GLIBS
शिवराज पर जयवर्धन का पलटवार, बोले- मामा जी 2 हजार का नोट षड्यंत्र से गायब नहीं हुआ

भोपाल। शाजापुर में आयोजित किसान महासम्मेलन में सीएम शिवराज सिंह ने बाजारों से 2 हजार रुपए के नोट गायब होने पर षड्यंत्र की आशंका जताई थी। इसके जवाब में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पुत्र विधायक जयवर्धन सिंह मैदान में उतर आए हैं।

उन्होंने सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर सीएम शिवराज सिंह पर कटाक्ष करते हुए लिखा कि प्रिय मामाजी संभालो अपने आप को 2 हजार का नोट षड्यंत्र से गायब नहीं हुआ। आरबीआई ने प्रिंटिंग बंद कर दी और उन्हें वापस डिमोनेटाइज कर रही है। उल्लेखनीय है कि सोमवार 16 अप्रैल को शाजापुर में आयोजित किसान महासम्मेलन में सीएम शिवराज सिंह ने बाजार से 2 हजार का नोट गायब होने को लेकर षड्यंत्र की आशंका जाहिर कर कांग्रेस पर हमला किया था।

कल से 3 दिवसीय मप्र के दौरे पर रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह

भोपाल। राजनीति के चाणक्य मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह मंगलवार से मध्य प्रदेश के तीन दिवसीय प्रवास पर रहेंगे वह यहां ग्वालियर में दिवंगत कांग्रेस नेता को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे और यहां से इंदौर के लिए रवाना होंगे। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव, पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद दिग्विजय सिंह 17 अप्रैल मंगलवार को दिल्ली से विशेष विमान द्वारा सुबह 8:15 पर रवाना होंगे व 9:10 बजे ग्वालियर पहुचेंगे और वहाँ कांग्रेस नेता अशोक सिंह के पिता पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह जी के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करने जाएँगे। ग्वालियर से विशेष विमान से सुबह 10:50 बजे रवाना होकर दोपहर 12 बजे इंदौर एयरपोर्ट पहुँचेंगे। यहां पर दिनभर विभिन्न स्थानीय कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे और स्थानीय नेताओं व कार्यकर्ताओं से भेंट कर रात्रि विश्राम इंदौर में ही करेंगे। अगले दिन दिनांक 18 अप्रैल बुधवार को दिनभर स्थानीय कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे और स्थानीय नेताओं व कार्यकर्ताओं से भेंट कर रात्रि विश्राम इंदौर में ही करेंगे। 19 अप्रैल गुरुवार को इंडिगो एयरलाइन्स की नियमित फ्लाइट से सुबह 9:40 पर दिल्ली के लिए रवाना हो जायेंगे। नर्मदा परिक्रमा पदयात्रा संपुर्ण करने के बाद दिग्विजय सिंह का यह पहला मध्यप्रदेश दौरा होगा।

कार्यकर्ता जुट जाएं तैयारी में, खत्म होने वाला हैं 15 साल का वनवास  : जयवर्धन सिंह

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पुत्र और राधौगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह ने कहा है कि अबकी बार मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। 15 साल का वनवास अब की बार बड़ी जीत के साथ खत्म होगा।जयवर्धन सिंह अपने देवास दौरे पर पहुंचे थे। यहां उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक में बोलते हुये भाजपा सरकार पर जमकर प्रहार किये। उन्होंने कहा कि यह सरकार तो अब मामा की जुमलेबाजी में उलझ गयी है। बस घोषणाओं के जुमले हो रहे है, धरातल पर कुछ भी नहीं। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि आप फिल्ड में उतर जाये और घर-घर कांग्रेस की रीति नीतियों को पहुंचाने कड़ी मेहनत करें, क्योंकि अबकी बार कांग्रेस की सरकार पूरे बहुमत के साथ बनने जा रही है। 15 साल का वनवास बड़ी जीत के खत्म होगा। उन्होंने कहा कि हम सभी का फर्ज है कि बड़ी जीत के लिए प्राणप्रण से एकजुट होकर काम करें। जयवर्धन सिंह ने कहा कि कांग्रेस की जीत आम आदमी की जीत होगी। जनता इस सरकार से तंग आ चुकी है। सिर्फ घोषणाओं और जुमलेबाजी के सिवा अब मामाजी के पास कुछ नहीं। जनता के सामने इस सरकार का भांडा फूट चुका है। राज्य आम चुनावों में कांग्रेस की एकतरफा बड़ी जीत होगी। बैठक में देवास कांग्रेस के सभी नेता और कार्यकर्ता भी उपस्थित थे।

