GLIBS
25-11-2020
ममता बनर्जी ने कहा, भाजपा में हिम्मत है तो मुझे गिरफ्तार करे, जेल से टीएमसी को जिताऊंगी चुनाव

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा में एक रैली के दौरान प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा को झूठ का कचरा और देश का सबसे बड़ा अभिशाप बताते हुए चुनौती दी कि अगर भगवा पार्टी में हिम्मत है तो उन्हें गिरफ्तार करके दिखाए। उन्होंने दावा किया कि आने वाले चुनाव में वह जेल से भी टीएमसी की जीत सुनिश्चित करेंगी। 294 सीट वाली बंगाल विधानसभा के लिए अगले साल अप्रैल-मई में चुनाव होना है। इससे पहले भाजपा और टीएमसी में जुबानी संग्राम जारी है। इसी क्रम में सीएम ममता बनर्जी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि कुछ लोग सट्टेबाज की तरह काम कर रहे हैं और उन्हें भ्रम है कि भाजपा सत्ता में आ सकती है। उन्होंने कहा कि भाजपा राजनीतिक पार्टी नहीं है बल्कि झूठ का कचरा है। जब-जब चुनाव आते हैं तो वे टीएमसी नेताओं को डराने के लिए नारद और सारदा घोटाला का मुद्दा लेकर आते हैं, लेकिन मैं उन्हें साफतौर पर बता दूं कि मैं बीजेपी और उसकी एजेंसियों से नहीं डरती हूं।

ममता बनर्जी ने चेतावनी भरे अंदाज में कहा कि अगर उनमें हिम्मत है को मुझे गिरफ्तार कर जेल में डाल सकते हैं। मैं जेल से चुनाव लड़ूंगी और टीएमसी की जीत सुनिश्चित करूंगी। हाल ही में संपन्न बिहार चुनाव का जिक्र करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि आरजेडी नेता लालू प्रसाद यादव को भी जेल में डाल दिया है लेकिन उन्होंने अपनी पार्टी की अच्छी जीत सुनिश्चित की। उन्होंने कहा कि बिहार में बीजेपी की जीत जोड़-तोड़ का परिणाम है। यह लोकप्रिय जनादेश नहीं है। कथित तौर पर टीएमसी विधायकों को तोड़ने, डराने और रिश्वत देने की कोशिश पर बोलते हुए ममता ने कहा, 'कुछ लोग इस भ्रम में हैं कि बीजेपी सत्ता में आएगी, इसलिए चांस लेने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन मैं उन लोगों को साफतौर पर बताना चाहती हूं कि बीजेपी के पास सत्ता में आने का न तो 'चांस' है और न ही 'बाय चांस' ही वह सरकार बनाने वाली है। हम फिर से बड़े जनादेश के साथ सत्ता में लौटेंगे।' गौरतलब है कि प्रदेश में साल 2011 से ही ममता बनर्जी के नेतृत्व में टीएमसी की सरकार है।

 

 

31-10-2020
पति बंद था जेल में, पत्नी और जेठ में बन गए नाजायज संबंध, जेल से छूटने पर मार दी बड़े भाई को गाली

