GLIBS
15-10-2018
Congress : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी चंबल-ग्वालियर के दो दिवसीय दौरे पर

भोपाल। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी चंबल-ग्वालियर के दो दिवसीय दौरे पर हैं। ये इलाका कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का मजबूत दुर्ग माना जाता है। राहुल के स्वागत में ग्वालियर क्षेत्र में पोस्टर लगाए गए हैं, जिनमें राहुल और सिंधिया को महाभारत के रथ पर सवार दिखाया गया है। राहुल को भगवान कृष्ण की तरह पर रथ की कमान संभाले हुए दिखाया गया है.जबकि सिंधिया को अर्जुन की भूमिका में पेश किया गया है।

माना जा रहा है कि सिंधिया समर्थकों के द्वारा ये पोस्टर इलाके में लगाए गए हैं. ये पोस्टर मध्य प्रदेश में कांग्रेस नेताओं के बीच नए सियासी विवाद को जन्म दे सकता है। राज्य में कांग्रेस नेताओं के बीच वर्चस्व की जंग जगजाहिर है।

कांग्रेस आलाकमान इसी मद्देनजर अभी तक राज्य में सीएम पद का उम्मीदवार घोषित नहीं किया है. जबकि सिंधिया के गढ़ में राहुल के स्वागत में लगाए पोस्टर की सियासी मायने निकाले जाने लगे हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष चंबल-ग्वालियर ने दो दिवसीय दौरे की शुरुआत दतिया में मां पीताम्बरा देवी दर्शन के साथ किया। राहुल इन दो दिनों में छह जनसभाओं को संबोधित करेंगे और दो स्थानों पर रोड-शो करेंगे। राहुल मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारा में जाकर दर्शन करेंगे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ और चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया उनके साथ-साथ होंगे।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस इसी इलाके में सबसे मजबूत स्थिति में हैं. पिछले चुनाव में सबसे ज्याजा सीटें इसी संभाग में मिली थी।

16-10-2018
Rahul Gandhi : प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बड़ी बैठक कल 
राहुल गांधी के दौरे की बनाएंगे रूपरेखा, तय होगी तमाम कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी
13-10-2018
Rahul Gandhi  : हॉल मुख्यालय के बाहर राहुल गांधी ने दिया धरना 
केंद्र सरकार पर किया सियासी  वार, कहा सरकार संयंत्र को कर रही है बर्बाद
11-10-2018
Assembly Election : MP कांग्रेस में 110 सीटों पर सिंगल उम्मीदवारों के नाम पर मुहर, 16 को पहली सूची संभव

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश में कांग्रेस के चुनाव लड़ने के इच्छुक उम्मीदवारों को टिकट देने को लेकर तीन दिनों तक नई दिल्ली में चली स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक बुधवार को खत्म हो गई। इस बैठक में 110 सीटों के लिए सिंगल उम्मीदवार के नामों की सूची बना ली गई है जो केंद्रीय चुनाव समिति को भेजी जाएगी। यह सभी नाम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की मौजूदगी में वरिष्ठ नेताओं की सहमति से तय किए गए हैं।

स्क्रीनिंग कमेटी ने जिन 110 सिंगल नामों को तय किया है उनमें 46 मौजूदा विधायक हैं। इसके साथ ही साल 2013 का विधानसभा चुनाव 3000 से कम वोटों से हार वाली सीटों पर भी चुनाव हार गए उम्मीदवारों को दोबारा मौका देने पर सहमति बन गई है। मध्य प्रदेश में राहुल गांधी ग्वालियर-चंबल संभाग का दौरा कर रहे हैं। इसके बाद कांग्रेस प्रत्याशियों की पहली सूची 16 और 17 अक्टूबर को जारी हो सकती है।

स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में सीटों के लिए तैयार किए गए पैनल में से शुरुआती तौर पर नाम चुनने का कार्य हो गया है। इनमें जिन सीटों पर पैनल में पांच नाम थे,उनमें से तीन नाम हटा दिए गए हैं और अब सिर्फ दो ही नाम बचे हैं।

स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में सोनकच्छ से इस बार पूर्व सांसद सज्जन सिंह वर्मा को विधानसभा चुनाव में उतारने पर सहमति बन गई है। वर्मा पहली बार साल1985 में विधायक बने थे। इसके बाद 1993 से 2008 तक विधायक रहे। उन्होंने 2008 में भी इसी सीट से जीत दर्ज की थी, लेकिन चार महीने बाद ही 2009 में देवास-शाजापुर लोकसभा सीट से सांसद चुने गए। इसके बाद 2014 में वे लोकसभा चुनाव हार गए थे।

इसके साथ ही 2009 से 2014 तक उज्जैन से सांसद रह चुके प्रेमचंद गुड्डू की प्राथमिकता आलोट विधानसभा से चुनाव लड़ने की है, लेकिन उनका नाम सर्वे में खंडवा सुरक्षित सीट से भी है। उन्हें इन दोनों में किसी एक सीट से चुनाव लड़ाया जाएगा।

टिकट के लिए ग्वालियर पूर्व से मुन्नालाल गोयल, हटा से हरीशंकर चौधरी, सुरखी से गोविंद राजपूत, मलहरा से तिलक सिंह लोधी, छतरपुर से आलोक चतुर्वेदी,जबलपुर पूर्व से लखन घनघोरिया, सीधी से केपी द्विवेदी, मेहगांव से ओपीएस भदौरिया, बरघाट से अर्जुन सिंह, सरदारपुर से प्रताप ग्रेवाल, सैलाना से हर्ष गेहलोत,दिमनी से रवींद्र सिंह तोमर, मनावर से निरंजन डाबर का नाम शामिल है।

