GLIBS
22-09-2020
पूर्व सहायक आरक्षक की तीर मारकर हत्या 

रायपुर/बीजापुर। जिले के भैरमगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम चिहका में बर्खास्त पूर्व सहायक आरक्षक बज्जि अटामी का शव मिला है। पूर्व सहायक आरक्षक को तीर मारकर हत्या कर दी गई। नक्सलियों ने हत्या के वारदात को अंजाम दिए जाने की आशंका व्यक्त की जा रही है। हालांकि, मौके पर कोई नक्सली पर्चा नहीं मिला है, लेकिन क्षेत्र की संवेदनशीलता और हाल के दिनों में जिले में लगातार हत्या की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए पुलिस जांच कर रही है। बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने बताया कि बीजापुर जिले के भैरमगढ़ इलाके में एक पूर्व सहायक आरक्षक की हत्या हुई है। अनुशासनहीनता के चलते पुलिस विभाग ने पूर्व सहायक आरक्षक को बर्खास्त किया गया था। उन्होंने कहा कि पूर्व सहायक आरक्षक की हत्या नक्सलियों ने की है या फिर ये किसी रंजिश का नतीजा है, इसका अभी पता नहीं चल पाया है। पुलिस पूरे मामले की पड़ताल कर रही है।

18-09-2020
दो लड़कियों का शव एक साथ फांसी पर झूलता मिला

रायपुर/कोंड़ागांव। दो नाबालिग बालिकाओं का शव पेड़ में फांसी के फंदे पर लटकते हुए मिली है। मामला जिले के फरसगांव थाना क्षेत्रान्तर्गत ग्राम छिंदली मुंडापारा का है। दो नाबालिग बालिकाओं का शव संदिग्ध परिस्थितियों में घर से दूर खेत के एक पेड़ में फांसी के फंदे पर झूलते हुए मिली है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई है। पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा पुलिस जांच के बाद ही मौत के कारण का खुलासा हो पायेगा।

04-08-2020
महिला ने की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी

राजनांदगांव। बसंतपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत सोनापारा निवासी महिला के फांसी लगाकर आत्महत्या का मामला सामने आया है। ममता सोनी (45) ने सुबह अपने ही घर मे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया गया कि पड़ोसियों के मुताबिक महिला आर्थिक तंगी से परेशान थी। आशंका है इस कारण उसने यह कदम उठाया होगा। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच प्रारम्भ कर दी है।

22-06-2020
जंगल में संदिग्ध हालात में मिला शव,पुलिस जांच में जुटी

धमतरी। कसपुर के जंगल में संदिग्ध हालात में शव मिलने से सनसनी फ़ैल गई है। हत्या है या आत्महत्या मामले की जांच के बाद ही कुछ कहा जा पाएगा। मिली जानकारी के अनुसार बोराई थाना क्षेत्र के अंतर्गत कसपुर के जंगल में एक अज्ञात शव मिलने से सनसनी फैल गई। इसके बाद पुलिस ने जब शव देखा तो कपड़ों से शव की पहचान की गई। बताया जा रहा है कि यह शव हरीश नेताम 20 वर्ष कसपुर का है,जो बोरवेल का काम करता था। कुछ दिनों पहले  ही आया था और आने के बाद क्वॉरेंटाइन में रखा गया था। क्वॉरेंटाइन से रिलीज करने के बाद वह बगैर कुछ बताएं घर से निकला हुआ था। इसकी तलाश सप्ताह भर से की जा रही थी। आज सोमवार को शव को जंगल में देखा गया तब पुलिस ने उसके परिजनों को सूचना दी और शव को पंचनामा करके पीएम के लिए भेज दिया। हालांकि युवक की मौत कैसे हुई है यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। पुलिस इस संदिग्ध मामले की जांच कर रही है।

 

15-06-2020
फिल्मी स्टाइल में सुरंग खोदकर बैंक में घुसा चोर, लॉकर में किया तोड़फोड़

