GLIBS
17-09-2020
परिजनों ने अस्पताल के बाहर दिया धरना

कोरबा। बीती रात सड़क हादसे में मोटरसाइकिल सवारों को कार ने ठोकर मार दी थी। इसमें  एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई थी। वही दूसरा युवक गंभीर रूप से घायल हो गया था, जिसे उपचार शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया। घटना में कार चालक व उसमें सवार युवक फरार हो गए। परिजनों ने गुरुवार को अस्पताल परिसर में धरना दे दिया। परिजनों का कहना है कि फरार कार चालक व सवार की गिरफ्तारी के बाद ही वह यहां से उठेंगे।

 

18-07-2020
महिला से छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न मामले में वन परिक्षेत्र अधिकारी पर मामला दर्ज पर अब तक गिरफ्तारी नहीं

कांकेर। वन परिक्षेत्र कांकेर में पदस्थ वन परिक्षेत्र अधिकारी के विरुद्ध अजाक थाना में मामला दर्ज कर लिया गया है। विदित होकि कांकेर में वनपाल के पद पर पदस्थ महिला कर्मचारी के साथ छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न करने के सम्बंध में अजाक थाना में पीड़ित महिला कर्मचारी द्वारा लिखित शिकायत दर्ज कराई थी,जिसके बाद अजाक थाना में रेंजर के विरुद्ध 11 जुलाई को धारा 354 और एसटी/एससी एक्ट के तहत कार्यवाही कर अपराध पंजीबद्ध किया गया है। बता दें कि रेंजर द्वारा महिला वनपाल को बिना किसी कारण बताओ नोटिस के वन मण्डला अधिकारी द्वारा रेंजर की झूठी शिकायत और अपनी बात न मानने के कारण महिला वनपाल को सस्पेंड कर दिया गया था। क्योंकि महिला वनपाल द्वारा रेंजर द्वारा किये जा रहे छेड़छाड़ का विरोध कर रही थी।

इसके बाद महिला वनपाल द्वारा अपने हक अधिकार के लिए 8 जून को अजाक पुलिस थाना कांकेर में रेंजर के नाम से छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न के सम्बंध में शिकायत दर्ज की गई थी। हेल्पिंग ह्यूमन राइट्स फाउंडेशन से मदद की अपील की गई थी। इसके बाद हेल्पिंग ह्यूमन राइट्स फाउंडेशन द्वारा मामले की गम्भीरता को देखते हुए मुख्य वन संरक्षक से बात की गई, वन विभाग द्वारा एक जांच कमेटी बनाई गई थी। हेल्पिंग ह्यूमन राइट्स फाउंडेशन द्वारा पुलिस अधीक्षक कांकेर और बस्तर रेंज आईजी सुंदरराज पी.से बात की गई थी। अजाक थाना द्वारा अपने स्तर पर जांच की गई, वन विभाग के समस्त कर्मचारियों से पूछताछ और गवाहों के बयान के बाद रेंजर पर 11 जुलाई 2020 को धारा 354 और ST/SC एक्ट अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है। परन्तु देखने मे आया है कि अजाक थाना द्वारा अभी रेंजर  की गिरफ्तारी नही की गई है। अजाक थाना प्रभारी रविन्द्र मंडावी का कहना है कि कागजी कार्यवाही पूर्ण होने के बाद आरोपी को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।

 

18-07-2020
आप नेता देवलाल नरेटी की गिरफ्तारी को हुपेंडी ने बताया अलोकतांत्रिक, 19 जुलाई से सभी जिलों में आमरण अनशन

रायपुर। आम आदमी पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आमरण अनशन पर बैठे नेता देवलाल नरेटी की गिरफ्तारी को प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने अलोकतांत्रिक कहा है। हुपेंडी ने कहा कि आम आदमी पार्टी अपनी मांगों को लेकर लगातार सोलहवें दिनों से आमरण अनशन पर है। प्रदेश की भूपेश सरकार की जिस प्रकार अड़ियल रवैया अपनाए हुए है, पार्टी अब भी बेरोजगारों की लड़ाई में डटी रहेगी। आप नेता मुन्ना बिसेन ने कहा कि जिस तरह से यह सरकार चलाई जा रही है उस हिसाब से बहुत ही कम समय में कांग्रेस सरकार ने अपनी लोकप्रियता युवाओं में खो दी है। अनशनरत देवलाल नरेटी को गिरफ्तार करने से उन्होंने सरकार के प्रति कड़ी नाराजगी जताते हुए कहा कि सरकार अब हमसे यह अधिकार भी छीन रही है कि इनका विरोध भी नहीं कर सकते।

