GLIBS
03-10-2020
यदि आप यातायात नियमों का पालन करेंगे तो रायपुर पुलिस करेगी सम्मान, इस माह 15 चालक बने ट्रैफिक मितान

रायपुर। राजधानी में यातायात नियमों का पालन करने वाले वाहन चलाकों को सम्मानित किया जाएगा। अनुशासित चालकों को सम्मानित किए जाने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव के निर्देशानुसार 2 अक्टूबर को गांधी जयंती पर ट्रैफिक मितान कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यालय अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात रायपुर के कॉंफ्रेंस हॉल में हुए कार्यक्रम में एसएसपी अजय यादव उपस्थित थे। साथ ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात एमआर मंडावी, पुलिस अधीक्षक यातायात कामता सिंह दीवान, सदानंद सिंह, विंध्य राज, सतीश ठाकुर और उप पुलिस अधीक्षक लाइन मणिशंकर चंद्रा व सुरक्षित भव फाऊंडेशन के सदस्य उपस्थित थे। कार्यक्रम का प्रमुख उद्देश्य यातायात नियमों का पालन कर वाहन चलाने वाले चालकों को सम्मानित किया जाना है।

इसकी शुरुआत 2 अक्टूबर गांधी जयंती के उपलक्ष में हुई। यातायात नियमों का पालन कर वाहन चलाने वाले 15 चालकों को पुरस्कृत कर ट्रैफिक मितान बनाया गया। यह ट्रैफिक मितान यातायात पुलिस के सूत्रधार होंगे। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव ने नागरिकों से अपील की है कि वाहन चलाने के दौरान हमेशा यातायात नियमों का पालन करें। अपने घर परिवार के लोगों को भी नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित कर समाज में एक जिम्मेदार नागरिक होने का कर्तव्य निभाएं।स्मार्ट सिटी रायपुर में स्मार्ट ट्रैफिक बनाने के उद्देश्य से आईटीएमएस सिस्टम के तहत कैमरे लगाए गए हैं। इन कैमरों के माध्यम से अनुशासित तरीके से यातायात नियमों का पालन करते हुए वाहन चलाने वाले चालकों को चयन किया जाएगा। उन्हें यातायात मितान बनाते हुए प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा। ट्रैफिक मितान का प्रमाण पत्र अनुशासित तरीके से वाहन चलाने वाले वाहन चालकों को उनके घर के पते पर जाकर ट्रैफिक पुलिस देगी।

ट्रैफिक मितान यातायात नियमों के प्रति आम लोगों को जागरूक भी करेंगे। यातायात पुलिस के साथ मिलकर यातायात व्यवस्था को सरल ,सुगम ,एवं सुव्यवस्थित ,बनाने में रायपुर यातायात पुलिस की मदद करेंगे। रायपुर पुलिस ट्रैफिक मितान माह अक्टूबर के तहत प्रवीण कुमार यादव पेंशन बाड़ा, हरी राम निषाद,सुरेश सिंह बिरगांव, बीएल अग्रवाल शंकर नगर, विजय शंकर चौबे देवेंद्र नगर, सुरेश तिवारी बोरियाखुर्द,हर्षलाल जयसवाल, मुकेश विश्वकर्मा भनपुरी, हरीश कुमार दवे उरला, आकाश जैन प्रोफेसर कॉलोनी, माकन साहू पचपेड़ी नाका, सुनीता संचोरीया छत्तीसगढ़ नगर, पल्लवी यादव, सुभ्रा ठाकुर और सुरक्षित भव फाउंडेशन के चेयरमैन संदीप धूपर को रायपुर पुलिस ट्रैफिक मितान के सम्मान से सम्मानित कर प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया।

30-09-2020
2 अक्टूबर को भूपेश बघेल करेंगे मंत्रालय में गांधी प्रतिमा का अनावरण, अमरजीत भगत ने किया निरीक्षण

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 2 अक्टूबर को मंत्रालय महानदी परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा का वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अनावरण करेंगे। संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने बुधवार को मंत्रालय महानदी भवन परिसर में प्रतिमा स्थल का अवलोकन किया। उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। मंत्री भगत ने मंत्रालय में हुई विभागीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों को छत्तीसगढ़ विधानसभा की तर्ज पर मंत्रालय महानदी भवन परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा लगाने की तैयारी पूरी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रतिमा का अनावरण 2 अक्टूबर को गांधी जयंती को होना तय किया गया है। बैठक में संस्कृति विभाग के सचिव अन्बलगन पी.,संचालक अमृत विकास तोपनो सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

