GLIBS
18-09-2020
लॉक डाउन अवधि में नियमों का उल्लंघन करने वाले संस्थान होंगे 15 दिन तक सील, संचालक पर किया जाएगा जुर्म दर्ज

दुर्ग। जिले में 20 से 30 सितंबर तक लॉक डाउन की घोषणा की गई है। जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए जिला प्रशासन ने जिले के नगरीय निकाय, दुर्ग-भिलाई, भिलाई-चरोदा, रिसाली, जामुल एवं कुम्हारी क्षेत्रों में लॉक डाउन लगाया है। इस दौरान शराब की समस्त दुकानें पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगी। नगरीय निकाय प्रतिबंधित क्षेत्र के अंतर्गत समस्त साप्ताहिक हॉट बाजार भी बंद रहेेंगे। होटल एवं रेस्टोरेंट को होम डिलीवरी की अनुमति रहेगी। कलेक्टर,डॉ.सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे ने बताया कि जिले में स्थित केंद्र एवं राज्य सरकार के अधीन समस्त शासकीय/अर्धशासकीय/निजी कार्यालय में एक-तिहाई अधिकारी/कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ समयावधि में संचालित होंगी। जिले के समस्त शैक्षणिक संस्थान/कोचिंग संस्थान/ ट्युशन क्लासेस बंद रहेंगे, केवल प्रवेश प्रक्रिया एवं ऑनलाइन क्लासेस की अनुमति होगी।

जिले के प्रतिबंधित शहरी क्षेत्रों में परिवहन सेवा, टैक्सी, ऑटोरिक्शा, ई-रिक्शा प्रतिबंधित रहेेगी।  जिला एवं अंतर्राज्जीय बस परिवहन सेवा चालू रहेगी। मास्क, सैनिटाईजर, दवाईयाँ, एटीएम वाहन, एलपीजी गैस सिलेण्डर, ऑक्सीजन सिलेण्डर परिवहन करने वाले वाहनों को अनुमति रहेगी। अस्पताल, मेडिकल कॉलेज, क्लीनिक संचालित होंगे। जिले के प्रतिबंधित नगरीय निकाय क्षेत्रों में समस्त ढाबा पूर्णत: बंद रहेंगे। होटलों में लॉजिंग एवं बोर्डिंग की सुविधा उपलब्ध रहेगी। पूर्व में जारी विवाह हेतु प्राप्त अनुमति मान्य होगी। कलेक्टर ने बताया कि प्रतिबंधित क्षेत्रों में सब्जी, मटन, मछली, फल सुबह 5 बजे से सुबह 10 बजे तक, डेयरी केवल दूध व्यवसाय, सुबह 6 से 8 बजे तक, शाम को 5 से 7 बजे तक, रेस्टोरेन्ट, होटल में होम डिलीवरी सुबह 10 से रात्रि 10 बजे तक डीजल, पेट्रोल, एलपीजी एवं सीएनजी सांय 3 बजे तक, दवा दुकानें, मेडिकल स्टोर्स, चश्मा दुकानों को समय की पाबंदी से छूट रहेगी। घर पर जाकर दूध बाँटने के लिए सुबह 6 से प्रात: 9:30 बजे तक, शाम को 5 बजे से 7 बजे तक किया जा सकता है। कलेक्टर ने बताया कि यदि किसी भी व्यवसायी द्वारा उपरोक्त शर्तों में से किसी एक या एक से अधिक शर्तों का उल्लंघन किया तो तत्काल प्रभाव से 15 दिनों के लिए संस्थान सील कर दिया जायेगा। जिले के नगरीय निकाय, भिलाई 3, चरोदा, दुर्ग, भिलाई, रिसाली, जामुल, कुम्हारी क्षेत्रों में आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति संस्था, प्रतिष्ठान पर भारतीय दंड संहिता 1860 के धारा 188 के तहत दंडनीय अपराध होंगे।

 

