GLIBS
04-06-2020
निगम ने ट्रांजिट हॉस्टल में बेजा कब्जा करने वाले ढाई सौ लोगों को बेदखल किया 

रायपुर/बिलासपुर। नगर निगम के सरकंडा क्षेत्र के इमलीभांठा बंधवापारा में बने ट्रांजिट हॉस्टल में बेजा कब्जा करने वाले ढाई सौ से अधिक लोगों को निगम ने आज वहां से बेदखल कर दिया। यह ठीक है कि बारिश के आगमन को देखते हुए इस काम को 2 महीने बाद किया जाना था। लेकिन जैसा कि बताया गया कि जिन ढाई सौ परिवारों द्वारा ट्रांजिट हॉस्टल में बेजा कब्जा किया गया। उनमें से अधिकांश के पास अपनी रिहायशी व्यवस्था थी। और उन्होंने ट्रांजिट हॉस्टल को अपने कब्जे में रखा हुआ था। आज निगम की कार्रवाई के दौरान बड़ी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद था। वहीं निगम के बड़े अधिकारी पीके पंचायती, अनुपम तिवारी, प्रमिल शर्मा, संतोष वर्मा, सहित भी पूरी कार्यवाही के दौरान निगम के अधिकारी एवं कर्मचारी तथा अतिक्रमण दस्ते के सिपाही भी वहां डटे रहे। नदी किनारे के बेजा कब्जा धारियों के लिए जगह का इंतजाम नगर निगम कर रही है।

बारिश के पहले बेदखली के इस कार्यवाही के पीछे नगर निगम को अरपा परियोजना और स्मार्ट सिटी से बेदखल होने वाले लोगों के आवास की व्यवस्था की चिंता को प्रमुख कारण बताया जा रहा है। ऐसा कहा जा रहा है कि अरपा परियोजना और अरपा नदी के दोनों तरफ सड़क बनाने के फेर में बेदखल होने वाले लोगों को इमली भाठां के इसी ट्रांजिट हास्टल के ढाई सौ आवास में जगह दी जाएगी। इसलिए ही नगर निगम को हड़बड़ी में अरपा पार में बेजा कब्जा में रहने वालों के खिलाफ बेदखली की कार्रवाई करनी पड़ी। फिर भी नगर निगम को मानवीय आधार पर आज बेदखल किए गए लोगों में जिनके पास आवास की कोई और सही है उनके सर पर छत का साया बारिश तक बनाए रखने की पहल करनी चाहिए।

02-03-2020
अतिक्रमणकारियों पर लगातार कार्रवाई जारी, निगम प्रशासन ने बनाई रणनिति

रायगढ़। शहर में बेजा कब्जा और अतिक्रमण हटाओ अभियान को लेकर शहर सरकार व नगर निगम कमिश्नर सख्त हैं। नगरीय निकाय चुनाव के बाद नगर निगम रायगढ़ द्वारा अतिक्रमण हटाओ अभियान लगातार जारी है। नगर निगम की इस कार्यवाही से निगम क्षेत्र के अतिक्रमणकारियों में हड़कंप मच गया है। निगम आयुक्त राजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने के लिए नगर निगम की टीम मेहनत कर रही है। उन्होंने बताया कि चौक ,चौराहा, तालाबों, नदी किनारों तथा अन्य शासकीय भूमि पर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही शुरू हो चुकी है। नगर निगम प्रशासन ने इसके लिए पूरी रणनीति तैयार कर ली है।

