GLIBS
14-10-2019
राहुल गांधी का कटाक्ष : युवाओं को बेवकूफ बनाकर सरकार नहीं चला सकते

चंडीगढ़।  हरियाणा विधानसभा चुनाव के प्रचार के लिए सोमवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी यहां के नूंह विधानसभा क्षेत्र में पहुंचे। राहुल ने अपनी सभा में सीएम खट्टर और पीएम नरेंद्र मोदी पर जमकर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी अंबानी-अडानी के लाउडस्पीकर हैं और दिनभर उन्हीं की बात करते हैं। राहुल गांधी ने कहा कि देश में जो बेरोजगारी है और जो अर्थव्यवस्था की हालत है, आप देखना कि 6 महीने बाद यहां क्या होता है। देश में युवाओं को ज्यादा वक्त तक बेवकूफ   बनाकर सरकार नहीं चला सकता। आप 6 महीने एक साल सरकार चला सकते हो, लेकिन एक दिन सच्चाई बाहर आएगी। फिर देखना क्या होता है देश में और क्या होता है नरेंद्र मोदी का? कांग्रेस नेता ने कहा कि इस देश में अलग-अलग जाति और धर्म के लोग रहते हैं। यहां अमीर लोग गरीब लोग सभी एक साथ रहते हैं और इन सभी को हम हिंदुस्तान कहते हैं। कांग्रेस सबकी पार्टी है और हमारा काम लोगों को जोडऩे का है। बीजेपी और आरएसएस का काम जो पहले अंग्रेज करते थे देश को तोडऩे का काम और देश में एक दूसरे को लड़ाने का काम है। नोटबंदी और जीएसटी पर कटाक्ष करते हुए राहुल ने कहा कि पहले नोटबंदी ने देश में सबको लाइन में लगा दिया। उस लाइन में अनिल अंबानी और अडानी को देखा था क्या आपने? उस दौरान काले धन का कोई आदमी लाइन में नहीं लगा। उसके बाद गब्बर सिंह टैक्स आया। यहां कोई है जो कह सके कि जीएसटी से मुझे फायदा हुआ। छोटे दुकानदार, मिडिल साइज बिजनस सब खत्म हो गए क्योंकि उनका बिजनस मोदी अपने 15-20 दोस्तों को देना चाहते हैं।

अगर आप देशभक्त हैं तो आप बताओ कि हिंदुस्तान की पब्लिक सेक्टर की कंपनियां हैं उन्हें आप अपने अरबपति मित्रों को क्यों बेच रहे हो? राहुल ने आगे कहा कि ये लोग चाहते हैं कि आपका ध्यान सच्चे मुद्दों से हटकर अलग-अलग मुद्दों पर जाता रहे। बस आप सच्चाई पर सवाल ना पूछे। इनके मीडिया के मित्र हैं जिनका ठेका लगा हुआ है। आपने टीवी पर कभी देखा है कि भारत में बेरोजगारी है? क्योंकि ये लोग और इनके मालिक नहीं चाहते कि आपको पता चले कि नरेंद्र मोदी ने आपका पैसा लूटा है। राहुल ने कहा कि राफेल मामले में एयरफोर्स के लोगों ने साफ  कहा कि नरेंद्र मोदी ने कॉन्ट्रैक्ट बदलवाया। एयरफोर्स का डॉक्यूमेंट था, लेकिन ये मीडिया में नहीं आया क्योंकि सच्चाई आपको नहीं दिखानी है। आपको सिर्फ  झूठ दिखाना है, कभी चांद के बारे में और कभी राफेल के सामने पूजा होगी और कॉर्बेट में मूवी बनेगी। लेकिन नरेंद्र मोदी ये नहीं कहेंगे कि 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा मैंने तोड़ा। नूंह की इस रैली के दौरान राहुल ने लोगों से किसानों की कर्जमाफी और अर्थव्यवस्था की हालत पर भी चर्चा की और हरियाणा में अपनी सरकार बनवाने के लिए कांग्रेस को वोट करने के लिए भी कहा।

13-10-2019
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: राहुल गांधी ने भरी हुंकार, कहा- किसान विरोधी है मोदी सरकार

