GLIBS
27-11-2020
दिव्यांगों के चेहरे पर आई खुशी, संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने दी आरती और प्रभु सहाय को व्हील चेयर

रायपुर /जगदलपुर। दिव्यांगजनों के चेहरे में खुशियां लाने के मकसद से जगदलपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक रेखचंद जैन लगातार प्रयासरत हैं। शुक्रवार को संतोषी वार्ड निवासी प्रभुदास सहाय एवं आरती के घर विधायक व संसदीय सचिव रेखचंद जैन पहुंचे। यहां उन्होंने दोनों दिव्यांगों का हालचाल जाना। दोनों ने अपनी परेशानी संसदीय सचिव को बताई। प्रभु सहाय ने कहा की उन्हें अपने काम में जाने के लिए अक्सर देरी हो जाती है। वही आरती ने बताया कि उन्हें कही आने जाने के लिए दूसरों की मदद लेनी पड़ती है। इस पर विधायक रेखचंद जैन ने प्रभु और आरती को ट्रायसाइकिल व व्हील चेयर भेंट दी। इससे अब आरती को चलने फिरने व स्कूल जाने में किसी के सहारे की जरूरत नहीं होगी। वहीं प्रभु सहाय भी अब अपनी नौकरी में समय में पहुंच सकेगा। वार्ड में पहुंचे संसदीय सचिव रेखचंद को देखकर वार्डवासियों खुश हुए। वहीं पार्षद लता निषाद ने कहा कि संसदीय सचिव व विधायक रेखचंद जैन की ओर से दिव्यांगजनों को लगातार सुविधा उपलब्ध करा रहें हैं। संतोषी वार्ड में भी दो दिनों के भीतर चार दिव्यांगों के लिए ट्रायसाइकिल व व्हील चेयर उन्होंने प्रदान की।

 

12-10-2020
महापौर ने लाॅटरी निकालकर किया आवास का आवंटन, दिव्यांगजनों को मिला ग्राउण्ड फ्लोर का घर  

दुर्ग। थगड़ाबांध के करीब 98 निवासियों को विवेकानंद सभा भवन में महापौर धीरज बाकलीवाल द्वारा लाॅटरी निकालकर प्रधानमंत्री आवास का आवंटन किया गया । महापौर की मंशा के अनुसार बोरसी के प्रधानमंत्री आवास में थगड़ा बांध के तीन दिव्यांग और चार एकल महिलाओं को  ग्राउण्ड फ्लोर का आवास आवंटित किया गया है। इस दौरान निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन, लोक कर्म प्रभारी अब्दुल गनी, वित प्रभारी दीपक साहू, शिक्षा प्रभारी मनदीप सिंह भाटिया, पार्षद विजयेन्द्र भारद्वाज, पूर्व पार्षद राजेश शर्मा, कार्यापालन अभियंता राजेश पाण्डेय, सहा. अभियंता जितेन्द्र समैया, उपअभियंता आरके जैन, प्रधानमंत्री आवास के सूडा सिविल इंजीनियर अभिषेक मिश्रा तथा सामाजिक विकास विशेषज्ञ आशुतोष ताम्रकार, विकास यादव उपस्थित थे। लाॅटरी से आवास आवंटन का संचालन आशुतोष ताम्रकार ने किया। इस दौरान सोशल डिस्टेंस का पालन किया गया साथ ही हितग्राहियों को सैनिटाइज किया गया। सभी हितग्राही मास्क लगाकर लाॅटरी कार्यक्रम में उपस्थित हुये थे । इस संबंध में महापौर श्री बाकलीवाल ने बताया कि थगड़ाबांध सौदर्यीकरण प्रस्तावित कार्य के तहत् वाटरबाडी क्षेत्र में निवास करने वाले लोगों को प्रधानमंत्री आवास का आवंटन किया जाना है। इसके अंतर्गत आज पंजीयन राशि जमा करने वाले हितग्राहियों को लाॅटरी निकालकर आवास का आवटन किया गया है । प्रधानमंत्री आवास बोरसी के गलैक्सी में यह हितग्राही सर्वसुविधा युक्त आवास में रहेगें । उन्होनें बताया इसके पूर्व 31/5/2018 को थगड़ाबांध के ही 88 निवासियों को गलैक्सी में ही आवास का आवंटन किया गया है। 

