GLIBS
28-02-2020
जनपद से लेकर प्रदेश तक कांग्रेस की सरकार जनहित के कार्य कर रही है : नरेश राजवाड़े

सूरजपुर। प्रदेश के गाँव गाँव मे सड़कों का जाल बिछाकर विकास का मार्ग प्रशस्त कर आम आदमी के जीवन मे खुशहाली लाने प्रदेश सरकार संकल्पित हैं। उक्त बातें क्षेत्रीय विधायक व सविप्रा अध्यक्ष खेलसाय सिंह ने वन विभाग के करोड़ों की लागत से स्वीकृत सड़क व पुल पुलियों के निर्माण कार्य के भूमिपूजन व शिलान्यास के अवसर पर जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा। उन्होंने आगे कहा कि विकासखण्ड रामानुजनगर के बरबसपुर, रामेश्वरम, पंचवटी, रामतीर्थ, पवनपुर,मदनपुर, तिवरागुड़ी मे सात सड़क व पुल पुलियों के स्वीकृत राशि 1:00 करोड़ लागत के विकास कार्यों के शिलान्यास अवसर पर विधायक खेलसाय सिंह ने कहा कि प्रदेश की संवेदनशील कांग्रेस सरकार की जनहितैषी योजनाओं के संचालन से आम आदमी के जीवन खुशहाली आई है। इस वर्ष पूरे प्रदेश में रिकॉर्ड मात्रा में 2500 रु प्रति क्विंटल.धान खरीदी किया गया है। हमारी सरकार जनहित मे अनेक जनकल्याणकारी कदम उठा रही है।

वहीं जिला पंचायत उपाध्यक्ष नरेश राजवाड़े ने जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि जनपद से लेकर प्रदेश तक कांग्रेस की सरकार जनहित के कार्य कर रही है। पिछले पंद्रह वर्षों में भाजपा ने छत्तीसगढ़ की जनता को छलने का काम किया था। कांग्रेस हमेशा से गाँव, गरीब व किसान के हित मे कार्य करती रही है आने वाले दिनों मे विकास की गति को तेज किया जाएगा। गाँव के सर्वांगीण विकास से ही देश के विकास की संकल्पना को साकार किया जा सकता है। इस दौरान जिला पंचायत सदस्य उषा सिंह, राजीव प्रताप सिंह, ईस्माइल खान, चन्द्रदत दुबे, धर्मेन्द्र व वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी के अलावा बड़ी संख्या मे ग्रामीण जन मौजूद थे।

27-02-2020
मुख्यमंत्री की घोषणा टोकन प्राप्त किसानों का धान खरीदने का कांग्रेस ने किया स्वागत

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा-जिन किसानों के पास टोकन है और उनका धान नहीं खरीदा जा सका है, ऐसे सभी मामलों की जांच कर बचे टोकन का धान खरीदने का कांग्रेस ने स्वागत किया है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि ऐसी होती है वादा निभाने वाली सरकार। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इस फैसले से साफ हो गया है कि छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ हर सुख-दुख में पूरी संवेदनशीलता के साथ कांग्रेस ही खड़ी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के किसान हित में लिए गए इस फैसले के बाद अभी तक घड़ियाली आंसू बहाने में लगी भाजपा को भी अब किसान हित में आगे आना चाहिए। भाजपा ने फिर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा का स्वागत करने के बजाय विरोध जताकर अपना किसान विरोधी चरित्र उजागर कर दिया है।

त्रिवेदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ और किसान हित में अब भाजपा से अपेक्षाएं है कि भाजपा केन्द्र की मोदी सरकार से कहकर 2500 रुपए धान का दाम देने पर छत्तीसगढ़ के किसानों का धान से बना चावल सेंट्रल पूल में लेने पर लगाया गया प्रतिबंध हटावाए। छत्तीसगढ़ से सेंट्रल पूल में लिए जाने वाले चावल की मात्रा बढ़ाकर 32 लाख टन की जाए। छत्तीसगढ़ के किसानों के चावल से इथेनाल बनाने की अनुमति देने में रोक भाजपा की केंद्र सरकार हटाये ताकि छत्तीसगढ़ का गर्मी के धान से भी बना चांवल समर्थन मूल्य में खरीदा जा सके। भाजपा ने 2022 में जो किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया गया है उसे पूरा करने के लिए अपनी केंद्र सरकार को कहें। स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिश लागू करने के लिए भाजपा अपनी केंद्र सरकार को कहें, जिससे धान के 2500 और 1815 रुपए में खरीदी का जो अंतर है वो समाप्त हो जाये और धान खरीदी की सारी अड़चनें समाप्त हो।

