GLIBS
19-02-2020
ट्रंप के भारत दौरे पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, कहा- डोनाल्ड भगवान राम नहीं जो 70 लोग करेंगे स्वागत

नई दिल्ली। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे पर कांग्रेस ने राजनीति शुरू कर दी हैं। लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन ने कहा कि ट्रंप के स्वागत में इतने सारे भारतीयों को क्यों जुटना चाहिए। उन्होंने कहा, ट्रंप क्या भगवान राम हैं? वह बस अमेरिका के राष्ट्रपति हैं। फिर उनके लिए 70 लाख लोगों को खड़ा करने की क्या जरूरत है? हम हिंदुस्तान के लोग उनकी पूजा करने के लिए खडे़ नहीं होंगे। गौरतलब है कि ट्रंप ने अपने भारत दौरे का जिक्र करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे कहा है कि अहमदाबाद एयरपोर्ट से लेकर मोटेरा स्टेडियम तक 70 लाख लोग उनका स्वागत करेंगे। बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगले सप्ताह भारत दौरे पर आने वाले हैं। इस बीच ट्रंप के स्वागत की तैयारियों को लेकर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने सवाल खड़े किए हैं। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि ट्रंप भगवान राम हैं क्या, हमारे लिए तो वो अमेरिका के राष्ट्रपति हैं। तो फिर इनके लिए 7 मिलियन लोगो को खड़ा करने की क्या जरूरत है? उनकी पूजा करने के लिए हिन्दुस्तान के लोग तो नहीं रहेंगे। उन्होंने कहा कि ट्रंप भारत अपना हित साधने आ रहे हैं।

08-02-2020
मनोज तिवारी के हनुमान जी को अशुद्ध करने वाले बयान पर संजय सिंह ने किया पलटवार

नई दिल्ली। दिल्ली चुनाव में राजनीति के साथ-साथ धर्म का मुद्दा भी काफी गरमा गया है। बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के हनुमान मंदिर जाने को लेकर सवाल उठाए। इससे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और आम आदमी पार्टी (आप) की ओर से बयानबाजी का दौरा शुरू हो गया है। मंदिर जाने को लेकर दिल्ली प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने केजरीवाल पर सवाल उठाए तो वहीं अरविंद केजरीवाल और आप के नेता संजय सिंह ने इस मामले पर पलटवार किया।

मनोज तिवारी का सवाल,

कनॉट प्लेस के प्राचीन हनुमान मंदिर जाने को लेकर मनोज तिवारी ने पूछा, ''वह पूजा करने गए थे या हनुमान जी को अशुद्ध करने गए थे? एक हाथ से जूता उतारके, उसी हाथ से माला लेकर क्या कर दिया? जब नकली भक्त आते हैं न तो यही होता है। मैंने पंडित जी को बताया, बहुत बार हनुमान जी को धोए हैं।''

अरविंद केजरीवाल ने कहा,

मनोज तिवारी के इस बयान के बाद अरविंद केजरीवाल ने कहा, ''जब से मैंने एक TV चैनल पे हनुमान चालीसा पढ़ी है। बीजेपी वाले लगातार मेरा मज़ाक़ उड़ा रहे हैं। कल मैं हनुमान मंदिर गया। आज बीजेपी नेता कह रहे हैं कि मेरे जाने से मंदिर अशुद्ध हो गया। ये कैसी राजनीति है? भगवान तो सभी के हैं। भगवान सभी को आशीर्वाद दें, बीजेपी वालों को भी।'' इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कनॉट प्लेस के प्राचीन हनुमान मंदिर गए थे। इस बात की जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट करके भी दी थी।

