GLIBS
09-11-2020
सांसद सरोज पांडे ने दिवाली की खरीदी की खादी ग्रामोद्योग से और सबसे स्वदेशी खरीदने की अपील की

रायपुर। दिवाली की तैयारी सभी लोग कर रहे है। ऐसे में हमारी सांसद पीछे क्यों रहे। आज दुर्ग के खादी ग्रामोद्योग से खादी की चादर व आंध्रप्रदेश और तेलंगाना में प्राचीन काल से प्रसिद्ध कलमकारी के सलवार सूट की खरीददारी राज्यसभा सांसद सरोज पाण्डेय ने की। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि आइए,इस दीपावली में हम सभी अपनो को स्वदेशी वस्तुओं को खरीद कर उपहार दें और इन उत्पादों को बढ़ावा दें।

 

08-11-2020
Breaking : मुठभेड़ में एक नक्सली ढेर, दो जवान घायल, हथियार, बम और गोला बारूद बरामद

बीजापुर। जिले की पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई है। मुठभेड़ में एक नक्सली ढेर हुआ है और 2 जवान घायल हुए हैं। चार हथियार समेत 40 से 50 पाइप बम और गोला बारूद बरामद हुआ है। पामेड़ थाना क्षेत्र के भट्टीगुड़ा के पास माओवादियों के तेलंगाना की टीम से जवानों की मुठभेड़ हुई। 1 घंटे चली मुठभेड़ के बाद घटनास्थल से एक नक्सली के शव के साथ चार हथियार बरामद हुए। बीजापुर एसपी कमलोचन कश्यप ने मुठभेड़ की पुष्टि की  है।

14-10-2020
तेलंगाना में भारी बारिश, 11 की मौत, जनजीवन अस्तव्यस्त, सड़कों और निचले इलाकों में भरा पानी

हैदराबाद। तेलंगाना के कई हिस्सों में लगातार बारिश के कारण कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई। भारी बारिश के कारण सड़कों और निचले इलाकों में पानी भर गया है। हैदराबाद से लोकसभा सदस्य असदुद्दीन ओवैसी ने बुधवार को ट्वीट किया, "पिछले दो दिन से यहां हो रही भारी बारिश के कारण बंदलागुड़ा के मोहम्मदिया हिल्स में एक दीवार के ढह जाने से नौ लोगों की मौत हो गई।" उन्होंने ट्वीट किया, "मैं बंदलागुड़ा में मोहम्मदिया हिल्स का निरीक्षण कर रहा था, जहां दीवार के ढहने से नौ लोगों की मौत हो गई और दो लोग घायल हो गए। वहां से जाते समय मैंने शमशाबाद में फंसे बस यात्रियों को अपने वाहन से उनके गंतव्य तक पहुंचाया। अब मैं तालाबकट्टा और यसराब नगर जा रहा हूं।" एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कुछ पत्थर दो मकानों की दीवारों पर गिए गए, जिसके कारण आठ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और चार अन्य लोग घायल हो गए। घायलों का उपचार किया जा रहा है। पुलिस ने बताया कि इस बीच, मंगलवार को यहां भारी बारिश के कारण इब्राहिमपट्टनम इलाके में एक पुराने मकान की छत ढह जाने से 40 वर्षीय महिला और उसकी 15 वर्षीय बेटी की मौत हो गई। तेलंगाना में मंगलवार को कई स्थानों पर हुई भारी बारिश के कारण जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। भारी के कारण हैदराबाद और राज्य के कई हिस्सों में पानी भर गया है।

 

13-10-2020
Breaking : डीजीपी की पहल के बाद अब आठ राज्यों की पुलिस मिलकर करेगी काम 

रायपुर। प्रदेश में बढ़ते अपराधों पर रोक लगाने के लिए आठ राज्यों की पुलिस मिलकर अब काम करेगी। प्रदेश के डीजीपी डीएम अवस्थी की पहल पर सोमवार को महाराष्ट्र के डीजीपी आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा, झारखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल के आला पुलिस अधिकारी वर्चुअल मीटिंग में शामिल हुए। इसमें छत्तीसगढ़ के स्पेशल डीजी नक्सल ऑपरेशन अशोक जुनेजा और आईजी इंटेलीजेंस डॉ.आनंद छाबड़ा भी मौजूद रहे।

