GLIBS
30-05-2020
विधायक की फेसबुक लाइव में अश्लील टिप्पणी, शिकायत पर पुलिस ने किया गिरफ्तार 

रायपुर। सोशल मीडिया पर विधायक के खिलाफ अश्लील टिप्पणी और गाली-गलौज करने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। बता दें कि धरसींवा विधायक अनिता योगेंद्र शर्मा ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री पंकज शर्मा को 28 मई को जन्मदिन की बधाई दी थी। विधायक फेसबुक पर लाइव थी इसी दौरान आरोपी पिकेश साहू ने उनके लाइव अश्लील टिप्पणी और गाली-गलौज किया था। आरोपी दोंदेकला गांव का रहने वाला है। समर्थकों ने आरोपी के खिलाफ तेलीबांधा और विधानसभा पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया था। जिस पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

12-05-2020
प्रतिबंधित गुटखा, तम्बाखू के साथ 3 गिरफ्तार

महासमुन्द। पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर के सतत निर्देशन में जिले में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने की रणनीति के तहत जहां जिले के पूरे बार्डर को सील कर दिया गया है, वही थाना क्षेत्रों में भी सख्त पहरा लगाकर लोगों के आने-जाने के करणों की भी पूछताछ व सघन जांच कार्यवाही की जा रही है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भूरकर एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस विकास पाटले के कुशल मार्गदर्शन में बसना पुलिस की टीम ने आज थाना बसना क्षेत्र के पौसारा बस्ती मंडी के पास एक तीन सवार मोटर सायकिल को रोककर जांच किया गया।

जांच पर मोटर सायकिल सवार द्वारा अपने पास रखी बोरे नुमा पोटली की जांच करने पर उसमें मुनाफाखोरी करने ले जा रहे भारी मात्रा में प्रतिबंधित राजश्री गुटखा, तम्बाकू सिगरेट कुल 170 पैकेट जिसकी कीमत पच्चीस हजार पांच सौ रुपए की पाए जाने से जप्ती कार्यवाही की गई। साथ ही सप्लाई में उपयोगरत एक मोटर सायकिल एच एफ डीलक्स कीमती तीस हजार रुपये सहित कुल जुमला राशि पचपन हजार पांच सौ रुपये की जप्ती की गई। आरोपी श्याम सुंदर पटेल निवासी ग्राम बरपेलाहीह बसना, मदन लाल पटेल व झनकराम पटेल दोनों ग्राम गहनाखार थाना सिंघोडा के विरुद्ध अपराध धारा 188, 269,270 का घटित होना पाए जाने से आरोपीगण के विरुद्ध मामला पंजीबद्ध कर विवेचना मे लेते हुए आरोपियों को जेल भेजा गया। बसना पुलिस के इस सफलता में थाना प्रभारी निरीक्षक वीणा यादव, प्रधान आरक्षक राजेश सिकरवार, आरक्षक अनिल खांडे एवं आरक्षक महेन्द्र यादव की सक्रियता महत्वपूर्ण रही है। 

11-05-2020
मोहल्ले के ग्रुप में शराब के नशे में भेजी अश्लील तस्वीरें, पहुंचा जेल, पत्नी व अन्य महिलाएं भी है ग्रुप में

रायपुर/कोरबा। शराब के नशे में अश्लील तस्वीरें खींचकर मोहल्ले के ग्रुप में पोस्ट करना एक युवक को महंगा पड़ गया। दरअसल मोहल्ले वालों ने एक ग्रुप बनाया था, जिसमें आरोपी की पत्नी भी जुड़ी हुई है। उस ग्रुप में युवक ने नशे की हालत में अश्लील तस्वीरे खीचकर पोस्ट कर दी। जब नशा उतरा तब तक बहुत देर हो चुकी थी। क्योंकि मोहल्ले की महिलाओं एवं उनके पतियों ने थाने जाकर मामले की शिकायत दर्ज करा दी थी। मामला कोतवाली थाना क्षेत्रान्तर्गत कोहड़िया बस्ती का है। जहां की मोहल्ले की महिलाओं ने आपसी चर्चा और मेल-जोल बनाये रखने के लिए एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया है।

