GLIBS
01-10-2019
कटघोरा नगरीय निकाय चुनाव में अध्यक्ष पद के लिए आ रहे कई नाम समाने

कोरबा। कटघोरा नगरीय निकाय चुनाव 2019 में अध्यक्ष पद के लिए सामान्य सीट हो जाने से चुनाव में दावेदारी कर रहे उम्मीदवारों के चेहरों पर खुशी की लहर दिखाई दी है। कई सालों से चुनाव लड़ने की मंशा को लेकर निराश बैठे पार्टी के कार्यकर्ताओं को आखिरकार चुनावी रूप रेखा में मशगूल होते देखा जा रहा है। इस बार अध्यक्ष चुनाव में यह भी सुगबुगाहट सुनाई पड़ रही है कि पार्टियों में बगावत कर युकां नेता भी पार्टी से टिकट की मांग कर सकते हैं। इसमें पार्टियों के बड़े नेताओं के साथ युकां नेता बगावत कर चुनाव में अपनी किस्मत आजमाने का मन बना लिये है। बता दें कि इस बात से किनारा नहीं किया जा सकता जो की एक कटु सत्य है, चाहे विधानसभा चुनाव हो या लोकसभा हर बार कटघोरा का दुर्भाग्य रहा है कि आज तक न तो  यहाँ बुनियादी सुविधाएं मिल पाई और न ही एक अच्छा नेता। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की घोषणा पत्र में कहा गया था कि कटघोरा को जिला बनाएंगे लेकिन वो सिर्फ घोषणा ही रह गई। हर बार चुनाव में बड़े बड़े वादों के साथ जनता को सपने दिखाए जाते हैं और हर बार कटघोरावासी पांच साल तक अपने आपको कोसते रहते है। लेकिन इस बार नगरीय निकाय चुनाव में युका नेताओं ने ताल ठोकीं है, बगावत ही सही लेकिन कटघोरा की जनता का दुःख व कटघोरा की बदहाल स्थिति को युका नेता भलीभांति समझ सकते हैं। ऐसा नहीं है कि पार्टियों के बड़े नेता अंजान है लेकिन अब ये तो पार्टी के ऊपर निर्भर करता है कि आखिरकार वो किसको टिकट देकर चुनावी मैदान में उतारने की मंशा बना रही है ये तो आने वाला समय ही बताएगा।

भाजपा में क्या चल रहा है

अगर भाजपा की बात की जाए तो हमेशा एक नाम जुबा पर आ जाता है वार्ड क्र 4 के पार्षद पवन अग्रवाल लोगों की सेवा कार्य में व्यस्त रह कर जनहित के कार्यो में अपना योगदान दे रहे हैं। इस बार भाजपा से भी कई दावेदारों के नाम आ रहे हैं, जिनमे वर्तमान नपा अध्यक्ष ललिता डिक्सेना का भी नाम सुनने को मिल रहा है। कटघोरावासियों की बात करे तो उन्होंने बताया कि इनके कार्यकाल से कटघोरावासी बेहद नाखुश दिखाई दिए अगर इनको टिकट मिलती है तो पार्टी को बड़ा  नुकसान हो सकता है। इसी कड़ी में कटघोरा के व्यवसायी दिनेश गर्ग, जो कि हमेशा लोगो से जुड़े हुए हैं। अपना पूरा जीवन पार्टी को समर्पित कर देने वाले मो.हनीफ जमीन से जुड़ कर पार्टी के लिए लगातार कार्यरत रहे हैं।

