GLIBS
19-08-2020
विषम परिस्थितियों में ही नेतृत्व का विकास होता है, बस्तर टॉक में शामिल हुए युवा वैभव नलगुंडवार

रायपुर। बस्तर टॉक के दूसरे सीजन में आत्मनिर्भर भारत और युवाओं की भूमिका इस विषय पर विचार रखते हुए पॉलीटिकल कम्युनिकेशन एक्सपर्ट वैभव नलगुंडवार ने कहा कि हम में नेतृत्व की क्षमता नैसर्गिक होती है। जब हम विषम परिस्थितियों में होते हैं तो नेतृत्व क्षमता मजबूती के साथ सामाजिक जीवन में सहयोग करती है।उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भरता का मतलब स्वयं के स्किल्स को और मजबूत कर के युवा भविष्य में अपनी भूमिका को और महत्वपूर्ण कर सकते हैं। अगर आप अपना भविष्य सुरक्षित रखना चाहते हैं तो हमेशा संघर्ष के रास्ते में चले तो बेहतर होगा। वर्तमान में हम संघर्ष के रास्ते नहीं चलेंगे तो भविष्य में हमारी चुनौतियां भी बढ़ जाएगी। नेतृत्व का विकास जीवन के हर आयाम में होता है। नेतृत्व के बल पर राजनीति, खेल, व्यापार या किसी भी क्षेत्र में सफल हो सकते हैं।

उन्होंने कहा कि जीवन में नेतृत्व क्षमता का विकास सतत् प्रक्रिया है और यह आपके अध्ययन और चिंतन से ही मजबूत होता है। उन्होंने कहा कि युवाओं को हर क्षेत्र में आने से पहले कारगर योजनाओं को मजबूत करना चाहिए। जितना आप मेहनत करेंगे, उतना ही नेतृत्व क्षमता मजबूत और विकसित होगा। त्याग, परिश्रम, तपस्या यह हमारे नेतृत्व क्षमता के गुणों को और विकसित करता है। हमें जीवन में हमेशा नई पहल करने की जरूरत होती है। इससे कि सपनों को हकीकत में बदला जा सकता है। उन्होंने कहा कि जब आप योजनाबद्ध तरीके से अपने मजबूत नेतृत्व क्षमता के साथ कार्य करेंगे तो निश्चित ही सफल होंगे। हमेशा असफलता के बीच ही सफलता की कहानियां रची जाती है। युवा वक्ता वैभव नलगुंडवार पुणे के एक संस्थान में राजनीतिक नेतृत्व प्रबंधन के छात्र रहे हैं। इस स्कूल ऑफ गवर्नेंस की स्थापना भारत के पूर्व चुनाव आयुक्त टीएन शेषन ने की थी।

03-08-2020
लक्ष्य के दोगुना से अधिक 1088 क्विंटल इमली बीज का संग्रहण

रायपुर। राज्य सरकार ने चालू सीजन के दौरान अब तक लक्ष्य के दोगुना से अधिक एक हजार 88 क्विंटल इमली बीज का संग्रहण किया है। इसका निर्धारित लक्ष्य 447 क्विंटल था। बता दें कि इमली बीज को राज्य सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी किए जा रहे 31 लघु वनोपजों में हाल ही में शामिल किया है।

 

28-07-2020
छत्तीसगढ़ में लक्ष्य का तिगुना से अधिक काजू और चार गुना के करीब पलाश फूल का संग्रहण

रायपुर। राज्य में चालू सीजन के दौरान अब तक लक्ष्य का तिगुना से अधिक 5.87 करोड़ रुपए की राशि के 5870 क्विटंल काजू का संग्रहण हो चुका है। इसका निर्धारित लक्ष्य 1800 क्विंटल था। काजू का संग्रहण छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ की ओर से न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना अंतर्गत किया जा रहा है। यह राज्य सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा रही 31 लघु वनोपजों के अतिरिक्त है। इसी तरह राज्य में चालू सीजन के दौरान अब तक लक्ष्य का चार गुना के करीब 7.74 लाख रुपए की राशि के 860 क्विंटल पलाश फूल का संग्रहण हो चुका है। इसका निर्धारित लक्ष्य 237 क्विंटल था। पलाश फूल का संग्रहण छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ की ओर से न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना अंतर्गत किया जा रहा है। यह राज्य सरकार की ओर से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा रही 31 लघु वनोपजों के अतिरिक्त है।

 