16-09-2020
वाहन चालकों को बैनर पोस्टर, साउंड सिस्टम के माध्यम से यातायात नियमों की दी जा रही जानकारी

गरियाबंद। यातायात सुरक्षा के लिए जिला पुलिस एक हफ्ते का जागरूकता अभियान चला रही है ताकि लोगों को नियमों की पूरी जानकारी हो सके और यातायात को सुगम सुरक्षित बनाया जा सके। जिले के एसपी भोजराम पटेल, एडिशनल एसपी सुखनंदन राठौर तथा आर आई उमेश राय के निर्देशन में 13 सितंबर से 19 सितंबर तक गरियाबंद यातायात सुरक्षा अभियान चलाया जा रहा है। जिला मुख्यालय गरियाबंद में बैनर पोस्टर, साउंड सिस्टम के माध्यम से यातायात नियमों से संबंधित सभी प्रकार के वाहन चलाने वालों को रोककर यातायात नियमों के बारे में बताते हुए पंपलेट भी वितरित किया जा रहा है। इसके साथ ही भविष्य में गलतियां ना करने की समझाइश भी दी जा रही है। हेलमेट पहने बिना  दुपहिया वाहन न चलाने, बाइक पर तीन सवारी ना जाने, चार पहिया वाहन में सीट बेल्ट लगाकर वाहन चलाने, नशे की हालत में वाहन ना चलाने वाहन चलाते समय मोबाइल का उपयोग ना करने, रोड किनारे पार्किंग ना करने, ओवरटेक करते समय यातायात नियमों का विशेष ध्यान रखने, वाहन चलाते समय आवश्यक दस्तावेज लाइसेंस बीमा आरसी बुक एवं अन्य पोस्ट साथ जरूर रखने के लिए जागरूक जा रहा है। वही इस संबंध में जिले के यातायात प्रभारी रक्षित निरीक्षक उमेश राय का कहना है कि इस अभियान का उद्देश्य यातायात को सुगम सुरक्षित निर्माण बनाना है। यह तभी संभव है जब यातायात संसाधनों का उपयोग करने वाले इस के नियमों की पूरी जानकारी रखें और उसका पालन भी करें। इस जागरूकता अभियान में प्रमुख रूप से देवेंद्र वर्मा प्रधान, आरक्षक धर्मेंद्र ठाकुर नीरज सोनी, वीरेंद्र पटेल, संजय टंडन, राजेश अनंत पन्नालाल तथा संतोष ध्रुव सहयोग प्रदान कर रहे हैं।

14-09-2020
अब तक तो लोगों को रटा भी गए होंगे कोरोना से बचाव के नियम और उपाए,अपील नहीं कड़ी कार्यवाही से ही संभवत: लोग सुधरेंगे

रायपुर। कोरोना से बचाव के लिए उपायों की जानकारी बार-बार शासन-प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर दी जा रही है। लोगों में जागरुकता लाने तरह-तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। अब बारी उन लापरवाह लोगों की है कि, वे कितना जल्दी जागरुक होंगे। सारे नियमों और उपायों का ईमानदारी से पालन करेंगे। अभी भी बहुत से लोग हैं, जो नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। लापरवाही साफतौर पर देखी जा सकती है। इसी क्रम में एक बार फिर रविवार को स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेशवासियों से अपील की। सारे उपाए व नियम भी वही हैं,लेकिन उल्लंघन करने पर कार्यवाही की जानकारी नई। अब देखना है कि कार्यवाही के डर से ही सही क्या लापरवाही करने वाले अब भी सीख लेंगे और नियमों का पालन करेंगे। स्वास्थ्य विभाग ने अपील कर कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लोगों को शारीरिक और सामाजिक दूरी के उपायों का कड़ाई से पालन करने कहा है। अत्यधिक जरूरत होने पर ही घर से बाहर निकलने कहा है। घर से बाहर सभी जगहों सड़कों, बाजारों, दुकानों, कार्यालयों और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर शारीरिक और सामाजिक दूरी के मानकों का पालन करने कहा गया है। सार्वजनिक स्थानों पर ना थूकने,कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए अनावश्यक बाहर ना घूमने कहा गया है। संक्रमण से बचने के लिए घर पर ही सुरक्षित रहने की अपील की गई है।