3100 किलोमीटर पैदल चलने के बाद 9 अप्रैल को होगा दिग्गी राजा की नर्मदा परिक्रमा यात्रा का समापन

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कद्दावर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह द्वारा की जा रही नर्मदा परिक्रमा यात्रा का 9 अप्रैल को समापन होगा। ज्ञात हो की पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा यात्रा का शुभारंभ पिछले साल 30 सितम्बर 2017 से शुरू हुआ था। जिसका सपत्नीक अमृता सिंह के साथ इस पैदल नर्मदा परिक्रमा का 9 अप्रैल 2018 को शारदा मंदिर, रेत घाट, बरमान खुर्द, जिला नरसिंहपुर में समापन होगा। दिग्विजय सिंह की इस पैदल परिक्रमा में 9 अप्रैल तक 3100 किलोमीटर की दूरी तय होगी। पैदल परिक्रमा पूरी होने पर श्री सिंह अपने साथ चल रहे सभी परिक्रमावासियों के साथ 9 अप्रेल 2018 की रात्रि में ही सड़क मार्ग से हरदा होते हुए ओंकारेश्वर पहुंचेंगे जहां रात्रि विश्राम करके 10 अप्रैल की सुबह ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग पर जलाभिषेक करेंगे। इसके साथ श्री सिंह का 20 साल पूर्व किया गया नर्मदा परिक्रमा का संकल्प पूरा हो जाएगा।

ईश्वर की परिक्रमा तो पैदल होती है, आलीशान गाड़ियों से तो पर्यटन ही हो सकता है: जयवर्द्धन 
दिग्विजय के बेटे जयवर्धन सिंह ने की अपने पिता और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की नर्मदा यात्रा की तुलना
दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शामिल हुए भूपेश और सिंहदेव

रायपुर। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शुक्रवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल शामिल हुए। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव भी मौजूद थे। दिग्विजय सिंह और भूपेश बघेल ने मिरिया पुष्प राजगढ़ तक यात्रा की।  बघेल शुक्रवार को ही देर शाम तक रायपुर लौट आएंगे। इसके अलावा पीसीसी सचिव शिवसिंह ठाकुर, अजय साहू सहित बड़ी संख्या में दुर्ग, रायपुर और बिलासुपर से कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता भी नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शामिल हुए। आपको बता दें कि इसके पहले भी नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, विधायक सत्यनारायण शर्मा सहित कांग्रेस के दिग्गज नेता भी दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शामिल हो चुके हैं। 


 

नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शामिल हुए कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया

रायपुर। कांग्रेस के पूर्व महासचिव और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह नर्मदा परिक्रमा यात्रा निकाल रहे हैं। इस यात्रा में लगातार कांग्रेस के नेता शामिल हो रहे हैं। पिछले दिनों छत्तीसगढ़ के नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव अपने भाई और बहन के साथ यात्रा में शामिल हुए थे। इसी कड़ी में अब कांग्रेस के राष्ट्रीय महामंत्री और मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया सोमवार को यात्रा में शामिल हुए। उनके साथ कांग्रेस विधायक एवं दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन सिंह भी शामिल थे।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पोते सहस्त्रजय सिंह की राजनीतिक ट्रेनिंग शुरू

