GLIBS
01-12-2020
ग्रामीणें को बताए गए यातायात के नियम, पाम्पलेट बांटकर किया जागरुक

कांकेर। छात्र युवा मंच ने यातायात जागरुकता अभियान चलाया। केंद्रीय परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय के दिशा निर्देश अनुसार गोंडाहुर थाने के प्रभारी की उपस्थिति में यातायात जागरुकता अभियान चलाया गया है। वाहन चालकों व आमजनों को यातायात जागरुकता संबंधी पाम्पलेट का वितरण किया गया। इसमें हेलमेट की अनिवार्यता, शराब पीकर वाहन न चलाने, वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग नहीं करने आदि सावधानी बरतने की सलाह दी गई। छात्र युवा मंच ने गांवों में पाम्पलेट बांटे। मंगलवार को गोंडाहुर में पैदल रैली निकाली गई और लोगों को जागरुक किया गया। इस अभियान में पुलिस थाना गोंडाहूर के थाना प्रभारी के साथ थाने के जवान ने सहयोग किया। छात्र युवा मंच के सदस्य सिया मिस्त्री, सपना मिस्त्री, कींकर मिस्त्री, शुभम राय, जयंत राय, सनोजीत, अयन, सम्पत उपिस्थत रहे। 

 

20-11-2020
शनिवार को बंद रहेंगी दुकानें, पढ़िए क्या है नियम..

जगदलपुर। शहर में संचालित अधिकतर व्यापारिक प्रतिष्ठान अब शनिवार को बंद रहेंगे। त्योहारों को देखते हुए व्यापारियों को गुमाश्ता एक्ट से मिली छूट को वापस ले लिया गया है। बताया जा रहा है कि त्योहारों को देखते हुए व्यापारियों को सप्ताह में सातों दिन दुकाने खोलने की छूट दी गई थी पर एक बार फिर कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए इस फैसले को वापस ले लिया गया है। निगम आयुक्त प्रेम कुमार पटेल ने बताया कि व्यापारियों को अनिवार्य रूप से गुमाश्ता एक्ट का पालन करना होगा। इसके अंतर्गत निर्धारित दिवस (शनिवार अथवा रविवार जो भी निर्धारित हो) को व्यापारी अपने प्रतिष्ठानों को नियमानुसार बंद रखेंगे नहीं तो उन पर विधिसम्मत कार्यवाही की जायेगी।

 

02-11-2020
'आमचो यातायात चो गोठ' अभियान चलाकर यातायात पुलिस ने ग्रामीणों को बताए नियम

कोंडागांव। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के निर्देशन में गांव के हाट बाजार में लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से यातायात पुलिस कोंडागांव द्वारा आम्चो यातायात चो गोठ नाम से  अभियान चलाया जा रहा है। सोमवार को उपपुलिस अधीक्षक (यातायात) निकिता तिवारी, यातायात प्रभारी उप निरीक्षक रविशंकर पांडेय एवं थाना प्रभारी विश्रामपुरी रविशंकर ध्रुव द्वारा इस अभियान की शुरुआत थाना विश्रामपुरी क्षेत्र के ग्राम विश्रामपुरी एवं बड़े राजपुर के साप्ताहिक बाजार से की गई,जहां बाजार में होर्डिंग लगाकर यातायात संकेत तथा नियमों की जानकारी आमजन को दी गई। नागरिकों को बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं के कारणों को बताकर उनसे बचने के उपाय बताए गए। अभियान में न केवल यातायात नियमों की जानकारी दी गए बल्कि इसके साथ ही उपस्थित नागरिकों को मास्क वितरित कर आगामी दीवाली त्योहार में कोविड संक्रमण को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्तांसिंग का पालन करते हुए , मास्क एवं स्वच्छता का ध्यान रखकर सुरक्षित दीपावली मनाने की अपील भी की गई। मौके पर उपस्थित आमजन ने भी कार्यक्रम में रुचि दिखाते हुए यातायात संबंधित अपनी जिज्ञासा जाहिर की जिनका बड़ी सहजता से उप पुलिस अधीक्षक यातायात ने निराकरण किया।