01-10-2020
जिले के 62 गांवों के 140 घर हुए रोशन, तेलंगाना के सहयोग से दूरस्थ पामेड़ इलाके में पहुंची बिजली

बीजापुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप जिले के दूरस्थ क्षेत्रों में विद्युत सुविधा उपलब्ध कराये जाने के लिए मुख्यमंत्री मजरा-टोला ग्रामीण विद्युतीकरण योजनान्तर्गत सकारात्मक पहल किया जा रहा है। इस दिशा में जिला कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल के मार्गदर्शन में छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कम्पनी के परियोजना संभाग द्वारा मुख्यमंत्री मजरा-टोला ग्रामीण विद्युतीकरण योजनान्तर्गत 166 गांवों को चिन्हीत कर इन गांवों के बसाहटों का विद्युतीकरण किया जा रहा है। इस के लिए राज्य शासन की स्वीकृति के उपरांत बीते एक साल में अंदरूनी इलाके के 62 गांवों के 140 मजरा-टोला का विद्युतीकरण किया गया है,वहीं इन बसाहटों के रहवासी 2 हजार 903 निर्धन परिवारों को निःशुल्क घरेलू बिजली कनेक्शन प्रदान किया गया है।इससे इन बसाहटों के ग्रामीणों को घरेलू कार्य करने सहित स्कूली बच्चों को पढ़ाई करने में सहूलियत हो रही है।

मुख्यमंत्री मजरा-टोला ग्रामीण विद्युतीकरण योजना का जिले में कार्यान्वयन की जिम्मेदारी सम्भालने वाले कार्यपालन अभियंता छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कम्पनी परियोजना संभाग पीके जायसवाल ने बताया कि जिले की विषम भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद चयनित गांवों के बसाहटों को विद्युतीकरण कर इन बसाहटों में विद्युत सुविधा उपलब्ध कराये जाने सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ पहल किया जा रहा है। इस के लिए पंहुच वाले गांवों के साथ ही अंदरूनी गांवों को प्राथमिकता दी जा रही है। उन्होंने बताया कि अंदरूनी इलाके के गांवों तक बिजली पहुंचाने के लिए नदी-नाले को पार कर विद्युतीकरण किया जा रहा है। इस ओर सबसे बड़ी उपलब्धि पड़ोसी राज्य तेलंगाना की सीमा पर स्थित पामेड़ क्षेत्र में बिजली पहुंचाना है,इस दूरस्थ ईलाके के बसाहटों में तेलंगाना राज्य के सहयोग से विद्युत आपूर्ति की जा रही है। इससे इस सुदूर ईलाके में कई सालों बाद उजियारा हुआ है और लोगों के जीवन में खुशहाली आयी है। मजरे-टोले का विद्युतीकरण करने सहित ग्रामीणों को घरेलू बिजली कनेक्शन मुहैया कराया गया है। अब इन बसाहटों में उजियारा होने के फलस्वरूप वाशिंदों को घरेलू कार्य तथा स्कूली बच्चों को पढ़ाई के लिए सहूलियत हो रही है। 

 

21-08-2020
तेलंगाना: पावर प्लांट से 6 लाशें बरामद, तीन की तलाश जारी, आग लगने के बाद चलाया गया रेस्क्यू ऑपरेशन

नई दिल्ली। तेलंगाना के श्रीशैलम हाइडल पावर प्लांट में लगी आग के बाद रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। अभी तक 6 लाशों को बरामद कर ली गई है। माना जा रहा है कि पावर प्लांट के अंदर 9 मजदूर फंसे थे। बाकी तीन लोगों की तलाश जारी है। इसके साथ ही मामले की जांच शुरू हो गई है। तेलंगाना में श्रीशैलम में लेफ्ट बैंक पावर हाउस में कल देर रात आग लग गई। स्टेशन की इकाई 4 में विस्फोट के बाद आग लगी। इसमें दस लोगों को बचाया गया, जिनमें से 6 का श्रीशैलम के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि पैनल बोर्ड में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी थी।