संजय सिंह का बयान

वहीं आप के नेता संजय सिंह ने कहा, ''अरविंद केजरीवाल को अछूत मानती है मनोज तिवारी कह रहे हैं। केजरीवाल ने हनुमान जी की पूजा करके भगवान बजरंग बली को अशुद्ध कर दिया उनको धोना पड़ा। केजरीवाल से इतनी नफ़रत और घृणा क्यों? दिल्ली की जनता से अपील है आपके बेटे केजरीवाल को अछूत मानने वाली बीजेपी को जवाब दें।''


 

 

05-02-2020
विक्रम उसेंडी ने आंखों में बांध रखी है पट्टी, किसानों को भ्रमित कर रहे : अमरजीत भगत

रायपुर। खाद्य व नागरिक आपूर्ति मंत्री अमरजीत भगत ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के बयान पर पलटवार किया है। मंत्री भगत ने कहा कि उसेंडी को हकीकत क्यों समझ में नहीं आ रही है। कांग्रेस ने कभी नकाब पहना ही नहीं था,सरकार ने जो कहा वो किया,हकीकत सबके सामने है। अलबत्ता भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने जरूर आंखों में पट्टी बांध रखी है और किसानों को भ्रमित कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि धान की खरीदी की पहली तारीख से अब तक 85 लाख मीट्रिक टन लक्ष्य के सापेक्ष कांग्रेस सरकार ने लगभग 68 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी कर ली है। इनमें से अब तक 32.35 लाख मीट्रिक टन धान का उठाव हो चुका है। धान खरीदी के बदले किसानों को 11 हजार करोड़ से ज्यादा का भुगतान किया जा चुका है।

मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि तय समय में सरकार धान खरीदी का अपना लक्ष्य पूरा कर लेगी,तारीख बढ़ाने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। साथ ही कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी पंचायत चुनावों में अपनी शिकस्त की झुंझलाहट गलतबयानी के जरिए न निकालें। केंद्र सरकार ने ही धान खरीदी के मामले में राज्य सरकार के सामने कई रोड़े अटकाए कि हम किसानों को उनका हक न दें,लेकिन ऐसा कभी नहीं होगा। किसानों को उनका अधिकार देकर रहेंगे। उन्होंने कहा कि यदि विक्रम उसेंडी को किसानों की इतनी ही परवाह थी तो केंद्र सरकार से पत्र लिखकर ये आग्रह क्यों नहीं किया कि वे राज्य सरकार द्वारा तय समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की अनुमति दें। केंद्रीय पूल में चावल खरीदी का कोटा बढ़ाएं, हम सभी उनसे अनुरोध करते रह गये लेकिन उनके कानों में जूं तक न रेंगी। भाजपा लगातार किसानों की उपेक्षा करती आई है। आज भी वे किसान हित के मुद्दे पर सिर्फ राजनीति की रोटी सेंक रहे हैं और गलतबयानी करके किसानों को परेशान कर रहे हैं।

 

