GLIBS
Exclusive: 74 बंगले के बी-12 से रखेंगे शाह 3 प्रदेश के चुनावों पर निगाह, होगा वॉर रूम तैयार  

रायपुर। 2018 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की तैयारियां जोरों पर है। इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भोपाल के 74 बंगले के बी12 बंगले में रहेंगे।  बंगले का  तेज गति से रिनोवेशन का काम चल रहा है। कहा जा रहा है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह यहीं से तीनों राज्यों के होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए वार रूम तैयार करवा रहे हैं 10 दिनों में बंगला तैयार हो जाएगा। 

क्यों इन 3 राज्यों पर शाह का फोकस 

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में होने वाले चुनावों को लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कोई भी कसर नहीं छोड़ना चाहते। इसकी वजह यह है कि तीनों ही स्टेट में भाजपा ने अपनी जीत का टारगेट तय कर रखा है। तीनों ही राज्यों में आज दिनांक तक भाजपा के अंदरखाने के सर्वे में जो बात निकलकर सामने आ रही है। वह भाजपा के लिए कुछ चिंताजनक है और यही वजह है कि अमित शाह अब खुद इन तीनों राज्यों के चुनावों को सीधे तौर पर देखेंगे। 

टिकट चयन पर चिंतन 

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भाजपा के टिकट वितरण के पहले प्रत्याशियों को लेकर एक सर्वे भी कराया गया है। इस सर्वे में जीतने वाले प्रत्याशियों के नाम सामने आने के बाद कही जा रही है। वहीं इस सर्वे में तीनों प्रदेशों के लिए कुछ वर्तमान विधायकों के टिकट काटने संभावना भी जताई गई है। माना जा रहा है कि तीनों प्रदेशों में बीजेपी अपनी जीत पक्की करने के लिए कम से कम 30 प्रतिशत वर्तमान विधायकों का टिकट काट सकती है। 

चुनाव के पहले शाह के कई दौरे 

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले भाजपाध्यक्ष अमित शाह की रणनीति को लेकर चर्चाओं का दौर गर्म है। कहा जा रहा है कि आने वाले दो-तीन महीनों के अंदर राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तीनों प्रदेशों में अलग-अलग जगहों पर दौरा करने की तैयारी में है। ये दौरे उनके विधानसभा चुनाव को मद्देनजर खास होंगे। 

देर आए पर दुरुस्त नहीं : सुंदरानी 

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने प्रेस कांफ्रेंस कर 65 सीट जीतने में प्रशासन की भूमिका पर प्रश्न चिन्ह खड़ा किया। इस पर पलटवार करते हुए भाजपा प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी ने कहा कि चलो देर से ही सही पर कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने माना तो कि भाजपा 65 सीट जीतने जा रही है।  पर इसके पीछे जो कारण गिनाए जा रहे हैं, वह दुरुस्त नहीं है। कांग्रेस  के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल आरोप लगाने की शीघ्रता में जनता के प्रति जवाबदेही भूल जाते हैं। लगातार आरोपों के क्रम में वे जनता के निर्णय को गलत साबित करने में तुले हैं।

प्रशासनिक दक्षता के चलते हुआ विकास:

उन्होंने कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार डॉ. रमन सिंह  की प्रशासनिक दक्षता के चलते ही आज इतना विकास कर पाई है। प्रदेश की शांति व लगातार विकास को जहां दुनिया की सराहना मिल रही है, वहीं कांग्रेसी यहां संशय जता रहे हैं। भ्रम व विश्वासघात के साथ प्रशासनिक दुरुपयोग कांग्रेस की कार्यशैली रही है, यह किसी से छिपी नहीं है और इसे दोहराने की जरूरत नहीं है। जो जैसा करता है, सामने वाले को भी वैसा ही महसूस करता है, कांग्रेस  पार्टी व इनके नेताओं की स्थिति कुछ ऐसी ही हो गई है। ये विकास और प्रशासन की स्वच्छ कार्यशैली  को हमेशा नकारते हैं। परिणाम आपके समक्ष है 15 वर्ष का वनवास। ऐसा ही रहा तो 15 वर्ष और अपनी स्पष्ट हार को भांपकर अभी से कारण गिनाने में कांग्रेसी लग गए हैं।