मुंबई। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार की शुरूआत करते हुए मोदी सरकार को किसान विरोधी सरकार बताया है। उन्होंने लातूर में पार्टी उम्मीदवार के समर्थन में रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने किसानों की कर्जमाफी का मुद्दा उठाया। राहुल ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार उद्योगपतियों की कजर्माफी तो करती है, लेकिन किसानों की नहीं। इस दौरान राहुल गांधी ने नोटबंदी और जीएसटी का मुद्दा उठाया। उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी का और जीएसटी का मकसद क्या था। उन्होंने कहा कि नोटबंदी, जीएसटी का उद्देश्य गरीबों की जेबों से पैसा निकाल कर अमीरों को देना था। उन्होंने कहा कि मोदी ने कहा था कि नोटबंदी से भ्रष्टाचार कम होगा। उन्होंने मंच से पूछा कि क्या भ्रष्टाचार खत्म हुआ? सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि किसानों के संकट, नौकरियों की कमी पर मीडिया चुप है। राहुल ने कहा कि मोदी सरकार ने 15 अमीर लोगों का 5.5 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया। राहुल गांधी ने केन्द्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए मीडिया, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर मुख्य मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने का आरोप लगाया। कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार अनुच्छेद 370, चांद की बात करती है लेकिन देश की समस्याओं पर चुप है।

 

 

13-10-2019
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव : रैलियों का शंखनाद शुरू, पीएम मोदी, राहुल गांधी इन शहरों में लेंगे सभा

नई दिल्ली। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के मद्देनजर रविवार को प्रधानमंत्री मोदी की महाराष्ट्र में दो रैलियां होनी है। इसको लेकर पीएम मोदी ने ट्वीट कर जानकारी दी। उन्होंने अपने ट्वीट में बताया कि वह जलगांव और सकोली में रैलियों को संबोधित करेंगे। इतना ही नहीं आज ही राहुल गांधी भी महाराष्ट्र में चुनावी शंखनाद करेंगे। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि, ‘महाराष्ट्र में कल प्रचार करूंगा। जलगांव और सकोली में रैलियों को संबोधित करने के लिए उत्सुक हूं। राजग हमारे युवा और दूरदर्शी मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली सरकार के कामों के आधार पर लोगों के बीच जा रहा है। हम राज्य की सेवा करने के लिए पांच और साल मांगेंगे।’

वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए रविवार को तीन रैलियों को संबोधित कर पार्टी के प्रचार अभियान की शुरुआत करेंगे। बता दें कि राहुल रविवार को दोपहर बाद असुआ (लातूर) में कांग्रेस उम्मीदवार बसावरन एम. पाटिल के लिए होने वाली रैली को संबोधित करेंगे, उसके बाद मुंबई के चांदीवली में पार्टी उम्मीदवार नसीम खान और धारावी में वर्षा गायकवाड़ के लिए होने वाली रैली में अपनी बात रखेंगे। नसीम खान के मुताबिक, राहुल अपने संबोधन में पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक घोटाले का जिक्र कर इसको लेकर सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी-शिवसेना को बेनकाब करेंगे। इस घोटाले ने त्योहारों के मौसम से पहले लाखों जमाकर्ताओं को बुरी तरह आहत किया है। 288 सीटों वाली महाराष्ट्र विधानसभा के लिए मतदान 21 अक्टूबर को होगा और परिणाम 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे। भाजपा और शिवसेना के गठबंधन की सीधी टक्कर कांग्रेस-राकांपा गठबंधन से है।

11-10-2019
राहुल गांधी को इस मामले में मिली जमानत, सात दिसंबर को होगी अगली सुनवाई