 

01-04-2020
कोरोना संकट: दिव्यांगजन की सहायता के लिए दिशा-निर्देश जारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण को देखते हुए प्रदेश में लाॅकडाउन किया गया है। ऐसी परिस्थिति में दिव्यांगजन को आवश्यक संसाधनों की उपलब्धता में परेशानी का सामना न करना पड़े, इसके लिए राज्य आयुक्त दिव्यांगजन आर.प्रसन्ना ने सभी कलेक्टरों सह अध्यक्ष डी.डी.एम.ए. को पत्र लिखकर दिव्यांगता समावेशी दिशा-निर्देश जारी किया है। जारी पत्र में कहा गया है कि भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार दिव्यांगजन को आवश्यक सेवाओं जैसे भोजन, दवाईयों इत्यादि की पहुंच को सुलभ किए जाने के लिए गैर सरकारी संगठनों और सिविल सोसायटी संगठनों, आवासीय कल्याण संघों से समन्वय स्थापित कर कार्य किया जा सकता है। इसके लिए जिले में समाज कल्याण अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया गया है। ये अधिकारी दिव्यांगजनों को सहायता और मदद उपलब्ध कराएंगे।


मुख्य आयुक्त दिव्यांगजन ने दिव्यांगों कीे देखभाल करने वाले गैर सरकारी संगठनों के सदस्यों को आवागमन की अनुमति न होने के कारण हो रही परेशानी को देखते हुए सभी कलेक्टरों से वस्तुस्थिति को ध्यान में रखते हुए दिव्यांगजनों की सहायता के लिए गैर सरकारी संगठनों, सिविल सोसायटी संगठनों और आवासीय कल्याण समिति संगठनों को आने-जाने की अनुमति जारी करने कहा है। उल्लेखनीय है कि केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग, नई दिल्ली द्वारा नोवल कोरोना वायरस संक्रमण के कारण आपातकालीन स्वास्थ्य स्थितियों के दौरान दिव्यांगजनों की सुरक्षा के लिए राज्यों को व्यापक निर्देश जारी किए हैं।

 

25-03-2020
राज्य आयुक्त ने दिए दिव्यांगजनों को सुरक्षा तथा संरक्षण प्रदान करने के संबंध में निर्देश

रायपुर। राज्य आयुक्त दिव्यांगजन द्वारा राज्य में नोवेल कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण की कार्रवाई लॉकडाउन के समय फंसे हुए दिव्यांगजनों को सुरक्षा तथा संरक्षण प्रदान करने के संबंध में संबंधित विभागीय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने केंद्र सरकार के दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के पत्र का उल्लेख करते हुए राज्य के समस्त संभागायुक्त, संचालक समाज कल्याण संचालनालय, जिला कलेक्टर और जिला कार्यालय समाज कल्याण के विभागीय अधिकारियों को इस संबंध में अवगत कराया है। इस दौरान ऐसे दिव्यांगजनों को जो अंतर्राज्यीय अथवा अंतर्जिला में लॉक डाउन के दौरान फंसे हुए हैं, उन्हें चिन्हांकित कर तत्काल आवश्यक सहायता उपलब्ध करायी जाए। साथ ही उन्हें सुरक्षित जगह पर पहुंचाएं और यह भी सुनिश्चित करें कि वे सब उपयुक्त सुरक्षित जगह पर पहुंच गए हैं। उल्लेखनीय है कि राज्य में नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए 18 मार्च से विभिन्न सार्वजनिक स्थल को बंद अथवा लॉक डाउन किया गया है। इसमें परिवहन विभाग द्वारा अंतर्राज्यीय बसों के परिवहन पर पूर्णतः रोक लगा दी गई है। इसे ध्यान में रखते हुए ऐसे दिव्यांगजनों को सुरक्षा तथा संरक्षण प्रदान करने की कार्रवाई प्राथमिकता से सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए है।

27-01-2020
मानवीय संवेदनाओं की भावना से जरूरतमंद लोगों के हित में काम करना प्रेरणादायक: अनुसुईया उइके

