूद में ब्लास्ट से हुआ है। अभी तक दुर्घटना के बारे में विस्तार से जानकारी सामने नहीं आ पाई है, लेकिन उच्च स्तरीय अधिकारियों की टीम घटनास्थल पर पहुंच गई है। और घटना की जांच जारी है। यंहा बताना गैर जरूरी नहीं होगा कि कर्नाटक शिमोगा में पटाखों का बड़ा कारोबार होता है और पटाखा निर्माण यहां एकदम सामान्य बात है।

16-11-2020
पिता पुत्र के पवित्र रिश्ते पर भारी पड़ गया एक मामूली पटाखा, जान ले ली दोनों की, तनाव का ये कैसा दौर है...

रायपुर/राजनांदगांव। पटाखे बिना दिवाली नहीं होती यही पटाखा किसी परिवार पर कहर बनकर टूटे तो सहसा विश्वास नहीं होता और विश्वास करने वाली बात भी नहीं है ये। राजनांदगांव में हंसता खेलता अग्रवाल परिवार दिवाली की खुशियां मनाने की बजाए मातम मना रहा है। बात मामूली सी थी। पटाखा फोड़ने पर मामूली विवाद हुआ और दुर्भाग्य से विवाद करने वाले पिता और पुत्र दोनों ने ही अलग-अलग खुदकुशी कर ली। छोटी सी बात। एक पटाखा फोड़ने का विवाद और पूरा परिवार मातम में डूब गया। इस हृदयविदारक घटना ने ना केवल राजनांदगांव बल्कि पूरे प्रदेश को हिला कर रख दिया है।

किसी ने सोचा भी नहीं था के पटाखा फोड़ने का विवाद एक नहीं दो दो बलि ले लेगा। राजनांदगांव का अग्रवाल परिवार दिवाली मनाने की जोर शोर से तैयारी कर चुका था। पटाखे फोड़े जा रहे थे और पटाखा जो परिवार के लिए खुशियां लेकर आया था  वहीं पटाखा परिवार  पर मातम पसरा गया। बंटी अग्रवाल का अपने पिता गोविंद अग्रवाल के साथ पटाखे फोड़ने को लेकर मामूली सा विवाद हुआ। और पता नहीं तनाव का यह कैसा दौर है? पता नहीं पारिवारिक रिश्तो पर मामूली विवाद क्यों भारी पड़ते जा रहे हैं? पता नहीं आखिर ऐसी क्या वजह थी कि पटाखे फोड़ने पर पिता पुत्र ही उलझ गए? ना पिता का सम्मान रहा और ना ही बेटे के प्रति पिता का प्रेम नजर आया? जरा सी बात।

मामूली सी बात और परिणीति हैरान कर देने वाली, चौंका देने वाली, कंपकपा देने वाली, पागल कर देने वाली। बंटी इस विवाद से इतना परेशान हुआ कि उसने गोदाम में जाकर फांसी लगा ली। और उसके पिता गोविंद अग्रवाल भी इस विवाद से इतने व्यथित हुए कि उन्होंने ट्रेन से कटकर अपनी इहलीला समाप्त कर ली। बताइए पटाखे तो खुशियों पर फोड़े जाते हैं। पटाखे दिवाली का श्रृंगार है। पटाखे खुशियों का इजहार है। पटाखे कभी मौत पर नहीं तोड़े जाते हैं। पटाखे कभी मौत का कारण नहीं बनते। पटाखे दुख लेकर नहीं आते हैं और जो पटाखा लाता है वह खुशियां मनाने लाता है। पटाखों के रूप में मातम का रौद्र रूप पहली बार देखने को मिला है,जिससे पूरा राजनांदगांव हिल गया है। पूरा प्रदेश इस घटना से हैरान रह गया है।