पार्टी प्रवक्ता अनुषा जोसेफ ने कहा यह आमरण अनशन अब 19 जुलाई से प्रदेश के सभी जिलों में शुरू होगा और सरकार की पुलिस इसको जितना कुचलने का प्रयास करेगी, उतना ही हमारे कार्यकर्ता उत्साह से इस आंदोलन को सफल बनाएंगे।तेजेन्द्र तोड़ेकर ने बताया हमारे अनसन के समर्थन लगातार हमें छत्तीसगढ़ के बेरोजगार युवक युवतियों के मिस्ड कॉल आ रहे हैं। पर लगता है सरकार की प्राथमिकता निर्माण कार्य में ज्यादा है। बेरोजगारों को रोजगार देना सरकार की प्राथमिकता में ही नहीं है।

 

06-06-2020
मारपीट मामले एफआईआर के बाद भी नहीं हुई गिरफ्तारी

कवर्धा। पत्रकार के साथ हुई मारपीट मामले में आरोपी महिला की गिरफ्तारी नहीं हुई है। बता दें कि शहर में चल रहे सेक्स रैकेट को लेकर पत्रकारों ने खुलासा किया था। इसके बाद एक महिला ने पत्रकार को फोन कर धमकी दी और मारपीट की। उक्त महिला के खिलाफ थाने में शिकायत की गई। कोतवाली पुलिस ने महिला के खिलाफ धारा 294, 323, 506, 452 एफआईआर दर्ज की लेकिन अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। महिला द्वारा धमकी मिलने के बाद शहर के पत्रकारों ने एसपी केएल ध्रुव को आवेदन भी दिया। इसमें उक्त महिला का फोन नंबर और काॅल रिकार्डिंग भी प्रस्तुत की गई और कहा गया कि पत्रकारों के साथ अप्रिय घटना ना घटें। इसके बावजूद पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है।

 

28-05-2020
बिना जांच पड़ताल पत्रकार की गिरफ्तारी का पत्रकारों ने किया विरोध, सीएम के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कांकेर। शहर के वरिष्ठ पत्रकार सुशील शर्मा की अचानक एवं एक तरफा गिरफ्तारी का विरोध करते हुए आज प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार कांकेर कलेक्टर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम ज्ञापन सौंपा है। इसमें पत्रकार सुशील शर्मा को रायपुर पुलिस ने बिना किसी आचार संहिता का पालन करते हुए एक महिला अधिकारी की फर्जी आरोपों वाली शिकायत पर आनन-फानन में एफआईआर दर्ज कर सीधे कांकेर स्थित उनके निवास पर थाना खमारडीह रायपुर से कोरोना काल के बावजूद पुलिस पार्टी भेजकर गिरफ्तारी कर 5000 रूपए के मुचलके पर रिहा किया गया है। बस्तर बन्धुु का कार्य तथा न्याय क्षेत्र कांकेर होने के बावजूद रायपुर में रिपोर्ट लिखी गई और कांकेर के किसी भी पुलिस अधिकारी अथवा पत्रकार अथवा जनप्रतिनिधि को सूचित किए बिना, शासन के दिशा-निर्देशों/आचार संहिता को ताक में रखकर सीधे घर आकर गिरफ्तारी की गई है,जो किसी भी दृष्टिकोण से सही नहीं है और इसे प्रजातंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला ही माना जाएगा। जिस तथ्य व सबूतों के आधार पर महिला अधिकारी के संबंध में समाचार प्रकाशित किया गया है उस पर पत्रकार सुशील शर्मा से किसी भी प्रकार की जांच-पड़ताल या पूछताछ नहीं की गई है,जिससे यह प्रतीत होता है कि इस गिरफ्तारी के पीछे कहीं न कहीं पत्रकारों के अधिकारों व आजादी पर पाबंदी लगाने की कोशिश की जा रही है साथ ही पत्रकारों पर ऐसे झूठे व बेबुनियाद आरोप लगाकर फंसाया जा रहा है। अत: सभी पत्रकारगण इस एकतरफा तथा तानाशाही गिरफ्तारी का विरोध करते है साथ ही अफसर की भी जांच की जाये और गलत ढंग से एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी किए जाने के दोषी पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई करते हुए सुशील शर्मा पर दर्ज धारा 504 व 509 के प्रकरण को समाप्त करने की मांग की है। ज्ञापन सौंपने वालों में राजेश शर्मा, टिनकेश्वर तिवारी,कमल शुक्ला, अमित चौबे,  खालिद अख्तर, नरेश भीमगज, रूपेश नागे, नीरज तिवारी, गौरव श्रीवास्तव, आंशु शुक्ला, सुशील सलाम, एसके खान, टोकेश्वर साहू, चंद्रजीत यादव, विनोद साहू, हबीब राज, हेमन्त बेश्रा, हाफिज रिजवी, हिरेश्वर साहू, निपेन्द्र सिंह ठाकुर, तामेश्वर सिन्हा, राजेश सिन्हा, डाकेश्वर सोनी, सुनील ठाकुर, दीपक पुड़ो, मोहनीश सोनी, प्रांजल झा सहित बड़ी संख्या में प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकार मौजूद थे।

