GLIBS
26-10-2020
मुरैना में तीन दिनों से डटे हैं कन्हैया अग्रवाल,कहा-मध्यप्रदेश में फिर बनेगी कांग्रेस की सरकार

रायपुर/मुरैना। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री कन्हैया अग्रवाल तीन दिनों से मध्यप्रदेश के मुरैना में हो रहे उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में डटे हुए हैं। कन्हैया अग्रवाल घर-घर जाकर जनसंपर्क कर कमलनाथ सरकार के कार्यों और भाजपा पर कड़ा प्रहार कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि जैसे मछली बिन पानी के तड़पती है, उसी तरह भाजपा बिना सरकार के तड़पने लगती है। चुनी हुई सरकार गिराने गद्दारों का सहारा लेती है। इसलिए इस चुनाव में सत्ता के लिए लोकतंत्र और चंबल की धरती के गौरव को कलंकित करने वाले गद्दारों और भाजपा को सबक सिखाना होगा। उन्होंने कहा है कि मुरैना के नागरिकों और व्यापारियों से लगातार जारी संवाद में एक बात स्पष्ट रूप से सामने आ रही है। कांग्रेस सरकार में जिस तरह माफिया राज को समाप्त कर सुशासन और भय मुक्त व्यापार का वातावरण मिला था, वह शिवराज सरकार में फिर समाप्त हो गया है। आतंक का राज कायम हो गया है। मुरैना के मतदाताओं की पीठ में छुरा घोपने वाले बिकाऊ गद्दारों को हटाने का निर्णय मतदाता कर चुका है।

20-10-2020
मरवाही उपचुनाव के लिए कांग्रेस पदाधिकारियों को मिली जिम्मेदारी, देखिए सूची

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से मरवाही उपचुनाव में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के साथ समन्वय के लिए पदाधिकारी संलग्न किए गए हैं। इनमें प्रभारी महामंत्री रवि घोष, पीसीसी सचिव अमीन मेमन, मनीष श्रीवास्तव और यूथ कांग्रेस राष्ट्रीय प्रवक्ता सुबोध हरितवाल शामिल है। सुबोध हरितवाल ने इस जिम्मेदारी के लिए पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम का आभार माना है। विश्वास दिलाया है कि पूरे तन मन से कांग्रेस पार्टी को विजय दिलाने के लिए कार्य करेंगे।

10-10-2020
शैलेश ने कहा-तीन काले कानूनों के विरोध में कांग्रेस की पत्रिका में सारे सवालों के जवाब

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने शनिवार को केन्द्र सरकार के तीन कानूनों पर एक पुस्तिका का विमोचन किया। इस पुस्तिका में उन सभी सवालों के जवाब है जो किसानों, मजदूरों और आम जनता में उठ रहे हैं। संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों व वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने कांग्रेस की पत्रिका का विमोचन किया। इस पुस्तिका में बताया गया है कि कांग्रेस इसका विरोध क्यों कर रही है और क्यों जनता को इन काले कानूनों का विरोध करना चाहिए। 
शैलेश ने कहा है कि इस पुस्तिका में-क्या इस कानून से कृषि उपज मंडियां खत्म हो जाएंगी ? मंडी और समिति खत्म होने से क्या नुकसान है? क्या किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलेगा ? समर्थन मूल्य पर सबसे बड़ा झूठ क्या है? क्या समर्थन मूल्य खत्म करने के लिए भ्रम फैला रही है मोदी सरकार? एक देश एक बाजार का दावा कितना सच है? क्या हम ठेका खेती या कॉन्ट्रेक्ट फार्मिंग की ओर जा रहे हैं? क्या कंपनी ठेका तय होने के बावजूद वादे से पलट सकती है? क्या बड़ी कंपनियां जमीनदार बनने जा रही है? क्या राशन कार्ड से राशन मिलना बंद हो जाएगा? बिहार में भी तो मंडियां खत्म हुई थी उसका क्या असर पड़ा? यह तीनों कानून संविधान के खिलाफ कैसे हैं?  क्या उपभोक्ता के लिए आवश्यक वस्तुएं महंगी हो जाएंगी ? जमाखोरी से ग्रामीण इलाकों पर क्या असर पड़ेगा? खेतिहर मजदूरों पर क्या असर पड़ेगा? क्या नरेंद्र मोदी विदेशी दबाव में हैं ? क्या भाजपा झूठ बोल रही है कि कांग्रेस का भी यही वादा था ? आदि सवाल हैं। 
शैलेश ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्टून के अलावा इसमें विभिन्न कार्टून लगाए गए हैं। इस पुस्तिका में इस भ्रामक प्रचार का स्पष्टीकरण भी दिया गया है कि कांग्रेस भी यही कानून बनाना चाहती थी। प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से इस पुस्तिका की लाखों प्रतियां प्रदेश भर में बंटवाई जाएगी। पत्रिका पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे   