पटाखे फोड़ने पर हुए विवाद के बाद पिता पुत्र की आत्महत्य जाने अनजाने में बहुत से सवाल खड़े कर देती है। क्या यह विवाद एक नहीं दो दो जान लेने का कारण बन सकता है? कोई सोच सकता है? ऐसा क्या कारण था कि पिता की बात पुत्र नहीं मान पाया? या पुत्र का पटाखा प्रेम पिता को नहीं पच पाया? आखिर ऐसी क्या वजह थी कि पिता पुत्र जैसा पवित्र रिश्ता एक मामूली से पटाखे के कारण समाप्त हो गया? ऐसा क्या कारण था कि खुशियों के त्यौहार पर उस परिवार पर मातम का कहर टूट पड़ा?आखिर हम किस दौर में जी रहे हैं ? आखिर हम ऐसे कैसे इतना तनाव झेल रहे हैं? आखिर हम मामूली सी बात को भी क्यों नहीं पचा पा रहे हैं? आखिर पिता-पुत्र जैसे महत्वपूर्ण रिश्ते को क्यों नहीं समझ पा रहे हैं? आखिर हम सम्मान और  स्नेह से ऊपर उठकर विवाद को क्यों महत्त्व देने लगे है? क्या पटाखे इसी तरह आत्महत्या का कारण बनते रहेंगे? क्या यह सवाल समाज के लिए विचारणीय नहीं है?

14-11-2020
रोती, सिर पटकती रहीं मासूम बच्ची, नहीं पिघला पुलिस का ​दिल, पटाखा बेच रहे पिता को उठा ले गई

लखनउ। यूपी के बुलंदशहर के खुर्जा थानाक्षेत्र में प्रतिबंध के बावजूद पटाखे बेच रहे एक व्यवसायी की दुकान पर पुलिस ने छापा मारा। पुलिस पटाखा कारोबारी से हाथापाई कर उसे हिरासत में लिया। कारोबारी की मासूम बेटी लगातार पुलिस के आगे गिड़गिड़ाती रही और गाड़ी पर सिर भी पटका। वह पिता के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने की पुलिस से गुहार रही।  फिर सिर पटक-पटककर रोती रही, लेकिन पुलिस को उस पर तरस नहीं आया। इस दौरान घटना का वीडियो लोगों ने बनाया और वायरल कर दिया। इसे देखकर लोगों का गुस्सा भड़क उठा। लोग वीडियो शेयर करते हुए सरकार पर हमला कर दिया। लोग सरकार पर आरोप लगा रहे हैं कि पहले पटाखों के लिए लाइसेंस जारी किया जाता है, उसके बाद जब विक्रेता अपनी सारी जमा पूंजी लगाकर पटाखे खरीद लेते हैं तो बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है। वीडियो के वायरल होने के बाद मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद संज्ञान लिया है। सीएम योगी के आदेश के बाद दुकानदार को पुलिस ने छोड़ा। इसके साथ ही सीएम योगी ने पटाखा विक्रेता के घर में वरिष्ठ अधिकारियों के हाथों दिवाली की मिठाई भिजवाई। उन्होंने आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिए हैं। वहीं मामले में एसएसपी ने संज्ञान लेते हुए पुलिसकर्मी को लाइन अटैच कर दिया। अनुविभागीय दंडाधिकारी ने कहा कि हम नहीं चाहते थे कि बच्ची के मन में पुलिस के प्रति आक्रोश की भावना पैदा हो। इसलिए हमने उसके साथ दिवाली मनाई और मिठाई खिलाई। 

13-11-2020
कांग्रेस प्रतिनिधियों की मांग को प्रभारी मंत्री ने दी मंजूरी, पटाखा दुकाने यथावत रहेंगी चालू

