GLIBS
24-04-2020
नक्सलियों को सामान व पैसा पहुंचाने वाले ठेकेदार सहित 5 लोग गिरफ्तार

कांकेर। नक्सलियों को सामान एवं पैसा पहुंचाने वाले राजनांदगांव के ठेकेदार सहित 5 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी अनुसार एक निजी कंपनी बिलासपुर के निशांत जैन एवं निजी कंपनी राजनांदगांव के वरुण के नाम से कांकेर जिला में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत नक्सलप्रभावित क्षेत्र अन्तागढ़, आमाबेड़ा, सिकसोड़, कोयलीबेड़ा में सड़क निर्माण कार्य अजय जैन व कोमल वर्मा के द्वारा करवाये जा रहे थे। इसके कारण वे नक्सलियों के सम्पर्क में आए जिसके बाद वे नक्सलियों को सामान व पैसा पहुंचाने लगे व भारी मात्रा में नक्सलियों के लिए वर्दी, जूता, वाकी-टाकी सेट व अन्य सामाग्री नक्सलियों तक पहुँचा रहे थे।

इसका आज पर्दाफाश करते हुए कोयलीबेड़ा के सिकसोड़ से कांकेर पुलिस 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें अजय जैन कौरीभाठा राजनांदगांव, कोमलप्रसाद वर्मा टेलीटोला टप्पा राजनांदगांव, रोहित नाग हेटारकसा कोयलीबेड़ा, सुशील शर्मा बिहारगढ़ उत्तरप्रदेश, सुरेश शरणागत पाडेवारा बालाघाट शामिल है। एक आरोपी पहले ही बोलेरो वाहन में नक्सलियों के लिए सामान पहुँचाते पकड़ाया है, जिसके बाद बाकी लोगों की गिरफ्तारी हुई है। इसकी जानकारी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांकेर पुलिस अधीक्षक एमआर अहिरे द्वारा दी गई।

24-03-2020
Breaking: नक्सलियों ने की सड़क निर्माण में लगे ठेकेदार की हत्या,वाहनों को किया आग के हवाले

बीजापुर। नक्सलियों ने मंगलवार को कायराना हरकत को अंजाम दिया है। नक्सलियों ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के पेटी ठेकेदार की हत्या कर दी। जिला मुख्यालय के आवापल्ली के पास चेरकडोडी से भण्डारपल्ली के बीच प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत सड़क निर्माण किया जा रहा था। इस दौरान वहां काम करवा रहे पेटी कांट्रेक्टर शेखर की नक्सलियों ने हत्या कर दी। साथ ही दो वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया। 

 

 

17-02-2020
सड़क निर्माण में लगे वाहनों में आगजनी,3 टिप्पर और 1 मिक्चर मशीन क्षतिग्रस्त

बलरामपुर। सरगुजा संभाग की सरहद पर प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में लगे चार वाहनों को अज्ञात तत्वों ने आग के हवाले किया है। बलरामपुर जिले और झारखंड की सरहद पर बसे बन्दरचुआ में चल रहे सड़क निर्माण में लगे वाहनों पर आगजनी की घटना हुई। आईजी रतनलाल डांगी ने आगजनी की घटना की पुष्टि की है। इसके साथ ही आईजी ने जिले के पुलिस कप्तान टीआर कोशिमा को घटनास्थल पर भेजा है और घटनाक्रम की वृस्तृत जानकारी जुटाई जा रही है।
मिली जानकारी के अनुसार सामरी थाना क्षेत्र के बन्दरचुआ कैम्प से महज 5 किलोमीटर दूर प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनाए जा रहे पहुँच मार्ग का काम कराया जा रहा है। सड़क निर्माण में लगे 4 वाहनों में अज्ञात तत्वों द्वारा आग के हवाले कर दिया गया। इसकी पुष्टि करते हुए आईजी सरगुजा ने कहा है कि इस घटना में 3 टिप्पर और 1 मिक्चर मशीन में आग लगाई गई है। मौके पर पुलिस कप्तान टीआर कोशिमा के नेतृत्व में पुलिस बल भेजा गया है। जिस इलाके में यह आगजनी की घटना हुई है वह क्षेत्र नक्सल प्रभावित है। पुलिस इस घटना की जांच में जुटी है।

 

14-02-2020
विधानसभा बजट सत्र 24 फरवरी से, प्रश्नों को रायपुर पहुँचाने विभागों को दी गई जिम्मेदारी

