GLIBS
01-09-2020
नोटबंदी से शुरू हुई थी अर्थव्यवस्था की बर्बादी, फिर लगा दी केंद्र सरकार ने गलत नीतियों की लाइन : राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की गिरावट के बाद केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था की बर्बादी नोटबंदी से शुरू हुई थी तब से सरकार ने एक के बाद एक गलत नीतियों की लाइन लगा दी। बता दें कि सरकार की ओर से सोमवार को जारी आंकड़े के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2020-21 की अप्रैल-जून तिमाही में अथर्व्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की अब तक की सबसे बड़ी तिमाही गिरावट आई है। इस दौरान कृषि को छोड़कर विनिर्माण, निर्माण और सेवा समेत सभी क्षेत्रों का प्रदर्शन खराब रहा है। सबसे अधिक प्रभाव निर्माण उद्योग पर पड़ा है। जो 50 प्रतिशत से भी अधिक गिरा है।राहुल गांधी ने ट्विटर पर जीडीपी के -23.9 होने पर केंद्र की नीतियों को लेकर लिखा, "देश की अर्थव्यवस्था की बर्बादी नोटबंदी से शुरू हुई थी तब से सरकार ने एक के बाद एक गलत नीतियों की लाइन लगा दी।"

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के आंकड़े के अनुसार सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में इससे पूर्व वर्ष 2019-20 की इसी तिमाही में 5.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिये 25 मार्च से पूरे देश में ‘लॉकडाउन’ (बंद) लगाया था। इसका असर अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों पर पड़ा है। विनिर्माण क्षेत्र में सकल मूल्य वर्धन (जीवीए) में 2020-21 की पहली तिमाही में 39.3 प्रतिशत की गिरावट आयी जबकि एक साल पहले इसी तिमाही में इसमें 3 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। हालांकि कृषि क्षेत्र में इस दौरान 3.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई। एक साल पहले 2019-20 की पहली तिमाही में 3 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। 

 

17-08-2020
एक परिवार की परिक्रमा करने वालों से भाजपा को पुरुषार्थ का प्रमाण पत्र नहीं चाहिए : उपासने

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ.मोहन भागवत और संघ-भाजपा के रिश्तों पर की गई टिप्पणियों को कांग्रेस पर निशाना साधा है। उपासने ने कहा कि जिनका समूचा पराक्रम एक परिवार और पदों की लालसा में सत्ता केंद्रों की परिक्रमा में ही खर्च हो रहा है, उनसे भाजपा के कार्यकर्ताओं को पराक्रम और पुरुषार्थ का प्रमाण पत्र नहीं चाहिए।उपासने ने सवाल किया कि सरसंघचालक डॉ. भागवत के छत्तीसगढ़ प्रवास को लेकर कांग्रेस नेताओं के पेट में मरोड़ क्यों उठने लगे हैं? सरसंघचालक डॉ. भागवत संघ कार्य और अनुषांगिक संगठनों की गतिविधियों पर चर्चा के लिए देशभर के सभी राज्यों में संघ की व्यवस्था के अनुसार प्रवास करते हैं और इसी क्रम में वे इस बार छत्तीसगढ़ के प्रवास पर हैं।

उपासने ने कहा कि चूँकि भाजपा के अधिकांश कार्यकर्ता संघ के विचारों और कार्यों से जुड़े हैं और इसी सिलसिले में सरसंघचालक और भाजपा नेताओं की चर्चा हुई है तो कांग्रेस उसे राजनीतिक रंग देकर खुद को हँसी का पात्र बना रही है। उपासने ने कहा कि संघ और भाजपा के रिशतों की फिक्र करने के बजाय कांग्रेस अपने खानदानी नेताओं के चीन और देश में पल रहे अलगाववादियों से रिश्तों पर शोध करें और बताएँ कि कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व और दुश्मन देशों के बीच का वह रिश्ता क्या कहलाता है जिसके चलते राजीव गांधी फाउंडेशन के लिए चीन से पैसा लिया जाता है और पाकिस्तान की हरकतों का जवाब देने पर देश की सेनाओं पर सवाल दागा जाता है। कांग्रेस नेताओं को समाचार पत्रों और विभिन्न मीडिया माध्यमों से पहले अपनी जानकारी दुरुस्त कर लेनी चाहिए उसके बाद अपना मुँह खोलना चाहिए।

16-08-2020
राहुल गांधी का बड़ा बयान, कहा-फेसबुक-व्‍हाट्सएप पर भाजपा-आरएसएस का कंट्रोल

