GLIBS
27-05-2020
छत्तीसगढ़ संभागीय लेखाधिकारी-लेखाकार संघ ने एक दिन का वेतन और 6.11 लाख मुख्यमंत्री सहायता कोष में दिए

 

रायपुर। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए छत्तीसगढ़ संभागीय लेखाधिकारी-लेखाकार संघ के सदस्यों ने अपने एक दिन के वेतन के साथ ही 6 लाख 11 हजार रुपए की सहयोग राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करायी है। संघ में भारतीय लेखा परीक्षा एवं लेखा विभाग से संबद्ध 119 सदस्य हैं। छत्तीसगढ़ संभागीय लेखाधिकारी-लेखाकार संघ ने कहा कि इस विषम परिस्थिति में छत्तीसगढ़ के शासकीय कर्मचारी संघ, औद्योगिक और व्यापारिक समूह, सामाजिक संगठनों सहित आमजन ने जिस तरह से अपने सामाजिक दायित्व को निभाया हैै, वह प्रशंसनीय है।

 

24-05-2020
सेंट्रल जोन बीमा कर्मचारियों ने वेतन से जमा राशि से मुख्यमंत्री सहायता कोष में दिए 5 लाख 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सेंट्रल जोन बीमा कर्मचारी संघ ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में 5 लाख रुपए का चेक सौंपा। सेंट्रल जोन बीमा कर्मचारी संघ के महासचिव धर्मराज महापात्र ने बताया कि ये राशि छत्तीसगढ़ के सभी बीमा कर्मचारियों ने अपने वेतन से जमा की है। इसके अलावा संघ ने कोरोना से प्रभावित प्रवासी मजदूर सहित अन्य लोगों को संगठन की ओर से फूड पैकेट व राशन किट वितरित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने सेंट्रल जोन बीमा कर्मचारी संघ के इस कार्य की सराहना करते हुए कोरोना युद्ध में योगदान दे रहे सभी प्रदेशवासियों का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर संघ से बी सान्याल और वीएस बघेल भी उपस्थित थे।

02-05-2020
भिलाई प्रौद्योगिकी संस्थान के कर्मचारियों ने दिया एक दिन का वेतन 

रायपुर। भिलाई प्रौद्योगिकी संस्थान रायपुर के कर्मचारियों ने छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी के संक्रमण से सुरक्षा और जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष में स्वेच्छा से एक दिन का वेतन कुल एक लाख रुपए प्रदान किया हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संस्थान के सभी कर्मचारियों को इस सहयोग के लिए धन्यवाद दिया है।

01-05-2020
Breaking: छत्तीसगढ़ के आईएएस इस माह भी देंगे एक दिन का वेतन,सीके खेतान ने सीएम को लिखा पत्र

रायपुर। छत्तीसगढ़ आईएएस एसोसिएशन ने पिछले माह की तरह इस माह भी एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में देने का निर्णय लिया गया है। एसोसिएशन के अध्यक्ष सीके  खेतान ने इस आशय का पत्र मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को भेजकर निर्णय से अवगत कराया है। खेतान ने मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में कहा है कि छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव और रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री की अगुवाई में लॉक डाउन की अवधि में जरुरतमंदों की सहायता के लिए कार्य किए जा रहे हैं। इन कार्यों में सभी आईएएस अधिकारी भी टीम भावना से काम कर रहे हैं। राज्य के आईएएस अधिकारियों के साथ ही चतुर्थ श्रेणी तक के कर्मचारी कोरोना संकट से निपटने में अपना योगदान दे रहे हैं। उन्होंने कहा है कि लॉक डाउन 17 मई तक के लिए केन्द्र सरकार द्वारा बढ़ाया गया है, लेकिन छत्तीसगढ़ पहले ही इस संक्रमण को सीमित रखने में सफल हुआ है। खेतान ने मुख्यमंत्री को कोरोना संक्रमण सीमित रखने में उनकी रणनिति और अथक प्रयासों की सराहना की है।

 

30-04-2020
पूरे साल का वेतन नहीं लेंगे मुकेश अंबानी,कर्मचारियों की सैलरी में भी होगी कटौती

