GLIBS
17-09-2020
राज्यों का बकाया जीएसटी देने की मांग पर संसद परिसर में विपक्ष ने किया प्रदर्शन

नई दिल्ली। विपक्षी दलों ने गुरुवार को संसद परिसर स्थित महात्मा गांधी प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया और राज्यों के बकाया जीएसटी के भुगतान की मांग की। विपक्षी दलों मेंटीआरएस, टीएमसी, डीएमके, आरजेडी, आप, एनसीपी, समाजवादी पार्टी और शिवसेना के सांसदों ने प्रदर्शन किया। गौरतलब है कि केंद्र ने राज्यों को दो विकल्प दिए थे। केंद्र दृढ़ता से इस बात पर कायम है कि राज्यों को उत्तरोत्तर प्रक्रिया के माध्यम से ऋण लेना चाहिए।दूसरी ओर बड़ी संख्या में राज्य इस बात पर अड़े हैं कि केंद्र को उधार लेना चाहिए और उन्हें जीएसटी एक्ट में किए गए वादे के मुताबिक बकाया का भुगतान करना चाहिए।

दोनों के अपनी-अपनी बात पर अवर्ती से जीएसटी से जुड़ा विवाद गहरा गया है। देश के तकरीबन 10 राज्य ऐसे हैं जो केंद्र की दलील से इत्तेफाक नहीं रखते और वे खुलकर विरोध कर रहे हैं। इन राज्यों का कहना है कि वे केंद्र के प्रस्ताव को ठुकरा देंगे। इन राज्यों की मांग है कि प्रधानमंत्री खुद इस मामले में हस्तक्षेप कर इसे सुलझाएं। पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, केरल, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, दिल्ली, पुडुचेरी, पंजाब और झारखंड ने खुले तौर पर केंद्र सरकार के प्रस्तावों को खारिज किया है। साथ ही इन राज्यों ने मांग की है कि केंद्र सरकार को उधार लेना चाहिए और राज्यों के बकाया का भुगतान करना चाहिए। 

15-09-2020
जया बच्चन के समर्थन में बोले संजय राउत, कहा-आरोप लगाने वालों का हो डोप टेस्ट

नई दिल्ली। संसद में दूसरे दिन समाजवादी पार्टी की सांसद और अभिनेत्री जया बच्चन ने अपने बयानों से माहौल गरम कर दिया। जया ने संसद में बिना नाम लिए कंगना रनौत पर हमला बोलते हुए कहा कि जिन लोगों ने फिल्‍म इंडस्‍ट्री से नाम कमाया, वे इसे गटर बता रहे हैं। अब जया के इस बयान के समर्थन में शिवसेना सासंद संजय राउत उतरे हैं। जया बच्चन के बयान का शिवसेना सांसद संजय राउत ने सीधे तौर पर समर्थन किया है। इसके साथ ही ड्रग्स मुद्दे पर बात करते हुए संजय राउत ने कहा कि जो लोग भी सवाल खड़े कर रहे हैं, पहले उनका ही डोप टेस्ट होना चाहिए। उन्होंने कहा, अगर अंतरराष्ट्रीय रास्तों से ड्रग्स आ रहा है तो ये केंद्र और केंद्रीय एजेंसियों की जिम्मेदारी है। अगर किसी इंडस्ट्री में कुछ बुरे लोग हैं, तो इसका मतलब ये नहीं कि पूरी इंडस्ट्री को ही बदनाम कर दो। राउत ने आगे अपने बयान में यह भी कहा कि कंगना रनौत ने जो बयान दिया है, उस पर बच्चन परिवार जवाब दे सकता है। इसके अलावा कंगना शिवसेना के आदित्य ठाकरे के बारे में जो भी आरोप लगा रही हैं, उन्हें गृह मंत्रालय, गृह सचिव और एजेंसियों को सबूत देने चाहिए।

 

07-08-2020
पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव अस्पताल में भर्ती