 

23-09-2020
2 अक्टूबर को शुष्क दिवस घोषित

रायपुर/दन्तेवाड़ा। 2 अक्टूबर गांधी जयंती के अवसर पर जिले में शुष्क दिवस घोषित किया गया है। कलेक्टर दीपक सोनी ने जिले में देशी, विदेशी शराब फुटकर, एफएल 1, एफएल 7, सैनिक केन्टीन, होटल बार, शराब भंडारण बंद रखने का आदेश जारी किया है। उन्होंने अवैध शराब के विनिर्माण परिवहन विक्रय पर नियंत्रण रखने के निर्देश दिए हैं।

22-09-2020
अनन्या-ईशान की फिल्म 'खाली पीली' का ट्रेलर रिलीज़,2 अक्टूबर को ओटीटी प्लेटफॉर्म पर होगी प्रदर्शित  

मुंबई। अनन्या पांडे और इशान खट्टर की फिल्म खाली पीली 2 अक्टूबर को ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने जा रही है। पिछले दिनों अनन्या ने फिल्म की शूटिंग और प्रोडक्शन वर्क को पूरा किया। इसी बीच फिल्म खाली-पीली का ट्रेलर भी रिलीज़  कर दिया गया है। 1 मिनट 53 सेकेंड का ट्रेलर रिलीज किया है।ट्रेलर में ईशान टैक्सी ड्राइवर के रोल में नजर आ रहे हैं जबकि अनन्या पैसों से भरा बैग लेकर भाग रही हैं और उनके पीछे कुछ गुंडे पड़े हुए हैं। ट्रेलर में जयदीप अहलावत विलेन की भूमिका में दिखाई दे रहें हैं। बता दें कि खाली-पीली को दो अक्टूबर को जी प्लेक्स पर ऑनलाइन रिलीज किया जायेगा। फिल्म की कहानी मुंबई की है और इसे फिल्माया भी मुंबई में ही गया है।
फिल्म के डायरेक्टर मकबूल खान है। 

22-05-2020
 टीएस सिंहदेव ने जिला पंचायत अध्यक्षों को लिखा पत्र, कहा- पंचायत भवन का काम 2 अक्टूबर के पहले करें पूरा

रायपुर। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव ने प्रदेश में गठित सभी नए ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन निर्माण का काम 2 अक्टूबर से पहले पूर्ण कराने जिला पंचायत अध्यक्षों को पत्र लिखा है। उन्होंने सभी जिला पंचायत अध्यक्षों को इस काम में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करने का आग्रह करते हुए लिखा है कि 2 अक्टूबर 2020 तक नए पंचायत भवन तैयार हो जाने पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती कार्यक्रमों के समापन के मौके पर इनका लोकार्पण किया जा सकेगा। सिंहदेव ने जिला पंचायत अध्यक्षों को लिखे पत्र में जानकारी दी है कि पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा मनरेगा और राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत प्रदेश में नवगठित सभी 704 ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन के निर्माण के लिए कुल 101 करोड़ 51 लाख 68 हजार रूपए स्वीकृत किए गए हैं। प्रत्येक भवन की लागत 14 लाख 42 हजार रूपए है। विभाग ने नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों के सुझावों एवं उनकी मांगों को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए इतनी बड़ी राशि मंजूर की है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने पत्र में पंचायतीराज व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण और उन्हें अधिकार संपन्न बनाने में देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की भूमिका को भी रेखांकित किया है। सिंहदेव ने 21 मई को पुण्यतिथि पर उन्हें याद करते हुए कहा है कि स्व.राजीव गांधी की दूरदर्शिता के कारण ही आज पंचायतीराज संस्थाएं इतनी सशक्त भूमिका में हैं।
 

30-09-2019
मुख्यमंत्री निवास में 2 अक्टूबर को जनचौपाल: भेंट-मुलाकात कार्यक्रम स्थगित

