GLIBS
25-10-2020
नवरात्रि में कन्याभोज के लिए हलवा पूरी के साथ बनाए प्रसाद वाले सूखे काले चने प्रोटीन फाइबर से भरपूर और स्वादिष्ट भी

रायपुर। नवमी का पर्व युवा लड़कियों की 'कन्या पूजा' के साथ मनाया जाता है, जिन्हें देवी के नौ अवतार के रूप में पूजा जाता है। कन्या भोज के मौके पर ये सूजी के हलवे और पूरी के साथ प्रसाद वाले सूखे काले चने बनाए जाते हैं। बिना टमाटर-प्याज वाली इस सब्जी को भोग के रूप माता को प्रसाद भी चढ़ाया जाता है। सूखे काले चने खाने में बड़े स्वादिष्ट, प्रोटीन और फाइबर से भरपूर पौष्टिक होते हैं। 

ऐसे बनाए प्रसाद वाले सूखे काले चने :
-साफ पानी से काले चने दो से तीन बार धोएं और पानी में रातभर या कम से कम 4-5 घंटे के लिए भिगोकर रख दे। 
- फिर चने को उबाल ले, एक बड़ी कड़ाही में दो बड़े चम्मच तेल या घी डालें।
- इसमें जीरा डाल दे , जैसे ही यह चटकना बंद करें, वैसे ही अदरक और हरी मिर्च डाल दे। 
- अब इसमें धनिया पाउडर, हल्दी और लाल मिर्च डालें।
- अब चने इस मसाले में डालें और अच्छी तरह मिक्स कर लें। 
- करीब दो मिनट तक धीमी आंच पर इसे पकने दें। 
- इसके बाद अमचूर, चाट मसाला और गरम मसाला डालें और अच्छी तरह मिक्स करने के बाद कुछ देर धीमी आंच पर पकने के लिए छोड़ दें। 
- अगर हल्के नम चने बनाने हों तो 5 मिनट में गैस बंद कर दें। 
- एकदम सूखे चने बनाने के लिए गैस को मध्यम आंच पर रखें और चने अच्छी तरह सुखाए। 
- अब हरा धनिया डाल दे। लीजिए चने तैयार है।

11-10-2020
नवरात्रि पर्व को लेकर कलेक्टर ने की पुजारियों और जिला प्रशासन के अधिकारियों से चर्चा, कन्या भोज पर रोक

अंबिकापुर। कलेक्टर संजीव कुमार झा की अध्यक्षता में कलेक्टोरेट सभाकक्ष में नवरात्रि पर्व के आयोजन के संबंध में विभिन्न मंदिरों के पुजारियों और जिला प्रशासन के अधिकारियों की बैठक हुई। बैठक में कोरोना महामारी के संक्रमण के रोकथाम को दृष्टिगत रखते हुए नवरात्रि के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के संबंध में चर्चा कर कई निर्णय लिया गया। दरअसल इस वर्ष कोरोना महामारी की वजह से मंदिरों में बलिपूजा नहीं की जाएगी, मंदिरों में सामूहिक यज्ञ भी नहीं होगा। केवल पुजारी ही यज्ञ करेंगे। मंदिरों में नवरात्रि के अंतिम दिन कन्या भोजन के लिए पुजारियों से चर्चा करने के बाद प्रशासन ने रोक लगा दी। इसके साथ ही किसी प्रकार की सभा, जूलूस या भीड़ बढ़ाने वाले कार्यक्रम पर प्रतिबंध लगा दिया है। बैठक में यह भी निर्णय लिया कि वर्तमान तकनीक का अधिक से अधिक उपयोग करते हुए मंदिर में देवी की दर्शन ऑनलाइन के माध्यम से कराएं जाएं। इसके लिए फेसबुक के माध्यम से ऑनलाइन आरती एवं देवी दर्शन को बढ़ावा देने का निर्णय लिया गया। इसके साथ ही सभी मंदिरों में एक रजिस्टर रखा जाएगा जिसमें मंदिर आने वाले प्रत्येक श्रद्धालु के नाम, पता, मोबाइल नम्बर तथा मंदिर प्रवेश के समय दर्ज किया जाएगा ताकि कोरोना संक्रमण की पहचान के लिए कांटेक्ट टैसिंग आसानी से किया जा सके। वही बैठक में फैसला लिया गया कि नवरात्रि के दौरान मंदिरों में आरती, शंख ध्वनि, घण्टा ध्वनि के साथ ही वाद्ययंत्र बजा सकते हैं। लेकिन मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को टीका लगाना, कलेवा बाधना, प्रसाद वितरण, चरणामृत तथा पंचामृत आदि देने पर प्रतिबंधित किया है। वही जिन मंदिरों के आस-पास खुले जगह है वहां एलईडी टीवी लगाया जाएगा ताकि श्रद्धालु देवी का दर्शन कर सके और मंदिरों में भीड़ एकत्रित न हो।

13-04-2019
नवरात्र में राशि के अनुसार कराए कन्या भोज, मिलेंगे ये फायदे...