लखनऊ। समाजवादी पार्टी संरक्षक व पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव को तबियत खराब होने पर लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। डॉक्टरों की कड़ी निगरानी में उनका इलाज चल रहा है। मेदांता के डायरेक्टर डॉ.राकेश कपूर ने बताया कि संक्रमण की शिकायत पर उन्हें गुरुवार रात अस्पताल लाया गया था। इसके बाद उनकी कोरोना जांच की गई जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई। डॉ.कपूर का कहना है कि डॉक्टरों की कड़ी निगरानी में उनका इलाज चल रहा है। उनका अल्ट्रासाउंड, ब्लड टेस्ट और यूरिन टेस्ट किया गया है। पेट दर्द कम हुआ है और हालत स्थिर है। उन्होंने कहा कि सभी रिपोर्टों के मूल्यांकन के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। मालूम हो कि मुलायम सिंह माह भर पहले भी मेदांता में भर्ती हुए थे। उस वक्त उन्हें आंत में समस्या थी। हालांकि, इलाज के बाद उन्हें आराम मिल गया और उन्हें घर भेज दिया गया था।

 

 

01-08-2020
अमर सिंह का लंबी बीमारी के बाद निधन, सिंगापुर में चल रहा था इलाज

नई दिल्ली। राज्यसभा सांसद और समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह का शनिवार दोपहर 64 वर्ष की आयु में निधन हो गया। अमर सिंह बहुत लंबे समय से बीमार चल रहे थे और कुछ महीनों से सिंगापुर में उनका इलाज चल रहा था। 

27-03-2020
समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने लिखा भूपेश बघेल को पत्र, कहीं ये बात...

कोरबा। कोरोना वायरस को देखते हुए सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों का समर्थन करते हुए समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष तनवीर अहमद ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर कहा कि सरकार द्वारा चलाए जा रहे लॉक डाउन का हम पूरी तरह से समर्थन करते हैं। उन्होंने गरीब किसान, असहाय लोगों के प्रति अपनी चिंता व्यक्त करते हुए पांच बिंदुओं पर अपने सुझाव प्रेषित किए हैं। गांव देहात के पशुपालकों को गाय भैंस एवं पालतू पशुओं के लिए चारा भूसा चोकर चुनी आदि की गाड़ियों को न रोका जाए।

2 नवरात्रि पर्व को देखते हुए अमूल और पराग से दूध उत्पादन कराकर सस्ती दरों पर आम जनों को उपलब्ध कराया जाए। (3) कालाबाजारी पर लगाम लगाते हुए दूध सब्जी राशन दवाइयों समेत सभी दैनिक उपयोगी सामानों की पहुंच गांव कस्बा शहर में सही कीमत पर बनी रहे यह सुनिश्चित करें। (4) ट्रांसपोर्ट व्यवसाय के लिए क़िस्त भरने में राहत का ऐलान करें कोल्ड स्टोरेज पर मजदूर ना होने से मंडियों तक आलू नहीं पहुंच पा रहा है इसके लिए मास्क पहनाकर सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर लोडिंग अनलोडिंग की व्यवस्था की जाए। (5)जो मीडिया कर्मी अपनी सेवाएं दे रहे हैं उस पर समुचित ध्यान दिया जाए। तनवीर अहमद ने इन पांच बिन्दुओं पर ध्यानाकर्षण कराया है।

15-03-2020
उत्तरप्रदेश : सपा नेता आजम खान की बढ़ी मुश्किल, दर्ज हुआ एक और केस

लखनउ। समाजवादी पार्टी के नेता और रामपुर से सांसद आजम खान की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ने वाली हैं। दरअसल आजम खान के ऊपर शत्रु संपत्ति कब्जाने का एक और मुकदमा दर्ज हुआ है। राजस्व निरीक्षक मनोज कुमार की तहरीर पर अजीम नगर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। सांसद आजम खान पर उनकी जौहर यूनिवर्सिटी में शत्रु संपत्ति पर चारदिवारी कर कब्जा करने का आरोप है। आईपीसी की धारा 447 और सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। बता दें कि फर्जी बर्थ सर्टिफिकेट मामले में आजम खान अपनी पत्नी तंजीम फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम के साथ अभी जेल में हैं।

जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने बताया कि ट्रस्ट को हर साल एक अप्रैल को डीएम को प्रगति रिपोर्ट देनी होती है लेकिन, जौहर ट्रस्ट ने कभी कोई रिपोर्ट नहीं दी। इसकी जांच उपजिलाधिकारी सदर को सौंपी है। हम चाहते हैं कि यूनिवर्सिटी चलती रहे। हमने सरकार को भी रिपोर्ट दी है कि इसे टेकओवर कर लिया जाए और उसे मौजूदा स्वरूप में चलने दिया जाए। रिपोर्ट में दलील दी गई है कि प्रदेश सरकार ने पिछले साल ही कानून बनाया है कि प्राइवेट यूनिवर्सिटी में अगर वित्तीय और प्रशासनिक अनियमितता पाई जाती है तो वहां प्रशासक नियुक्त किया जा सकता है। जिला प्रशासन का यह भी तर्क भी है कि यूनिवर्सिटी में काफी जमीन सरकारी हैं। साथ ही जमीन लेने के दौरान स्टांप लगाने से अनियमितता हुई। अल्पसंख्यक यूनिवर्सिटी में गरीबों को मुफ्त में शिक्षा नहीं दी जा रही है। लाइब्रेरी से चोरी की किताबें बरामद की गई। किसानों की जमीन कब्जे की शिकायतें सही पाई गई। काफी जमीन वक्फ के होने के सबूत हैं। चकरोड और कोसी नदी क्षेत्र की 140 बीघा जमीन मिलाने के साथ दलितों की 101 बीघा जमीन नियम के खिलाफ लेकर यूनिवर्सिटी में मिलाने का आरोप है।

दरअसल, अखिलेश सरकार के दौरान सपा के कद्दावर नेता आजम खान ने रामपुर में जौहर यूनिवर्सिटी की स्थापना की थी। यह उनका ड्रीम प्रोजेक्ट था। यूनिवर्सिटी का संचालन एक ट्रस्ट करता है, जिसके संस्थापक और कुलाधिपति आजम खान ही हैं। यही नहीं आजम खान जौहर ट्रस्ट के भी अध्यक्ष हैं। उनके बेटे अब्दुल्ला आजम सीईओ हैं और ट्रस्ट के सदस्य हैं। वहीं आजम की पत्नी तंजीन फातिमा भी ट्रस्ट की सदस्य हैं। इस समय आजम खान के साथ अब्दुल्ला आजम, तंजीन फातिमा जेल में बंद हैं।

26-02-2020
आजम खान पत्नी और बेटे सहित भेजे गए जेल, 2 मार्च तक न्यायिक हिरासत में

नई दिल्ली। कोर्ट के आदेश पर समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान को जेल भेज दिया गया है। आजम खान के साथ उनकी पत्नी तजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला को भी जेल दाखिल किया गया है। 2 मार्च तक तीनों न्यायिक हिरासत में रहेंगे। एसपी रामपुर ने कानून व्यवस्था बिगड़ने की आशंका जताई है। कहा आजम को रामपुर जेल की जगह किसी अन्य जिले की जेल में रखा जाएगा। बुधवार को आजम खां के साथ पत्नी तजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला ने कोर्ट में सरेंडर किया था। आजम खां ने एडीजे 6 की कोर्ट में जमानत के लिए याचिका दाखिल की थी, लेकिन कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी। जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर तीनों को न्यायिक हिरासत में ले लिया गया। गौरतलब है कि आजम खां ने 20 मामलों में जमानत याचिका दायर की थी। कई मामले में तो जमानत मंजूर हो गई है। लेकिन बेटे अब्दुल्ला आजम के फर्जी प्रमाण पत्र और दो पासपोर्ट के मामले में धारा 420 के तहत दर्ज मामले में जमानत याचिका खारिज की गई है। अब उन्हें जमानत के लिए हाईकोर्ट जाना होगा।

18-02-2020
जिंदगी और मौत से लड़ रहा हूं, अमिताभ बच्चन से माफी मांगता हूं : अमर सिंह

लखनऊ। गंभीर रूप से बीमार समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह ने अमिताभ बच्चन से माफी मांगी है। बता दें कि अमर सिंह सिंगापुर में किडनी का इलाज करा रहे हैं। अमर सिंह ने कहा कि वह जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं और जीवन के इस मोड़ पर अमिताभ से माफी मांगते हैं। उन्होंने एक विडियो संदेश और साथ ही ट्वीट के जरिए अमिताभ के नाम यह माफीनामा जारी किया। अमर ने कहा कि अमिताभ बच्चन रिश्तों में तल्खी के बावजूद हमेशा अपना फर्ज निभाते रहे,जबकि उन्होंने ही नफरत बढ़ाने का काम किया। अमर सिंह ने लिखा है,'आज मेरे पिता की पुण्यतिथि है और मुझे इसी को लेकर अमिताभ बच्चन का एक मेसेज मिला। आज जीवन के इस वक्त में जब मैं जिंदगी और मौत से लड़ रहा हूं, मैं अमित जी और पूरे परिवार से अपनी टिप्पणियों को लेकर माफी मांगना चाहता हूं। ईश्वर उन सभी पर अपना आशीर्वाद बनाए रखे।'