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के रायपुर स्थित निवास में 2 अक्टूबर बुधवार को आयोजित होने वाला ‘जनचौपाल भेंट-मुलाकात‘ का कार्यक्रम अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दिया गया है।

16-09-2019
शहरों में भी मोबाइल मेडिकल टीमें करेंगी लोगों का इलाज

रायपुर। छत्तीसगढ़ के वनांचलों और दूरस्थ इलाकों के हाट-बाजारों में मोबाइल मेडिकल टीम द्वारा किए जा रहे इलाज के अच्छे परिणाम को देखते हुए सरकार इसे शहरी स्लम क्षेत्रों में भी शुरू करने जा रही है। प्रदेश के 13 नगर निगमों के स्लम क्षेत्रों में सप्ताह में एक दिन सवेरे 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक मोबाइल मेडिकल टीम मौजूद रहकर लोगों का इलाज करेंगी। मोबाइल मेडिकल यूनिट द्वारा कुछ जरूरी जांच के साथ ही निःशुल्क दवाइयां भी दी जाएंगी। गांधी जयंती पर आगामी 2 अक्टूबर से मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना का शुभारंभ किया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश के 13 नगर निगमों में करीब एक लाख 71 हजार परिवार स्लम क्षेत्रों में रहते हैं। इन परिवारों के लगभग 7 लाख 80 हजार लोगों के उपचार की सुदृढ़ व्यवस्था के लिए सरकार मौजूदा स्वास्थ्य सेवाओं के साथ ही मोबाइल मेडिकल टीम उपलब्ध करा रही है। मुख्यमंत्री ने मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के लिए शुरूआती तौर पर रायपुर नगर निगम में 3, भिलाई और कोरबा में दो-दो तथा अन्य नगर निगमों में एक-एक मोबाइल मेडिकल टीम तैयार करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इसके लिए सर्वसुविधायुक्त जगह के चयन, आवश्यक साफ-सफाई, बिजली, पानी, फर्नीचर, शौचालय इत्यादि की व्यवस्था, मोबाइल मेडिकल टीम के गठन और पर्याप्त मात्रा में दवाईयों के भंडारण के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने अधिक से अधिक लोगों तक इस योजना का लाभ पहुंचाने स्थानीय जनप्रतिनिधियों, स्वयं सेवी संस्थाओं और सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों को जोड़ने तथा स्लम क्षेत्रों में इस योजना के व्यापक प्रचार-प्रसार के भी निर्देश दिए हैं। जिला कलेक्टरों को इन सभी कार्यों के लिए समन्वयक बनाया गया है।

 

25-08-2019
2 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में लागू होगी मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना    

रायपुर। मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना का प्रदेश के वनांचल और दूरस्थ क्षेत्रों में अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। इन इलाकों के हॉट-बाजारों में पहुंचने वाले ग्रामीणों का मेडिकल टीम द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें नि:शुल्क दवाई का वितरण किया जा रहा है। यह योजना जून 2018 से शुरू की गयी है। बड़ी संख्या में मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक से लोग लाभान्वित हो रहे है।  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आगामी 2 अक्टूबर से इसे पूरे प्रद्रेश में लागू करने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार की इस महात्वाकांक्षी योजना की सतत समीक्षा मुख्यमंत्री सचिवालय द्वारा प्रतिदिन की जा रही है। मुख्यमंत्री स्वयं इसकी हर माह समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री ने इस योजना को प्रदेश में लागू करने के संबंध में मुख्यसचिव और सभी जिला कलेक्टरों को पत्र लिख कर विस्तृत दिशा निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग को इस योजना के बेहतर क्रियान्वयन के सभी तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। इसी तरह राज्य सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ के दूरस्थ और वनांचलों में चलायी जा रही सुपोषित छत्तीसगढ़ योजना का विस्तार 2 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में होने जा रहा है। मुख्यमंत्री हर माह स्वयं इस योजना की भी समीक्षा करेंगे। इस योजना में कुपोषण से पीडि़तों को महिला समूह और पंचायतों के माध्यम से प्रतिदिन नि:शुल्क गर्म भोजन प्रदान किया जाएगा। इसके लिए सभी कलेक्टरों को इन दोनों योजनाओं की मैदानी स्तर पर क्रियान्वयन और मानिटरिंग सुनिश्चित करने को कहा है। महिला एवं बाल विकास विभाग को भी इस योजना के और अधिक गुणात्मक सुधार के निर्देश दिए गए हैं।