26-02-2020
अजय वर्मा बने दुर्ग निगम के नेता प्रतिपक्ष, डेढ़ माह बाद हुआ फैसला

दुर्ग। भाजपा पार्षदों की बैठक में सर्वसहमति से अजय वर्मा को दुर्ग नगर निगम का नेता प्रतिपक्ष चुना गया।  पर्यवेक्षक संतोष बाफना की मौजूदगी में पार्षदों से रायशुमारी के उपरांत यह निर्णय लिया गया है। अजय वर्मा वार्ड क्रमांक 53 से पार्षद चुने गए थे। चुनाव पश्चात नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा ने कहा कि संगठन द्वारा दिए गए दायित्वों को निभाने पूरी तरह प्रयास करूंगा। विपक्ष की आवाज के साथ साथ जनता की आवाज भी बनूंगा। इस अवसर पर बैठक में जिला भाजपा अध्यक्ष उषा टावरी, पूर्व महापौर चंद्रिका चंद्राकर, दिनेश देवांगन, चन्द्रशेखर चंद्राकर,गायत्री साहू, अजय वर्मा, देवनारायण चंद्राकर, नरेंद्र बंजारे, नरेश तेजवानी, अजय वैद्य, ओमप्रकाश सेन, लीना दिनेश देवांगन, चमेली साहू, पुष्पा गुलाब वर्मा, राहुल पंडित, राजा महोबिया, गौरव शर्मा उपस्थित थे।

 

26-02-2020
सोनिया गांधी ने अमित शाह से की इस्तीफे की मांग, कहा- दिल्ली हिंसा सोचा-समझा षडयंत्र

नई दिल्ली। उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भाजपा सरकार और आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा है। दरअसल दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बुधवार को बैठक हुई। इस बैठक में सोनिया गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मौजूद रहे। वहीं बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि दिल्ली हिंसा एक सोचा-समझा षडयंत्र है। सोनिया गांधी ने गृहमंत्री अमित शाह से दिल्ली हिंसा पर देरी से कार्रवाई करने को लेकर इस्तीफा मांगा है। सोनिया ने कहा कि दिल्ली पुलिस पिछले 72 घंटों से निष्क्रिय है, 20 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं, जिसमें एक हेड कांस्टेबल भी शामिल है। सोनिया ने कहा, 'दिल्ली में हो रही हिंसा और जानमाल नुकसान के बाद स्थिति पर चर्चा के लिए बैठक हुई। यह एक सोचा-समझा षड्यंत्र है। भाजपा के कई नेताओं ने भड़काऊ बयान देकर नफरत और भय का माहौल पैदा किया।' सोनिया ने कहा कि मौजूदा स्थिति के लिए केंद्र सरकार और खासकर गृह मंत्री जिम्मेदार हैं तथा उन्हें तत्काल इस्तीफा देने चाहिए। उन्होंने यह दावा भी किया कि दिल्ली सरकार भी अपनी भूमिका निभाने में विफल रही। कांग्रेस प्रमुख ने कहा ‘दिल्ली सरकार और मुख्यमंत्री भी शांति बनाए रखने में नाकाम रहे। सीडब्ल्यूसी का मानना है कि स्थिति गंभीर है और तत्काल कार्रवाई की आवश्यकता है।’ सोनिया ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री को प्रभावित इलाकों में जाना चाहिए और लोगों के साथ लगातार संवाद करना चाहिए। सोनिया गांधी ने कहा कि स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त बल तैनात किया जाना चाहिए तथा मोहल्लों में शांति समितियों का गठन किया जाना चाहिए।