विभाग ने लोगों से कहा है कि,यदि बाहर जाना बहुत जरूरी हो तो फेस मास्क या साफ कपड़े से नाक और मुंह को अच्छी तरह ढंककर ही निकलें। भीड़ में जाने से बचें और कम से कम एक मीटर की दूरी बनाकर ही किसी से मिलें। सैनिटाइजर या साबुन और पानी से बार-बार हाथों को साफ करते रहें। स्वास्थ्य विभाग ने अपील की है कि कोरोना संक्रमण के किसी भी तरह के लक्षण दिखाई देने पर जांच केंद्र जाकर जांच के लिए सैंपल दें। इससे डरे और घबराएं नहीं। बुखार, सर्दी, खांसी या सांस लेने में दिक्कत होने पर तुरंत जांच कराएं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए शासन की ओर से जारी दिशा-निदेर्शों का उल्लंघन करने वालों पर महामारी रोग अधिनियम-1987 के अनुसार जुमार्ने का प्रावधान किया गया है। सार्वजनिक स्थलों में मास्क या फेसकवर नहीं लगाने या वहां थूकते पाए जाने पर एक सौ रुपए का जुमार्ना लगाया जाएगा। दुकानों और व्यवसायिक संस्थानों में शारीरिक-सामाजिक दूरी के नियमों के उल्लंघन पर मालिकों पर 200 रुपए का जुमार्ना आरोपित किया जाएगा। होम-क्वारेंटाइन के दिशा-निदेर्शों के उल्लंघन पर एक हजार रुपए जुमार्ना किया जाएगा। जुमार्ना नहीं पटाने वालों के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा-188 के तहत दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी।

12-09-2020
Video: लॉकडाउन के दौरान चोरी करने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार, सवा लाख के जेवरात बरामद

दुर्ग। लॉक डाउन में जब पूरा शहर कोविड-19 से लड़ने के लिए घर में रहकर प्रशासन के नियमों का पालन कर रहा था। तब ये शातिर चोर चोरियों को अंजाम दे रहे थे। लॉकडाउन के दौरान जयंती नगर दुर्ग में मार्च से अप्रैल महीने में चोरियां होने की सूचना दर्ज कराई गई थी। इस दौरान हुर्ई चोरियों को ध्यान में रखते हुए टीम द्वारा बारीकियों से नजर रखी जा रही थी। मोहन नगर थाना प्रभारी बृजेश कुशवाहा ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि मुंबई आवास उरला के कुछ संदिग्ध युवक चोरियों को अंजाम दे रहे हैं। इस पर तीन आरोपियों को आज शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार चोरों से 1 लाख 25 हजार के सोने-चांदी के जेवरात जब्त किया गया। पकड़े गए आरोपियों में सुरेंद्र यादव 23 वर्ष,ईश्वर साहू 20 वर्ष और एक नाबालिग शामिल है। इन आरोपियों के खिलॉफ धारा 457 380 धारा 34 के तहत अपराध कायम कर लिया है।




 

 

10-09-2020
होम आइसोलेशन के नियमों का कड़ाई से कराएं पालन, उल्लंघन पर करें कड़ी कार्रवाई : कलेक्टर

कोरबा। जिले में ऐ-सिम्प्टोमेटिक कोविड मरीजों को होम आईसोलेशन मे अपने घर पर रहकर इलाज की सुविधा देने की सभी तैयारियां जिला प्रशासन ने पूरी कर ली है। कलेक्टर किरण कौशल ने वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से राजस्व एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर तैयारियों की समीक्षा की और उन्हें होम आईसोलेशन के नियमों का मरीजो द्वारा कड़ाई से पालन कराना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने होम आईसोलेशन मे रहकर इलाज कराने वाले मरीजों से कोविड प्रोटोकाॅल और शासन द्वारा निर्धारित किए गए नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील की है। किरण कौशल ने अधिकारियों को भी सख्त निर्देशित किया है कि होम आईसोलेशन के नियमों को उल्लंघन करने वाले मरीजों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कोरोना संक्रमण को जिले मेें फैलने से रोकने और कोविड मरीजों को बेहतर इलाज की सुविधा देने के लिए आमजनों से भी सहयोग की अपेक्षा की है।