04-02-2020
दिल्ली को दोष देने वाली नहीं, दिशा देने वाली सरकार चाहिए: नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को नई दिल्ली में द्वारका की चुनावी रैली को संबोधित किया। इसमें उन्होंने अरविंद केजरीवाल सरकार पर जमकर हमला बोला। मोदी ने कहा कि दिल्ली को दोष देने वाली नहीं, दिशा देने वाली सरकार चाहिए। उन्होंने कहा कि वोटिंग से 4 दिन पहले बीजेपी के पक्ष में ऐसा माहौल कई लोगों की नींद उड़ा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने जहां अपनी सरकार की उपलब्धियों का जमकर बखान किया। उन्होंने केजरीवाल सरकार पर दिल्ली के विकास की राह में रोड़ा अटकाने का आरोप लगाया। पीएम ने अरविंद केजरीवाल बयानों की तरफ इशारा करते हुए कहा कि दिल्ली को ऐसी राजनीति नहीं चाहिए जो आतंकी हमले के समय भारत के पक्ष को कमजोर करे, जो अपने बयानों से दुश्मन को भारत पर वार करने का मौका दे दे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'कल पूर्वी दिल्ली में और आज यहां द्वारका में यह साफ हो गया है कि 11 फरवरी को क्या परिणाम आने वाले हैं। दिल्ली को बढ़ाने के लिए, राष्ट्रहित के भाव को बुलंद रखने के लिए आपके इस जोश और जुनून को मैं आदरपूर्वक नमन करता हूं। उन्होंने कहा, 'दिल्ली को दोष देने वाली नहीं, दिशा देने वाली सरकार चाहिए। दिल्ली को रोड़े अटकाने वाली और नफरत फैलाने वाली राजनीति से मुक्ति चाहिए। दिल्ली को उलझाने वाली नहीं, सुलझाने वाली राजनीति चाहिए। दिल्ली को विकास की योजनाएं रोकने वाली नहीं, सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास वाला नेतृत्व चाहिए।' पीएम ने कहा कि गरीबों की भलाई वाली योजनाओं की राह में दिल्ली में रोड़े अटकाए गए। उन्होंने कहा, 'आप सोचिए, जो गरीब का हित चाहेगा, जिसके दिल में गरीब के लिए दर्द होगा, क्या वह गरीब को सरकार की योजनाओं से वंचित करेगा क्या? कितना भी राजनीतिक विरोध हो लेकिन गरीबों की भलाई में कोई रोड़े अटकाएगा क्या? लेकिन दिल्ली में पिछले 5 साल से गरीबों की भलाई की राह में रोड़े अटकाना ही चल रहा है। केंद्र की योजनाओं को लागू होने से पहले ही यहां मना कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'दिल्ली के गरीबों का क्या गुनाह है कि उन्हें 5 लाख रुपये तक मुफ्त इलाज की सुविधा देने वाली आयुष्मान भारत योजना का लाभ नहीं मिलता। आयुष्मान भारत योजना में एक विशेषता है। मुद्दा 5 लाख का नहीं है। अगर दिल्ली का कोई नागरिक जो इस योजना का लाभार्थी है वह किसी काम से ग्वालियर गया, भोपाल गया, सूरत, नागपुर, हैदराबाद, चेन्नै गया और अचानक वहां बीमार हो गया तो यह मोहल्ला क्लिनिक वहां जाएगा क्या? लेकिन यह आयुष्मान भारत योजना दिल्ली में लागू होती और दिल्ली का कोई लाभार्थी वहां किसी काम से गया होता, वहां गंभीर से गंभीर स्वास्थ्य समस्या से परेशान होता तो 5 लाख रुपये तक मुफ्त इलाज होता। दिल्ली में ऐसी सरकार बैठी है जिसे आपके जान की परवाह नहीं है।

 

04-02-2020
 मो.अकबर ने एमआईसी सदस्य रितेश त्रिपाठी के चेम्बर का किया उद्घाटन

रायपुर। प्रदेश के वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने मंगलवार शाम नगर पालिक निगम मुख्यालय व्हाईट हाउस में निगम सामान्य प्रशासन विभाग अध्यक्ष रितेश त्रिपाठी के एमआईसी सदस्य चेम्बर का फीता काटकर उद्घाटन किया। मंत्री अकबर ने रितेश त्रिपाठी को एमआईसी सदस्य के तौर पर निगम में सामान्य प्रशासन विभाग अध्यक्ष का कामकाज प्रारंभ करने पर हार्दिक शुभकामनाएं दी। इस दौरान महापौर एजाज ढेबर सहित निगम सभापति प्रमोद दुबे, लोककर्म विभाग अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा, सामान्य प्रशासन विभाग अध्यक्ष रितेश त्रिपाठी, अनुसूचित जाति एवं जनजाति विभाग अध्यक्ष सुन्दर जोगी ने वन मंत्री अकबर का निगम मुख्यालय में आत्मीय स्वागत किया। रितेश त्रिपाठी ने वन मंत्री अकबर को निगम व्हाईट हाउस आकर अनुरोध पर उनके एमआईसी सदस्य चेम्बर का उद्घाटन करने पर धन्यवाद दिया। वन मंत्री ने महापौर ऐजाज ढेबर, सभापति प्रमोद दुबे सहित सभी एमआईसी सदस्यों, वार्ड पार्षदों को निगम निर्वाचन के बाद अपना दायित्व संभालने पर बधाइयां दी और जनता के प्रति अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी मेहनत , ईमानदारी व गंभीरता से, दलगत राजनीति की भावना से ऊपर उठकर करने का आव्हान किया।

