GLIBS
शिवराज की 55 दिवसीय जन आशीर्वाद यात्रा हुई शुरू, अमित शाह ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

भोपाल। तीन बार से सत्ता का सुख भोगते आ रही भारतीय जनता पार्टी की शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली सरकार चौथी बार भी मध्य प्रदेश में सरकार बनाकर सत्ता का सुख भोगने के सपने देख रही है। उसी क्रम में हर बार की भांति इस बार भी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी जान आशीर्वाद यात्रा का शंखनाद आज उज्जैन से कर दिया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उससे पहले शिवराज सिंह चौहान अपनी पत्नी साधना सिंह चौहान के साथ उज्जैन पहुंचे और उन्होंने गर्भ ग्रह में जाकर भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना की साथ ही जन आशीर्वाद यात्रा को हरी झंडी दिखाने पहुंचे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी अपनी पत्नी के साथ बाबा महाकाल के दर पहुंचकर माथा टेका और पूजा अर्चना की।

आज से शुरू हुई जन आशीर्वाद यात्रा अगले 55 दिनों तक मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा में पहुंचेगी जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जनता से आशीर्वाद मांग कर फिर से सरकार बनाने के लिए जन आशीर्वाद प्राप्त करेंगे। पहले दिन यात्रा उज्जैन शहर के उत्तर विधानसभा क्षेत्र स्थित इंदिरानगर चौराहे पर विराम लेगी। दूसरे दिन बड़नगर से शुरू होकर बदनावर होते रतलाम पहुंचेगी। इस दौरान उज्जैन में केंद्र और राज्य के कई मंत्री भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश भर के आए हुए कार्यकर्ता मौजूद थे।

नानाखेड़ा स्टेडियम में हुई शिवराज-शाह की आमसभा-

महाकालेश्वर मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद शिवराज सिंह चौहान और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह उज्जैन के नानाखेड़ी स्टेडियम पहुंचे जहां पर मौजूद जनसमूह को संबोधित किया। आम सभा के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मौजूद जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा की कांग्रेस और हमारी भाजपा सरकार में फर्क है अब महिला सुरक्षा के साथ उन्हें स्थानीय निकायों और सरकारी सेवा में आरक्षण दिया और बच्चियों से दुष्कर्म के अपराधियों को फांसी की सजा का प्रावधान बनाने वाले विधेयक विस से सबसे पहले पारित किया।

इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और उनके कार्यकाल पर जमकर निशाना साधा। सीएम ने कहा कांग्रेस के मित्रों तुम्हारे राज में गरीब दर-दर की ठोकरें खाता था, लेकिन मोदी जी और शिवराज के राज में किसी गरीब को भटकने नहीं दिया जायेगा। हर गरीब के सिर पर पक्की छत होगी गुलाम मानसिकता के लोग क्या भारत को आगे लाने की कोशिश करेंगे। हमारी सोच और उनकी सोच में अंतर है। मासूम बेटियों के साथ दुराचार करने वाले नरपिशाचों को फांसी की सज़ा दिलाने का कानून हम लाए। बहनों बेटियों के कल्याण के लिए हमने अनेकों फैसले लिए।

जितने हिंदू धर्म के आतंकी पकड़ाएं सब संघ के कार्यकर्ता: दिग्विजय सिंह

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर आरएसएस पर निशाना साधा है। दिग्विजय ने कहा कि जितने भी हिंदू धर्म के आतंकवादी पकड़े गए हैं वे सब के सब संघ के कार्यकर्ता रहे हैं। मध्य प्रदेश में एकता यात्रा पर निकले दिग्विजय सिंह ने झाबुआ में कहा कि महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे भी आरएसएस का हिस्सा थे। उन्होंने कहा कि यह विचारधारा नफरत फैलाती है, नफरत हिंसा की ओर ले जाती है और हिंसा आतंकवाद की ओर ले जाती है। इससे पहले भी दिग्विजय सिंह आरएसएस पर निशाना साध चुके हैं। पिछले दिनों सागर में दिग्विजय सिंह ने कहा था कि मैंने हिंदू आतंकवाद नहीं, बल्कि संघी आंतकवाद की बात कही है। उन्होंने कहा कि मैंने कई मामले उठाए, जिसमें सजा भी हुई है। हिन्दू शब्द का जिक्र वेदों और पुराणों में भी नहीं है। दिग्विजय सिंह ने यह भी कहा था कि लोग मुझ पर आरोप लगाते हैं कि मैं मुस्लिम परस्त हूं और हिन्दू विरोधी हूं, मैं पूछना चाहता हूं कि एक भाजपा नेता ऐसा बता दे जिसने नर्मदा, ओंकारेश्वर और गोवर्धन परिक्रमा की हो या एकादशी का व्रत रखा हो। उन्होंने कहा कि मैंने जितनी धार्मिक यात्राएं की और हिन्दू धर्म का पालन किया उतना बीजेपी के एक भी नेता नही किया हैं।