अहमदाबाद। अमित शाह को हत्यारोपी कहने के मामले में राहुल गांधी को अहमदाबाद की कोर्ट से जमानत मिल गई है। अब इस मामले की अगली सुनवाई सात दिसंबर को होगी। बता दें कि गुरुवार को 'सभी मोदी चोर' कहने के मामले में अहमदाबाद के एक कोर्ट में पेश होने के बाद राहुल ने खुद को निर्दोष बताया था। वह तीन मामलों में कोर्ट में हाजिर होने के लिए गुरुवार से अहमदाबाद में हैं। राहुल गांधी ने जबलपुर में एक रैली के दौरान अमित शाह को हत्या का आरोपी बताया था। जिसके बाद उनके खिलाफ भाजपा पार्षद कृष्णवदन ब्रह्मभट्ट ने मानहानि का मुकदमा दायर किया है। इस मामले में अहमदाबाद की मजिस्ट्रेट कोर्ट ने राहुल को मई में समन जारी किया था। बता दें कि सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर मामले में शाह 2015 में बरी हो चुके हैं। दूसरा मामला जिसमें अभी राहुल गांधी की पेशी होनी है वह अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक से जुड़ा है। राहुल ने आरोप लगाया था कि नोटबंदी के समय एडीसी बैंक में पांच दिन में 750 करोड़ रुपए को बदला गया। बता दें कि अमित शाह इस बैंक के निदेशक हैं। राहुल ने दावा किया था कि इसमें अमित शाह की संलिप्तता है। इसके बाद बैंक के अध्यक्ष ने राहुल के खिलाफ मानहानि का केस दायर किया था।
 

10-10-2019
इस कांग्रेस नेता ने कहा- प्रियंका गांधी को सलाह देने की मेरी हैसियत नहीं

बलिया। कांग्रेस के पूर्व सांसद राजेश मिश्रा ने पार्टी को देश के मौजूदा राजनीतिक परिवेश में आत्ममंथन करने की सलाह देते हुए महासचिव प्रियंका गांधी के सलाहकार का दायित्व संभालने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी को सलाह देने की उनकी हैसियत नहीं है। वाराणसी से कांग्रेस के सांसद रहे और लोकसभा चुनाव (2019) में सलेमपुर सीट से पार्टी प्रत्याशी रहे वरिष्ठ नेता राजेश मिश्रा ने कहा कि उन्होंने अपने फैसले से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के कार्यालय को अवगत करा दिया है। उन्होंने लखनऊ कैंट सीट के प्रभारी का पद संभालने से भी मना कर दिया है। सलाहकार का पद निर्वाह न करने को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने स्पष्ट किया कि वह प्रियंका गांधी को सलाह देने की स्थिति में नहीं हैं। उनको जो समझ में आया, उसके अनुसार उन्होंने यह कदम उठाया है। यह पूछे जाने पर कि क्या उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की नवगठित कार्यकारिणी से नाराज होकर उन्होंने यह कदम उठाया है, मिश्रा ने कहा कि बहुत सी चीजें गलत हैं, लेकिन यह पार्टी का अंदरूनी मामला है। अगर पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी या महासचिव प्रियंका गांधी उन्हें बुलाकर बात करेंगे तब वह उनके सामने सारी बातें रखेंगे। राजेश मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस को जमीनी, निष्ठावान, मेहनती और विशुद्ध कांग्रेसी लोगों को आगे बढ़ाना चाहिए। पार्टी की अनुशासन समिति, दल के वरिष्ठ नेताओं और दल के राज्य प्रभारियों को पार्टी नेताओं की अनावश्यक बयानबाजी का संज्ञान लेकर स्थिति को सामान्य करने के लिए कदम उठाना चाहिए। 

10-10-2019
मानहानि मामला: सूरत कोर्ट में पेश हुए राहुल, 10 दिसंबर को होगी अगली सुनवाई

सूरत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उपनाम 'मोदी' को लेकर दिए गए विवादास्‍पद बयान को लेकर किए गए मानहानि के मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी गुरुवार को सूरत कोर्ट में पेश हुए। अब इस मामले की अगली सुनवाई 10 दिसंबर को होगी। बता दें कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने अपने बयान में कहा था कि सभी चोरों के उपनाम मोदी क्यों हैं ? जुलाई में हुई सुनवाई के दौरान अदालत ने राहुल गांधी को व्यक्तिगत पेशी से छूट दे दी थी और मामले की अगली सुनवाई के लिए 10 अक्टूबर की तारीख तय की थी। इससे पहले मुख्य न्यायिक मैजिस्ट्रेट बीएच कपाड़िया ने मई में गांधी को समन जारी किया था। अदालत ने भारतीय जनता पार्टी के विधायक पुरनेश मोदी की भारतीय दंड संहिता की धारा 499 और 500 के तहत शिकायत को स्वीकार कर लिया था। यह धारा आपराधिक मानहानि के मामले से संबंधित है।