संगठन महामंत्री ने भरा कार्यकर्ताओं में जोश 

रायपुर। मंगलवार को महासमुंद में  जिला स्तर के भाजपा के पदाधिकारियों की बैठक हुई। इसमें प्रदेश के संगठन महामंत्री पवनदेव साय मौजूद थे। उन्होंने बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं को मजबूत करने पर जोर दिया। इसके लिए कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि ये हर पदाधिकारी का दायित्व है कि वो अपनी जिम्मेदारियों का पूरी निष्ठा के साथ निर्वहन करे। इसके साथ ही साथ आने वाले समय में कठोर चुनौतियों का सामना करने को तैयार रहे।

बैठक में ये लोग रहे मौजूद:

बैठक में भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष  सरला कोसरिया, जिला संगठन प्रभारी व आरंग विधायक नवीन मार्कण्डेय, प्रदेश मंत्री शंकर अग्रवाल, किसान मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष पूनम चन्द्राकर , संसदीय सचिव रूपकुमारी चौधरी , खल्लारी विधायक चुन्नीलाल साहू , सराईपाली विधायक रामलाल चौहान , क्रेडा अध्यक्ष पुरन्दर मिश्र, माटीकला बोर्ड चेयरमेन चन्द्रशेखर पांड़े, सहित भाजपा के जिला पदाधिकारी, जिले के शक्ति केंद्र प्रभारी ,संयोजक, सहसंयोजक, मोर्चा प्रकोष्ठ के पदाधिकारी ,भाजपा मंडल अध्यक्ष महामंत्री सहित भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

आलोक होंगे आप के सीएम प्रत्याशी: केजरीवाल

भोपाल। हमेशा 2 राजनीतिक पार्टियों के बीच होते आए मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में इस बार कांग्रेस और भाजपा को दूसरी सियासी पार्टियां भी टक्कर देने के लिए बेताब हैं। आम आदमी पार्टी ने भी मध्यप्रदेश में अपनी चुनावी तैयारियों को शुरू करते हुए विधानसभा चुनाव का शंखनाद कर दिया है।

रविवार को प्रदेश की व्यापारिक राजधानी इंदौर पहुंचे आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रदेश की शिवराज व केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला और अपनी विधानसभा चुनाव की तैयारियो की समीक्षा की। साथ ही आम आदमी पार्टी के राजनीतिक मंच से एक बड़ी घोषणा करते हुए इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर आम आदमी पार्टी मध्यप्रदेश में अपना परचम लहराते हुए सत्ता में आती है तो प्रदेश अध्यक्ष आलोक अग्रवाल मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बनेंगे।

इस मौके पर केजरीवालन ने कहा कि मैं एक प्रस्ताव रखता हूं शिवराज जी आपके 15 साल और हमारे 3 साल एक खुले मंच पर जनता के आमने सामने बहस हो जाए। जनता तय कर लेगी, अगर आपने 15 साल में ज्यादा काम किए तो आपका हक बनता है कि आप 5 साल और शासन करें, लेकिन अगर हमारे 3 साल भारी पड़े तो आलोक अग्रवाल को मुख्यमंत्री बनने का हक है।

राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोलते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में 15 साल से शिवराज सिंह की सरकार है और दिल्ली में साढ़े 3 साल से आम आदमी की सरकार है। दिल्ली में जब हमारी सरकार बनी थी, तब मध्य प्रदेश जैसी ही हालत थी। जनरेटर, इनवर्टर की खूब खरीद होती थी। लोग जनरेटर खरीदना भूल गए, इनवर्टर की दुकानें बंद हो गईं। अगर साढ़े 3 साल में दिल्ली के लोगों को बिजली मिल सकती है, तो 15 साल में मध्य प्रदेश में बिजली के हालात क्यों नहीं बदलते।