कोरिया। कलेक्टर ने छत्तीसगढ़ विधानसभा बजट सत्र 24 फरवरी से 1 अप्रैल के दौरान कलेक्टर कार्यालय से विधानसभा प्रष्नों के उत्तर समय सीमा में प्राप्त कर रायपुर पहुंचाने और प्रश्न रायपुर से लाने के लिए विभागों को जिम्मेदारी दी है। उन्होने 2 मार्च के लिए आदिवासी विकास विभाग, 3 मार्च के लिए आबकारी विभाग, 4 मार्च के लिए शिक्षा विभाग, 5 मार्च के लिए श्रम विभाग, 6 मार्च के लिए जिला योजना एवं सांख्यिकी विभाग, 7 मार्च के लिए जिला खनिज विभाग, 9 मार्च के लिए भू-अभिलेख विभाग, 11 मार्च के लिए जिला पंचायत, 12 मार्च के लिए जिला कोशालय, 13 मार्च के लिए लोक स्वास्थ्य योजना विभाग, 16 मार्च के लिए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना एवं 17 मार्च के लिए वनमंडल बैकुण्ठपुर को विधानसभा प्रश्नों के उत्तर समय सीमा में प्राप्त कर रायपुर पहुंचाने और प्रश्न रायपुर से लाने के लिए जिम्मेदारी दी है। इसी तरह 18 मार्च के लिए जल संसाधन विभाग, 19 मार्च के लिए खाद्य विभाग, 23 मार्च के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग, 24 मार्च के लिए पशु चिकित्सा विभाग, 25 मार्च के लिए आयुर्वेद विभाग, 26 मार्च के लिए समाज कल्याण विभाग, 27 मार्च के लिए खेल विभाग, 28 मार्च के लिए गृह निर्माण विभाग, 30 मार्च के लिए सर्व शिक्षा अभियान विभाग, 31 मार्च के लिए स्वास्थ्य विभाग और 1 अप्रैल के लिए अन्त्यावसायी विभाग को विधानसभा प्रष्नों के उत्तर समय सीमा में प्राप्त कर रायपुर पहुंचाने और प्रश्न रायपुर से लाने के लिए जिम्मेदारी दी है।

12-02-2020
गांव में कलेक्टर ने बिताई रात, जानी आदिवासी जीवन शैली

धमतरी। नगरी विकासखण्ड में पर्यटन की दृष्टिकोण से तेजी से विकसित हो रहे ग्राम जबर्रा में कलेक्टर रजत बंसल ने मंगलवार को पूरी रात इस ग्राम में बिताकर ग्रामीण आजीविका और जीवन शैली को निकटता से अनुभव किया। उन्होंने लगभग 24 घण्टे ग्रामीणों के बीच बिताए। यहां निवासरत गोंड जनजाति के युवक राजकुमार के घर पर उन्होंने न सिर्फ पूरी रात बिताई, बल्कि उनके घर भोजन भी किया तथा आदिवासी संस्कृति सहित ग्रामीण परिवेश को नजदीक से जाना व परखा। साथ ही जबर्रा क्षेत्र में स्वीकृत एवं निर्माणाधीन कार्यों का निरीक्षण कर समीक्षा कर मुआयना किया।

कलेक्टर रजत बंसल मंगलवार की शाम अचानक ग्राम जबर्रा पहुंचे, जहां पर उन्होंने ग्रामीणों से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना। इसी बीच कलेक्टर ने जबर्रा में ही रात्रि विश्राम की मंशा जाहिर की। यह सुन ग्रामीणों ने आश्चर्य मिश्रित प्रसन्नता जाहिर की।   इस दौरान देर रात तक कलेक्टर ग्रामीणों के बीच घिरे रहे। उन्होंने ग्रामीणों से उनकी प्रमुख मांगें पूछी, जिस पर ग्रामीणों ने जबर्रा से चारगांव मार्ग और जबर्रा से मारागांव पहुंच मार्ग विकसित करने की बात कही। इस पर कलेक्टर ने बताया कि ग्रामीणों के आवागमन की सुविधा को दृष्टिगत करते हुए उक्त मार्गों के निर्माण की स्वीकृति शासन से मिल चुकी है, जल्द ही उक्त मार्गों पर निर्माण कार्य प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत प्रारम्भ किया जाएगा।