नई दिल्‍ली। एक विदेशी न्‍यूज पेपर में छपी खबर का हवाला देते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष व सांसद राहुल गांधी ने बीजेपी और और आरएसएस पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने आरोप लगाया है कि ये दोनों संगठन भारत में फेसबुक और व्हाट्सएप को कंट्रोल करते हैं। वे इसके माध्यम से फर्जी खबरें और नफरत फैलाते हैं। साथ ही इसका इस्तेमाल देश के वोटर्स को प्रभावित करने के लिए भी किया जा रहा है। उन्होंने अपने ट्विटर पर इस खबर को भी शेयर किया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा कि भाजपा और आरएसएस ने भारत में फेसबुक और वाट्सएप को अपने नियंत्रण में रखा हुआ है। वे इसके माध्यम से फर्जी खबरें और नफरत फैलाते हैं और इसका इस्तेमाल मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए करते हैं। कांग्रेस नेता ने आगे लिखा कि आखिरकार, अमेरिकी मीडिया ने फेसबुक के बारे में सच्चाई को सामने लाया है।

बता दें कि द वॉल स्‍ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि फेसबुक जान-बूझकर भाजपा नेताओं की 'हेट स्‍पीच' वाली पोस्‍ट्स के खिलाफ ऐक्‍शन नहीं लेता। इस रिपोर्ट के बाद फेसबुक ने भाजपा नेता टी.राजा सिंह के उस पोस्ट को हटाया, जिसे लेकर द वॉल स्‍ट्रीट जर्नल में रिपोर्ट प्रकाशित हुई थी। रिपोर्ट में तेलंगाना के भाजपा विधायक टी राजा सिंह की एक पोस्‍ट का हवाला दिया गया था,जिसमें फेसबुक के नियमों का उल्लघंन हुआ था।
वहीं इस मामले में कांग्रेस नेता जयराम नरेश ने फेसबुक पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि सामाजिक संस्कृति और उचित बहस के लिए फेसबुक बहुत बड़ा खतरा है। उन्होंन संसद से आग्रह किया फेसबुक की कार्यशैली की जांच करे। दिग्विजय ने लिखा कि मार्क जकरबर्ग कृपया इस पर बात करें।

 

30-07-2020
सुंदरानी ने कहा, अपनी पीठ थपथपाने वाली प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण की रोकथाम में विफल

रायपुर। प्रदेश के कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए पूर्व विधायक श्रीचंद सुंदरानी ने सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर सरकार को कोरोना रोकने में विफल बताया है। सुंदरानी ने कहा कि, अपनी पीठ थपथपाने वाली भूपेश सरकार सफल होने का दावा करने वाली यह सरकार ना पीएचक्यू को, न थानों न निगम के जोन कार्यालय को बचा पाई। यहां तक कि मुख्यमंत्री निवास भी अछूता नहीं रहा। कांग्रेस पार्टी अपने अध्यक्ष के परिवार को भी महामारी से नहीं बचा पाए, यह सरकार कोरोना मामले में विफल रही।

27-07-2020
Video: जांजगीर में शहीदों की पूण्यतिथि में गलत फोटो लगाने के मामले ने पकड़ा राजनैतिक तूल

जांजगीर चांपा। 23 जुलाई को जिला कांग्रेस ने शहीद चन्द्रशेखर आजाद की जयंती मनाई लेकिन फ्लैक्स में शहीद भगत सिंह की तस्वीर थी। अब इस श्रद्धांजलि कार्यक्रम की तस्वीर वायरल हो रही है और इसे लेकर सियासत तेज हो गई है। यहां भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने हैं। भाजपा ने जिला कांग्रेस और जिलाध्यक्ष पर निशाना साधा है। बीजेपी विधायक नारायण चन्देल ने कहा कि शहीदों की जयंती और पुण्यतिथि का कांग्रेस के नेताओं को अध्ययन करना चाहिए। जयंती अन्य शहीद की और फोटो किसी अन्य शहीद का। इसका समाज में अच्छा सन्देश नहीं जाता। ऐसे में कांग्रेस नेताओं को भगवान सद्बुद्धि दे। वहीं बीजेपी के कटाक्ष के बाद इस मुद्दे पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष चौलेश्वर चन्द्राकर ने कहा है कि कांग्रेस, हमेशा से शहीदों का सम्मान करती है। प्रिंटर्स में गूगल से फोटो ली गई थी। भूलवश, फोटो लगी है, इसका हमें खेद है। कांग्रेस, सभी शहीदों को नमन करती है। उन्हें याद करने आयोजन किया गया था। बीजेपी, कुत्सित मानसिकता के तहत आलोचना कर रही है।

22-07-2020
साय ने कहा, पीएम से अधिकार मांगकर सीएम ने डीएम को सौंप दिया, सरकार कब सक्रिय भूमिका में नजर आएगी?