15 साल में अगर सरकार स्कूल ठीक नहीं कर पाएं शिवराज सिंह तो या तो करना नहीं चाहते हैं, या फिर हो नहीं रहा। उन्होंने बताया कि दिल्ली में सबसे सस्ती बिजली दी जा रही है। उन्होंने कहा कि हम सिखाने के लिए तैयार हैं भाजपा सरकार को कि कैसे बिजली सस्ती होती है। नहीं तो आलोक अग्रवाल आकर सस्ती कर देंगे। इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्र की मोदी सरकार पर भी जमकर तीर चलाएं। इस मौके पर आम आदमी पार्टी मध्यप्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष आलोक अग्रवाल सहित प्रदेश भर  से इंदौर पहुंचे आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता और पदाधिकारी मौजूद रहे।

विधानसभा चुनाव में भाजपा 30 प्रतिशत नए चेहरों को देगी मौका

रायपुर। आगामी विधानसभा चुनाव के भारतीय जनता पार्टी इस बार 30 फीसदी नए चेहरों को मौका देगी। स्वयं मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज इंडोर स्टेडियम में आयोजित युवा कौशल दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान मीडिया से चर्चा में यह बात कही। 

इस बार भाजपा ने बस्तर और सरगुजा की सीटों पर हर हाल में जीतने का लक्ष्य रखा है। दरअसल यहीं की सीटें भाजपा को मिशन 65 तक पहुंचाएगी। उम्मीद ही है यहां से युवा व नए चेहरों पर इस बार भाजपा दांव लगा सकती है। हाल ही में हुए भाजयुमो के प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में भी इस बार विधानसभा में युवाओं को टिकट देने की चर्चा रही। 

 बता दें कि आज छत्तीसगढ़ कौशल विकास प्राधिकरण द्वारा विश्व युवा कौशल दिवस पर आयोजित छत्तीसगढ़ कौशल ओलंपियाड कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने ओलंपियाड के विजेताओं को पुरस्कृत किया।  इस मौके पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ के युवाओं का स्वागत करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ हिदुस्तान का यह अकेला राज्य है जो कौशल उन्नयन का कानून बनाया है।

विश्व के जितने भी सक्सेस देश है, उसके पीछे उनका एक स्किल है। प्रदेश ने उस स्किल को डेवलप किया है। उन्होंने कहा कि अब हमारे ही प्रदेश में मेकैनिकल से लेकर हर क्षेत्र में युवा हैं। अलग अलग क्षेत्र में युवाओं ने प्लेसमेंट को बढ़ाया है। जेल के कैदियों के लिए भी कौशल योजना प्रावधान लाया जा चुका है। 

Exclusive : भाजपा की सियासत में फिर राम...राम
नोएडा के भूत की भभूत खोजने में लगी भाजपा, प्रशांत किशोर की कराई घर वापसी
खनन माफिया के दबाव में भाजपा सरकार कर रही है सुरक्षा से खिलवाड़: अजय सिंह

भोपाल। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने आरोप लगाया है कि ग्वालियर में भारतीय वायुसेना क्षेत्र में अवैध उत्खनन से सुरक्षा को भारी खतरा पैदा हो गया है। इससे मिराज जैसे विमानों को नुकसान हो सकता है। 
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने आज जारी एक बयान में कहा है कि ग्वालियर के मुरार क्षेत्र स्थित केंटोमेंट एरिया में भारतीय वायु सेना का कार्यालय स्थित है।

यहां के एयर स्टिफ से मिराज जैसे युद्धक विमान उड़ान भरते हैं। इन्हें नुकसान न पहुंचे, प्रदूषण न हो इस दृष्टि से यहां पर ब्लैक स्टोन खदानों के खनन पर रोक लगाई गई थी, लेकिन आज खनन माफिया के दबाव में फिर से खनन शुरू हो गया है। इससे भारतीय वायु सेना के अधीन इस क्षेत्र में सुरक्षा के साथ मिराज जैसे विमानों के साथ भी खिलवाड़ शुरू हो गया है।

