GLIBS
13-11-2020
ओबामा ने अपनी किताब में राहुल गांधी को बताया नर्वस छात्र, पर करना चाहता है शिक्षक को प्रभावित

नई दिल्ली। अमेरिका के पू्र्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपनी किताब में मनमोहन सिंह और राहुल गांधी का जिक्र किया है। ओबामा ने जहां मनमोहन सिंह को भावशून्य और सत्यनिष्ठा वाला शख्स कहा है वहीं, राहुल गांधी को एक ऐसा छात्र बताया है,जो 'प्रभावित करने की चाहत' रखता है लेकिन उसमें 'विषय' में महारत हासिल करने की योग्यता या फिर जुनून की कमी है। ओबामा की इस किताब की समीक्षा न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी है।इस किताब की समीक्षा के अनुसार ओबामा ने लिखा है, 'राहुल गांधी एक नर्वस छात्र की तरह हैं,जिन्होंने अपना कोर्स पूरा कर लिया है और शिक्षक को प्रभावित करना चाहता है लेकिन अंदर कहीं या तो उसे विषय में महारत हासिल नहीं है या फिर उसमें महारत हासिल करने के लिए जुनून की कमी है।'इस किताब की समीक्षा चिमामदा न्गोजी एडिक ने किया है। बराक ओबामा के इस संस्मरण का नाम 'ए प्रोमिस्ड लैंड' है अगले हफ्ते इसे रिलीज किया जाएगा। उन्होंने इसमें अपने व्यक्तिगत और राजनीतिक अनुभवों का जिक्र किया है। इसमें उन 8 सालों का भी जिक्र है जब वे बतौर अमेरिका के राष्ट्रपति व्हाइट हाउस में रहे थे।

ओबामा ने अपने इस संस्मरण में सोनिया गांधी का भी जिक्र किया है। उन्होंने लिखा है, 'हमें चार्ली क्रिस्ट और रहम एमैनुएल जैसे पुरुषों के हैंडसम होने के बारे में बताया जाता है लेकिन महिलाओं के सौंदर्य के बारे में नहीं। सिर्फ एक या दो उदाहरण ही अपवाद हैं जैसे सोनिया गांधी। ओबामा ने लिखा है कि अमेरिका के पूर्व रक्षा मंत्री बॉब गेट्स और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह दोनों में बिलकुल भावशून्य सच्चाई/ईमानदारी है। ओबामा ने विश्व के दूसरे नेताओं का भी जिक्र अपने इस संस्मरण में किया है। रूस के राष्ट्रपति  व्लादिमिर पुतिन के बारे में वे लिखते हैं, 'शारीरिक रूप से वे साधारण हैं।' जो बाइडन को ओबामा अपने संस्मरण में एक सौम्य और ईमानदार शख्स बताते हैं। ओबामा ने कहा कि उन्होंने अपने इस संस्मरण को युवाओं के लिए लिखा है।ओबामा का 768 पन्नों का यह संस्मरण 17 नवंबर को बाजार में आने वाला है। अमेरिका के पहले अफ्रीकी-अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा ने अपने कार्यकाल में दो बार 2010 और 2015 में भारत की यात्रा की थी।