07-10-2020
कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र, उत्तरप्रदेश सरकार को तत्काल बर्खास्त करने की मांग 

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी अनुसूचित जाति विभाग के पदाधिकारियों ने बुधवार को धरना प्रदर्शन के बाद  प्रदेश भर से आए पदाधिकारी और सामाजिक संगठन के साथ राजीव भवन से राजभवन कूच किया। पदयात्रा का नेतृत्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री शिवकुमार डहरिया ने किया। अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष धनेश पाटिला, सतनामी समाज के गुरू खुशवंत साहब, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन, प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारणी सदस्य शकुन डहरिया, महापौर एजाज ढेबर, प्रभारी महामंत्री संगठन चंद्रशेखर शुक्ला, चुरावन मंगेशकर, पदमा मनहर, कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी, थानेश्वर पाटिला, शेषराज हरबंश, प्रेमचंद जायसी, पप्पू बंजारे सहित बड़ी संख्या में अनुसूचित जाति के लोग सम्मिलित थे। 

 

 

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने उत्तरप्रदेश सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश की योगी सरकार गैंगरेप के दोषियों को बचाने का प्रयास कर रही है। कांग्रेस की मांग है कि तत्काल इस मामले को फास्टट्रेक कोर्ट में चलाया जाए और जिस प्रकार छत्तीसगढ़ राज्य में बलात्कारियों पर त्वरित कार्रवाई हुई ,उसी तर्ज पर हाथरस उत्तरप्रदेश के दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश में लगातार दलित समाज के बेटियों के साथ बलात्कार की घटना हो रही है और योगी सरकार खामोश बैठी हुई है। हम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मांग करते है कि उत्तरप्रदेश सरकार को बर्खास्त कर गैंगरेप के आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए।

03-10-2020
सीएम भूपेश बघेल के सुशासन काल में नक्सली हमलों में 48 प्रतिशत की कमी आई : विकास तिवारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं प्रवक्ता विकास तिवारी ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुइया उइके को लिखे नक्सली समस्या पर पत्राचार को राजनीतिक नौटंकी करार दिया है। विकास ने कहा है कि डॉ.रमन सिंह को पत्र लिखने के जगह पश्चाताप करना चाहिए। साथ ही प्रदेश की जनता से नक्सलवाद को फैलाने के लिए माफी भी मांगनी चाहिए। रमन राज के 15 सालों में नक्सलवाद जो कि बस्तर के कुछ ही जगह में था बढ़कर समूचे छत्तीसगढ़ में फैल गया। डॉ. रमन सिंह के गृह जिले राजनांदगांव में भी नक्सलियों ने अपना मजबूत पकड़ बना लिया था। पूरे विश्व में छत्तीसगढ़ की छवि नक्सलियों के गढ़ के रूप में की जाने लगी थी पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह नक्सलियों को माटी पुत्र, धरतीपुत्र कहकर संबोधित करते थे। जबकि नक्सली सीआरपीएफ सेना पुलिस के जवान आदिवासियों और अन्य लोगों की निर्मलता से हत्या किया करते थे। वर्तमान समय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सुशासन के चलते छत्तीसगढ़ राज्य में नक्सली हमलों में 48% की कमी आई है। इसका कारण यह था कि बस्तर में किसानों को भाजपा सरकार द्वारा बलात अधिग्रहित की गई। अट्ठारह सौ एकड़ जमीन को उन्हें वापस कर दिया गया जिसमें वह फसल जाकर 2500 रुपए धान समर्थन मूल्य प्राप्त कर रहे हैं। बस्तर और बस्तरवासियों का विकास देखकर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह बेचैन हो उठे हैं। अपने 15 सालों के असफलताओं को छुपाने और पर्दा डालने के लिए राज्यपाल को पत्राचार कर रहे हैं। जबकि उन्हें नक्सलवाद को फैलाने के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगने की आवश्यकता है। कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को उनके समय उनके शासनकाल में हुए नक्सली हमलों को याद दिलाते हुए सिलसिलेवार आंकड़े जारी करते हुए बताया कि 28 अप्रैल 2019 : छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में नक्सलियों ने पुलिस जवानों पर हमला किया। हमले में दो पुलिस जवान शहीद हो गए तथा एक ग्रामीण गंभीर रूप से घायल हो गया है।

