GLIBS
14-01-2021
एक ही शटडाउन में निगम ने निपटाए कई काम, गर्मी का लक्ष्य तय कर काम जारी ताकि न हो पानी की समस्या

रायपुर। अमृत मिशन रायपुर जलआवर्धन योजना (फेस-1) का आटोमेशन का कार्य किया जा रहा है। इसके अंतर्गत 80 एमएलडी. इंटेकवेल और डब्ल्यूटीपी में 11 और 12 जनवरी को शटडाउन लिया गया। इंटेकवेल में 1000 एमएम व्यास का इलेक्ट्रोमेग्नेटिक फ्लो मीटर स्थापित किया गया है। इससे 80 एमएलडी इंटेकवेल से प्राप्त होने वाले राॅ वाॅटर की मात्रा का रीयल टाइम मेसरमेंट लिया जा सकेगा। नगर निगम रायपुर के मुख्य अभियंता जल आरके चौबे ने बताया कि इसी प्रकार 80 एमएलडी डब्ल्यूटीपी में भी क्लीयर वाॅटर राईजिंग मेंन में 1200 एमएम व्यास का इलेक्ट्रोमेग्नेटिक फ्लो मीटर स्थापित किया गया है। दोनों इलेक्ट्रोमेग्नेटिक फ्लो मीटर की माॅनिटरिंग और कंट्रोलिंग वायरलेस कम्यूनिकेशन सिस्टम, आरटीडब्ल्यू के माध्यम से फिल्टर प्लांट में स्थित मास्टर कंट्रोल रूम में पीएलसी स्काडा के माध्यम से किया जाएगा। शटडाउन में 80 एमएलडी डब्ल्यूटीपी में नवीन स्थापित 6 नग सेन्ट्रीफ्यूगल पंप के एनआरव्ही और बटर फ्लाई वाल्व स्थापित किया गया। प्रेशर ट्रांस्डयूसर और एक्युएटर को भी स्थापित किया गया है। इससे क्लीयर वाॅटर पम्पिंग सिस्टम की माॅनिटरिंग और कंट्रोलिंग पीएलसी स्काडा के माध्यम से किया जाना संभव हो गया है। शटडाउन में 80 एमएलडी के समस्त पम्पों का नवीनीकरण किया गया है। इससे क्लीयर वाॅटर की कमी समाप्त हो सकेगी।

80 एमएलडी फिल्टर प्लांट के इंटेकवेल में राॅ वाटर 750 एमएम व्यास के पीएसी पाइप लाइन को एमएस स्टील से नया बदलने का कार्य, खारून में राॅ वाॅटर 750 एमएमव्यास पाइप का कार्य किया गया। 80 एमएलडी फिल्टर प्लांट के एरेटर चैनल, फ्लाक्कुलेटर, फिल्टर बेड इत्यादि का सफाई और डिसइंसफेक्सन, पेंटिग और मोटर पंप इत्यादि का मेटेंनेस कार्य, 1600 केवीए सबस्टेशन ट्रांसफार्मर का मेटेंनेस, आईल फिल्ट्रेशन, आईल टाॅपअप का कार्य, फिल्टर बेड में लिकेज का वाॅटर प्रूफिंग का कार्य किया गया है। एक ही शटडाउन में अनेक कार्यों को नगर पालिक निगम, आईएचपी, पीडीएमसी, रायपुर स्मार्ट सिटी के इंजीनियर्स और सहयोगी एजेंसीस व जलशोधन संयंत्र के कर्मचारियों ने उक्त कार्य को सफलता पूर्वक संपन्न किया। जलप्रदाय में अमृत मिशन फेस-1 के आटोमेशन का प्रथम चरण एक ओर जहां पूर्ण हुआ। वहीं जलशोधन सयंत्र के अनेक संधारण कार्यों को संपन्न किया गया। भविष्य में आटोमेशन के शेष कार्यों को शीघ्र पूर्ण किया जाकर जलप्रदाय में आधुनिकीकरण का यह सोपान पूर्ण करने का लक्ष्य है। शुद्ध जल पंपो में एक्युरेटर्स व वाल्व की स्थापना से पम्पों का सफलतपूर्वक संचालन सुलभ हो सकेगा। जलप्रदाय का मापन वैज्ञानिक तरीके से संभव होगा। साथ ही अनेक लंबित संधारण कार्यो को पूर्ण करने से आगामी ग्रीष्मकाल में सतत् जलप्रदाय किए जाने को लक्षित कर ग्रीष्मकालीन अवधि के पूर्व ही इन महत्वपूर्ण कार्यों को पूर्ण किया गया, ताकि ग्रीष्मकाल में सतत् जलप्रदाय संभव हो सके।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804