GLIBS
16-09-2020
सूर्य करेंगे राशि परिवर्तन, कन्या राशि में प्रवेश कहलाती है कन्या संक्रांति, जानिए क्या फल देंगे सूर्यदेव

रायपुर। कन्या राशि में सूर्यदेव का प्रवेश कन्या संक्रांति के नाम से जाना जाता है। हिंदू मान्यता के अनुसार 12 राशियां हैं और जब भी सूर्यदेव एक राशि से दूसरी राशि में जाते हैं तो उस राशि की संक्रांति आरंभ हो जाती है। संक्रांति का पुण्यकाल बेहद विशेष माना जाता है। सूर्य का प्रत्येक माह राशि में परिवर्तन करना संक्रांति कहलाता है और इस संक्रांति को स्नान, दान और पितरों के तर्पण आदि के लिए शुभ माना जाता है। आज सूर्य सिंह राशि से निकलकर कन्या राशि में प्रवेश कर रहे हैं। ज्योतिष में सूर्य की इस घटना को कन्या संक्रांति के नाम से जाना जाता है।

कन्या संक्रांति भी अपने आप में विशेष है। कन्या संक्रांति के अवसर पर भगवान विश्वकर्मा की उपासना की जाती है। भगवान विश्वकर्मा की उपासना से कार्यक्षमता में वृद्धि होती है। कार्यक्षेत्र और व्यापार में आने वाली परेशानियां दूर हो जाती है। अगर किसी व्यक्ति को सूर्य देव का आशीर्वाद प्राप्त हो जाए तो उसे समाज में मान-सम्मान, पद-प्रतिष्ठा और सरकारी नौकरी आदि प्राप्त होती है।

03-09-2020
लोक कल्याण के लिए नरेंद्र मोदी ने दिए 103 करोड़ रुपए से अधिक दान...

नई दिल्ली। लोक कल्याण के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विभिन्न माध्यमों से दिए गए दान की कुल राशि 103 करोड़ रुपये से अधिक है। मोदी ने अपनी बचत में से बालिकाओं की शिक्षा से लेकर गंगा की सफाई जैसे कार्यों के लिए दान दिया है। साथ ही प्रधानमंत्री को प्राप्त उपहारों की नीलामी से मिले धन को भी सार्वजनिक हित के लिए दान दिया गया है।हाल ही में मोदी ने कोविड-19 के मद्देनजर स्थापित किए गए प्रधानमंत्री आपात स्थिति नागरिक सहायता एवं राहत कोष (पीएम केयर्स) में 2.25 लाख रुपये दान दिए थे। बुधवार को सार्वजनिक किए गए खाते के विवरण के अनुसार , मार्च में स्थापना के महज पांच के भीतर इस कोष में 3,076.62 करोड़ रुपये जमा हुए थे। लोक हित के लिए मोदी द्वारा दिए गए दान को रेखांकित करते हुए सूत्रों ने बताया कि 2019 में कुंभ मेले में सफाई कर्मचारियों के कल्याण के लिए बनाए गए कोष में प्रधानमंत्री ने अपनी निजी बचत में से 21 लाख रुपये दान दिए थे।

सूत्रों ने कहा कि दक्षिण कोरिया में 2019 में सियोल शांति पुरस्कार प्राप्त करने के बाद प्रधानमंत्री ने पुरस्कार में मिली 1.30 करोड़ रुपये की राशि को नमामि गंगे परियोजना में दान देने की घोषणा की थी। सूत्रों के अनुसार, मोदी द्वारा लोक कल्याण के लिए दिए गए दान की कुल राशि अब एक सौ तीन करोड़ रुपये से अधिक हो गई है। प्रधानमंत्री को मिले स्मृति चिह्नों की हाल ही में हुई नीलामी से तीन करोड़ चालीस लाख रुपये प्राप्त हुए,जिन्हें नमामि गंगे परियोजना में दान दे दिया गया। सूत्रों ने कहा कि 2014 में गुजरात के मुख्यमंत्री पद को छोड़कर प्रधानमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद मोदी ने गुजरात सरकार में कार्यरत एक कर्मचारी की बेटी की शादी के लिए अपनी निजी बचत में से 21 लाख रुपये दान दे दिए थे। मोदी ने मुख्यमंत्री के तौर पर मिले उपहारों की नीलामी से प्राप्त 89.96 करोड़ रुपये ‘कन्या केलवणी कोष’ में दान दे दिए थे,जो कि बालिकाओं की शिक्षा के लिए शुरू की गई एक योजना है।
सूत्रों ने कहा कि प्रधानमंत्री ने उपहारों की नीलामी 2015 में शुरू की थी,जिससे प्राप्त 8.35 करोड़ रुपये की राशि को नमामि गंगे परियोजना में दान दे दिया गया था।