कांगेस की बात करे तो

इसी कड़ी में अगर कांग्रेस की बात करे तो कांग्रेस से बड़ी संख्या में बगावत हो सकती है। जब भी चुनाव में कांग्रेस की बात होती है तो कटघोरा से रतन मित्तल जोकि पूर्व में नपा अध्यक्ष रह चुके हैं और कटघोरा का विकास करने में बहुत बड़ा योगदान रहा था। अगर इनको कांग्रेस से टिकट मिलती है तो निश्चित रूप से जीत के आसार बन सकते हैं। जब राजनीति की बात आती है तो डॉ शेख इश्तियाक का नाम किसी से छुपा नही है लेकिन पार्टी में बगावत की वजह से हर बार चुनाव में भारी नुकसान उठाना पड़ा है। इन सबके बीच अशरफ मेमन ने भी चुनाव लड़ने की मंशा जाहिर की है यह एक ऐसा नाम है जो नगरवासियों के हितों के लिए हमेशा आगे रहते हैं।लालबाबू ठाकुर ने भी चुनाव में उतरने की तैयारी की है। राजीव लखनपाल का नाम भी सुनने की मिल रहा है। इनके बीच युकां नेता राज जायसवाल का नाम भी लोगों की जुबा पर है। इतना ही नहीं कांग्रेस से महिला के रूप में भावना जायसवाल ने भी टिकिट की मांग की है। लेकिन जनता तो जनार्दन है अब पार्टी किसको अपना उम्मीदवार बना कर मैदान में उतारती है ये तो समय ही बताएगा।
कटघोरा नगरीय निकाय चुनाव में बगावत का बिगुल बज चुका है,तनातनी का माहौल है। पार्टियों में बगावत को लेकर मनमुटाव की स्थिति देखी जा रही है।

 

01-10-2019
Breaking : बैंक की दीवार में होल करके डकैती का प्रयास, पुलिस जुटी जांच में

गरियाबंद। शहर में बैंक में डकैती का प्रयास किया गया। डकैतों ने अमलीपदर ग्रामीण बैंक में बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। उन्होंने बैंक की दीवार में होल करके चोरी का प्रयास किया। हालांकि डकैत लॉकर को नहीं तोड़ पाए और लैपटॉप और दूसरा सामान ले गए। बताया जा रहा है की डकैतों ने बैंक में तोड़फोड़ भी की। घटना बीती देर रात की बताई जा रही है। पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच में जुटी है। 

01-10-2019
अक्टूबर महीने के पहले दिन महंगा हुआ रसोई गैस सिलेंडर

नई दिल्ली। रसोईं गैस महंगी हो गई है। यह लगातार दूसरा महीना है जब एलपीजी के दामों में बढ़ोतरी हुई है। मंगलवार को रेट बदलने के बाद घरेलू रसोई गैस सिलेंडर (14.2 किलो) के बाजार भाव में करीब 15 रुपये की वृद्धि हुई है। दिल्ली में आज से बिना सब्सिडी वाले सिलिंडर के लिए 605 रुपए चुकाने पड़ेंगे। कोलकाता में इसका दाम 630 रुपये है। वहीं मुंबई और चेन्नई में 14.2 किलो के बिना सब्सिडी वाले सिलिंडर का दाम क्रमश: 574.50 और 620 रुपये है। 19 किलोग्राम सिलिंडर की कीमत दिल्ली में 1085 रुपये हो गई है। कोलकाता में 1139.50 रुपये, मुंबई में 1032.50 रुपये और चेन्नई में इसका दाम 1199 रुपये है। बता दें इससे पहले सितंबर में दिल्ली में 14.2 किलो का बिना सब्सिडी वाला सिलिंडर 590 रुपये का था। कोलकाता में इसका दाम 616.50 रुपये था। वहीं मुंबई और चेन्नई में 14.2 किलो के बिना सब्सिडी वाले सिलिंडर का दाम क्रमश: 562 और 606.50 रुपये था। वहीं, 19 किलोग्राम सिलिंडर की कीमत दिल्ली में 1054.50 रुपये थी। कोलकाता में पिछले महीने यह 1114.50 रुपये, मुंबई में 1008.50 रुपये और चेन्नई में 1174.50 रुपये था। 

01-10-2019
नगरीय निकाय चुनाव: कटघोरा में जनता चुन सकती है नया चेहरा, इस बार बदलाव की स्थिति ?

