GLIBS
19-06-2021
वित्त मंत्रालय ने दिया स्विस बैंक में काले धन पर बयान,कहा- दोनों देशों ने एमएएसी पर किए हस्ताक्षर

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने शनिवार को उन रिपोर्टों को सिरे से खंडन कर दिया है, जिसमें दावा किया गया है कि स्विट्जरलैंड के बैंकों में भारतीयों का जमा कालाधन 2020 में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। दरअसल मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि स्विस बैंकों में जमा भारतीयों के पैसे में जबरदस्त इजाफा हुआ है। बैंक द्वारा जारी आंकड़ों के हवाले से बताया गया था कि भारतीयों का जमा पैसा साल 2020 में 20,700 करोड़ रुपये से अधिक पहुंच गया है, जबकि इससे एक साल पहले यानी 2019 में यह आंकड़ा 6,625 करोड़ रुपए था।


वित्त मंत्रालय ने बयान में कहा, भारत और स्विटजरलैंड ने कर मामलों में पारस्परिक प्रशासनिक सहायता (एमएएसी) पर बहुपक्षीय सम्मेलन पर हस्ताक्षर किए हैं। दोनों देशों ने बहुपक्षीय सक्षम प्राधिकरण समझौते (एमसीए) पर भी हस्ताक्षर किए हैं, जिसके अनुसार, कैलेंडर वर्ष 2018 के लिए सालाना वित्तीय खाते की जानकारी साझा करने के लिए दोनों देशों के बीच सूचना का स्वत: आदान-प्रदान हो रहा है।


इसी को लेकर कांग्रेस ने सरकार से पूछा है कि पिछले 7 सालों में किस देश से कितना काला धन वापस लाया गया? कांग्रेस ने मांग की कि मोदी सरकार उन व्यक्तियों के नाम साझा करे, जिन्होंने पिछले एक साल में स्विस बैंकों में पैसा स्थानांतरित किया है? विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने कहा कि 97 प्रतिशत भारतीय गरीब हो गए हैं, फिर ये कौन लोग हैं, जो आपदा में अवसर का लाभ उठा रहे हैं?

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804