उन्होंने बताया कि अतिक्रमित स्थानों के नापजोख के बाद लगातार बेजाकब्जा पर कार्यवाही जारी है। नजूल भूमि पर बने अवैध कब्जों को चिन्हित किया गया है। राजकीय भूमि पर किए गए अतिक्रमण पर ठोस एवं प्रभावी कार्रवाई करने का प्रावधान है। नगर निगम ने उन सभी स्थानों पर अवैध अतिक्रमण को हटाने का फैसला लिया है। लगातार चल रही कार्यवाही आज रामनिवास टाकीज चौक से शहीद चौक तक सड़क के किनारे नालियों पर हुए अतिक्रमण को हटाया गया। गोपी टाकीज के दोनों ओर बेजाकब्जा कर लोग अपनी दुकानदारी चला रहे थे जिन्हें आज जेसीबी से तोड़कर नालियों को कब्जामुक्त किया गया है। निगमायुक्त राजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि आज सभी दुकानों को हटा कर नालियों को कब्ज़ा मुक्त किया गया है,दुकानदारों ने विस्थापन की मांग अब तक नही की है यदि वह चाहेंगे तो नगर निगम उन्हें निर्धारित भाड़े पर दुकान आबंटित करेगी।  

बता दें कि नगर निगम की कई दुकाने आज भी किरायेदारों के लिए तरस रही हैं निगम की बनी दुकानों को लेने में कोई भी दुकानदार दिलचस्पी नहीं लेता है। जबकि सड़क के किनारे लोग अवैध कब्जा कर अपनी दुकानदारी चलाने में मशगूल हैं। ऐसे में लोग सरकारी जमीन में कब्ज़ा करने की मानसिकता के साथ व्यवसाय संचालित कर रहे है जिनपर कार्यवाही होना अत्यावश्यक है।

09-01-2020
शासकीय भूमि से हटाए गए बेजा कब्जा, दी गई हिदायत

कोरबा। बुधवारी बाजार के समीप स्थित नेहरूनगर में खाली पड़ी शासकीय भूमि पर किए जाए रहे बेजा कब्जा को गुरुवार को जिला प्रशासन व नगर निगम की संयुक्त टीम द्वारा हटाया गया। बेजा कब्जाधारियों को कड़ी चेतावनी दी गई कि वे भविष्य में भी बेजा कब्जा न करें। निगम के कोसाबाड़ी जोन के वार्ड क्र. 25 नेहरूनगर कालोनी व बस्ती में स्थित खाली शासकीय जमीन पर लगभग 20-25 लोगों द्वारा बांस बल्ली व तिरपाल के माध्यम से बेजा कब्जा किया जा रहा था। बस्ती के निवासियों द्वारा बेजा कब्जाधारियों की शिकायत करते हुए किए जा रहे बेजा कब्जा को हटाने का अनुरोध जिला प्रशासन व निगम प्रशासन से की थी। इसके बाद बेजा कब्जा होने की सूचना को सज्ञान में लेते हुए कलेक्टर किरण कौशल एवं आयुक्त राहुल देव ने तत्काल बेजा कब्जा हटाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। इसके परिपालन में आज जिला प्रशासन व नगर निगम की संयुक्त टीम ने मौके पर पहुंचकर उक्त सभी बेजा कब्जा को हटाया गया।

 

08-01-2020
शिवरीनारायण पहुंचे डॉ.चरणदास महंत, नवनिर्वाचित अध्यक्ष,उपाध्यक्ष को दी जीत की शुभकामनाएं

जांजगीर चाम्पा। शिवरीनारायण नगर में समस्याओं को लेकर विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने संज्ञान लेने की बात कही है। बता दें कि 9 दिवसीय श्रीराम कथा आयोजन में डॉ. महंत शिवरीनारायण पहुंचे थे। यहां पत्रकारों ने नगर की समस्याओं को लेकर डॉ. महंत से बात की। इसमें मुख्य रूप से शासकीय हाईस्कूल की जमीन पर बेजा कब्जा को हटाने,सरकारी अस्पताल में डॉक्टर नियुक्ति थी। विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत ने नगर की समस्याओं का जल्द ही ठीक करने लिए जरूरी कदम उठाने की बात कही है। उन्होंने कहा कि शिवरीनारायण नगर पंचायत में कांग्रेस के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष बन गए है तो नगर की जो भी समस्या होगी उसे तुरंत ठीक करने का प्रयास करेंगे। विधानसभा अध्यक्ष ने नवनिर्वाचित अध्यक्ष और उपाध्यक्ष को जीत की बधाई दी।

