GLIBS
24-04-2020
डीईओ ने स्कूलों को लिखा पत्र,कहा- न बढ़ाये फीस, न मांगे बस किराया

दुर्ग। दुर्ग डीईओ ने जिले के सभी स्कूलों को लेटर लिखकर कहा है की इस साल फीस वृद्धि करते समय स्कूल प्रबंधन जरुरी बातों का ध्यान रखे ताकि पालकों पर आर्थिक बोझ न बढ़े। साथ ही डीईओ ने कहा है की लॉक डाउन की अवधि में स्कूल, बस का किराया न वसूले। इस संदर्भ में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश महासचिव अरुण सिंह सिसोदिया ने जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखा था। दूरभाष पर चर्चा कर निजी स्कूलों द्वारा वार्षिक शुल्क बढ़ाये जाने पर रोक लगाने की मांग की थी। क्योंकि वर्तमान कोरोना के कारण लॉकडाउन का असर मध्यम और गरीब परिवारों पर साल भर रहेगा,जिसके चलते फीस पटाने में बहुत परेशानी का सामना करना पड़ेगा। साथ ही 3 माह तक बस किराया स्कूलों द्वारा ना लिया जाने की मांग की गई, क्योंकि इस अवधि में जब बस नही चली और डीजल का कोई खर्च नही हुआ और सेवाएं भी नही लिया गया ऐसी परिस्थिति में बस किराया लिया जाना अनुचित है। पत्र की प्रतिलिपि कलेक्टर व राज्य सरकार को भी भेजी गई।उपरोक्त संबंधित विषयों पर देश की कई राज्यों की सरकारों द्वारा आदेश दिया जा चुका है। अतः सभी मांगो पर सकारात्मक व न्यायोजित जनहित में निर्णय लेने की अपील प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश महासचिव अरुण सिंह सिसोदिया ने की ताकि पालको पर ज्यादा बोझ न बढ़े।

11-01-2020
जेएनयू के छात्रों पर हमले के खिलाफ वामपंथी पार्टियों ने किया प्रदर्शन

रायपुर। जेएनयू के प्रशासन द्वारा की गई भारी फीस वृद्धि के खिलाफ माकपा ने प्रदर्शन किया। माकपा नेता प्रशांत झा ने कहा कि वहां के छात्रसंघ के नेतृत्व में आम छात्रों द्वारा लोकतांत्रिक तरीके से चलाए जा रहे आंदोलन को कुचलने के लिए पुलिस प्रशासन, केंद्र सरकार और जेएनयू प्रशासन की सरपरस्ती में नकाबधारी और हथियारबंद संघी गुंडों द्वारा  किये गए हमले के विरोध में आज कोरबा में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और भाकपा ने मिलकर ट्रांसपोर्ट नगर चौक पर एक विशाल विरोध प्रदर्शन किया और समूची फीस वृद्धि वापस लेने औऱ जेएनयू के कुलपति को हटाने की मांग की और जेएनयू प्रशासन, दिल्ली पुलिस और मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

सभा को संबोधित करते हुए माकपा नेता प्रशांत झा ने इस सुनियोजित हमले की तीखी निंदा करते हुए कहा कि हमलावरों को बचाने और हमले के शिकार छात्र-छात्राओं पर ही मुकदमा दर्ज करने की घटिया हरकत इस सरकार को महंगी पड़ेगी। आज देश की समूची जनता और छात्र जगत जेएनयू के साथ है। उन्होंने कहा कि इस सरकार और जेएनयू प्रशासन को स्पष्ट करना चाहिए कि हथियारबंद गुंडे शिक्षा परिसर में कैसे घुसे और ऐसी हालत में पूरे समय कुलपति सोये क्यों रहे? सभा को माकपा के जनक दास, धनबाई कुलदीप, डॉ. तान्या घोष, गया बैस और माकपा पार्षद श्रुति कुलदीप और राजकुमारी कंवर; भाकपा के हरीनाथ सिंह ,एम एल रजक,आर पी खांडे, संतोष सिंह ने भी संबोधित किया। सभा के बाद महामहिम राष्ट्रपति के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा गया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804