 

 

07-07-2020
बीजापुर जिले में कोरोना का तीसरा मामला, तेलंगाना से लौटा था युवक, सीएमएचओ ने की पुष्टि

बीजापुर। जिले में कोरोना का तीसरा मामला सामने आया है। बता दें कि 2 जुलाई को तेलंगाना से लौटा था। युवक को पोटाकेबिन मुरकीनार में क्वारेंटाइन किया गया था। सीएमएचओ बीआर पुजारी ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया है कि आरटीपीसीआर टेस्ट में रिपोर्ट पॉजिटिव आया है। साथ ही उसके दो अन्य साथियों को भी क्वारेंटाइन किया गया है। संक्रमित मरीज को जगदलपुर के मेकाज अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। वहीं पोटाकेबिन मुरकीनार को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है।

01-06-2020
क्वारेंटाइन सेंटर में रूके प्रवासियों ने पौधारोपण कर कोरोना काल को दी स्मृतियां

कोरबा। तिलकेजा के हायर सेकेण्डरी स्कूल में क्वारेंटाइन में रह रहे प्रवासी श्रमिकों ने अपने घर जाने से पहले अपनी चिन्हारी इस स्कूल में प्रेरणा स्वरूप रोप दी है। इन मजदूरों ने अपनी मातृभूमि लौटने के लिए कोरोना के कारण जिस संकट का सामना किया है उस संकट से आगे लोगों को बचाने के लिए उसकी याद स्वरूप अपनी चिन्हारी पौधों के रूप  में क्वारेंटाइन सेंटर में छोड़ दी है। तिलकेजा के इस क्वारेंटाइन सेंटर में महाराष्ट्र, तेलंगाना, राजस्थान, उड़ीसा, सहित अन्य राज्यों में काम करने गये प्रवासी मजदूरों को वापस कोरबा लौटने पर प्रशासन ने सभी सुविधाओं के साथ ठहराया है। सेंटर में ठहरे प्रवासी श्रमिक शिव सिंह गोंड़ ने बताया कि वे अपने गांव सरईडीह से काम-काज की तलाश में तेलीबहाली उड़ीसा गए थे। वहां वे रोजी-मजदूरी का काम करते थे। कोरोना के कारण लाॅक डाउन हुआ तो कामकाज ठप्प पड़ गया। बड़ी मुश्किलों से वापस कोरबा लौटे हैं। शिव सिंह गोंड ने बताया कि अपनी मातृभूमि लौटकर आने पर प्रशासन ने 14 दिन के लिए तिलकेजा के हायर सेकेण्डरी स्कूल में क्वारेंटाइन किया। क्वारेंटाइन सेंटर में 14 दिन तक रूकने की बात सुनकर मन में आया कि हम कहां आकर फंस गये, यहां खाने-पीने की, रहने की व्यवस्था होगी की नहीं, बाहरी प्रदेश में लाॅक डाउन के दौरान फंसे होने के समय जो दुख-दर्द सहें उसका अंत अभी भी नहीं होगा क्या..? यह सब बातें सोचकर मन बहुत विचलित हो गया था। शिव सिंह गोंड ने आगे बताया कि मन में आने वाली चिन्ता, व्याकुलता से पर्दा उठना उस समय प्रारंभ हो गया जब क्वारेंटाइन सेंटर में आते ही हम सबको तथा हमारे सभी सामानों को दवाई से सेनेटाइज किया गया, परिसर में बने भवन में ठहरने का जगह दिखाया गया। भवन के कमरे में प्रवेश करते ही एक पल के लिए सुखद अनुभव हुआ क्योंकि दूसरे प्रदेश से भटकते हुए आते समय भोजन के साथ छाया भी नसीब नहीं हुआ था। साफ फर्श वाले कमरे में अपना सामान रखे, गर्मी का मौसम था, पसीना से तरबतर थे। यहां कमरे में आने के बाद पंखें की हवा ने परेशानी के पसीना को गायब कर दिया। प्रवासी श्रमिकों ने क्वारेंटाइन सेंटर की व्यवस्थाओं से संतुष्टि जताई है।