03-02-2020
हमारा संविधान ही देश की न्यायपालिका और अदालतों का आधार है : नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली। दिल्ली में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सोमवार को पटपड़गंज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी रैली हुई। इसमें प्रधानमंत्री ने कहा कि विरोध प्रदर्शनों में संविधान और तिरंगे को सामने रखते हुए ज्ञान बांटा जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में कहा'सीलमपुर हो, जामिया हो या शाहीन बाग, बीते कई दिनों से नागरिकता कानून को लेकर प्रदर्शन हुए, क्या ये प्रदर्शन सिर्फ एक संयोग है,जी नहीं, ये संयोग नहीं ये एक प्रयोग है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि शाहीन बाग के पीछे राजनीति का एक ऐसा डिजाइन है जो राष्ट्र के सौहार्द को खंडित करने के इरादे रखता है। उन्होंने कहा कि ये सिर्फ एक कानून का विरोध होता तो सरकार के तमाम आश्वासनों के बाद यह समाप्त हो जाना चाहिए था, लेकिन आम आदमी पार्टी और कांग्रेस राजनीति का खेल खेल रहे हैं और वो सारे बाते अब उजागर हो चुकी हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा,'संविधान और तिरंगे को सामने रखते हुए ज्ञान बांटा जा रहा है और असली साजिश से ध्यान बांटा जा रहा है। हमारा संविधान ही देश की न्यायपालिका और अदालतों का आधार है। संविधान की भावना के अनुरूप ही न्यायालय चलते हैं, इंसाफ दिया जाता है। अलग अलग केसों में सर्वोच्च अदालत की भावना यही रही है कि विरोध प्रदर्शन से सामान्य नागरिक को परेशानी न हो, देश की संपत्ति का नाश न हो। हिंसा,तोड़फोड़,आगजनी पर सुप्रीम कोर्ट ने हमेशा अपनी नाराजगी जताई है। लेकिन ये लोग अदालतों की परवाह नहीं करते, कोर्ट की बात ही नहीं मानते और बातें करते हैं संविधान की। जिस संविधान ने न्यायपालिका को बनाया और न्यायपालिका जो कह रही है उसे मानने को तैयार नहीं और दुनिया को संविधान सिखा रहे हो।'प्रधानमंत्री मोदी ने कहा इस तरह के विरोध प्रदर्शनों के पीछे जो मानसिकता है उसे रोकना जरूरी है। उन्होंने जनता से कहा,'साथियो इस मानसिकता को यहीं रोकना जरूरी है। साजिश रचने वालों की ताकत बढ़ी तो कल फिर किसी और सड़क और किसी और गली को रोका जाएगा। हम दिल्ली को इस अराजकता में नहीं छोड़ सकते इसे रोकने का काम सिर्फ दिल्ली के लोग कर सकते हैं। भाजपा को दिया हर वोट यह करने की ताकत रखता है, वही कर सकता है। हमारी सरकार अपने कर्तव्यों को निभाने के लिए पूरी निष्ठा से काम कर रही है। 

 

31-01-2020
कांग्रेसी कार्यकर्ता कर रहे हिंसा, बीजेपी कार्यकर्ताओं को किया जेल जाने के लिए प्रोत्साहित : दिलीप घोष