11-10-2018
Core Committee: राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ कांग्रेस की कोर कमेटी गठित की है

रायपुर। अंंततः छत्तीसगढ़ कांग्रेस को मजबूती देने के लिए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोर कमेटी का गठन कर दिया है। इस कमेटी में सात नेताओं को रखा गया है। कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया, पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल, चरणदास महंत, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, अरविंद नेताम, कमला मनहर और ताम्रध्वज साहू को कमेटी में रखा गया है। 

हम आपको बता दें कि इस कमेटी के बनने के बाद पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल का पॉवर को कम कर दिया गया है। अब छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के सभी गतिविधियों का संचालन ये सात सदस्यीय कमेटी ही करेगी। इसे फर्जी सीडी कांड से हुई कांग्रेस की किरकिरी से जोड़ कर दिखाया जा रहा है।  

09-10-2018
Rahul Gandhi: अब दशहरे के बाद छत्तीसगढ़ आएंगे राहुल गांधी
सीडी कांड में प्रदेश अध्यक्ष की गिरफ्तारी से मचे  सियासी घमासान से बिगड़ा माहौल
08-10-2018
Indian Air Force: भारतीय वायुसेना मना रही अपना 68 वां स्थापना दिवस 
हिंडन एयरबेस से लड़ाकू विमानों की गर्जना शुरू, बड़ी तादाद में  उमड़ी भीड़
05-10-2018
Rahul Gandhi: सत्ता को साधने कांग्रेस भी करेगी मंदिर पॉलीटिक्स, बड़े मंदिरों में मत्था टेकेंगे राहुल गांधी 

रायपुर। आगामी विधानसभा चुनाव में राज्य सरकार के खिलाफ चल रहे एंटीकंबेसी को भुनाने के साथ ही कांग्रेस छत्तीसगढ़ में मंदिर पॉलीटिक्स का दांव चलेगी। इसके तहत कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी राज्य के तमाम बड़े मंदिर जहां अत्यधिक लोगों की आस्था जुड़ी हुई हैं वहां मत्था टेकेंगे। इसके पहले अमित शाह प्रदेश के धार्मिक स्थलों पर आमद दे चुके है। उन्होंने कबीर पंथ के धर्मगुरु प्रकाश मुनि, शदाणी दरबार, डोगरगढ़ में अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुके हैं। 

आगामी विधानसभा चुनाव में प्रचार-प्रसार के लिए राहुल गांधी तीन चरणों में छत्तीसगढ़ आएंगे। वे मंदिर जाकर जहां हिंदू वोटर्स को साधने की कोशिश करेंगे। वहीं मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के विधानसभा क्षेत्र राजनांदगांव में भी रोड शो कर शक्ति प्रदर्शन करेंगे। तीन चरणों में राहुल गांधी प्रदेश को करीब 10 दिन देंगे। इस दौरान धार्मिक क्षेत्र डोगरगढ़, रतनपुर, भोरमदव कवर्धा जैसे जगहों पर उनकी सभा कराने की तैयारी है। वे प्रदेश की  30 से अधिक सीटों पर फोकस करेंगे। तीन चरणों में से पहला चरण उनका भोरमदेव मंदिर से शुरू होगा, जो रायगढ़ तक जाएगा। इसमें वह तीन दिनों में करीब 10 विधानसभा क्षेत्रों को कवर करेंगे। दूसरे चरण में वे डोंगरगढ़ से कांकेर की यात्रा पर होंगे। यहां भी 10 विधानसभा क्षेत्रों को कवर करेंगे।

03-10-2018
Indian Air Force : चीफ एयर मार्शल धनोआ ने राफेल और एस-400 को बताया बूस्टर डोज

नई दिल्ली। बुधवार को वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने राफेल डील का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि एस-400 मिसाइल सिस्टम और राफेल हमारे लिए बूस्टर डोज साबित होंगे। ये बातें उन्होंने ट्वीट करके कही। उन्होंने आगे कहा कि राफेल एक अच्छा एयरक्राफ्ट है और जहां तक उपमहाद्वीप की बात है तो यह गेम चेंबर साबित होगा। उन्होंने कहा कि इस डील में हमें कई फायदे हैं। राफेल और एस400 एयर मिसाइल डिफेंस सिस्टम डील हमारे लिए एक बूस्टर डोज होगा। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के राफेल पर लेकर किए जा रहे हमलों के बाद वायुसेना प्रमुख का ये बयान काफी अहम माना जा रहा है।

चीफ एयर मार्शल धनोआ की दो टूक:

राफेल विमानों की संख्या 126 से 36 किए जाने को लेकर वायुसेना प्रमुख ने कहा कि उचित जगह पर वायुसेना से बातचीत की गई थी। हमने कुछ विकल्प भी दिए थे। इसके बाद यह सरकार का फैसला था कि वो क्या चुनाव करे?

एएचएल को लेकर उन्होंने कहा कि इमरजेंसी जरूरतों के लिए सरकार से सरकार के बीच दो स्काड्रन खरीदने का फैसला हुआ था। तकनीक के ट्रांसफर और लाइसेंस प्रोडक्शन में एचएएल शामिल था, उसे डील से बाहर करने का सवाल ही नहीं है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804
Visitor No.