लखनउ। उत्तर प्रदेश के चंदौली में पुलिस ने दो महीने पहले हुई हत्याकांड का मामला सुलझाने का दावा किया है। इसी के साथ पुलिस चौंकाने वाला खुलासा किया। दरअसल 2 महीने पहले 28 अगस्त को चंदौली कोतवाली के धुरी कोट गांव में राकेश रोशन नाम के एक युवक की हत्या कर दी गई थी। इस मामलें में जांच कर रही पुलिस को पहले तो कोई सुराग हाथ नहीं लग रहा था। लेकिन 29 अक्टूबर को पुलिस ने एक मुठभेड़ के दौरान आशुतोष यादव नाम से एक अपराधी को दबोचा। इस दौरान जब पुलिस ने अपराधी आशुतोष से पूछताछ शुरू की तो दो महीने पहले हुई हत्या का सुराग उनके हाथ लग गया। हकीकत जब सामने आई तो पुलिस भी हैरान हो गई। पूछताछ के दौरान आशुतोष ने बताया कि धुरी कोट गांव में राकेश रोशन नाम के एक युवक की हत्या उसके छोटे भाई मुकेश यादव ने की थी। इस जानकारी के बाद जब पुलिस ने मुकेश को पकड़ा तो दूसरी हैरान करने वाली हकीकत सामने आई। दरअसल मुकेश जेल में तीन साल से बंद था। इस दौरान उसकी पत्नी और उसे भाई राकेश के बीच संबंध बन गया था। जमानत पर रिहा होकर जब मुकेश घर आया तो उसके इस बात की जानकारी मिली। उसके बाद उसने खौफनाक साजिश रचनी शुरू कर दी। मुकेश ने इस साजिश में जेल में बने अपने दोस्त आशुतोष और रामानंद नामक एक अन्य आरोपी को शामिल किया। एक दिन आरोपी मुकेश ने अपने भाई को शराब पिलाने के बहाने बाहर ले गया,जहां पर उसने अपने सगे भाई को गोली मार दी,जिससे उसकी मौत गई। फिलहाल इस घटना के बाद आरोपी मुकेश और आशुतोष को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है लेकिन रामानंद अब भी फरार है, जिसकी तलाश पुलिस कर रही है।

 

28-10-2020
अश्लील मैसेज भेजने वाला आरोपी गिरफ्तार

बेमेतरा। मोबाइल से अश्लील मैसेज करने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बीते दिनों बेमेतरा सिटी कोतवाली में एक युवती ने लिखित आवेदन देकर बताया कि कुछ दिनों से कोई व्यक्ति मेरे नाम से अश्लील मैसेज मामा के मोबाइल पर भेज रहा है। युवती की शिकायत पर पुलिस अपराध पंजीबद्ध कर जांच कार्यवाही में लग गई। इसमें पुलिस टीम को पता चला कि बिलासपुर जिला अंतर्गत बिल्हा के रहने वाले आरोपी शंकर पटेल ने अश्लील मैसेज युवती के नाम से भेजा जा रहा है। उसे पकड़कर पूछताछ करने पर आरोपी ने अपराध करना कबूल किया। वही पुलिस ने आरोपी को न्यायालय पेश किया, जहाँ से आरोपी को जेल भेजा गया।

26-10-2020
कोयला घोटाला मामले में सीबीआई ने पूर्व केंद्रीय मंत्री को सुनाई 3 साल की सजा

नई दिल्ली। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने कोयला घोटाला मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री दिलीप रे को तीन साल जेल की सजा सुनाई है। इस मामले में अन्य दो आरोपियों को भी 3 साल जेल की सजा दी गई है। 1999 झारखंड कोल ब्लॉक आवंटन मामले में उन्हें अदालत ने यह सजा सुनाई है। दिलीप रे पर सन् 1999 में झारखंड के गिरिडीह स्थित ब्रह्मडिहा कोयला खदान आवंटन में भ्रष्टाचार होने का आरोप लगा था। इस मामले में दिलीप रे के साथ 4 लोग दोषी साबित हुए थे। 6 अक्टूबर को विशेष सीबीआई अदालत ने इन्हें दोषी साबित किया था। 14 अक्टूबर को विशेष सीबीआई अदालत में सीबीआई एवं अभियुक्तों के वकीलों की तरफ से बहस हुई थी। सीबीआई वकील ने अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा सुनाने के लिए कहा था एवं प्रतिपक्षण वकील ने अभियुक्त की आयु तथा पहले से कोई आपराधिक रिकार्ड ना होने से उनके खिलाफ सहूलियत बरतने के लिए निवेदन किया है। सीबीआई विशेष अदालत के न्यायाधीश भरत पराशर ने दोनों पक्ष को सुनने के बाद राय को सुरक्षित रखते हुए आज कोर्ट में हाजिर होने के लिए निर्देश दिया था। इनके अलावा इस मामले में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा दोषी साबित हो चुके हैं। उन्हें तीन साल की जेल के साथ 25 लाख रुये का जुर्माना हुआ था। उसी तरह से पूर्व खदान सचिव एचसी. गुप्ता को भी तीन साल की जेल एवं 1 लाख रुपए का जुर्माना हुआ था। 