19 मार्च 2019 : छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली हमले में उन्नाव के रहने वाले सीआरपीएफ जवान शशिकांत तिवारी शहीद हो गए। घात लगाकर हुए इस हमले में पांच अन्य लोग घायल भी हो गए।
24 अप्रैल 2017 : छत्तीसगढ़ के सुकमा में लंच करने को बैठे जवानों पर घातक हमला हुआ जिसमें 25 से ज्यादा जवान शहीद हो गए।
1 मार्च 2017 : सुकमा जिले में अवरुद्ध सड़कों को खाली करने के काम में जुटे सीआरपीएफ के जवानों पर घात लगाकर हमला कर दिया। इस हमले में 11 जवान शहीद हो गए और 3 से ज्यादा घायल हो गए।  
11 मार्च 2014 : झीरम घाटी के पास ही एक इलाके में नक्सलियों ने एक और हमला किया। इसमें 15 जवान शहीद हुए थे और एक ग्रामीण की भी इसमें मौत हो गई थी।
12 अप्रैल 2014 : बीजापुर और दरभा घाटी में आईईडी ब्लास्ट में पांच जवानों समेत 14 लोगों की मौत हो गई थी। मरने वालों में सात मतदान कर्मी भी थे। हमले में सीआरपीएफ के पांच जवानों समेत एंबुलेंस चालक और कंपाउंडर की भी मौत हो गई थी।
दिसंबर 2014 : सुकमा जिले के चिंतागुफा इलाके में एंटी-नक्सल ऑपरेशन चला रहे सीआरपीएफ के जवानों पर नक्सलियों ने हमला कर दिया दिया था। नक्सलियों के इस हमले में 14 शहीद हो गए थे जबकि 12 लोग घायल हो गए थे।
25 मई 2013 : झीरम घाटी हमला नक्सलियों ने कांग्रेस नेताओं के काफिले पर हमला कर दिया था जिसमें कांग्रेस के 30 नेता व कार्यकर्ताओं की शहादत हुई थी। नक्सलियों ने सबसे पहले सड़क पर ब्लास्ट किया और फिर काफिले पर अंधाधुंध फायरिंग कर दर्जनों लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। हमले में पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल, तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार पटेल, महेन्द्रकर्मा, उदय मुदलियार, दिनेश पटेल, योगेंद्र शर्मा समेत 30 से ज्यादा कांग्रेसी शहीद हुए थे।
6 अप्रैल 2010 : दंतेवाड़ा जिले के ताड़मेटला में यह हमला सुरक्षाकर्मियों पर हुआ यह हमला देश का सबसे बड़ा नक्सली हमला है। इसमें सीआरपीएफ के 76 जवान शहीद हो गए थे। सीआरपीएफ के करीब 120 जवान तलाशी अभियान चला रहे थे तभी उन पर घात लगाकर करीब 1000 नक्सलियों हमला कर दिया था। इस हमले में 76 जवान शहीद हो गए थे।
12 जुलाई 2009 : छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में घात लगाकर किए गये नक्सली हमले में पुलिस अधीक्षक वीके चौबे सहित 29 जवान शहीद हुए थे।