उन्होंने लिखा कि 'आज के दिन मेरे पिताजी का स्वर्गवास हुआ था। इस तारीख को पिछले एक दशक से लगातार अमिताभ बच्चन संदेश भेजते हैं। जब दो व्यक्तियों में बहुत स्नेह होता है और उसमें कुछ कम या अधिक अपेक्षाएं या उपेक्षाएं होती हैं तो उन संबंधों में बहुत उबाल आता है। बहुत उग्र प्रतिक्रियाएं होती हैं। संबंध जितना अधिक निकट होता है, उसकी टूट की चुभन भी उतनी अधिक नुकीली होती है।' उन्होंने लिखा कि'पिछले 10 सालों में मैं बच्चन परिवार से न सिर्फ अलग रहा,बल्कि यह भी प्रयत्न किया कि उनके दिल में मेरे लिए नफरत हो लेकिन आज अमिताभ बच्चन ने मेरे पिताजी का सुमिरन किया तो मुझे ऐसा लगा कि इसी सिंगापुर में 10 साल पहले गुर्दे की बीमारी के लिए मैं और अमित लगभग दो महीने तक साथ रहे। इसके बाद हमारा और उनका साथ छूट सा गया। लेकिन 10 वर्ष बीत जाने पर भी उनकी निरंतरता में कोई बाधा नहीं आई। वह लगातार अनेक अवसरों पर चाहे मेरा जन्मदिवस हो या फिर पिताजी के स्वर्गवास का दिन हो, हर दिन को स्मरण करके अपने कर्तव्य का निर्वहन करते रहे हैं।'

उन्होंने लिखा कि मुझे लगता है कि मैंने भी अनावश्यक रूप से ज्यादा उग्रता दिखाई। साठ से ऊपर जीवन की संध्या होती है और एक बार फिर मैं जिंदगी और मौत की चुनौती के बीच से गुजर रहा हूं। मुझे लगता है कि सार्वजनिक रूप से मुझे और कोई कारण नहीं कि इस कारण कि हमसे उम्र में वह बड़े हैं, उनके प्रति नरमी रखनी चाहिए थी और जो कटु वचन मैंने बोला है, उसके लिए खेद भी प्रकट कर देना चाहिए। क्योंकि मेरे मन में कटुता और नफरत से ज्यादा उनके व्यवहार के प्रति निराशा रही।' अमर सिंह ने लिखा कि अमिताभ बच्चन मन में लगता है कि न तो निराशा है, न कटुता है बल्कि कोई न कोई भाव है। इस वजह से अपने पिताजी को श्रद्धांजलि देते हुए उन्होंने जो श्रद्धासुमन अर्पित किए हैं, उनका संप्रेषण करते हुए ईश्वर से यही प्रार्थना है कि सबको ईश्वर उनके कर्मों के अनुसार यथोचित न्याय दे और हमें सब ईश्वर पर छोड़ना चाहिए बजाए इसके कि हम उनके कामकाज में खुद दखल दें।'

 

 

09-02-2020
प्रधानमंत्री के पास देश में बढ़ रही बेरोजगारी पर सोचने की फुरसत नहीं: अखिलेश यादव

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 'सूर्य नमस्कार' वाले बयान पर तंज किया है। रविवार को उन्होंने कहा कि मोदी किसी बेरोजगार युवा के पिता के लिए भी कोई आसन बता देते तो अच्छा होता। अखिलेश ने कहा,‘प्रधानमंत्री 'सूर्य नमस्कार' अभ्यास की आवृत्ति बढ़ाकर अपनी पीठ मजबूत करने की बात कह रहे हैं। अच्छा होता, अगर वह किसी बेरोजगार युवा के पिता के लिए भी ऐसा कोई आसन बता देते।’ उन्होंने कहा, ‘देश में बेरोजगारी बढ़ रही है। प्रधानमंत्री के पास उसके बारे में सोचने की फुरसत नहीं है तो कम से कम वह कोई आसन ही बता दें।’ गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की 'डंडे' वाली टिप्पणी पर बीते बृहस्पतिवार को लोकसभा में तंज करते हुए कहा कि अब वह और भी ज्यादा सूर्य नमस्कार करेंगे ताकि उनकी पीठ और मजबूत हो सके।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के एग्जिट पोल अनुमानों का जिक्र करते हुए सपा अध्यक्ष ने कहा कि दिल्लीवासियों ने भाजपा की नफरत भरी राजनीति को नकार दिया है। कई राज्यों में शिकस्त पा चुकी भाजपा दिल्ली के चुनाव में खाता भी नहीं खोल पाएगी और आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल की एक बार फिर से मुख्यमंत्री के तौर पर ताजपोशी होगी। बस्ती जिले का नाम बदले जाने की अटकलों के बीच सपा मुखिया ने कहा कि यह सरकार केवल नाम बदलने में माहिर है।

