GLIBS
22-08-2020
शैलेश नितिन के बयान पर भाजपा का पलटवार, कहा राजनीति छोड़ परमात्मा से डरिए अपने मुखिया से झीरम के सबूत निकालने कहिए

रायपुर। भरतीय जनता पार्टी के युवा नेता उमेश घोरमोड़े ने कांग्रेस संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी के बयान पर पलटवार किया हैं। उन्होंने कहा कि परमात्मा को मानने,आत्म चिंतन करने और परमात्मा से डरने की आवश्यकता कांग्रेस को है। भाजयुमो नेता उमेश घोरमोड़े ने कहा कि कांग्रेस को यदि झीरम में शहीद हुए अपने नेताओं और उनके परिजनों की चिंता होती तो जेब में रखा सबूत निकालने अपने मुखिया से कहते। अब तो उनकी अपनी सत्ता है तो फिर जेब में रखे झीरम के वे तमाम सबूत आयोग को देने में वे आनाकानी क्यों कर रहे हैं? झीरम की जांच को किसी निर्णायक निष्कर्ष तक पहुंचाने में अंतर आत्मा की उदासीनता का मकसद क्या है? उन्होंने कहा कि राजनीति छोड़ परमात्मा से डरिए अपने मुखिया से सबूत निकालने कहिए।

भाजपा युवा नेता उमेश घोरमोड़े ने कहा कि वादा खिलाफी कर छत्तीसगढ़ प्रदेश की माताओं, बहनों, युवाओं, बुजुर्गों और किसान भाइयों की आत्मा दुखाने वाले कांग्रेस के मित्रों को वादाखिलाफी के लिए परमात्मा से डरने और छत्तीसगढ़ प्रदेश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि 18 महीनों में ही प्रदेश अपराध का गढ़ बन गया हैं, महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। रेत माफिया, शराब माफिया और सरकार की लचर व्यवस्था व नीतियों के चलते जमीन माफिया का राज चल रहा है। किसानों को किश्तों में न्याय के नाम पर ठगने वाली सरकार प्रदेश के किसान पुत्रों को रोजगार के नाम पर कभी शिक्षक भर्ती, कभी पुलिस भर्ती तो कभी एसआई भर्ती को लटका कर छल रही हैं। नवजवान जब अपनी मेहनत से रोजगार हासिल भी कर ले तब भी उनके वेतन में कटौती करने से भी नहीं चुकने वाली प्रदेश सरकार परमात्मा से डरने और आत्म चिंतन करने के बजाए डॉ. रमन सिंह पर आरोप लगा कर जनता को मूल विषय से भटकाना चाहती हैं। उन्होंने कांग्रेस से सवाल किया कि मूल मुद्दों से भटकाने डॉ. रमन सिंह पर आरोप लगा कर आज अपनी राजनीति चमका रहे हो पर क्या कभी पूछा है अपनी अंतर आत्मा से की कल झीरम में शहीद प्रदेश के नेताओं के परिजनो से कैसे नजर मिला पाओगे? कैसे प्रदेश की जनता के बीच जाओगे?और अंत में हम सभी को परमात्मा के पास जाना ही है तब परमात्मा को क्या जवाब दोगे?

02-08-2020
राज्यपाल बहन को मुख्यमंत्री भाई की चिट्ठी : आपका संरक्षण हमारा सौभाग्य

रायपुर। प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्यपाल अनुसुईया उइके की ओर से रक्षाबंधन पर्व पर भेजी गई राखी मिलने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा है कि रक्षाबंधन और भुजलिया पर्व के अवसर पर आपने मुझे स्नेह, आर्शीवाद तथा राखी भेजकर जो विश्वास व्यक्त किया है, वह मेरे लिए अत्यंत प्रसन्नता तथा सम्मान का विषय है। बघेल ने बहन उइके को रक्षाबंधन पर्व की परंपरा अनुरूप भाई की तरफ से शुभकामनाओं सहित उन्हें नगद राशि और साड़ी उपहार में भेजी है। मुख्यमंत्री बघेल ने बहन उइके को लिखे पत्र में कहा है कि रक्षाबंधन का यह पर्व हमारे पारिवारिक संबंधों को नए शिखर पर पहुंचाने का माध्यम बना है। आपका संरक्षण मेरे और राज्य के लिए सौभाग्य का विषय है। मुख्यमंत्री के रूप में अपने दायित्वों का निर्वहन करने, कोरोना महामारी से निपटने और प्रदेश को प्रगति के पथ पर आगे ले जाने के लिए आपने मेरा जो उत्साहवर्धन किया है, उसके लिए मैं सदैव आपका आभारी रहूूंगा।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि यह पावन पर्व हमारी महान संस्कृति के गरिमामय उत्कर्ष का प्रतीक भी है, जो बहनों के प्रति भाईयों के संकल्पों को सुदृढ़ बनाता है। आपने उत्तरदायित्वों के प्रति सजग करते हुए मुझे जो शुभकामनाएं प्रेषित की है, उसके लिए मैं कृतज्ञता व्यक्त करता हूं तथा आपको विश्वास दिलाता हूं कि आपकी भावनाओं के अनुरूप अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह पूरी निष्ठा तथा परिश्रम से करूंगा।

