GLIBS
25-02-2021
Video: 4 सूत्रीय मांगों के लिए छत्तीसगढ़ कांट्रेक्टर एसोसिएशन का धरना प्रदर्शन  

रायपुर। छत्तीसगढ़ कांट्रेक्टर एसोसिएशन अपने 4 सूत्रीय मांगों के लिए गुरुवार को एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर रही है। धरना प्रदर्शन के बाद एसोसिएशन के सदस्य जिला दंडाधिकारी को ज्ञापन सौंपेंगे। छत्तीसगढ़ कांट्रेक्टर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष बीरेश शुक्ला ने बताया कि गौण खनिज रॉयल्टी की छत्तीसगढ़ शासन की ओर से राजपत्र में प्रकाशित दरें और बाज़ार दर के द्वारा निर्माण ठेकेदारों की जो कटौती की जा रही है यह व्यावहारिक नहीं है। प्रदेश सरकार की रॉयल्टी की दरों की कटौती ठेकेदारों को स्वीकार्य है, लेकिन बाज़ार दर अनुचित है। वर्तमान समय में स्टोन (मेटल), रेत (सैंड), साइल, मुरुम अगर बाज़ार दर से कटौती की जाएगी तो ठेकेदार की ओर से निर्माणाधीन कार्यों का घर बेचकर भुगतान करना पड़ेगा। लोक निर्माण विभाग में निर्माण कार्यों के रखरखाव के लिए 5 वर्ष की समय सीमा निर्धारित की गई है। इसके साथ जल संसाधन विभाग 10 वर्षों की रखरखाव एनीकट बांध/डैम 10 वर्ष रखी गई है जो कि पूर्णता व्यावहारिक नहीं है। इसे संशोधित किया जाए नहीं तो प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना और एडीबी द्वारा जो निर्माण कार्य किए जा रहे हैं, उनमें रखरखाव के लिए विभाग द्वारा भुगतान किया जाता है, इस नियम को लागू किया जाए। निर्माण विभागों में तृतीय पार्टी चेकिंग की शर्तें निर्माण कार्यों में लागू की गई प्रदेश के निर्माण ठेकेदारों को चेकिंग की शर्तें मंजूर है। लेकिन चेकिंग की समय सीमा निर्धारण कर और निर्माण विभागों जो ठेकेदारों के भुगतान का 5% एसडी राशि और पीजी की राशि की कटौती की जाती है।

मेरा शासन से अनुरोध है कि अतिरिक्त सुरक्षा निधि की राशि को रिलीज किया जाए। प्रदेश बस्तर परिक्षेत्र में 50 लाख तक का निर्माण कार्य में मैनुअल टेंडर नियम लागू किया गया है। उस नियम को आगे बढ़ाते हुए शासन से अनुरोध है कि दुर्ग रायपुर बिलासपुर परिक्षेत्र और अंबिकापुर परिक्षेत्र में इस नियम को लागू किया जाए। क्योंकि छत्तीसगढ़ प्रदेश में 16000 रजिस्टर ठेकेदार हैं, जिनमें 80% ठेकेदार 20 30 लाख का निर्माण कार्य करते हैं। शुक्ला ने आगे कहा कि मांगों को लेकर प्रदेश के सभी निर्माण विभागों के मंत्री और प्रदेश के उच्च अधिकारियों को एसोसिएशन ने अवगत कराया है। इन मांगों को लेकर लगातार प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में 25 फरवरी को एक दिवसीय धरना किया जा रहा है। मुख्यमंत्री के नाम पर जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा जाएगा। साथ ही अगर शासन ने किसी समस्या के निदान के लिए निर्देशित नहीं किया तो 1, 2 और 3 मार्च को प्रदेश के सभी निर्माण कार्य बंद रहेंगे। साथ ही अगर मांग पूरी नहीं होती है तो आगे निर्माण कार्य पर पूर्ण प्रतिबंध कर दिया जाएगा और अगर शासन छत्तीसगढ़ के बाहर के ठेकेदारों को इन कार्यों का ठेका देती है तो हम उस कार्य को करने नहीं देंगे।  

23-02-2021
सड़कों की गुणवत्ता जांचने छत्तीसगढ़ आएंगे राष्ट्रीय समीक्षक, शिकायत करने नंबर जारी

