GLIBS
23-08-2020
गणेश भगवान की तालाब में स्थापना कर की जा रही कोरोना को हराने पूजा अर्चना

धमतरी। शहर में सत्यम गणेश उत्सव समिति बनिया तालाब आमापारा द्वारा इस साल भी तालाब में गणेश उत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। भगवान गणेश की स्थापना कर श्रद्धालुओं द्वारा विशेष पूजा अर्चना की जा रही है।
उल्लेखनीय है कि सत्यम गणेश उत्सव समिति द्वारा बनिया तालाब में पिछले 15 सालों से भगवान गणेश की प्रतिमा की स्थापना करते आ रहे हैं। समिति के कार्यकर्ता उमेश नाग, उत्तम सिन्हा ,दिनेश खिलोरिया, पप्पू पटेल और चंद्रहास यादव का कहना है कि भगवान गणेश विघ्नहर्ता है इसलिए कोरोनावायरस से भी जल्द छुटकारा मिल जाएगा। उन्होंने बताया कि बनिया तालाब का गणेश उत्सव शहर में एक आकर्षण का केंद्र बना रहता है। यहां हर साल कार्यकर्ताओं द्वारा तालाब में गणेश की स्थापना कर आने जाने के लिए रास्ता का निर्माण किया जाता है, लेकिन इस साल कोरोना के कारण समिति ने तालाब की दूरी में प्रतिमा स्थापना के बजाय नजदीक में ही स्टेज बनाकर प्रतिमा स्थापना की है। कार्यकर्ता तिलेश् सिन्हा, राजू सिन्हा, विशाल यादव, कमलेश पटेल ने बताया कि बीते सालों में समिति की ओर से बनिया तालाब में श्रीराम सेतु का निर्माण किया गया था। इसके अलावा क्षीरसागर, स्वस्तिक, डगर फूल और समुद्र मंथन की झांकी भी सजाई गई थी, जो बेहद आकर्षण का केंद्र रही। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग नियमों का पालन करते हुए इस साल गणेश उत्सव मनाया जा रहा है।

28-07-2020
कोरोना काल में भी वीआईपी कल्चर, भोरमदेव मन्दिर के गर्भगृह में आम आदमी से फैल सकता है कोरोना, नेताओं से नहीं

कवर्धा। कोरोना काल मे भी भोरमदेव मन्दिर में वीआईपी कल्चर लागू है। कोरोना को देखते हुए मंदिर में अधिक भीड़ न हो और बिना भगवान की मूर्ति को हाथ लगाए दर्शन करें इसके लिए भोरमदेव मन्दिर के गर्भगृह में जाने की अनुमति किसी को नही है। लेकिन नेता व कुछ बड़े अधिकारी गर्भगृह में जाकर ताला बंद कर पूजा अर्चना व अभिषेक तक कर रहे हैं। लेकिन कोरोना काल मे इस प्रकार भगवान को छूकर पूजा पाठ पर आम लोगों के लिए प्रतिबंध लगाया गया है। नेताओं और अधिकारियों पर कोई प्रतिबंध नहीं है। कुछ दिन पहले रायपुर से प्रदेश स्तर के बड़े नेताओं ने मंदिर के गर्भगृह में जाकर पूजा अर्चना की इस पर आम जनता भक्तों ने जमकर हंगामा किया था। इसके बाद जिले के बड़े अधिकारी के समझाने पर मामला शांत हुआ। सावन के 4थे सोमवार को भी राजनांदगांव लोक सभा के सांसद व कुछ अन्य नेताओं ने भी गर्भगृह में जाकर पूजा अर्चना की। लगता है वीआईपी कल्चर के लोगों को कोरोना वायरस नहीं होगा।

06-07-2020
शिव के प्रिय श्रावण मास में भक़्तों को घरों में ही करना पड़ रहा है अभिषेक व पूजा अर्चना

रायपुर। सावन का पहला सोमवार है। सावन के पहले सोमवार के मौके पर हर साल सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु मंदिर में भगवान शिव पर जलाभिषेक करने के लिए लंबी-लंबी कतारों में लगा रहते हैं। हालांकि, इस बार कोरोना वायरस और लॉक डाउन के कारण श्रद्धालुओं को घर पर ही भगवान शिव की आराधना करनी पड़ रही है। श्रावण का महीना भगवान शिव को बेहद प्रिय है, इसलिए इस खास माह में भगवान शिव के भक्त उनकी उपासना करते हैं। सावन सोमवार के व्रत रखें जाते है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, सावन महीने में पड़ने वाले पहले सोमवार को भगवान शिव की पूजा अर्चना करने पर सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है। कोरोना के इस काल में लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मंदिरों में जलाभिषेक करने के लिए पहुंचे हैं और पूजा-अर्चना कर रहे है। सावन सोमवार आज से प्रारंभ हो रहा है इस साल सावन के महीने में पांच सोमवार पड़ रहे हैं जो 3 अगस्त तक रहेगा।