 

27-07-2020
असम बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आई प्रियंका,पति निक के साथ किया दान

मुंबई। असम में बाढ़ से मची तबाही से पीड़ित लोगों की मदद के लिए प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस आगे आए हैं। प्रियंका चोपड़ा ने राज्य के हालात पर चिंता जताई है और साथ ही उन्होंने बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद का हाथ बढ़ाया है। प्रियंका ने सोशल मीडिया पर लिखा, 'असम के लिए प्रार्थना कीजिए। उन्हें हमारे समर्थन की जरूरत है।' प्रियंका ने आगे लिखा, 'मैं कुछ संगठनों की डिटेल्स शेयर कर रही हूं जो असम में कुछ अच्छा काम कर रहे हैं। निक और मैंने भी दान दिया है। आइए हम उनको सपोर्ट करें ताकि वे जरूरतमंद लोगों की मदद करना जारी रख सकें।'

 

 

20-07-2020
शहर कांग्रेस ने गोबर दान कर मनाया हरेली का तिहार, मास्क वितरण कर किया योजना का प्रचार

रायपुर। प्रदेशभर में सोमवार को हरेली का त्यौहार मनाया गया। गोधन न्याय योजना की भी शुरुआत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की। प्रदेश के गौठानों में गोबर की खरीदी की गई। शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गिरीश दुबे ट्रेक्टर चलाकर कार्यकर्त्ताओं के साथ गोकुल नगर गौठान पहुंचे। शहर प्रवक्ता बंशी कन्नौजे ने बताया कि शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गिरीश दुबे की ओर से गायों के चारे के लिए 10 हजार रुपए का चेक समिति को दिया गया। वर्मी कमोस्ट बनाने के लिए एक ट्रैक्टर गोबर का दान किया गया। योजना के प्रचार के लिए योजना का लोगो बना हुआ 1000 मास्क भी वितरित किया गया। गौठान में कार्यकर्ताओं ने बच्चों के साथ गेड़ी भी चलाई। इस दौरान शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे ने कहा कि गोधन न्याय योजना की चर्चा पूरे देश में है। बापू का ग्राम सुराज का जो सपना था,वो छत्तीसगढ़ में पूरा होता दिख रहा है। वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा, महापौर एजाज ढेबर की उपस्थिति में कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इस दौरान ब्लॉक अध्यक्ष सुमित दास, प्रशांत ठेंगड़ी, सुनीता शर्मा, अरुण जंघेल, दाऊलाल साहू ,माधो साहू,नवीन चंद्राकर,कामरान अंसारी,पार्षद श्रीकुमार मेनन, समीर अख्तर, देवेन्द्र यादव, अमित दास, दिनेश ठाकुर, फहीम खान, आशा चौहान, पारवती साहू ,आग्दा ठाकुर, शायरा खान, संध्या चक्रधर, अर्पणा फ्रांसिस, संदीप बार्ले, दिवाकर पंकज सिंह, सुयश शर्मा, मन्नू यादव, प्रमोद मिश्र, उषा चंद्रहास निर्मलकर ,राजेश यदु, आमिर पुष्पराज वैध,दीपक चौबे, सत्यनारायण नायक, गौतम यादव,मुरली साहू,मुन्ना सोनकर, प्रवीण योगेश साहू सहित कार्यकर्त्ता उपस्थित थे।

11-07-2020
डोनेट योर मोबाइल' कैंपेन से जुड़े विदेश में रह रहे दंपत्ति, पुराने के साथ नए स्मार्ट फोन दान करने हाथ बढ़ा रहे लोग 

