GLIBS
18-10-2020
Video: डोंगरगढ़ में इस बार नहीं लगेगा मेला, ट्रेनों का स्टापेज भी बंद

राजनांदगांव। नवरात्रि पर डोंगरगढ़ में मेला नहीं लगेगा। ट्रेनों के स्टापेज पर रोक लगा दी गई है। माँ बम्लेश्वरी माई के दरबार में हर साल नवरात्रि पर बड़े पैमाने पर मेला लगता ​है। लेकिन इस बार कोरोना संकट काल के कारण रोक लगा दी गई हैं। इस बार नवरात्रि के दौरान डोंगरगढ़ में ट्रेनों का विशेष स्टापेज नहीं होगा। दर्शनार्थियों को बम्लेश्वरी मंदिर में प्रवेश नहीं मिलेगा। वहीं डोंगरगढ़ के लिए बिलासपुर से चलने वाली स्पेशल ट्रेनें भी नहीं चलेंगी।

कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने बिलासपुर, रायपुर, जांजगीर चांपा, कोरबा और रागयढ़ के कलेक्टरों को पत्र लिखकर सूचित कर दिया है। उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि कोविड-19 के कारण मंदिर में मेला और बड़े पैमाने पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है। इसे रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन ने कुछ कड़े फैसले किए हैं। इसे अमल में लाने के लिए अन्य जिलों के अधिकारियों से सहयोग की अपील की गई है। बता दें कि हर साल नवरात्रि में रेल और अन्य माध्यमों से दर्शनार्थी मां बम्लेश्वरी का दर्शन करने डोंगरगढ़ पहुंचते हैं। इनकी संख्या लाखों में होती है। इस बार कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए कलेक्टर ने सरकारी निर्देशों का हवाला देते हुए इस बार सारी गतिविधियों पर रोक लगाने की बात कही है।

24-03-2020
VIDEO: मां बम्लेश्वरी मंदिर में इस वर्ष श्रद्धालु नहीं कर पाएंगे दर्शन लाभ

डोंगरगढ़। कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार ने पूरे राज्य में धारा 144 लागू की है। डोंगरगढ़ में भी लोग समर्थन कर रहे हैं। प्रशासन ने महाराष्ट्र से लगी सीमा को सील कर दिया है। बस सेवा एवं ट्रांसपोर्ट सेवा को भी बंद कर दिया है। शहर के सारे लॉज, रेस्टोरेंट बंद करवा दिए गए हैं। नवरात्र के लिए भी पुलिस प्रशासन ने चाक-चौबंद व्यवस्था की है। मां बम्लेश्वरी मंदिर इस वर्ष कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए दर्शनार्थियों को दर्शन लाभ से दूर रखा गया है। वही पुजारियों द्वारा माता की पूजा अर्चना मंदिर में सुचारू रूप से पूरे नवरात्र के दौरान की जाएगी।

 

13-03-2020
VIDEO: मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के दौरान नाली में फसी गाय को जवानों ने निकाला बाहर

राजनांदगांव। धर्मनगरी डोंगरगढ़ में शुक्रवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने माँ बम्लेश्वरी मंदिर में नवनिर्मित रोप-वे का लोकार्पण किया। इस दौरान उनके साथ अन्य मंत्री भी पहुंचे थे। लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान एक गाय सकरी नाली में गिर कर फंस गई। नाली ऐसी की जिससे बाहर निकलना आसान नहीं था। गाय की आवाज सुनकर मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात जवान वहां पहुंचे और गाय को बड़ी मुश्किल से सुरक्षित बाहर निकाला।

 

06-10-2019
एक मंच पर आए कई संगठन के कार्यकर्ता, राजेन्द्र पार्क चौक पर लगाया पंडाल, श्रद्धालुओं को बांटी प्रसाद

दुर्ग। मां दुर्गा की आराधना में पूरा शहर डूबा हुआ है। ऐसे में मां बम्लेश्वरी देवी के दर्शन के लिए डोंगरगढ़ जाने वाले पदयात्रियों की सेवा में कोई भी पीछे नहीं रहना चाहता है। फलस्वरुप पदयात्रियों की सेवा में शहर में कई संगठनों के कार्यकर्ता एक मंच पर आए है। संगठन में व्यापारियों के अलावा धार्मिक व समाजसेवी कार्यकर्ता शामिल है। जिनके सेवाभावी कार्यों को काफी सराहना मिल रही है। इस संगठन द्वारा नवरात्रि के तीसरे दिन से छठे दिन तक स्थानीय राजेन्द्र पार्क चौक में पंडाल लगाकर पदयात्रियों व माता के भक्तों की सेवा की गई। पंडाल में संगठन के सदस्यों ने पदयात्रियों को महाप्रसादी के साथ-साथ अन्य सेवाएं उपलब्ध करवाई।