बैठक मे पुलिस कप्तान अभिषेक मीणा, जिला पंचायत के सीईओ कुंदन कुमार, नगर निगम आयुक्त एस. जयवर्धन, अपर कलेक्टर प्रियंका महोबिया, सीएमएचओ डाॅ.बीबी बोडे सहित एसडीएम सुनील नायक एवं सूर्यकिरण तिवारी और स्वास्थ्य तथा राजस्व विभाग के अन्य अधिकारी भी शामिल हुए।  बैठक में कोविड के बिना लक्षण वाले मरीजों को होम आईसोलेशन मे रखने की पात्रता और शासकीय दिशा-निर्देशों की जानकारी भी अधिकारियों को दी गई। होम आईसोलेशन में रहने वाले मरीजों की निगरानी के लिए जिला स्तर पर सक्रिय दल भी बनाए गए हैं। यह सक्रिय दल हर तीन दिन मे होम आइसोलेटेड मरीज के घर का निगरानी करेगा। यह दल मरीज और उनके परिवार के सदस्यों का बाहर के लोगों से मिलना-जुलना या किसी भी प्रकार का सम्पर्क ना हो यह भी सुनिश्चित करेंगे। कलेक्टर कौशल ने बैठक में सभी एसडीएम को यह भी निर्देशित किया कि सक्रिय टीम बनाकर होम आईसोलेशन मे रहने वाले सभी मरीजो की निगरानी करने में गंभीरता पूर्वक काम करें। कलेक्टर ने सभी एसडीएम को कोरोना संक्रमित के काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग का काम 12 घंटे के अंदर मे करवाने के भी निर्देश दिए।

जिले मे कोरोना के बढ़ते कदम को रोकने के लिए कलेक्टर किरण कौशल ने टेस्ट, आईसोलेट तथा ट्रीट के फार्मूले को अपनाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने बैठक मे बताया कि कोरोना संक्रमित मरीजो कीे मृत्यु की दर को कम करने के लिए यह फार्मूला अपनाया जा रहा है। इसके तहत ज्यादा से ज्यादा संख्या मे कोरोना टेस्ट किए जाएंगे। पाॅजिटिव मरीजो के प्राथमिक संपर्क मे आये सभी लोगो की पहचान करके जल्द से जल्द सभी लोगो के कोरोना टेस्ट व्यापक संख्या मे किये जायेंगे। बिना लक्षण वाले मरीजो की इलाज होम आईसोलेशन मे रखकर किया जायेगा। होम आईसोलेशन की अनुमति देने के लिए जिला स्तरीय निगरानी दल गंभीरता पूर्वक कोरोना को रोकने के लिए काम करेंगे। कलेक्टर किरण कौशल ने कोरोना की रोकथाम के लिए होम आइसोलेशन वाले परिवार की कड़ाई से निगरानी करने के निर्देश भी दिये।

 

30-08-2020
कोविड से बचाव के अनिवार्य नियम तोड़ने पर 119 लोग फंसे, कलेक्टर के आदेश पर कार्यवाही जारी

रायपुर। कलेक्टर डाॅ. एस भारतीदासन के आदेशानुसार और नगर निगम रायपुर के आयुक्त सौरभ कुमार और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव के निर्देशानुसार नगर निगम के सभी 10 जोनों में कार्यवाही जारी है। नगर निवेश, स्वास्थ्य, राजस्व विभाग की टीमें, पुलिस टीम के साथ मिलकर बाजारों में निगरानी रख रही है। कोविड 19 के संक्रमण के प्रसार की रोकथाम कारगर तरीके से करने कार्यवाही के साथ समझाइश दी जा रही है। निरंतर मास्क नहीं लगाने वाले, सामाजिक दूरी नियम तोड़ने वाले और लाॅक डाउन नियम तोडने वालों व दुकानदारों पर जुर्माना किया जा रहा है। 