इस दौरान उन्होंने बताया कि जल्द ही जबर्रा पर्यटन का गठन किया जाएगा, जिसमें सैलानियों के ठहरने, भोजन और विभिन्न पर्यटन संबंधी गतिविधियों की दर निर्धारित की जाएगी। इसके अलावा आय-व्यय की जानकारी का पंजी संधारण किया जाएगा। इसके साथ ही आगामी 15 फरवरी को ग्रामसभा आयोजित की जाएगी, जिसमें इससे संबंधित निर्णय लिए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के दुगली प्रवास के दौरान ग्राम जबर्रा में ईको-टुरिज्म स्थापित करने की घोषणा की गई थी, जिसे अमलीजामा पहनाते हुए कलेक्टर ने नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी प्रोजेक्ट के अंतर्गत विभिन्न निर्माण कार्यों को मंजूरी दी है।

ग्रामीणों ने बताया कि जबर्रा में अब तक एक हजार से अधिक देश-विदेश के सैलानी प्रवास कर चुके हैं। कलेक्टर ने कहा कि जबर्रा को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने जिला प्रशासन द्वारा आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं तथा इसे और अधिक बढ़ावा देने युद्ध स्तर पर कवायद की जा रही है। कलेक्टर ने आज दोपहर दुगली में शहद प्रसंस्करण इकाई का मुआयना किया तथा इसके उपरांत मगरलोड विकासखण्ड के ग्राम सोनझरी और भण्डारवाडी के बीच स्थित झाबीपथरा नाला में कैम्पा मद से किए जा रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। उनके साथ डीएफओ अमिताभ बाजपेयी, जिला पंचायत की सीईओ नम्रता गांधी, निगम आयुक्त आशीष टिकरिहा, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्यपालन अभियंता आरके गर्ग, कार्यपालन अभियंता ग्रामीण यांत्रिकी सेवा जेएल ध्रुव, जिला पंचायत के एपीओ धरम सिंह भी मौजूद थे।

इस दौरान बताया गया कि ग्राम जबर्रा में पर्यटन बोर्ड की ओर से स्ट्रीट लाईट लगाई जाएंगी, जिसके लिए 14 लाख रूपए की स्वीकृति मिल चुकी है। इसी तरह जबर्रा में गौठान निर्माण के लिए जिला पंचायत द्वारा पांच लाख रूपए की स्वीकृति दी गई है। इसके अलावा नरवा प्रोजेक्ट के तहत विभिन्न तटबंध, स्टाॅपडेम एवं पहुंचमार्ग के लिए वन विभाग के कैम्पा मद से 50 लाख रूपए की स्वीकृति शासन से प्राप्त हो चुकी है। ग्राम के जंगलों में औषधीय पौधों के प्लांटेशन के लिए 10 लाख रूपए मनरेगा मद से मंजूर किए गए हैं। इसी तरह होम स्टे के उपकरण के लिए पर्यटन बोर्ड द्वारा तीन लाख रूपए की भी स्वीकृति प्रदान की गई है। इसके अलावा विभिन्न विभागों के द्वारा ग्रामीणों की आजीविका के लिए कृषि विभाग द्वारा रागी एवं मक्का बीज वितरित किए जा चुके हैं। साथ ही उद्यानिकी एवं मछलीपालन विभाग द्वारा विभागीय योजनाओं का क्रियान्वयन ग्राम जबर्रा में किया जा रहा है। इसके अलावा स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय मरम्मत एवं निर्माण के लिए चार लाख रूपए की राशि स्वीकृत की गई है।

 

12-02-2020
Breaking : प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से बनी सड़कों की गुणवत्ता का परीक्षण करने आएंगे केन्द्रीय समीक्षक 

रायपुर। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत छत्तीसगढ़ में निमार्णाधीन सड़कों की तृतीय स्तर के गुणवत्ता का परीक्षण करने के लिए राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षकों की टीम आ रही है। फरवरी माह में दौरा निर्धारित है। छत्तीसगढ़ ग्रामीण सड़क प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक प्रदेश के विभिन्न जिलों के दौरे पर आ रहे हैं। निर्धारित दौरा कार्यक्रम के अनुसार मुरली मनोहर श्रीवास्तव महासमुन्द और बलौदाबाजार जिले का दौरा करेंगे। इनका मोबाईल नंबर 9415148478 है। दिलीप बजाज बिलासपुर एवं कोरिया जिले का दौरा करेंगे। इनका मोबाइल नंबर 9419795317 है। राज्यवर्धन अस्थाना बालोद एवं राजनांदगांव जिले का दौरा करेंगे। इनका मोबाइल नंबर 9415310246 है।

