GLIBS
07-01-2021
51 फीसदी वोट के साथ बंगाल में सरकार बनाएगी बीजेपी : कैलाश विजयवर्गीय

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। जैसे जैसे चुनाव के दिन नज़दीक आ रहे है वैसे बंगाल में राजनितिक गतिविधियां भी तेज़ होती जा रही है। जेपी नड्डा के रैली में पथराव से लेकर शुभेंदु अधिकारी का भाजपा में शामिल होना। इन सब से बंगाल में तनावपूर्ण स्थिति निर्मित हो रही है। वही चुनाव को लेकर बीजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा कि 51 फीसदी वोट के साथ बीजेपी वहां सरकार बनाएगी। हम दो तिहाई बहुमत हासिल करेंगे। कैलाश विजयवर्गीय आज पटना पहुंचे हुए हैं। उन्होंने कहा कि शिवसेना और एआईएमआईएम बंगाल चुनाव लड़ रही है। बिहार में जेडीयू और जीतन राम मांझी की पार्टी भी लड़ रही है। इससे पहले कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था कि तृणमूल कांग्रेस सरकार अपना कार्यकाल शायद ही पूरा कर पाए। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से अगले विधानसभा चुनावों से पहले खुद को एक वैकल्पिक ताकत के तौर पर तैयार करने की अपील की है। विजयवर्गीय ने कहा, हम नहीं जानते कि तृणमूल कांग्रेस सरकार 2021 तक बंगाल में बनी रहेगी या नहीं।

 

03-11-2020
मरवाही उपचुनाव : 5 बजे तक 71.99 प्रतिशत मतदान,105 वर्षीय बुजुर्ग ने डाला वोट,पीपीई किट पहनकर निकली महिला

रायपुर। विधानसभा उप निर्वाचन मरवाही के अंतर्गत मंगलवार सुबह 8 बजे से मतदान की सिलसिला शुरू हुआ। बुजुर्गों व दिव्यागों सहित अन्य मतदाताओं ने मतदान में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। शाम 5 बजे तक 71.99 प्रतिशत मतदान हो चुका था। मतदान करने वृद्ध देवसहाय यादव पोलिंग बूथ ग्राम गिरवर में पहुंचे। उन्होंने फोटोग्राफर को बताया कि वे 105 वर्ष के हैं। मतदान केन्द्रों में बुजुर्ग मतदाताओं ने स्वप्रेरणा से सहयोगियों के साथ पहुंचकर अपना वोट डाला। इसी बीच एक तस्वीर सामने आई जिसमें कोविड पॉजिटिव महिला पीपीई किट और पूरी सुरक्षा के साथ मतदान करने ग्राम टिकठी के लिए निकली। अनेक कोविड-19 पॉजिटिव मतदाताओं ने भी डाक मतपत्र के जरिए मतदान किया।

मतदान समाप्ति के 1 घंटे पूर्व तक ऐसे मतदाताओं को अपने मताधिकार का प्रयोग करने सुविधा दी गई।  मरवाही विधानसभा क्षेत्र में हो रहे मतदान के लिए भारत निर्वाचन आयोग  की विशेष पहल पर कोविड-19 से बचाव और सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए सभी व्यवस्थाएं तय की गई है। कोविड 19 के संक्रमण से बचाव के लिए विधानसभा क्षेत्र मरवाही में सुरक्षित मतदान के बाद उपयोग में लाए गए हैंड ग्लब्स का सुरक्षित निस्तारण करने बड़ा गड्ढा खोदा गया था। लोगों ने वोट डालने के बाद अपने ग्लब्स गड्ढे में डाले।

 

19-10-2020
प्रदीप साहू ने कहा- वोट नहीं,न्याय मांगने मरवाही के घर-घर और बाजारों में जाएंगे जोगी कांग्रेसी

रायपुर। युवा जेसीसीजे नेता प्रदीप साहू ने कहा है कि मरवाही की जनता से वोट मांगने नहीं, न्याय मांगने जाएंगे। जिस तरह से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने षडयंत्र करते हुए जोगी परिवार को चुनाव से बाहर किया। उनके नामांकन रद्द कर दिए। जाति पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया गया। कहीं न कहीं ये जोगी परिवार के साथ अन्याय हुआ है। 17 अक्टूबर को काला दिवस के रूप में मनाया जाएगा। मरवाही की जनता को छला गया है, मरवाही की जनता के साथ अन्याय हुआ है। इस अन्याय के लिए न्याय मांगने हम मरवाही के घर-घर, हाट बाजारों तक जाएंगे। मरवाही की जनता को बताएंगे कि किस तरह से कांग्रेस की सरकार ने हमारे साथ अन्याय किया है। प्रदीप ने कहा है कि अजीत जोगी किसी दल के नेता नहीं थे, वो दिल के नेता थे। वो कहते भी थे कि मरवाही में उनकी आत्मा बसती है। गौरेला पेंड्रा मरवाही में उनका रक्त प्रवाह होता है। प्रदीप ने विश्वास जताया है कि मरवाही की अदालत में जनता सच और झूठ का फैसला करेगी। पूरा विश्वास है फैसला होगा और हमें न्याय मिलेगा।

