GLIBS
12-01-2020
मार्निंग वॉक में निकले सपा नेता की गोली मार कर हत्या

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के मऊ जिले में समाजवादी पार्टी के नेता और मोहम्मदाबाद गोहना कोतवाली क्षेत्र के शेख वालिया गांव के पूर्व ग्राम प्रधान बिजली यादव को रविवार की सुबह अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। रविवार की सुबह रोजाना की तरह वह टहलने के लिए घर से निकले थे। लगभग आधा किमी की दूरी पर पहुंचे ही थे कि हमलावरों ने उनकी जान ले ली। हत्यारे घने कोहरे में घटना को अंजाम देकर भाग निकले। एक राहगीर ने गांववालों को सूचना दी। इस पर ग्रामीण परिजनों के साथ मौके पर पहुंचे। जानकारी पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने लाश को उठाने की कोशिश की तो ग्रामीणों ने रोक दिया। ग्रामीणों ने मांग की कि मौके पर डीएम-एसपी आएं, तभी लाश उठने देंगे।
करीब एक घंटे बाद पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंचे। उन्होंने हमलावरों की जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। इसके बाद ही ग्रामीणों ने लाश को उठाने दिया। पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक सपा नेता बिजली यादव की पत्नी मीना ने पुलिस को तहरीर दी। 

 

10-01-2020
अखिलेश यादव सपा कार्यकर्ताओं को दिखाएंगे 'छपाक', बुक किया सिनेमा हाल

लखनऊ। समाजवादी पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं को 'छपाक' फिल्म दिखाने के लिए शुक्रवार को गोमतीनगर के मल्टीप्लेक्स का एक शो बुक किया है। सपा ने ट्वीट करके यह जानकारी दी है। एसिड पीड़ित की जिंदगी पर बनी यह फिल्म शुक्रवार को ही रिलीज हो रही है। सपा नेताओं का कहना है कि अखिलेश यादव की अगुवाई में एसिड अटैक पीड़िताओं के लिए सर्वाधिक काम किया गया है। गोमतीनगर में एसिड पीड़िताओं के लिए एक कैफे की शुरुआत भी कराई थी। 'छपाक' फिल्म में दीपिका पादुकोन ने एसिड अटैक पीड़िता की भूमिका निभाई है। गौरतलब है कि दीपिका ने जेएनयू जाकर नकाबपोशों की पिटाई में जख्मी छात्र-छात्राओं से मुलाकात की थी। इसके बाद से कुछ लोग फिल्म का विरोध कर रहे हैं।

कासगंज: दीपिका पादुकोण के पोस्टर जलाकर जताया आक्रोश

जेएनयू में फिल्म का प्रमोशन करने पर भाजपा और हिंदु युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को कस्बे के चौदहपोर तिराहे पर एकत्रित होकर फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के खिलाफ नारेबाजी की। उन्होंने दीपिका के पोस्टर जलाए। इस दौरान दस जनवरी को रिलीज होने वाली फिल्म 'छपाक' का विरोध करने का निर्णय लिया गया।

भाजपा सभासद अमित मिश्र के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने लोगों से दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' का बहिष्कार करने का आह्वान किया। भाजपा सभासद ने कहा कि जेएनयू में जाकर देशविरोधी नारेबाजी करने वाले टुकडे़-टुकडे़ गैंग के बीच फिल्म प्रमोशन करना भी देशद्रोह की श्रेणी में आता है। इस दौरान भाजपा सभासद मुकेश कटारे, लवकुश निर्भय. प्रवीण निर्भय आदि मौजूद रहे।

 