 

24-10-2020
सांभर का अवैध शिकार करने वाले 5 आरोपियों को भेजा गया जेल

रायपुर। राज्य के बारनवापारा अभ्यारण्य क्षेत्र के अंतर्गत वन्यप्राणी सांभर के अवैध शिकार के प्रकरण में सभी 5 आरोपियों को जेल भेजा गया है। इस संबंध में अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) अरूण पाण्डेय ने बताया कि 22 अक्टूबर को वन विभाग की टीम द्वारा मुखबीर से प्राप्त सूचना के आधार पर ग्राम चरौदा के  अनूप दीवान तथा ग्राम पकरीद निवासी लोकनाथ दीवान के घर में तलाशी लेकर सांभर का मास जब्त किया गया। इसमें संलिप्त सभी 5 आरोपियों लोकनाथ दीवान, अनूप दीवान, पुष्पराज ठाकुर, श्रवण ठाकुर तथा दिलीप कुमार ठाकुर के विरूद्ध बारनवापारा अभ्यारण्य द्वारा वन्य जीव (संरक्षण) अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया गया। इसके बाद आवश्यक कार्रवाई करते हुए सभी आरोपियों को जेल भेजा गया है। 

 

20-10-2020
छेड़छाड़ का आरोपी पहुंचा जेल

रायपुर/गरियाबंद। घर में घुसकर महिला के साथ अव्यवहारिक कृत्य करने के आरोप में एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया ​है। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम पीपरछेड़ी निवासी कमलेश वस्त्रकार ने 13 अक्टूबर की रात 10 से 11 बजे के बीच ग्राम के ही प्रार्थी महिला के घर में घुसकर पीड़िता के साथ छेड़छाड़ करने लगा। इसकी शिकायत पर थाना पीपरछेड़ी ने महिला का काउंसलिंग सखी सेंटर गरियाबंद में कराया। इसके बाद पुलिस अधीक्षक भोजराज पटेल ने त्वरित एफ़आईआर दर्ज करने के निर्देश दिए। पुलिस अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की तलाश में जुट गए। विशेष प्रयास से आरोपी को घेराबंदी कर पूछताछ करने और उसके द्वारा अपराध स्वीकार करने पर गिरफ्तार कर धारा 354 ,457 आईपीसी के तहत न्यायिक रिमांड में भेजा गया।

08-10-2020
युवतियों को बहला-फुसलाकर दूसरे राज्यों में काम कराने के मामले में दो महिलाओं को गिरफ्तार कर भेजा जेल

अंबिकापुर। लखनपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत सुदूर वनांचल ग्राम पटकुरा 21 वर्षीय युवती तथा ग्राम कटकोना में 14 वर्षीय नाबालिक किशोरी को अधिक पैसा का लालच देकर बहला-फुसलाकर दिल्ली और गोवा में काम कराने के मामले में लखनपुर पुलिस ने दो महिलाओं को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में जेल भेजा है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी महिला के द्वारा लखनपुर थाना क्षेत्र के सुदूर वनांचल ग्राम पटकुरा निवासी 21 वर्षीय युवती को 1 जनवरी 2020 को पैसा का लालच देकर बहला-फुसलाकर गोवा में एक दम्पत्ति के घर में काम करवाया जा रहा था। परिजनों की रिपोर्ट के बाद लखनपुर पुलिस 17 मार्च को गोवा से युवती  को लाकर परिजनों को सुपुर्द किया। आरोपी महिला की पता तलाश के दौरान लखनपुर पुलिस की टीम गोवा जाकर आरोपी महिला को लखनपुर थाना लाकर पूछताछ करते हुए गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में जेल भेजा है। वहीं दूसरे मामले में आरोपी 23 वर्षीय महिला द्वारा 8 जून 2018 लखनपुर थाना क्षेत्र के ग्राम कटकोना से 14 वर्षीय नाबालिक किशोरी को बहला-फुसलाकर दिल्ली में एक दंपति के घर में काम कराया जा रहा था। परिजनों की रिपोर्ट पर लखनपुर पुलिस पतासाजी करते हुए 27 अगस्त 2018 को दिल्ली से किशोरी को लाकर परिजनों को सुपुर्द किया गया। लखनपुर पुलिस पतासाजी करते हुए 7 अक्टूबर को आरोपी महिला को करकली थाना कुसमी से गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में जेल भेजा गया है। 