29-09-2020
मोहन मरकाम ने कहा- जिनको जिम्मेदारी मिलेगी वही मरवाही उपचुनाव में जाएंगे

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने मरवाही विधानसभा उपचुनाव के लिए निर्देश जारी किया है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय ठाकुर ने कहा है कि, मरवाही विधानसभा क्षेत्र में संगठन से जिनकों जवाबदारीऔर  प्रभार दिया जायेगा, वहीं चुनाव क्षेत्र में जाएंगे। यह निर्देश प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने दिया है। बता दें कि, चुनाव आयोग ने 11 राज्यों की 56 विधानसभा सीटों और बिहार की एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव की तारीखों का ऐलान किया है। इनमें मरवाही छत्तीसगढ़ की एक सीट पर उपचुनाव होगा। छत्तीसगढ़ के मरवाही उपचुनाव को लेकर वोटिंग 3 नवंबर को होगी। 10 नवबंर को नतीजे आएंगे। इधर मरवाही उप चुनाव की तारीख की घोषणा होने के बाद गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले में आदर्श आचार सहिंता लागू हो गई है। इस संबंध में जिला कलेक्टर ने विस्तृत निर्देश जारी कर दिए हैं। जिले के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति या व्यक्तियों का समूह बगैर सक्षम प्राधिकारी के अनुमति के न तो कोई सभा करेगा और रैली, जुलूस और धरना देगा। आदेश का उल्लंघन करने पर यह भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत दंडनीय होगा। जिले में आदर्श आचार सहिंता का आदेश तत्काल प्रभावशील हो गया है,जो विधानसभा उप निर्वाचन कार्य संपन्न होने तक 12 नवंबर तक  प्रभावशील रहेगा।

 

04-09-2020
सैलून और ब्यूटीपार्लर की कार्य अवधि बढ़ाने पर सीएम,कलेक्टर और कांग्रेस प्रवक्ता का जताया आभार

रायपुर। राष्ट्रीय सेन सभा एवं छत्तीसगढ़ सलून व्यवसाय संघ ने संयुक्त बयान जारी कर प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के युवा प्रवक्ता विकास तिवारी एवं रायपुर कलेक्टर भारती दासन का आभार व्यक्त किया।
छत्तीसगढ़ सैलून व्यवसाय संघ के प्रदेश अध्यक्ष संजीव सेन और राष्ट्रीय सेन महासभा की महिला विंग की प्रदेश अध्यक्ष विद्या सेन ने संयुक्त रूप से बयान जारी कर कहा कि कोरोना महामारी के समय लॉक डाउन होने के कारण छत्तीसगढ़ राज्य के सैलून,ब्यूटी पार्लर में कार्यरत सेन समाज के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। कोरना कोविड-19 संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए राज्य एवं जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन के कारण प्रदेश के सलून और ब्यूटी पार्लर व्यवसायियों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था।

एक और जहां संक्रमण के खतरे के कारण सैलून और ब्यूटी पार्लर व्यवसाई अपनी-अपनी दुकानों को बंद करने में मजबूर थे वहीं दूसरी ओर जिला प्रशासन द्वारा जारी किए कोरोना गाइडलाइन में कम समय सैलून व्यवसायियों को देने के कारण परेशानियों का भी सामना करना पड़ रहा था छत्तीसगढ़ सैलून व्यवसाय संघ के प्रदेश अध्यक्ष संजीव सेन,राष्ट्रीय सेन सभा के महिला विंग की प्रदेश अध्यक्ष विद्या सेन,जिला सैलून संघ के रूपेश सेन,दिनेश सेन,कैलाश सेन एवं अजय श्रीवास द्वारा 25 अगस्त को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के युवा प्रवक्ता विकास तिवारी के संयुक्त नेतृत्व में रायपुर कलेक्टर भारती दासन को ज्ञापन सौंपकर सैलून व्यवसाय के समय को सुबह 8 बजे से शाम 4 बजे तक करने एवं रविवार को भी व्यवसाय चालू रखने के लिए आग्रह किया था। रायपुर कलेक्टर द्वारा कहा गया था कि सैलून व्यवसायियों एवं ब्यूटी पार्लर व्यवसायियों को कोरोना कोविड-19 संक्रमण के रोकने में मदद भी करनी होगी और कोरोना महामारी अधिनियम के तहत आने वाले सभी नियमों का पालन कड़ाई से करना होगा उन्होंने कहा कि सैलून व्यवसायियों को अपने सभी औजारों को लगातार सैनिटाइज करना होगा साथ ही मास्क का उपयोग सैलून-ब्यूटीपार्लर व्यवसायियों और ग्राहकों को आवश्यक रूप से पहनना होगा। 

