GLIBS
08-08-2019
भाजपा की वरिष्ठ नेता व पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भाजपा कार्यकर्ताओं ने दी श्रद्धांजलि

अम्बिकापुर। भाजपा की वरिष्ठ नेता व पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी, कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यालय संकल्प भवन में उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर आयोजित शोकसभा में सुषमा स्वराज को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए भाजपा प्रदेश मंत्री अनुराग सिंह देव ने कहा कि सुषमा स्वराज ने अपने व्यक्त्वि व कतृत्व से अपना व पार्टी का नाम रोशन किया है। आज नम आंखो से स्त्री शक्ति की प्रतीक जिसने पूरे विश्व में भारतीय नारी का सम्मान बढाया ऐसी विभूति को नमन करता हूं तथा ईश्वर से कामना करता हूं कि उन्हें अपने चरणों में स्थान दें।
भाजपा जिलाध्यक्ष अखिलेश सोनी ने कहा कि आज पूरी दुनिया के लोगों ने सुषमा स्वराज के आचरण का गुणगान किया। अटल जी के बाद किसी नेता के भाषण के प्रति लोगों का सम्मोहन था तो वो सुषमा स्वराज थीं। उन्होंने कहा कि किसी भी देश में किसी भारतीय को यदि कोई भी समस्या होती थी तो मात्र ट्वीट पर भारत का विदेश मंत्रालय उनकी मदद करता था विदेश मंत्रालय को जन सरोकार से जोड़ने का काम विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ही किया। ईश्वर उनके परिजनों को दुःख सहन करने की शक्ति दें।

पूर्व महापौर प्रबोध मिंज ने अपने शोक संदेश में कहा कि सुषमा स्वराज ने राजनिति में विभिन्न पदों पर रहकर अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। भाजपा के संगठन को खड़ा करने में उनका बहुत बड़ा योगदान है। इस अवसर पर वरिष्ठ नेता बाबूलाल गोयल ने कहा कि सुषमा स्वराज ने कठिन समय में स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर पार्टी का काम किया। पूरे देश में प्रत्येक जिले में पासपोर्ट कार्यालय खोलकर उन्होंने विदेश मंत्रालय को जनता के नजदीक लाने का काम किया। इस असवर पर नगर भाजपा अध्यक्ष विद्यानंद मिश्रा, सावित्री जायसवाल, जन्मेजय मिश्रा तथा मंजूषा भगत ने भी अपनी भावनाएं शोक संदेश के माध्यम से व्यक्त की। कार्यक्रम का संचालन  जिला कार्यालय मंत्री विनोद हर्ष ने किया। श्रद्धांजलि सभा में प्रशांत त्रिपाठी, लेखराज अग्रवाल, किरण मिश्रा, आलोक दुबे, संतोष दास, तजिन्दर बग्गा, अजय सिंह, संजय गुप्ता बोडा, शैलेष सिंह,निर्मल पाण्डेय, मनोज गुप्ता, मधु चैदहा, माया मिश्रा, उमा पाण्डेय, मधुसूदन शुक्ला, अनिल जायसवाल,आकाश गुप्ता, श्वेता गुप्ता, विष्वविजय तोमर, मनोज कंसारी, दीपक तोमर, अभय साहू, अनिल तिवारी, महेश जायसवाल, अवधेश सोनकर, रामप्रवेश पाण्डेय, किरण सोनी, नीलम राजवाडे, कांति किण्डो, रिंकु वर्मा, विशाल सिंह देव, मनोज सोनी, शिवशंकर सिंह, वीर सोनी, छोटू थामस, रवि सिंह, प्रिया सिंह, दुर्गाशंकर, शुभम अग्रवाल, अशोक सम्राट, शम्भू सोनी, लप्पू कष्यप, संध्या रवानी, मनोज प्रसाद, काशी केसरी, अनिष सिंह व सक्षम गुप्ता सहित अन्य पदाधिकारी कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

08-08-2019
वरिष्ठ भाजपा नेता सुषमा स्वराज को एकात्म परिसर में दी गई श्रद्धांजलि

रायपुर। भाजपा की वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को प्रदेश भाजपा के नेताओं ने गुरुवार को एकात्म परिसर में श्रद्धांजलि अर्पित की। श्रद्धांजलि सभा में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह, सांसद सुनील सोनी,पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव, वरिष्ठ नेता चंद्रशेखर साहू सहित प्रदेश भाजपा के नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए।

पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने कहा कि सुषमा स्वराज ने विदेश मंत्री के तौर पूरी दुनिया में नाम कमाया, कई लोगों को मदद पहुंचाई, एक ट्वीट के जरिए कई लोगों की सहायता की। डॉ.सिंह ने कहा कि सुषमा स्वराज प्रखर वक्ता और कुशल राजनेता थीं। श्रद्धांजलि सभा में सुषमा स्वराज के राजनीतिक जीवन पर आधारित एक शॉट फिल्म दिखाई गई।

 

07-08-2019
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन से छत्तीसगढ़ शोक-संतप्त, भाजपा नेताओं ने दी श्रध्दांजलि

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेत्री और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन से छत्तीसगढ़ में सर्वत्र गहन शोक का वातावरण है। पार्टी के सभी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं व जनप्रतिनिधियों ने उनके निधन को राष्ट्रवाद की अपूरणीय क्षति बताते हुए भावपूर्ण श्रध्दांजलि अर्पित की है और उनकी आत्मा की चिरशांति की प्रार्थना की। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने कहा कि सुषमा स्वराज सौम्य और संवेदनशील नेत्री थीं। भारतीय राजनीति में अपने पुरुषार्थ के बल पर उन्होंने जो मुकाम हासिल किया, वह सार्वजनिक जीवन में कार्यरत हमारी माताओं-बहनों के लिए प्रेरणासा्रेत है। उनका निधन देश की अपूरणीय क्षति है।

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा कि प्रखर व्यक्तित्व की धनी सुषमाजी सुसंस्कारित महिला सशक्तिकरण की मूर्तिमंत प्रतीक रहीं। देश को सदैव समर्पित रहीं सुषमा स्वराज के निधन से हम सब स्तब्ध हैं। भाजपा के वैचारिक अधिष्ठान से देश के जनमानस को जोड़ने और त्याग, समर्पण व आत्मीयतापूर्ण व्यवहार से भाजपा के विस्तार में उनका योगदान अविस्मरणीय है। भाजपा की राष्ट्रीय महामंत्री व सांसद सरोज पाण्डेय ने कहा कि सुषमा स्वराज के निधन से हमने अपना मार्गदर्शक, दक्ष संगठनकर्ता, मुखर वक्ता के रूप में अपना अभिभावक खो दिया है और यह कोटि-कोटि भाजपा कार्यकर्ताओं की व्यक्तिगत क्षति है। हम सब उनके निधन से स्तब्ध हैं।
भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद रामविचार नेताम ने सुषमा स्वराज को श्रध्दांजलि देते हुए कहा कि वे भारतीय राजनीति में अजातशत्रु थीं। अपनी आत्मीयता और मोहक वक्तृत्व शैली से वे विरोधी नेताओं को भी मंत्रमुग्ध कर लेती थीं। सभी दल उनका यथेष्ट सम्मान करते थे क्योंकि दलगत सीमाओं का भेद न रखकर वे सबकी मदद करती थीं। केन्द्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने कहा कि सुषमा स्वराज ने भारतीय राजनीति में जो स्थान अर्जित किया वह महिला सशक्तिकरण की जीती-जागती मिसाल है। एक राजनीतिज्ञ के रूप में उन्होंने असंख्य महिलाओं को राजनीतिक क्षेत्र में कार्य करने की प्रेरणा दी। 

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने उन्हें श्रध्दांजलि देते हुए छत्तीसगढ़ के प्रति उनके विशेष लगाव को याद किया और कहा कि केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए उन्होंने प्रदेश की राजधानी को एम्स के रूप में जो सौगात दी है, उसके लिए समूचा प्रदेश उनका ऋणी रहेगा। इसी तरह विदेश मंत्री के तौर पर भी सुषमा स्वराज ने मददगार और संवेदनशील मंत्री की अपनी अलग छाप छोड़ी। प्रदेश के सभी सांसदों रणविजय सिंह जूदेव, संतोष पाण्डेय, सुनील सोनी, विजय बघेल, मोहन मंडावी, चुन्नीलाल साहू, अरुण साव, गोमती साय व गुहाराम अजगले ने भी सुषमा स्वराज के निधन को अपूरणीय क्षति बताते हुए कहा कि वे एक संवेदनशील नेता थीं। उनके निधन से राजनीति के एक युग का अंत हो गया है। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल एवं पूर्वमंत्री राजेश मूणत व महेश गागड़ा ने कहा कि एक सतत सक्रिय, गतिशील और संवेदनक्षम नेत्री के रूप में उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा। वे राजनीतिक प्रतिबध्दताओं के बावजूद अद्भुत मानवतावादी थीं।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ताओं सच्चिदानंद उपासने, शिवरतन शर्मा, श्रीचंद सुन्दरानी, संजय श्रीवास्वत, व भूपेन्द्र सिंह सवन्नी ने कहा कि भारत ने एक महान नेत्री और दुनिया ने एक अनुकरणीय व्यक्तित्व की धनी को खो दिया। उनके निधन से जो शून्य उत्पन्न हुआ है, उसकी भरपाई नहीं की जा सकेगी। भाजपा के प्रदेश किसान मोर्चा अध्यक्ष पूनम चंद्राकर, महिला मोर्चा की अध्यक्ष श्रीमती पूजा विधानी, अजा मोर्चा अध्यक्ष डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी, अजजा मोर्चा अध्यक्ष सिध्दनाथ पैकरा, युवा मोर्चा अध्यक्ष विजय शर्मा, पिछड़ा वर्ग मोर्चा अध्यक्ष कोमल जंघेल समेत सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्ष ने भी सुषमा स्वराज के निधन को अपूरणीय क्षति बताते हुए कहा कि आज भारतीय राजनीति का तेजस्वी सितारा अस्त हो गया। प्रदेश भाजपा मीडिया प्रभारी नलिनीश ठोकने और प्रदेश मीडिया सदस्य सत्यम दुवा ने उन्हें श्रध्दांजलि देते हुए कहा कि उनका व्यक्तित्व ‘वज्रादपि कठोरानि, मृदूनि कुसुमादपि’ का जीवंत प्रतीक था। वे लौह महिला मानी जाती थीं पर साथ ही सबकी मदद के लिए वे ममतामयी हो जाती थीं।