 

 

02-09-2020
मंत्रियों ने वोट के चक्कर में लाखों क्षेत्रवासियों की जान जोखिम में डाल दी : अमित जोगी 

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष ने अमित जोगी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस सरकार के स्वामिभक्त मंत्रियों ने वोट के चक्कर में मरवाही पेंड्रा और गौरेला के लाखों क्षेत्रवासियों की जान जोखिम में डाल दी है। अमित ने कहा है कि स्वास्थ्य सुविधा दुरुस्त करने की जगह सरकारी पैसे से सोशल डिस्टन्सिंग की धज्जियां उड़ाते हुए टी-पार्टी (चाय पर चौपाल) और पंचायत सम्मेलन जैसे विशुद्ध रूप से राजनीतिक नौटंकीबाजी करते रहे,जिसका ये नतीजा है कि मरवाही में ह्यकांग्रेस प्रवेश से सौ गुना ज्यादा कोरोना प्रवेश का जानलेवा सिलसिला अब जोर शोर से चालू हो गया है और जिला प्रशासन के पास इसकी रोकथाम के लिए रत्ती भर व्यवस्था नहीं है। अमित जोगी ने कहा है कि हाल ये है कि पूरे जिले में न तो की एक गोली है किट,न वेंटिलेटर है और न ही क्रिटिकल केयर का एक भी डॉक्टर पदस्थ किया गया है। इतना नहीं कोरोना के इलाज के लिए पदस्थ 6 डॉक्टर्स में तीन डॉक्टर संक्रमित होने से आइसोलेट है और शेष बचे तीन डॉक्टर मंत्रियों के दौरे कार्यक्रम में लगे रहते हैं। इस प्रकार मरवाही में स्वास्थ्य व्यवस्था का बुरा हाल है। मरवाही में आए अधिकांश मंत्री यहां के लोगों की जान जोखिम डालने के बाद रायपुर में खुद को अपने आलीशान घरों में बंद कर लिए हैं। आज मरवाही अपने मंत्रियों से पूछ रहा है,इस घोर लापरवाही के लिए आखिर जिम्मेदार कौन है?

11-08-2020
पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा आदिवासियों के शुभचिंतक नहीं थे : धनंजय ठाकुर

रायपुर। पूर्व वनमंत्री महेश गागड़ा के बयान पर कांग्रेस ने प्रतिकिया व्यक्त की है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने आरोप लगाया है कि पूर्व रमन सरकार में वन मंत्री रहे महेश गागड़ा आदिवासियों के शुभचिंतक कभी नहीं थे। आरएसएस भाजपा ने महेश गागड़ा का इस्तेमाल भोले भाले आदिवासियों के वोट बटोरने के लिए किया। रमन सरकार ने आदिवासी वर्ग को मिले कानूनी अधिकार का हनन किया। उनके जल, जंगल और जमीन पर कब्जा करने की बदनीयती से आदिवासी वर्ग पर अत्याचार किया। आदिवासी वर्ग की शिक्षा दीक्षा, रोजगार, सुरक्षा, स्वास्थ बेहतर भविष्य के साथ खिलवाड़ किया। उस दौरान विष्णुदेव साय, महेश गागड़ा, केदार कश्यप, रामविचार नेताम ने, रमन सरकार के आदिवासी विरोधी कृत्यों का विरोध नहीं किया।  