10-10-2019
राहुल गांधी की सूरत कोर्ट में पेशी आज, मोदी उपनाम पर कसा था तंज

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के प्रचार अभियान के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उपनाम ‘मोदी’ को लेकर दिए गए विवादास्पद बयान को लेकर किए गए मानहानि के मामले में आज कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सूरत के एक कोर्ट में पेश होंगे। गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावड़ा ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी 10 अक्टूबर को अदालत में पेशी के लिए सूरत आएंगे। इसी साल लोकसभा चुनाव के दौरान एक भाषण में उन्होंने टिप्पणी की थी कि ‘सभी चोरों के उपनाम मोदी क्यों हैं?’ इस मामले में राहुल गांधी के खिलाफ स्थानीय भाजपा विधायक पूर्णेश मोदी ने आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराया था। अपनी शिकायत में उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी ने पूरे मोदी समुदाय को बदनाम किया है। सूरत की एक अदालत ने इस आपराधिक मानहानि मामले में राहुल गांधी को निजी उपस्थिति से छूट दे दी थी, लेकिन बाद में कोर्ट ने इस निष्कर्ष पर राहुल गांधी को समन भेजा था कि उनके खिलाफ पहली नजर में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 500 के तहत आपराधिक मानहानि का मामला बनता है। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट बीएच कपाडि़या ने मई में गांधी के खिलाफ समन जारी किया था। राहुल इस मामले में गुरुवार को कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगे। दरअसल, लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान राहुल गांधी ने विवादित बयान दिया था। राहुल गांधी ने कहा था कि ‘सभी चोरों का उपनाम मोदी क्यों होता है।’ इस मामले में राहुल गांधी के खिलाफ स्थानीय भाजपा विधायक पूर्णेश मोदी ने आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराया था।

 

 

09-10-2019
राहुल गांधी की सूरत कोर्ट में पेशी कल, इस टिप्पणी को लेकर झेल रहे मानहानि का मुकदमा

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के प्रचार अभियान के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उपनाम 'मोदी' को लेकर दिए गए विवादास्पद बयान को लेकर किए गए मानहानि के मामले में राहुल गांधी गुरुवार को सूरत के एक कोर्ट में पेश होंगे। गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावड़ा ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी 10 अक्टूबर को अदालत में पेशी के लिए सूरत आएंगे। इसी साल लोकसभा चुनाव के दौरान एक भाषण में उन्होंने टिप्पणी की थी कि 'सभी चोरों के उपनाम मोदी क्यों हैं?' इस मामले में राहुल गांधी के खिलाफ स्थानीय बीजेपी विधायक पूर्णेश मोदी ने आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराया था। अपनी शिकायत में उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी ने पूरे मोदी समुदाय को बदनाम किया है। सूरत की एक अदालत ने इस आपराधिक मानहानि मामले में राहुल गांधी को निजी उपस्थिति से छूट दे दी थी, लेकिन बाद में कोर्ट ने इस निष्कर्ष पर राहुल गांधी को समन भेजा था कि उनके खिलाफ पहली नजर में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 500 के तहत आपराधिक मानहानि का मामला बनता है। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट बीएच कपाडिय़ा ने मई में गांधी के खिलाफ  समन जारी किया था। राहुल इस मामले में गुरुवार को कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगे। 

 

04-10-2019
दिल्ली में बैठे लोगों में समझ की कमी, छोड़ दूंगा कांग्रेस : संजय निरुपम

नई दिल्ली। महारष्ट्र विधानसभा चुनाव में उम्मीदवारों की घोषणा होने के बाद से ही प्रदेश कांग्रेस ने बगावत और गुटबाजी देखने को मिल रही है। पार्टी से टिकट नहीं मिलने पर कई नेता नाखुश दिखा दे रहे है। इसी बीच कांग्रेस के लिए प्रचार नहीं करने के ऐलान के बाद संजय निरुपम ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपनी पसंद के उम्मीदवारों को टिकट नहीं दिए जाने से नाराज संजय निरुपम ने कांग्रेस आलाकमान पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठे लोगों में समझ की कमी है। पार्टी ने योग्य लोगों के साथ न्याय नहीं किया। संजय निरुपम टिकट बंटवारे से नाराज हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ जुड़े लोग साजिश रच रहे हैं। निरुपम ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी से जुड़े लोगों को पार्टी में अलग-थलग किया जा रहा है। ऐसा ही चलता रहा तो वह लंबे समय तक कांग्रेस में नहीं रह पाएंगे। निरूपम ने कहा कि कांग्रेस में अब फीडबैक सिस्टम खत्म हो गया है। महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने वर्सोवा सीट से अपने उम्मीदवार को टिकट नहीं दिए जाने पर भी सवाल उठाए और दावा किया कि वह सही प्रत्याशी को टिकट देने के लिए कह रहे थे। उन्होंने स्वयं को चुनाव प्रचार अभियान से अलग रखने का ऐलान करते हुए कहा कि कुछ सीटों को छोड़ दें तो कांग्रेस उम्मीदवारों की जमानत जब्त होगी।

