GLIBS
23-11-2020
मरीजों के लिए संजीवनी बनी दाई-दीदी क्लिनिक और मोबाइल मेडिकल यूनिट

रायपुर। प्रदेश के नगरीय निकाय क्षेत्रों की झुग्गी बस्तियों के लिए शुरू की गई मोबाइल मेडिकल यूनिट और विशेष रूप से महिलाओं के लिए शुरू की गई दाई-दीदी क्लिनिक मरीजों के लिए संजीवनी साबित हो रही है। बड़ी संख्या में नगरीय निकाय क्षेत्रों के निवासी और महिलाएं इन योजनाओं का लाभ उठा रही हैं। ये दोनों योजनाएं मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत शुरू की गई हैं। बिलासपुर के स्लम क्षेत्रों में आज मोबाइल मेडिकल यूनिट द्वारा 4 कैम्प आयोजित किए गए, जिनमें 312 मरीजों ने अपनी स्वास्थ्य जांच करायी। इनमें से 68 मरीजों के लैब टेस्ट किये गये तथा 308 मरीजों को दवाईयों का वितरण किया गया। जांच कराने वाले मरीजों में से 56 मरीज श्रम विभाग में पंजीकृत हैं, जबकि 32 मरीजों ने श्रम विभाग में पंजीयन के लिए आवेदन दिए। इसी प्रकार दाई-दीदी क्लिनिक योजना में आज 50 महिलाओं का इलाज किया गया।

    उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य स्थापना दिवस के मौके पर 30 नगरीय निकायों के लिए मोबाइल मेडिकल यूनिट योजना का और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जंयती के अवसर पर 19 नवम्बर को पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में रायपुर, दुर्ग-भिलाई और बिलासपुर नगर निगम क्षेत्रों में दाई-दीदी क्लिनिक योजना का शुभारंभ किया था। मोबाइल मेडिकल यूनिट में अत्याधुनिक जांच की मशीनें लगी हुई हैं। इन मशीनों से बीपी, शुगर, खून जांच, पेशाब की जांच मौके पर ही की जा रही है। सर्दी, बुखार की दवाईयों के साथ-साथ बीपी, शुगर जैसे बीमारियों की नियमित जांच के साथ दवाईयां भी मुफ्त में दी जा रही है। दाई-दीदी क्लिनिक मोबाइल मेडिकल यूनिट में महिला डॉक्टर सहित स्वास्थ्य विभाग के महिला अमले को तैनात किया गया है।  


 

13-11-2020
संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने की आतिशबाजी के दौरान सर्तकर्ता बरतने की अपील

 

जगदलपुर। नगरीय निकाय व श्रम विभाग के संसदीय सचिव व जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन ने दीपावली पर पूरे बस्तर सहित प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी है। उन्होंने आतिशबाजी करने वालों खासकर बच्चों के लिए उनके माता-पिता से अपील करते हुए कहा है कि कोविड-19 के वैश्विक माहामारी के समय में सभी सैनिटाइज  का उपयोग करें। उन्होंने आतिशबाजी से अप्रिय घटना न हो इसके लिए सर्तकर्ता बरतने की अपील की है।

 

सुभाष रतनपाल की रिपोर्ट

06-11-2020
जिले के सभी नगरीय निकायों में खुलेंगे सरकारी इंग्लिश स्कूल, कलेक्टर पहुंचे जायजा लेने

बलौदाबाजार। जिले के सभी 9 नगरीय निकाय क्षेत्रों में सरकारी अंग्रेज़ी माध्यम स्कूल खोले जाएंगे। राज्य शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। इस सिलसिले में कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने शुक्रवार को पलारी और लवन क्षेत्र का दौरा किया।