रायपुर। रायपुर स्मार्ट सिटी लि. के एमडी सौरभ कुमार की पहल "डोनेट योर मोबाइल" पर राजधानी के अलावा राज्य के अन्य शहरों के निवासी भी स्मार्टफोन डोनेट कर रहे हैं। शनिवार को आभास फाउंडेशन के फाउंडर राहुल खास्तगीर की अपील पर विदेश में रह रहे भिलाई के दंपत्ति संतोष और रश्मि ने शासकीय स्कूलों में पढ़ रहे छात्रों के लिए दो नए स्मार्टफोन दान दिए। दुर्ग के रहने वाली रुचि और तुषार की जोड़ी ने भी अपनी ओर से एक नया स्मार्टफोन स्कूली बच्चों के लिए डोनेट किया। रायपुर के मनीष अग्रवाल ने भी एक नया स्मार्टफोन दान दिया। आभास फाउंडेशन के फाउंडर राहुल खास्तगीर ने अपनी संस्था की ओर से तीन नए मोबाइल सेट दान दिए। इसी तरह खालसा रिलीफ फाउंडेशन के सचिव हरिंदर सिंह संधू ने शुक्रवार को अपने जन्मदिन पर एक नया मोबाइल सेट पुराने मोबाइल के साथ डोनेट किया। हरिंदर सिंह संधू अपनी टीम के साथ लॉक डाउन की अवधि में हर घर तक पके हुए भोजन व राशन पहुंचाने वाले कोरोना वारियर्स में से हैं। उनका मानना है कि ऐसे वक्त में जब हम अपने बच्चों को उनकी पढ़ाई के लिए नया मोबाइल गिफ्ट कर सकते हैं, तो हमारी यह भी जिम्मेदारी बनती है कि, निम्न आर्थिक स्तर के बीच अपनी पढ़ाई करने वाले जरूरतमंद बच्चों तक भी मदद पहुंचाएं। 

कोरोना संक्रमण के इस दौर में शासकीय स्कूलों में पढ़ रहे विद्यार्थियों को आनलाइन क्लासेस के लिए स्मार्टफोन की आवश्यकता है। शहर में कई ऐसे छात्र हैं, जिनका परिवार स्मार्टफोन लेने में सक्षम नहीं है। ऐसे छात्रों की मदद के लिए रायपुर सहित राज्य के अन्य शहरों के निवासी भी आगे आए हैं। रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की ओर से चलाए जा रहे कैंपेन "डोनेट योर मोबाइल" से जुड़कर जरूरतमंद बच्चों के लिए स्मार्टफोन प्रदान कर रहे हैं। इस कैंपेन से जुड़े कई सामाजिक व स्वयं सेवी संगठन भी अभियान का हिस्सा बनकर शहरवासियों की मदद से जरूरतमंद बच्चों के लिए स्मार्ट मोबाइल फोन प्रदान कर रहे हैं। इसके अलावा सुरक्षित भव फाउंडेशन, वक्ता मंच, होप फॉर हुमैनिटी, कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स छत्तीसगढ़ चैप्टर, आशाएं, कुछ फर्ज हमारा भी, आवाज संस्कार संस्कृति, आभास फाउंडेशन, माईंड रिच, भारत वर्षीय जैन युवा महासभा, युवा ब्रिगेड, खालसा रिलीफ फाउंडेशन, राजश्री फाउंडेशन सहित कई सामाजिक व स्वयं सेवी संस्थाएं मदद के लिए आगे आई हैं। ये सभी संस्थाएं रायपुर स्मार्ट सिटी लि. के साथ मिलकर जरूरतमंद बच्चों को मोबाइल उपलब्ध कराने शहरवासियों से डोनेशन की अपील कर रही हैं। इस मुहिम में शामिल होने मोबाइल नंबर - 9685792100 या 8889994411, 8871737121, 9827860006 पर संपर्क कर जरूरत मंद बच्चों की पढ़ाई के लिए स्मार्ट मोबाइल फोनॉ दान में दे सकते हैं।

11-06-2020
तिरुपति मंदिर के खुले कपाट, एक ही दिन में आया 25 लाख से ज्यादा का दान

नई दिल्ली। 83 दिन के लॉक डाउन के पश्चात तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम 8 जून से श्रद्धालुओं के लिए दर्शन के लिए खोल दिया गया है। तिरुमला तिरुपति मंदिर लॉक डाउन के बाद खुला तो पहले ही दिन 25 लाख से ज्यादा रुपए दान पात्र में आए। तिरुमला तिरुपित देवस्थानम ट्रस्ट की मानें तो लॉक डाउन के बाद से मंदिर बंद कर दिया गया था। सोमवार को मंदिर फिर से खोला गया। पहले दिन दानपात्र में जो आया उसे निकाला गया तो पता चला कि उसमें 25.7 लाख रुपये दोनों ने दान दिए थे। बता दें कि मंदिर आज यानी गुरुवार को आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया है। तिरुपति मंदिर का देश का सबसे धनी मंदिर कहा जाता है। देश के सारे मंदिरों की अपेक्षा इस मंदिर में सबसे ज्यादा कैश, जेवर और अन्य दान आता है। इस मंदिर में एक महीने में 200 करोड़ रुपए से ज्यादा का दान मिलता है। 20 मार्च को लॉक डाउन के बाद मंदिर बंद होने से दानपात्र सूखे पड़े थे। हर महीने 200 करोड़ से ज्यादा मिलने वाले एक मंदिर में एक भी रुपया दान का नहीं आया था।