रायपुर। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के निमार्णाधीन कार्यों के गुणवत्ता परीक्षण के लिए राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक छत्तीसगढ़ आ रहे हैं। वे जशपुर, दंतेवाड़ा, कबीरधाम और सूरजपुर जिले का दौरा करेंगे। इन जिलों में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत निमार्णाधीन सड़कों का परीक्षण करेंगे। संबंधित जिले के राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक से उनके मोबाइल नंबर पर संपर्क कर प्रगतिरत सड़कों की गुणवत्ता के संबंध में शिकायत साझा की जा सकती है। राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक हरिबंश सिंह (मोबाइल नंबर 9415221049) 23 फरवरी से 27 फरवरी तक जशपुर में सड़कों की गुणवत्ता का परीक्षण करेंगे। अशोक कुमार परवान (मोबाइल नंबर 9941809109) दंतेवाड़ा में 23 फरवरी से 25 फरवरी तक, इलाही मोहम्मद (मोबाइल नंबर 9412296112 व 9794329797) कबीरधाम में 19 फरवरी से 24 फरवरी तक और धरम राज (मोबाइल नबर 9453847888 व 7007803930) सूरजपुर में 20 फरवरी से 25 फरवरी तक सड़कों की गुणवत्ता की समीक्षा करेंगे।

17-12-2020
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से ग्रामीणों को मिली सुविधा, मीलों का सफर अब हुआ आसान

रायपुर/बिलासपुर। कोटा विकासखंड स्थित कुरदर से बगधर्रा व्हाया सरगोढ़ सड़क का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से किया गया है। इस सड़क के निर्माण से क्षेत्र के लोगों को जीवन की सबसे बड़ी सुविधा प्राप्त हुई है। अब ग्रामीण मीलों का सफर आसानी से तय कर ले रहे हैं।यह सड़क दूरस्थ वन क्षेत्र अचानकमार टाइगर रिजर्व क्षेत्र के बफर जोन में स्थित है। आदिवासी बैगा बाहुल्य क्षेत्र सरगोढ़, उमरिया, बगधर्रा, चांटीडांड़, भलवाही, खोंगसरा कुल 6 बसाहटों के कुल 1405 जनसंख्या को मुख्य मार्ग से जोड़ने की यह एकमात्र सड़क है। सड़क निर्माण से पूर्व इस क्षेत्र के ग्रामीण मुख्यधारा से कटे हुए थे। 20 किमी लंबी सड़क में 2 बड़े नाले हैं, जिनमें सड़क निर्माण के साथ 2 बाक्स कल्वर्ट का निर्माण कराया गया इसके अलावा 20 किमी सड़क में 6.50 किमी. लंबी संकीर्ण घाट का क्षेत्र पड़ता है।सड़क निर्माण से पूर्व विपरीत परिस्थितियों में इस क्षेत्र के निवासी दुर्गम और कठिन रास्तों से साप्ताहिक बाजार में आना-जाना करते थे।

खोंगसरा ग्राम पंचायत के साप्ताहिक बाजार में दैनिक उपयोगी वस्तुएं लेने के लिये ग्रामीणों को एक दिन पूर्व 17-18 किमी. पैदल चलकर घाट, नालों को पार करके लगभग 8-10 घंटे अनुमानित सफर तय कर खोंगसरा तक आना पड़ता था। इसके चलते लोगों को चिकित्सा सुविधा भी मुहैया नहीं हो पा रही थी। कभी दूभर लगने वाली यह सड़क अब इस क्षेत्र के निवासियों के लिये वरदान बन गयी है। ग्रामीणों के लिये 1 घंटे से कम समय में नजदीकी हाट बाजार और अस्पताल पहुंचना आसान हो गया है। नालों पर बने पुल-पुलिया, घाटों पर बने सुरक्षित सड़कें लोगों के जीवन को सरल बना रहे हैं।

 

15-12-2020
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्यों का जायजा लेने आ रहे हैं राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक अरविंद कुमार भाटिया

रायपुर। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के निर्माणाधीन कार्यों के परीक्षण के लिए राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक अरविंद कुमार भाटिया का छत्तीसगढ़ दौरा पर रहेंगे। योजना के निर्माणाधीन कार्यों में तृतीय स्तर के गुणवत्ता परीक्षण के लिए राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक छत्तीसगढ़ आ रहे हैं। वे 17 से 20 दिसम्बर तक दंतेवाड़ा जिले में और 22 से 26 दिसम्बर तक बीजापुर जिले में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत निर्माणाधीन सड़कों का परीक्षण करेंगे। राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक भाटिया के मोबाइल नम्बर 9415323836 पर दंतेवाड़ा और बीजापुर जिले में योजना के तहत प्रगतिरत सड़कों की गुणवत्ता के संबंध में शिकायत साझा की जा सकती है।