रेत खदान को लेकर भी खड़े किए सवाल-

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने रेत खदान को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होने कहा कि रेत के अवैध उत्खनन में सोहागपुर के भाजपा विधायक के शामिल होने का आरोप लगाया है। इसके साथ ही उन्होंने प्रशासन,ठेकेदार और भाजपा नेताओं की पार्टनरशिप में चल रहे भ्रष्टाचार का भी आरोप लगाया है। वही उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज पर भी तंज कसा है।

ओरछा के राम राज मंदिर से दिग्विजय ने शुरू की अपनी राजनीतिक एकता यात्रा

भोपाल। नर्मदा परिक्रमा की यात्रा का एक लंबा सफर तय करने के बाद अब मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस समन्वय समिति के अध्यक्ष कद्दावर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ओरछा स्थित राम राज मंदिर से अपनी एकता यात्रा की शुरुआत कर दी है। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय के साथ उनकी पत्नी अमृता राय और कांग्रेस नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी भी शामिल हुए। सीएम की यह यात्रा दो जून तक चलेगी। दिग्विजय सिंह ने माना कि कांग्रेस पार्टी को एकता के सूत्र में पिरोना आज भी बड़ी चुनौती है जिसे उन्होंने अपनी एकता यात्रा के जरिए कबूल किया है।

वहीं, उन्होंने कहा कि इस बार विधानसभा चुनावों में मुख्य मुद्दा किसानों का रहेगा। इससे पहले जबलपुर के कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष के घर पहुंचे पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने शिवराज  सरकार और मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला है। एक जून से बुलाए गए किसान आंदोलन को लेकर उन्होंने कहा कि पूरे देश में किसानों के साथ छलावा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसानों से 2000 रूपए प्रति क्विंटल गेहूं खरीदने का वादा किया गया। जो 1735 रुपए प्रति क्विंटल पर खरीदा जा रहा है।

वहीं, किसान आंदोलन को भड़काने में कांग्रेस का हाथ होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि एक साल पहले मंदसौर में जो किसानों को गोली मारी गई थी अभी तक इसकी जांच पूरी नहीं हो पाई है, अगर सरकार किसानों के साथ है तो जांच करवाकर दोषियों पर कार्रवाई करे। साथ ही आरएसएस के शिवरात्रि में स्वयंसेवकों को हथियारों की ट्रेनिंग के सवाल पर उन्होंने कहा कि अगर यह प्रशासनिक अनुमति लेकर किया जा रहा है तो ठीक है अन्यथा इसके खिलाफ जांच होनी चाहिए।

जनता की नब्ज टटोलने सीएम शिवराज 15 से निकलेंगे विकास यात्रा पर

भोपाल। मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार एक बार फिर विकास यात्रा के बहाने जनता की नब्ज टटोलने निकल रही है। इसके पहले शिवराज नर्मदा सेवा यात्रा के जरिए आम जनता तक पहुंचे थे जिसे पूरे एक साल हो चुके हैं। अब पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने जब नर्मदा की परिक्रमा की और नर्मदा के किनारे बसे गांव और नर्मदा के हालातों की तस्वीर सामने लाई तो हड़कंप मच गया। ऐसे में शिवराज सरकार ने विकास यात्रा का प्लान तैयार कर लिया। 15 मई से 30 जून तक डेढ़ महीने तक निकलने वाली यात्राओं के दौरान मंत्री, विधायक, सांसद और मुख्यमंत्री गांव-गांव घूम जनता की समस्याओं से अवगत होंगे। 

खुलेगी योजनाओं की पोटली मिलेगा सब को लाभ

 शिवराज सरकार की विकास यात्राओं के दौरान प्रदेश भर में आयोजन होंगे और इन आयोजनों में विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ दिया जाएगा। इसके लिए सभी विभागों से योजना अनुसार हितग्राहियों को लाभ प्रदान करने की तैयारी करने को कहा है। विकास यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री, मंत्री, विधायक या सांसद जिस क्षेत्र में रहेंगे वे वहां हितग्राहियों को योजना का लाभ देंगे। साथ ही गांव-शहर में जहां विकास कार्य मंजूर होंगे, वहां तत्काल शिलान्यास होंगे। साथ ही जो कार्य पूरे हो चुके हैं, उनका लोकार्पण भी होगा। मुख्यमंत्री ने मैदानी अफसरों से कहा कि राज्य सरकार का मुख्य एजेंडा विकास और जन-कल्याण है। सीएम ने कहा कि 7 मई को होने वाली ग्राम सभाओं में श्रमिकों के प्राप्त आवेदनों की सूची का वाचन किया जाए। वाचन के बाद पात्र श्रमिकों को कार्ड दिये जाएंगे। साथ ही अपात्रों के नाम काटे जाएंगे। 1 अप्रैल से पात्र श्रमिकों को लाभ दिया जाना है।