कांकेर। सरोना मुड़पार में स्थित जिला सहकारी बैंक में फिल्मी स्टाइल में सुरंग खोदकर चोरी करने प्रयास किया गया। कांकेर जिले के दुधावा चौकी अंतर्गत ग्राम सरोना के मुड़पार में स्थित सहकारी बैंक में लॉक डॉउन का फायदा उठाते हुए आसपास का सूना माहौल देख चोर बैक के पीछे से सुरंग बना कर बैंक के अंदर लॉकर तक पहुँच फिल्मी स्टाइल लॉकर को तोड़कर चोरी करने का किया असफल प्रयास किया गया है।मौके पर पुलिस पहुंच गई है और जांच में जुटी है। सीसी फुटजे में चोर के सुरगं बनाकर बैंक में घुसने की पिक्चर सामने आई है। पुलिस इस बात की शंका कर रही हैं कि कोई जानकार व्यक्ति ही इस प्रकार की घटना को अंजाम दे सकता है फिलहाल पुलिस जांच में जुटी है।
इस सबंध में दुधावा चौकी प्रभारी रविशंकर साहू ने बताया कि सहकारी बैंक में सुरंग खोदकर चोरी का प्रयास किया गया है पर चोर सफल नहीं हो पाया है। बहुत जल्द चोर पकड़ में होगा।

 

20-01-2020
पत्नी से विवाद के बाद पति ने किया खुद को आग के हवाले, इलाज जारी

कोरबा। पत्नी से विवाद के बाद परसाभांटा निवासी ने खुद को आग के हवाले कर लिया। मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित मानसिंह यादव ने पत्नी से विवाद के बाद खुद के उपर मिट्टी तेल ड़ाल लिया। मानसिंह के घर से धुएं का गुबार उठता देख लोगों ने डायल 112 को सूचना दी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और मानसिंह यादव को अस्पताल में भर्ती कराया। आगजनी की घटना में युवक गंभीर रूप से झुलस गया है। इतना ही नहीं उसका घर भी जल गया है। पुलिस जांच में जुटी है।  

 

24-09-2019
अच्छा है, खत लिखो खुदकुशी करो, भुगतने वाला भुगतता रहे

रायपुर। क्या किसी का किसी पर महज आरोप लगा देना यह साबित कर देता है कि वह दोषी है? क्या किसी का किसी को भी अपनी मृत्यु के लिए जिम्मेदार ठहराना और पत्र लिख कर आत्महत्या कर लेना किसी व्यक्ति को दोषी साबित करने के लिए काफी है? क्या इसमें जांच तथ्य और प्रमाण की कतई आवश्यकता नहीं होती? क्या अपराध प्रमाणित होने से पहले ही किसी को उसका पक्ष जानते हुए भी दोषी की तरह व्यवहार करना न्याय संगत है? सभी प्रश्नों के उत्तर नहीं ही है तो भी छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के एक प्रतिष्ठित व्यापारिक घराने के प्रमुख सुशील अग्रवाल के साथ इन दिनों ऐसा ही हो रहा है। उनके खिलाफ पिथौरा ठेकेदार श्याम सुंदर अग्रवाल ने 81 लाख रुपए नहीं देने का आरोप लगाते हुए पत्र लिखकर खुदकुशी कर ली थी। पुलिस ने इस मामले में तत्परता बरतते हुए जुर्म दर्ज कर लिया सुशील अग्रवाल के साथ ही मृतक श्याम सुंदर अग्रवाल ने एक अन्य व्यापारी पर भी करोड़ों रुपए नहीं देने के आरोप लगाए है। अब सवाल यह उठता है कि क्या श्याम सुंदर अग्रवाल को सुशील अग्रवाल से वाकई 81 लाख रुपए लेने थे ? क्या सुशील अग्रवाल ने वाकई श्याम सुंदर अग्रवाल को 81 लाख रुपए नहीं दिए थे?  क्या श्याम सुंदर अग्रवाल ने उन कथित बकाया 81 लाख रुपए के लिए सुशील अग्रवाल को कोई खत लिखा या फोन पर तकाजा किया था? क्या श्याम सुंदर अग्रवाल ने इस मामले की शिकायत किसी से की थी ? क्या श्याम सुंदर अग्रवाल के परिजनों की ओर से सुशील अग्रवाल पर 81 लाख रुपए बकाया होने के दस्तावेज या प्रमाण पुलिस के समक्ष प्रस्तुत किए गए? क्या पुलिस को प्रारंभिक जांच में सुशील अग्रवाल पर 81 लाख रुपए बकाया होने के प्रमाण मिले? हैरानी की बात यह है कि सुशील अग्रवाल के खिलाफ रकम नहीं देने का कोई भी दस्तावेज, तथ्य या साक्ष्य किसी के पास नहीं है फिर भी उन्हें दोषी साबित कर सजा देने के लिए ताकत लगाई जा रही है जबकि सुशील अग्रवाल ने प्रकरण सामने आते ही पिथौरा पुलिस को श्याम सुंदर अग्रवाल को दी गई सारी रकम की जानकारी दे दी थी। सुशील अग्रवाल ने श्याम सुंदर अग्रवाल को उनकी रकम  का किश्तवार लगातार भुगतान किया है। सुशील अग्रवाल ने 10 जुलाई 2019 को ही बकाया रकम 45 लाख, 82 हजार,240 रुपए  का अंतिम भुगतान बैंक के जरिए किया है। प्रकरण दर्ज होने के समय उन पर श्याम सुंदर अग्रवाल की कोई रकम बकाया नहीं थी। सुशील अग्रवाल ने श्याम सुंदर अग्रवाल को सारी रकम चेक के मार्फत दी। जिसका प्रमाण दोनों के बैंक खातों में हुए ट्रांजैक्शन से मिल सकता है और समस्त लेन-देन के दस्तावेजी प्रमाण सुशील अग्रवाल ने पुलिस को तत्काल सौंप दिए थे। सुशील अग्रवाल और श्याम सुंदर अग्रवाल के बैंक खातों की जांच करना तो दूर पुलिस ने उस तथ्य को संज्ञान में ही नहीं लिया और उसे अनदेखा किया। फिर वही सवाल सामने आ जाता है की तो फिर क्या सुशील अग्रवाल के खिलाफ मृतक श्याम सुंदर अग्रवाल के परिजनों ने कोई साक्ष्य प्रस्तुत किए? इसका भी जवाब नहीं ही है। यह है छत्तीसगढ़ जहां किसी पर भी किसी के भी आधारहीन आरोप कहर बनकर टूटते हैं और वह अपराध प्रमाणित होने से पहले ही सजा भुगतता है। जैसे सुशील अग्रवाल और उनका परिवार भुगत रहा है।