इसी कड़ी में शनिवार को भी कार्यवाही जारी रही। जोन 4 की टीम ने 47 लोगों से 3600 रुपए जुर्माना मास्क नहीं पहनने के कारण वसूला। जोन 7 की टीम ने 25 लोगों से 2050 रुपए नियम तोड़ने पर जुर्माना वसूला। जोन 9 की टीम ने 47 लोगों से 4650 रुपए जुर्माना मास्क नहीं पहनने के कारण वसूला। इस तरह कुल 119 लोगों से नियमों के उल्लंघन पर निगम की टीमों ने जोन कमिश्नर के नेतृत्व कार्यवाही की। कुल 10300 रुपए जुर्माना वसूला।

25-08-2020
नियम तोड़ने पर 264 लोगों ने भरा जुर्माना, नगर निगम के सभी जोनों में कार्यवाही जारी  

रायपुर। कोविड से बचाव के संबंध में जारी दिशानिर्देशों व नियमों का उल्लंघन करने पर लगातार नगर निगम के सभी जोनों में कार्यवाही जारी है। इसी क्रम में सोमवार को भी नियम तोड़ने वालों से जुर्माना वसूल किया गया। जोन 3 की टीम ने 87 लोगों से 4845 रुपए नियम तोड़ने पर जुर्माना वसूला। जोन 4 की टीम ने 101 लोगों से 7250 रुपए और जोन 5 की टीम ने 76 लोगों से 4820 जुर्माना वसूला। निगम की टीमों ने पुलिस की टीमों के साथ मिलकर जोन कमिश्नर के नेतृत्व में बाजार में अभियान चलाया। 264 लोगों से 16915 रुपए जुर्माना वसूल किया गया। 

बता दें कि रायपुर कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन के आदेशानुसार और नगर निगम रायपुर के आयुक्त सौरभ कुमार और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव के निर्देशानुसार रायपुर नगर निगम के सभी 10 जोनों के नगर निवेश, स्वास्थ्य, राजस्व विभाग की टीमों की ओर से  पुलिस प्रशासन की टीम के साथ मिलकर अभियान चलाया जा रहा है। शहर निगम क्षेत्र में कोविड 19 के संक्रमण के प्रसार की रोकथाम कारगर तरीके से करने निरंतर मास्क नहीं लगाने वाले, सामाजिक दूरी के नियम तोड़ने वाले और लॉक डाउन नियम तोड़ने वाले लोगों व दुकानदारों पर कार्यवाही निरंतर जारी है।

20-08-2020
नियमों की अनदेखी,कोरोना काल में ली जा रही स्कूल में क्लास

कांकेर। कांकेर जिले के नरहरपुर ब्लॉक के ग्राम नावडबरी  के हाईस्कूल में शासन प्रशासन के सारे नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। 26 स्कूली छात्रों को बकायदा क्लास के एक रूम में एक साथ बिना मास्क व बिना सेनिटाइजर लगाये व हाथ धुलाये, सोशल डिस्टेंनसिंग का पालन किये बिना छात्र-छात्राओं की क्लास ली जा रही थी। इस संबंध में जब स्कूली छात्रों से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि 15 अगस्त के बाद से यहाँ स्कूल संचालित किया जा रहा है। इस संबंध में प्राचार्य का कहना था कि पुस्तक वितरण के लिए बच्चों को बुलाया गया था। जबकि ऐसा कुछ भी वहाँ देखने को नहीं मिला बच्चे बकायदा टेबल में स्कूल ड्रेस के साथ वहाँ पढ़ाई कर रहे थे जिनकी संख्या 26 थी। इस संबंध में कांकेर जिला शिक्षा अधिकारी राकेश पांडे ने कहा कि ऐसा है तो जांच करवाई जाएगी व जो भी दोषी है उस पर उचित कार्यवाही की जाएगी।