कोरबा। इस बार कटघोरा की जनता नगरीय निकाय चुनाव में अध्यक्ष का नया चेहरा चुन सकती है। पुराने चेहरों को देखते सालों बीत गए लेकिन नगर विकास की बजाय पतन की ओर अग्रसर है, जो शासन की तमाम सुविधाओं से कटघोरा वासी वंचित महसूस कर रहे हैं। जैसा कि हम सब को ज्ञात है कि विधानसभा चुनाव में कटघोरा को जिला बनाये जाने की बात कही गई थी, लेकिन वो सिर्फ चुनावी जुमले ही साबित हुए। कटघोरा के समस्याओं की अगर बात करेेें तो शायद पांच साल भी कम पड़ जाए। यहाँ के सड़कोें की दुर्दशा किसी से छिपी नहीं है, जो जिम्मेदार सरकार व प्रतिनिधि सीना ताने कटघोरा की जनता के सब्र का इन्तजार कर रहे हैं। जनता बड़ी उम्मीद से प्रतिनिधि चुनाव करती है, लेकिन जब वे उनकी उम्मीदों पर खरा नहीें उतरते तो जनता अपने आप को ठगा सा महसूस करने लगती है। कटघोरा तमाम उन सुविधाओं से हमेशा वंचित रहा है जब कटघोरा वासियों को स्वास्थ्य सुविधा से लेकर अस्पताल की जरूरत महसूस हुई है, तब केवल करोड़ों की बिल्डिंग खड़ी कर दी गई है लेकिन ईलाज तो कोरबा और अन्य स्थानों पर ही मिलता है। जब यहां के बच्चों की पढ़ाई की बात आती है तो वे भी अच्छे स्कूल और कॉलेज के लिए भटकते ही नजर आते हैं। न तो आज तक बिजली व्यवस्था सुधर पाई और न ही घरों तक पानी पहुँच सका। इन सबके बीच हर पांच साल में आते चुनाव, वही चेहरे, वही वादे, वही ढकोसले आखिर कब तक निर्दोष जनता इनके बहकावे का शिकार होते रहेगी। अब तो पुराने चेहरों से भरोसा ही उठ गया है। अब जनता ने मन बनाया है शायद नया चेहरा ही कटघोरा को विकास की गति प्रदान कर सकता है।

01-10-2019
करंट की चपेट में आकर अधेड़ की मौत

कोरबा। पसान के कर्री गांव में करंट से चिपक कर एक बुजुर्ग की मौत का मामला सामने आया है। यह वाक्या मंगलवार सुबह का है। जानकारी के मुताबिक़ गांव तुलबुल के रहने वाले बुधराम गोंड़ (55) ने अपने पुराने घर से नए घर तक विद्युत् तार बिछाया हुआ था। सुबह उसने देखा की बिजली गुल है और बल्ब नहीं जल रहा है तो वह तार का निरिक्षण करने लगा। वही एक जगह से करंट प्रवाहित तार टूटा हुआ था, जिसके संपर्क में बुधराम आ गया। तार को छूते ही उसे करंट का झटका लगा और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। परिजनों की सूचना पर पसान पुलिस ने बुधराम के शव को बरामद कर लिया है।

 

01-10-2019
Breaking : बिजली के तार की चपेट में आया मजदूर, बेहोश, इलाज जारी

बीजापुर। बिजली के तार की चपेट में एक मजदूर आ गया। उसे बेहोशी के हालात में आवापल्ली हॉस्पिटल लाया गया,जहां उसका इलाज जारी है। बता दें कि जिस तार की चपेट में ग्रामीण आया उसे कई दफे बिजली विभाग से शिकायत करने के बाद भी नहीं हटाया गया। बताया जा रहा है कि मुर्दोण्डा गांव के एक घर से लगे बिजली का तार सेंट्रिंग करने के दौरान मजदूर तार की चपेट में आ गया। मामला आवापल्ली थाना क्षेत्र का है। बिजली विभाग की लापरवाही के कारण ग्रामीणों में आक्रोश है।