 

 

30-01-2019
Murder: आधी रात को ट्रांसपोर्टर की गोली मारकर हत्या

भिलाई। खुर्सीपार जोन-3 सड़क क्रमांक -2 में बीती रात को एक ट्रांसपोर्टर की घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना आधी रात लगभग 1 से 1.30 बजे के बीच की बताई जा रही है। सूचना मिलते ही खुर्सीपार पुलिस व 112 की टीम मौके पर पहुंची। आधीरात को पुलिस ने मकान को सील कर दिया। वहीं बुधवार की सुबह पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचकर घटना स्थल की जांच कर रहे हैं।

अब तक मिली जानकारी के मुताबिक जोन-3 सड़क 2 निवासी ट्रांसपोर्टर सूरज सिंह की अज्ञात द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस जब पहुंची तब सूरज सिंह का शव उनके मकान में लहु-लुहान पड़ा हुआ था। ऐसा लग रहा है कि सूरज सिंह को किसी ने काफी नजदीक से गोली मारी है। घटना की जानकारी मिलने के बाद आज सुबह पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है और किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंची है।

25-11-2018
Murder: धारदार हथियार से ठेकेदार की हत्या, क्षेत्र में सनसनी, पुलिस जांच में जुटी 

बालोद। क्षेत्र के प्रतिष्ठित नागरिक सुनील जैन की बीती रात अज्ञात लोगों ने हत्या कर दी। 57 वर्षीय सुनील जैन के दोनों हाथों को पहले रस्सी से बांधा गया, फिर धारदार हथियार से प्राणघातक हमला किया गया। घटना स्थल पर पुलिस पहुंच चुकी है। डॉग स्क्वायड की मदद से सुराग तलाशे जा रहे हैं। सुनील जैन का बस्तर के दुर्गकोंदल के आगे हाहालद्दी व महामाया माइंस में डिस्पेज कार्य का ठेका था मामले ने बालोद से लेकर रायपुर तक हलचल मचा दी है अभी तक कुछ ज्यादा बात सामने नहीं आई है पुलिस जांच में जुट गई है।

 मिली जानकारी अनुसार बालोद जिले के डौंडी निवासी सुनील जैन (57वर्ष) की अज्ञात लोगों ने शनिवार-रविवार की रात्रि लगभग 1 बजे हाथ पैर बांधकर हत्या कर दी है।

सुनील जैन के ही निवास स्थान पर हाथों को रस्सी से बांधकर घटना को अज्ञात लोगों के द्वारा अंजाम दिया गया है। इसकी जानकारी लगते ही मौके पर डौंडी पुलिस आगे की जांच में जुट गई है। डॉग स्कवॉड और फोरेंसिक टीम को भी बुलाया गया है। मृतक सुनील जैन बस्तर के दुर्गकोंदुल क्षेत्र में व महामाया माइंस में डिस्पेज कार्य का ठेकेदार हैं। 