01-11-2020
कांग्रेस के भीतर धर्मनिरपेक्षता की भावना निहित और जीवंत है : शशि थरूर

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी से मुकाबले के लिए कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी की ओर से नरमवादी हिंदुत्व की राह पर चलने के आरोपों के बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने चेताया है। उन्होंने कहा है कि भाजपा लाइट बनने के चक्कर में कांग्रेस पार्टी खत्म हो जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि भारत में धर्मनिरपेक्षता एक सिद्धांत और परिपाटी के रूप में खतरे में है और सत्तारूढ़ दल इस शब्द को संविधान से हटाने के प्रयास कर सकता है। हालांकि उन्होंने जोर देकर कहा कि 'घृणा फैलाने वाली ताकतें देश के धर्मनिरपेक्ष चरित्र को बदल नहीं सकती हैं।'थरूर ने अपनी नई किताब 'द बैटल ऑफ बिलांगिंग' को लेकर इंटरव्यू में कहा कि कांग्रेस पार्टी 'भाजपा लाइट (भाजपा का दूसरा रूप) बनने का जोखिम नहीं उठा सकती है क्योंकि इससे उसके ''कांग्रेस जीरो (कांग्रेस के खत्म होने का) खतरा है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी भाजपा के राजनीतिक संदेश का कमजोर रूप पेश नहीं करती है और कांग्रेस के भीतर भारतीय धर्मनिरपेक्षता की भावना अच्छी तरह से निहित और जीवंत है।''कांग्रेस पर नरमवादी हिंदुत्व का सहारा लेने के आरोपों के बारे में थरूर ने कहा कि वह समझते हैं कि यह मुद्दा कई उदार भारतीयों के बीच चिंता का वास्तविक और ठोस विषय है लेकिन उन्होंने जोर देकर कहा कि ''कांग्रेस पार्टी में हमारे बीच यह बिलकुल स्पष्ट है कि हम अपने को भाजपा का दूसरा रूप नहीं बनने दे सकते।'' पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ''मैं लंबे समय से यह कहता आया हूं कि 'पेप्सी लाइट का अनुसरण करते हुए 'भाजपा लाइट बनाने के किसी भी प्रयास का परिणाम 'कोक जीरो की तरह 'कांग्रेस जीरो' होगा।'

'उन्होंने कहा, ''कांग्रेस किसी भी रूप और आकार में भाजपा की तरह नहीं है और हमें ऐसे किसी का भी कमजोर रूप बनने का प्रयास नहीं करना चाहिए जो कि हम नहीं हैं। मेरे विचार से हम ऐसा कर भी नहीं रहे हैं। थरूर ने कहा, ''कांग्रेस हिंदूवाद और हिंदुत्व के बीच अंतर करती है। हिंदूवाद जिसका हम सम्मान करते हैं, वह समावेशी है और आलोचनात्मक नहीं है जबकि हिंदुत्व राजनीतिक सिद्धांत है जो अलग-थलग करने पर आधारित है।''तिरुवनंतपुरम से सांसद ने कहा, ''इसलिए हम भाजपा के राजनीतिक संदेश का कमजोर रूप पेश नहीं कर रहे। राहुल गांधी ने यह एकदम स्पष्ट कर दिया है कि मंदिर जाना उनका निजी हिंदुत्व है, वह हिंदुत्व के नरम या कट्टर किसी भी रूप का समर्थन नहीं करते हैं।'' यह पूछने पर कि क्या 'धर्मनिरपेक्ष शब्द खतरे में है, उन्होंने कहा, 'यह महज एक शब्द है; अगर सरकार इस शब्द को संविधान से हटा भी देती है तो भी संविधान धर्मनिरपेक्ष बना रहेगा।''उन्होंने कहा कि पूजा-अर्चना की स्वतंत्रता, धर्म का पालन करने की स्वतंत्रता, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, अल्पसंख्यक अधिकार, सभी नागरिकों के लिए समानता, ये सभी संविधान के मूल ताने-बाने का हिस्सा हैं और एक शब्द को हटा देने से ये गायब नहीं होने वाले। उन्होंने कहा, ''सत्तारूढ़ दल ऐसा करने का प्रयास कर सकता है। यहां धर्मनिरपेक्षता को खत्म करने और इसके स्थान पर सांप्रदायिकता को स्थापित करने के सम्मिलित प्रयास निश्चित ही हो रहे हैं जिसके तहत भारतीय समाज में धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए कोई स्थान नहीं है।'

01-11-2020
राहुल गांधी ने कहा- छत्तीसगढ़ बन रहा देश का नया मॉडल राज्य,किसानों और मजदूरों के हितों की रक्षा से ही देश होगा मजबूत 