05-01-2020
समाजवादी पार्टी के पच्चीस कार्यकर्ताओं ने थामा कांग्रेस का हाथ

बीजापुर। समाजवादी पार्टी जिला इकाई बीजापुर के 25 कार्यकर्ताओं ने विधायक विक्रम शाह मण्डावी एव प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं जिला प्रभारी सत्तार अली, जिला पंचायत बीजापुर के उपाध्यक्ष शंकर कुड़ियाम, जिला अध्यक्ष लालू राठौर व वरिष्ठ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में कांग्रेस की रीति नीति से प्रभावित होकर कांग्रेस पार्टी में प्रवेश किये। इस मौके पर नव प्रवेशित कार्यकर्ताओं का विधायक विक्रम मंडावी व अन्य कांग्रेसी नेताओं ने गमछा पहनाकर पार्टी में स्वागत किया। समाजवादी पार्टी से कांग्रेस पार्टी में प्रवेश करने वालों में प्रमुख रूप से संदीप अवलम, मुन्ना कलमू, संदीप हेमला, रमलू पुनेम, बुधराम मण्डावी, दिलीप कोरसा,विष्णु कुड़ियाम,मनोज कुड़मूल,बुधराम मोडियाम,मुन्ना कुड़ियाम,लखनलाल कोरसा, सन्नू उइके, सुदरु हपका, सुंदर कुड़ियाम, बुधराम हेमला, सोनू कोरसा, राजेश कोरसा, बलिराम लेकाम, संतोष कुड़ियाम, अरुण कुड़मूल, मन्नीराम कुड़ियाम, संतोष मण्डावी, सुनील कुड़ियाम, मन्नी कुड़ियाम एव लक्ष्मण हेमला शामिल हुए।

 

29-12-2019
अखिलेश यादव ने की घोषणा, नहीं भरूंगा एनपीआर के लिए फार्म

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) को गरीबों और अल्पसंख्यकों के खिलाफ करार दिया है। उन्होंने कहा कि वह एनपीआर के लिए कोई फार्म नहीं भरेंगे। अखिलेश ने रविवार को प्रेस कांफ्रेंस में कहा, चाहे एनआरसी हो या एनपीआर, यह हर गरीब, हर अल्पसंख्यक और हर मुस्लिम के खिलाफ है। उन्होंने सपा के छात्र नेताओं से मुखातिब होते हुए कहा, सवाल यह है कि हमें एनपीआर चाहिए या रोजगार? अगर, जरूरत पड़ी तो मैं पहला व्यक्ति होउंगा जो कोई फार्म नहीं भरेगा। नहीं भरते हैं तो हम और आप सब निकाल दिये जायेंगे। सपा अध्यक्ष ने कहा कि जो पुलिसकर्मी नये नागरिकता कानून और एनआरसी का विरोध करने वाले लोगों पर लाठियां चला रहे हैं, उन्हें बताया जाना चाहिए कि उनसे भी उनके माता-पिता का प्रमाणपत्र मांगा जायेगा। उन्होंने कहा कि सभी भारतीय लोग ऐसे लोगों से भारत बचायें जो संविधान की धज्जियां उड़ा रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सब इसलिए किया जा रहा है ताकि जनता अपनी बुनियादी समस्याओं और देश की बदहाल अर्थव्यवस्था के बारे में सवाल न पूछे। उन्होंने कहा कि सरकार ने नोटबंदी के वक्त कहा था कि भ्रष्टाचार खत्म हो जायेगा, मगर वह बात झूठ निकली।

29-12-2019
मुलायम सिंह यादव का स्वास्थ्य बिगड़ा, मुंबई के अस्पताल में भर्ती

मुंबई। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव को पेट से संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं के चलते यहां एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 80 वर्षीय नेता, जो पूर्व रक्षा मंत्री भी रहे हैं, डॉक्टरों की सलाह पर तीन दिन पहले अस्पताल आए। नेता के एक करीबी सहयोगी ने कहा, ‘उन्हें पेट में कुछ शिकायत को लेकर एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।’ उन्होंने कहा कि यादव को मुंबई स्थानांतरित करने की सलाह दी गई थी और वह तीन दिन पहले यहां आए। उन्होंने कहा कि आज अस्पताल से उनको छुट्टी मिल सकती है।