रायपुर। मानवीय संवेदनाओं की भावना के साथ समाज के जरूरतमंद लोगों के हित में काम करने वाले व्यक्तियों और संस्थाओं को समाज में हमेशा सम्मान मिलता है। व्यक्तियों और संस्थाओं के नाम इतिहास में अमर हो जाते है। मानव सेवा के लिए कार्य करने वाले लोगों को सब याद करते हैं। यह बड़ा पुण्य का काम होता है। राज्यपाल अनुसुईया उइके ने सोमवार को पद्मश्री गोविंदराम निर्मलकर ऑडिटोरियम, राजनांदगांव में दिव्यांगजनों के कल्याणार्थ शिक्षण-प्रशिक्षण सह पुनर्वास संस्थान ‘अभिलाषा’ के रजत जयंती वर्ष समारोह में इस आशय के यह विचार व्यक्त किए।

राज्यपाल ने कहा कि अभिलाषा संस्था द्वारा मानवीय संवेदनाओं से प्रेरित होकर कार्य किया जा रहा है। संस्था के संस्थापक एवं अध्यक्ष अब्दुल्ला युसूफ और उनके सहयोगियों का यह कार्य प्रेरणा दायक है। युसूफ जैसे व्यक्ति समाज में बहुत कम होते हैं। इसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। इस संस्था के जरिए दिव्यांग बच्चों को आत्मनिर्भर बनने और उनकी जिंदगी को नई दिशा देने की पहल की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस संस्था के प्रयासों से आज अनेक युवा शासकीय सेवाओं में भी हैं, खेल तथा सांस्कृतिक गतिविधियों में अपने हुनर का प्रदर्शन कर संस्था का नाम रौशन कर रहे हैं।

राज्यपाल ने कहा कि दिव्यांगजनों में बैठी हीन भावना को दूर कर सामान्य व्यक्ति के रूप में जीवनयापन करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करने की जरूरत होती है। दुनिया भर में दिव्यांगजनों को विभिन्न क्षेत्रों में प्राप्त उपलब्धियों के बारे में संस्था के बच्चों को बताया जाना चाहिए। दिव्यांग बच्चों में कमाल की क्षमता होती है। अपनी क्षमता की बदौलत वे भी जीवन में ऊचांईयां प्राप्त कर सकते हैं। राज्यपाल ने अभिलाषा संस्था को आर्थिक और अन्य रूप में सहयोग करने वालों की भी तारीफ करने हुए कहा कि जो लोग इस तरह की संस्थाओं की मदद करते हैं, ईश्वर उनकी मदद करते हैं।

राज्यपाल ने कहा कि मैं अपने अनुभव से कहती हूं कि छत्तीसगढ़ एक ऐसा प्रदेश है, जहां के लोग सहज और सरल हैं। यहां के लोगों की वाणी की मिठास मन को बहुत भाती है। उन्होंने कहा कि राजभवन आने के बाद मेरी कोशिश है कि राजभवन से कोई निराश न लौटे। हर व्यक्ति के लिए राजभवन का दरबार सहजता से खुला रहता है। मेरी कोशिश होगी कि सबके मार्गदर्शन से छत्तीसगढ़ के निवासियों के सुख, शांति, समृद्धि के लिए कार्य कर सकूं।

महापौर हेमा देशमुख ने अभिलाषा की रजत जयंती अवसर पर सबको बधाई एवं शुभकामनाएं दी और कहा कि यह संस्था हिम्मत से आगे बढ़ती चली गई है। 25 वर्ष का सफर गौरवशाली है। दिव्यांग बच्चे ईश्वर के रूप होते है। देशमुख ने संस्था को हर संभव सहयोग करने का आश्वासन भी दिया। लोकसभा सांसद  संतोष पाण्डेय ने कहा कि दृढ़ इच्छाशक्ति के सामने सभी बाधाएं बौनी हो जाती हैं। पाण्डेय ने संस्था के लंबे सफल सफर के लिए संस्थापक प्रमुख युसूफ की प्रशंसा भी की। उन्होंने कहा कि दिव्यांगता बाधक नहीं होती, जरूरत, हिम्मत और हौसले के साथ आगे बढने की होती है।