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के मौके पर लोकसभा सांसद राहुल गांधी वर्चुअल उपस्थिति में रविवार को राज्य के 19 लाख किसानों के खाते में राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किश्त 1500 करोड़ रुपए अंतरित किए गए। इस मौके पर राहुल गांधी ने कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में मंत्रि-मंडल और सहयोगियों की टीम पूरे विजन के साथ काम कर रही है। देश में छत्तीसगढ़ एक नया मॉडल राज्य बन रहा है। किसानों, आदिवासियों के हितों की रक्षा और बेहतर शिक्षा की व्यवस्था करके युवाओं के भविष्य को गढ़ने का काम छत्तीसगढ़ राज्य में हो रहा है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में इंग्लिश मीडियम स्कूल शुरू करके आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के बच्चों एवं युवाओं को भी अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा सुलभ कराई है। राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ के लोगों को राज्योत्सव की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि किसान और मजदूर देश की नींव है। इनके कमजोर होने से देश कमजोर होगा। देश वर्तमान समय में कोविड-19 के कारण मुश्किल दौर से गुजर रहा है। ऐसे समय में जो कमजोर हैं, उन्हें ज्यादा कठिनाई होती है। उन्होंने कहा कि देश में किसानों की हालत किसी से छुपी नहीं है। किसानों के आत्महत्या की खबरें लगातार आ रही हैं। हमें किसानों और मजदूरों की रक्षा करनी चाहिए, उनके साथ खड़ा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि शहर की नींव गांव है और गांव की नींव किसान और मजदूर है। यदि किसान और मजदूर कमजोर होंगे, तो पूरा देश कमजोर हो जाएगा। किसानों और मजदूरों की रक्षा का मतलब देश की रक्षा के साथ-साथ देश की नींव को मजबूत करना और भविष्य को बेहतर बनाना है। उन्होंने कहा कि इसी तरह देश के भविष्य की नींव बच्चे और युवा हैं। युवाओं को यदि बेहतर अवसर और भविष्य नहीं मिलेगा तो इससे देश कमजोर होगा।

सांसद राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से किसानों, मजदूरों और गरीबों की भलाई के लिए शुरू की गई राजीव गांधी किसान न्याय योजना और स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल व मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना की तारीफ की। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार की ये तीनों योजनाएं नींव को मजबूत बनाने और उसकी रक्षा करने वाली है। इससे पूरे देश को मजबूती मिलेगी। छत्तीसगढ़ ने पूरे देश को रास्ता दिखाया है। चाहे वो किसानों की मदद और जमीन की रक्षा का मामला हो, उद्योग धंधों को बढ़ावा देने एवं ग्रामीण और युवाओं को स्वावलंबी बनाने का काम हो। राहुल गांधी ने कहा कि छत्तीसगढ़ एक यूनिक स्टेट है। यहां जल, जंगल, जमीन और प्राकृतिक सम्पदा भरपूर है। छत्तीसगढ़ गरीब नहीं है, जनता गरीब है। मुझे खुशी है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में हमारी सरकार ने इन विसंगतियों को दूर करने के लिए पूरी प्रतिबद्धता से काम कर रही है। छत्तीसगढ़ की राशि यहां के लोगों की बेहतरी और छत्तीसगढ़ को नये विजन के साथ आगे ले जाने के लिए खर्च की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस लक्ष्य की दिशा में सरकार और उसकी पूरी टीम एक साथ मिलकर काम कर रही है। राहुल गांधी ने देश में किसानों की वर्तमान स्थिति का उल्लेख करते हुए कहा कि आज किसान परेशान है, उनके हितों की अनदेखी की जा रही है। उन्होंने केन्द्र सरकार की ओर से कृषि के क्षेत्र में पारित तीन नए कृषि कानूनों का उल्लेख करते जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि हमने प्रधानमंत्री से इन तीनों कृषि कानूनों पर फिर से विचार करने और मंडी सिस्टम को मजबूत बनाने का आग्रह किया है। मुझे पूरा विश्वास है कि प्रधानमंत्री इस पर पुर्नविचार जरूर करेंगे। मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित राज्योत्सव कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत और मंत्रियों की मौजूदगी में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल योजना और मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत राज्य के 30 नगरीय स्लम एरिया में मोबाइल हॉस्पिटल-सह-लैबोरेटरी का शुभारंभ भी हुआ। समारोह में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, सांसद  पीएल पुनिया और विधायक मोहन मरकाम सहित अन्य विधायक, जनप्रतिनिधि और जिलों से अन्य लोग वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए।

01-11-2020
Live : छत्तीसगढ़ राज्य अलंकरण सम्मान समारोह, पहले चरण में शामिल हुए राहुल गांधी

