GLIBS
07-10-2019
अब मणिपुर में लोग बना सकेंगे सात मंजिला इमारत, सरकार ने दी मंजूरी

इंफाल। मणिपुर सरकार ने इंफाल नगर निगम की सीमा में सात मंजिल तक भवनों के निर्माण की अनुमति दे दी है। इससे पहले यहां पर केवल तीन मंजिला इमारत बनाने की मंजूरी थी। नगर प्रशासन, आवास और शहरी विकास विभाग मंत्री थुनोजम श्यामकुमार सिंह ने कहा है कि इस फैसले को विशेषज्ञों और वास्तुकारों से उचित परामर्श के बाद लिया गया है। उन्होंने कहा कि यह फैसला शहर के बाहरी इलाके की कृषि भूमि पर पड़ रहे दबाव से राहत दिलाने के लिए जरूरी था। शिवकुमार ने कहा कि परमिट हासिल करने के बाद अब सात मंजिला इमारतें आईएमसी सीमा में बनाई जा सकती हैं। आईएमसी इंफाल पूर्व और पश्चिम जिलों के लगभग 34.48 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। मंत्री ने बिल्डरों से निर्माण के दौरान सभी सुरक्षा प्रक्रियाओं और कानूनों का पालन करने का आग्रह किया क्योंकि मणिपुर भूकंपीय क्षेत्र में आता है। पिछले एक साल के अंदर राज्य में लगभग 32 भूकंप दर्ज किए गए हैं। 2016 में मणिपुर में 6.7 की तीव्रता वाला भूकंप आया था जिसमें छह लोगों की मौत हो गई थी और कई इमारतों को नुकसान पहुंचा था। अधिकारियों का कहना है कि सात मंजिला इमारतों को भूकंप प्रतिरोधी बनाना होगा। वहीं पहले से निर्मित इमारतों के डिजाइन को भूकंपीय क्षेत्र में निर्माण के संबंध में स्थापित मानदंडों के अनुरूप खुद में बदलाव करने होंगे। उन्होंने कहा कि भवनों के डिजाइन को पंजीकृत संरचनात्मक इंजीनियरों द्वारा अनुमोदन कराना होगा।

15-04-2019
मणिपुर व मिजोरम में भीषण आंधी-बारिश से कई घर तबाह, तीन की मौत 

इंफाल। मणिपुर और मिजोरम में सोमवार को आई भीषण आंधी और बारिश ने कई घरों को पूरी तरह तबाह कर दिया है। बेमौसम आई इस मुसीबत की मार से तीन लोगों की मौत हो गई है। जानकारी के अनुसार रविवार से ही पूर्वोत्तर में मौसम का रूप अचानक बदल गया है और इसके बाद कई राज्यों में तेज हवाओं के साथ ओले भी गिरे हैं। बदले हुए मौसम का यह हाल सोमवार को मध्यप्रदेश समेत कई राज्यों में नजर आया। मिजोरम में जहां कोलासिब के गांव वैरग्टे में तूफान की वजह से 20 घर तबाह हो गए हैं वहीं मणिपुर में राज्य के काकचिंग और चुराचंदपुर में तूफान की वजह से तीन महिलाओं के मारे जाने की खबर है वहीं कई घरों को नुकसान पहुंचा है।  तूफान रुकने के बाद राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है।

 

 

12-02-2019
नागरिकता संशोधन बिल : मणिपुर में हिंसा के बाद कर्फ्यू, 5 दिन के लिए इंटरनेट सेवा बंद 

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन विधेयक पर बवाल जारी है। आज मणिपुर में इसको लेकर हिंसा भड़क गई। कई जगहों पर आगजनी और तोड़फोड़ की घटनाएं सामने आई हैं। हालात बेकाबू होता देख यहां कर्फ्यू लगा दिया गया है। प्र्रशासन ने पांच दिन के लिए इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

असम, अरुणाचल. त्रिपुरा समेत पूरे नॉर्थ ईस्ट में नागरिकता बिल पर विरोध जारी है।

राज्यसभा में बिल नहीं हुआ पेश :

12 फरवरी को राज्यसभा में नागरिकता संसोधन विधेयक पेश होना था लेकिन विपक्ष के हंगामे के चलते नागरिकता संशोधन विधेयक मंगलवार को भी पेश नहीं हो पाया। यह बिल जनवरी में लोकसभा से पारित हो गया था।

मणिपुर में पहले भी हो चुके हैं हमले :

2015 में राज्य में प्रवासियों की बढ़ती संख्या पर लगाम लगाने और कड़े कानून की मांग को लेकर निकाले गए जुलूस के दौरान पुलिस की गोली से एक छात्र की मौत हो गई थी, जिसके बाद हिंसा भड़क उठी थी। इस दौरान भी कर्फ्यू लगाया गया था। इससे पहले 2016 में मणिपुर की राजधानी इंफाल में हिंसा भड़कने के बाद अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगा दिया गया था प्रदर्शनकारियों ने राज्य में जारी आर्थिक गतिरोध और आतंकी हमले को लेकर विरोध प्रदर्शन किया था।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804