25-02-2020
भाजपा अपनी गलती और वादाखिलाफी को कांग्रेस पर मढ़ना बंद करें : शैलेश

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने धान खरीदी पर भाजपा के काले विरोध को छत्तीसगढ़ के राजनैतिक इतिहास का काला अध्याय कहा है। त्रिवेदी ने पूछा है कि भाजपा को स्पष्ट करना चाहिए कि भूपेश बघेल सरकार से भाजपा का विरोध किस बात का है? 80 लाख टन से अधिक धान की रिकार्ड खरीदी से भाजपा का विरोध है या 2500 रुपए किसानों को धान का दाम दिये जाने से भाजपा का विरोध है? या पिछले साल से 2.5 लाख अधिक किसानों का धान खरीदी किये जाने का विरोध है? त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा बताये कि छत्तीसगढ़ के किसान समृद्ध हो रहे हैं, क्या इसका विरोध भाजपा काले कपड़े पहनकर कर रही है? सैकड़ों किसान आत्महत्या नहीं कर रहे हैं, इसका विरोध भाजपा काले कपड़े पहनकर कर रही है? किसान कर्जमुक्त हो गया, भाजपा इसका विरोध काले कपड़े पहनकर कर रही है क्या? त्रिवेदी ने आरोप लगाया है कि भाजपा ने तो 2013 के घोषणा पत्र में कहा था कि एक-एक दाना धान खरीदेंगे और नहीं किया था, सच्चाई तो यही है। त्रिवेदी ने भाजपा का 2013 विधानसभा चुनावों के घोषणा पत्र का अंश जारी कर कहा है कि भाजपा अपनी गलतियों और वादाखिलाफी को कांग्रेस पर मढ़ना बंद करें।

 

24-02-2020
कांग्रेस के खिलाफ चुनाव लड़ने वाली सभी ताकतों के एक साथ आने से काली नीयत उजागर : शैलेश

रायपुर। शैलेश नितिन त्रिवेदी ने तंज कसते हुए कहा है कि भाजपा का भाजपा की बी टीम और बी टीम के साथ गठबंधन कर लड़े राजनैतिक दल बसपा के साथ में काले कपड़ों के प्रति प्रेम जागा है। कांग्रेस के खिलाफ अलग-अलग चुनाव लड़ने वाली इन ताकतों के एक साथ आने से इनकी काली नीयत और विधानसभा चुनावों के समय का आंतरिक गठबंधन उजागर हो गया है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री व अध्यक्ष संचार विभाग त्रिवेदी ने कहा कि 15 साल तक तो भाजपा सरकार काले रंग से डरती रही, घबराती रही। काले रंग के उपयोग को राजनैतिक रूप से गलत ठहराते हुये भाजपा नेताओं ने इसे अनुचित और अभ्रद करार दिया। काले झंडे दिखाने वालों पर लाठियां बरसने वाली भाजपा का अचानक काले रंग के प्रति प्रेम जागा है। भाजपा और भाजपा के सहयोगी दलों को काले रंग के प्रति अचानक जागे अनुराग पर प्रदेश की जनता को जबाव देना चाहिये। त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा के नेता सबसे पहले काले रंग पर निंदा करते हुये अपने पूर्व बयानों पर राज्य की जनता से माफी मांगे और अपना बयान वापस लेने की घोषणा करें।

 

23-02-2020
इंडोनेशिया के विवि में स्नातक के छात्रों को पढ़ाया जाएगा भाजपा का इतिहास

नई दिल्ली। भाजपा के इतिहास के बारे में जानकारी देने वाली एक किताब इंडोनेशिया की इस्लामिक यूनिवर्सिटी में पाठ्यक्रम का हिस्सा बनेगी। भारत के आम चुनाव में भाजपा की लगातार दो बार जीत ने शिक्षाविदों में पार्टी को लेकर रुचि पैदा कर दी है। शांतनु गुप्ता की किताब ‘भारतीय जनता पार्टी- अतीत, वर्तमान एवं भविष्य, विश्व के सबसे बड़े राजनीतिक दल की कहानी’ अंतरराष्ट्रीय संबंध विभाग में दक्षिण एशियाई अध्ययन के स्नातक के छात्रों के पाठ्यक्रम का हिस्सा बनेगी। विश्वविद्यालय में अंतरराष्ट्रीय संबंध विभाग के संकाय सदस्य हदजा मिन फदली ने कहा कि आम चुनाव में भाजपा की दो बार जीत के कारण शिक्षाविदों में पार्टी को लेकर रुचि बढ़ रही है। हदजा ने बताया कि भारत की हालिया यात्रा के दौरान उन्हें किताब के बारे में पता चला। वह ‘इंडिया फाउंडेशन’ द्वारा आयोजित कौटिल्य फेलोशिप कार्यक्रम के लिए भारत आए थे। उन्होंने कहा,‘इंडोनेशिया के लोग भारत के साथ हमारे संबंधों को और मजबूत करना चाहते हैं और इसलिए सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा को समझना महत्वपूर्ण है। हमें उम्मीद है कि भाजपा भी ऐसा ही चाहती है। जब शांतनु गुप्ता से इंडोनेशिया के विश्वविद्यालय में पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाने के लिए उनकी किताब को चुने जाने पर प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा कि उनके काम को वैश्विक पहचान मिलना लेखक के तौर पर उनके लिए बहुत संतोषजनक है। 