 

07-08-2019
माथे पर बड़ी बिंदी, लाल चुनरी, अंतिम सफर पर निकलीं सुषमा स्वराज

नई दिल्ली। भाजपा की वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज बुधवार की अंतिम यात्रा निकाली गई। अंतिम सफर पर निकलते हुए वही बड़ी सी लाल गोल बिंदी भाजपानेत्री सुषमा स्वराज  के माथे पर दमक रही थी। ऐसा लग रहा था लाल जोड़े में लिपटीं सुषमा मानो बोल पड़ेंगी। जंतर-मंतर स्थित घर और फिर भाजपा मुख्यालय लाए जाने के बाद सुषमा अंतिम सफर पर निकली पड़ीं। लोधी रोड स्थित शवदाह गृह में अब से कुछ देर में उनकी अंत्येष्टि होगी। 

भावुक हुए पीएम मोदी
सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देते समय  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काफी दुखी लग रहे थे। उन्होंने सुषमा की बेटियों से मुलाकात की और उन्हें सांत्वना दी, इसके बाद उन्होंने सुषमा के पति से बहुत देर तक बात की। इस दौरान पीएम मोदी भावुक हो गए। उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े। पीएम मोदी ने सुषमा स्वराज के निधन को निजी क्षति बताया है। इसके बाद पीएम काफी देर तक सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर के पास खड़े रहे। उनके साथ उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू भी मौजूद रहे। 
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी सुषमा के आवास पर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। पूर्व उप प्रधानमंत्री तथा वरिष्ठ भाजपा नेता एलके आडवाणी भी अपनी बेटी प्रतिभा के साथ सुषमा स्वराज के आवास पर पहुंचे। एक-दूसरे के साथ काफी लंबे समय से जुड़ी रहीं प्रतिभा और सुषमा की बेटी इस दुखद मौके पर काफी भावुक नजर आईं।

 

07-08-2019
सुषमा स्वराज के निधन पर अजीत जोगी गहरा दुख व्यक्त किया

रायपुर। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का मंगलवार रात निधन के बाद देश विदेश से श्रद्धांलि अर्पित करने वालों का तांता लगा हुआ है। इसी कड़ी में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व जनता कांग्रेस सुप्रीमों अजीत जोगी ने सुषमा स्वराज के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज मेरे बहन जैसी थी। सुषमा स्वराज के चलते ही प्रदेश को एम्स की सौगात मिली है।

07-08-2019
सुषमा स्वराज का निधन, भारतीय राजनीति के एक युग का अंत : बृजमोहन

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता, राष्ट्र की ओजस्वी वक्ता सुषमा स्वराज के निधन पर भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि यह क्षण उनके लिए बेहद कष्टदायक है। मेरे लिए सुषमा स्वराज सिर्फ एक नेता नहीं अपितु प्रेरणा की स्रोत थी। वात्सल्य और करुणा की प्रतिमूर्ति थी वो, उनके रहने भर से एक मातृत्व का एहसास हृदय में होता था। मुझे एक अनुज की भाती उनका स्नेह मिलता रहा है। उनकी राजनीति की शुरूआत की अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से हुई थी। संगठन में वे हमारी वरिष्ठ रही। लगभग 40 वर्षों से उनके साथ हमारा सतत संपर्क बना रहा। छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के वक्त वो अटल जी की सरकार में मंत्री थी।