22-07-2020
मुख्यमंत्री ने बिसाहूदास महंत की पुण्यतिथि पर किया नमन

रायपुर। प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्व.बिसाहूदास महन्त की 23 जुलाई को पुण्यतिथि पर उन्हें स्मरण करते हुए नमन किया है। मुख्यमंत्री ने महन्त को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा है कि उनका पूरा जीवन जनसेवा से जुड़ा रहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के साथ-साथ सफल राजनेता के रूप में उनकी छवि रही है। बिसाहूदास महन्त ने अविभाजित मध्यप्रदेश में विधायक तथा मंत्री के रूप में प्रदेश के विकास के लिए अपनी अमूल्य सेवाएं दी है। उन्होंने क्षेत्र में खेती-किसानी, सिंचाई तथा सड़कों के माध्यम से लोगों की बेहतरी के लिए कार्यों को बखूबी अंजाम दिया। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि स्व.महन्त के बताये जनकल्याण के मार्ग पर चलकर प्रदेश में विकास को नये आयाम देने की दिशा में कार्य किए जा रहे हैं।

 

 

13-05-2020
प्रवासी मजदूरों की वापसी कराना वर्तमान हालात में सच्ची मानव सेवा : घनश्याम राजू तिवारी 

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस कमेटी वरिष्ठ प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल का आभार व्यक्त किया है। तिवारी ने कहा है कि प्रवासी मजदूरों की वापसी के लिए उठाए गए कदम वर्तमान हालात में सच्ची मानव सेवा है। छत्तीसगढ़ के 2 लाख 20 हजार 197 प्रवासी श्रमिक और छात्र, तीर्थयात्री, पर्यटक व अन्य लोगों को की देश के राज्यों में होने की सूचना मिलने पर समस्याओं का त्वरित निदान किया गया। उनके लिए भोजन, राशन, नगद, नियोजकों से वेतन और रहने व चिकित्सा आदि की व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है। राज्य सरकार की ओर से श्रम विभाग के अधिकारियों का दल गठित कर विभिन्न औद्योगिक समस्याओं नियोजकों और प्रबंधकों से समन्वय कर राशन और नगद आदि की व्यवस्था भी की जा रही है। इनमें 26 हजार 102 श्रमिकों को 34 करोड़ 61 लाख 51 हजार 267 रुपए बकाया वेतन का भुगतान कराया गया है। लॉक डाउन के द्वितीय चरण में 21 अप्रैल से शासन ने छूट प्रदत गतिविधियों और औद्योगिक क्षेत्रों में लगभग 94 हजार 15 श्रमिकों को पुन: रोजगार उपलब्ध कराया है। छोटे-बड़े 12 सौ 34 कारखानों में पुन: कार्य प्रारंभ हो गया है।