 

13-08-2019
दुर्गम क्षेत्रों के हाट-बाजारों में 2 अक्टूबर से शुरू होगी इलाज की सुविधा, सीएम ने लिखा कलेक्टरों को पत्र

रायपुर। दंतेवाड़ा और बस्तर जिले में मोबाइल चिकित्सा यूनिट से मिल रहे उत्साहवर्धक नतीजों के बाद अब छत्तीसगढ़ के दुर्गम क्षेत्रों के सभी हाट-बाजारों में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती 2 अक्टूबर से ग्रामीणों के लिए इलाज की सुविधा प्रारंभ की जाएगी। हाट-बाजारों में मेडिकल टीम भेजी जाएगी, जिसमें डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टॉफ के साथ पर्याप्त दवाएं और मोबाइल चिकित्सा यूनिट भी होगी। हाट-बाजारों में ग्रामीण चिकित्सकीय परामर्श ले सकेंगे और उनका उपचार भी किया जाएगा। इस योजना का विस्तार सभी हाट-बाजारों में किया जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस संबंध में सभी जिला कलेक्टरों को पत्र लिखकर विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने अपने-अपने जिलों में हाट-बाजारों का चिन्हांकन कर वहां सुसज्जित मोबाइल चिकित्सा यूनिट भेजने के लिए कार्य योजना 15 सितंबर तक प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने पत्र में लिखा है कि राज्य के दूरस्थ अंचलों विशेषकर आदिवासी अंचलों में स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना अत्यंत चुनौती पूर्ण काम है। दुर्गम क्षेत्र होने के कारण लोग आसानी से शासकीय स्वास्थ्य केन्द्रों तक नहीं पहुंच पाते जिसके कारण इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य संबंधी सभी सूचक असंतोषजनक हैं।

श्री बघेल ने पत्र में कहा है कि दंतेवाड़ा, बस्तर सहित कुछ अन्य जिलों में स्थित सभी हाट-बाजारों में चिकित्सा दल भेजने का प्रयोग जून में प्रारंभ किया गया है। इस प्रयोग के अत्यंत उत्साहवर्धक परिणाम मिल रहे हैं। हाट-बाजारों में चिकित्सा उपलब्ध कराने का कार्य चरणबद्ध तरीके से राज्य के सभी ऐसे जिलों में जहां दुर्गम क्षेत्र है तथा आवागमन के साधनों की कमी है, प्रारंभ किया जाना है। मुख्यमंत्री ने सभी कलेक्टरों को अपने-अपने जिले में ऐसे हाट-बाजारों का चिन्हांकन करने तथा प्रतिदिन लगने वाले बाजारों के संख्या के अनुरूप मेडिकल दलों की व्यवस्था करने के निर्देश देते हुए कहा है कि यदि जिले में संसाधनों में कोई कमी है तो उसकी पूर्ति के लिए कार्ययोजना तैयार कर ली जाए। प्रयोग के तौर पर सभी जिलों में बड़े हाट-बाजारों में चिकित्सक दल भेजने का कार्य प्रारंभ किया जाए और प्रत्येक बाजार में आने वाले मरीजों तथा उनके उपचार का पृथक से लेखा-जोखा रखा जाए। श्री बघेल ने पत्र में यह भी लिखा है कि आगामी 2 अक्टूबर से सभी हाट-बाजारों में मेडिकल टीम नियमित रूप से भेजने की व्यवस्था किया जाना है। सभी कलेक्टर 15 सितबंर तक अपने जिले की कार्य योजना अनिवार्य रूप से शाासन को प्रस्तुत करें। इस पुनीत कार्य से जन सामान्य को अवगत कराने के लिए आवश्यक प्रचार-प्रसार भी किया जाए। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई है कि सभी के सक्रिय सहयोग से इस योजना को सफलता पूर्वक क्रियान्वित किया जाएगा, राज्य के दूरस्थ अंचलों में रहने वाले लोगों को भी स्वास्थ्य सेवा का लाभ मिलेगा और स्वस्थ छत्तीसगढ़ की कल्पना साकार हो सकेगी।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804