05-11-2020
महापौर ने की नगरीय निकाय मंत्री से मुलाकात,रखी राशि की मांग

दुर्ग। महापौर धीरज बाकलीवाल ने अपने महापौर परिषद के सदस्यों के साथ दुर्ग प्रवास पर पहुंचे नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग मंत्री डाॅ.शिवकुमार डहरिया से मुलाकात की। उन्होनें नगर निगम दुर्ग में 14 वें वित आयोग मद से किये जाने वाले विकास और निर्माण कार्यो से उन्हें अवगत कराया। इस दौरान सभापति राजेश यादव, लोककर्म प्रभारी अब्दुल गनी, वित्त प्रभारी दीपक साहू, ऋषभ जैन, मनदीप सिंह भाटिया, संजय कोहले, भोला महोबिया, शंकर सिंह ठाकुर,जमुना साहू,सत्यवती वर्मा,जयश्री जोशी, हमीद खोखर, अनूप चंदानियाॅ, पूर्व महापौर आरएन वर्मा, एवं अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। महापौर बाकलीवाल ने डाॅ. डहरिया को बताया कि नगर निगम दुर्ग के द्वारा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत विभिन्न विकास कार्य कराया जाना है । इसके लिए प्रस्ताव स्वीकृति के लिए संचालनालय नगरीय प्रशासन को प्रेषित किया गया है। इसकी स्वीकृति एवं अनुदान वर्तमान तक अप्राप्त है। नई परिषद आने के बाद जनभावना के अनुरुप शहर में लंबित मांगों को पूर्ण किया जाना है।

परन्तु वित्तीय स्थिति ठीक नहीं होने से शहर विकास कार्य नहीं हो पा रहा है। उन्होनें बताया गंजपारा चौक से शिवनाथ नदी मुक्तिधाम मार्ग, गौरव पथ हिन्दी भवन से उतई रेल्वे क्रासिंग तक, तथा पटरीपार वार्ड एवं बोरसी पोटिया क्षेत्र में जलभराव के निदान के लिए नाला और नाला निर्माण के लिए कुल 1836.56 लाख रु0 राशि की आवश्यकता है। उन्होनें कहा 14 वें वित्त आयोग के अंतर्गत राशि 6326.05 लाख में से अमृत मिशन एवं ठोस अपशिष्ठ प्रबंधन को कुल राशि 4144.91 लाख की स्वीकृति दी गई है। इसमें से वर्तमान में 1836.56 लाख की राशि शेष है। इसके अलावा म्यूनिसिपल साॅलिड वेस्ट अंतर्गत आवंटित राशि में से वर्तमान में 344.59 लाख उपलब्ध है इसके अंतर्गत पांच स्थानों पर एसएलआरएम सेंटर एवं पशुधन अपशिष्ठ के निस्तारीकरण कार्य व कम्पोस्ट टांका शेड निर्माण, दो जेसीबी मशीन क्रय, एएस्टीपी निर्माण, 10 नगर टाटा एस क्रय, और 2 नग ट्रैक्टर एवं हाईड्रोलिक टाली क्रय प्रस्तावित है ।
 

 

26-09-2020
इस जिले के कलेक्टर ने ​दी मिल्क पार्लरों के खुलने और बंद होने की समय सीमा में छूट

धमतरी। जिले के सभी नगरीय निकायों के सभी वार्डों को आगामी 30 सितंबर तक कन्टेनमेंट जोन घोषित कर प्रतिबंधित आदेश जारी किया गया है। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने कुछ गतिविधियों के संचालन में छूट प्रदान की है। इसके तहत सभी दुग्ध पार्लर सुबह 6 से 10 बजे तक तथा शाम पांच से रात 9 बजे तक खुले रह सकते हैं। दुग्ध पार्लर में दुग्ध से संबंधित उत्पादन जैसे-पनीर, दही, घी, खोवा इत्यादि की प्रोसेसिंग किया जा सकता है तथा इसकी बिक्री की जा सकती है। बताया गया है कि तय समय में यदि दुग्ध प्रोसेसिंग नहीं हो सकती है, तो दुग्ध पार्लर बंद कर पार्लर के अंदर दूध की प्रोसेसिंग की जा सकती है, लेकिन दुग्ध उत्पादों की बिक्री निर्धारित समय में ही होगी। शेष समय में शटर बंद कर दुग्ध की प्रोसेसिंग की जा सकती है। मिठाई दुकान संचालकों को भी दुग्ध क्रय कर सिर्फ खोवा बनाने की अनुमति प्रदान की गई। खोवा बनाते समय मिठाई की दुकान बंद रहेगी।