 

25-07-2020
भूपेश बघेल ने रायपुर में बढ़े कोरोना संक्रमण पर जताई चिंता,नियमों का कड़ाई से पालन करने की अपील

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रायपुर सहित प्रदेशवासियों से कोरोना संक्रमण की रोकथाम और बचाव के उपायों का कड़ाई से पालन करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि कोरोना का अभी इलाज नहीं है, न ही वैक्सीन आई है,इससे बचाव में ही सुरक्षा है। गाइडलाइन के अनुसार मास्क, सैनिटाइजर और फिजिकल डिस्टेंसिंग का लगातार कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री बघेल शनिवार को सोनाखान भवन में मीडिया से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राजधानी रायपुर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले चिंता का विषय है। रायपुर के लोग जागरूक हैं। बचाव के उपायों का पालन कर संक्रमण को रोका जा सकता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की ओर से संक्रमण से बचाव के सभी ऐहतियाती उपायों का क्रियान्वयन किया जा रहा है। मरीजों के लिए अस्पतालों में पर्याप्त बेड उपलब्ध हैं। मरीजों का इलाज किया जा रहा है। बड़ी संख्या में मरीज ठीक हो रहे हैं। अभी छत्तीसगढ़ में दिल्ली, मुंबई जैसी स्थिति नहीं है।

18-07-2020
शटर गिराकर हो रहा गोदामों में काम, जिला प्रशासन को सुध नहीं

रायपुर। शहर के आउटर में शटर बंद कर दुकानों और गोदामों में काम कराया जा रहा है। सूत्रों की माने तो 7 बजे सभी संस्थानों को बंद करने के नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। रायपुर के खमतराई, भनपुरी, फाफाडीह अन्य क्षेत्रों में नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। संस्थानों के अंदर से शटर लगाकर कर्मचारियों से काम लिया जा रहा है। कई फैक्ट्रियों, गोदामों जैसे कि कई आलू-प्याज गोदाम जहां शटर बंद कर के काम कराया जा रहा है। लेकिन जिला प्रशासन को इसकी सुध भी नहीं है। अब देखना यह होगा कि जिला प्रशासन कब इसकी सुध लेगा और कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप से बचने में नियमों को सफल साबित करेगा।

16-07-2020
Video: कंटेनमेंट जोन की ड्रोन से होगी निगरानी, कलेक्टर ने दिए नियमों को पालन करने के निर्देश

अंबिकापुर। नगर निगम के कई क्षेत्रों को कंटेंमेंट जोन घोषित किया गया है। सरगुजा कलेक्टर संजीव झा ने कंटेंमेंट जोन का दौरा किया। नगर निगम और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को  निर्देश दिए है की कंटेंमेंट जोन के एरिया में सख्ती से नियमों का पालन करवाया जाए। इससे की बढ़ते मरीजों के चेन को तोडा जा सके और कई कन्टेनमेंट जोन को ड्रोन से भी निगरानी करने का फैसला भी लिया गया है। शहर के मटन मार्किट को 3 दिनों  के लिए बंद कर दिया गया है।

27-06-2020
निगम क्षेत्र में पूर्ण लॉक डाउन, नियम तोड़ने वालों पर प्रशासन कठोर

राजनांदगांव। कोरोना वायरस के मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए जिला प्रशासन ने पूरे सप्ताह सुबह 7 से 12 बजे तक तथा शनिवार व रविवार को पूरी तरह बंद का आदेश जारी किया गया था। इस आदेश का उल्लंघन करते पाए जाने पर कमला कॉलेज रोड स्थित एक दुकान को सील कर दिया गया। वहीं प्रशासन व पुलिस की शहर में गश्त लगातार जारी है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804