मुस्लिमों को दरकिनार करने का लगाया आरोप

उन्होंने कांग्रेस के महाराष्ट्र प्रभारी मल्लिकार्जुन खड्गे पर भी जमकर निशाना साधा। निरूपम ने कहा कि खड्गे ने हमारे उम्मीदवारों से बात नहीं की। निरुपम ने कहा कि कांग्रेस का पूरा मॉडल ही दोषयुक्त है। उन्होंने कांग्रेस आलाकमान पर मुस्लिम समाज को दरकिनार करने का आरोप लगाया और इस पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह ठीक नहीं।

आज नामांकन की अंतिम तिथि

गौरतलब है कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन की अंतिम तिथि चार अक्टूबर को है। 21 अक्टूबर को मतदान होना है। ऐेसे मेें पहले ही नेताओं के पलायन से जूझ रही कांग्रेस के लिए निरुपम के बगावती तेवर मुश्किलें बढ़ाने वाले सिद्ध हो सकते हैं।

02-10-2019
आरएसएस को भारत का प्रतीक बनाना चाहते हैं कुछ लोग : सोनिया गांधी

नई दिल्ली। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर हमला बोला है। सोनिया गांधी ने कहा कि कुछ लोग आरएसएस को भारत का प्रतीक बनाना चाहते हैं। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की पदयात्रा के समापन के बाद सोनिया ने राजघाट पर पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की। सोनिया ने मोदी और भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा, 'गांधी जी का नाम लेना आसान है, लेकिन उनके बताए रास्ते पर चलना मुश्किल है। गांधी जी का नाम लेकर भारत को अपने रास्ते पर ले जाने वाले पहले भी कम नहीं थे, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में साम-दाम-दंड-भेद का खुला खेल करके वो अपने आपको बहुत ताकतवर समझते हैं। उन्होंने कहा कि इन सबके बावजूद भारत नहीं भटका तो इसकी वजह है कि हमारे देश की बुनियाद में गांधी के आदर्शों की आधारशिला है। सोनिया ने कहा कि भारत और गांधी एक दूसरे के पर्याय है।

यह अलग बात है कि कुछ लोग इसे उलटा करने की कोशिश करते हैं। कुछ लोग चाहते हैं कि गांधी नहीं बल्कि आरएसएस भारत का प्रतीक बन जाए। मैं ऐसे लोगों को बताना चाहती हूं कि हमारे देश की मिलीजुली संस्कृति और समाज गांधी जी की सर्वसमावेशी व्यवस्था के अलावा दूसरे के बारे में सोच नहीं सकता। सोनिया ने कहा कि जो लोग असत्य के आधार पर राजनीति कर रहे हैं वो कैसे समझेंगे कि गांधी जी सत्य और अहिंसा के पुजारी थे? जो सारी शक्ति अपनी मुठ्टी में रखना चाहते हैं वे कैसे समझेंगे कि गांधी जी के स्वराज का क्या मतलब है? सोनिया ने कहा कि जिन्हें मौका मिलते ही अपने को सर्वेसर्वा बताने की इच्छा हो वो कैसे समझेंगे कि गांधी जी की सेवा का क्या मतलब है? राहुल गांधी ने कहा कि राष्ट्रपिता ने दिखाया है कि कैसे सभी जीवित प्राणियों के लिए प्रेम और अहिंसा ही एकमात्र तरीका है जिससे हम कट्टरता और घृणा को परास्त कर सकते हैं। मंगलवार सुबह सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राजघाट जाकर महात्मा गांधी को श्रद्धासुमन अर्पित किए। राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा- महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर महात्मा गांधी जी को मेरी श्रद्धांजलि। राष्ट्रपिता जिन्होंने अपने शब्दों और कर्मों के जरिए हमें दिखाया कि सभी जीवित प्राणियों और अहिंसा के प्रति प्रेम ही उत्पीडऩ, कट्टरता और घृणा को हराने का एकमात्र तरीका है। 