01-10-2019
गैर जमानती धाराओं के विलोपन की मांग को लेकर भाजयुमों ने राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन

दुर्ग। भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा एवं कार्यकर्ताओं पर लगाए गए गैर जमानती धाराओं के विलोपन की मांग को लेकर जिला भाजयुमो नेताओं ने राज्यपाल के नाम जिलाधीश व एसपी को ज्ञापन सौंपा। पंडरिया थाना में प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा सहित युवा मोर्चा के 11 कार्यकर्ताओं तथा अन्य लोगों पर राजनैतिक द्वेषवश गैर जमानती धारा लगाकर एफआईआर दर्ज किए जाने के विरोध में प्रदेश भाजयुमों के आव्हान पर राज्य भर में युवा मोर्चा के द्वारा धारा हटाने की मांग को लेकर प्रदेश के महामहिम राज्यपाल के नाम से और पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ के नाम से जिलाधीश और एसपी को ज्ञापन सौंपा जा रहा है। इसी कड़ी में दुर्ग जिला भाजयुमो और भिलाई भाजयुमो द्वारा संयुक्त रूप से ज्ञापन जिलाधीश एवं एसपी दुर्ग को सौंपा गया। इस दौरान प्रमुख रूप से भाजयुमो जिलाध्यक्ष दिनेश देवांगन, भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ देव नारायण तांडी, भिलाई जिला महामंत्री खिलावन साहू, मंत्री प्रमोद अग्रवाल, जिला महामंत्री भाजयुमो कन्हैया सोनी, ओम यादव, प्रदेश सोशल मीडिया संयोजक जयप्रकाश यादव, शा़ स्व. मंडल संयोजक नितेश मिश्रा उपस्थित रहे। विदित है कि कबीरधाम जिले के विकासखंड मुख्यालय पंडरिया मे 24 सितंबर किसानों से संबंधित विभिन्न मांगों को लेकर ग्रामीण कृषक तथा भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ता रैली के स्वरूप में जाकर एसडीएम को ज्ञापन सौंपना चाहते थे और इसकी जानकारी पूर्व से प्रशासन को दी गई थी पर ऐन वक्त पर एसडीएम द्वारा ज्ञापन नहीं लिए जाने पर आक्रोशित ग्रामीण कृषि एवं युवा साथियों द्वारा ज्ञापन की प्रति वही जलाकर नारेबाजी की इस दौरान उस स्थान पर किसी भी प्रकार की जनधन की हानि नहीं होने के कारण पुलिस प्रशासन ने एफ आई आर दर्ज करने से मना कर दिया तब प्रशासन के अधिकारी तहसीलदार पंडरिया द्वारा रात्रि 12 बजे के बाद थाने में बैठकर नामजद 11 तथा अन्य लोगों के नाम से एफआईआर करवाया गया। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष दिनेश देवांगन ने कहा कि प्रदेश में जब से कांग्रेस पार्टी की सरकार आई है हर तरफ विपक्ष की आवाज को कुचला जा रहा है। लोकतंत्र के मौलिक अधिकार के तहत विपक्ष को अपनी बात रखने का पूरा अधिकार होता है। पंडरिया में प्रदेश अध्यक्ष युवा मोर्चा विजय शर्मा की अगुवाई में हो रहे इस रैली में किसी प्रकार की जान माल की हानि नहीं हुई थी उसके बावजूद प्रशासनिक अधिकारी जो दबाव में आते हुए उन पर अपराध पंजीबद्ध करवाएं ऐसी कार्रवाई लगातार प्रदेश में होने से आम जनमानस भयाक्रांत है। उन्होंने कहा कि अगर हमारे द्वारा सौंपा गया ज्ञापन पर प्रशासन द्वारा उचित कदम नहीं उठाते हैं तो समूचे प्रदेश में युवा मोर्चा के द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा। ज्ञापन सौंपने के दौरान भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष राहुल पंडित मीडिया प्रभारी राजा महोबिया गौरव शर्मा, अजय चंद्राकर, ओमेश्वर यादव, गिरेश साहू, बंटी चौहान, तेजराम पारकर, अंबिकेश पांडे, विश्वजीत देशमुख, भिलाई झुग्गी झोपड़ी के संयोजक शारदा गुप्ता मंडल के महामंत्री संजय यादव, दीपक गौतम, सुमीत प्रवेश अभिषेक आदि उपस्थित थे।