रायपुर। पटाखा की दुकानों को चालू रखने के लिए कांग्रेस पदाधिकारियों ने प्रभारी मंत्री रविंद्र चौबे से मुलाक़ात कर माँग की है कि दुकाने यथावत चालू रहे। इसे प्रभारी मंत्री रविंद्र चौबे ने तत्काल ज़िला प्रशासन को निर्देश देते हुए पटाखों की दुकानों यथावत चालू रहने कहा है। इस अवसर पर संसदीय सचिव विकास उपाध्याय, शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे, एमआइसी सदस्य ज्ञानेश शर्मा, सतनाम पनाग, सुमित दास, बंशी कन्नौजे, जी. श्रीनिवास मौजूद थे।

08-11-2020
बच्चों ने निकाली रैली, इस दिवाली पटाखा नहीं फोड़ने का लिया संकल्प

रायपुर। बच्चों ने गो ग्रीन कार्यक्रम महोबा बाजार स्थित मारुति लाइफ स्टाइल सिटी में किया। रविवार मारुति लाइफ़स्टाइल सिटी के बच्चों ने गो ग्रीन लेट्स सेलिब्रेट पॉल्यूशन फ्री दिवाली मानने का निर्णय लिया। इसमें उन्होंने इस बार दिवाली में पटाखा नहीं फोड़ने का संकल्प लिया। गो ग्रीन लेट्स सेलिब्रेट पॉल्यूशन फ्री दिवाली का नारा लगाते हुए रैली भी निकाली। कार्यक्रम में महापौर एजाज ढेबर, सभापति प्रमोद दुबे, उदित अग्रवाल और अजय अग्रवाल उपस्थित रहे।

 

07-11-2020
महिला समृद्धि बाजार के सामने सजेगा इस बार पटाखा बाजार

दुर्ग। अस्थायी पटाखा दुकान लगाने के लिए अनुमति नगर पालिक निगम दुर्ग के बाजार विभाग से दी जाएगी। जिला मजिस्ट्रेट दुर्ग के निर्देशानुसार कोरोना संक्रमण की रोकथाम को देखते हुए निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने अस्थायी पटाखा दुकान के लिए स्थल का चयन किया है। इसके अंतर्गत अति. जिला मजिस्ट्रेट को प्रस्ताव प्रेषित कर महिला समृद्धि बाजार के सामने रिक्त भूमि की अनुमोदन के लिए पत्र प्रेषित किया है। बता दें कि नगर निगम दुर्ग ने दीपावली त्यौहार पर पटाखा दुकान शास. बहु. उ.मा.शाला के पीछे मैदान में लगाया जाता रहा है। लेकिन इस बार कोरोना काल में सावधानियां बरतते हुए महिला समृद्धि बाजार के सामने रिक्त भूमि में व्यापारी अस्थायी पटाखा दुकान लगा सकेंगे। इच्छुक पटाखा व्यापारी अपना आवेदन एसडीएम के समक्ष जमा कर इस व्यवस्था का लाभ उठा सकेंगे।

23-10-2020
पटाखा दुकान में लगी आग, लाखों का नुकसान

नई दिल्ली। राजस्थान में अजमेर के क्लाक टावर थाना क्षेत्र में पटाखों की एक दुकान में शुक्रवार को आग लग गई। इससे लाखों रुपए के पटाखे नष्ट हो गए जबकि आसपास की दुकानों को भी क्षति पहुंची है। बताया जा रहा है कि केसरगंज पुलिस चौकी के नजदीक गोल चक्कर पर सुबह पांच बजे आग लग गई। हालांकि इसकी सूचना करीब साढ़े छह बजे फायर ब्रिगेड को मिली। इस पर दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची और दस गाड़ियों ने करीब ढाई घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया। जानकारी के मुताबिक केसरगंज गोल चक्कर पर एक बंद पटाखे दुकान में सुबह पांच बजे आग लग गई। अंदर माल भरा होने से धीरे धीरे बारूद ने विकराल रूप लेना शुरू कर दिया। इसके कारण आसपास की दुकानों को भी व्यापक क्षति पहुंची है। दुकान में किन कारणों से आग लगी इसका अभी पता नहीं चल पाया है। बताया जा रहा है कि दुकान में बड़ी मात्रा में पटाखों का स्टॉक मौजूद था। पूरे हादसे में कुल कितना नुकसान हुआ इसका अभी खुलासा नहीं हो सका है।

