GLIBS
24-10-2020
प्याज की जमाखोरी और मुनाफाखोरी रोकने जशपुर कलेक्टर महादेव कावरे ने ली व्यापारियों की बैठक

रायपुर/जशपुरनगर। लोगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए प्याज का दाम  निर्धारित करने के लिए कलेक्टर  महादेव कावरे ने व्यापारियों की बैठक ली।  उन्होंने व्यापारियों से कहा कि प्याज अधिक दामों पर बिक्री न करें और स्टाॅक पर भी अनावश्यत न रखने के लिए कहा गया है। बैठक में खाद्य अधिकारी ने बताया कि थोक व्यापारी 25 टन ही प्याज रख सकते हैं। फुटकर व्यापारी 2 टन ही स्टाॅक में प्याज रखने की अनुमति है। थोक व्यापारियों ने बताया कि जिले में प्याज रांची, बिलासपुर, अम्बिकापुर से आता है। प्याज का थोक भाव मण्डी के हिसाब से उपर-नीचे होता रहता है। और मण्डी के हिसाब से ही दाप निर्धारित करके विक्रय किया जाता है। व्यापारियों ने बताया कि मार्केट में अभी 70 रुपए के हिसाब से प्याज का विक्रय कर रहे हैं। कलेक्टर ने व्यापारियों से आग्रह किया कि लोगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए प्याज का मूल्य निर्धारित करें।

15-05-2020
नमक की कालाबाजारी करने वाले 12 दुकानों पर 60 हजार रुपए का लगा जुर्माना

रायपुर। लॉक डाउन में आवश्यक वस्तुओं की जमाखोरी और मुनाफाखोरी पर नियत्रंण के लिये जिला प्रशासन की ओर से लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। रायपुर शहर में 27 किराना दुकानों में नमक की उपलब्धता और विक्रय दर की जांच की गई। जांच के दौरान 12 दुकनों में एमआरपी से अधिक दाम पर नमक बेचा जाना पाया गया। इन दुकानों पर विधिक माप विज्ञान (पैक बंद वस्तु नियम 2011) के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया। इन प्रतिष्ठानों पर 60 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया।खाद्य नियंत्रक अनुराग सिंह भदौरिया ने बताया कि थोक विक्रेताओं और अन्य चिल्हर विक्रेताओं को नमक और अन्य खाद्य सामग्री की जमाखोरी, एमआरपी मूल्य से अधिक दर पर विक्रय नहीं करने के सख्त निर्देश दिये गये हैं। जिले में नमक की उपलब्धता और आपूर्ति सामान्य है।उल्लेखनीय है कि कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन रायपुर ने नमक के थोक और किराना दुकानों की नियमित जांच के निर्देश दिए हैं। इसी तारतम्य में जांच दल की ओर से नमक के व्यापारियों की नियमित जांच की जा रही है। नमक की जमाखोरी अथवा एमआरपी से अधिक दर पर बेचने पर संबंधित व्यापारी के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

13-05-2020
अति आवश्यक सामग्रियों कि मुनाफाखोरी करने वाले दुकानदारों पर गिरी प्रशासन की गाज

मुंगेली। नगर में नमक सहित अन्य सामानो कि मुनाफाखोरी करने वाले दुकानदारों पर प्रशासन ने कडाई करनी शुरू कर दी हैं। बता दें कि नमक के मूल्य में तेजी और अचानक स्टाक खत्म होने कि खबर फैलने कै बाद जिला प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए नगर के दुकानों मे छापेमारी शुरू की। छापेमारी मे अनुभागीय अधिकारी तहसीलदार और खाद्य विभाग कि टीम ने गोल बाजार और मंडी परिसर स्थित थोक व्यापारियों के गोदामों में छापेमारी कर ताबडतोड कार्रवाई  की। इसी कड़ी में बुधवार को नगर पालिका मुंगेली के शिवाजी वार्ड में स्थित कन्हैया आर्या किराना स्टोर्स द्वारा अधिक दर पर बिक्री के लिए अवैध रूप से भंडारित 81 बोरी नमक और मंडी गोदाम मे भंडारित 47 बोरी नमक जब्त किया गया और दुकान सील कर दुकान संचालक के विरूद्ध प्रकरण पंजीबद्ध कर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत सख्त कार्रवाई की गई।

इसी तरह राजस्व, पुलिस, खाद्य और नगरी निकायों के अधिकारियो द्वारा कृष्णा किराना स्टोर्स के आवास गोदाम दबिश दी गई और वहां लगभग 30 लाख रूपये की अवैध रूप से भंडारित 48 बोरी (प्रति बोरी 200 पैकेट) राजश्री, गुटखा 11 पेटी गुडाखू जब्त कर संबंधित के विरूद्ध प्रकरण पंजीबद्ध कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। मां किराना स्टोर्स द्वारा टाटा नमक की खुदरा मूल्य 18 रूपये प्रति पैकेट को 40 रूपये प्रति पैकेट की दर से बेचा जा रहा था। इनके विरूद्ध भी कार्रवाई करते हुए 25 हजार रूपये की जुर्माना लगाया गया। छापामारी कार्रवाई के  दौरान पान मसाला दुकान में अवैध रूप से गुटखा और पान मसाला बिक्री करने पर 20 हजार रूपये का जुर्माना लगाया गया। 

 