जबकि इस घटना के बाद नगर में लगे कुछ सीसीटीवी की भी फुटेज खंगाले जाने के बाद देर रात करीब 7 लोगों को मृतक के मकान वाले मार्ग पर आते देखे जाने की खबर है जिसके बाद पुलिस पूरे मामले में और ज्यादा सतर्कता बरतते हुए अलग अलग टीमो के अलावा फोरेंसिक टीमो से भी जांच कराई जा रही है।

24-10-2018
Crime: सड़क पर मिला युवक का शव, पुलिस जाँच में जुटी

जशपुर। जिले के पथलगांव थाना के अंतर्गत ग्राम पंगसुवा रोड में सड़क पर एक युवक का शव मिलने से पूरे गांव में सनसनी फैल गई और लोगों की लाश देखने के लिए जमघट लग गया। घटना की सूचना तत्काल पत्थलगांव पुलिस को दी गई। पुलिस को सूचना मिलते ही वारदात की जगह रवाना हो गई।

बुधवार की सुबह सड़क पर राहगीरों द्वारा आवाजाही के दौरान सड़क पर उन्हें एक शव दिखाई दिया। लाश पड़े होने की सूचना मिलते ही पूरे गांव में हड़कम्प मच गया और लोगों का जमघट लग गया। लाख कोशिशों के बाद भी उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी। इस घटना की जानकारी तत्काल पत्थलगांव पुलिस को दी, सूचना मिलते ही पुलिस द्वारा मौके वारदात पर निकलने की बात कही।ग्रामीणों की मानें तो युवक के सिर पर चोटों के निशान हैं, उसका लूट कर हत्या की आशंका जताई जा रही है, उसके शव के इर्द गिर्द मोबाइल सिम पड़े दिखाई दे रहे है। मृतक की मोटरसाइकिल क्रमांक सीजी 13 पी 5430 में भी गिरने के कुछ निशान दिखाई नही दे रहे। यही कारण है कि ग्रामीण द्वारा हत्या की आशंका जताई जा रही है।फिरहाल लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है। मौत का कारण क्या है पुलिस जांच के बाद ही पता चल सकेगा।

20-09-2018
Fraud: कौन बनेगा करोड़पति का लिंक भेजकर कारोबारी से ठगी, पुलिस जांच में जुटी

रायपुर। राजधानी में ठगों ने अब नया पैतरा अजमाना शुरू कर दिया है। जिसमें ठगों ने लोगों के मोबाईल पर कौन बनेगा करोड़पति का लिंक भेजकर 7 करोड़ रूपए जीतने का झांसा देकर उसके खाते से रकम आहरण कर लेते है। इसी तरह आरोपी ने राजेन्द्र नगर थाना क्षेत्र के एक कारोबारी को झांसे में लेकर उसके खाते से 37 हजार रूपए पार कर दिया।

बता दें कि न्यू राजेन्द्र नगर स्थित मारूति रेसीडेंसी निवासी अंकुश अरोरा (44) पेशे से कारोबारी है। बताया जाता है कि अंकुश के वाट्सअप में कौन बनेगा करोड़पति का लिंक आया था। उस लिंक में लिखा था की आसान सवालों का जवाब देकर आप 7 करोड़ रूपए जीत सकते है। मैसेज को देखकर अंकुश लिंक में जाकर सवाल का जवाब दिया। जिसके बाद उक्त लिंक को 12 लोगों को शेयर करने को कहा। जिससे अंकुश ने 12 लोगों को शेयर किया तो उसके मोबाईल मैं मैसेज आया कि उसके खाते से 37 हजार रूपए आहरण किया गया है। जिसके बाद वह बैंक जाकर पता किया, जिसके बाद उसने इसकी शिकायत स्थानीय थाने में की। पुलिस ने मामले में अज्ञात आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर जांच में लिया है।

पुलिस ने की लोगों से अपील-

पुलिस ने लोगों से अपील की है कि इस तरह से हर लिंक को क्लिक करके ना देखे या उसमें व्यक्तिगत जानकारी न देवे। ऑनलाईन ठगी करने वाले आरोपी डेटा हैक करने के लिए इस तरह का लिंक का उपयोग करते है। राजधानी में इस तरह से ऑनलाईन ठगी की वारदात बढ़ गई है। जिससे लोगों को सतर्क रहने के लिए पुलिस ने अपील की है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804