मिठाई दुकान में किसी प्रकार के उत्पादन की बिक्री पर प्रतिबंध रहेगा। यह छूट केवल दुग्ध के खोवा में प्रसंस्करण के लिए प्रदान किया गया है, ताकि दुग्ध उत्पादकों के दुग्ध को प्रसंस्कृत कर दूध को नष्ट होने से रोका जा सके। यह भी स्पष्ट किया गया है कि दुग्ध पार्लर में दुग्ध उत्पादों की खरीदी-बिक्री तथा प्रसंस्करण दोनों किया जा सकता है।  मिठाई दुकानों को केवल खोवा बनाने की अनुमति दी जाती है। मिठाई दुकानों में किसी भी उत्पादों के बिक्री पर पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा। सभी दुग्ध उत्पादक/मिठाई दुकान संचालकों को निर्देशित किया गया है कि वे कोविड 19 के संक्रमण से बचाव के लिए शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे। साथ ही मास्क के उपयोग तथा सोशल/फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करवाएंगे और प्रतिदिन दुकान में सैनिटाइज का उपयोग करेंगे।

24-09-2020
Video: जिले में 25 सितंबर से 1 अक्टूबर तक लॉक डाउन,अतिआवश्यक सेवाओं को दी जाएगी छूट

जांजगीर-चांपा। जिले में 25 सितंबर से 1 अक्टूबर तक लॉक डाउन की घोषणा की गई है। इस दौरान अति आवश्यक सेवाओं को ही छूट दी गई है। जिले के सभी 15 नगरीय निकाय को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। कलेक्टर ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कंटेनमेंट जोन की घोषणा की है। इसके लिए  पुलिस और प्रशासन ने तैयारियां प्रारंभ कर दी है। गुरुवार आधी रात से लॉक डाउन लागू होगा। इस संबंध मे एसपी पारूल माथुर ने बताया कि यह अब तक का सबसे कड़ा लॉक डाउन होगा और केवल अतिआवश्यक सेवाओं को छूट दी जाएगी।

 

20-09-2020
कलेक्टर ने जिले के सभी नगरीय निकायों के वार्डों को किया कंटेनमेंट जोन घोषित

धमतरी। कोविड 19 के संक्रमण से बचाव के लिए कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने जिले के नगरीय निकायों के सभी वार्डों को कंटनमेंट जोन घोषित किया है। उन्होंने जिला आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005, ऐपिडेमिक एक्ट 1897 गृह मंत्रालय भारत सरकार, राज्य शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के तहत कंटेनमेंट क्षेत्रों में प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए हैं। इसके तहत 22 सितंबर से 30 सितंबर तक कंटेनमेंट क्षेत्र में प्रतिबंधात्मक आदेश लागू रहेंगे। मिली जानकारी के मुताबिक जिले के सभी नगरीय निकायों के सभी वार्डों को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ग्राम पंचायत कंटनेमेंट जोन के प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। कंटेनमेंट क्षेत्र में मेडिकल स्थापनाएं, अस्पताल, नर्सिंग होम, क्लिनिक, दुग्ध पार्लर, गैस एजेंसी पेट्रोल पम्प खुली रहेंगी। स्वास्थ्य संबंधी मेडिकल संस्थाएं और पेट्रोल पम्प खुली रह सकती हैं। दुग्ध पार्लर सुबह 6 से सुबह 10 बजे तक ही संचालित होगी तथा गैंस एजेंसी सुबह 10 से शाम 5 बजे तक खुली रह सकती है। इस अवधि में होम गैस सिलेंडर डिलीवरी की सेवाएं संपादित हो सकती हैं। इसके अलावा अन्य किसी वस्तु के होम डिलीवरी पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा।