09-10-2020
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना: निर्माणधीन सड़कों का परीक्षण करने दिल्ली से आएगी टीम, अलग अलग जिलों का करेंगे दौरा  

रायपुर। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत प्रदेश के विभिन्न जिलों में निर्माणाधीन कार्यों की गुणवत्ता परीक्षण के लिए राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षकों का भ्रमण कार्यक्रम अक्टूबर  माह में निर्धारित की गई है। राष्ट्रीय ग्रामीण सड़क अभिकरण नई दिल्ली से राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों का दौरा कर निर्माणाधीन सड़कों की गुणवत्ता का परीक्षण करेंगे।  अशोक कुमार सिंह कांकेर और बालोद जिले का दौरा करेंगे। उनका मोबाइल नंबर 9532060766 है। इसी प्रकार सिबा प्रसाद पटनायक बस्तर और दंतेवाड़ा जिले का दौरा कर निर्माणाधीन कार्यो का परीक्षण करेंगे। उनका मोबाइल नम्बर 9437024647 है। घेवर चन्द पनवार कोण्डागांव और नारायणपुर जिले में निर्माणाधीन कार्यो की गुणवत्ता का जांच करेंगे। उनका मोबाइल नम्बर 7506045235 है।

 

17-09-2020
राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक इस माह आएंगे छत्तीसगढ़,सड़कों का परीक्षण करने 6 जिलों का करेंगे दौरा

रायपुर। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत निमार्णाधीन कार्यों के गुणवत्ता परीक्षण के लिए राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षकों का दौरा इस माह सितंबर में निर्धारित किया गया है। राज्य में सड़कों के परीक्षण के लिए 3 राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक 6 जिलों के दौरे पर रहेंगे। मुख्य कार्यपालन अधिकारी छत्तीसगढ़ ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण से मिली जानकारी के मुताबिक सितंबर माह में राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक विजय कुमार श्रीवास्तव बस्तर और दंतेवाड़ा जिले में प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत निमार्णाधीन सड़कों का गुणवत्ता परीक्षण करेंगे। उनका मोबाइल नंबर-9431106230 और 7070799381 है। इसी प्रकार कांकेर और बालोद जिले में कुलदीप राव मोबाइल और कोंडागांव व नारायणपुर जिले में दिलीप कुमार प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत निमार्णाधीन कार्यों का गुणवत्ता परीक्षण करेंगे। दिलीप कुमार का मोबाइल नंबर-9918857356 और कुलदीप राव का मोबाइल नंबर-9418045000 है।

09-09-2020
सुकमा जिला पंचायत की बैठक में पहुंचविहीन गांवों को सड़कों से जोड़ने के लिए मुरुम मिट्टी की सड़क बनाने का प्रस्ताव

रायपुर /सुकमा। जिला पंचायत के सभाकक्ष में सामान्य प्रशासन की बैठक हुई। जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश कवासी ने समिति के सदस्यों से डीआरडीए कर्मचारियों के वेतन भुगतान के लिए मांग और 20 व्याख्याता पंचायत के परिवीक्षा अवधि पूर्ण करने पर परिवीक्षा अवधि समाप्ति के प्रस्ताव पर चर्चा की। उन्होंने अंदरुनी क्षेत्रों के पहुंचविहीन गांव,जो प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से नहीं जुड़ पा रहे,वहां मिट्टी मुरम का सड़क बनाने के लिए प्रस्ताव रखा। इसके साथ ही जिले में स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए जा रहे शौचालयों की जानकारी भी ली। समिति ने अन्य आवश्यक बिंदुओं पर चर्चा की। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नूतन कुमार कंवर, जिला पंचायत सदस्य एवं संबंधित अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

29-08-2020
गौठान में अव्यवस्था पर अधिकारियों पर सख्त हुईं कलेक्टर, कहा-दो दिनों में व्यवस्था सुधारों