 

23-02-2020
आरक्षण विरोधी कांग्रेस को जनता माफ नहीं करेगी : उपासने

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने आरक्षण के मुद्दे पर कांग्रेस के प्रदेशस्तरीय आन्दोलन को फ्लॉप शो करार दिया है। भाजपा ने कहा कि कांग्रेस उस मुद्दे पर देश-प्रदेश को झूठ बोलकर भ्रमित करने के शर्मनाक हथकंडे आजमा रही है,जिसके लिए वह खुद ही जिम्मेदार है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने कहा कि झूठ बोलकर अपने सियासी वजूद को बचाने में लगी कांग्रेस के राजनीतिक चरित्र का पतन तो उसके कर्मों से झलक ही रहा है, साथ ही वह नेतृत्व की विचारहीनता के चलते राजनीतिक उपहास का पात्र बनती जा रही है। आरक्षण के मुद्दे पर कांग्रेस एक बार फिर देश में उसी तरह झूठ बोलकर भ्रम फैलाने और सामाजिक सद्भाव को खण्डित करने का प्रयास कर रही है,जिस तरह उसने नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) को लेकर किया था और जिसके चलते समूचे देश में उन्माद व हिंसा का दुर्भाग्यपूर्ण नजारा देखने को मिल रहा है। सच्चिदानंद उपासने ने कहा कि कांग्रेस की राजनीतिक करतूत के लिये देश उन्हें कभी माफ नहीं करेगा। इसी तरह कांग्रेस अपने सफेद झूठ का सहारा लेकर आरक्षण के मुद्दे पर भी लोगों में विभेद पैदा करके देश को एक बार फिर अशान्ति और उन्माद की ओर धकेलने की साजिश कर रही है।
उपासने ने तंज कसा कि आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट के जिस फैसले पर कांग्रेस के लोग मिथ्या प्रलाप कर रहे हैं, वह मामला उत्तराखण्ड की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ही सुप्रीम कोर्ट ले गई थी। अपने ही बुने जाल में फंसकर छटपटाती कांग्रेस के नेता आज आरक्षण के नाम पर भाजपा के खिलाफ अकारण ही जहर उगलते नजर आ रहे हैं। कांग्रेस नेताओं को न तो तथ्यों की परवाह है और न ही सत्य से उनका कोई वास्ता है। सरकारी नौकरियों में प्रमोशन में आरक्षण की सुविधा नहीं देने के लिये कोर्ट जाकर कांग्रेस खुद आरक्षण विरोधी साबित हुई है और इसीलिए उसके ऐसे आन्दोलन फ्लॉप शो साबित हो रहे हैं।

 

23-02-2020
वीरप्पन की बेटी विद्या रानी ने थामा भाजपा का दामन

चेन्नई। चंदन तस्कर वीरप्पन की बेटी विद्या रानी भाजपा में शामिल हो गईं। कृष्णगिरी में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव, पूर्व केंद्रीय मंत्री पॉन राधाकृष्णन समेत अन्य नेताओं की मौजूदगी में विद्या समेत सैकड़ों लोग पार्टी में शामिल हुए। भाजपा में शामिल होने के बाद विद्या रानी ने कहा कि मैं गरीबों और वंचितों के लिए काम करना चाहती हूं। पीएम मोदी की योजनाएं लोगों के लिए हैं और मैं उन्हें लोगों तक ले जाना चाहती हूं। बता दें कि वीरप्पन कुख्यात अपराधी था और इसका आतंक कर्नाटक और तमिलनाडु में फैला हुआ था। दक्षिण भारत के जंगल वीरप्पन के कब्जे में थे, जंगल में बैठकर वीरप्पन हाथी दांत और चंदन की खुलेआम तस्करी किया करता था। वीरप्पन और उसके सहयोगियों को साल 2004 में तमिलनाडु विशेष कार्य बल ने मार गिराया था।