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्योत्सव 2020 का शुभारंभ रविवार को मुख्यमंत्री निवास में हुआ। राज्य स्थापना दिवस के कार्यक्रम दो चरणों में होंगे। कार्यक्रम के पहला चरण की शुरुआत मुख्यमंत्री के संदेश से हुई। पहले चरण में राहुल गांधी ऑनलाइन शामिल हुए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और राहुल गांधी ने कार्यक्रम को संबोधित किया। कार्यक्रम के दूसरे चरण की शुरुआत हो चुकी है।  दूसरे चरण का कार्यक्रम राज्यपाल अनुसुईया उइके के मुख्य आतिथ्य में हो रहा है। राज्य अलंकरण सम्मान से राज्योत्सव में इस वर्ष 30 विभूतियों और तीन संस्थाओं को सम्मानित किया जा रहा है। लाइव देखने के लिए यहां क्लिक करें...

 

31-10-2020
1 नवंबर को मुख्यमंत्री निवास में दो चरणों में होंगे कार्यक्रम,पहले चरण में शामिल होंगे राहुल गांधी

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस पर 1 नवंबर को मुख्यमंत्री निवास में राज्योत्सव का कार्यक्रम दो चरणों में होगा। प्रथम चरण के कार्यक्रम में लोकसभा सांसद राहुल गांधी और द्वितीय चरण के कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुइया उइके वर्चुअल रूप से शामिल होंगी। दोपहर 12 बजे से आयोजित राज्योत्सव के प्रथम चरण के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रदेश के 18.38 लाख किसानों के खाते में राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किश्त का अंतरण करेंगे। इस कार्यक्रम में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल योजना और मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत राज्य के 30 नगरीय स्लम एरिया में मोबाइल हॉस्पिटल सह लैबोरेटरी का शुभारंभ भी किया जाएगा।राज्योत्सव कार्यक्रम के द्वितीय चरण में दोपहर 1:30 बजे से राज्यपाल अनुसुईया उइके के मुख्य आतिथ्य में राज्य अलंकरण सम्मान समारोह आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में राज्यपाल अनुसुईया उइके वर्चुअल रूप से शामिल होंगी। छत्तीसगढ़ राजगीत से राज्य अलंकरण सम्मान समारोह की शुरुआत होगी।

विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, मंत्री, संसदीय सचिव और विधायक कार्यक्रम में शामिल होंगे। इस कार्यक्रम में जनसंपर्क विभाग की ओर से प्रकाशित छत्तीसगढ़ विचार माला के विमोचन के साथ ही टूरिज्म रिसार्ट का लोकार्पण और राम वन गमन पथ टूरिज्म सर्किट का शिलान्यास किया जाएगा। इस दौरान फोर्टिफाईड राइस वितरण योजना का शुभारंभ और राजधानी रायपुर के ऐतिहासिक बूढ़ातालाब के सौंदर्यीकरण कार्य सहित बीजापुर में 132/33 के.व्ही. विद्युत उपकेन्द्र तथा 87.5 किलोमीटर 132 के.व्ही. बारसूर-बीजापुर विद्युत लाइन का लोकार्पण भी होगा।

 

22-10-2020
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सांसद राहुल गांधी को राज्योत्सव में शामिल होने दिया न्यौता

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गुरुवार को नई दिल्ली प्रवास के दौरान सांसद राहुल गांधी से सौजन्य मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने उन्हें छत्तीसगढ़ राज्योत्सव-2020 में शामिल होने का न्यौता दिया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर उन्हें जानकारी दी कि कोविड-19 के कारण राज्योत्सव का कार्यक्रम संक्षिप्त रूप से आयोजित किया जा रहा है। राज्योत्सव के अंतर्गत राज्य अलंकरण समारोह के आयोजन के साथ ही राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत राज्य के 19 लाख किसानोें को तीसरी किश्त की राशि प्रदान की जाएगी।

 

 

20-10-2020
कमलनाथ विवादित टिप्पणी मामला: राहुल गांधी ने की बयान की निंदा,पूर्व सीएम ने किया माफी मांगने से इंकार

