GLIBS
04-08-2019
नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने बाबाधाम देवघर में की पूजा-अर्चना

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक ने बाबाधाम देवघर में प्रदेश की समृद्धि के लिए विशेष पूजा-अर्चना की। इस मौके पर भाजपा प्रवक्ता भूपेन्द्र सवन्नी सहित पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।

 

13-07-2019
बृजमोहन अग्रवाल ने सपरिवार की प्रभु जगन्नाथ की पूजा-अर्चना

रायपुर। रायपुर दक्षिण विधायक व पूर्व धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने सपरिवार टिकरापारा में  प्रभु जगन्नाथ की पूजा-अर्चना की। धर्मिक पम्परानुसार मौसी के घर 9 दिन के विश्राम के बाद प्रभु जगन्नाथ, बलभद्र और सुभद्रा अपने निवास पहुंचते है। यहा विराजित प्रभु जगन्नाथ सदर बाजार स्थित मंदिर रथ से पहुंचेंगे।

27-05-2019
महाविजय के बाद काशी विश्वनाथ मंदिर में मोदी ने की पूजा-अर्चना, साथ में दिखें शाह

वाराणसी। लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत हासिल करने के बाद सोमवार को पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में माथा टेका और काशी के लोगों के प्रति आभार व्यक्त किया। बाबतपुर हवाई अड्डे पर श्री मोदी का स्वागत भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने किया। इस मौके पर याेगी मंत्रिमंडल के कई सदस्यों के अलावा बड़ी तादाद में भाजपा के वरिष्ठ नेता मौजूद थे। 

बाद में श्री मोदी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे और दोनो ने साथ बैठकर पूजन अर्चन कर भोलेनाथ का आशीर्वाद ग्रहण किया। श्री मोदी गुरूवार को दोबारा प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। श्री मोदी अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार पूर्वाह्न करीब पौने दस बजे बाबतपुर स्थित लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पहुंचें, जहां उत्तर प्रदेश के राज्यपाल नाईक एवं मुख्यमंत्री योगी, डॉ0 पांडेय समेत कई वरिष्ठ नेता उनकी आगवानी की। श्री मोदी हवाई अड्डा से वायु सेना के विशेष हेलीकाप्टर से पुलिस लाइन और फिर सड़क मार्ग से मंदिर पहुंचे और विधिविधान के साथ पूजा कर बाबा का आशीर्वाद दिया। रास्ते में उन्होंने अपनी गाड़ी में बैठे कभी हाथ जोड़कर तो कभी हाथ हिलाकर जनता का आभार व्यक्त किया। 

करीब सात किलोमीटर सड़क मार्ग पर जगह-जगह बड़ी संख्या में लोगों ने फूलों की बारिश कर उनका स्वागत किया। उनका काफिला अपेक्षाकृत कम रफ्तार में गुजरा। उन्होंने हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। भारी जीत के बाद वाराणसी पहुंचे श्री मोदी अपने बीच पाकर उनके संसदीय क्षेत्र के लोग बेहद उत्साहित हैं।

16-05-2019
नगरीय निकाय व आवास मंत्री जयवर्धन सिंह पहुंचे बजरंग बली के शरण में

 

भोपाल। मध्यप्रदेश के नगरीय निकाय व आवास मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन सिंह चुनावी दौरे पर इंदौर पहुंचे। इस दौरान जयवर्धन अपने खास समर्थक सुवेग राठी के साथ इंदौर के दो सिद्ध पुरातन हनुमान मंदिरों पर गए और विशेष पूजा-अर्चना कर बजरंग बली से आशीर्वाद लिया। इंदौर के रणजीत हनुमान मंदिर पर पूजा-अर्चना की वहीं पंचकुइया स्थित वीर बगीची पर वीर अलीजा सरकार के दर्शन करने पहुंचे और वहां बाल ब्रम्हचारी संत महराज से आशीर्वाद लिया वीर बगीची और रणजीत हनुमान दोनों ही धर्म स्थलों पर हजारों कि संख्या में इंदौर सहित देशभर के श्रध्दालुओं का आना जाना लगा रहता है। चुनावी मौसम में हनुमान जी के शरण में जयवर्धन के जाने को लेकर काफी चचार्एं हो रही है।