12-05-2020
तेलंगाना से स्पेशल ट्रेन से वापस लौटे लोगों ने मुख्यमंत्री का अदा किया शुक्रिया

रायगढ़। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर लॉक डाउन में अन्य राज्यों मेंं फंसे लोगों की वापसी का सिलसिला जारी है। मंगलवार को रायगढ़ जिले के 19 लोग तेलंगाना के सिकंदराबाद से स्पेशल ट्रेन द्वारा वापस लौटे है। इनमें सारंगढ़ तहसील से 18 तथा रायगढ़ से 1 व्यक्ति शामिल है। बिलासपुर स्टेशन पहुंचने पर सभी लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई। इसके पश्चात रायगढ़ से पहुंची टीम उनको लेकर गंतव्य स्थल की ओर रवाना हो गई। वापस लौटे लोगों को 14 दिनों के लिए क्वारेंटीन किया जाएगा। छत्तीसगढ़ लौटे इन लोगों ने चर्चा के दौरान बताया कि सभी लोग सिकंदराबाद में काम करते थे और लॉक डाउन होने के कारण वहीं फंसे हुए थे। वापसी के लिए कोशिशे जारी थी, किन्तु कुछ समाधान निकलता नहीं दिख रहा था। हमने अपनी जानकारी छत्तीसगढ़ प्रशासन को दे रखी थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रयासों से वापसी के लिए जब टे्रन की सुविधा उपलब्ध हुई तो प्रशासन द्वारा हमें सूचना मिली। जिसके चलते हम टे्रन पकड़कर यहां सकुशल वापस लौट पाये। संकट की इस घड़ी में मदद के लिए हम हमारे प्रदेश के मुखिया और छत्तीसगढ़ सरकार के सदैव आभारी रहेंगे।  रायगढ़ जिला प्रशासन की ओर से इन्हें वापस लाने के लिए बस की व्यवस्था की गई थी। अब सभी लोगों को उनके गृह ग्राम में बने क्वारेंटीन सेंटर में 14 दिनों के लिए रखा जाएगा। जहां स्वास्थ्य विभाग तथा अन्य टीमों द्वारा उनकी सतत् मॉनिटरिंग की जाएगी।

12-05-2020
तेलंगाना से 1188 श्रमिकों को बिलासपुर लेकर पहुंची दो ट्रेने

रायपुर/बिलासपुर। श्रमिकों को लेकर दो ट्रेनें आज बिलासपुर पहुंची। इसमें एक लिंगमपल्ली (तेलंगाना) से आने वाली ट्रेन सुबह 11 बजे पहुंची। इसमें बिलासपुर जिले के 92 और संभाग के 546 व रायपुर के करीब 550 श्रमिक है। रायपुर के श्रमिकों को रायपुर स्टेशन में ही उतारा जाएगा। इन सभी श्रमिकों का स्टेशन पर ही स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। इसके लिए स्टेशनों पर मेडिकल टीमे भी तैनात की गई है। प्रशासन ने ट्रेन से आने वाले याात्रियों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए मेडिकल स्टाॅफ की ड्यूटी लगाई गई है, जिसमें डाॅक्टर, लैब टेक्नीशियन और पैरा मेडिकल स्टाॅफ के सदस्य शामिल हैं। इसके अलावा अन्य समन्वय, सैनिटाइजर और मास्क वितरण के लिए लोग तैनात किए गए हैं। यात्रियों की सुरक्षा के लिए पुलिस और आरपीएफ के जवान भी तैनात रहेंगे।