 

01-10-2019
प्रदेश में फिर से लागू किया जाए अनुसूचित जाति के लिए 16 प्रतिशत आरक्षण: खुंटे

रायपुर। प्रदेश में अनुसूचित जाति के लिए 16 प्रतिशत आरक्षण की मांग ओमप्रकाश खुंटे ने की है। उन्होंने आरक्षित क्षेत्र से चुन कर आए 39 अनुसूचित जाति, जनजाति के विधायक से मांग की है कि प्रदेश में 16 प्रतिशत आरक्षण के लिए आगे आए अन्यथा इस्तीफा दे। प्रगतिशील छग सतनामी समाज के सदस्य ओमप्रकाश खुंटे ने कहा कि प्रशासन ने हमारे आंदोलन को असफल करने का प्रयास किया। हमारे धरना आंदोलन को अनुमति प्रदान नहीं की गई थी। हम पिछले 15 दिनों से इस स्थान पर धरना प्रदर्शन की अनुमति के लिए आवेदन पत्र दिए थे हमें अनुमति नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि इदगाह भाठा मैदान में हमें नज़र बंद कर दिया गया था। उस मैदान से हमें सड़क तक आने नहीं दिया गया। हमें ज्ञापन देने सीएम हाउस और राज्यपाल निवास के लिए जाने नहीं दिया गया। सीएसीपी को ज्ञापन लेने के लिए अधिकृत कर धरना स्थल भेजा गया था। धरना स्थल पर ही प्रशासन व पुलिस के आला अधिकारियों की उपस्थित में मुख्यमंत्री, राज्यपाल और राहुल गांधी और सोनिया गांधी के नाम ज्ञापन सौंपा गया। खुंटे ने कहा कि आंदोलनकारी साथियों ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि इस आंदोलन को हम हर ब्लॉक और हर जिले में करेंगे। ओमप्रकाश खुंटे ने कहा कि हमारी सरकार ने मांगे है। इसमें अनुसूचित जाति का 16 प्रतिशत आरक्षण पुनः लागू किया जाए। 10 विधानसभा अजा, 29 विधानसभा अजजा के लिए सुरक्षित विधायक हैं। ऐसे में 39  सदस्य आरक्षित विधानसभा क्षेत्र है। इसलिए प्रदेश का मुख्यमंत्री उप मुख्यमंत्री अनु जाति या अनुसूचित जनजाति से हो। जिले में रोस्टर अनुपात में आरक्षण लाभ दिया जाए। पाठ्य पुस्तक निगम में हमारे समाज से एक पदेन सदस्य रखा जाए ताकि गुरु बाबा घासीदास की जीवन चरित्र में छेड़छाड़ ना हो और समाज से अनुमोदन के बाद ही प्रकाशित किया जाए। पाठ्यक्रम में संविधान की पढ़ाई जारी किया जाए। अगले परिसीमन में छत्तीसगढ़ की 24 विधानसभा, 3 लोकसभा, 1 राज्यसभा अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित किया जाए।  बलौदाबाजार जिला को संत गुरु घासीदास जिला का नाम दिया जाए।

 

28-09-2019
नेशनल हेराल्ड केस : राउज एवेन्यू अदालत ने 21 अक्टूबर तक टाली सुनवाई

नई दिल्ली। नेशनल हेराल्ड केस मामले में दिल्ली की राउज एवेन्यू अदालत ने मामले की सुनवाई 21 अक्टूबर तक टाल दी है। बता दें कि इस मामले में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित कई वरिष्ठ कांग्रेसी आरोपी हैं। भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका पर सुनवाई हुई। इससे पहले हुई सुनवाई में अदालत में कांग्रेस के वकील ने स्वामी से कई सवाल पूछे थे जिसके उन्होंने जवाब भी दिए। अदालत ने आज की सुनवाई को खत्म करते हुए अगली सुनवाई के लिए 28 सितंबर की तारीख तय की थी, जिसे अदालत ने आज बढ़ा कर 21 अक्टूबर कर दिया है। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804