कोरबा। कलेक्टर किरण कौशल ने शनिवार को दूसरे चरण में कोरबा तहसील के ग्रामीण इलाकों में भारी बारिश से हुई क्षति आदि का मौका मुआयना किया। उन्होंने पसर खेत चौक से कुदमुरा जाने वाली सड़क पर लगभग दो किलोमीटर के अति क्षतिग्रस्त भाग को अगले तीन दिनों में मरम्मत करा कर सुधारने के निर्देश प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्यपालन अभियंता को दिए। कलेक्टर ने इस इलाके में अतिवृष्टि के कारण खराब हुई फसल का मौका मुआयना भी किया और गांव में बारिश के कारण ढह गए कच्चे मकानों को भी देखा। उन्होने साथ उपस्थित एसडीएम सुनील नायक और तहसीलदार सुरेश साहू को भारी बारिश से हुई क्षति का आंकलन कर तीन दिन के भीतर सभी प्रभावितों के मुआवजा प्रकरण तैयार करने के निर्देश मौके पर ही दिए।

कुदमुरा गौठान की अव्यवस्था पर कलेक्टर हुईं तल्ख

आकस्मिक निरीक्षण के दौरान कौशल ने कुदमुरा के नवनिर्मित गौठान का भी अवलोकन किया। उन्होंने गौठान में फैली अव्यवस्था पर कोरबा के जनपद सीईओ के प्रति नाराजगी व्यक्त की। किरण कौशल ने अगले तीन दिनों में गौठान को व्यवस्थित कर पशुओं की आवाजाही सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने इस दौरान गौठान में गोबर खरीदी की व्यवस्था नहीं होने पर भी नाराजगी जताई। गौठान समिति के सदस्यों ने कलेक्टर को बताया कि गांव में ही दो जगहों पर गोबर खरीदने की व्यवस्था की गई है। गांव में गोबर खरीदकर उसे गौठान में बने गड्ढे में डालकर तिरपाल से ढांक कर सुरक्षित रखा जा रहा है। कलेक्टर ने गौठान मेें ही गोबर खरीदी केन्द्र बनाने और खरीदी की समुचित व्यवस्था करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कलेक्टर कौशल ने गौठान के लिए चारागाह बनाने की भी जानकारी अधिकारियों से ली। उन्होंने अभी तक चारागाह स्थापित नहीं होने पर भी नाराजगी जताई और अगले दो दिनों में गौठान से लगी शासकीय भूमि पर चारागाह विकसित करने तथा सामूहिक बाड़ी में सब्जी आदि उत्पादन की पूरी कार्ययोजना प्रस्तुत करने के निर्देश कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों को दिए। कलेक्टर कौशल ने गौठान में आने वाले पशुओं का स्वास्थ्य परीक्षण करने और उन्हें बीमारियों से बचाने के लिए टीका लगाने तथा दवाईयां आदि देने स्वास्थ्य शिविर लगाने के भी निर्देश पशुपालन विभाग के अधिकारियों को दिए।

कोरकोमा नाले पर बनेगा नया पुल, जर्जर पुल से भारी वाहन गुजरने पर प्रतिबंध

कलेक्टर किरण कौशल ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अधिकारियों के साथ कोरकोमा नाले के जर्जर पुल का भी निरीक्षण किया। उन्होंने पुल की स्थिति को देखते हुए भारी वाहनों का पुल पर से आवागमन प्रतिबंधित करने के निर्देश अनुविभागीय राजस्व अधिकारी को दिए। कलेक्टर ने पीएमजीएसवाई के कार्यपालन अभियंता कमल साहू को पुल की वर्तमान स्थिति का निरीक्षण करने नीचे भी उतारा। साहू ने बताया कि पुल की स्थिति अत्यंत जर्जर है, मरम्मत से भी पुल आवागमन के लिए पूरी तरह सुरक्षित नहीं बन पाएगा। कलेक्टर ने कोरकोमा सहित नाले के पार बसे ग्रामीणों को कोरबा तक आने-जाने के लिए छोटा और सुरक्षित मार्ग उपलब्ध कराने के उद्देश्य से नाले पर नया पुल बनाने की संभावनाओं पर भी अधिकारियों से मौके पर बात की। उन्होंने नया पुल बनाने के लिए विस्तृत कार्ययोजना, डिजाइन-ड्राइंग और प्राक्कलन तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने ग्रामीणों की सुविधा के लिए नया पुल बनाने खनिज न्यास मद से राशि स्वीकृति का आश्वासन भी अधिकारियों को दिया।

 

04-07-2020
अन्य राज्यों से लौटे श्रमिकों को उनके हुनर के मुताबिक काम दे रहा दंतेवाड़ा जिला प्रशासन