ग्रुप में महिलाओं के साथ-साथ उनके पतियों को भी जोड़े हैं। ग्रुप की एक सदस्य के पति चंदू ने शराब के नशे में आपत्तिजनक तस्वीर खींचकर ग्रुप में पोस्ट कर दिया। इस पोस्ट की जानकारी होने पर पत्नी ने पति पर अपनी कसर तो उतारी ही, ग्रुप की महिलाओं और पुरुषों सदस्यों ने भी आपत्ति जताते हुए इसकी शिकायत कोतवाली थाने में कर दी। थाने से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी खिलाफ मोहल्ले की महिलाओं द्वारा की गई लिखित शिकायत और अश्लील पोस्ट संबंधी प्रमाण के बाद प्रथम द्ष्टया भादवि की धारा 292, 509(ख) तथा आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत अपराध घटित होना पाए जाने से पंजीबद्ध कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया है।

06-05-2020
प्रताड़ना से तंग आकर विवाहिता ने की आत्महत्या, पति, सास और ससुर को जेल

राजनांदगांव। पति, सास और ससुर की शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना से तंग आकर ग्राम सुकुलदैहान थाना लाल बाग निवासी विंध्या साहू पति नागेश साहू ने अपने घर में ही मिट्टी तेल डालकर आग लगा ली थी। उसकी इलाज के दौरान सेक्टर 9 हॉस्पिटल में मौत हो गई। नगर पुलिस अधीक्षक एमएस चंद्रा ने जांच उपरांत आरोपी पति नागेश, ससुर दिलीप साहू तथा सास गायत्री साहू को धारा 304(B),34 के तहत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया।

06-05-2020
युवक की आत्महत्या मामले में 3 आरोपियों को जेल

राजनांदगांव। युवक की आत्महत्या मामले में तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा है। दरअसल मृतक पवन साहू उम्र 21 वर्ष निवासीमुड़पार ने 8 सितंबर 2018 को अपने घर में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली थी। तब सुसाइड नोट के आधार पर परिजनों ने युवक को प्रताड़ित करने वाले तीन लोगों पर आरोप लगाया था। मामले की जांच लंबे समय तक चली। जांच के बाद पुलिस ने धारा 306, 34 भादवी कायम कर धर्मेंद्र जैन,त्रिलोक जैन,देवेंद्र जैन को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा।

 

 

04-05-2020
मासूम के साथ दुष्कर्म, आरोपियों को जेल

 कांकेर।  कुरकुरे और चाकलेट का लालच दे मासूम के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। घटना में दो आरोपी युवकों के शामिल होने की बात सामने आ रही है। वहीं मुख्य आरोपी भी नाबालिग बताया जा रहा है। पुलिस ने दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायलय में पेश किया किया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार घटना दो मई की बताई जा रही है। घटना के वक्त मासूम के परिजन काम करने गये थे। उसी दौरान दो आरोपी बच्ची को बहला फुसला कुरकुरे और चाकलेट का लालच देकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। घटना के बाद मासूम ने घटना की जानकरी दी। इसके उपरांत परिजनों ने थाना पहुंच मामले की शिकायत की।सूचना मिलते ही पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 363, 366ए,376, 34, 120बी, 4,6 के तहत मामला दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायलय में पेश किया है। वहीं न्यायलय ने दोनो आरोपी को न्याययिक रिमांड पर जेल भेज दिया है।

 

 