मुंबई। कोरोना वायरस संकट के समय रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी अपने पूरे साल का वेतन छोड़ने का निर्णय किया है। वहीं कंपनी के ज्यादातर कर्मचारियों के वेतन में भी 10 से 50 फीसदी तक कटौती करने का फैसला किया गया है। इसके साथ ही कंपनी ने कर्मचारियों का सालाना बोनस भी टाल दिया है।रिफाइनरी से लेकर दूरसंचार क्षेत्र तक विविध काम करने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कर्मचारियों को भेजे एक संदेश में यह जानकारी दी। संदेश में लिखा है, ‘हमारे हाइड्रोकार्बन कारोबार पर काफी दबाव है। इसलिए हमें अपनी लागत को युक्तिसंगत बनाना होगा और हम सभी क्षेत्रों में लागत कटौती कर रहे हैं। वर्तमान स्थिति की मांग है कि हम अपनी परिचालन लागत और तय लागत हो युक्ति संगत बनाएं और सभी को इसमें योगदान करने की जरूरत है।’अंबानी अपने पूरे साल का 15 करोड़ रुपये का वेतन छोड़ रहे हैं। कार्यकारी निदेशक, कार्यकारी समिति के सदस्यों समेत रिलायंस के निदेशक मंडल के सदस्यों का वेतन 30 से 50 फीसदी तक काटा जाएगा। जिन कर्मचारियों का पैकेज 15 लाख रुपये से कम है उनके वेतन में कोई कटौती नहीं जाएगी। लेकिन इससे ऊपर की आय वालों के वेतन में 10 फीसदी की कटौती होगी।

 

27-04-2020
निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित पाये गए सचिव का एक दिन का वेतन कटा

 

दुर्ग। कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए मूलभूत सेवाओं के क्रियान्वयन के लिए सप्ताह के प्रत्येक मंगलवार, गुरुवार तथा शनिवार को प्रत्येक ग्राम पंचायत सचिव को अपने प्रभार के ग्राम पंचायत कार्यालय मे उपस्थित रहने के लिए निर्देशित किया गया है। जनपद पंचायत सीईओ दुर्ग ने 23 अप्रैल गुरुवार को ग्राम पंचायत महमरा जनपद पंचायत दुर्ग का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण दिनांक को अरुण कुमार देशमुख सचिव ग्राम पंचायत महमरा ग्राम पंचायत कार्यालय से अनुपस्थित पाए गए। इस लापरवाही के चलते देशमुख के एक दिन का वेतन काटने का निर्णय लिया गया है।

 

27-04-2020
औद्योगिक क्षेत्रों के कर्मचारी व श्रमिकों को समय पर वेतन देने के लिए 14 करोड़ 8 लाख रूपए का भुगतान