किस-किस दिन लगेंगे सावन सोमवार
सावन का दूसरा  सोमवार 13 जुलाई को होगा। 
सावन का तीसरा सोमवार 20 जुलाई को होगा। 
सावन का चौथा सोमवार 27 जुलाई को होगा। 
सावन का पांचवा सोमवार 3 अगस्त को होगा।

20-03-2020
चैत्र नवरात्रि में राजराजेश्वरी अंबिका मंदिर में नहीं जलेगी मनोकामना ज्योति...

आरंग। छत्तीसगढ़ के प्राचीनतम एवं सिद्ध मंदिरों में से एक नवागांव स्थित राजराजेश्वरी अंबिका मातेश्वरी विश्वनाथ महादेव मंदिर में करोना वायरस से बचाव एवं सावधानी तथा शासन से प्राप्त निर्देशानुसार इस वर्ष चैत्र नवरात्रि में भक्तों के मनोकामना ज्योति नहीं जलाने का निर्णय मंदिर कमेटी द्वारा लिया गया है । मंदिर प्रमुख बालमुकुंद अग्रवाल ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि माता जी के नाम से जलने वाली राज ज्योति ही प्रज्वलित की जाएगी और मातेश्वरी की पूजा अर्चना विधिविधान से किया जायेगा। नवरात्री में मंदिर भक्तों एवं दर्शनार्थियों के दर्शन के लिए बंद रखा जाएगा। 

19-03-2020
सर्व ब्राम्हण समाज ने आयोजित किया क्षेत्रीय होली मिलन समारोह

रायपुर। अमलेश्वर महादेव घाट परिक्षेत्र सर्व ब्राम्हण समाज का परिक्षेत्र स्तरीय सामाजिक सम्मेलन व होली मिलन का आयोजन तिवारी मैरिज पैलेस में दो सत्रों में संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जिला पंचायत सदस्य मोरध्वज साहू उपस्थित थे। प्रथम सत्र में भगवान परशुराम की पूजा अर्चना से प्रारंभ सम्मेलन की अध्यक्षता प्रांताध्यक्ष ललित मिश्रा ने कि। विशेष अतिथि के रूप में सरपंच नंदनी पठारी, सरपंच मिथिलेश चौबे, पंच हिमांशु शर्मा, धनेश यादव व धर्मेंद्र साहू थे। उक्त ज़न प्रतिनिधियों का ज़न सेवा सम्मान से सम्मानित किया गया। सम्मान पश्चात समाज हित में उपस्थित विप्रजनों के विचार पश्चात निष्कर्ष के रूप में पारित प्रस्ताव में अमलेश्वर में भवन के लिए जमीन की मांग को उपस्थित ज़न प्रतिनिधियों ने सहर्ष स्वीकर कर लिया व जल्द आबंटित करने की घोषणा की।

-महादेव घाट परिक्षेत्र अध्यक्ष मोहित शर्मा, महिला अध्यक्ष रत्ना शर्मा, कार्यक्रम संयोजन गणेश शर्मा, पी. आर. टी. कॉलोनी अध्यक्ष दीलीप तिवारी, कार्यकारी अध्यक्ष गोपाल शर्मा, भूपेंद्र मिश्रा, प्रदेश पदाधिकारी-संगठन सचिव पं. ऋषि तिवारी, गिरीश दुबे, राहुल राज शर्मा, नीतीश शुक्ला, रमेश ठाकुर, नारायण शर्मा, जवाहरलाल शर्मा, विकास ठाकुर, पं. कमलेश मिश्रा ने अपने विचार व्यक्त किए।

द्वितीय सत्र में मोहित शर्मा ग्रुप ने नगाड़ा की धुन पर फागगीत की रंगारंग प्रस्तुति दी। फाग की लय व नगाड़े की धुन में थिरकते विप्रज़न ने जमकर फूलो की होली खेली व एक दूसरे से गले मिलकर बधाई दी। कार्यक्रम में मुख्य रूप से नंदनी शर्मा, मनोज शर्मा, मिहिर शर्मा, यामिनी शर्मा, पूर्णिमा पांडेय, अंजनी शर्मा, दीपक मिश्रा, वैजयंती चतुर्वेदी, हेमंत शर्मा, विजय लक्ष्मी दीवान, संतोष शर्मा, आनंद तिवारी, शशिकांत द्विवेदी, परमानंद मिश्रा, अमय  तिवारी, शारदा मिश्रा, मनीषा मिश्रा, कल्पना शर्मा, मनोहर झा, इंदु मिश्रा, सरिता शर्मा, ममता तिवारी, माधुरी शर्मा, कुलेश्वर मिश्रा सहित काफी मात्रा में विप्र जन उपस्थित थे।

 

15-03-2020
कोरोना वायरस से रक्षा के लिये किया गया हवन-पूजन.....

