GLIBS
31-07-2021
Video: सूखा राशन के भुगतान के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन 

महासमुन्द। जिले की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पिछले एक साल से सूखा राशन के भुगतान के लिए महिला बल विकास विभाग की चक्कर काट रही है। इसे लेकर कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंप 10 अगस्त तक भुगतान करने की मांग की है। कार्यकर्ताओं ने भुगतान नहीं होने की स्थिति में हड़ताल करने की चेतावनी दी है। बता दें कि महासमुन्द जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों में  2020 में कलेक्टर के निर्देश पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने स्वयं के वेतन से अपने-अपने केंद्रों में सूखा राशन का वितरण किया था। जिले की 15 सौ आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का लगभग एक करोड़ 50 लाख रुपए का भुगतान महिला बाल विकास ने नहीं किया। जिले की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता महिला बाल विकास कार्यालय के चक्कर काटते थक गई है। जिले के अधिकारी सिर्फ आश्वासन दे कर मामले में टाल मटोल कर रहे हैं। आर्थिक तंगी के मार से जूझ रही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का कहना है कि महिला बाल विकास के अधिकारियों को 2020 में जब सूखा राशन बांटने से समितियों ने मना कर दिया था। तब अधिकारियों ने महिलाओं को सूखा राशन बांटने का प्रलोभन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता जिनका मानदेय पहले से ही बहुत कम है उन्हें अतरिक्त लाभ मिल जाए ऐसा सोच कर कार्यकर्ताओं ने अपना मानदेय लगा कर सरकार की योजना सूखा राशन वितरण को फलीभूत किया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि इस योजना को सफलता पूवर्क जिले में चलने की वाहवाही महिला बाल विकास के अधिकारियों ने ली, लेकिन जिले की 1500 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का डेढ करोड़ रुपय की भुगतान अब तक नहीं किया गया है। जिले की जुझारू आंगनबाड़ी कार्यकर्ता संघ ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंप कर कहा कि महिलाओं को सूखा राशन की डेढ करोड़ की राशि का भुगतान 10 अगस्त तक नहीं हुआ तो आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सड़क की लड़ाई लड़ते हुए उग्रान्दोलन करेंगी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804