09-01-2020
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव: प्रेक्षक के लिए लायजनिंग आफिसर नियुक्त

कोरिया । राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2019-20 के तहत कोरिया जिले के लिए मुख्य वन संरक्षक, कार्य आयोजना वृत्त बिलासपुर आरके तिवारी प्रेक्षक नियुक्त किये गए है। 1998 बैच के आईएफएस अधिकारी तिवारी के सहयोग के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी कोरिया डोमन सिंह ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के उप अभियंता अमित चौधरी को लायजनिंग अधिकारी नियुक्त किया है। 

 

16-12-2019
राज्य में बिछेगा सड़को का जाल, केंद्र सरकार को भेजेंगे प्रस्ताव: मुख्य सचिव

रायपुर। मुख्य सचिव आरपी मण्डल की अध्यक्षता में सोमवार को मंत्रालय महानदी भवन में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की राज्य स्तरीय स्थाई समिति की 26वीं बैठक में सड़कों के निर्माण से संबंधित प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया। स्वीकृति के लिए यह प्रस्ताव भारत सरकार ग्रामीण विकास को भेजे जाएंगे। मण्डल ने पूर्व के वर्षो में स्वीकृत सड़कों को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए है। उन्होंने प्रधानमंत्री सड़क योजना में बनने वाले पुल-पुलियों के निर्माण में तेजी लाने के निर्देश दिए है। राज्य के 23 जिलों में तीन हजार 737 किलोमीटर लम्बाई की 356 सड़कों का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत किया जाएगा। इसमें बालोद जिले में 249.53 किलोमीटर की 26 सड़कें, बलौदाबाजार में 187.49 किलोमीटर की 18 सड़कें, बलरामपुर में 66.82 किलोमीटर की 6 सड़कें, बस्तर में 75.78 किलोमीटर की 4 सड़कें, बेमेतरा में 91.24 किलोमीटर की 13 सड़कें, बिलासपुर में 254.81 किलोमीटर की 29 सड़कें, धमतरी की 108.98 किलोमीटर की 13 सड़कें, दुर्ग जिले की 99.75 किलोमीटर की 15 सड़कें, गरियाबंद जिले की 111.06 किलोमीटर 10 सड़कें, जांजगीर-चांपा की 154.46 किलोमीटर की 15 सड़कें, जशपुर जिले की 85.24 किलोमीटर की 6 सड़कें, कांकेर जिले की 206.59 किलोमीटर की 21 सड़कें, कवर्धा जिले की 200.23 किलोमीटर की 18 सड़कें,  कोण्डागांव जिले के 81.10 किलोमीटर की 8 सड़कें, कोरबा जिले में 167.15 किलोमीटर की 15 सड़कें, कोरिया जिले में 264.97 किलोमीटर की 18 सड़कें, महासमुंद के 159.51 किलोमीटर की 15 सड़कें, मुंगेली जिले में 125.91 किलोमीटर की 12 सड़कें, रायगढ़ में 201.51 किलोमीटर की 15 सड़कें, रायपुर में 85.60 किलोमीटर की 11 सड़कें, राजनांदगांव में 342.15 किलोमीटर की 38 सड़कें, सुरजपुर में 251.03 किलोमीटर की 17 सड़कें और सरगुजा में 166.40 किलोमीटर की 13 सड़कों का निर्माण किया जाना है। बैठक में अपर मुख्य सचिव वित्त अमिताभ जैन, प्रमुख सचिव वन मनोज पिंगवा, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री सचिवालय गौरव द्विवेदी, सचिव खनिज अन्बलगन पी. छत्तीसगढ़ ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के सीईओ आलोक कटियार सहित तकनीकी निर्माण कार्य से जुड़े विशेषज्ञ उपस्थित थे।

27-11-2019
कलेक्टर-एसपी ने किया दूरस्थ व संवेदनशील क्षेत्रों के विकास कार्यों का निरीक्षण