 

23-02-2020
लाखों किसानों का धान नहीं बिका, सरकार का दावा झूठा : सरोज पाण्डेय

रायपुर। प्रदेश में धान खरीदी के सरकार के दावों को भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री व सांसद सरोज पाण्डेय ने नकार दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लाखों किसान अब तक अपना धान नहीं बेच पाए हैं। हर जिलों में हजारों किसानों का धान नहीं खरीदा गया है और प्रदेश सरकार व उसकी नौकरशाही रिकॉर्ड धान खरीदी का झूठे दावे कर रही है। मुंगेली में साढ़े तीन लाख क्विंटल धान नहीं बिक पाया जबकि बालोद जिले में लगभग नौ हजार किसानों को तो टोकन तक नहीं दिया गया। कवर्धा के किसानों का आंदोलन इस बात का प्रत्यक्ष प्रमाण है कि प्रदेश सरकार धान खरीदी के मुद्दे पर निकम्मी साबित हुई है और झूठ-पर-झूठ बोलकर अपने शर्मनाक रवैये पर आमादा है।

कवर्धा में पंजीकृत किसानों का साढ़े नौ लाख क्विंटल धान नहीं बिक पाया है। यही स्थिति अंबिकापुर, बलरामपुर, कोरिया, कोंडागांव, कांकेर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, सूरजपुर, राजनांदगांव आदि जिलों की भी है जहां पंजीकृत हजारों किसानों के धान की खरीदी सरकार ने नहीं की। टोकन को लेकर किसान परेशान हुए, पर जिन्हें टोकन दिया गया, खरीदी केन्द्रों तक पहुंचने के बाद भी उन किसानों का धान नहीं खरीदा जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। अब तक प्रदेशभर में लगभग 1 लाख 64 हजार किसान धान बेचने में कहीं न कहीं प्रभावित है। जो आंकड़े सरकार दे रही है निश्चित रूप से इस पर संदेह होना स्वभाविक है।

22-02-2020
किसानों के समर्थन में भाजपा ने दिया धरना प्रदर्शन

बीजापुर। जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आए किसानों ने लाइवलीहुड काॅलेज के सामने धरना दिया। इनकी अगुवाई पूर्व वनमंत्री महेश गागड़ा कर रहे थे। इस धरने में भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार,संजू लुंकड़,सुखलाल पुजारी,गोपाल पवार,इकबाल खान,नंदकिशोर राना समेत अन्य भाजपा के कार्यकर्ता और किसान शामिल थे। लाईवलीहुड कॉलेज के सामने धरना के बाद जिले के किसान रैली की शक्ल में कलेक्टोरेट पहुंचे और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। यहां किसान प्रतिनिधियों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा ने किसानों से कहा कि जिला स्तर पर इस समस्या का निराकरण नहीं हो सकता है। इसका निर्णय मुख्यमंत्री या खाद्य मंत्री करेंगे। उन्हेांने कहा कि जिले में करीब पांच सौ किसानों का धान नहीं खरीदा गया है और ये चिंता का विषय है। वही पूरे मामले पर बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं विधायक विक्रम ष्षाह मण्डावी ने कहा कि इतने किसानों को नहीं छोड़ा जा सकता है। इसका सर्वे हो रहा है। किसने कितना धान बेचा और कितने बचे हैं, इसका पता लगाया जा रहा है। शासन स्तर पर निर्णय लिया जाएगा।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से उनकी चर्चा होगी। यहां कलेक्टर ने किसानों से बातचीत से रास्ता निकालने की बात कही। उन्होंने कहा कि चक्का जाम अपनी बात को मनवाने का साधन नहीं है। उन्होंने कुछ तकनीकी खामियों का जिक्र करते कहा कि किसानों को भी व्यवस्था के साथ मिलकर चलना चाहिए। उन्होंने दावा किया कि अंतिम दिन जिले में सबसे ज्यादा धान खरीदी हुई है। किसानों ने भी वर्तमान विधायक और पूर्व विधायक के सामने अपनी समस्याएं रखीं। एक किसान ने कहा कि वे बड़े किसान हैं और उन पर कर्ज ज्यादा है। धान नहीं बिकने से उनकी नींद हराम हो गई है। कुछ किसानों ने आरोप लगाया कि टोकन काटने में विलंब किया गया और खरीदी के दौरान अव्यवस्था फैल गई। 