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर प्रदेश सरकार पर फिर जमकर निशाना साधा और सवाल किया है कि राज्य सरकार सात दिनों के लॉक डाउन में कोरोना की रोकथाम के लिए कौन-कौन-से प्रभावी कदम उठा रही है? साय ने कटाक्ष किया कि प्रदेश के सीएम (मुख्यमंत्री) ने लॉक डाउन आदि का अधिकार पीएम (प्रधानमंत्री) से मांगकर वह अधिकार डीएम (जिला कलेक्टर्स) को सौंप दिया! आखिर प्रदेश सरकार कोरोना की रोकथाम के लिए कब सक्रिय भूमिका में नजर आएगी?  लॉक डाउन पूरे प्रदेश में एकसाथ घोषित करने की जरूरत थी। मौजूदा व्यवस्था में न तो कोरोना संक्रमण पर प्रभावी रोक लगेगी और न ही लॉक डाउन को कोई औचित्य रह जाएगा।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष साय ने कहा कि कोरोना संक्रमण की शुरूआत से ही उसकी रोकथाम के व्यापक प्रबंध करना प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी थी, लेकिन अपनी इस जिम्मेदारी से मुँह मोड़े बैठी रह। प्रदेश सरकार ने न तो टेस्टिंग लैब की संख्या बढ़ाने की चिंता की और न ही पर्याप्त उपचार के लिए कोविड-19 अस्पतालों को लेकर संजीदा दिखी। राजधानी के मेकाहारा अस्पताल से एक कोरोना संक्रमित मरीज की फरारी पर तंज कसते हुए साय ने कहा कि न तो उसने कोरोना और लॉक डाउन अवधि में परेशान लोगों की सहायता का कोई काम किया, न जरूरतमंद श्रमिकों व गरीबों के खाते में एक रुपया तक जमा कराया और न ही प्रवासी श्रमिकों की वापसी के मामले में संवेदनशील रही।

09-07-2020
रमन ने कहा, विकास की चिड़िया पता नहीं छत्तीसगढ़ में डेढ़ साल से कहां उड़ रही है?

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कांग्रेस सरकार पर विकास की चिड़िया को लेकर निशाना साधा है। चुनाव के पूर्व विकास की चिड़िया के नाम से कांग्रेस ने भाजपा सरकार को घेरने की कोशिश की थी। डॉ. रमन सिंह ने ट्वीट किया कि, "विकास की चिड़िया" पता नहीं छत्तीसगढ़ में डेढ़ साल से कहां उड़ रही है? न सड़क, न अस्पताल, न स्कूल, न कॉलेज, न रोजगार, न शराबबन्दी, न समर्थन मूल्य, न रोजगार भत्ता, न भर्ती, न बकाया बोनस। वो चश्मा और आईना कहाँ गया जिसमें यह सब दिखता है भूपेश बघेल जी।

02-07-2020
रमन सिंह ने भूपेश बघेल से पूछा- क्या हुआ तेरा वादा? वो गंगाजल वाली कसम, वो नवा छत्तीसगढ़ का इरादा?...

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर विधानसभा चुनाव के पूर्व किए वादों और उनके पूरे नहीं होने पर सवाल किया है। रमन सिंह ने ट्वीट कर शायराना तरीके से निशाना साधा है। उन्हों पूछा कि क्या हुआ तेरा वादा? वो गंगाजल वाली कसम, वो नवा छत्तीसगढ़ का इरादा? सत्ता मिलते ही युवाओं को दरकिनार करने वाले मुखिया भूपेश बघेल ने सिर्फ शराबियों से किया गुप्त वादा निभाया है। राहुल गांधी के प्रिय मुखिया सत्ता प्राप्ति के बाद तन-मन-समर्पण से शराब बिक्री में लगे हुए हैं।रमन सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पुराने ट्वीट को शेयर किया है, जिसमें प्रदेश में सरकारी शिक्षकों के खाली पड़े 60 हजार पदों और लेक्चरर के 13 हजार पदों पर भर्ती पर सवाल किया गया था।

29-06-2020
पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर कांग्रेस ने किया केंद्र सरकार पर वार

कांकेर। पेट्रोल-डीजल के मूल्यों में लगातार वृद्धि के चलते प्रदेश कांग्रेस के निर्देश पर जिला कांग्रेस कमेटी कांकेर के द्वारा आयोजित धरना कार्यक्रम में कांग्रेस नेताओं ने केन्द्र के मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा।धरना को सम्बोधित करते हुए जिला संगठन प्रभारी पियुष कोसरे ने कहा कि मोदी सरकार के कुनीति के चलते आज डीजल पेट्रोल के मूल्यों में बेहाताशा वृद्धि हुई है जबकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत पिछले 15 वर्षों में सबसे कम है, इसके बावजूद सरकार लगातार पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाकर आम जनता को इस कोरोना काल में राहत देने की बजाय परेशान करने में लगी है।