19-12-2019
मुलायम सिंह यादव की बिगड़ी तबीयत, ले जाया गया अस्पताल

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की गुरुवार को अचानक तबीयत खराब हो गई। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अचानक उनके नाक से ब्लड आने के बाद आनन फानन में उन्हें लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनके अस्पताल पहुंचने से पहले की डॉक्टरों को मुलायम सिंह की तबीयत के बारे में सूचित कर दिया गया था। जैसे ही सपा नेता अस्पताल पहुंचे डॉक्टरों ने उन्हें तुरंत भर्ती कर लिया और इलाज किया गया।
गौरतलब है कि मुलायम सिंह को शुगर की शिकायत है, गुरुवार को भी उनका शुगर लेवल बढ़ने की वजह से उनको अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पिछले दो महीने से मुलायम के स्वास्थ्य की जांच लगातार की जा रही है, कुछ दिन पहले उनको संजय गांधी पीजीआई अस्पताल में इलाज कराने के बाद उन्हें मेदांता अस्पताल में रेफर कर दिया गया था। डॉक्टरों ने उनकी रिपोर्ट में कुछ भी चिंताजनक न पाया तो उन्हें डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। 

17-12-2019
नागरिकता कानून: राष्ट्रपति से मिले सोनिया गांधी सहित विपक्षी दलों के नेता

नई दिल्ली। नागरिकता कानून के खिलाफ 14 विपक्षी दलों के नेताओं ने मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा।सोनिया गांधी ने कहा कि हमने राजधानी समेत देश भर में हिंसक विरोध प्रदर्शनों के चलते पैदा हुई स्थिति में राष्ट्रपति से दखल की अपील की। इन विरोध प्रदर्शनों के और बढ़ने की आशंका है। पुलिस ने जिस तरह से शांतिपूर्ण प्रदर्शनों के खिलाफ हिंसा की, उससे हमें गहरा दुख पहुंचा है। सोनिया गांधी ने कहा, 'पुलिस ने जिस तरह से छात्राओं की पिटाई की वह निंदनीय है और लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन है। मोदी सरकार एक्ट को लागू करने के लिए लोगों की आवाज को दबाना चाहती है। यह विपक्ष और जनता को स्वीकार नहीं है।'टीएमसी के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि हमने राष्ट्रपति इस बिल को वापस लेने की अपील की है।सीपीएम के नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि राष्ट्रपति देश के संविधान के कस्टोडियन हैं। हमने उन्हें संवैधानिक उल्लंघन के खिलाफ शिकायत की है और उन्हें आवेदन दिया है कि वह अपनी सलाह दें कि इस कानून को वापस लिया जाए। समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ने कहा कि हमने पहले ही आशंका जताई थी कि इससे देश में अशांति हो सकती है। वही हो रहा है।

16-12-2019
आजम खान को हाईकोर्ट से बड़ा झटका, रद्द हुआ बेटे अब्दुल्ला का निर्वाचन

इलाहबाद। समाजवादी पार्टी से सांसद आजम खान को हाईकोर्ट से एक बड़ा झटका लगा है। दरअसल इलाहबाद हाईकोर्ट ने आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम का निर्वाचन रद्द कर दिया है। बता दें कि अब्दुला के खिलाफ बसपा से उम्मीदवार रहे काजिम अली ने शिकायत दर्ज करवाई थी। उन्होंने इस शिकायत के जरिये अब्दुल्ला पर आरोप लगाया था कि चुनाव लड़ते वक्त अब्दुल्ला आजम की उम्र पूरी नहीं थी और इसके लिए उन्होंने फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल किया। चुनाव के वक्त अब्दुल्ला 25 साल के नहीं थे। इसी शिकायत पर सुनवाई के बाद इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 27 सितम्बर को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था, जिसके बाद जस्टिस एसपी केसरवानी की बेंच ने फैसला सुनाया है।

स्वार सीट से चुनाव जीते थे अब्दुल्ला

अब्दुल्ला आजम सपा सांसद आजम खान के छोटे बेटे हैं। 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में अब्दुल्ला ने पहली बार चुनाव लड़ा था। अब्दुल्ला ने रामपुर क्षेत्र की स्वार विधानसभा सीट से चुनाव जीता था।

50 हजार से ज्यादा मतों से जीते थे अब्दुल्ला

2017 के विधानसभा चुनाव में जहां पूरे यूपी में बीजेपी की हवा चली थी, वहीं रामपुर में आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला दोनों ही अपनी सीटें जीतने में कामयाब रहे थे। अब्दुल्ला आजम ने बीजेपी उम्मीदवार लक्ष्मी सैनी को 50 हजार से ज्यादा मतों से हराया था, जबकि बीएसपी के नवाब काजिम अली तीसरे नंबर रहे थे।

07-12-2019
विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे पूर्व मुख्यमंत्री, कही ये बात...