क्रेशर चलने से होने वाले प्रदूषण से पूरे क्षेत्र में धुंध छा जाती है, जिससे मिराज विमानों को उड़ान में परेशानी होती है। नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि अपने को राष्ट्रभक्त कहने वाली भाजपा किस तरह देश की सुरक्षा एवं सबसे कीमती मारक विमान मिराज के साथ खिलवाड़ कर रही है, इससे भाजपा के चाल चरित्र चेहरे का दोगलापन उजागर होता है।

मीडिया के जरिए जनता को साधने आएंगे संजय मयूख, मिली छत्तीसगढ़ मीडिया प्रबंधन की जिम्मेदारी

रायपुर। प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने भी तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए मीडिया प्रबंधन को अहम माना जा रहा है। सरकार की छबि को निखारने और उसके पक्ष को मीडिया के जरिए आम लोगों तक बेहतर तरीके से रखने के लिए छत्तीसगढ़ में मीडिया प्रबंधन का दायित्व केंद्रीय संगठन ने भाजपा राष्ट्रीय मीडिया सह संयोजक संजय मयूख को सौंपा है। संजय मयूख पखवाड़े भर बाद छत्तीसगढ़ आएंगे।

ये पदाधिकारी आम जनता तक राज्य सरकार की उपलब्धियों को मीडिया के जरिए प्रचारित प्रसारित करने का दायित्व संभालेंगे। सूत्रों के मुताबिक भाजपा नेतृत्व ने राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को राजस्थान, राज्य सभा सांसद व प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव को मध्य प्रदेश और राष्ट्रीय मीडिया सह संयोजक संजय मयूख को छत्तीसगढ़ का दायित्व सौंपा है। छत्तीसगढ़ में बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश के मतदाताओं की तादाद को ध्यान में रखकर मयूख को यह जिम्मेदारी दी गई है।  भाजपा यहां पिछले 15 सालों से काबिज है। प्रदेश में सरकार विरोधी माहौल है। इससे संगठन को इस बार सरकार बनाने में कठिनाई महसूस हो रही है। कई चरणों के सर्वे में भाजपा प्रदेश के बस्तर, सरगुजा संभाग समेत अन्य जगहों पर पिछड़ती नजर आ रही है।

बताया जाता है कि संजय मयूख इसके उत्तरप्रदेश के चुनाव में भी बड़ी भूमिका निभा चुके हैं। राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी बनने के बाद लगातार संजय मयूख मीडिया और सरकार के बीच में संवाद स्थापित करने में सफल रहे हैं।  4 साल पूरा होने पर सरकार की उपलब्धियों को कैसे जन-जन तक पहुंचाना और आम लोगों के सवाल सरकार तक पहुंचाना यह दोनों काम मयूख ने बखूबी निभाया है।

Exclusive : एक सर्वे ने उड़ाए भाजपा-कांग्रेस के होश, मंत्रियों को भी छूट रहा पसीना

रायपुर। छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव को चार से पांच माह ही शेष रह गए हैं, ऐसे में आए दिन किसी ना किसी मुद्दे को लेकर भाजपा और कांग्रेस की उलझन बढ़ती नजर आ रही है। ताजा मामला एक चुनाव सर्वे का है। इसके रिजल्ट देखकर ना केवल भाजपा, बल्कि कांग्रेस और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के भी होश उड़े हुए हैं। इस सर्वे में बीएसपी यानि बहुजन समाज पार्टी भी उपस्थिति बनाती नजर आ रही है। 

विधानसभा चुनाव को लेकर हुए एक हालिया सर्वे में भाजपा 37 सीटों पर सीधे तौर पर बढ़त बनाती दिख रही है। वहीं कांग्रेस 32 सीटों पर नजर आ रही है। दो सीटों पर जकांछ यानि अजीत जोगी की पार्टी जीतती नजर आ रही है। वहीं दो से तीन सीटों पर बसपा की आमद भी दर्ज हुई है। शेष 27 सीटें ऐसी हैं, जो असल में निर्णायक भूमिका निभाने वाली हैं। यही 27 सीटें तय करेंगी कि आखिर सूबे में कौन सरकार बनाएगा। इन्हीं सीटों पर भाजपा, कांग्रेस और जोगी कांग्रेस के बीच गलाकाट स्पर्धा होनी है। जो ज्यादा सीटें निकाल ले जाएगा, उसके ही माथे पर सत्ता का ताज सुशोभित होगा। 