10-05-2019
प्रमोद दुबे और कुलदीप जुनेजा ने लिया शोलापुरी माता का आशीर्वाद 

रायपुर। डब्ल्यूआरएस कॉलोनी में शोलापुरी माता का पूजा-अर्चना किया गया। रायपुर के महापौर प्रमोद दुबे और उत्तर विधानसभा के विधायक कुलदीप सिंह जुनेजा कार्यक्रम स्थल में पहुंचकर माता का आशीर्वाद लिया। 

बता दें कि डब्ल्यूआरएस कॉलोनी में हर साल शोलापुरी माता का पूजा-अर्चना का आयोजन किया जाता है। इसमें रोजाना शोलापुरी माता की मूर्ति हल्दी से बनाकर स्थापना की जाती है और यह आयोजन डब्ल्यूआरएस कॉलोनी में लंबे समय से किया जा रहा है। इस दौरान शहर जिला अध्यक्ष गिरीश दुबे, एमआईसी सदस्य राधेश्याम विभार, केंद्रीय ब्राम्हण समाज अध्यक्ष विनय तिवारी, आंध्र समाज के अध्यक्ष स्वामी, महापौर प्रतिनिधिगण समेत शहर के अनेक गणमान्य नागरिक एवं प्रबुद्धजन उपस्थित रहे।

03-05-2019
पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने सपरिवार रामलला का दर्शन किया

रायपुर। प्रदेश की पूर्व धर्मस्व मंत्री एवं रायपुर दक्षिण विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने गुरुवार को अयोध्या पहुंचकर सपरिवार  रामलला का दर्शन कर पूजा-अर्चना किया। वे सरयू तट भी पहुंचे और सरयू मैया का दर्शन लाभ लिया। अग्रवाल राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष और मणि रामदास छावनी के महंत नृत्य गोपाल दास से भी मिले और उनका आशीर्वाद लिया। वे कनक भवन भी पहुंचे साथ ही उन्होंने राम मंदिर निर्माण कार्यशाला का अवलोकन भी किया।

02-05-2019
चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध के बाद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मंदिर जाकर की पूजा, गाया भजन

भोपाल। भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर चुनाव आयोग ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने मामले में 72 घंटे की रोक लगा दी है। लेकिन साध्वी ने इस बैन का भी तोड़ निकाल लिया और वे अब मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना करने लगी हैं। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर दुर्गा मंदिर में पहुंची और पूजा करने के बाद भजन गाया। साध्वी प्रज्ञा ने ठीक उसी फार्मूले को अपनाया है जिसे उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपनाया था, जब उनके उपर चुनाव आयोग ने प्रचार के दौरान बैन लगाया था।

बता दें कि भोपाल से भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के चुनावी अभियान पर 72 घंटे की रोक लगा दी। यह रोक गुरुवार सुबह छह बजे से अगले 72 घंटे तक जारी रहेगी। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के चुनावी अभियान पर रोक धार्मिक आधार पर वोट मांगने को लेकर लगाई गई है, जिसे आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना गया है। चुनाव आयोग ने बुधवार को जारी अपने आदेश में उनके बयान की कड़ी निंदा की और उन्हें भविष्य में इस प्रकार का कदाचार नहीं दोहराने की चेतावनी दी।

16-04-2019
भाजपा प्रत्याशी सुनील सोनी ने हरदेव लाला मंदिर में किया पूजा-अर्चना

रायपुर। लोकसभा चुनाव को लेकर रायपुर लोकसभा के भाजपा प्रत्याशी पूर्व महापौर सुनील सोनी ने टिकरापारा स्थित हरदेव लाला मंदिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर उन्होंने श्रद्धालुओं के साथ पंगत में बैठकर प्रसादी ग्रहण किया। उनके साथ मत्स्य महासंघ के अध्यक्ष रामकृष्ण धीवर,चन्द्रपाल धनगर,आशीष धनगर,राकेश यादव,केदार धनगर, राज गायकवाड़,दानी वर्मा,प्रमोद साहू,मनोज साहू देवा धीवर मन्नू धनगर आदि उपस्थित थे।