बताया गया है कि कंटेनमेंट क्षेत्र में स्थित सभी शासकीय, अर्धशासकीय कार्यालय खुले रहेंगे। इन संस्थाओं की कार्य अवधि कार्यालयीन कार्य संचालन अवधि के अनुरूप पूर्ववत रहेंगी। कार्यालय प्रमुख कार्य की आवश्यकतानुसार कर्मचारियों की संख्या और समय को निर्धारित कर सकेंगे। जिले के सभी पर्यटन केन्द्र बंद रहेंगे, चाहे वे शहरी हो अथवा ग्रामीण। कंटेनमेंट क्षेत्र में आवश्यक सेवाएं जैसे बिजली, पानी, सफाई इत्यादि की निर्बाध आपूर्ति होगी। कंटेनमेंट क्षेत्र में छूट प्रदान की गई सेवाओं के अतिरिक्त सभी व्यवसायिक एवं गैर व्यवसायिक गतिविधियां, सार्वजनिक स्थलों पर व्यायाम, पैदल चलना, समूह में एकत्र होना इत्यादि सभी गतिविधियां प्रतिबंधित रहेंगी। साथ ही सभी पार्क, सामुदायिक भवन और तालाब इत्यादि में भी गतिविधियों की मनाही है। साफ तौर पर निर्देशित किया गया है कि प्रतिबंधात्मक आदेश का उल्लंघन करते पाए जाने पर कठोर दण्डात्मक कार्रवाई की जाएगी।

20-09-2020
कंटेनमेंट जोन के नियमों का कड़ाई से पालन कर सुरक्षित रहे : सुमित जैन

 धमतरी। शहर में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण पूरे नगरीय निकाय में 22 सितंबर से 10 दिनों तक के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। सभी दुकानों एवं अन्य जगहों को बंद किया गया है, जिससे संक्रमण की चैन को रोका जा सके। धमतरी व्यापारी संघ, चेम्बर एवं आम नागरिकों के साथ कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने मीटिंग कर 10 दिनों के लिए कंटेनमेंट जोन करने का निर्णय लिया है। जैन युवा संघ के प्रदेश सचिव और कांग्रेस शहर महामंत्री सुमित जैन ने कहा कि निश्चित ही यह निर्णय शहर के हित में लिया गया है। इस फैसले से संक्रमण की रफ्तार कम होगी। हाल में ही संक्रमण की रफ्तार अत्यधिक तेज हो गई है, जिससे रोजाना 50 से 100 संक्रमित मरीज मिलने लगे हैं। लिए गए फैसले से कोरोना वायरस का फैलाव कम होगा। सुमित जैन ने लोगों से अपील की है कि इस निर्णय को सभी लोग गंभीरता से ले और इसे सफल बनाए। जरूरत पड़ने पर ही घर से निकले, आवश्यक कार्य के लिए निकलना पड़े तो मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग करें। आप सभी लोगों के सहयोग से निश्चित ही कोरोना की चेन को तोड़ा जा सकता हैं।

19-09-2020
धमतरी जिले के नगरीय निकायों में 22 सितम्बर से दस दिन तक कंटेनमेंट ज़ोन घोषित, दुकाने रहेंगी बंद

