GLIBS
24-11-2020
दूसरे के खेत की आंच से किसान के अरमान जलकर राख, फसल हुई तबाह, बदहाल हुआ किसान

जांजगीर चाम्पा। जिले के जांजगीर थाना क्षेत्र अंतर्गत जनपद पंचायत बलौदा के ग्राम पंचायत कुदरी में किसान के फसल में आग लग गई। दमकल की गाड़िया पहुंचने से पहले ही फसल जलकर खाक हो गई। मिली जानकारी के अनुसार बगल की खेत में पराली जलाने के दौरान किसान के फसल में आग फैली गई। फसल पूरी तरह जलकर खाक हो गई। किसान का रो—रो कर बुरा हाल हो गया है और मुआवजे की मांग कर रहा है।  राजस्व विभाग को नुकसान के आकलन के लिए सूचना दी गई । किसान लम्बोदर प्रसाद सोनझरी ने अपने खेत पर धान की खरही गांज कर रखा हुआ था। अज्ञात लोगों ने बगल की खेत पर पराली में आग लगाने के बाद छोड़ दिया। वहीं आग धीरे धीरे फैलाकर खेत में रखे धान की खरही तक जा पहुँचा। खरही में आग लगने से धान की फसल पूरी तरह से आग की चपेट में आकर फसल राख हो गया। वहीं अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज भी कराया गया।

 

 

09-11-2020
खेत की ताजा मूली के स्वाद का आनन्द लिया भूपेश बघेल ने, सब्जियां उगाने वाली महिलाओं से खुलकर बात की

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को दुर्ग जिले की पाटन तहसील के ग्राम बोरेन्दा के भ्रमण के दौरान वहां सब्जियों का उत्पादन करने वाले महिला स्व-सहायता समूह की महिलाओं से चर्चा की। समूह द्वारा उपजाई गई सब्जियों का अवलोकन किया। उन्होंने मूली का स्वाद भी लिया। बोरेन्दा में उन्होंने महिलाओं से आग्रह किया कि आपने बहुत सुंदर अमारी भाजी लगाई है। एला भेजवाहु, मोला एखर चटनी बहुत अच्छा लगथे। अमारी भाजी के फूल ला सकेल के रखव, एखर शर्बत बढ़िया बिकथे। मुख्यमंत्री को इस अवसर पर महिलाओं ने बारहमासी करेला की टोकरी भेंट की। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसे खरीदूंगा। महिलाओं ने कहा कि आपकी पहल से तो ऐसा कर पाए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, नहीं आपकी मेहनत है और उन्होंने इसका भुगतान किया।

06-11-2020
खेतों में फसल अवशेष जलाने पर लगेगा अर्थदण्ड, कलेक्टर ने की गौठानों में पैरा दान करने की अपील

कोरबा। राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण द्वारा खेतों में फसलों के कटने के बाद बचे अवशेषों को जलाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। खेतों में बचे फसल अवशेषों को जलाने से पर्यावरण को होने वाले नुकसान को संज्ञान में लेते हुए ट्रीब्यूनल द्वारा यह आदेश जारी किया गया है। आदेश में किसानों द्वारा खेतों में फसल अवशेष जलाने पर दण्ड का भी प्रावधान किया गया है। उप संचालक कृषि शुक्ला ने आज यहां बताया कि नेशनल ग्रीन ट्रीब्यूनल के आदेश के अनुसार यदि कोई कृषक अपने खेतों में फसल अवशेष जलाते हुए पाये जाते हैं तो दो एकड़ रकबा वाले कृषकों से दो हजार 500 रूपए, दो से पांच एकड़ वाले कृषकों से पांच हजार रूपए एवं पांच एकड़ से अधिक रकबा वाले कृषकों से 15 हजार रूपए दण्ड वसूलने का प्रावधान किया गया है। उप संचालक ने बताया कि फसल अवशेष को जलाने से खेत की छह इंच परत जिसमें विभिन्न प्रकार के लाभदायक सूक्ष्मजीव जैसे राइजोबियम, एजेक्टोबैक्टर, नील हरित काई के साथ ही मित्र कीट के अण्डें भी नष्ट हो जाते हैं एवं भूमि में पाये जाने वाले ह्यूमस, जिसका प्रमुख कार्य पौधों की वृद्धि पर विशेष योगदान होता है, वो भी जल कर नष्ट हो जाते हैं, जिससे आगामी फसल उत्पादन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। साथ ही भूमि की उर्वरा शक्ति भी अवशेष जलाने से नष्ट होती है। फसल अवशेषों का उचित प्रबंधन जैसे फसल कटाई उपरांत अवशेषों को इकठ्टा कर कम्पोस्ट गड्ढे या वर्मी कम्पोस्ट टांके में डालकर कम्पोस्ट बनाया जा सकता है अथवा खेत में ही पड़े रहने देने के बाद जीरों सीड कर फर्टिलाइजर ड्रील से बोनी कर अवशेष को सडने के लिए छोड़ा जा सकता है। इस प्रकार खेत में अवशेष छोडने से नमी संरक्षण, खरपतवार नियंत्रण एवं बीज के सही अंकुरण के लिए मलचिंग का कार्य करता है। उप संचालक ने बताया कि एक टन पैरा जलाने से तीन किलो पर्टिकुलेट मैटर (पीएम), 60 किलो कार्बन मोनो आक्साइड, एक हजार 460 किलो कार्बन डाइ आक्साइड, दो किलो सल्फर डाइ आक्साइड जैसे गैसों का उत्सर्जन तथा 199 किलो राख उत्पन्न होती है। अनुमान यह भी है कि एक टन धान का पैरा जलाने से मृदा में मौजूद 5.5 किलोग्राम सल्फर नष्ट हो जाता है।