वहीं श्रद्धालुओं को भी महाप्रसादी का वितरण किया गया। जहां प्रतिदिन हजारों की संख्या में पदयात्री व श्रद्धालु जुटे। महाप्रसादी के इस व्यवस्था में व्यापारिक संगठन कैट, लॉयन क्लब ऑफ दुर्ग मिडटाउन, हरिओम ग्रुप, बोलबम सेवा समिति एवं कोटवानी परिवार ने योगदान दिया। इस सेवाभावी कार्य में कैट अध्यक्ष प्रहलाद रुंगटा, लॉयन क्लब ऑफ दुर्ग मिडटाउन अध्यक्ष अरविंद खंडेलवाल, सचिव सुधीर खंडेलवाल, कैट प्रदेश उपाध्यक्ष पवन बडज़ात्या, संजीव गोधा, अमर कोटवानी, महेन्दी भाई समनानी, मनीष रुंगटा, आशीष निमजे, पंकज राय, दिनेश अग्रवाल, राजू उजाला, रघुनंदन उजाला, सिद्धू कोटवानी, अरुण अग्रवाल, हरविंदर भाटिया, शारदा बोथरा, ललिता निमजे, मीना खंडेलवाल, मनीषा रुंगटा, अनुराधा खंडेलवाल एवं अन्य उपस्थित थे।

05-10-2019
सीएम बघेल और विस अध्यक्ष डॉ. महंत ने की डोंगरगढ़ में माँ बम्लेश्वरी की पूजा-अर्चना

राजनांदगांव। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत के साथ माँ बम्लेश्वरी के दर्शन के लिए डोंगरगढ़ पहुंचे। मुख्यमंत्री बघेल के साथ डोंगरगढ़ के विधायक भुनेश्वर बघेल, डोंगरगांव विधायक दलेश्वर साहू, जिला कांग्रेस अध्यक्ष नवाज खान और पार्टी के कार्यकर्ता मौजूद थे। पहाड़ी के ऊपर विराजमान माँ बम्लेश्वरी के दर्शनार्थ पहुंचते ही मन्दिर में उपस्थित पुजारियों ने मंत्रोपचार आरम्भ किया। पूरे विधिविधान से मुख्यमंत्री ने माँ बम्लेश्वरी की पूजा-अर्चना की। डोंगरगढ़ पहुंचे मुख्यमंत्री ने बताया कि पूरे प्रदेशवासियों की खुशहाली के लिए माँ से प्रार्थना की।  

आरक्षण को लेकर सीएम ने कहा कि पहली बार है कि 58 प्रतिशत से रोक लगाकर 69 प्रतिशत का आरक्षण मिला है, इससे पहले भारतीय जनता पार्टी ने आरक्षण को लेकर कभी बात नही की। पहली बार भाजपा के नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक ने मुहं खोला है बाकी के 13 प्रतिशत आरक्षण के लिए हम आंकड़े एकत्रित कर रहे है और जल्द ही हाईकोर्ट में अपना पक्ष रखेंगे। खुले में घूम रहे मवेशियों को लेकर बघेल में कहा कि इन मवेशियों से फसल को नुकसान हो रहा है,एक्सीडेंट हो रहे। इन सबके जिम्मेदार डॉ.रमन सिंह है, यदि पहले ही मवेशियों के लिए व्यवस्था किए होते तो आज यह स्थिति नहीं आती।

 

25-03-2019
डोंगरगढ़ चैत्र नवरात्रि मेले की प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां जोरों पर

राजनांदगांव। राजनांदगांव के डोंगरगढ़ चैत्र नवरात्रि मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां शुरू हो गई है। जिला कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने यहां कलेक्टर परिसर में चैत्र नवरात्रि मेले की तैयारी के संबंध में आयोजित बैठक में कहा है कि डोंगरगढ़ स्थित बम्लेश्वरी मंदिर में 6 अप्रैल से शुरू होने वाले नवरात्रि मेले में देवी दर्शन को आने वाले श्रद्धालुओं को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए संबंधित विभागों और नगर पालिका परिसर डोंगरगढ़ तथा माँ बम्लेश्वरी ट्रस्ट समिति को आवश्यक निर्देश दे दिए गए हैं।

उन्होंने संबंधित अधिकारियों को मेला आयोजन के दौरान भीड़ नियंत्रण और दुर्घटना रहित मेला आयोजित करने के लिये पुख्ता उपाय करने को कहा है। बैठक में प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी उपस्थित थे। उन्होंने कहा है कि मेले के दौरान माता के दर्शन के लिए आने वाले सभी श्रद्धालुओं को सभी आवश्यक सुविधा मुहैया कराई जाए। श्रद्धालुओं और पदयात्रियों को किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं हो। माता के दर्शन के लिए मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ को सुरक्षित ढंग से नियंत्रित करने के उचित उपाय किये जाये। मेले के दौरान दर्शनार्थियों यहां रूकने वाले लोगों को शुद्ध भोजन और नाश्ता उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि इस संबंध में किसी भी प्रकार की शिकायत मिलने पर सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि मेले में साफ सफाई के साथ दुकानों में प्रसाद एवं पूजा आदि के सामग्रियों को निर्धारित मूल्य पर उपलब्ध कराया जाये। मेले में पॉलीथीन का प्रयोग पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। पेयजल की समुचित व्यवस्था रखी जाए। रेल्वे स्टेशन पर भी सुविधा केन्द्र स्थापित किया जाए।