01-10-2019
Breaking : नक्सलियों ने ग्रामीण को उतारा मौत के घाट, मुखबिरी का लगाया आरोप 

बीजापुर। नक्सलियों ने एक बार फिर आतंक मचाते हुए मुखबिरी के आरोप में एक ग्रामीण की हत्या कर दी। नक्सलियों ने ग्रामीण माड़वी रामलु की हत्या कर उसका शव तोयनार मार्ग पर फेंक दिया। माड़वी रामलु दुपेली गांव का निवासी था। नेशनल पार्क एरिया कमेटी ने पर्चें फेंककर इस हत्या की जिम्मेदारी ली है। 


 

01-10-2019
प्रधान आरक्षक ने अस्पताल की दुसरे मंजिल से लगाईं छलांग, मौत

कोरबा। जिले के बांगो थाना क्षेत्र के पोंड़ी-उपरोड़ा के सरकारी अस्पताल की बिल्डिंग से कूदकर एक अर्धसैनिक बल के जवान के आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है की 13वीं बटालियन में पदस्थ पवन राज पिता हंसराज (50) ने रविवार दोपहर पोंडी उपरोड़ा के पीएचसी के दूसरे माले से छलांग लगा दी। नीचे गिरते ही जवान का पैर टूट गया। जवान के गिरते ही अस्पताल के कर्मियों में हड़कंप मच गया। उसे तत्काल घायल हालत मे कोरबा के जिला अस्पताल लाया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। हालंकि यह साफ नहीं हो सका है की पवन राज ने आत्महत्या की है या फिर यह किसी तरह का हादसा है। बांगो पुलिस ने इस संबंध में मर्ग कायम कर लिया है और मौत की सुचना मृतक के परिजन को दे दी है।
 

30-09-2019
भाजपा ने फर्जी एफआईआर के खिलाफ कलेक्टर व एसपी  को सौंंपा ज्ञापन

रायगढ़। कांग्रेस सरकार के दबाव में पुलिस द्वारा फर्जी एफआईआर दर्ज करने के खिलाफ सोमवार को कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को  राज्यपाल के नाम पर भारतीय जनता युवामोर्चा नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में बताया गया है कि 24 सितम्बर को कवर्धा के विकासखंड मुख्यालय पंडरिया में किसानों की समस्या को लेकर डेढ़ हजार किसान व युवा मोर्चा कार्यकर्ता राज्यपाल  के नाम ज्ञापन देने  एसडीएम कार्यालय पहुंचे थे लेकिन एसडीएम ने ज्ञापन नहीं लिया। इस पर ज्ञापन की कॉपी वहीं जलाकर सभी वापस आ गए। ज्ञात हो कि सांकेतिक आंदोलन व ज्ञापन की जानकारी प्रशासन को पहले से दे दी गयी थी। साथ ही थानेदार द्वारा एफआईआर नहीं दर्ज करने पर स्थानीय तहसीलदार द्वारा रात्रि में 12:30 बजे स्वयं थाने में उपस्थित होकर भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा व अन्य युवा मोर्चा के कार्यकतार्ओं व किसानों के खिलाफ गैर जमानतीय धारा के साथ एफआईआर दर्ज  की गई है। इस तरह से एक दबाव बनाने का काम राज्य की  कांग्रेस सरकार कर रही है । जबकि इस आंदोलन में न ही किसी सरकारी संपत्ति की क्षति हुई है और न ही जानमाल का कोई नुकसान हुआ । इसी कड़ी में तानाशाही व दमनकारी सरकार के खिलाफ प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर युवा मोर्चा द्वारा  आज  को  जिले में   कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया जिसमें भाजपा से मुख्य रूप से भाजपा जिला महामंत्री गुरुविंदर घई,भाजयुमो जिलाध्यक्ष विकास केडिया, भाजपा नगर युवामोर्चा, महिला मोर्चा एवं समस्त मोर्चों के पदाधिकारी एवं नेता  एवं कार्यकर्ता अधिक संख्या में उपस्थित हुए। 