17-10-2019
देवी-देवताओं के चित्र वाले पटाखों के विरोध में शिवसेना ने सौंपा ज्ञापन

रायपुर। शहर में पटाखों की दूकान में हिंदू धर्म के देवी-देवताओं के चित्र वाले पटाखे और चाइनीज़ पटाखों की बिक्री के विरोध में शिवसेना ने कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक रायपुर के नाम ज्ञापन सौंपा। शिवसेना के जिलाध्यक्ष शशांक देशमुख ने बताया कि हिंदू धर्म के देवी-देवताओं के चित्र वाले पटाखों की बिक्री से हिंदू धर्म की आस्था को ठेश पहुंचती है। इस ज्ञापन के माध्यम से शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की है।

 

15-04-2019
कार में विस्फोट होने से पटाखा गोदाम में लगी आग, दो मजदूरों की मौत

नई दिल्ली। गुरुग्राम में एक पटाखा गोदाम में खड़ी कार में जोरदार धमाका होने से पटाखा गोदाम में भीषण आग लग गई। इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गई और पांच बुरी तरह झुलस गए। यह घटना देर रात करीब 12 बजे गुरुग्राम के कादीपुर इंडस्ट्रियल इलाके में बने लकी कटारिया फायरवक्र्स  पटाखा गोदाम में घटी। बताया जा रहा है कि देर रात सीएनजी इको कार गोदाम में आकर खड़ी हुई। इसके कुछ देर बाद ही कार में अचानक धमाका हो गया और धमाके की वजह से पटाखा गोदाम में भीषण आग लग गई। इस हादसे में पटाखा गोदाम में काम करने वाले दो लोगों की झुलसने से मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 5 लोग बुरी तरह झुलस गए। इनमें से तीन की हालत गंभीर बनी हुई है। घायलों को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया है। धमाका इतना जोरदार था कि कार के परखच्चे उड़ गए और कार कबाड़ में तब्दील हो गई। गुरुग्राम पुलिस ने इस मामले में दो लोगों खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। जांच के दौरान पुलिस को गोदाम में बड़ी मात्रा में छुपाकर रखे गए पटाखे भी मिले हैं। फिलहाल पुलिस ने इन पटाखों की लाइसेंस की जांच के लिए टीम को इत्तला कर दिया है। पुलिस जांच कर रही है कि इन पटाखों का लाइसेंस गोदाम मालिक के पास था या नहीं। 

02-12-2018
बेटे को आग से बचाने के चक्कर में महिला घायल

रायगढ़। पटाखा फोडऩे के दौरान पैरावट में लगी आग में फंसे अपने बेटे को  बचाने की कोशिश में एक महिला बुरी तरह से घायल हो गई। दो दिन पहले हुए हादसे में घायल महिला को इलाज के लिए रायगढ़ मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती किया गया है। जानकारी के अनुसार घरघोड़ा के नवागढ़ गांव में दो दिन पहले ताराचंद दुबे का 8 साल का बेटा घर के पास रखे पैरावट के पास पटाखे फोड़ रहा था। पटाखे की एक चिंगारी पैरावट तक पहुंच गई, जिसमें बच्चा भी फंस गया। अपने बेटे को आग के पास फंसा देख  ताराचंद दुबे की पत्नी संतोषी (36) वहां पहुंची और अपने बेटे को बचाने का प्रयास करने लगी। इस कोशिश में वह भी गंभीर रूप से घायल हो गई। महिला को इलाज के लिए रायगढ़ में रेफर किया गया है, जहां उनकी हालत अभी गंभीर बताई गई है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804