कांकेर। कलेक्टर केएल चौहान एवं पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने बुधवार को जिले के दूरस्थ क्षेत्र पखांजूर तहसील के महाराष्ट्र के सीमा से लगे गांवों के विकास कार्यों का निरीक्षण किया और ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं तथा उनके निराकरण के लिए ग्रामीणों को भरोसा दिलाया। कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने पखांजूर तहसील के पीव्ही-32 रामकृष्णपुर में फुडपार्क स्थापना के लिए चिन्हित किये गये 10 हेक्टेयर भूमि  का अवलोकन किया तथा मौके पर उपस्थित ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। पी.व्ही-32 रामकृष्णपुर में स्थित शासकीय कृषि प्रक्षेत्र में कार्यरत मजदूरों ने पिछले कई दिनों से मजदूरी नहीं मिलने की जानकारी दी। कलेक्टर ने तत्काल कृषि विभाग के उप संचालक से दूरभाष से बात कर मजदूरी भुगतान कराने के  निर्देश दिए।  कलेक्टर ने पी.व्ही-32 में गौठान का निर्माण करने और अंजारी नाला को नरवा कार्यक्रम के तहत स्वीकृत कराने के लिए प्राक्कलन जिला पंचायत को भेजने के लिए जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी बीआर ठाकुर को निर्देशित किया। कलेक्टर एवं एसपी ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना द्वारा निर्मित पखांजूर से मायापुर मार्ग का भी निरीक्षण किया। तत्पश्चात उन्होंने पखांजूर में स्थित छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी दुग्ध महासंघ के दुग्ध शीतलीकरण संयंत्र का भी अवलोकन किया। कलेक्टर व एसपी ने नगर पंचायत पखांजूर के आम निर्वाचन को संपन्न कराने के लिए शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पखांजूर में बनाये जा रहे निर्वाचन सामग्री वितरण कक्ष, मतगणना कक्ष एवं स्ट्रांग रूम का भी निरीक्षण किया एवं मौके पर उपस्थित एसडीएम निशा नेताम तथा तहसीलदार शेखर मिश्रा को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इसके पश्चात उन्होंने तहसील कार्यालय एवं एसडीएम कार्यालय पखांजूर का भी निरीक्षण किया। तहसील कार्यालय के निरीक्षण के दौरान ई-कोर्ट, न्यायालय में लंबित नामांतरण, बंटवारा, जाति प्रमाण पत्र इत्यादि से संबंधित आवेदनों और उनके  निराकरण की जानकारी ली। तहसील कार्यालय के निरीक्षण पश्चात कलेक्टर एसपी ने पुलिस थाना पखांजूर का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पखांजूर राजेन्द्र कुमार जायसवाल, डीएसपी अमृत कुजूर सहित जिला एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

 

16-10-2019
मांग पूरी नहीं होने पर ग्रामीणों ने किया चक्काजाम, लगी वाहनों की लाइन

कांकेर। कोरर क्षेत्र के बैजनपुरी के आस पास के ग्रामीणों ने आज से 15 दिन पहले आवेदन देकर सड़क मरम्मत की मांग व नहीं होने पर चक्का जाम की चेतावनी दी थी। मांग पूरी नहीं होने पर क्षेत्र के आक्रोशित ग्रामीणों ने 16 अक्टूबर को कोरर के चिल्हाटी चौक में  मुख्य मार्ग पर चक्काजाम कर दिया। लगभग 2 घण्टे चक्काजाम होने से भानुप्रतापपुर व कांकेर मार्ग में गाड़ियों की लाइन लगी रही। इसके बाद तहसीलदार अनन्त नेताम, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अधीक्षण अभियंता धनंजय देवांगन के समझाने के बाद यह चक्काजाम टल पाया व मार्ग बहाल हो पाया।

विदित हो कि ग्राम सेलेगांव से सेेलेगोंदी 1 किमी एवं सेलेगांव से हरनपुरी पण्डीपारा 3 किमी और सेलेगांव से किशनपुरी तक 10 वर्ष पहले प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क का निर्माण हुआ था। समयावधि के पहले ही सड़क की स्थिति जर्जर हो गई थी। इसकी मरम्मत के लिए ग्रामीणों द्वारा समय समय पर ध्यानाकर्षित कराया जाता रहा,जिसके बाद भी स्थिति नहीं सुधरी। इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने चक्का जाम कर दिया। चक्का जाम करने वालो में जनपद सदस्य जैना तारम, सेलेगांव सरपंच प्रदीप ठाकुर, हरनपुरी सरपंच गायत्री सिवना, बैजनपुरी सरपंच जीवनलाल केमरो, जयराम सिवना, गंवरसिंह उयके, शिवचरण नेताम आदि थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804