लखनऊ। उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विधानसभा गेट के बाहर धरने पर बैठ गए है। अखिलेश के साथ समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल और राष्ट्रिय सचिव राजेंद्र चौधरी उपस्थित है। बता दें कि प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था, महिलाओं के प्रति अपराधों में वृद्धि पर आक्रोश जताने के लिए समाजवादी पार्टी के मुखिया और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव 11 बजे विधानभवन के सामने पहुंचे और दो मिनट का मौन रखकर दुष्कर्म पीड़िता को श्रद्धांजलि दी। अखिलेश के धरने पर बैठने की सूचना मिलते ही कार्यकर्ताओं का विधानभवन पहुंचना शुरू हो गया।

सपा नेताओं ने कहा कि भाजपा राज में महिलाएं, बच्चियां सुरक्षित नहीं है। सपा पीड़िता के परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए लड़ाई लड़ेगी। विधान सभा के सामने पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने शोक सभा की और पीड़िता को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान अखिलेश यादव ने उन्नाव की घटना बेहद दुखद और निंदनीय है। उन्होंने कहा कि उन्नाव की बेटी जिंदा रहना चाहती थी, लेकिन डॉक्टरों की कोशिश की बाद भी वह नहीं बची। बीजेपी सरकार में यह पहली घटना नहीं है। बीजेपी सरकार में बेटियां न्याय मांग रही हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार में बेटियों के खिलाफ अपराध बढ़ा है। अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी कानून व्यवस्था ठीक होने का दावा करती है। राज्य सरकार एक बेटी की जान नहीं बचा पाई। 

11-11-2019
सपा दुर्ग ननि के 60 वार्डों में लड़ेगी चुनाव, प्रचार के लिए आएंगे अखिलेश यादव

दुर्ग । समाजवादी पार्टी ने छत्तीसगढ़ में नगरीय निकाय चुनाव को लेकर कमर कस ली है। इस संबंध में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने लखनऊ स्थित आवास में छत्तीसगढ़ के पदाधिकारियों की बैठक लेकर चुनाव के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए और कार्य दायित्वों का विभाजन किया । बैठक में पदाधिकारियों के अलावा छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में पार्टी प्रत्याशी रहे 16 नेताओं ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। दुर्ग शहर के विधानसभा प्रत्याशी रहे बृजेश कुमार यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दुर्ग नगर पालिक निगम चुनाव के प्रभारी का दायित्व सौंपा है। उन्हें नगरीय निकाय चुनाव के लिए जीतने योग्य जमीनी कार्यकताओं का सर्वे कर नाम पार्टी मुख्यालय भेजने कहा है। सपा के लखनऊ बैठक से वापस लौटे नवनियुक्त प्रभारी बृजेश कुमार यादव ने चर्चा में बताया कि दुर्ग नगर निगम के सभी 60 वार्डों में समाजवादी पार्टी चुनाव लड़ेगी। इसके लिए प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। प्रारंभिक चरण में टिकट के लिए योग्य प्रत्याशियों के नामों का सर्वे किया जा रहा है। सर्वे उपरांत उक्त नामों को पार्टी मुख्यालय भेजा जाएगा।  नामों पर राष्ट्रीय अध्यक्ष अंतिम मुहर लगाएंगे। उन्होंने बताया कि सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष छत्तीसगढ़ नगरीय निकाय चुनाव को लेकर काफी गंभीर है। उन्होंने पार्टी की मजबूती के लिए नया रायपुर में पार्टी कार्यालय निर्माण के लिए अपनी मंजूरी दे दी है। यह पार्टी कार्यालय 10 करोड़ की लागत से निर्माण करवाया जाएगा जो सर्वसुविधायुक्त होगा। यादव ने बताया कि नगरीय निकाय चुनाव में पार्टी प्रत्याशी के प्रचार-प्रसार के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा छत्तीसगढ़ आने की भी सहमति दी गई है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804