 

30-09-2019
होटल के कमरे में मिली सॉफ्टवेयर इंजीनियर की संदेहास्पद परिस्थितियों में लाश

रायगढ़। स्थानीय स्टेशन चौक स्थित होटल प्रतीक में उस वक्त अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया जब होटल के रूम नंबर 104 में सिलतरा रायपुर के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की संदेहास्पद परिस्थितियों में लाश मिली। सॉफ्टवेयर इंजीनियर इंद्रवीर सिंह 8 दिन पहले रायगढ़ आया था और स्थानीय चंद्रहासिनी इस्पात में किसी कार्य से आना-जाना कर रहा था। 25 वर्षीय युवा इंजीनियर की मौत के कारणों का अभी खुलासा नहीं हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही इंद्रवीर सिंह की मृत्यु का रहस्य पर्दा उठेगा। मृतक इंद्रवीर सिंह पिता कुलदीप सिंह रायपुर सिलतरा का निवासी था और 35 सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। बताया जा रहा है कि इंद्रवीर पहले चंडीगढ़ के मोहाली स्थित कंपनी में काम करता था इसके बाद वो रायपुर में आकर रहता था। वह 21 सितंबर को रायगढ़ पहुंचा था और होटल प्रतीक में रूम नंबर 104 कमरा बुक किया था। होटल प्रबंधक के मुताबिक इंद्रवीर का कमरा उनकी कंपनी ने बुक करवाया था। इसके बाद वह रोज होटल से कंपनी आना-जाना करता था। पिछले 2 दिनों से वह होटल से नहीं निकला। इस बीच रिसेप्शन में एक फोन आया कि होटल का पेमेंट कंपनी नहीं करेगी क्योंकि इंद्रवीर 2 दिन से कंपनी नहीं आया। यह सुनने के बाद होटल के मैनेजर को शंका हुई और उसने वेटर के साथ जाकर कमरे को चेक किया तो कमरा पहले से ही खुला मिला अंदर झांकने पर इंद्रवीर चित अवस्था में नीचे जमीन पर पड़ा हुआ था। होटल मैनेजर ने तत्काल कोतवाली को इसकी सूचना दी। खबर मिलते ही एसपी अभिषेक वर्मा, सीएसपी अविनाश ठाकुर और कोतवाली टीआई मौके पर पहुंचे और  पंचनामा की कार्यवाही की गई फिर 104 नंबर कमरे को सील कर बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। पुलिस का कहना  है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही इस रहस्य का पर्दाफाश होगा। इस मामले में जब मृतक के परिजनों से बात की गई तो एक नया मामला सामने आया है। मृतक के परिजनों का आरोप है कि उनके पुत्र का पिछले 2 दिनों से  गांधी गंज स्थित आनंद फार्मेसी में इलाज चल रहा था। उनका लड़का बिल्कुल स्वस्थ था उसे किसी भी प्रकार की कोई गंभीर बीमारी नहीं थी पर ऐसा क्या आनंद फार्मेसी ने इलाज किया जिससे उसकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई और उसकी मृत्यु हो गई। परिजनों ने जिला और पुलिस प्रशासन से निष्पक्ष जांच की मांग की है।  
 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804