10-06-2020
टेनिस: रोजर फेडरर चोट के कारण 2020 का बचा हुआ सीजन नहीं खेल पाएंगे

नई दिल्ली। स्विट्जरलैंड के स्टार टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर ने बताया है कि वह दाएं घुटने में सर्जरी के कारण 2020 का बाकी बचा हुआ सीजन नहीं खेल पाएंगे। ट्वीट करते हुए फेडरर ने बताया कि वह 2021 की शुरुआत में वापसी कर सकते हैं। फेडरर ने एक बयान में कहा, मेरे प्रिय प्रशंसकों, मुझे उम्मीद है कि आप लोग सुरक्षित होंगे। कुछ सप्ताह पहले, मुझे अपने रीहैब की शुरुआत में थोड़ी परेशानी हुई थी। मुझे अपने दाएं घुटने की सर्जरी करानी पड़ी।20 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता ने बताया, अब, 2017 के सीजन की तरह चीजें हो रही हैं। मैं अपने सर्वश्रेष्ठ स्तर के साथ खेलने के लिए जरूरी समय ले रहा हूं। मैं अपने प्रशंसकों को मिस करूंगा लेकिन मैं आपसे 2021 सीजन की शुरुआत में मिलने के लिए तैयार रहूंगा।पूर्व विश्व नंबर-1 खिलाड़ी ने इस साल आस्ट्रेलिया ओपन में अपना आखिरी मैच खेला था,जहां वे सेमीफाइनल में सर्बिया के नोवाक जोकोविक से हार गए थे। 1998 में पदार्पण करने के बाद फेडरर पहली बार इतने लंबे अरसे के लिए कोर्ट से दूर रहेंगे

08-05-2020
इस गर्मी में लें ठंडी-ठंडी होम मेड कुल्फी का मजा, ऐसे बनाएं...

नई दिल्ली। गर्मी के सीजन में होम मेड कुल्फी से बढ़िया डेजर्ट कुछ हो ही नहीं सकती है। मगर लॉक डाउन की वजह से आप बाजार से तो कुल्फी मंगवा नहीं सकते। ऐसे में आज हम आपको घर पर ही टेस्टी दूध वाली कुल्फी बनाने की रेसिपी बताएंगे।

दूध कुल्फी की रेसिपी
सामग्री:
दूध-4 पैकेट
इलायची पाउडर - 1 चम्मच
चीनी - 2 कप
सूखे मेवे - गार्निश के लिए

कुल्फी बनाने की विधि

—  सबसे पहले पैन में 4 पैकेट दूध को धीमी आंच पर पकाएं। इसे बीच-बीच में चलाते रहे ताकि दूध तलवे से ना लगे।
—  फिर इसमें 1 चम्मच इलायची पाउडर और 2 कप चीनी डालकर अच्छे से मिलाएं।
—  जब तक दूध 1/3 ना रह जाए इसे उबालते रहें।
—  अब दूध को कुल्फी कप या मटले में डालें।
—  इसे 8-9 घंटे तक फ्रिज में सेट होने के लिए रख दें।
—  लीजिए आपकी दूध कुल्फी बनाकर तैयार है।


मावा कुल्फी रेसिपी

सामग्री :
खोया/मावा - 3 टेबलस्पून
फुल क्रीम दूध - 1/3 लीटर
कॉर्नफ्लोर - 1 टीस्पून
चीनी - 2 टीस्पून
इलायची पाउडर - 1/3 टीस्पून
पानी - 1/4 कप
पिस्ता - 1 टेबलस्पून
बादाम - 1 टेबलस्पून
सूखे मेवे - गार्निश के लिए

कुल्फी बनाने की विधि

—  सबसे पहले एक बर्तन में दूध को धीमी आंच पर पकाएं। इसे तब तक पकाएं जब तक यह गाढ़ा न हो जाए।
—  चम्मच की मदद से बर्तन के चारों ओर लगे दूध को छुड़ाते रहें, ताकि यह बर्तन में न चिपके।
—  पानी में कॉर्नफ्लोर डालकर स्मूद पेस्ट बनाएं और दूध में मिक्स करें।
—  अब मिश्रण में चीनी, बादाम, पिस्ता, खोया और इलायची पाउडर डालकर करीब 5 मिनट तक पकाएं। दूध को बीच-बीच में चलाते रहें, ताकि वो बर्तन के तलवे से ना लगे।
—  अब गैस बंद करके मिश्रण को ठंडा होने दें।
—  आखिर में कुल्फी के सांचे में डालकर सूखे मेवे डालें और सेट होने के लिए फ्रीजर में रखें।
—  लीजिए आपकी कुल्फी तैयार है।

18-02-2020
आईपीएल 2020: 57 दिन तक चलेगा टूर्नामेंट, पहली बार सबसे कम होंगे 6 डबल हैडर

नई दिल्ली। बीसीसीआई ने मंगलवार को आईपीएल 2020 के पूरे कार्यक्रम का ऐलान कर दिया है। 29 मार्च से शुरू होने वाले आईपीएल के 13वें सीजन का फाइनल मैच 24 मई को खेला जाएगा। शनिवार और रविवार को होने वाले दो मुकाबलों की संख्या घटा दी गई है। पिछली बार कुल 12 डबल हैडर मुकाबले खेले गए थे। इस बार सबसे कम छह डबल हैडर होंगे। इसकी वजह से टूर्नामेंट 57 दिन तक खिंच गया है। टूर्नामेंट का पहला मैच गत चैंपियन मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच 29 मार्च को वानखेड़े में खेला जाएगा। लीग स्टेज के सभी मैच 17 मई को समाप्त हो जाएंगे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804