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और श्रम मंत्री डाॅ. शिव कुमार डहरिया के निर्देश पर कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण के रोकथाम के लिए घोषित लाॅकडाउन से उत्पन्न परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए श्रम विभाग के सचिव सोनमणी बोरा के मार्गदर्शन में रायपुर जिले के विभिन्न औद्योगिक संस्थानों-नियोजकों-प्रबंधकों से समन्वय कर औद्योगिक संस्थानों में कार्यरत 12 हजार 854 कर्मचारियों-श्रमिकों को 14 करोड़ 7 लाख 72 हजार 595 रूपए का भुगतान कराया गया है। श्रम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि श्रम मंत्री डाॅ. शिव कुमार डहरिया के निर्देश पर प्रदेश के विभिन्न औद्योगिक संस्थानों में कार्यरत कर्मचारियों-श्रमिकों को समय पर वेतन भुगतान कराए जाने के लिए पहल की है। इसके लिए श्रम विभाग संस्थानों, नियोजकों के संचालकों व प्रबंधकों से समन्वय कर कर्मचारियों और श्रमिकों की देख—रेख तथा समय पर वेतन भुगतान आदि के लिए टीम गठित किया गया है। श्रम विभाग के गठित अधिकारियों के दल द्वारा रायपुर जिले स्थित विभिन्न औद्योगिक संस्थानों, नियोजकों-प्रबंधकों से समन्वय कर इन संस्थानों में कार्यरत कर्मचारियों-श्रमिकों के माह मार्च 2020 के पारिश्रमिक भुगतान करा दी गई है। इनमें जिले के 12 हजार 854 कर्मचारियों और श्रमिकों को लगभग 14 करोड़ 8 लाख रूपए का भुगतान किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि इनमें जीआर मेटालिक एण्ड इंडस्ट्रिज प्राईवेट लिमिटेड सिलतरा, रायपुर में कार्यरत एक हजार 163 कर्मचारियों -श्रमिकों को 14 लाख 79 हजार 970 रूपए, जीआर स्पंज एण्ड पावन लिमिटेड सिलतरा के 295 कर्मचारियों-श्रमिकों को 47 लाख 23 हजार 898 रूपए, एनआर स्पंज प्राईवेट लिमिटेड सिलतरा के 235 कर्मचारियों-श्रमिकों को 35 लाख 55 हजार 27 रूपए, जीआर स्पंज एण्ड पावर लिमिटेड रायपुर के 171 कर्मचारियों-श्रमिकों को 16 लाख 41 हजार 378 रूपए और हिन्दुस्तान क्वाईल्स प्राईवेट लिमिटेड सितलरा के 190 कर्मचारियों-श्रमिकों को 31 लाख 29 हजार रूपए का भुगतान कराया गया है।

इसी तरह महामाया स्पंज प्राईवेट लिमिटेड के 35 कर्मचारियों-श्रमिकों को 9 लाख 36 हजार रूपए, देवी आयरण एण्ड पावर प्राईवेट लिमिटेड ग्राम टाड़ा सिलतरा 205 के कर्मचारियों-श्रमिकों को 33 लाख 50 हजार रूपए, स्कवायर फुड्स, गोंदवारा रायपुर के 250 कर्मचारियों-श्रमिकों को 50 लाख 36 हजार 223 रूपए, इस्पात इंडिया सिलतरा रायपुर के 347 कर्मचारियों-श्रमिकों को 30 लाख 24 हजार 474 रूपए, रियल इस्पात एण्ड पावन लिमिटेड बोरझारा रायपुर के 759 कर्मचारियों-श्रमिकों को एक करोड़ 33 लाख 71 हजार 642 रूपए, पीडी इंडस्ट्रिज प्राईवेट लिमिटेड सिलतरा के 180 कर्मचारियों-श्रमिकों को 21 लाख 49 हजार 543 रूपए, प्रयाश स्टील प्राईवेट लिमिटेड सिलतरा के 73 कर्मचारियांे-श्रमिकों को 6 लाख 73 हजार 509 रूपए, ड्रोलिया इलेक्ट्रोटेल प्राईवेट लिमिटेड सिलतरा के 416 कर्मचारियों-श्रमिकों को 66 लाख 50 हजार रूपए और एसकेएस इस्पात प्राईवेट लिमिटेड सिलतरा के 232 कर्मचारियों-श्रमिकों को 45 लाख 50 हजार रूपए का भुगतान नियोजकों के साथ विभागीय समन्वय से दिलाया गया है।इसी तरह लहरी लेमिनेट्स प्राईवेट लिमिटेड हीरापुर रायपुर के 62 कर्मचारियों-श्रमिकों को 7 लाख 56 रूपए, शिवालय इस्पात एण्ड पावर प्राईवेट लिमिटेड बोरझरा के 197 कर्मचारियों-श्रमिकों को 29 लाख 83 हजार 577 रूपए, एपीआई इस्पात एण्ड पावर प्राईवेट लिमिटेड सिलतरा के 667 कर्मचारियों-श्रमिकों को एक करोड़ 16 लाख 41 हजार 648 रूपए, हीरा पावर एण्ड स्टील लिमिटेड  के 716 कर्मचारियों-श्रमिकों को एक करोड़ 29 लाख 16 हजार 195 रूपए, गोदावरी पावर एण्ड इस्पात लिमिटेड सिलतरा के 4037 कर्मचारियों-श्रमिकों को 9 करोड़ 32 लाख 79 हजार 961 रूपए, शिवम स्टील कार्पाेरेशन सांकरा सिलतरा के 170 कर्मचारियो-श्रमिकों को 33 लाख 12 हजार 950 रूपए, नंदन स्टील एण्ड पावर लिमिटेड सिलतरा के 571 कर्मचारियों-श्रमिकों को 95 लाख 19 हजार रूपए और हाईटेक पावर एण्ड इंडस्ट्रिज लिमिटेड तिल्दा के 483 कर्मचारियों-श्रमिकों को 54 लाख रूपए तथा वंदना ग्लोबल प्राईवेट लिमिटेड सिलतरा के 1400 कर्मचारियों-श्रमिकों को माह मार्च तक का वेेतन एक करोड़ 75 लाख 63 हजार 446 रूपए का भुगतान कराया गया है।