01-05-2020
शादी से किया इनकार,युवती ने की आत्महत्या, आरोपी युवक गया जेल

भानुप्रतापपुर। शादी का प्रलोभन देकर दैहिक शोषण के बाद युवक के मुकर जाने पर गर्भवती युवती ने की आत्महत्या कर ली। इस आरोप में पुलिस ने युवक को जेल भेज दिया गया।प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम बांसला में अगस्त 2016 को 20 वर्षीय युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में लड़की गर्भवती थी। इसके आधार पर विस्तृत विवेचना की गई तो पता चला कि गांव के ही 25 वर्षीय युवक सुरेंद्र कुमार कोरेटी से युवती के प्रेम संबंध थे, जिसके चलते युवती गर्भवती हो गई। पुलिस ने काल डिटेल निकाला तो पता चला कि युवती ने आत्महत्या के पूर्व अपने मोबाइल से आखरी काल आरोपी युवक को ही किया था। पूछताछ में युवक ने भी युवती से अपने संबंधों को कबूल किया है,परंतु युवक ने यह भी कहा है कि वह युवती से विवाह करने को राजी था। पुलिस का कहना है कि युवती ने बिन ब्याहे गर्भवती हो जाने पर लोकलाज के भय से आत्महत्या की होगी। विवेचना पूर्ण होने के बाद पुलिस के द्वारा आरोपी युवक को 30 अप्रैल को गिरफ्तार कर धारा 306 व 376 के तहत मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है।

 

01-05-2020
गरियाबंद जेल में बंदी की मौत के बाद मचा हड़कंप, शराब पीने का आदि था कैदी

गरियाबंद। जेल में बीती रात एक बंदी की मौत हो गई। मौत के कारणों का पता अब तक नहीं चल पाया है। बताया जा रहा है कि उक्त बंदी दशरथ साहू ग्राम मजरकट्टा का रहने वाला था। बीते 28 अप्रैल को जेल लाया गया था। सिटी कोतवाली थाना ने इस आरोपी पर धारा 151 के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया था जिसमें आरोपी ने शराब पीकर मारपीट करने की बात सामने आई है। घटना के बाद से जेल प्रशासन मीडिया से बात करने से बच रहा है। वहीं लाश का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया गया है। बताया जा रहा है कि उक्त आरोपी शराब पीने का आदी था। 3 दिन पहले मारपीट की शिकायत के बाद इसे एसडीएम न्यायालय में पेश करने के बाद इसे जेल भेजा गया था। जहां बीती रात इसकी तबीयत बिगड़ी रात 2 से 3 बजे के बीच इसे जिला अस्पताल जो जेल के सामने ही है वहां ले जाया गया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। जेल में हुई इस मौत के बाद से प्रशासन पूरी तरह से मामले की जांच में जुटा हुआ है।

23-04-2020
कच्ची शराब के साथ आरोपी गिरफ्तार, जेल दाखिल

धमतरी। कलेक्टर रजत बंसल के निर्देश पर लॉक डाउन के दौरान अवैध मदिरा विक्रय एवं परिवहन के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही के लिए आबकारी विभाग द्वारा सतत कार्रवाई की जा रही है। जिला आबकारी अधिकारी मोहित जायसवाल ने बताया कि उक्त निर्देश के तारतम्य में आबकारी विभाग के कार्यपालिक स्टाफ द्वारा मुखबिर से प्राप्त सूचना के आधार पर फारेस्ट नाका कुकरेल के पास दबिश दी गई। उपनिरीक्षक शरद जायसवाल द्वारा मय स्टाफ पहुँचकर उस व्यक्ति के आधिपत्य में रखे बोरी की तलाशी ली गई, जिसमें 15 लीटर क्षमता वाले डिब्बे में लगभग 11 लीटर अवैध हाथ भट्टी कच्ची महुआ शराब बरामद की गई। उन्होंने बताया कि मौके पर मदिरा को जब्त कर आरोपी धर्मेंद्र नेताम उम्र 24 वर्ष साकिन मुरूमतरा थाना नरहरपुर जिला कांकेर के विरुद्ध आबकारी अधिनियम 1915 की धारा 34(2), 59(क) गैरजमानती के तहत  कार्रवाई कर जेल दाखिल कराया गया।

 

09-04-2020
लॉक डाउन में सूनेपन का फायदा उठाने बनाया एटीएम में चोरी का प्लान, अब चढ़ा पुलिस के हत्थे, एक फरार