 

 

22-02-2020
भाजपा का धरना प्रदर्शन हुआ फ्लाप, धान खरीदी के मुद्दे पर उनकी दूसरी विफलता : त्रिवेदी

रायपुर। भाजपा के धरना प्रदर्शन को विफल करार देते हुए प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि किसानों के नाम पर भाजपा का प्रदर्शन फ्लाप शो रहा। धरना स्थलों में भाजपा के नेताओं में आपसी मारपीट और झूमाझटकी होती रही। बीजापुर में तो किसानों ने भाजपा के नेताओं को आंदोलन स्थल से भगाया और कांग्रेस विधायक विक्रम मंडावी के घर चले गये। इसी बौखलाहट में भाजपा नेताओं ने अपशब्दों का इस्तेमाल किया। इसके लिए स्वयं पूर्व मंत्री महेश गागड़ा को माफी मांगनी पड़ी।

त्रिवेदी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के किसानों ने भाजपा को समर्थन देना छोड़ दिया है। आज के धरना प्रदर्शन की विफलता धान खरीदी के मुद्दे पर भाजपा की दूसरी विफलता है। भाजपा के वरिष्ठ  नेता पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर द्वारा घोषित धान खरीदी को लेकर भात पर बात आंदोलन पूरी तरह से विफल रहा। प्रदेश में 2048 धान खरीदी केन्द्र है। भात पर बात का आंदोलन की संख्या दहाई भी पार नहीं कर सकी। भात पर बात का आंदोलन भाजपा के वरिष्ठ  नेता अजय चंद्राकर के गृह जिले धमतरी तक में भी नहीं हो पाया। धान खरीदी पर भाजपा को किसानों और ग्रामीण मतदाताओं ने समर्थन नहीं दिया। छत्तीसगढ़ के गांवों के लोग भाजपा के किसान विरोधी चरित्र को बखूबी समझ चुके है।

त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा को धरना तब करना था जब मोदी सरकार ने कहा था किसानों को 2500 रुपए मत दो। तब तो किसानों के लिए भाजपा चिट्ठी भी नहीं लिखी। आज के भाजपा के धरने से भाजपा की किसानों को लेकर की जा रही राजनीति और किसान विरोधी चरित्र दोनों  बेनकाब हुआ। भाजपा किसानों के साथ कभी नहीं रही है, अभी केवल घड़याली आंसू बहा रही है। जब किसानों को 2500 रूपए देने की बारी आई तो तब आगे-पीछे होने लगी और मुंह छिपाते फिर रही थी। त्रिवेदी ने कहा कि केन्द्र सरकार धान सहित विभिन्न फसलों की समर्थन मूल्य तय करती है। राज्य सरकार केन्द्र की ओर से धान खरीदती है। हम अपने राज्य के किसानों को राज्य सरकार के कोष से 25 सौ रूपए की अंतर की राशि देना चाहते थे लेकिन इसमें भी भारतीय जनता पार्टी को आपत्ति थी। बोनस राशि देने पर केन्द्र के द्वारा धान खरीदी के लिए राशि नहीं देने का फरमान सुना दिया। यहां तक कि किसानों को 2500 रूपए में धान खरीदी के लिए अपनी बात रखने के लिए मुख्यमंत्री बघेल प्रधानमंत्री से मिलना चाहते थे तब प्रधानमंत्री ने उन्हें मिलने का समय भी नहीं दिया। यह छत्तीसगढ़ के किसानों का सीधा अपमान है। इसे किसान हमेशा याद रखेंगे।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804