कलेक्टर ने की पैरा दान करने की अपील

इस संबंध मे कलेक्टर किरण कौशल ने जिले के सभी किसानों से फसल कटने के बाद गौठानों में अधिक से अधिक पैरा दान करने की अपील की है, ताकि गौठानों में आने वाले पशुओं को साल भर पर्याप्त भोजन मिल सके। उन्होंने जिले के सभी सरपंचों से भी मुनादी कराकर किसानों से गौठानों में पैरा दान करने का आग्रह करने की अपील की है। कलेक्टर ने यह भी बताया है कि पैरे को जलाने से पर्यावरण प्रदूषित होता है। ऐसा करने पर छत्तीसगढ़ ग्राम पंचायत स्वच्छता सफाई एवं न्यूसेंस का निराकरण तथा उपशमन नियम 1999 के तहत कार्रवाई की जा सकती है। कलेक्टर ने यह भी अपील की है कि सभी सरपंच अपने-अपने गांवों में धान कटाई के बाद बचे हुए फसल अवशेष पैरे को किसानों को जलाने नहीं देवें। कलेक्टर किरण कौशल ने कृषि विभाग के मैदानी अमले को निर्देशित किया है कि धान कटाई के बाद के फसल अवशेष नरई को जलाने की जगह उससे खाद बनाने के तरीके किसानों को बतायें और शासकीय योजना का लाभ उठाने के लिये प्रेरित करें।

 

27-10-2020
खेतों में फसल अवशेष न जलाए बेमेतरा कलेक्टर शिव अनन्त तायल ने किसानों से की अपील होती है उत्पादकता कम

रायपुर/बेमेतरा। फसल अवशेष जलाने से मृदा का तापमान बढ़ जाता है, जिससे मृदा की संरचना बिगड़ जाती है। जीवाष्म पदार्थ की मात्रा कम हो जाने से मृदा की उत्पादकता कम होने का खतरा होता है। कलेक्टर शिव अनंत तायल ने किसानों से अपील की है कि वे अपने खेत में फसल के अवशेष न जलाएं। फसल अवशेष जलाने से उस पर आश्रित मित्र कीट मर जाते हैं। जिससे मित्र कीट और शत्रु कीट का अनुपात बिगड़ जाता है, फलस्वरूप पौधों को कीट प्रकोप से बचाने के लिए मजबूरन महंगे तथा जहरीले कीटनाशकों का इस्तेमाल करना पड़ता है, जिसका दुष्प्रभाव मानव स्वास्थ्य पर देखा जा रहा है। फसल अवशेष को एकत्र कर पशुचारे के रूप में उपयोग के लिए विक्रय भी किया जा सकता है। जिलाधीश ने किसानों से गौठान मे पैरा दान करने का आव्हान किया है। इसके अलावा फसल अवशेष का उपयोग नाडेप, वर्मीखाद जैसी कार्बनिक खाद बनाने में भी किया जा सकता है। कलेक्टर तायल ने जिले के किसानों को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा जारी आदेश का गंभीरता से पालन सुनिश्चित करने की अपील लोगों से की है। फसल अवशेषों के प्रबधंन के लिए उपयोगी कृषि यंत्रों के बारे में विस्तृत जानकारी कृषि विज्ञान केन्द्र ढोलिया बेमेतरा एवं कृषि विभाग बेमेतरा से सम्पर्क किया जा सकता है।

30-09-2020
गिरदावरी के प्रकाशन के बाद दावा आपत्तियों का परीक्षण कर निराकरण करने का काम जारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ में राजस्व एवं कृषि विभाग ने किसानों के खेतों में जाकर फसलों की गिरदावरी का कार्य कर उसका प्रकाशन ग्राम पंचायतों में किया। उस पर दावा आपत्ति लिया,  उनके निराकरण का कार्य किया जा रहा है। इसी कड़ी में राजनांदगांव के कलेक्टर टोपेशवर वर्मा ने जिले अधिकारियों को गिरदावरी के प्रारंभिक प्रकाशन होने के बाद प्राप्त दावा आपत्तियों का परीक्षण कर निराकरण जल्द से जल्द करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि धान खरीदी के लिए नए किसानों का वेरीफिकेशन कर उनका पंजीयन करें। उन्होंने कहा कि धान खरीदी के लिए तैयारियां पहले ही प्रारंभ कर ली जाए। सभी सोसायटी में बारदाना की उपलब्धता व रख रखाव की व्यवस्था हो।