5 मई को विकासखंडों में होंगे स्वयं सहायता समूहों के सम्मेलन

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि चना, मसूर और सरसों के समर्थन मूल्य पर उपार्जन के कार्य को पूरी दक्षता और कुशलता से पूरा किया जाए। किसानों को भुगतान में कहीं भी कोई दिक्कत नहीं हो। पेयजल आपूर्ति के लिए भी व्यापक प्रबंध करें तथा आवश्यकतानुसार जिलों में पेयजल परिवहन की व्यवस्था करें। मुख्यमंत्री ने बताया कि ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत 5 मई को सभी विकासखण्डों में आजीविका दिवस पर स्व-सहायता समूहों के सम्मेलन किये जाएंगे।

शिवराज पर जयवर्धन का पलटवार, बोले- मामा जी 2 हजार का नोट षड्यंत्र से गायब नहीं हुआ

भोपाल। शाजापुर में आयोजित किसान महासम्मेलन में सीएम शिवराज सिंह ने बाजारों से 2 हजार रुपए के नोट गायब होने पर षड्यंत्र की आशंका जताई थी। इसके जवाब में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पुत्र विधायक जयवर्धन सिंह मैदान में उतर आए हैं।

उन्होंने सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर सीएम शिवराज सिंह पर कटाक्ष करते हुए लिखा कि प्रिय मामाजी संभालो अपने आप को 2 हजार का नोट षड्यंत्र से गायब नहीं हुआ। आरबीआई ने प्रिंटिंग बंद कर दी और उन्हें वापस डिमोनेटाइज कर रही है। उल्लेखनीय है कि सोमवार 16 अप्रैल को शाजापुर में आयोजित किसान महासम्मेलन में सीएम शिवराज सिंह ने बाजार से 2 हजार का नोट गायब होने को लेकर षड्यंत्र की आशंका जाहिर कर कांग्रेस पर हमला किया था।

कल से 3 दिवसीय मप्र के दौरे पर रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह

भोपाल। राजनीति के चाणक्य मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह मंगलवार से मध्य प्रदेश के तीन दिवसीय प्रवास पर रहेंगे वह यहां ग्वालियर में दिवंगत कांग्रेस नेता को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे और यहां से इंदौर के लिए रवाना होंगे। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव, पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद दिग्विजय सिंह 17 अप्रैल मंगलवार को दिल्ली से विशेष विमान द्वारा सुबह 8:15 पर रवाना होंगे व 9:10 बजे ग्वालियर पहुचेंगे और वहाँ कांग्रेस नेता अशोक सिंह के पिता पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह जी के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करने जाएँगे। ग्वालियर से विशेष विमान से सुबह 10:50 बजे रवाना होकर दोपहर 12 बजे इंदौर एयरपोर्ट पहुँचेंगे। यहां पर दिनभर विभिन्न स्थानीय कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे और स्थानीय नेताओं व कार्यकर्ताओं से भेंट कर रात्रि विश्राम इंदौर में ही करेंगे। अगले दिन दिनांक 18 अप्रैल बुधवार को दिनभर स्थानीय कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे और स्थानीय नेताओं व कार्यकर्ताओं से भेंट कर रात्रि विश्राम इंदौर में ही करेंगे। 19 अप्रैल गुरुवार को इंडिगो एयरलाइन्स की नियमित फ्लाइट से सुबह 9:40 पर दिल्ली के लिए रवाना हो जायेंगे। नर्मदा परिक्रमा पदयात्रा संपुर्ण करने के बाद दिग्विजय सिंह का यह पहला मध्यप्रदेश दौरा होगा।

कार्यकर्ता जुट जाएं तैयारी में, खत्म होने वाला हैं 15 साल का वनवास  : जयवर्धन सिंह