14-05-2020
नक्सली सहयोगी निशान्त जैन भी पुलिस के गिरफ्त में अब तक कुल 12 लोगों की हुई गिरफ्तारी  

कांकेर। नक्सलप्रभावित क्षेत्र कोयलीबेड़ा में नक्सलियों को सामान पहुंचाने के मामले में एक और आरोपी की गिरफ्तारी हुई है। इस तरह इस पूरे मामले में अब तक कुल 12 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। विदित हो कि पुलिस की 6 सदस्यीय विशेष टीम को एक बार फिर सफलता मिली है, जिसमें कोयलीबेड़ा क्षेत्र में पीएमजीएसवाई के तहत सड़क निर्माण कार्य में लगी कम्पनी लेण्डमार्क इंजीनियर बिलासपुर के मालिक निशांत जैन पिता सुरेश जैन सिद्ध शिखर विस्तार एपार्टमेंट रिंग रोड -2 शांति नगर बिलसपुर द्वारा नक्सलियों को 2 से 3 वर्षों तक स्टेशनरी सामान, नक्सली वर्दी कपड़ा, जूता, वायर, टार्च, दवाई, पॉलीथिन, सामग्री एवं पैसा कोयलीबेड़ा के स्थानीय कुछ लोगों की मदद से पहुँचाया जाता था जिससे नसलियों को आसानी से जरूरत की सामग्री उपलब्ध हो जाती थी व कम्पनी के मालिक के द्वारा ही सामानों की खरीदी की जाती थी। इस प्रकार पुलिस ने नक्सलियों के शहरी नेटवर्क को सीधे तौर पर तोड़ दिया जिससे नक्सलियों की कमर टूट गई है। इस मामले में पहले भी और 11 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

27-04-2020
छत्तीसगढ़ में लॉक डाउन का उल्लंघन करने पर अब तक 1549 एफआईआर, 1346 लोगों की गिरफ्तारी

रायपुर। कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम के लिए घोषित लॉक डाउन का मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशन में छत्तीसगढ़ में सख्ती से पालन करवाया जा रहा है। लॉक डाउन लागू होने के बाद से उल्लंघन करने पर अब तक पूरे प्रदेश में 1549 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज (एफआईआर) की गई है। 1 346 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही 2294 व्हीकल जब्त किए गए हैं।  उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार के दिशा-निर्देश के अनुरूप राज्य शासन की ओर से छत्तीसगढ़ में भी लॉकडाउन घोषित किया गया है। कोरोना वायरस के फैलाव को खत्म करने के लिए प्रभावी कदम उठाए जा रहे हैं और उसका कड़ाई से पालन कराया जा रहा है। शासन के जारी दिशा-निर्देश के अनुसार लॉक डाउन का उल्लंघन करने पर लोगों के खिलाफ पुलिस विभाग कार्यवाही कर रहा है।

26-03-2020
विदेश से लौटे 17 लोगों की पुलिस ने जारी की सूची, जल्द सामने नहीं आने पर होगी गिरफ्तारी 

रायपुर। विदेश प्रवास से लौटे 17 लोगों ने जानकारी छुपाने के कारण तीन धाराओं में अपराध पंजीबद्ध किया गया है। विदेश यात्रा से लौटे 17 लोगों की सूची में सोमन्ना कुलसुम, तरण टाइन, फूंग ए फुक, सिमरत, मेगा बाई, मनिया बाई, सोहना बाई, टीकम दास, सुलक्षणि कुकरेजा, मुकेश कुमार, अनिश कुमार, आयुष कुमार, शबीता बाई, अजय राव, शिवम मंधानी, शिवम अग्रवाल, पुष्कर त्यागी सभी विदेश यात्रा से लौटे थे। जिला प्रशासन ने ये सभी 17 लोगों को चेतावनी दी है। पुलिस ने सभी को अपने स्वास्थ्य की जांच कराने को कहा है। विदेश से लौटने की जानकारी छुपाइ है। इनकी जानकारी आम नागरिक भी टोल फ्री नं 104 पर दे सकते है। जल्द सामने नहीं आने पर जिला प्रशासन ने सभी 17 लोगों को गिरफ्तार कर सकते हैं। पुलिस लगातार इन सभी लोगों की तलाश में जुटी हुई है।