इस वजह से भी वह छत्तीसगढ़ के हितों का ध्यान रखा करती थी जब भी उनसे भेट होती वह छत्तीसगढ़ का हालचाल पूछती। बृजमोहन ने कहा कि सुषमा स्वराज का जाना सिर्फ भारतीय जनता पार्टी की क्षति नहीं है अपितु सम्पूर्ण राष्ट्र के लिए अपूरणीय क्षति है। महिलाओं के लिए वो एक रोल मॉडल थी। भारतीय संस्कृति और परंपराओं की झलक उनमें हमेशा दिखती थी। वो ऐसी प्रखर वक्ता थी कि जब बोलना शुरू करती सब कुछ थम सा जाता था। मोदी सरकार के प्रथम कार्यकाल में हमने उन्हें विदेश मंत्री के रूप में उन्हें यूनाइटेड नेशन में बोलते सुना। पाकिस्तान के खिलाफ भारत का पक्ष वो जिस ढंग से, जिस प्रखरता से रख रही थी मानों स्वयं भारत माता उनमें समाहित हों।

07-08-2019
शायद धारा 370 हटने का इंतजार था सुषमा को

नई दिल्ली। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज नही रही।उन्होंने एम्स में आखिरी सांस ली।रात 9 बजे उन्हें हार्ट अटैक आया और उसके बाद एम्स में डॉक्टरों के अथक प्रयास के बावजूद उन्हें बचाया नही जा सका।आज ही उन्होंने जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल पास होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट कर बधाई दी थी और कहा था कि मैं अपने जीवन मे इसी दिन को देखने का इंतज़ार कर रही थी। ये सुषमा स्वराज के पार्टी के लिए समर्पण का जीता जागता प्रमाण है कि उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को 8 बजे ट्वीट कर बधाई दी।उनके निधन पर स्वयं पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि एक स्वर्णिम युग समाप्त हो गया । सुषमा स्वराज दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री थी।विदेश मंत्री के रूप में भी वे सफल रही।उन्होंने खाड़ी से बंधकों को छुड़ाने में सराहनीय  भूमिका अदा की।वे सोनिया गांधी के खिलाफ बेल्लारी से चुनाव लड़ चुकी थी।

07-08-2019
कोविंद, वेंकैया, मोदी, राहुल समेत विभिन्न नेताओं ने सुषमा के निधन पर शोक जताया

नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी , कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत केंद्रीय मंत्रियों एवं प्रमुख राजनीतिक दलों के नेताओं ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के मंगलवार को निधन पर शोक जताया है। कोविंद ने अपने शोक संदेश में कहा, ‘‘ सुषमा स्वराज के निधन से बहुत दु:ख हुआ है। देश ने अपनी एक अत्यंत प्रिय बेटी खोई है। सुषमा जी सार्वजनिक जीवन में गरिमा, साहस और निष्ठा की प्रतिमूर्ति थीं। लोगों की सहायता के लिए वे हमेशा तत्पर रहती थीं। उनकी सेवाओं के लिए सभी भारतीय उन्हें सदैव याद रखेंगे।’’ नायडू ने कहा, ‘‘ पूर्व केंद्रीय मंत्री,वरिष्ठ नेता, प्रखर सांसद सुषमा स्वराज जी के असामयिक निधन से स्तब्ध हूं। देश ने आज एक ओजस्वी नेता और मैने एक निकट सहयोगी खो दिया है। नि: शब्द हूं। ईश्वर पुण्य गतात्मा को आशीर्वाद दें। उनके शोकाकुल परिजनों और सहयोगियों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। मेरी विनम्र श्रद्धांजलि।’’

