GLIBS
04-05-2021
बंगाल के चुनावी नतीजों पर कंगना को ट्वीट करना पड़ा भारी,ट्विटर ने किया अकाउंट सस्पेंड

मुंबई। अपने बेबाक बयानों से सोशल मीडिया में सुर्खियों में रहने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत के लिए मुश्किल खड़ी हो गई है। दरअसल ट्विटर ने कंगना रनौत का अकाउंट सस्पेंड कर दिया। कंगना के बंगाल के चुनाव नतीजों पर ट्वीट के लिए यह एक्शन लिया गया। कयास लगाए जा रहे हैं कि ममता बनर्जी को लेकर आपत्तिजनक शब्दों के बाद कंगना रनौत का अकाउंट सस्पेंड किया गया कंगना ने ट्विटर अकाउंट सस्पेंड किए जाने पर कहा, कि अपनी बात रखने के लिए मेरे पास कई और भी प्लेटफॉर्म है। ट्विटर ने कंगना माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट से जुड़े नियमों के उल्लंघन का आरोप लगाया है। रिपोर्ट के अनुसार कंगना ने एक के बाद एक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर कई आपत्तिजनक ट्वीट की थी। कंगना ने पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद हुई हिंसा का भी जिक्र अपने ट्वीट में किया था। साथ ही उन्होंने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग रखी थी। कंगना ने दरअसल अपने एक ट्वीट में लिखा था, 'मैं गलत थी, वह रावण नहीं थी। वह तो सबसे अच्छा राजा था। दुनिया में सबसे अमीर देश उसने बनाया, वह महान प्रशासक था, विद्वान था और वीणा बजाने वाला और अपनी प्रजा का राजा था लेकिन वह तो खून की प्यासी राक्षसी ताड़का है। जिन लोगों ने उनके लिए वोट किया, उनके भी हाथ खून से सने हैं।' अकाउंट सस्पेंड किए जाने को लेकर कंगना रनौत की भी प्रतिक्रिया आई है। कंगना ने कहा, 'ट्विटर ने मेरी ही बात को सही साबित किया है। वे अमेरिकी हैं और जन्म से एक गोरा शख्स एक ब्राउन शख्स पर अपनी मर्जी चलाना चाहता है।' कंगना ने कहा, वे आपको बताना चाहते हैं कि आप क्या सोचें, बोले और क्या करें। मेरे पास अपनी बात रखने के लिए कई और भी प्लेटफॉर्म हैं। इसमें सिनेमा भी शामिल है।'

 

27-04-2021
चुनाव आयोग ने लगाई 2 मई को चुनावी नतीजों के बाद जश्न-जुलूस पर रोक

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच चुनाव आयोग ने 2 मई को आने वाले चुनावी नतीजों के बाद किसी भी तरह के सार्वजनिक जश्न पर रोक लगा दी है। पश्चिम बंगाल सहित पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे इस दिन आने हैं। चुनाव आयोग ने साथ ही अपने आदेश में कहा है कि नतीजों के दिन सर्टिफिकेट लेने के लिए विजयी उम्मीदवार के साथ दो लोग से अधिक नहीं जा सकेंगे। पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में मतदान होना था और अभी एक चरण का मतदान बाकी है। दूसरी ओर केरल, तमिलनाडु, पुडुचेरी और असम में मतदान पूरे हो गए हैं। असम में तीन चरणों में वोटिंग हुई थी जबकि केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी विधानसभा चुनाव के मतदान एक ही चरण में पूरे कर लिए गए थे। हाल में कोरोना संकट के मामले जिस तरह देश में बढ़े हैं, उसे लेकर चुनाव आयोग की भूमिका पर भी सवाल उठे हैं। पश्चिम बंगाल सहित तमाम राज्यों में बगैर कोविड नियमों के पालन किए बड़ी मात्रा में रैलियां होती रहीं। हालांकि, चुनाव आयोग ने कोविड गाइडलाइन के निर्देश दिए थे लेकिन इस पर अमल पूरी तरह से नहीं हो सका। कोरोना के बढ़ते मामलों के देखते हुए चुनाव आयोग ने आखिरकार बंगाल में सातवें चरण के मतदान से पहले चुनाव से जुड़ी बड़ी रैलियों पर रोक लगा दी थी। साथ ही रोड शो और पदयात्रा पर रोक लगाते हुए राजनीति पार्टियों से वर्चुअल रैली करने को कहा गया था। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804