नई दिल्ली। बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने विवादित बयान दिया है, उन्होंने कहा कि बिना जेल गए आप नेता नहीं बन सकते। दिलीप घोष ने बुधवार उत्तरी 24 परगना में एक मीटिंग की दौरान उन्होंने कांग्रेस पर हिंसा का आरोप लगाकर बीजेपी कार्यकर्ताओं को जेल जाने के लिए प्रोत्साहित किया। यदि पुलिस आपको पकड़ती है तो आपको चिंता नहीं करना चाहिए। वकीलों की मदद से आप को बाहर लाया जाएगा। यदि आप को पुलिस नहीं पकड़ती है फिर भी आप को जेल जाना चाहिए। जेल गए बिना कोई नेता नहीं बन सकता है। मीटिंग में मौजूद लोगों और कार्यकर्ताओं से उन्होंने कहा कि वो कैमरे के सामने कहते हैं कि आप को जेल जाने के लिए कुछ करना चाहिए तभी लोग आप को सुनेंगे। राजनीति में सीधे लोगों के लिए कोई जगह नहीं है।

राज्य कानून व्यवस्था पर उठाए सवाल

दिलीप घोष ने राज्य में खराब कानून व्यवस्था के मसले को भी इस मीटिंग में उठाया। दरअसल मुर्शीदाबाद में एनआरसी और सीएए के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान दो लोगों की हत्या कर दी गई थी। बता दें कि इससे पहले भी बीजेपी नेता ने कई बार विवादित बयान दिए हैं। सीएए के खिलाफ शाहीन बाग में हो रहे प्रदर्शन पर मंगलवार को उन्होंने विवादित टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा कि आखिर यहां कोई प्रदर्शनकारी मर क्यों नहीं रहा है, जबकि वहां भीषण ठंड में लोग खुले में प्रदर्शन कर रहे हैं। साथ ही बीजेपी नेता ने यह प्रश्न भी उठाया था कि प्रदर्शन के लिए पैसे कहां से आ रहे हैं।

30-01-2020
 राजनीतिक लाभ के लिए कुछ नेता घसीट रहे हैं मेरे पिता का नाम :  अदनान सामी

मुंबई। पाकिस्तानी मूल के गायक अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार दिए जाने की घोषणा के बाद से शुरू हुए विवाद पर सामी ने गुरुवार को कहा कि कुछ नेता राजनीतिक लाभ के लिए बेवजह उनका नाम विवादों में घसीट रहे हैं। सामी को 2016 में भारत की नागरिकता दी गई थी। उन्होंने इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए चुने जाने पर सरकार का 'अनंत आभार' व्यक्त करते कहा कि विभिन्न राजनीतिक दलों के लोगों से उनके अच्छे संबंध हैं। उन्होंने कहा कि आलोचना करने वाले कुछ राजनेता हैं। वे किसी राजनीतिक एजेंडे के तहत ये कर रहे हैं और इसका मुझसे कोई लेना-देना नहीं है। मैं नेता नहीं हूं, मैं तो संगीतकार हूं। दरअसल, सामी के पिता पाकिस्तान वायुसेना में पायलट थे और इसीलिए सामी के नाम पर विवाद है लेकिन सामी पूरे विवाद को गैरजरूरी मानते हैं। उन्होंने कहा कि मेरे पिता पुरस्कृत लड़ाकू पायलट थे और एक पेशेवर सैनिक थे। उन्होंने अपने देश के प्रति अपना फर्ज निभाया। उसके लिए मैं उनका सम्मान करता हूं। उन्होंने कहा कि वह उनका जीवन था और उसके लिए उन्हें पुरस्कृत किया गया। मैंने उससे लाभ नहीं उठाया और न ही उसका श्रेय लिया। ठीक इसी प्रकार से मैं जो करता हूं, उसका श्रेय उन्हें नहीं दिया जा सकता। मेरे पुरस्कार का मेरे पिता से क्या लेना-देना? यह गैरजरूरी है।