राज्यपाल उइके ने कार्यक्रम में अभिलाषा की 25 वर्ष की यात्रा पर केन्द्रित ब्रोशर का विमोचन किया। उन्होंने संस्था से निकलकर शासकीय सेवारत तथा खेल के क्षेत्र में विशिष्ट उपलब्धि हासिल करने वाले अनेक युवाओं का प्रतीक चिन्ह देकर सम्मान किया। कार्यक्रम में संस्था को आर्थिक और अन्य संसाधनों के रूप में सहयोग देने वाले व्यक्तियों और संस्थाओं के प्रतिनिधियों का भी सम्मान किया गया। समारोह की अध्यक्षता राजनांदगांव नगर निगम की महापौर  हेमा देशमुख ने की। समारोह में लोकसभा सांसद संतोष पाण्डेय भी विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

20-12-2019
शकुन्तला फाउंडेशन ने की दिव्यांगों की सहायता 

रायपुर। सामाजिक संस्था शकुन्तला फाउंडेशन छत्तीसगढ़ ने शुक्रवार को दो दिव्यांगजनों के कृत्रिम पैर लगवाने के लिए सहयोग प्रदान किया। दोनों ही दिव्यांगों ने बीमारी की वजह से अपने दोनों पैर खो दिए थे और दोनो ही असाहय अवस्था मे जीवन निर्वहन कर रहे थे। इस अवसर पर संस्था के अध्यक्ष स्मिता सिंह, सदस्य सोमा सरकार, कमल जैन, आशीष वाकडे और इंदोर ठाकुर उपस्थित थे।

15-11-2019
निःशक्तजन अपनी कमजोरियों को हथियार बनाकर जीवन में आगे बढ़ें : अनिला भेंड़िया

रायपुर। समाज कल्याण विभाग द्वारा धमतरी के विंध्यवासिनी वार्ड के सामुदायिक भवन में आयोजित दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरण वितरण कार्यक्रम में आबकारी एवं उद्योग मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा तथा महिला एवं बाल विकास व समाज कल्याण मंत्री अनिला भेड़िया ने शिरकत की। कार्यक्रम में चिन्हांकित दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग और सहायक उपकरण वितरित किए। मुख्य अतिथि की आसंदी से जिले के प्रभारी मंत्री लखमा ने कहा कि निःशक्त बच्चे सामान्य बच्चों से किसी भी मामले में कमतर नहीं होते। ऐसे बच्चे असाधारण प्रतिभा के धनी होते हैं तथा अन्य बच्चों की तरह हमारे प्यार और सम्मान के हकदार होते हैं। सरकार दिव्यांगजनों की मदद के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रही है। बच्चों में किसी प्रकार की शारीरिक व मानसिक कमी न रह जाए, इसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा सुपोषण अभियान चलाया जा रहा है। इसके सकारात्मक परिणाम सामने आने लगे हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहीं समाज कल्याण मंत्री  भेड़िया ने जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि निःशक्तजन कभी स्वयं को कमजोर न समझें, अपितु अपनी कमजोरियों को हथियार बनाकर जीवन में आगे बढ़ें।

उन्होंने बताया कि निःशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत पूर्व में मिलने वाली प्रोत्साहन राशि सरकार द्वारा दोगुनी कर दी गई है। उन्होंने दिव्यांगजनों को मजबूत बनाने के लिए समाज के सभी वर्ग के लोगों को आगे आने का आव्हान किया। उप संचालक समाज कल्याण ने बताया कि कार्यक्रम में चिन्हांकित दिव्यांगजनों को कुल 461 कृत्रिम अंग एवं उपकरण वितरित किए गए। इनमें 24 नग ट्रायसिकल, 16 व्हीलचेयर, 13 सी.पी. चेयर, 38 बैशाखी, 11 वॉकिंग स्टीक, 198 श्रवण यंत्र, 2-2 ब्रेल केन फोल्डिंग, ब्रेल स्लेट, ब्रेल किट निःशुल्क बांटे गए। इसके अलावा 10 स्मार्ट फोन, 15 स्मार्ट केन, 04 डेजी प्लेयर, 09 रोलेटर, 45 एमएसआईडी किट, 12 मोटराइज्ड ट्रायसिकल तथा 60 प्रोस्थेसिस एवं कैलिपर्स वितरित किए गए। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष रघुनंदन साहू, सदस्य कविता बाबर एवं नीशु चंद्राकर, जनपद पंचायत धमतरी की अध्यक्ष प्रियंका सिन्हा, धमतरी के पूर्व विधायक हर्षद मेहता सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804