12-04-2019
डोकरी घाट में स्थित झरझरा माता में उमड़ी भक्तों की भीड़

राजिम। चैत्र नवरात्र को लेकर मुरमुरा के डोकरी घाट डोंगरी में झरझरा माता धाम में चैत्र नवरात्र पर बड़ी संख्या में भक्तों की भीड़ उमड़ रही है। सुबह से ही भक्त परिवार सहित झरझरा माता के दर्शन, पूजन व अनुष्ठान आदि में लगे हुए हैं। बताया जाता है कि 21 बहिनी में एक झरझरा माता है जो भक्तों की हर संकट को दूर करती है। मां दरबार में आने से हर मनोकामना पूर्ण हो जाती है। फलस्वरूप यहां भक्तों की भीड़ लगातार बढ़ती जा रही है। इस डोंगरी में जतमई धाम, घटारानी एवं झरझरा माता ने अपना निवास स्थान बनाया है। झंझरा विकास समिति के अध्यक्ष माखन साहू, तुला राम साहू, लक्ष्मण साहू, नरेश साहू, गुलशन ध्रुव, आदि ने बताया कि बरसात के समय इस जगह पानी की तेज धार चलती है तथा ऊपर से नीचे झरना के आकार में जल गिरने से उनकी झर-झर की आवाज दूर तक सुनाई देती है। मुरमुरा फुलझर आदि गांव के लोग झरने की आवाज स्पष्ट रूप से सुनते हैं।

इसी कारण से इस देवी का नाम झरझरा पड़ा। पुजारी गोवर्धन यादव ने बताया कि गैंदराम साहू ने 1987 में पहली बार माता पूजा-अर्चना कर ज्योति प्रज्वलित किया था। तब माता गैंदराम स्वप्न के स्वप्न में आई। तब गेंदराम ने गांवा वालों को बताया कि इस स्थल पर माता विराजमान हैं इनकी पूजा-अर्चना करनी चाहिए, लेकिन गांव वालों ने यह कह कर टाल दिया कि यह स्थल घने जंगलों के बीच में है यहां शेर, भालू, चीता इत्यादि खूंखार जंगली जानवर बेखौफ होकर घुमते रहते हैं। कभी भी किसी को नुकसान पहुंचा सकते हैं ऐसा जान करके गांव वालों ने मना कर दिया, लेकिन मना करने के बावजूद भी गैंदराम साहू के दिल से माता की छवि नहीं मिटी और अकेले जंगल में निकल पड़ता ज्योति जलाने, ऐसा लगातार -दिनों तक करता रहा। गेंदराम की श्रद्धा भक्ति को देखकर कुछ लोग इनसे पुन: मुखातिब हुए और इनकी बात को मानकर देवी स्थल पर जाकर साफ-सफाई एवं माता की आराधना करने लगे जिस जगह झरझरा माता विराजमान हैं वह स्थल गुफा था जहां शेर आदि जानवर निवास करते थे, लेकिन जैसे ही चिन्हाकित झरझरा माता को स्वरूप दिया गया तो गुफा का द्वार बंद कर दिया गया है। झरझरा माता मूर्ति करीब 2 फीट ऊंचाई लिए हुए शीला के रूप में है।

माता की मन मोहनी मूर्ति बहुत ही सुंदर है तथा खोह में विराजमान है इस स्थल पर जाने के लिए 12 सीढ़ियों से होकर नीचे उतरना पड़ता है तब माता  के दर्शन होते हैं। आसपास बड़ी-बड़ी पत्थर टूटा हुआ ऐसा दिखाई दे रहा है जैसे किसी ने इन्हें व्यवस्थित रखा हो। वहां के पुजारी ने बताया कि एक बार बरसन नाम के व्यक्ति उनके साथ मंदिर आया था वह भोजन ग्रहण करने बाद सो गया। कुछ देर बाद उन्हें उठाया गया तो उनके हाथ पैर बिल्कुल ठंडा हो गया था इससे वहां उपस्थित बाकी लोग चिंता में पड़ गए और माता की आराधना करने लगे। तब माता के नाम से एक नींबू काटा गया और नींबू के रस उसके मुंह में डाला गया। जिसके बाद  माता की कृपा से वह व्यक्ति बोलनने लगा और इस तरह से माता के चमत्कार को देखकर इनकी श्रद्धा बढ़ गई।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804