सभा को जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुभद्रा सलाम, जिला पंचायत अध्यक्ष हेमंत ध्रुव, उपाध्यक्ष हेमनारायण गजबल्ला, केडी मिश्रा, नितिन पोटाई, गिरवर साहू, कमला गुप्ता, विजय ठाकुर, नीरा साहू, बीरेश ठाकुर, चमन साहू सहित अन्य नेताओं ने भी सम्बोधित करते हुए केन्द्र की मोदी सरकार के उपर जमकर बरसे। धरना के पश्चात जिला कांग्रेस कमेटी के द्वारा  राष्ट्रपति के नाम जिला प्रशासन की ओर से नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा गया। 

28-06-2020
चीन के प्रति अपने रुख से बेनकाब हुई कांग्रेस, देश को भरमाने की कोशिश नाकाम : संजय श्रीवास्तव

रायपुर। सांसद सरोज पांडेय के चीन दौरे की पुरानी तस्वीर पोस्ट करने के मामले में भाजपा प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कांग्रेस पर निशाना साधा है। संजय ने कहा कि सांसद सरोज पांडेय के चीन दौरे की एक छह साल पुरानी फोटो डालकर उसे हाल की ही तस्वीर बताकर कांग्रेस देश को भरमाने और एक बार फिर झूठ का रायता फैलाकर अपने उस राजनीतिक चरित्र पर पर्दा डालने की नाकाम कोशिश कर रही है। सांसद पांडेय के चीन दौरे को लेकर प्रश्न खड़ा करने का कांग्रेस के पास कोई नैतिक साहस ही नहीं है। श्रीवास्तव ने कहा कि चीन के प्रति अपने रुख के बेनकाब होने से कांग्रेस खिसियानी बिल्ली की तरह खम्भा नोचने लगी है और उन सवालों के जवाब देने से बचना चाह रही है जो हालिया खुलासों से कांग्रेस के लिए गले की हड्डी बन गए हैं। कांग्रेस पहले भी कई मौकों पर ऐसी कई फोटो ट्वीट करके देश को भरमाने की शर्मनाक कोशिशें कर चुकी हैं जो बाद में जाँच के दौरान किसी और देश की तस्वीरें निकलीं। कांग्रेस के नेता उन तस्वीरों को भारत की बताकर केंद्र सरकार को बदनाम करने का प्रयास कर चुके हैं लेकिन हर बार उन्हें ही मुँह की खानी पड़ी है।

संजय ने कहा कि सरोज पांडेय की फोटो ट्वीट करके कांग्रेस के नेता लाख कोशिशों के बावजूद कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व को चीन से चंदा लेने और चीन के राजदूत व नेताओं से गुप्त मिलन के अपराध से मुक्त नहीं कर पाएंगे और उन्हें देश को बताना ही होगा कि राजीव गांधी फाउंडेशन के लिए चीन से चंदा किन शर्तों पर लिया गया था और चीन से चंदा लेने की उसकी ऐसी क्या विवशता थी? कांग्रेस नेतृत्व को इस बात का जवाब भी देश को देना ही होगा कि प्रधानमंत्री सहायता कोष से भी इस फाउंडेशन को राशि किस आधार पर दी गई और इस गंभीर अपराध के लिए कौन जिम्मेदार है? सन 1991-92 के आम बजट में इस फाउंडेशन को 100 करोड़ देने की घोषणा तत्कालीन केंद्रीय वित्त मंत्री मनमोहन सिंह ने किसके कहने पर की थी?

25-06-2020
राजनीतिक स्वार्थों के लिए देश पर थोपा गया था आपातकाल : कृष्णबिहारी जायसवाल

कोरिया। भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष कृष्ण बिहारी जायसवाल ने देश में आपातकाल की 45वीं बरसी पर गुरुवार को भाजपा कार्यालय में प्रेसवार्ता बुलाकर कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने इसे इतिहास का काला अध्याय बताया। उन्होंने कहा कि राजनीतिक स्वार्थों की पूर्ति के लिए देश पर थोपा आपातकाल वर्ष 1975 आज ही के दिन निहित राजनीतिक स्वार्थों की पूर्ति के लिए तत्कालीन सरकार द्वारा थोपा गया था। आपातकाल की घोषणा कर सरकार के खिलाफ बोलने वालों को जेल में डाल दिया गया था। देशवासियों के मूलभूत अधिकार छीनकर अखबारों के दफ्तरों पर ताले लगा दिए गए थे। बता दें कि आज पूरे देश में भारतीय जनता पार्टी इसे काला दिवस के रूप में मना रही है। प्रेसवार्ता में पूर्व मंत्री भैयालाल राजवाड़े,चंपादेवी पावले, देवेंद्र तिवारी,पंकज गुप्ता तीरथ राजवाड़े एवं वरिष्ठ पदाधिकारी उपस्थित थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804