 

रायपुर। अष्टमी और नवमी के दिन कन्यापूजन किया जाता है। इसमें लोग अपनी इच्छा के अनुसार हलवा-पूड़ी खिलाकर कन्याओं को उपहार भेंट करते हैं, ताकि उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकें। मगर क्या आप जानते हैं कि अपनी राशियों के मुताबिक कन्या भोज कराने का विशेष लाभ मिलता है। कहा जाता हैं कि आपकी राशि के सभी दोष दूर होते हैं और मां की कृपा भक्तों पर बनी रहती हैं। चलिए जानते हैं आपको अपनी राशि के मुताबिक किस तरह कन्या भोज करवाना चाहिए। 

मेष राशि : इस राशि के लोग कन्यापूजन के दौरान कन्याओं को गुड़ या फिर किसी मीठी वस्तु का प्रसाद खिलाएं और पेन दें। ऐसा करने से मातारानी प्रसन्न होती हैं और धन का आशीर्वाद देती हैं।

वृषभ राशि : अगर आपकी राशि वृषभ है तो कन्याओं को घी का प्रसाद देना चाहिए और अपहार में खिलौना। ऐसे करने से मातारानी की कृपा हमेशा आप पर बनी रहेगी। 

मिथुन राशि : मिथुन राशि के लोग आज के दिन कन्याओं को गुड़ का भोग लगाएं और कोई भी तांबे का बर्तन उन्हें उपहार में दे। ऐसा करने मां दुर्गा बहुत ही प्रसन्न होती हैं और सुख-समृद्धि का वरदान देती हैं।

कर्क राशि : अगर आपकी राशि कर्क है तो कन्याओं को खीर-पूड़ी का प्रसाद खिलाएं और उपहार में रूमाल दें। ऐसा करने से घर में हमेशा मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहेगी। 

सिंह राशि : अगर आपकी राशि सिंह है तो कन्यापूजन के दौरान खट्टी वस्तुओं का प्रसाद बनाएं और कन्या को उपहार में लोहे की कोई भी चीज दें। ऐसा करने से मां आपके सारे कष्टों को दूर कर देगी। 

कन्या राशि : कन्या राशि के लोगों को कन्याओं को गन्ने के रस से बनी खीर या अन्य डिशेज खिलानी चाहिए। दान में अनार का फल देना चाहिए क्योंकि इससे मातारानी की कृपादृष्टि आप पर बनी रहेगी।

तुला राशि : इस राशि के लोगों को कन्याओं को मखाने की खीर खिलानी चाहिए और दान में नारियल देना चाहिए। ऐसा करने से घर में कभी भी अनाज की कमी नहीं होगी। 

वृश्चिक राशि : वृश्चिक राशि के लोगों को कन्याओं को सूखे मेवे से बना प्रसाद खिलाना चाहिए और दान में पांच प्रकार के फल देने चाहिए। ऐसा करने से मां आपके सारे दु:खों को हर लेगी। 

धनु राशि : इस राशि के जातक को कन्याओं को दही-जलेबी का प्रसाद खिलाना चाहिए और दान में विद्या संबंधित कोई भी वस्तु देने चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आपको जीवन में सफलता हासिल होती रहेगी। 

मकर राशि : मकर राशि है तो आपको कन्याओं को पुए का प्रसाद खिलाना चाहिए और कोई वस्त्र दान करना चाहिए। ऐसा करने से कभी भी धन-धान्य की कमी नहीं होगी।

कुंभ राशि : इस राशि के लोगों को कन्याओं को दूध से बनी चीजें जैसे खीर, सवैइयां या फिर कोई अन्य चीज खिलानी चाहिए और दान में शंख देना चाहिए। 

मीन राशि : इस राशि के लोगों को प्रसाद में हलवा-चना और पूड़ी देनी चाहिए। दान में श्रृंगार का कोई भी सामान दें सकते हैं क्योंकि ऐसा करने से जीवन में सुख-शांति बनी रहती हैं। 

16-10-2018
Akhil Bharatiya Hindu : लोगों ने की भारत माता की आरती, कराया कन्या भोज, धर्म और राष्ट्र का लिया संकल्प

अम्बिकापुर। अखिल भारतीय हिंदू क्रांति दल महिला मोर्चा के द्वारा नवरात्रि के पावन पर्व पर  कन्या भोजन एवं भारत माता की आरती कराई गई।अखिल भारतीय हिन्दू  क्रान्ति दल महिला मोर्चा सरगुजा  द्वारा अंबिकापुर में नवरात्रि के पावन पर्व पर ममोल कोचेटा जी के नेतृत्व में माता रानी का भजन संध्या  करते हुए कन्या  भोजन का आयोजन करवाया गया एवं  अपने धर्म एवं राष्ट्र की रक्षा हेतु संकल्प लिया गया जिस में मुख्य रूप से ममोल कोचेटा, शारदा द्विवेदी जी, रानी मिश्रा जी, ज्योत्सना  जी के हाथों रक्तदान व छात्रों को निःशुल्क अध्यापन कार्य में भागीदारी सुनिश्चित करने हेतु विवेक दूबे एवं पियूष त्रिपाठि  को भी सामाजिक व चिकित्सा क्षेत्र में अभूतपूर्व योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

इसी कड़ी में श्रीमती रमा बुधिया को साहित्य के क्षेत्र में टीवी में अपनी कविताओं के पठन हेतु सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में संभागीय मंत्री अजय चौबे, जिला अध्यक्ष आदित्य गुप्ता( पिंटू), विवेक दुबे ,पियूष त्रिपाठी, विद्युत ठेकेदार संतोष सिंह, पंकज गुप्ता, मनोज शुक्ला, शारदा द्विवेदी, रानी मिश्रा  ज्योत्सना जी, शीला जैन, नीलू बाला जान, डॉ अल्का पाण्डेय, ज्योत्स्ना,  विनीत, अहिल्या अग्रवाल, राजीव प्रसाद, आरना जैन, मीठी ताम्रकार, शौर्य सिन्हा, पीहू ताम्रकार सहित बड़ी  संख्या में बच्चे उपस्थित रहे। भारत माता की आरती के पश्चात कार्यक्रम का समापन किया गया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804