जिले के अधिकांश विकासखंड अंतर्राज्यीय सीमाओं से लगे हुए हैं। ऐसी स्थिति में दूसरे राज्यों से कोचियों के माध्यम से धान यहां लाने की संभावना बनी रहती है। सभी अधिकारी सीमा से लगे गांवों में मुखबिर रखें और इन गांव के धान खरीदी केन्द्र में अक्टूबर महीने से ही मॉनिटरिंग चालू करें। फसल कटाई प्रारंभ होते ही अंतर्राज्यीय सीमा चेकपोस्ट में जांच की कार्रवाई शुरू करें। कलेक्टर ने कहा कि मजदूरों के लिए मनरेगा के तहत स्वीकृत कार्य चालू करें। गौठानों में शेड निर्माण तथा अन्य कार्य किया जाए जिससे लोगों को रोजगार मिल सके। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम नवरात्रि के संबंध में स्थानीय स्तर पर बैठक लेकर कोरोना प्रोटोकॉल के बारे में जानकारी दें तथा शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देश का पालन करने के लिए निर्देशित करें।

24-09-2020
खेत में काम कर रहे किसान पर गिरा बिजली का तार, करेंट लगने से मौके पर हुई मौत

रायपुर/बिलासपुर। बिलासपुर के पास बिल्हा विकासखंड के ग्राम बहतराई में खेत में काम कर रहे एक किसान के ऊपर बिजली का तार गिरने से उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार बिलासपुर के बहतराई गांव में रहने वाले कृषक घुरऊप्रसाद साहू अपने खेत में काम कर रहा था। इसी दौरान बिजली तार टूट कर उसके ऊपर गिर गया। करंट लगने से किसान घुरऊ प्रसाद की मौके पर ही मौत हो गई। भारतीय किसान संघ के जिला अध्यक्ष धीरेंद्र दुबे ने बिजली का तार गिरने से किसान घुरऊ प्रसाद की असामयिक मौत पर दुख जताया है। इस घटना के लिए विद्युत विभाग को जिम्मेदार ठहराते हुए शासन से मांग की है कि मृत किसान के परिवार को अभिलंब यथोचित मुआवजा प्रदान किया जाए।

 

18-09-2020
भूपेश बघेल के निर्देश पर गिरदावरी की जानकारी लेने खुद कर्मचारी किसानों के खेतों तक जा रहे हैं, सीएम हो तो ऐसा

रायपुर। भूपेश बघेल के निर्देशानुसार प्रदेश के सभी जिलों में राजस्व एवं कृषि विभाग के अधिकारी कर्मचारी गिरदावरी के लिए किसानों के खेतों में पहुंचकर फसलों की जानकारी लेकर भूमि के खसरों व अभिलेखों में प्रविष्टियां कर रहे हैं। राजस्व विभाग के हल्कों में तैनात पटवारी फसल के रकबे का पंजीयन भी कर रहे हैं। पटवारियों को अपने हल्के के अंतर्गत सभी किसानों के खेतों में पहुंचकर गिरदावरी कर ऑनलाइन एंट्री करने के निर्देश दिए गए हैं। गिरदावरी के कार्य का मौके पर निरीक्षण विभाग के उच्च अधिकारी कर रहे हैं। बिलासपुर के कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने तखतपुर विकासखण्ड में राजस्व विभाग के अमले द्वारा किये जा रहे गिरदावरी कार्य का निरीक्षण किया। वे खेतों में उतरे और स्थल पर गिरदावरी के कार्य को बारीकी से देखा और निर्देशित किया कि शत् प्रतिशत शुद्धता के साथ गिरदावरी का कार्य किया जाये।    

राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल गिरदावरी का कार्य जिले में संचालित हो रहा है। इस क्रम में बिलासपुर कलेक्टर ने ग्राम-सकरी पटवारी हल्का नंबर 45 के अंतर्गत चल रहे गिरदावरी कार्य को स्वयं खेत में उतरकर देखा कि गिरदावरी कार्य सुचारू रूप से किया जा रहा है या नहीं। कलेक्टर ने गिरदावरी के कार्य को बारीकी से करने के निर्देश देते हुए निर्धारित समय पर इसकी ऑनलाइन एंट्री करने कहा ताकि बाद में किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो।

18-09-2020
दो लड़कियों का शव एक साथ फांसी पर झूलता मिला

रायपुर/कोंड़ागांव। दो नाबालिग बालिकाओं का शव पेड़ में फांसी के फंदे पर लटकते हुए मिली है। मामला जिले के फरसगांव थाना क्षेत्रान्तर्गत ग्राम छिंदली मुंडापारा का है। दो नाबालिग बालिकाओं का शव संदिग्ध परिस्थितियों में घर से दूर खेत के एक पेड़ में फांसी के फंदे पर झूलते हुए मिली है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई है। पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा पुलिस जांच के बाद ही मौत के कारण का खुलासा हो पायेगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804