रायगढ़। लॉक डाउन में शहर की सड़कों में, दिन हो या रात सन्नाटा पसरा हुआ है। वहीं इस सन्नाटे के बीच दो दोस्तों ने मिलकर एक बड़े अपराध को अंजाम देने का प्लान बनाया। मगर चक्रधर नगर पुलिस की मुस्तैदी के कारण उनका प्लान अंजाम तक नहीं पहुंच पाया। चक्रधर नगर पुलिस ने उन्हें रंगे हाथ पकड़ लिया। मामला है एटीएम चोरी का। पुलिस ने इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जबकि दूसरा फरार है। इस पूरी वारदात को नाकाम करने में चक्रधर नगर थाना टीआई विवेक पाटले, एएसआई एमपी पांडे, कॉन्स्टेबल नंद पैकरा एवं कांस्टेबल श्वेत बारीक की भूमिका प्रमुख रही। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जेल पारा निवासी दो दोस्तों ने लॉक डाउन के दौरान सुनेपन का फायदा उठाकर एटीएम चोरी का प्लान बनाया।

इसके लिए उन्होंने शहर के बोईरदादर क्षेत्र के एटीएम को चुना। अपने प्लान के मुताबिक रात करीब 2:30 बजे के आसपास उन्होंने बोइरदादर की एटीएम पर सेंधमारी की। वे एटीएम के अंदर घुसे और शटर को बंद कर दिया और लोहे के औजार और सब्बल से एटीएम को तोड़ना शुरू किया। इसी बीच आवाज सुनकर किसी ने चक्रधर नगर पुलिस को सूचित किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए चक्रधर नगर पुलिस ने तनिक भी देरी ना करते हुए सीधे मौका ए वारदात पर पहुंची। जहां पर सब कुछ वैसा ही था जैसा सुना था। सटर को उठाने के बाद उसके अंदर तो लोग एटीएम को तोड़ते नजर आए। सामने पुलिस को देखकर उन लोगों ने भागने की कोशिश की जिसमें एक आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया और दूसरा अंधेरे का फायदा उठाकर गायब हो गया। 

पकड़े गए आरोपी का नाम मनीष दास महंत पिता पूरण दास महंत है। जिसकी उम्र 19 साल है। वही दूसरा आरोपी शिवा, जिसकी उम्र 20 साल है। वह मूल रूप से उड़ीसा का रहने वाला है और रायगढ़ में संजय नगर मार्केट में रहता है। फिलहाल शिवा अभी फरार है। उसकी पूछताछ की जा रही है। जल्द ही उसे भी गिरफ्त में ले लिया जाएगा। पुलिस ने चोरी में उपयोग में लाए गए लोहे के समान एवं हथियारों को जप्त कर लिया है। पकड़े गए आरोपी मनीष पर कार्रवाई कर जेल भेजने की तैयारी की जा रही है।

07-04-2020
मुख्यमंत्री ने जेल के बंदियों से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए की बातचीत