धनंजय ने पूर्व मंत्री महेश गागड़ा से पूछा है कि,जब रमन सरकार में निर्दोश आदिवासियों को जेल में बंद किया गया, तब मौन क्यो थे? पांचवी अनुसूची क्षेत्रों को मिले कानूनी अधिकारों को दरकिनार कर ग्रामसभा के अनुमोदन के बिना हजारों आदिवासी से जमीन छीनी गई, तब विरोध क्यों नहीं किया? नक्सली बताकर आदिवासियों के मासूम बच्चों को मुठभेड़ में मार दिया गया, तब महेश गागड़ा ने विरोध क्यों नहीं किया?झलियामारी बालिका गृह में हुई बलात्कार की घटना, मीना खलखो, पेद्दागुलूर, सारकेगुड़ा की घटनाओं पर मौन क्यों थे? बस्तर क्षेत्र के युवाओं को सरकारी नौकरी से वंचित रखा गया, आउटसोर्सिंग से भर्ती कर उनके हक अधिकार को बेचा गया, तब गागड़ा मौन क्यों थे। रमन सरकार के दौरान तेंदूपत्ता संग्राहकों की लाभांश में हेराफेरी की गई,चरणपादुका खरीदने में भ्रष्टाचार किया गया, तब मौन क्यो थे? 5 लाख वनाधिकार पट्टा निरस्त किया गया था, तब कहा थे?

 

 

16-02-2020
सिद्धार्थ शुक्ला बिग बॉस 13 के बने विनर, आसिम रियाज़ को दी मात

 

मुंबई। बिग बॉस 13 के विजेता सिद्धार्थ शुक्ला बन गए है। आसिम रियाज़ को हार का सामना कराते हुए उन्होंने बिग बॉस 13 के विनर का खिताब जीता। इन्होंने बिग बॉस विनर की ट्रॉफी और 50 लाख की रकम जीती हैं। सिद्धार्थ को शुरुआत से ही शो का सबसे मशहूर प्रतियोगी मना जा रहा था। सभी प्रतियोगियों के मुकाबले सिद्धार्थ को सबसे ज्यादा वोट मिले। फिनाले में मुकाबला छह कंटेस्टेंट्स से था। फिनाले में आसिम रियाज, शहनाज गिल सिद्धार्थ शुक्ला, रश्मि देसाई, आरती सिंह, पारस छाबड़ा थे। पारस छाबड़ा 10 लाख रुपये लेकर चले गए थे, जबकि आरती सिंह को एविक्ट होना पड़ा था। शो में वो पांचवें नंबर पर रहीं। वहीं रश्मि देसाई को चौथा स्थान मिला। टॉप तीन में रश्मि, शहनाज और सिद्धार्थ पहुंचे लेकिन शहनाज गिल भी घर से बाहर हो गईं। इसके बाद मुकाबला आसिम रियाज और सिद्धार्थ शुक्ला में था लेकिन बाजी सिद्धार्थ के हाथ लगी ।

13-02-2020
कोरबा में भाजपा का सूपड़ा साफ, पांचों जनपद में कांग्रेस का कब्जा

कोरबा। 15 दिनों से चल रही सियासत आखिरकार गुरुवार को खत्म हो गई। जनपद पंचायत के अध्यक्ष की कुर्सी के लिए जोड़तोड़ की खेल के बाद गुरुवार को पांचों जनपदों में कांग्रेस ने बाजी मार ली है। पोडी ब्लॉक मेें कांग्रेस से संतोषी पेन्द्रों को 9 वोट मिले जबकि प्रतिद्वंदी प्रताप सिंह मरावी को 8 वोट मिले। इसी तरह प्रताप सिंह को 8 मत से संतुष्ट होने पड़ा। कटघोरा से कांग्रेस के लता कंवर को 9 वोट मिले तो प्रतिद्वंदी संगीता को 8 वोट मिले वहीं पाली जनपद पंचायत से कांग्रेस दिलेश्वरी कंवर निर्विरोध चुनी गई है। जनपद पंचायत करतला से कांग्रेस सुनीता कंवर 16 वोट मिले तो भाजपा से लक्ष्मीन कंवर को 8 मत हासिल हुए है। कांटे की टक्कर कहे जाने वाले कोरबा जनपद पंचायत के लिए हरेश कंवर को 13 मत, तो वही विक्की कंवर को 5 मत व भाजपा समर्थित रेणुका राठिया 4 मत व निर्दलीय 2 मत मिले। कोरबा जिले के सभी जनपद में कांग्रेस का कब्जा हो गया है और भाजपा अपना खाता भी नहीं खोल पाई।

 

13-02-2020
आम आदमी पार्टी की ऐतेहासिक जीत पर कार्यकर्ताओं ने मनाया जश्न...