30-01-2020
भाजपा विधायक मनोहर ऊंटवाल का निधन, लंबे समय से थे बीमार

भोपाल। आगर निर्वाचन क्षेत्र के भाजपा विधायक मनोहर ऊंटवाल का ब्रेन हेमरेज होने के कारण लंबे समय से बीमारी थे। कुछ दिन पहले उन्हें इंदौर स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां से बेहतर इलाज के लिए उन्हें दिल्ली रिफर किया गया, जहाँ गुरुवार सुबह उनका निधन हो गया। 1986 में ऊंटवाल ने राजनीति में कदम रखा था। सबसे पहले पार्षद के चुनाव में शामिल हुए इसके बाद वे पांच बार विधायक और एक बार सांसद चुने गए। मनोहर ऊंटवाल का जन्म धार जिले के बदनावर में हुआ था। 

 

25-01-2020
बस्तर को कुपोषण, मलेरिया,डायरिया का दंश झेलने को किया गया मजबूर: त्रिवेदी

रायपुर। मलेरिया मुक्त बस्तर पर भाजपा के बयानों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि 15 वर्ष तक भाजपा सरकार ने लगातार बस्तर में स्वास्थ्य सुविधाओं की उपेक्षा की। लगातार मलेरिया, डायरिया और कुपोषण से बस्तर बुरी तरीके से ग्रस्त रहा। बस्तर को मजबूर किया गया मलेरिया, डायरिया और कुपोषण के दंश को झेलने के लिए रमन सिंह सरकार ने बस्तर की अनदेखी की। कांग्रेस की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बस्तर की जरूरतों को सर्वोच्च प्राथमिकता से लिया है। हाट बाजार क्लिनिक योजना चालू की गई,जिसके कारण ओपीडी पेशेंट्स की संख्या में वृद्धि हुई है। इसके साथ-साथ इस वर्ष पूरे बस्तर में एक भी डायरिया आउटब्रेक की घटना नहीं हो पाई।

त्रिवेदी ने कहा कि कांग्रेस सरकार का बस्तर में शिक्षा और स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिये कमिटमेंट है। मलेरिया मुक्त बस्तर का एक बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। 13 लाख बस्तर की कुल आबादी है,जिसमें 5 लाख लोगों को युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर मलेरिया के लिए टेस्ट किया जा चुका है। इन 5 लाख लोगों में 12 हजार मलेरिया पेशेंट्स पाये गये है। इनमें 400 गर्भवती महिलाएं है। कांग्रेस की सरकार ने मलेरिया के दंश से, डायरिया के दंश से, कुपोषण से बस्तर को मुक्ति कराने का एक बड़ा अभियान हाथ में लिया है। ये छोटा-मोटा काम नहीं है, ये बड़ा काम है। जन-जन तक स्वास्थ्य सुविधायें पहुंचाने के लिये कांग्रेस सरकार के समर्पित होने का हाट बाजार योजना जीताजागता सबूत है। हाट बाजार क्लिनिको को मिली बड़ी सफलता और लोकप्रियता मिली है और सितंबर 2019 माह में 2 लाख 20 हजार मरीजों ने हाट बाजार योजना का लाभ उठाया। कुल 4468 हाट बाजार लगे जिसमें 3335 हाट बाजार में क्लिनिक लगाये गये। ऐसी ही जनोपयोगी योजनाओं को बस्तर में सतत क्रियान्वित करने के लिये कांग्रेस सरकार संकल्पित है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने कमर कस ली है। पूरी कटिबद्धता से कांग्रेस की सरकार बस्तर की बेहतरी के लिये काम कर रही है। भारतीय जनता पार्टी को इसमें राजनीति दिखती है। भाजपा का यह चरित्र भी है। किसी की भलाई का काम भाजपा को अच्छा लग ही नहीं सकता। जनता की भलाई में भी भारतीय जनता पार्टी राजनीति ढूंढती है। कांग्रेस की सरकार इस नकारात्मक राजनीति से विचलित होने वाली नहीं है। बस्तर को अंधेरे से बाहर निकालने का और बस्तरवासियों के जीवन को सुगम बनाने का संकल्प कांग्रेस की सरकार भूपेश बघेल की सरकार हर हालत में पूरा करेगी।