21-03-2020
जातिसूचक गाली देने वाले चार लोगों के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किया अपराध

धमतरी। जिला धमतरी के कुरुद थाना अंतर्गत गोबरा के रामनाथ अंसारी पिता नारायण अंसारी ने शिकायत की थी कि लोकेश्वर साहू व उसके तीन साथियों के द्वारा बार-बार जाति सूचक गाली दी जाती है। यह शिकायत समाज में भी की गई,जिस पर समाज की बैठक हुई तथा कार्रवाई के लिए पुलिस को ज्ञापन सौंपा गया। शिकायत की जांच के बाद पुलिस ने लोकेश्वर समेत चार लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज किया है, आरोपियों की गिरफ्तारी भी होने की खबर है।

 

21-03-2020
पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों के राज्य से बाहर जाने पर लगी रोक, डीजीपी ने दिया आदेश

रायपुर। डीजीपी डीएम अवस्थी ने सभी पुलिस अधीक्षकों (रेल एवं प्रशिक्षण सहित) को निर्देशित किया है कि सभी पुलिस लाईन एवं प्रशिक्षण केंद्रों में चल रहे प्रशिक्षण को तत्काल प्रभाव से स्थगित किया जाए। प्रदेश के सभी न्यायालयों में न्यायलीन  प्रक्रिया पर रोक लगी हुई है इसलिए समंस/ वारंट और मुलजिम पेशी में पुलिस कर्मचारियों को ना भेजने के निर्देश दिए गए हैं। किसी भी पुलिस अधिकारी, कर्मचारी को शासकीय कार्य से राज्य के बाहर बिना डीजीपी की अनुमति के ना जाने दें। यदि भेजा जाना जरूरी हो तो एसपी को डीजीपी से फोन पर अनुमति लेनी होगी। राज्य के अंदर भी बहुत जरूरी ना होने पर एक जिले से दूसरे जिले में पुलिस अधिकारी, कर्मचारी के आवागमन पर तत्काल रोक लगाने के निर्देश दिए गए हैं। सभी थानों में अनावश्यक व्यक्तिओं को पूछताछ के लिए ना बुलाएं और ना ही भीड़ लगने दें। यदि किसी व्यक्ति की गिरफ्तारी आवश्यक है तो उसके विरूद्ध शीघ्र कार्रवाई करते हुए न्यायालय में पेश किया जाए। प्रदेश के बाहर अवकाश पर अधिकारी, कर्मचारी के वापस आने पर आवश्यक रूप से  स्वास्थ्य परीक्षण के निर्देश दिए गए हैं। यथासम्भव पुलिसकर्मियों की ड्यूटी फिक्स पिकेट एवं पेट्रोलिंग में लगाई जाए। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए बाहरी व्यक्ति से निश्चित दूरी बनाए रखने के लिए निर्देशित किया गया है।

 

 

16-03-2020
चाइल्ड पोर्न वीडियो अपलोड करने के मामले में एक छात्र गिरफ्तार

रायपुर। छत्तीसगढ़ में चाइल्ड पोर्न वीडियो अपलोड करने के मामले में रायपुर से एक युवक की गिरफ्तारी की गई है। बता दे कि खरोरा पुलिस ने बीबीए सेकंड इयर के स्टूडेंट रविन्द्र गोदारा को गिरफ्तार कर लिया है। पिछले साल आरोपी छात्र ने अपने मोबाइल से एक बच्चे का अश्लील वीडियो सोशल मीडिया में अपलोड किया था। जिसे कई लोगों ने देखा और शेयर भी किया था। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की टीम ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस की साइबर सेल ने युवक के मोबाइल का आईपी एड्रेस और उसके मोबाइल नंबर के आधार पर ट्रेस करने के बाद गिरफ्तार किया है। राज्य में बड़ी संख्या में चाइल्ड पोर्न को शेयर करने के साथ ही अपलोड किया  है। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804