रायगढ़। वर्तमान में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए महामृत्यंजय मंदिर समिति ने जनहित के लिए राजीव नगर वार्ड क्रमांक- 01 मंदिर परिसर में एक विशेष हवन पूजन का आयोजन प्रातः 9 बजे किया। इस हवं पूजा के दौरान सूर्य देवता को आराध्य मानकर उनकी पूजा अर्चना की गयी। 

 

07-03-2020
उद्धव ठाकरे राम मंदिर निर्माण के लिए देंगे एक करोड़ रुपए, कहा-बीजेपी से अलग हुआ हूं, हिंदुत्व से नहीं

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे शनिवार को अयोध्या के दौरे पर पहुंचे हैं। महाराष्ट्र सरकार के 100 दिन पूरे होने के अवसर पर उद्धव ठाकरे यहां रामलला का आशीर्वाद लेने पहुंचे। अयोध्या पहुंचने पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं यहां रामलला का आशीर्वाद लेने आया हूं। पिछले डेढ़ सालों में मेरा यह तीसरा दौरा है। मैं यहां पूजा अर्चना भी करूंगा। उन्होंने कहा कि मैं बीजेपी से अलग हुआ हूं, हिंदुत्व से नहीं। बीजेपी का मतलब हिंदुत्व नहीं है। हिंदुत्व अलग है और बीजेपी अलग है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राम मंदिर निर्माण के लिए महाराष्ट्र की तरफ से एक करोड़ की धनराशि देने का एलान किया। उन्होंने कहा कि वो दिन याद है जब मेरे पिताजी यहां आए थे। महाराष्ट्र के गांव-गांव से यहां पत्थर भेजे गए हैं। बता दें कि उद्धव ठाकरे रामलला के दरबार में माथा टेकेंगे, लेकिन उद्घव न तो सरयू आरती करेंगे न ही किसी प्रकार की जनसभा होगी। कोरोना वायरस के खतरे को लेकर दोनों कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं। शिवसेना प्रवक्ता एवं राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने बताया है कि कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री भी आह्वान कर चुके हैं, गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से एडवाइजरी जारी हो चुकी है, यही नहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिल चुके हैं।

25-02-2020
शीतला माता के दर्शन के लिए उमड़े श्रद्धालु, मन्नत पूरी होने पर चढ़ाया प्रसाद

बीजापुर। नैमेड में हर वर्ष की भाँति इस वर्ष भी (मातागुडी) शीतला माता मंदिर में मेला का आयोजन मंगलवार को किया गया। इसमें आसपास कई गांव से बड़ी संख्या में भक्तगण एवं ग्रामीण पहुँचे। शीतला माता मंदिर (मातागुडी) में कई भक्तों की मन्नत पूरी होती है। मातागुडी (शीतला माता) मंदिर में गाँव के पुजारी चिन्ना ओयाम द्वारा सर्वप्रथम शीतला माता की श्रृंगार करते हैं और माता की पूजा अर्चना की जाती है। इसके बाद मेला का शुभारंभ किया जाता है। शीतला माता के दर्शन करने दूरदराज से श्रद्धालु आते हैं। भक्तगणों के मन्नत पूरी होने पर माता के चरणों में प्रसाद स्वरूप भेंट चढ़ाते हैं। कई भक्तगण बकरे एवं मुर्गे की बलि देते हैं। भक्तों एवं ग्रामीणों की सुविधा के लिए ग्राम पंचायत नैमेड् द्वारा पेयजल की व्यवस्था, धूप से बचने के लिए टेंट एवं भोजन की व्यवस्था भी की गई थी। 

 

09-02-2020
श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने की काशी विश्‍वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना

नई दिल्ली। श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने रविवार को वाराणसी में काशी विश्‍वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की। काशी विश्वनाथ मंदिर के प्रधान अर्चक डॉ श्रीकांत मिश्र ने उन्हें विशेष पूजन कराया। बता दें कि पांच दिवसीय यात्रा पर भारत आए श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे रविवार को वाराणसी पहुंचे। मिश्र ने बताया कि राजपक्षे ने श्रीलंका की समस्त जनता की सुख समृद्धि के संकल्प के साथ बाबा श्रीकाशी विश्वनाथ का षोडशोपचार विधि विधान से पूजन किया। बाबा दरबार में पूजन के बाद वह श्रीकाल भैरव मंदिर में दर्शन करने पहुंचे, जहां वह बाबा की आरती में शामिल हुए।  

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804