13-10-2018
Maa Bamleshwari : मां बमलेश्वरी के दर्शन करने गए डोंगरगढ़ पीसीसी के कद्दावर नेता

रायपुर। शनिवार को दिल्ली दरबार से लौटने के बाद पीसीसी के कद्दावर नेताओं का कुनबा मां बम्लेश्वरी के दर्शन करने रवाना हो गया। इसमें कांग्रेस प्रदेश प्रभारी पी एल पुनिया, अध्यक्ष भूपेश बघेल और चुनाव अभियान समिति अध्यक्ष चरणदास महंत शामिल हैं। खबर तो ये भी है कि ये लोग शाम 7 बजे तक दर्शन कर डोंगरगढ़ से वापस लौट आएंगे। इसके पीछे सीधा सा कारण है हिंदूवादी वोटर्स पर निशाना साधना। तो वहीं दूसरी ओर किसी न किसी बहाने पीसीसी के ये नेता अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष को मनाने की कोशिश में लगे हैं।

नाराज चल रहे  हैं राहुल गांधी:

दिल्ली के सियासी गलियारों के जानकारों ने बताया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी सीडी कांड के बाद से छत्तीसगढ़ पीसीसी से खासे नाराज चल रहे हैं। इसी वजह से उन्होंने अपना छत्तीसगढ़ का दौरा भी रद्द कर दिया। ऐसे में कांग्रेस के कद्दावर नेताओं को यही सूझा होगा कि किसी न किसी बहाने राहुल गांधी को मनाया जाए।

क्या कहते हैं नेता प्रतिपक्ष:

नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंहदेव ने कहा कि यहां जब से भारतीय जनता पार्टी ने एक धर्म को लेकर खुल कर अपनी बात रखी है तब से यह जरूरी हो गया है।  जब बीजेपी के केवल दो सांसद थे, तब से उन्होंने खुल कर राम मंदिर की बात को कही।  तब से कहीं न कहीं यह भी जरूरी हो गया है, और उनका यह प्रयास असरदार भी रहा। उन्होंने उस कांग्रेस को जो सभी धर्म के लोगों को मानती है।  उसे धर्म न मानने वाली पार्टी बता दिया।  तब यह जरूरी हो गया है कि हम भी जो कर रहे हैं उसे प्रदर्शित करें। यह लोगों की व्यक्तिगत राय भी हो सकती है।  नवरात्र का समय है ऐसे में डोंगरगढ़ के दर्शन करना अच्छी बात है। मध्यप्रदेश के नेता पुत्र रत्न की प्राप्ति के लिए भी कई सालों तक लगातार माँ बमलेश्वरी के दर्शन करने आते थे।

इससे पहले 10 अक्टूबर को भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता माँ दंतेश्वरी के दर्शन करने दंतेवाडा गए थे। वे दर्शन करने के बाद ही स्क्रीनिंग कमेटी के बैठक में शामिल होने के लिए दिल्ली रवाना हुए थे।

02-09-2018
Atal Vikas Yatra: 22 सितंबर को आएंगे प्रधानमंत्री मोदी, अटल विकास यात्रा में होंगे शामिल

रायपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राज्य सरकार की अटल विकास यात्रा में शामिल होने के लिए 22 सितम्बर को छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले में आएंगे। इसकी जानकारी मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने दी

उन्होंने बताया कि पांच सितम्बर को डोंगरगढ़ स्थित छत्तीसगढ़ की आराध्य देवी मां बम्लेश्वरी के मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ इस यात्रा की शुरूआत होगी। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह इस यात्रा का शुभारंभ करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी ना सिर्फ छत्तीसगढ़ राज्य के निर्माता थे, बल्कि वे छत्तीसगढ़ के विकास की कल्पना और प्रेरणा के स्त्रोत भी थे। उनका 16 अगस्त को देहावसान हो गया। अटल जी को श्रद्धापूर्वक याद करने के लिए हमने प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दूसरे चरण का नामकरण ‘अटल विकास यात्रा’ के नाम से किया है।

उल्लेखनीय है कि इस बार प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के पहले चरण की शुरूआत 12 मई को केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा दंतेवाड़ा स्थित मां दंतेश्वरी के मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ की गई थी। पहले चरण की यात्रा का समापन कार्यक्रम 14 जून को भिलाई नगर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। मुख्यमंत्री ने बताया कि पहले चरण में 12 मई से 14 जून के बीच 55 विधानसभा क्षेत्रों में लगभग पांच हजार किलोमीटर की यात्रा हुई। अब विकास यात्रा का दूसरा चरण पांच सितम्बर से पांच अक्टूबर तक चलेगा। यह यात्रा लगभग छह हजार किलोमीटर की होगी ऐसा अनुमान है। प्रथम चरण की यात्रा की तरह दूसरे चरण में भी करोड़ों रूपयों के विकास और निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया जाएगा। तेन्दूपत्ता संग्राहकों को लगभग 745 करोड़ रूपए का बोनस भी दिया जाएगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804