 

धमतरी। जिले के कुरुद ब्लॉक के आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं कि ओर से दिल्ली पर ऐतेहासिक जीत का जश्न मनाया गया। आम आदमी पार्टी कुरुद इकाई की ओर से फटाके व पद यात्रा निकालकर जीत का जश्न मनाया गया। आप पार्टी के तेजेन्द्र तोड़ेकर ने कहा कि हमारे साथी आज बहुत खुश है और देश की जनता को भी खुश होना चाहिए कि अब देश मे काम की राजनीति चलेगी जो काम करेगा वहीं सत्ता में रहेगा अब नफरत की राजनीति, जाती धर्म की राजनीति से हटकर लोग काम पर वोट कर रहे है। आगे हम छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार के वादाखिलाफी के खिलाफ लगातार आंदोलन करते रहेंगे और जनता के लिए लड़ते रहेंगे। जीत का जश्न पार्टी के युवा विंग अध्यक्ष व कुरुद विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी तेजेन्द्र तोड़ेकर के नेतृत्व में मनाया गया। साथ ही इस कार्यक्रम में पुरुषोत्तम चंद्राकर, चेतन साखरे, संतोष मौर्यवंशी, शेखर लहरे, जनक ध्रुवंशी, भूषण साहू, गजेंद्र साहू, ललित नगारची, संतोष साहू, गजानंद साहू, राहुल ध्रुव, ईशु तारक, मिथलेश तारक, डोमन तारक, सेख अपिस खान, तरुण ध्रुव, तुलसी साहू, उपस्थित थे।

11-02-2020
दिल्ली चुनाव 2020: पटपड़गंज में मनीष सिसोदिया मात्र 74 वोट पर आगे, रुझानों में आम आदमी पार्टी को बहुमत

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के लिए मतगणना जारी है। शुरुआती रुझानों में आप-भाजपा में फिलहाल कड़ी टक्कर दिख रही है। कई सीटों पर रुझान लगातार बदल रहा है। देश की राजधानी में किसका राज होगा, दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों से आज पता चल जाएगा। हालांकि, शुरुआती रुझानों से यह स्पष्ट होने लगा है कि दिल्ली में एक बार फिर से आम आदमी पार्टी की सरकार बनती दिख रही है। 

बता दें कि दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों वाले चुनाव के लिए वोटों की गिनती सुबह 8 बजे से जारी है। वोटों की गिनती शुरू होते ही रुझान आने लगे। जैसे-जैसे रुझान आने लगे, तस्वीरें साफ होती चली गईं, जिसके मुताबिक, दिल्ली में फिर आप की सरकार बन सकती है। दिल्ली के 11 जिलों में कुल 21 मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। चुनाव आयोग के अधिकारियों ने बताया कि 33 मतगणना पर्यवेक्षकों सहित लगभग 2,600 मतगणना कर्मचारी मतगणना में शामिल हुए हैं। प्रत्येक केंद्र पर मतगणना होने तक कम से कम 500 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती है। दिल्ली में 8 फरवरी को वोटिंग हुई थी। दिल्ली चुनाव के 672 उम्मीदावारों के भाग्य का फैसला आज हो जाएगा, जिनकी किस्मत अभी ईवीएम में कैद है। 

दिल्ली चुनाव से जुड़े सारे अपडेट्स...

  • पटपड़गंज में दूसरे राउंड की गिनती में मनीष सिसोदिया मात्र 74 वोट से आगे। अब तक के रुझानों के मुताबिक, आम आदमी पार्टी 53 सीटों पर तो बीजेपी 17 सीटों पर आगे चल रही है। बल्लीमरान से आप उम्मीदवार इमरान हुसैन बीस हजार वोट से आगे।
  • दिल्ली बीजेपी चीफ मनोज तिवारी ने कहा कि रुझान इशारा कर रहे हैं कि आम आदमी पार्टी और बीजेपी में अंतर है। अभी समय है। मैं आशान्वित हैं। नतीजे जो भी आएंगे, राज्य का प्रमुख होने के नाते मैं जिम्मेदार हूं।
  • राजेन्द्र नगर विधानसभा सीट से आप के राघव चड्ढा को 4715 तो भाजपा के आरपी सिंह को मिले 2356 वोट। 2 घंटे के रुझानों में आप 51 तो बीजेपी 19 पर आगे। वही कालकाजी सीट से आम आदमी पार्टी की आतिशी पीछे चल रही हैं।
  • चुनाव आयोग के मुताबिक, 43 सीटों के रुझानों में आम आदमी पार्टी 27 तो बीजेपी 16 सीटों पर आगे चल रही है। वही तिमारपुर सीट से दिलीप पांडे आगे चल रहे हैं। वही दिल्ली चुनाव के रुझानों के मुताबिक, आम आदमी पार्टी 50 सीटों पर है तो बीजेपी 20 सीटों पर है। यहां अभी तक कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला है

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804