 धमतरी। कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य द्वारा बताया गया है कि कोरोना संक्रमण से सुरक्षा और बचाव के मद्देनजर मंगलवार 22 सितंबर से धमतरी जिले के सभी नगरीय निकायों के सभी वार्डों को कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा। उन्होंने  शनिवार को व्यापारी संघों के प्रतिनिधिमंडल से कोविड 19 के संक्रमण और उससे बचाव के संबंध में विस्तार से चर्चा की तथा कंटेनमेंट जोन में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए रूपरेखा भी तैयार की। उन्होंने बताया कि मंगलवार से सभी वार्डों को कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा, लेकिन इससे पहले नगरीय निकाय के अमले को इस संबंध में लोगों को जानकारी देना आवश्यक होगा, जिससे कि लोगों को बेवजह तकलीफ नहीं हो।
बैठक में कलेक्टर ने बताया कि इन कंटेनमेंट जोन में कोई भी किराना,सब्जी,फल की दुकान खोली नहीं जाएंगी, किन्तु अत्यावश्यक सेवाओं संबंधी संस्थान/कार्यालय,अस्पताल,नर्सिंग होम खुले रहेंगे। गैस एजेंसी अपने निर्धारित अवधि में खुली रहेगी तथा मेडिकल, पेट्रोल पम्प चौबीसों घंटे खुले रहेंगे। दूध के लिए सुबह 6 से सुबह 10 बजे का समय तय किया गया है। इसके साथ ही जिले के सभी पर्यटन स्थल, चाहे वह नगरीय निकाय अथवा ग्रामीण क्षेत्र में हो, वे भी इन दस दिनों में बंद रहेंगे। बैठक में उपस्थित प्रतिनिधि मंडल से कलेक्टर ने अपेक्षा की कि वे इन दस दिनों में लोगों में कोविड 19 के संबंध में जागरूकता लाने का काम करेंगे,जिसमें सामाजिक दूरी, मास्क पहनना तथा सैनिटाइजेशन की महत्ता लोगों को समझाई जाएगी। प्रतिनिधिमंडल ने भी सहमति जताई कि वे व्यापारियों तथा लोगों में जागरूकता लाने का हरसंभव प्रयास करेंगे। यदि इन दस दिनों के बाद जब पुनः सभी व्यापार शुरू होगा और व्यापारी कोविड 19 का प्रोटोकाॅल का पालन नहीं करते हैं, तो व्यापारी संघ स्वयं संज्ञान में लेकर उन पर उचित कार्रवाई करेगा।  
इसके अलावा नगरीय निकाय के अमले को भी कलेक्टर ने निर्देशित किया है कि वे कंटेनमेंट जोन अवधि के दौरान नगरीय निकायों का सेनिटाईजेशन करा लें। उन्होंने बैठक के अंत में जिलेवासियों से अपील की कि वे अनावश्यक घरों से नहीं निकलें तथा जब भी किसी काम से बाहर जाएं, तो मास्क का उपयोग जरूर करें और सामाजिक दूरी का भी पालन कर कोविड 19 से स्वयं और अपने परिवार का बचाव करें। बैठक में शरद लोहाना,महेश रोहरा,नरेंद्र रोहरा,  महेश जसूजा,हरि वाधवानी,विजय गोलछा इत्यादि उपस्थित रहे।

 

29-07-2020
नगरीय निकायों में कार्यरत शिक्षकों का जुलाई माह का वेतन जारी

रायपुर। नगरीय निकायों क्षेत्र अंतर्गत कार्यरत् शिक्षकों का माह जुलाई का वेतन जारी कर दिया गया है। नगरीय प्रशासन विभाग द्वारा इस आशय का पत्र सभी संबंधित बैंकों को प्रेषित कर दिया है। पत्र के अनुसार 28 जुलाई को 6 करोड़ 92 लाख 64 हजार 183 रूपए का आवंटन जारी कर विभाग द्वारा बैंकों को संबंधित निकायों के खाते में राशि हस्तांतरण के बाद अवगत कराने को भी कहा गया हैं।

 

23-07-2020
नैला में पुलिस ने किया फ्लैग मार्च, लॉक डाउन के नियमों को पालन करने की दी हिदायत  

जांजगीर-चांपा। नैला शहर नगरीय निकाय में गुरुवार को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में  लॉक डाउन को ध्यान में रखते हुए पुलिस बल ने नगर पालिका क्षेत्र में फ्लैग मार्च किया। लाउड स्पीकर के माध्यम से सभी लोगों को नियमों का पालन करने के लिए हिदायत दी गई। साथ ही आवश्यक वस्तुओं की दुकानों के खुलने एवं बंद होने के समय के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। फ्लैग मार्च में जिला प्रशासन की ओर से एसडीएम मेनका प्रधान एवं तहसीलदार जांजगीर भी शामिल रहे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804