 

25-01-2020
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव: विधायक ने सांसद पर किया कटाक्ष, पढ़े पूरी खबर  

बलरामरपुर। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की जंग छिड़ चुकी है। सभी नेता अपनी-अपनी पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के प्रचार प्रसार में जुट गए है। रामानुजगंज विधायक बृहस्पत सिंह चुनावी जनसम्पर्क के दौरान राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम पर निशाना साधा है। बृहस्पत सिंह ने कहा कि राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम राष्ट्रीय स्तर के नेता होने के बाद भी क्षेत्र की राजनीति से मोह नही छोड़ रहे हैं। बृहस्पत सिंह ने कहा कि रामविचार नेताम अपनी पत्नी और बेटी को चुनाव जीताकर एक बार फिर सरकारी खजाने के पैसे को लूटकर दिल्ली लेना चाहते है। हालांकि विधायक बृहस्पत सिंह के इस बयान के बाद राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम की किसी प्रकार की प्रतिक्रिया नही मिल पायी है। बता दें कि राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम की बेटी जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 2 से सदस्य पद के लिए चुनाव लड़ रही है। वहीं उनकी पत्नी जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 6 से चुनाव मैदान में है।  

 

24-01-2020
अपहरणकांड में भाजपा पुलिस का मनोबल तोड़ने व अपराधियो का हौसला अफजाई कर रही है : धनंजय ठाकुर

रायपुर। प्रवीण सोमानी अपहरण कांड में सोशल मीडिया में भाजपा नेताओं के द्वारा फेक खबर फैला कर पुलिस का मनोबल तोड़ने का कुत्सित प्रयास किया जा रहा है। कांग्रेस भाजपा के इस कृत्य का कड़ी निंदा करती है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने अपहरणकर्ताओं से व्यापारी प्रवीण सोमानी को सुरक्षित छुड़ाने में जो सफलता हासिल की है वह काबिले तारीफ है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के शासनकाल में पुलिस प्रशासन मुस्तैदी से काम कर रहे हैं अपराधिक घटनाओं के बाद तत्काल अपराधी पकड़े जा रहे हैं। ऐसे में 15 साल तक लचर कानून व्यवस्था के लिए जिम्मेदार भाजपा को पीड़ा हो रही है। भाजपा के 15 साल के शासनकाल में तो अपराधियों को संरक्षण देने का काम किया गया।

धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रवीण सोमानी अपहरण कांड में भाजपा नेताओं के द्वारा सोशल मीडिया में फेक खबर फैलाकर छत्तीसगढ़ पुलिस का मनोबल तोड़ने का असफल प्रयास किया जा रहा है। हमेशा की तरह भाजपा ने अपने वास्तविक चरित्र फिर से प्रदर्शित किया है। अपराधियों को संरक्षण देने और अपराधियों को बचाने के कृत्य को ही भाजपा द्वारा अंजाम दिया जा रहा है। धनंजय सिंह ठाकुर ने पूछा है कि भाजपा बताये कि प्रवीण सोमानी के अपहरण कांड मे लेनदेन की जो झूठी खबर सोशल मीडिया में पोस्ट की उसका क्या आधार है? अगर ऐसी कोई बात है तो भाजपा नेता सार्वजनिक करें? भाजपा मुद्दा विहीन हो चुकी है विपक्ष के दायित्व का भी निर्वहन ठीक से नहीं कर पा रही है। विरोध की नकारात्मक मानसिकता से ग्रसित भाजपा राजनीति की शुचिता भूल चुकी है भाजपा 15 साल की ही तरह अपराधियों के हौसले बुलंद करने के काम में ही लगी है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804