ट्रालय के लिए तीन दिन खुला मंदिर :

मंदिर सोमवार को ट्रायल के तौर पर खोला गया। तीन दिन के ट्रायल के बाद 11 जून से मंदिर भक्तों के लिए खोल दिया गया। मंदिर प्रशासकों ने बताया कि कोरोना वायरस से बचने के लिए केंद्र सरकार ने मंदिरों के लिए जो गाइडलाइन जारी की हैं उन्हें लागू करते हुए मंदिर सोमवार को खोला गया। पहले दिन सिर्फ टीटीडी कर्मचारियों और उनके पारिवारिक लोगों के लिए ही मंदिर खोला गया।

दर्शन से पहले श्रद्धालुओं को करना होगा इन नियमों का पालन :

तिरुमला मंदिर में दर्शन करने के लिए सभी श्रद्धालुओं को मास्क पहनने होंगे और कतार में लगने से पहले सैनेटाइज करना जरूरी होगा। टीटीडी मंदिर परिसर को स्पर्श-मुक्त परिसर में बदल दिया है। जब तीर्थयात्री दर्शन लाइनों में आएंगे, तो उन्हें किसी भी चीज के लिए कहीं भी छूने की जरूरत नहीं होगी। और भक्तों को दर्शन लाइनों में कम से कम 5-6 फीट का अंतर बनाए रखना होगा।

18-05-2020
रामकृष्ण मिशन आश्रम नारायणपुर के कर्मचारियों ने किया 3.60 लाख का दान 

रायपुर। वैश्विक महामारी कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण लॉक डाउन में जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए रामकृष्ण मिशन आश्रम नारायणपुर के कर्मचारियों की ओर से मुख्यमंत्री सहायता कोष में 3 लाख 60 हजार रुपए की सहयोग राशि प्रदान की गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस सहयोग के लिए रामकृष्ण मिशन आश्रम नारायणपुर के सभी कर्मचारियों को धन्यवाद दिया है।

 

14-05-2020
मुस्लिम समाज ने दान किया 6 लाख 786 रुपए, भूपेश बघेल ने माना आभार

रायपुर। मुख्यमंत्री सहायता कोष में मुस्लिम समाज ने 6 लाख 786 रुपए दान किया है। कोरोना वायरस के कारण बनी इस संकट की घड़ी में जरूरतमंदों की मदद करने लगातार लोग हाथ बढ़ा रहे हैं। इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ़ बोर्ड और वक्फ़ संस्थाओं के मुतवल्ली कमेटी व मुस्लिम समाज ने कोरोना संकट से लड़ने के लिए राशि प्रदान की है। इस सहयोग के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वक्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी सहित सभी दानदाताओं का आभार व्यक्त किया है।

11-05-2020
अपने पेंशन की पूरी राशि विधवा महिला ने पीएम केयर फंड में किया दान

भिलाई। विधवा ने की अपने पेंशन की पूरी राशि पीएम केयर फंड में दान कर दी। इसके लिए सांसद विजय बघेल ने महिला का आभार माना। कोरोना वायरस के खिलाफ देशभर में चल रही लड़ाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जन-जन से सहयोग करने का जो आह्वान किया है। उसके बाद पूरे दुर्ग जिले में इस फंड में सहयोग करने लगातार सामने आ रहे हैं। दुर्ग संसदीय क्षेत्र के सांसद विजय बघेल भी इस फंड में लोगों से सहयोग करने की अपील कर रहे हैं। इसी कड़ी में मरोदा टंकी की एक विधवा ने अपने पेंशन की पूरी राशि को इस फंड में दान किया है।इस क्षेत्र में लोग पीएम केयर फंड में दान करने जिस तरह से आगे आ रहे हैं, उसमें उनकी निष्ठा त्याग व देश के  प्रति संमर्पण की भावनाएं जुड़ी हुई हैं। एक विधवा ने जब अपने पेंशन की पूरी राशि इस फंड में दान कर दी तो लोगों की आंखों में आंसू की बूंदे छलक आई। विधवा प्रभा देवी कोे अपने तथा परिवार के लोंगों के जीविकोपार्जन लिए यह पेंशन मिलती है,जिसकी पूरी राशि उसने दान कर दी।  मरोदा टंकी निवासी विधवा प्रभा यादव ने अपने परिवार के लोगों के साथ सांसद विजय बघेल को उनके सेक्टर 5 स्थित निवास पर पहुंचकर पीएम केयर फंड में दान के लिए ग्यारह हजार एक सौ ग्यारह रुपए (11,111) का चेक सौंपा। सांसद विजय बघेल प्रभा देवी को इस दान वीरता के लिए धन्यवाद दिया है।