19-01-2020
छत्तीसगढ़ी कलेवा तिहार फरवरी में, व्यंजनों का होगा प्रचार

रायपुर। फरवरी माह में होने वाले छत्तीसगढ़ी कलेवा तिहार 2020 के संदर्भ में मंगलवार 21 जनवरी को दूधाधारी मठ सत्संग भवन में बैठक होगी। इस बैठक में विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि तथा अन्य नागरिक उपस्थित रहेंगे। बैठक में सभी जन-प्रतिनिधियों, समाज के मुखिया तथा गणमान्य नागरिकों से आयोजन को ऐतिहासिक तथा सफल बनाने के टिप्स लिए जाएंगे। तिहार के सामाजिक संपर्क प्रभारी माधव लाल यादव ने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य में खान-पान की अति विकसित वैज्ञानिक परंपरा रही है। छत्तीसगढ़ी व्यंजनों के प्रचार-प्रसार के लिए प्रदेश की सरकार ने विशेष अभियान चलाया और व्यजनों का व्यापक प्रचार हुआ। इसी प्रकार छत्तीसगढ़ी थाली जो अपने आप में पौष्टिकता से परिपूर्ण होने के बावजूद घर से बाहर उपलब्ध नहीं होती है। छत्तीसगढ़ राज्य की थाली को परिभाषित व प्रचारित करने के लिए छत्तीसगढ़ी कलेवा तिहार 2020 का विशेष रूप से आयोजन किया जा रहा है। आयोजन में देश-विदेश से प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जा रहा है जिससे छत्तीसगढ़ में प्रचलित विविध व्यंजनों का दुनिया भर में प्रचार हो।

14-10-2019
'आप' के प्रदेशाध्यक्ष ने कहा- फांसी हो जाए लेकिन साथ में रखूंगा फरसा  

चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद ने फरसा रखकर चुनाव आयोग के नोटिस पर उल्टा सवाल खड़ा कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि ये फरसा मैंने आत्मरक्षा के लिए अपने साथ रखा हुआ है। आयोग चाहे फांसी लगा दे, फरसा साथ ही रखूंगा। क्या कानून व संविधान की पालना चुनाव के दौरान अलग-अलग होती है? भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को जब लाठी भेंट की गई, मुख्यमंत्री को जब गदा भेंट की गई व अन्य भाजपा नेताओं को गदा, फरसे, तलवार भेंट करने पर आयोग ने संज्ञान क्यों नहीं लिया? आयोग को मेरा फरसा ही क्यों दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा कि मेरा मकसद लोगों को ये दिखाना है कि प्रदेश के मुखिया सत्ता के नशे में हैं। मेरा फरसा रखने का मतलब सिर्फ  दिखाने के लिए है लोगों की गर्दन काटने के लिए नहीं। ये लोगों को बचाने के लिए है। ये फरसा एक जगह नहीं, बल्कि हर जगह मैं साथ रखता हूं। फरसा एक धार्मिक चिन्ह है।
चुनाव आयोग के लिए अगर फरसा शस्त्र है तो गदा भी तो शस्त्र है, भीम ने दुर्योधन को गदा से ही मारा था। जिस तरह भीम अपने साथ गदा रखते थे वैसे ही भगवान परशुराम भी अपने साथ फरसा रखते थे, जो किसी की गर्दन काटने के लिए नहीं, बल्कि पापियों से बचने के लिए होता था। उन्होंने कहा कि फरसा किसी भी रिकॉर्ड में हथियार के रूप में दर्ज नहीं है। आयोग भाजपा नेताओं पर भी कार्रवाई की हिम्मत करके दिखाए।  

20-08-2019
देवेन्द्र नगर चौक पर अपने मुखिया को देखकर लोगों की धीमी हुई रफ्तार, जानें क्या थी वजह  

 रायपुर। शहर के देवेन्द्र नगर स्थित नमस्ते चौक पर आमतौर पर विधायक (रायपुर उत्तर) कुलदीप जुनेजा को देखकर लोगों की रफ्तार धीमी होती है लेकिन मंगलवार सुबह यहां नजारा कुछ और ही था। यहां अक्सर लोग विधायक जुनेजा से मिलने उनकी चौपाल में पहुंचते हैं, रूकते हैं लेकिन आज यहां अपने मुखिया भूपेश बघेल को चाय की चुस्कियां लेते देख लोगों की रफ्तार धीमी हुई। यहां से गुजरने वाला हर एक व्यक्ति रूकने को मजबूर हो गया। 
दरअसल आज सुबह मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सद्भावना दौड़ के बाद देवेन्द्र नगर टर्निंग पाइंट चौक पर  पहुंचे। यहां उन्होंने चाय की चुस्कियां ली। इस दौरान प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, मंत्री शिव डहरिया, विधायक सत्यनारायण शर्मा, विधायक कुलदीप जुनेजा, विधायक विकास उपाध्याय, पूर्व महापौर किरणमयी नायक सहित कई कांग्रेसजन यहां उपस्थित थे। व्यस्तता के बीच निकले इन कुछ पलों में किस्से-कहानियों का दौर भी दिग्गजों के बीच चला।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804