 

08-01-2020
अवैध कब्जे कर बना रहे मकान पर प्रशासन का चला बुलडोजर, कब्जा धारियों और अधिकारियों के बीच हुई तीखी बहस

जांजगीर चाम्पा। पामगढ़ विकासखंड के ग्राम कोसला में अवैध रूप से बना रहे बेजाकब्जाधारियों के लगाम कसते  हुए ताबड़तोड़ कार्यवही कर बने मकान को  तहसीलदार, एसडीएम और पुलिस बल की उपस्थिति में तोड़ दिया गया है। वहीं इस दौरान कब्जा धारियों और प्रसासनिक टीम में तीखी बहस भी देखे को मिली है। दरसअल, अचार संहिता के लगते ही बेजा कब्जा कर मकान बनाने के लिए तो जैसे बाढ़ सी आ गयी थी। वहीं प्रसासन को इस बेजा कब्जा की कई बार सूचना भी मिल रही थी जिस पर प्रसासन के  द्वारा अवैध बेजाकब्जा कर मकान बना रहे कब्जा धारियों को नोटिस भी दिया गया। इसके बाद भी बेजाकब्जाधारियों को प्रसासन से बिना डर मकान बनाने में व्यस्त थे। जिसके बाद अनुभागीय अधिकारी, तहसीलदार और पुलिस बल के साथ कब्जे वाली जगह पर पहुंच ताबड़तोड़ कार्यवाही करते हुए बुलडोजर की सहायता से अवैध मकान को बाद तोड़ दिया गया। वहीं इस दौरान प्रसासनिक टीम और कब्जा धारियों के बीच तीखी बहस भी देखने को मिली। जहां बेजा कब्जा धारियों का कहना था कि तय समय से पहले तोड़ दिया गया है। वहीं पूर्व सरपंच ने कहा है कि अनिभागिय अधिकारी तहसीलदार और पुलिस बल की उपस्थिति में अवैध बने मकान को तोड़ा गया है। 

07-11-2019
कब्जा नहीं हटाने पर पिता-पुत्र की पिटाई फिर मारा चाकू, मामला दर्ज

रायपुर। राजधानी में बेजा कब्जा हटाने के विवाद में गाली गलौज कर चाकू मारकर घायल कर देने की रिपोर्ट अभनपुर थाने में दर्ज की गई है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार नायकबांधा अभनपुर निवासी रोहित कुमार साहू ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि प्रार्थी ग्राम नायकबांधा निवासी है। कठिया मोड़ नायकबांधा में पंचायत के द्वारा काम्प्लेक्स बनाया है। इसमें एक दुकान प्रार्थी की है। आरोपी प्रार्थी की दुकान के सामने होटल चलाता हैं। ग्राम पंचायत नायकबांधा के द्वारा 5 नवंबर को बेजा कब्जा हटाने के लिए नोटिस दिया गया था। 6 नवंबर रात मे अमरू यादव, रोहित सेन, होमेन्द्र कुर्रे बैठकर बात-चीत कर रहा था। तभी होमेन्द्र कुर्रे ने  बेजा कब्जा को अभी हटा कहकर गाली गलौज करते हुए मारपीट किया। उसके बेटे शिवम की हत्या करने की नियत से होमेन्द्र कुर्रे, फलेन्द्र कुर्रे एवं उत्तम गिलहरे ने चाकू मार दिया। इसके कारण पिता भूधर के पेट व बेटे शिवम के सीने और जांघ में चोंटे आई है। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस की 112 वाहन पहुचकर  तत्काल प्रभाव से दोनो को उपचार के लिए सरकारी अस्पताल अभनपुर में इलाज के लिए भर्ती कराया। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 294, 506, 323, 307, 34 के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804