09-05-2020
डोनेशन ऑन व्हील्स में अब तक 80 से अधिक लोगों ने दान देकर की मदद

भिलाई। डोनेशन ऑन व्हील्स के जरिए दान देने शहर के नागरीक जागरूक है और अब तक 80 से अधिक लोगों ने दान दिया हुआ है। लोग हरी सब्जियों से लेकर राशन सामान के पैकेट भी प्रदान किए है। भिलाई शहर में महापौर व विधायक भिलाईनगर देवेन्द्र यादव की पहल से शुरू किया गया डोनेशन आन व्हील्स लाॅकडाउन में भूखे, असहाय व गरीब परिवारों तक भोजन व राशन सामान पहुंचाने में काॅफी मददगार साबित हुआ है। निगम क्षेत्र के सभी वार्डों से आम नागरिक, सामाजिक संस्थाएं, महिला समिति, व्यापारियों सहित विभिन्न प्रकार के समाजसेवियों व आम जनों ने जरूरतमंदों के लिए तेल, चांवल, दाल, आटा, आलू, प्याज, नमक, मसाला, शक्कर, चायपत्ती सहित अन्य राशन की सामग्री डोनेशन आन व्हील्स में खुलकर दान देकर मदद कर रहे हैं। महापौर एवं भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव एवं आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी सहित निगम प्रशासन इन सभी दानदाताओं को धन्यवाद देती है, जिन्होंने लॉक डाउन की विकट परिस्थिति में डोनेशन ऑन व्हील्स के जरिए जरूरतमंदों के लिए मदद की है।

09-05-2020
मोदी सरकार का बड़ा फैसला, श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट में दान देने पर आयकर में मिलेगी छूट

नई दिल्ली। अयोध्या में बन रहे राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के लिए दान देने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है। केंद्र सरकार ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए गठित 'श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट' को दान (डोनेशन) देने वालों को इनकम टैक्स में छूट देने का फैसला किया है। दरअसल, वित्त मंत्रालय ने एक नोटिफिकेशन जारी किया है। इस नोटिफिकेशन के मुताबिक अयोध्या में राम मंदिर के लिए दान देने वालों को टैक्स में छूट दी जाएगी। ये छूट श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में दान देने पर ही मिलेगी। वित्त मंत्रालय की ओर से ये छूट आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80जी के तहत दी जाएगी।

केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने 'श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट' को ऐतिहासिक महत्व का स्थान और सार्वजनिक पूजन स्थल की श्रेणी में रखा है। दानदाताओं को वित्त वर्ष 2020-21 से टैक्स में छूट मिलेगी। नोटिफिकेशन में कहा गया है कि धारा 80 जी के तहत सभी धार्मिक ट्रस्टों को छूट नहीं दी जाती है। धार्मिक ट्रस्ट को पहले धारा 11 और 12 के तहत आयकर छूट के लिए रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करना होता है। इसके बाद धारा 80 जी के तहत छूट दी जाती है। वित्त मंत्रालय ने तीर्थक्षेत्र को ऐतिहासिक महत्व का स्थान और एक सार्वजनिक पूजा के प्रसिद्ध स्थान के तौर पर नोटिफाई किया है।

04-05-2020
जैन समाज ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में दिए 11 लाख,रोजाना 3 हजार थाली भोजन का दान

रायपुर। कोरोना महामारी के संक्रमण से सुरक्षा के लिए समाज के हर वर्ग की ओर से लगातार सहयोग किया जा रहा है। इसी क्रम में जैन समाज ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में 11 लाख रूपए, जरूरतमंदों के लिए दादाबाड़ी से प्रतिदिन 3 हजार थाली भोजन और नौजवानों की ओर से रक्तदान सहित कई धर्मार्थ कार्य समाज ने संकट के इस समय में किए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस योगदान के लिए समाज के प्रति आभार व्यक्त किया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804