यात्रियों की स्कार्टिग के लिए राजस्व और पंचायत विभाग के अधिकारी-कर्मचारी तथा बसों के लिए चालक और इतने ही वाहन प्रभारी उपस्थित रहेंगे। स्टेशन और आस-पास के क्षेत्र को सैनिटाइजेशन करने के लिए निगम के कर्मचाारियों का अमला और इस पूरी व्यवस्था के समन्वय और मानिटरिंग के लिए एस.डी.एम., डिप्टी कलेक्टर और तहसीलदार सहित प्रशासनिक अधिकारी काम पर लगे हुए हैं। ट्रेन के स्टेशन पहुंचने पर एक बार में अल्टरनेट चार बोगियों से यात्रियों को उतारा जाएगा। उतरने के पहले सभी यात्रियों को हैंड सैनिटाइजर और मास्क दिया जाएगा। रेलवे स्टेशन के हर गेट में स्वास्थ्य विभाग की टीम तैनात की गई है, जिनके द्वारा उनका स्वास्थ्य परीक्षण व स्क्रीनिंग की जाएगी। मजदूरों को रेलवे स्टेशन से बसों के द्वारा उनके गांव एवं जिलों में भेजने की व्यवस्था की गई है जहां उन्हें क्वारंटाइन सेंटर में रखा जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल और निर्देशन पर लॉक डाउन के कारण अन्य राज्यों में फंसे छत्तीसगढ़ के श्रमिकों, छात्रों, संकट में पड़े लोगों और चिकित्सा की आवश्यकता वाले व्यक्तियों की छत्तीसगढ़ वापसी के लिए कुल 15 स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही हैं।

सोमवार को पहली ट्रेन यहां गुजरात से पहुंची थी। ट्रेनों में आने के लिए इन लोगों को राज्य सरकार द्वारा जारी लिंक में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना अनिवार्य होगा। छत्तीसगढ़ सरकार ने जिन 15 ट्रेनों को चरणबद्ध किया है, उनमें अहमदाबाद से बिलासपुर के लिए दो ट्रेन, विजयावाड़ा आन्ध्रप्रदेश से बिलासपुर एक ट्रेन, अमृतसर पंजाब से चांपा एक ट्रेन, विरामगम अहमदाबाद से बिलासपुर चांपा एक ट्रेन, लखनऊ उत्तरप्रदेश से रायपुर के लिए तीन ट्रेन, लखनऊ से भाटापारा के लिए दो ट्रेन, मुजफ्फरपुर बिहार से रायपुर एक ट्रेन, दिल्ली से बिलासपुर के लिए एक ट्रेन, मेहसाना गुजरात से बिलासपुर चांपा एक ट्रेन, हैदराबाद तेलंगाना से दुर्ग रायपुर होते हुए बिलासपुर 2 ट्रेन शामिल है।

05-05-2020
प्रवासी मजदूरों के लिए रायपुर नगर निगम-स्मार्ट सिटी ने शुरू किया स्वल्पाहार केंद्र

रायपुर। प्रवासी श्रमिकों की सहायता के लिए रायपुर नगर निगम और स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने टाटीबंध चौक पर स्वल्पाहार की व्यवस्था की है। महापौर एजाज ढेबर ने तेलंगाना, महाराष्ट्र, उड़ीसा से रायपुर प्रवेश करने वाले श्रमिकों से भेंट की और उनका हालचाल जाना। प्रवासी श्रमिक इन दिनों बड़ी संख्या में विभिन्न प्रदेशों से अपने गृह राज्य लौट रहे हैं, जो पैदल या किसी परिवहन की सुविधा के मदद से रायपुर सीमा क्षेत्र से गुजर रहे हैं। नगर निगम और रायपुर स्मार्ट सिटी ने टाटीबंध चौक बिलासपुर मार्ग, शहर के अंदर प्रवेश पर टाटीबंध गुरुद्वारा और रायपुरा मार्ग पर प्रवासी श्रमिकों की सुविधा के लिए पंडाल लगाए हैं। इन पंडालों पर प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन, स्वल्पाहार, छाछ, लस्सी, पानी की व्यवस्था की जा रही है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804