बस्तर में भाजपा की स्थिति सुधरी, सरगुजा अब भी हाथ नहीं आया

विधानसभा सीटों पर जीत-हार को लेकर हुए सर्वे में यह भी सामने आया है कि बस्तर में भाजपा वापसी कर रही है। ज्यादा नहीं, लेकिन पांच से छह सीटों पर भाजपा मुकाबला जीत जाएगी। वहीं कांग्रेस भी बस्तर की पांच से छह सीटों पर अपनी पकड़ बनाए हुए है। सरगुजा क्षेत्र की 14 विधानसभा सीटों में भाजपा केवल 6 से 7 सीटों पर वापसी करती दिख रही है, जबकि कांग्रेस 7 से 8 सीटों पर मजबूत पकड़ के साथ मौजूद है। ऐसे में बस्तर और कुछ मैदानी सीटों के बदौलत भाजपा को चौथी बार सरकार बनाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ेगी। 

दिग्गज मंत्रियों को भी चबाने होंगे चने

सर्वे में एक बात और सामने आई है कि कई दिग्गज मंत्रियों की सीटों पर भी जीत का प्रतिशत पिछली बार के मुकाबले घटता दिखााई दे रहा है। मंत्रियों की सूची में ऐसे नाम शामिल हैं, जो पिछले कई चुनाव निर्बाध रूप से जीतते आ रहे हैं। लेकिन इस बार उनके लिए चुनाव जीतना उतना आसान नहीं है। कुछ सीटों पर तो मौजूदा मंत्री अपनी साख पूरी तरह गवां चुके हैं। अब उन्हें नई सीट मिलेगी या वे अपनी टिकट ही गवां बैठेंगे, यह देखने वाली बात होगी। सर्वे के मुताबिक अजीत जोगी की पार्टी को भी अभी और मेहनत करने की जरूरत है।  बहरहाल, बीएसपी का दो से तीन सीटों पर उपस्थिति दर्ज कराना भी प्रदेश के राजनीतिक समीकरणों को बदलने के लिए काफी होगा। 

2019 में अगर बीजेपी की सरकार बनी तो हिंदू पाकिस्तान बन जाएगा देश : थरूर

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री शशि थरूर ने मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है। शशि थरूर ने तिरुवनंतपुरम में कहा कि अगर 2019 में बीजेपी लोकसभा चुनाव जीतने में कामयाब होती है तो देश हिंदू पाकिस्तान बन जाएगा। तिरुवनंतपुरम में एक सभा को संबोधित करते हुए थरूर ने कहा की 2019 में बीजेपी जीती तो संविधान को तहस नहस कर देगी और एक ऐसे संविधान का निर्माण करेगी जो सिर्फ हिंदू राष्ट्र के हितों की रक्षा करेगी।

थरूर ने कहा कि संघ परिवार के सभी विचारक चाहते थे कि भारतीय संविधान को त्याग दिया जाए। हालांकि, थरूर ने कहा कि यह वो भारत नहीं होगा जिसके लिए महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, मौलाना अबुल कलाम आजाद और बाकी स्वतंत्रता सेनानियों ने संघर्ष किया था।

इस बयान के बाद कांग्रेस ने ही थरूर को संयम और सावधानी बरतने के लिए आगाह किया। जिसके बाद थरूर ने सफाई दी- भाजपा खुद हिंदू राष्ट्र की अवधारणा पर यकीन नहीं करती। वह कहती है कि हमें धर्मनिरपेक्ष देश चाहिए। इससे बहस खत्म हो जाती है।

थरूर के इस बयान पर भाजपा ने करारा पलटवार किया है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि थरूर के बयान पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804
Visitor No.