 छत्तीसगढ़ सैलून व्यवसाय संघ के प्रदेश अध्यक्ष संजीव सेन, राष्ट्रीय सेन सभा के महिला विंग की प्रदेश अध्यक्ष विद्या सेन,रूपेश सेन,दिनेश सेन,कैलाश सेन एवं अजय श्रीवास ने कांग्रेस सरकार के मुखिया भूपेश बघेल,प्रदेश कांग्रेस कमेटी के युवा प्रवक्ता विकास तिवारी एवं रायपुर कलेक्टर भारती दासन का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के समय सैलून एवं ब्यूटी पार्लर व्यवसाय में कार्यरत सेन समाज के लोगों के लिए यह बहुत बड़ी राहत है एवं प्रदेश के सेन समाज के नागरिक इस हेतु प्रदेश सरकार के प्रति अपनी कृतज्ञता भी व्यक्त करते हैं और साथ की कोरोना महामारी के संक्रमण के फैलाव को रोकने में प्रदेश सैलून व्यवसाय संघ द्वारा प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन को कदम से कदम मिलाकर साथ दिया जायेगा।

 

21-08-2020
प्रदेश अध्यक्ष साय और नेता प्रतिपक्ष कौशिक अपने विधायक के कृत्य पर माफी मांगे : विकास तिवारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने पूर्ववर्ती रमन सरकार के पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर के द्वारा ट्विटर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को तंज कसते हुए छत्तीसगढ़ की बहु बेटियों द्वारा मनाया जाने वाला तीजा के त्यौहार के पहले दिन करूं-भात खाने की परंपरा को तंज कसने के लिये उपयोग किया गया। इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता ने पूछा कि क्या पूर्वमंत्री अजय चंद्राकर ने सनातन धर्म और रीति-रिवाजों का माखौल उड़ाना भाजपा कार्यालय में सीखा या राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के शाखा में सीखा इसका जवाब देना चाहिये और अपने वरिष्ठ विधायक के इस ट्वीट में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक का सहमति है और अगर पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर के इस बयान पर भारतीय जनता पार्टी की सहमति नहीं है तो तत्काल प्रदेश की लाखों तिजहारीन बहनों से भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई को हाथ जोड़कर माफी मांगना चाहिये और अगर भाजपा अपने वरिष्ठ विधायक के इस कृत्य पर प्रदेश की लाखों तिहार इन बहनों से माफी नहीं मांगेंगे तो इससे स्पष्ट हो जाएगा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता सनातन धर्म और रीति-रिवाजों का मखौल उड़ाना भाजपा कार्यालय और संघ की शाखा में ही सीखते हैं। इससे यह भी स्पष्ट होता है कि भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को संघ की शाखाओं में महिला विरोधी होने का प्रशिक्षण दिया जाता है।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि भाद्रपद शुक्लपक्ष की तृतीया तिथि बुधवार को है, जिसे हरितालिका व्रत कहा जाता है। इस तिथि पर सुहागवती महिलाएं और युवतीयां निर्जला व्रत रखकर भगवान शिव-पार्वती का पूजन करेंगी। सुहागिनें पति की लम्बी उम्र की कामना करेंगी तो युवतीयां अच्छे पति के लिए व्रत करेंगी। इस व्रत के महत्व को देखते हुए लोग इसकी तैयारियों मेें जुट जाते हैं। इसमें महिलाएं तीजा मनाने अपने मायके पहुंच रही हैं। हरितालिका व्रत के लिए  करू भात खाएंगी। इसके दूसरे दिन चौबीस घंटे के निर्जला व्रत करेंगी। सोलह श्रृंगार में भगवान शिव का पूजन कर कथा सुनेंगी। देर शाम तक महिलाएं एक-दूसरे के घर जाकर करू भात की रस्म निभाएंगी। तीज त्यौहार की परंपरा सैकड़ों सालों से निभाई जा रही है लेकिन मुद्दा विहीन और गुटबाजी से संक्रमित भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ विधायक द्वारा तीजा त्यौहार की परंपरा करु-भात पर राजनीतिक रूप से तंज कसने की यह नयी परंपरा का शुरुआत किया गया जिससे प्रदेश की लाखों तिजहारिन बहनों ने अपने आप को अपमानित महसूस किया है और कांग्रेस पार्टी पूर्वर्ती रमन सरकार के पूर्व मंत्री और विधायक अजय चंद्राकर के ट्विटर में दिये गये बयान की घोर निंदा करती है और अजय चंद्राकर के इस ट्वीट पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय और विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक से स्पष्टीकरण की मांग करती है साथ ही कांग्रेस पार्टी का भी मांग करती है कि भाजपा विधायक के इस बयान पर भारतीय जनता पार्टी को प्रदेश की तिजहारिन बहनों से हाथ जोड़कर माफी मांगना चाहिए। राजनीति में इतना गिर कर और सनातन धर्म रीति-रिवाजों का अपमान कर कटाक्ष और तंज कसना भाजपा नेता बंद करे। पूर्वर्ती रमन सरकार के पूर्व मंत्री का यह ट्वीट महिला विरोधी मानसिकता का परिचायक भी है।