भोपाल। राजनीति में अक्सर देखने में आता है जो काम पूर्वजों ने किया वही बाद की पीढ़ी भी करती है कुछ ऐसा ही नजारा बुधवार को देखने को मिला जब राधौगढ़ नगरपालिका के चुनाव में वोट डालने पहुंचे  विधायक जयवर्धन सिंह के गोद में अपना पुत्र सहस्त्रजय सिंह भी था, जिसने भी यह नजारा देखा सब यही सोचते हुए नजर आए के दादा,काका,पापा चाचा के बाद सहस्त्रजय सिंह भी आगे चलकर राजनीति में ही अपना दावपेच दिखाएंगे। पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह अपनी पत्नी के साथ नर्मदा परिक्रमा की यात्रा पर है और यह यात्रा 111 दिन का समय पूरा कर अभी प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिला सीहोर में चल रही है। राजनीति के गलियारे से देखा जाए तो राजनीति में नेताओं के पुत्र अक्सर अपने पिता की विरासत संभालते हैं। पिता उंगली पकड़कर उन्हे राजनीति में चलना सिखाते हैं परंतु पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के पोते सहस्त्रजय सिंह तो अपने पिता व राघौगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह की गोद में बैठकर राजनीति की पहली पाठशाला में पहुंच गए। सहस्त्रजय सिंह जिनकी उम्र महज करीब डेढ़ वर्ष है और अगर देखा जाए तो अभी इनको राजनीति की समझ नहीं है राजनीति क्या दुनिया के किसी भी काम की समझ नहीं मगर आगे चलकर देखा जाए तो यही बच्चा एक युवा नेता के तौर पर उभर कर सामने आने वाला हैं। सहस्त्रजय सिंह के पिता एवं दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन सिंह राधौगढ़ के विधायक हैं। बुधवार को जब वो वोट डालने गए तो उनकी गोद में सहस्त्रजय सिंह भी थे। अपने गृह नगर राधौगढ़ में हुए नगर पालिका चुनाव में  मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बेटे और विधायक जयवर्धन सिंह अपनी धर्मपत्नी श्रीजम्या सिंह के साथ बुधवार को वोट डालने पहुंचे थे।उन्होंने अपने बेटे को गोद मे लेकर मतदान किया। अगर देखा जाए तो आने वाले समय में छुटके राजा साहब की उम्र प्ले स्कूल में दाखिला लेने की हैं मगर  सहस्त्रजय सिंह ने प्ले स्कूल में दाखिल लेने से पहले ही राजनीति की पाठशाला में कदम रख लिया। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बेटे जयवर्धन सिंह की शादी 19 मई 2015 को हुई थी। शादी के बाद होने वाले सह् भोज जिसको अब आम लैंग्वेज में रिसेप्शन कहा जाता है। वही यह आशीर्वाद समारोह पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने तीन चरणों में आयोजित किया था। जहां पहला रिसेप्शन दिल्ली में हुआ था जिसमे आशीर्वाद देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी,पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी,गृहमंत्री राजनाथ सिंह, आरजेडी प्रमुख लालू यादव,मुलायम सिंह यादव, शरद यादव,लालकृष्ण आडवाणी, अमर सिंह समेत कई हस्तियां पहुंची थी। उसके बाद दूसरा सहभोज भोपाल में हुआ था जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित भाजपा-कांग्रेस दिक्कत नेता सहित अन्य विभागों के अफसर व दिग्विजय सिंह के करीबी लोगों को इन्वाइट किया गया था। तीसरा और अंतिम आशीर्वाद समारोह अपने गृहनगर राधोगढ़ में आयोजित हुआ था यह भी राधौगढ़ की जनता ने जन सैलाब में पहुंचकर नव दंपति को अपने आशीर्वाद से नवाजा था।

अजीत जोगी की बुद्धि खराब हो गई थी, सद्बुद्धि मिलेगी तो वापस आ जाएंगे: दिग्विजय सिंह
राजधानी में राजनीतिक माहौल गर्म, कहा, जिन्होंने बाहर निकला वे ही लेंगे वापसी पर फैसला
गौहत्या के विरोध में कांग्रेस की पदयात्रा,  दिग्विजय सिंह होंगे शामिल

रायपुर। दुर्ग के शगुन गौशाला में गायों की मौत के विरोध में कांग्रेस पदयात्रा निकाल रही है। इस यात्रा के माध्यम से कांग्रेस गायों की रक्षा नहीं कर पाने के कारण प्रायश्चित करेगी। यह पदयात्रा 25 सितंबर को दूधाधारी मठ से शुरु होकर 27 सिंतबर को डोंगरगढ़ में समाप्त होगी। कांग्रेस के इस पदयात्रा में कामधेनू ट्रस्ट के लोग भी शामिल होंगे। छग कांग्रेस कमेटी के महासचिव गिरीश देवांगन इस यात्रा को रवाना करेंगे। कांग्रेस ने इस यात्रा का नाम गौ हत्या प्रायश्चित यात्रा रखा गया है। यात्रा के समापन के दौरान मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी शामिल होंगे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804
Visitor No.