भोपाल। मध्यप्रदेश में पूर्व सीएम कमलनाथ की विवादित टिप्पणी के बाद राजनीति गरमा गई है।कमलनाथ के बयान पर बवाल बढ़ता देख राहुल गांधी ने भी मंगलवार को मीडिया के बातचीत में उनके बयान की निंदा की हैं। राहुल के बयान के बाद मीडिया ने जब पूर्व सीएम कमलनाथ से पूछा कि क्या वे अपने बयान को लेकर मांफी मांगेगे तो तो उन्होंने मांफी मांगने की बात से मना कर दिया। कमलनाथ ने कहा कि राहुल गांधी को जो बातें बताई गई होंगी। उसके आधार पर उन्होंने वह बात कही होगी। वह राहुल गांधी की राय है। लेकिन वे कल ही कह चुके हैं कि वे अपने बयान को लेकर मांफी नहीं मांगेगे। क्योंकि उनका लक्ष्य किसी को अपमानित करने का नहीं था और अगर कोई अपमानित अहसास करता है तो उन्हें खेद है। इस बात को उन्होंने पहले ही कह चुके हैं। बता दें कि कमलनाथ जहां अपने बयान को लेकर मांफी मांगने को तैयार नहीं हैं। वहीं बीजेपी भी उनके इस बयान को लेकर पूरी तरफ से आक्रमण है। भाजपा उनके इस बयान को लेकर महिला आयोग में शिकायत की है। बीजेपी के शिकायत के बाद महिला आयोग ने कमलनाथ से जवाब भी मांगा हैं। वहीं चुनाव आयोग से कार्रवाई किये जाने को लेकर पत्र भीं लिखा गया हैं।

 

07-10-2020
धनोरा की दु:खद घटना प्रदेश सरकार की कलंक गाथा : विष्णुदेव साय

रायपुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा है कि धनोरा का मामला पीड़ादायक व दु:खद है। प्रदेश सरकार की गंभीर विषयों पर उदासीनता के कारण अपराधियों के हौसले बुलंद है। गरीब परिवार की बेटी उसके साथ हुई हैवानियत के कारण असमय मौत को गले लगाने पर मजबूर हुई। यह भूपेश सरकार की असफलता है,सरकार पर कलंक है। उन्होंने कहा है कि जब मामला पुलिस तक पहुंच गया था तो पुलिस प्रशासन ने गंभीरता नहीं दिखाई और मामला को रफा दफा करने में लगे रहे। इसका परिणाम हुआ कि पीड़िता के पिता ने भी न्याय नहीं मिलने के कारण मौत को गला लगाने की कोशिश की, जो बहुत ही दुखदायी है।

विष्णुदेव साय ने मांग की है कि जिन पुलिस वालों ने गरीब परिवार के साथ अन्याय किया,उन्हें तत्काल निलंबित कर न्यायिक जांच कराई जाए। मुख्यमंत्री का न्याय का नारा खोखला साबित हुआ और पुलिस महानिदेशक तत्काल स्थिति संभाले केवल सुर्खियां वाले बयान देकर अपने कर्तव्य से विमुख न होएं। प्रदेश में आदिवासियों के साथ लगातार होती घटना शंका को जन्म दे रही है। राहुल गांधी व प्रियंका वाड्रा छत्तीसगढ़ की अपनी निक्कमी प्रदेश सरकार को जगाने के कुछ तो कदम उठाएं ।

 

07-10-2020
विधायक विकास उपाध्याय ने जारी किया टैग लाइन, कहा—

रायपुर। कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय ने बुधवार को अपने निवास में राहुल गांधी के कहे गए रोज के कथनों को एक मजबूत विपक्ष के तौर पर बताया है। एक-एक आम जनता तक पहुंचाने उसे एक टैग लाइन के साथ "हाँ मैं भी राहुल गाँधी हूँ, राहुल गाँधी की आवाज मेरी आवाज" के नाम पर जारी किया है। साथ ही कांग्रेस हाईकमान से आग्रह किया है कि इसे पूरे देश में एक संगठनात्मक कार्य योजना के तहत सभी कांग्रेस के सदस्यों से अमल कराने सर्कुलर जारी किया जाए। विकास उपाध्याय ने भाजपा के नकारात्मक मीडिया रिपोर्टिंग को रोकने कांग्रेस की भूमिका व पार्टी कार्यकर्ताओं पर उसके प्रभाव पर भी चर्चा करने राहुल गाँधी से मुलाकात का समय मांगा है।