 

08-08-2020
निगम-मंडलों में समर्पित कार्यकर्ताओं को मिलेगी जगह, समन्वय समिति की बैठक आज

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी पीएल पुनिया को कांग्रेसियों ने निगम-मंडल में अपनी दावेदारी के लिए बायोडाटा दिया। बता दें कि शनिवार को कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक होनी है। इस बैठक में निगम मंडलों की दूसरी सूची पर पदाधिकारियों को लेकर चर्चा होगी।

माना जा रहा है कि इस बैठक के बाद नामों की घोषणा हो सकती है। पुनिया ने कल ही कहा था कि कौन काम किया है, कौन सक्रिय है हमें, मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष को मालूम है। समर्पित कार्यकर्ताओं को ही निगम मंडलों में जगह मिलेगी। पुनिया ने विधायकों को निगम मंडल में एडजस्ट करने पर कहा ऐसा नहीं है कि सिर्फ विधायकों को ही नहीं लिया जा रहा है। पार्टी के निष्ठावान कार्यकर्ताओं को भी जिम्मेदारी दी जा रही है।

गौरतलब है कि पुनिया आज कांग्रेस समन्वय समिति बैठक के अलावा भी कई ज़िलों में बनने वाले जिला कांग्रेस भवन की तैयारियों को लेकर वरिष्ठ नेताओं से चर्चा भी करेंगे, संगठन की आगामी रणनीति पर भी चर्चा करेंगे। साथ ही जिला कांग्रेस कार्यकारणी और ब्लॉक अध्यक्षों की नियुक्तियों पर विस्तार से चर्चा करेंगे। वहीं छत्तीसगढ़ में माता कौशल्या मंदिर और राम वनगमन परिपथ पर पीएल पुनिया ने कहा राज्य की कांग्रेस सरकार जन आकांक्षाओं के अनुरूप काम कर रही है, प्रदेश के सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व के स्थानों को सहेजने का प्रयास कर रही है, ऐसा नहीं है कि राम जन्मभूमि में मंदिर निर्माण के बाद यह निर्णय लिया गया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804