GLIBS
23-01-2021
फरसगांव में मिले तीन मृत पक्षी, पशु चिकित्सा विभाग ने जांच के लिए भेजा सैंपल

रायपुर/कोण्डागांव। जिले के नगर पंचायत फरसगांव क्षेत्र में तीन मृत पक्षी मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया है। थाना परिसर में एक कौआ मृत मिला है। वही नगर के बाजार स्थल के पास दो और मृत पक्षी मिले। इसमें एक कौआ व एक उल्लू शामिल है। सूचना के बाद पशु चिकित्सिक मृत पक्षियों के सैंपल लेकर जांच के लिए रवाना हो गए हैं। मिली जानकारी के मुताबिक फरसगांव क्षेत्र के बाजार स्थल में दो मृत पक्षी जिसमें एक उल्लू और एक कौआ मृत अवस्था में मिले। इसकी सूचना पशु चिकित्सा विभाग को दी गई। पशु विभाग की टीम ने मौके पर पंहुचकर मृत पक्षियों को सुरक्षित अपने कब्जे में लिया है। साथ ही जांच के लिए भेजा गया है। गौरतलब है कि इन दिनों दंतेवाड़ा एवं जगदलपुर में हुई कौवे की मौत बर्ड फ्लू से होने की पुष्टि हो चुकी है। नगर पंचायत सीएमओ ने नागरिकों से मृत पक्षियों से दूर रहने एवं मृत पक्षी देखने पर तत्काल पशु चिकित्सा विभाग या नगर पंचायत में इसकी सूचना देने की अपील करते हुए सावधानी बरतने की सलाह दी है। साथ ही उन्होंने नागरिकों से अफवाहों से भी बचने का भी आह्वान किया है। फरसगांव के पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. चित्रलेखा देव ने बताया कि सभी सूचना पर उनकी टीम ने मौके पर मृत पक्षियों के सैंपल ले लिए गए हैं। इसमें बाजार स्थल के पास दो पक्षी मृत की जानकारी मिली और वही थाना परिसर में भी एक मृत पक्षी की जानाकारी मिली जहा हमारी टीम द्वारा प्रारंभिक जांच में किसी में भी बर्ड फ्लू के लक्षण नहीं मिले हैं, फिर भी जांच के लिए सैंपल भेजे जाएंगे।

11-01-2021
शराब दुकान के पास मृत अवस्था में मिला कौआ, पीएम रिपोर्ट का इन्तजार, बर्ड फ्लू की अफवाह या सच्चाई 

जशपुर। जिले के बगीचा अंग्रेजी शराब दुकान के पास एक एक कौआ के मृत अवस्था मे मिलने से सनसनी फ़ैल गई है। कौआ की मौत को लोग बर्ड फ़्लू जैसे गंभीर बीमारी से जोड़कर देख रहें हैं । मृत कौआ के शरीर पर किसी जख्म के कोई निशान मौजूद नहीं हैं । वहीं मौके पर पशु चिकित्सा विभाग की टीम पहुँच चुकी हैं । अब जाँच के बाद ही स्पष्ट होगा कि कौआ के मौत के पीछे कारण क्या है। जिले मे कौआ के मौत का  यह पहला मामला हैं । वहीं मामले मे पशु चिकित्सा विभाग के चिकित्सक उमेश किंडो ने बताया की मृत कौआ की बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया हैं । रिपोर्ट आने के बाद ही कौआ के मरने  का कारण स्पष्ट हो जाएगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804