 

25-04-2020
 मालिकों ने रोक दिया था श्रमिकों का वेतन, श्रम विभाग से हुई शिकायत तो 334 को मिला वेतन

रायपुर/मुंगेली। श्रम विभाग के सचिव एवं नोडल अधिकारी सोनमणि बोरा के निर्देश पर दुर्ग और मुंगेली जिले में कार्यरत 334 श्रमिकों को 50 लाख 96 हजार रूपए का वेतन भुगतान कराया गया। श्रम विभाग को श्रमिकों की ओर से मिली शिकायत पर विभाग के अधिकारियों ने संबंधित संस्थानों एवं नियोजकों से समन्वय और परीक्षण कर श्रमिकों का वेतन भुगतान कराया गया है। इसमें शिवालिक इंडिया लिमिटेड, हथखोज भिलाई, जिला दुर्ग में कार्यरत 231 श्रमिकों को माह मार्च 2020 का वेतन 42 लाख 6 हजार रूपए का भुगतान बैंक के माध्यम से करा दिया गया हैं। वहीं मुंगेली जिले के पदमावती गुड़ फैक्ट्री मुंगेली में कार्यरत 103 श्रमिकों को श्रम विभाग के अधिकारियों की मदद से लगभग 8 लाख 90 हजार रूपए का भुगतान कराया गया।

 

24-04-2020
एपीडेमिक डिजीज एक्ट के उल्लघंन पर उप अभियंता की वेतन वृद्धि रूकी

कोरिया। कलेक्टर डोमन सिंह ने एपीडेमिक डिजीज एक्ट-1987 के उल्लघंन पर उप संभाग खड़गवां में ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के उप अभियंता अंकित जैन की आगामी एक वेतनवृद्धि असंचयी प्रभाव से रोकने का आदेश जारी किया है। कोरोना वायरस (कोविड-।9) के संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए अन्य जिले व प्रदेश से आने वाले व्यक्तियों के प्रवेश को नियंत्रित करने, सम्यक जांच, अत्यावश्यक वस्तुओं के परिवहन को सुगम बनाने एवं शासन से प्राप्त दिशा-निर्देशों का पालन करवाने ग्राम कोड़ा स्थित अंतर्जिला बेरियर में टीम के साथ कार्य करने कलेक्टर डोमन सिंह के द्वारा आदेशित गया था। जो निरीक्षण के दौरान 4 अप्रैल एवं 5 अप्रैल को अपने कार्य से अनुपस्थित पाये गये। इस कारण कार्य प्रभावित हुआ है, जो एपीडेमिक डिजीज एक्ट-1987 का उल्लघंन है एवं भारतीय दंड संहिता 1860 की धारा 188 के तहत दण्डनीय अपराध की श्रेणी में आता है। इस संबंध में कारण बताओ सूचना पत्र जारी जवाब चाहा गया। परन्तु जवाब प्रस्तुत नहीं करने पर छत्तीसगढ़ सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम - 1966 के नियम-10 (चार) के अन्तर्गत अंकित जैन की आगामी एक वेतनवृद्धि असंचयी प्रभाव से रोके जाने का आदेश कलेक्टर द्वारा जारी किया गया है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804