मोदी ने स्वराज के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनके निधन से भारतीय राजनीति के एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया। उन्होंने कहा, ‘‘ स्वराज का निधन उनके लिए व्यक्तिगत क्षति है। उन्हें देश के लिए किए गए प्रत्येक कार्य के लिए हमेशा याद किया जाएगा। वह एक प्रखर वक्ता एवं उच्चकोटि की सांसद थीं जिन्हें दल गत राजनीति से उठकर सराहना मिली। उन्होंने भाजपा की विचारधारा और हितों के साथ कोई समझौता नहीं किया और पार्टी के विकास के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया। ’’
केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘‘ सुषमा स्वराज जी के आकस्मिक निधन के समाचार से स्तब्ध हूं। एक ओजस्वी वक्ता और उत्कृष्ट नेता के रूप में वे हम सब के लिए प्रेरणा स्रोत थीं। उन्होंने विदेश मंत्रालय को आम आदमी से जोड़कर नई मिसाल कायम की। वे अंतिम सांस तक देश और देशवासियों की सेवा में समर्पित रहीं। मैं उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि देता हूं और इस कठिन समय में उनके परिवार को ईश्वर शक्ति दें इसकी प्रार्थना करता हूं। दिवंगत आत्मा को मेरा नमन। ओम शांति।’’
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘‘ पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता व संसदीय बोर्ड की सदस्य सुषमा स्वराज जी के आकस्मिक निधन से मन अत्यंत दुखी है। उन्होंने एक प्रखर वक्ता, एक आदर्श कार्यकर्ता, लोकप्रिय जनप्रतिनिधि व एक कर्मठ मंत्री जैसे विभिन्न रूपों में भारतीय राजनीति में अपनी अमिट छाप छोड़ी है।’’

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने कहा, ‘‘ भारतीय राजनीतिक क्षितिज का चमकता हुआ सूर्य आज सुषमा स्वराज के रूप में अस्त हो गया है। वह एक कुशल प्रशासक और संवेदनशील राजनेता थी। वह एक ओजपूर्ण वक्ता के साथ ही शालीन एवं  सजग व्यक्तित्व थी। आज देश ने एक बहुमूल्य राजनेता को खो दिया है। एक सांसद के तौर पर सुषमा जी ने देश में नए प्रतिमान स्थापित किऐ पक्ष-विपक्ष दोनों में ही उन्होंने सदैव देशहित को आगे रखा और उसे प्रखर अभिव्यक्ति दीे सुषमा जी की पुण्य स्मृति को नमन।’’
भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने कहा, ‘‘ पूर्व विदेश मंत्री, वरिष्ठ नेत्री, दीदी सुषमा स्वराज जी के आकस्मिक निधन से मन अत्यंत पीड़ति है। उनका निधन भाजपा एवं देश की राजनीति के लिए एक अपूर्णीय क्षति है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें एवं शोकाकुल परिवार को दु:ख सहने की शक्ति दे। ओम शांति।’’

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने स्वराज के निधन पर गहरा दुख जताते हुए कहा कि वह एक असाधारण राजनेता तथा विशिष्ट संसदविद के निधन की खबर सुनकर क्षुब्ध हैं।  उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘ मैं एक असाधारण राजनेता, महान वक्ता तथा एक विशिष्ट संसदविद के निधन की खबर सुनकर क्षुब्ध हूं। वह सभी दलों के नेताओं की मित्र थीं। दुख की इस घड़ी में पीड़ति परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। ओम शांति।’’

07-08-2019
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सुषमा के निधन पर शोक जताया

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर गहन शोक व्यक्त किया है। बघेल ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘ आज का दिन जाते-जाते राजनीति को एक ऐसी स्थायी शून्यता दे गया, जो कभी न भरी जा सकेगी। शानदार वक्ता, दल से ऊपर उठकर रिश्तों को सहेजने वाली नेता सुषमा स्वराज जी के आकस्मिक निधन की सूचना बहुत दु:खद है। वो जब भी विश्वपटल पर बोलीं, एक मुखर भारत आँखों के सामने प्रतीत हुआ।’’ गौरतलब है कि स्वराज का मंगलवार की रात दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में निधन हो गया।

29-06-2019
सुषमा स्वराज ने खाली कर दिया अपना सरकारी आवास, सोशल मीडिया पर हो रही प्रशंसा

नई दिल्ली। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने नई सरकार के शपथ ग्रहण के महीने भर के भीतर ही अपना सरकारी आवास खाली कर दिया है। सरकारी बंगले को खाली करने के सुषमा स्वराज के इस कदम की सोशल मीडिया पर खूब प्रशंसा हो रही है। बीजेपी की दिग्गज नेता सुषमा स्वराज ने लोकसभा चुनाव 2019 में चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया था और मोदी सरकार में मंत्री न बनने का भी आग्रह किया था, जिसके बाद वह मंत्री नहीं बनी थीं। 
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार की सुबह ट्वीट किया- मैंने दिल्ली स्थित 8 सफदरजंग लेन का अपना सरकारी आवास खाली कर दिया है। कृप्या नोट कर लें कि अब मैं पुराने पते और फोन नंबर पर उपलब्ध नहीं रहूंगी।' गौरतलब है कि एक ओर जहां सरकारी आवास छोड़ने और न छोड़ने को लेकर नेताओं को कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हैं, वहीं खुद सुषमा स्वराज ने अपना सरकारी आवास खाली कर एक नया उदाहरण पेश किया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804