विकास उपाध्याय ने बयान जारी कर कहा है कि केंद्र सरकार के कृषि बिल के विरोध में राहुल गांधी पंजाब में मंगलवार को ट्रैक्टर कैंपेन कर पटियाला में एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस में पूछे गए सवाल इस समय विपक्ष बहुत कमज़ोर और बिखरा हुआ है, इसलिए मोदी सरकार हर वो चीज़ कर ले रही है जो वह चाहती है, के जवाब में कहा, ''किसी भी देश में विपक्ष एक फ़्रेमवर्क के तहत काम करता है। ये फ़्रेमवर्क होते हैं- प्रेस, न्यायिक प्रणाली, संस्थाएं ताकि वह लोगों की आवाज़ों की रक्षा कर सकें। लेकिन इस पूरे फ़्रेमवर्क पर क़ब्ज़ा कर लिया गया है।'' राहुल गाँधी ने पत्रकारों से कहा आप मुझे स्वतंत्र प्रेस दें, मुझे ऐसी संस्थाएं दें जो स्वतंत्र हो और ये सरकार टिक नहीं पाएगी। लेकिन मेरे पास ये नहीं हैं।'' को विकास उपाध्याय ने गंभीरता से लेते हुए कहा, इसका रास्ता अब खुद कांग्रेस के लोग बनाएंगे।

04-10-2020
Video: एनएसयूआई ने राहुल और प्रियंका गांधी के साथ हुए दुर्व्यवहार का किया विरोध,विकास उपाध्याय रहे मौजूद

रायपुर। संसदीय सचिव विकास उपाध्याय की मौजूदगी और प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा के नेतृत्व में एनएसयूआई ने जयस्तंभ चौक में यूपी में राहुल गांधी व प्रियंका गांधी के साथ हुई अभद्रता का विरोध किया। आसमान में काले गुब्बारे छोड़े गए। एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने जमकर यूपी पुलिस और उत्तर प्रदेश प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने भी इस दौरान जमकर नारेबाजी की। उन्होंने कहा कि यूपी में पुलिस प्रशासन की ओर से कांग्रेस के नेताओं पर किए जा रहे अत्याचार को लेकर आज यहां विरोध प्रदर्शन किया गया।  संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने कहा कि गांधी परिवार आजादी के समय से ही देश को आजाद कराने से लेकर समय-समय पर इस देश के लिए अपना बलिदान दिया है। उसी परिवार के 2 सदस्य जब पीड़िता के घर उसके परिजनों का हालचाल पूछने जा रहे थे तो पुलिस ने अभद्र व्यवहार किया। यह घटना बेहद शर्मनाक है। एनएसयूआई के विरोध प्रदर्शन में मैं भी साथ खड़ा हूं।
प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा कहा कि जिस तरह कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी के साथ पुरुष पुलिसकर्मी ने बदसलूकी की, वह बेहद शर्मनाक है। उनके साथ धक्का-मुक्की की गई। यह घटना बेहद निदंनीय है। इसी को लेकर आज एनएसयूआई ने पूरे प्रदेश में काले गुब्बारे छोड़कर अपना विरोध दर्ज कराया।  उत्तर प्रदेश पुलिस और प्रशासन से ही मांग है कि महिलाओं के साथ अत्याचार बंद हो।

प्रदर्शन में प्रदेश उपाध्यक्ष भावेश शुक्ला, प्रदेश महासचिव प्रतीक सिंह, जिला अध्यक्ष रायपुर अमित शर्मा, प्रदेश सचिव हनी बग्गा, जनपद उपाध्यक्ष योगेश साहू शान सैफी, चेयरमैन तुषार गुहा, प्रवक्ता सौरव सोनकर, जिला अध्यक्ष धमतरी राजा देवांगन, जिला कार्यकारिणी अध्यक्ष विनोद कश्यप, अजय साहू महासचिव संकल्प मिश्रा, निखिल बंजारी, सचिव विकास दुबे,अभिनव शर्मा, मेहताब हुसैन, विधानसभा अध्यक्ष देव सेन सहित बड़ी संख्या में एनएसयूआई के कार्यकर्ता मौजूद थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804