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पुत्र और राधौगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह ने कहा है कि अबकी बार मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। 15 साल का वनवास अब की बार बड़ी जीत के साथ खत्म होगा।जयवर्धन सिंह अपने देवास दौरे पर पहुंचे थे। यहां उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक में बोलते हुये भाजपा सरकार पर जमकर प्रहार किये। उन्होंने कहा कि यह सरकार तो अब मामा की जुमलेबाजी में उलझ गयी है। बस घोषणाओं के जुमले हो रहे है, धरातल पर कुछ भी नहीं। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि आप फिल्ड में उतर जाये और घर-घर कांग्रेस की रीति नीतियों को पहुंचाने कड़ी मेहनत करें, क्योंकि अबकी बार कांग्रेस की सरकार पूरे बहुमत के साथ बनने जा रही है। 15 साल का वनवास बड़ी जीत के खत्म होगा। उन्होंने कहा कि हम सभी का फर्ज है कि बड़ी जीत के लिए प्राणप्रण से एकजुट होकर काम करें। जयवर्धन सिंह ने कहा कि कांग्रेस की जीत आम आदमी की जीत होगी। जनता इस सरकार से तंग आ चुकी है। सिर्फ घोषणाओं और जुमलेबाजी के सिवा अब मामाजी के पास कुछ नहीं। जनता के सामने इस सरकार का भांडा फूट चुका है। राज्य आम चुनावों में कांग्रेस की एकतरफा बड़ी जीत होगी। बैठक में देवास कांग्रेस के सभी नेता और कार्यकर्ता भी उपस्थित थे।

3100 किलोमीटर पैदल चलने के बाद 9 अप्रैल को होगा दिग्गी राजा की नर्मदा परिक्रमा यात्रा का समापन

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कद्दावर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह द्वारा की जा रही नर्मदा परिक्रमा यात्रा का 9 अप्रैल को समापन होगा। ज्ञात हो की पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा यात्रा का शुभारंभ पिछले साल 30 सितम्बर 2017 से शुरू हुआ था। जिसका सपत्नीक अमृता सिंह के साथ इस पैदल नर्मदा परिक्रमा का 9 अप्रैल 2018 को शारदा मंदिर, रेत घाट, बरमान खुर्द, जिला नरसिंहपुर में समापन होगा। दिग्विजय सिंह की इस पैदल परिक्रमा में 9 अप्रैल तक 3100 किलोमीटर की दूरी तय होगी। पैदल परिक्रमा पूरी होने पर श्री सिंह अपने साथ चल रहे सभी परिक्रमावासियों के साथ 9 अप्रेल 2018 की रात्रि में ही सड़क मार्ग से हरदा होते हुए ओंकारेश्वर पहुंचेंगे जहां रात्रि विश्राम करके 10 अप्रैल की सुबह ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग पर जलाभिषेक करेंगे। इसके साथ श्री सिंह का 20 साल पूर्व किया गया नर्मदा परिक्रमा का संकल्प पूरा हो जाएगा।

ईश्वर की परिक्रमा तो पैदल होती है, आलीशान गाड़ियों से तो पर्यटन ही हो सकता है: जयवर्द्धन 
दिग्विजय के बेटे जयवर्धन सिंह ने की अपने पिता और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की नर्मदा यात्रा की तुलना
दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शामिल हुए भूपेश और सिंहदेव

रायपुर। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शुक्रवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल शामिल हुए। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव भी मौजूद थे। दिग्विजय सिंह और भूपेश बघेल ने मिरिया पुष्प राजगढ़ तक यात्रा की।  बघेल शुक्रवार को ही देर शाम तक रायपुर लौट आएंगे। इसके अलावा पीसीसी सचिव शिवसिंह ठाकुर, अजय साहू सहित बड़ी संख्या में दुर्ग, रायपुर और बिलासुपर से कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता भी नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शामिल हुए। आपको बता दें कि इसके पहले भी नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, विधायक सत्यनारायण शर्मा सहित कांग्रेस के दिग्गज नेता भी दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शामिल हो चुके हैं। 


 

नर्मदा परिक्रमा यात्रा में शामिल हुए कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया

रायपुर। कांग्रेस के पूर्व महासचिव और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह नर्मदा परिक्रमा यात्रा निकाल रहे हैं। इस यात्रा में लगातार कांग्रेस के नेता शामिल हो रहे हैं। पिछले दिनों छत्तीसगढ़ के नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव अपने भाई और बहन के साथ यात्रा में शामिल हुए थे। इसी कड़ी में अब कांग्रेस के राष्ट्रीय महामंत्री और मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया सोमवार को यात्रा में शामिल हुए। उनके साथ कांग्रेस विधायक एवं दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन सिंह भी शामिल थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804
Visitor No.