 

12-01-2020
मार्निंग वॉक में निकले सपा नेता की गोली मार कर हत्या

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के मऊ जिले में समाजवादी पार्टी के नेता और मोहम्मदाबाद गोहना कोतवाली क्षेत्र के शेख वालिया गांव के पूर्व ग्राम प्रधान बिजली यादव को रविवार की सुबह अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। रविवार की सुबह रोजाना की तरह वह टहलने के लिए घर से निकले थे। लगभग आधा किमी की दूरी पर पहुंचे ही थे कि हमलावरों ने उनकी जान ले ली। हत्यारे घने कोहरे में घटना को अंजाम देकर भाग निकले। एक राहगीर ने गांववालों को सूचना दी। इस पर ग्रामीण परिजनों के साथ मौके पर पहुंचे। जानकारी पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने लाश को उठाने की कोशिश की तो ग्रामीणों ने रोक दिया। ग्रामीणों ने मांग की कि मौके पर डीएम-एसपी आएं, तभी लाश उठने देंगे।
करीब एक घंटे बाद पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंचे। उन्होंने हमलावरों की जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। इसके बाद ही ग्रामीणों ने लाश को उठाने दिया। पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक सपा नेता बिजली यादव की पत्नी मीना ने पुलिस को तहरीर दी। 

 

10-01-2020
अखिलेश यादव सपा कार्यकर्ताओं को दिखाएंगे 'छपाक', बुक किया सिनेमा हाल

लखनऊ। समाजवादी पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं को 'छपाक' फिल्म दिखाने के लिए शुक्रवार को गोमतीनगर के मल्टीप्लेक्स का एक शो बुक किया है। सपा ने ट्वीट करके यह जानकारी दी है। एसिड पीड़ित की जिंदगी पर बनी यह फिल्म शुक्रवार को ही रिलीज हो रही है। सपा नेताओं का कहना है कि अखिलेश यादव की अगुवाई में एसिड अटैक पीड़िताओं के लिए सर्वाधिक काम किया गया है। गोमतीनगर में एसिड पीड़िताओं के लिए एक कैफे की शुरुआत भी कराई थी। 'छपाक' फिल्म में दीपिका पादुकोन ने एसिड अटैक पीड़िता की भूमिका निभाई है। गौरतलब है कि दीपिका ने जेएनयू जाकर नकाबपोशों की पिटाई में जख्मी छात्र-छात्राओं से मुलाकात की थी। इसके बाद से कुछ लोग फिल्म का विरोध कर रहे हैं।

कासगंज: दीपिका पादुकोण के पोस्टर जलाकर जताया आक्रोश

जेएनयू में फिल्म का प्रमोशन करने पर भाजपा और हिंदु युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को कस्बे के चौदहपोर तिराहे पर एकत्रित होकर फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के खिलाफ नारेबाजी की। उन्होंने दीपिका के पोस्टर जलाए। इस दौरान दस जनवरी को रिलीज होने वाली फिल्म 'छपाक' का विरोध करने का निर्णय लिया गया।

भाजपा सभासद अमित मिश्र के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने लोगों से दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' का बहिष्कार करने का आह्वान किया। भाजपा सभासद ने कहा कि जेएनयू में जाकर देशविरोधी नारेबाजी करने वाले टुकडे़-टुकडे़ गैंग के बीच फिल्म प्रमोशन करना भी देशद्रोह की श्रेणी में आता है। इस दौरान भाजपा सभासद मुकेश कटारे, लवकुश निर्भय. प्रवीण निर्भय आदि मौजूद रहे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804