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास कार्यालय से प्रदेश की जेलों में परिरूद्ध बंदियों और जेल के अधिकारियों से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग बातचीत कर वहां कोरोना संक्रमण की रोकथाम के उपायों सहित अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने राजधानी रायपुर की केन्द्रीय जेल सहित प्रदेश की पांच केन्द्रीय जेल, जिला और उप जेलों के अधिकारियों और बंदियों से बातचीत की। मुख्यमंत्री ने जेल में सोशल डिस्टेंसिंग मास्क का उपयोग और बार-बार हाथ धोने जैसी सावधानियां का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने को कहा है। इस अवसर पर गृह एवं जेल मंत्री ताम्रध्वज साहू और मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू भी वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग में शामिल हुए। मुख्यमंत्री बघेल ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम के लिए वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न वर्गो लगातार बात कर स्थिति का जायजा ले रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने आज जेलों में बंद एवं विचाराधीन कैदियों की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने जेलों में स्वच्छता, बंदियों के स्वास्थ्य, भोजन व्यवस्था, बंदियों की मुलाकात व्यवस्था, स्वस्थ मनोरंजन, बंदियों को विधिक सहायता और बंदियों की रिहाई तथा जेलों में संचालित लघु उद्योगों की जानकारी अधिकारियों से ली। मुख्यमंत्री ने विभिन्न जेलों के अधिकारियों और कैदियों से चर्चा के दौरान कहा कि कोविड-19 का संक्रमण एक वैश्विक आपदा है। इससे बचाव में ही सभी की सुरक्षा है। बघेल ने जेल में काम कर रहे अधिकारी-कर्मचारियों से कहा कि बाहर के लोगों से सामाजिक दूरी बनाके रखें। उन्होंने कहा कि संक्रमण के रोकथाम के उपायों पर कड़ाई से अमल किया जाए। ज्ञातव्य है कि प्रदेश में पांच केन्द्रीय जेल, 12 जिला जेल एवं 16 उप जेल संचालित है। जेलों की कुल आवासीय क्षमता 12 हजार 823 है। जिसके विरूद्ध 1 अप्रैल 2020 की स्थिति 17 हजार 131 बंदी (दंडित 8151 एवं विचाराधीन 8980) परिरूद्ध रहें। मुख्यमंत्री बघेल ने जेलों में परिरूद्ध बंदियों में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बंदियों की प्रारंभिक जांच कराने एवं सभी आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि नई आमद के बंदियों को पृथक वार्ड में निर्धारित समय तक रखा जाए। वीडियो काॅन्फ्रंसिंग में अधिकारियों ने बताया कि जेल में बंद बंदियों में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जेल परिसर एवं वार्ड में नियमित रूप से साफ-सफाई एवं स्वच्छता की व्यवस्था सुदृढ़ की गई है। इसके साथ ही सभी बंदियों को आवश्यकतानुसार मास्क तथा साफ-सफाई के लिए अतिरिक्त साबुन उपलब्ध कराया गया है और उन्हें व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखने के लिए निर्देशित किया गया है। मुख्यमंत्री बघेल ने बंदियों के भोजन व्यवस्था, मुलाकाती व्यवस्था तथा स्वस्थ मनोरंजन आदि के संबंध में भी जानकारी ली। अधिकारियों ने बताया कि जेल में बंद सभी बंदियों को नियमानुसार ताजा एवं गर्म भोजन दिया जा रहा है। प्रतिदिन बदल-बदल कर सब्जियां भी दी जा रही है। जिससे उनका प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत बना रहे। जेलों में बंदियों को उनके परिजनों से दी जाने वाली मुलाकात पर 14 मार्च 2020 से पाबंदी लगा दी गई है। ऐसी स्थिति में बंदियों को उनके सगे संबंधियों से काॅलिंग सिस्टम के माध्यम से बातचीत करायी जा रही है। अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश के जेलों में बंदियों के स्वस्थ मनोरंजन के लिए रंगीन टीवी, रेडियो, शतरंज, कैरम के साथ-साथ समाचार पत्र-पत्रिकाएं तथा ज्ञान वर्द्धक पुस्तक भी उपलब्ध करायी जा रही है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेश पर 5 अप्रैल 2020 की स्थिति में रिहा किए गए बंदियों की जानकारी तथा जेलों में परिरूद्ध बंदियों को जेल से रिहा होने के बाद समाज में सम्मानपूर्वक जीवनयापन एवं पुर्नवास के लिए दिए जा प्रशिक्षण की जानकारी वीडियो काॅन्फ्रंेसिंग के माध्यम से ली। अधिकारियों ने बताया कि माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार 5 अप्रैल 2020 की स्थिति में कुल 1193 बंदियों को रिहा किया गया है, जिसमें अंतरिम/नियमित जमानत पर 892 बंदी एवं पेरोल पर 255 बंदियों को तथा सजा पूर्ण होने पर 46 बंदियों को रिहा किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में परिरूद्ध बंदियों को जेल से रिहा होने के बाद समाज की मुख्यधारा से जोड़ने तथा समाज में सम्मानपूर्वक जीवन-यापन एवं आजीविका चलाने के लिए बंदियों की पुर्नवास की दिशा में जेलों में विभिन्न प्रकार के उद्योग जैसे-लौह उद्योग, काष्टकला, बुनाई, सिलाई, पावरलूम, आफसेट प्रिटिंग मशीन आदि में प्रशिक्षित किया जा रहा है। बघेल ने जेलों में कैदियों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रखने के निर्देश दिए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804