21-04-2020
आवश्यक वस्तुओं की मुनाफाखोरी रोकने,खाद्य विभाग कर रहा निरीक्षण

धमतरी। कलेक्टर रजत बंसल के निर्देश पर किराना दुकानों में आवश्यक वस्तुओं का मूल्य नियंत्रण, मुनाफाखोरी रोकने और किराना दुकानों को कोरोना वायरस के संक्रमण से रोकथाम के लिए सुरक्षात्मक उपायों का पालन कराने जिले में गठित दल की ओर से लगातार औचक निरीक्षण किया जा रहा  है। इसी कड़ी में मगरलोड के छः किराना दुकानों का निरीक्षण किया गया। खाद्य अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक मगरलोड के नमन बेकरी एवं किराना स्टोर्स, देवांगन किराना एवं फैन्सी स्टोर्स और आरके किराना स्टोर्स में आलू, प्याज, दाल, शक्कर एवं अन्य आवश्यक खाद्य सामग्री का अधिक मूल्य पर विक्रय किए जाने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन नहीं करने तथा गुटखा, तम्बाखू विक्रय करने की वजह से खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग की ओर से प्रकरण दर्ज कर नियमानुसार कार्रवाई की गई।

साथ ही नगर पंचायत अधिकारी की ओर से नगर पंचायत अधिनियम 1956 की धारा 434 एवं नियम 20 (ख) का उल्लंघन पाए जाने पर दस हजार रूपए के जुर्माने की वसूली की गई। साथ ही सभी दुकानदारों को सही मूल्य पर सामग्री विक्रय करने, सोशल डिस्टेंसिंग तथा उपभोक्ताओं की जानकारी के लिए दैनिक उपभोग की वस्तुओं का मूल्य प्रदर्शित करने और मादक पदार्थ विक्रय नहीं करने की समझाइश दी गई। जांच दल में राजस्व, खाद्य, नापतौल, नगरनिगम, मण्डी, खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारी शामिल हैं।

09-04-2020
लाॅक डाउन के नियमों का उल्लंघन करने वाले दुकानों से वसूली गई 19 हजार जुर्माने राशि

 

धमतरी। कलेक्टर रजत बंसल के निर्देश पर जिला मुख्यालय में आवश्यक वस्तुओं का मूल्य नियंत्रण, मुनाफाखोरी रोकने एवं किराना दुकानों को कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए सुरक्षात्मक उपायों का पालन कराने जिले में गठित दल द्वारा लगातार औचक निरीक्षण किया जा रहा है। आज इसी कड़ी में 15 दुकानों के निरीक्षण के दौरान धमतरी के मनोरंजन स्टोर्स आमापारा, टिकरापारा स्थित शंकर किराना स्टोर्स  और नरेश किराना स्टोर्स में आलू, प्याज, दाल, शक्कर एवं अन्य आवश्यक खाद्य सामग्री का अधिक मूल्य पर विक्रय किए जाने की वजह से खाद्य औषधि प्रसाधन विभाग द्वारा प्रकरण दर्ज कर नियमानुसार कार्रवाई की गई तथा नगरनिगम के अधिकारी द्वारा 6000 रूपए का अर्थदण्ड वसूला गया।
इसी तरह अमित ट्रेडिंग आमापारा, पुनीत बेकरी टिकरापारा द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन नहीं करने पर नगर निगम अधिकारी द्वारा चार हजार रूपए एवं सत्यम बेकरी विमल टाॅकिज रोड धमतरी में अमानक मिथ्या छाप खाद्य सामग्री विक्रय करते पाए जाने पर खाद्य अधिकारी द्वारा नमूना लिया गया तथा नगरनिगम अधिकारी द्वारा पांच हजार रूपए जुर्माना वसूला गया।

लाॅकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने पर एमआर मेहता गैरेज तथा जैन आटोमोबाइल पर चार हजार रूपए की जुर्माना राशि की वसूली की गई। इस तरह आज दल द्वारा कुल 19 हजार रूपए की वसूली की कार्रवाई की गई। साथ ही सभी दुकानदारों को सही मूल्य पर सामग्री विक्रय करने, सोशल डिस्टेंसिंग तथा उपभोक्ताओं की जानकारी के लिए दैनिक उपभोग की वस्तुओं का मूल्य प्रदर्शित करने की समझाईश दी गई। गौरतलब है कि जांच दल में राजस्व, खाद्य, नापतौल, नगरनिगम, मण्डी, खाद्य एवं प्रसाधन विभाग के अधिकारी शामिल हैं।

31-03-2020
प्रशासन ने लगाया दुकान संचालक पर 25 हजार का जुर्माना

कोंडागांव। कोरोना वायरस के संक्रणम के चलते देशभर में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है। आम जनता को दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति सुलभ कराने शासन प्रशासन चिन्तित हैं। वहीं कुछ समाज के दुश्मन इस मौके का भी फायदा उठाने से नहीं चूक रहे हैं। स्थानीय सरगीपालपारा में एक जनरल स्टोर व डेली निड्स के संचालक को आवश्यक वस्तु अधिनियम व शासन के आदेश का उंल्लघन करने पर पच्चीस हजार रुपये का जुर्माना लगाया। भविष्य में इस प्रकार का कृत्य न करने की सख्त हिदायत दी गई। प्रशासन ने अन्य दुकान संचालकों को भी आगाह किया है कि भविष्य में किसी भी दुकानदार द्वारा जमाखोरी या मुनाफाखोरी किए जाने की शिकायत मिलती है तो उसके विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही की जाएगी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804