GLIBS
14-01-2021
व्यवस्थित नगर विकास योजना से मिलेगी पर्याप्त सुविधा, सरकार ने समिति का किया गठन

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने तिल्दा-नेवरा विकास योजना प्रारूप के लिए गठित समिति के सदस्यों के साथ विस्तृत चर्चा की। कलेक्टर ने बताया कि प्रस्तावित तिल्दा-नेवरा विकास योजना का प्रारूप आगामी वर्ष 2031 को ध्यान में रखकर किया जाना है। इसके लिए सुव्यवस्थित अधोसरंचना, पेयजल, उद्योगों का विकास, पर्यावरण की सुरक्षा, मनोरंजन के साधन, खेलकूद के लिए पर्याप्त जगह आदि को ध्यान में रखकर किया जाएगा। लोगों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने के लिए पर्याप्त अधोसरंचना का प्रावधान किया जाएगा। दीर्घकालीन पर्यावरणीय और उद्योग आधारित सामाजिक-आर्थिक गतिविधियों में सुधार कर क्षेत्र की भावी आवश्यकताओं की पूर्ति करने वाले केंद्र के रूप में तिल्दा-नेवरा निवेश क्षेत्र का विकास किया जाएगा। राज्य शासन की ओर से तिल्दा-नेवरा निवेश क्षेत्र की विकास योजना तैयार करने के लिए समिति गठित की गई है। तिल्दा-नेवरा निवेश क्षेत्र के उत्तर में ग्राम बिलाड़ी और खपरीकला ग्राम की उत्तरी सीमा, पश्चिम में ग्राम टंडवा, भुरसुदा,परसदा व बिलाड़ी ग्राम की पश्चिमी सीमा तक, दक्षिण में ग्राम सिरवे, बहेसर,कुंदरू और टंडवा ग्राम की दक्षिणी सीमा तक और पूर्व में ग्राम खपरीकला, सिनोधा, नेवरा, कोहका और सिरवे ग्राम की पूर्वी सीमा तक निर्धारित की गई है। बैठक में समिति के सदस्य और नगर एवं ग्रामीण निवेश विभाग के संयुक्त संचालक उपस्थित थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804