रायपुर/दंतेवाड़ा। लॉक डाउन के दौरान प्रदेश के कामगार और श्रमिकों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल से अपने राज्य सुरक्षित वापस लाया गया। वापस लाने पर क्वॉरेंटाइन की अवधि पूरी करने के पश्चात उन्हें रोजगार के लिए भटकना न पड़े करके उनका कौशल परीक्षण कर उनके हुनर के हिसाब से रोजगार मुहैया कराने के निर्देश दिए गए थे। जिला कलेक्टर दीपक सोनी के मार्गदर्शन में प्रवासी मजदूरों क्वॉरेंटाइन की अवधि पूर्ण करने के उपरांत उनका कौशल परीक्षण किया गया साथ ही उन्हें उनके हुनर के मुताबिक अपने जिले में ही रोजगार प्रदान किया जा रहा है। शिक्षा विभाग में 232 श्रमिक साफ सफाई और दीवारों की रंग रोगन, पेंटिंग कर स्कूलों को खूबसूरत बनाने में अपना योगदान दे रहें हैं। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना अंतर्गत 36 श्रमिक और लोक निर्माण विभाग के 13 श्रमिक सड़क निर्माण कर बरसात में गांवों को जिला मुख्यालय से जोड़े रखने का काम कर रहे हैं। जल संसाधन विभाग में 13 श्रमिक नहर का निर्माण कार्य कर यहाँ की भूमि का सिंचाई कर किसानों का सहयोग कर रहे हैं।नगर पंचायत बारसूर में 4 श्रमिक निर्माण कार्य कर रहे हैं। साथ ही चारों जनपद पंचायतों गीदम में 156, दंतेवाड़ा में 75, कुआकोण्डा में 111 और कटेकल्याण में 162 श्रमिक मनरेगा के तहत डबरी निर्माण तथा भूमि समतलीकरण का कार्य कर रहे हैं।

वर्तमान में कुल 799 श्रमिकों को जिले में रोजगार मुहैया कराया गया है। जिसमें प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में अब तक श्रमिकों को 96 हजार भुगतान किया जा चुका है, साथ ही मनरेगा और शिक्षा विभाग द्वारा 190 रुपये प्रति दिन के हिसाब से श्रमिकों और कामगारों को भुगतान किया जा रहा है। जनपद पंचायत दंतेवाड़ा ने 23 प्रवासी श्रमिकों को 35 हजार 530 रू, गीदम ने 41 प्रवासी श्रमिकों को 46 हजार 740 रु, कटेकल्याण ने 99 प्रवासी श्रमिकों को 94 हजार 50 रु, कुआकोण्डा ने 2 प्रवासी श्रमिकों को 11 हजार 780 रु, बारसूर ने 4 प्रवासी श्रमिकों को 6 हजार रु 190 रु प्रतिदिन के दर से भुगतान किया है इसके अतिरिक्त जल संसाधन विभाग ने कार्यरत 13 प्रवासी श्रमिकों को 13 हजार रु और शिक्षा विभाग द्वारा 232 प्रवासी श्रमिकों को 1 लाख 22 हजार 810 रु की राशि का भुगतान किया है। इस प्रकार 450 प्रवासी श्रमिकों को अब तक 4 लाख 25 हजार 910 रु दिया जा चुका है। जिससे श्रमिक बहुत खुश हैं कि उन्हें अपने ही जिले में इतना अच्छा रोजगार मिला और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार आया। साथ ही अब उन्हें और उनके परिवार को लिए दूसरे राज्यों में रोजगार की तलाश में जाने की नौबत नहीं आएगी। जिसके लिए श्रमिकों ने छत्तीसगढ़ शासन और जिला प्रशासन को सहृदय धन्यवाद दिया है।

 

22-06-2020
राजमार्गों के दोनों किनारों पर किया जा रहा है तीन स्तरीय पौधरोपण

रायपुर/जगदलपुर। जिला प्रशासन के द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्यीय राजमार्ग, जिला मार्ग, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के मार्गो के दोनों किनारों पर तीन स्तरीय पौधरोपण किया जाना है। इसी तारतम्य में बस्तर जनपद पंचायत द्वारा आयोजित राष्ट्रीय राजमार्ग-43 किनारे पौधरोपण कार्यक्रम में कलेक्टर रजत बंसल शामिल होकर पौधरोपण किया। इस अवसर पर जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ एसडीएम बस्तर गोकुल रावटे, सीईओ जनपद जेएस राठौर ने भी पौधरोपण किए। जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय राजमार्ग-43 के दोनों किनारे ग्राम पंचायत कुदालगांव से फरसागुड़ा (भानपुरी) तक 3168 नग पौधारोपण का कार्य जनपद पंचायत बस्तर द्वारा किया जा रहा है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804