 

29-09-2020
सामूहिक दुष्कर्म की शिकार युवती की अस्पताल में मौत,जेल में बंद 4 आरोपियों पर जोड़ी जाएगी हत्या की धारा

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के हाथरस में जिस 19 वर्षीय य़ुवती के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था उसकी दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गई। महिला के भाई ने मौत की पुष्टि की। युवती के साथ 14 सितंबर को हाथरस में गैंगरेप हुआ था।
हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार 19 वर्षीय दलित लड़की की मंगलवार सुबह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। हाथरस के पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर ने मंगलवार को इस बात की पुष्टि की कि लड़की की आज सुबह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई है। उन्होंने कहा, “इस घटना के सिलसिले में गिरफ्तारी के बाद जेल में बंद चारों आरोपियों के खिलाफ अब भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) भी जोड़ी जाएगी।” हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में 14 सितंबर को 19 साल की एक दलित लड़की के साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म की वारदात हुई थी।

पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने कहा कि पीड़िता को घटना के बाद अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था, सोमवार सुबह उसकी हालत गंभीर होने के कारण इलाज के लिये उसे दिल्ली भेजा गया था। मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों के अनुसार लड़की जीवन रक्षक प्रणाली पर थी। इससे पहले पुलिस अधीक्षक ने बताया था कि वारदात के दौरान लड़की का गला भी दबाया गया था,जिससे उसकी जुबान बाहर आ गई थी और कट गई थी। लड़की की हालत काफी गंभीर थी इस कारण उसे अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। पुलिस अधीक्षक विक्रांतवीर के मुताबिक लड़की ने अपने साथ बलात्कार की वारदात के बारे में पुलिस को पहले कुछ नहीं बताया था मगर बाद में मजिस्ट्रेट को दिए गए बयान में उसने आरोप लगाया कि चार युवकों ने उससे दुष्कर्म किया था। उन्होंने कहा कि वारदात के दौरान विरोध करने पर जान से मारने की कोशिश करते हुए उसका गला भी दबाया गया था।

 

 

28-09-2020
लॉक डाउन में आबकारी विभाग की कार्रवाई, 3 लोगों पर मामला दर्ज,आंगनबाड़ी सहायिका गई जेल

रायपुर/सूरजपुर। लॉक डाउन में शराब के साथ पकड़े गए 3 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इनमें से 1 आरोपी आंगनबाड़ी सहायिका को न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया है। अन्य आरोपियों के खिलाफ प्रकरण विवेचना में लिया गया है। जिले की शराब दुकानें बंद रहने के दौरान कलेक्टर रणबीर शर्मा के निर्देशन में आबकारी अपराधों पर नियंत्रण के लिए अभियान के तहत ये मामले सामने आए। आबकारी उपनिरीक्षक सहदेव मरकाम ने 27 और 28 सितंबर को शहर गश्त के दौरान मुखबिर की सूचना पर तीन मामले पकड़े। 

वार्ड 9, नवापारा कॉलेज रोड निवासी आंगनबाड़ी सहायिका ममता पति बंशीलाल देवांगन के कब्जे से 6.5 लीटर कच्ची महुआ शराब जब्त कर आबकारी अधिनियम 1915 की गैरजमानती धारा 34(2) 59(क) के तहत प्रकरण दर्ज किया गया। आरोपी आंगनबाड़ी सहायिका को न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया है। अन्य प्रकरणों में भट्ठापारा निवासी बबीता पति रंजीत गोंड पर महुआ शराब बेचते हुए 4.5 लीटर कच्ची शराब के साथ धारा 34(1)(ब) और महुआपारा निवासी अशोक पिता विजय साहू के कब्जे से 4 लीटर कच्ची शराब जब्त कर धारा 34(1)क के तहत प्रकरण विवेचना में लिया गया।




 




 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804