 

25-10-2020
हमारे साथ देर रात तक खप्पर देखने वाले 14 हजार से अधिक लोगों का ग्लिब्स न्यूज की ओर से आभार

कवर्धा। कोरोना वायरस के कारण प्रशासन के कड़े नियमों के साथ ही लोगों की मांग पर जिले की सुख,शांति के लिए तीन सिद्धि पीठ मंदिर से खप्पर निकाला गया। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए प्रशासन ने लोगों से घर से बाहर न निकलने की अपील की। लोगों ने इसका पालन भी किया और शहर व जिलावासियों ने घर में ही रहकर सीधे अपने मोबाइल पर खप्पर का दर्शन कर आशीर्वाद लिया। लोग अपने घर पर ही रहकर खप्पर दर्शन कर सके,इसके लिए ग्लिब्स.इन ने अपने यूट्यूब चैनल पर लाइव किया था। 14 हजार से अधिक लोगों ने ग्लिब्स न्यूज के यूट्यूब चैनल के माध्यम से खप्पर का दर्शन किया। हमारे चैनल को लाइक व सस्क्राइब करने व 14 हजार से अधिक लाइव देखने वाले सभी श्रद्धालुओं नागरिकों का आभारॉ,जो रात 11 बजे से 2 बजे तक हमारे साथ मिलकर लाइव कवरेज को देखें। ग्लिब्स न्यूज आप सभी का आभारी है।

23-10-2020
प्याज की अनियंत्रित कीमतों पर काबू करने केंद्र सरकार ने लागू किए नियम,विक्रेताओं के लिए की भंडारण सीमा तय

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने प्याज की जमाखोरी रोकने तथा इसके मूल्य को नियंत्रित करने के लिए तुरंत प्रभाव से भंडारण सीमा निर्धारित कर दी है। उपभोक्ता मामलों की सचिव लीमा नंदन ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्याज के थोक विक्रेताओं के लिए भंडारण सीमा 25 टन और खुदरा विक्रेताओं के लिए यह सीमा दो टन निर्धारित की गई है। उन्होंने कहा कि पिछले डेढ माह से प्याज की कीमतें बढ रही थी। भंडारण सीमा निर्धारित किये जाने से प्याज की जमाखोरी करने वाले के साथ आवश्यक कार्रवाई की जा सकेगी। उल्लेखनीय है कि कुछ स्थानों पर प्याज का खुदरा मूल्य करीब 70 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि प्याज के मूल्य को नियंत्रित करने के लिए इसका निर्यात रोक दिया गया और इसका आयात करने का निर्णय लिया गया है। इसके साथ ही प्याज के एक लाख टन के बफर स्टाक से राज्यों को उनकी मांग के हिसाब से इसकी आपूर्ति की जा रही है। राज्यों को 25 रुपये प्रति किलो के हिसाब से प्याज दिया जा रहा है। बफर स्टाक में अब भी करीब 25 हजार टन प्याज बेचा है। केरल और असम को बफर स्टाक से प्याज की आपूर्ति की गई है। इसके अलावा तमिलनाडु, आन्ध्र प्रदेश और तेलंगना ने भी प्याज की मांग की है। उन्होंने बताया कि इस बार भारी वर्षा से कुछ स्थानों में प्याज की खरीफ फसल को नुकसान हुआ है जबकि महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में प्याज की पैदावार में कमी आयी है। महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में 43 लाख टन प्याज उत्पादन का अनुमान था जो घटकर 37 लाख टन हो गया है। उपभोक्ता मामलों की सचिव ने कहा कि पिछले दस साल के दौरान प्याज का उत्पादन 150 लाख टन से बढकर 261 लाख टन हो गया है। वर्ष 2019-20 के दौरान रिकार्ड 261 लाख टन प्याज का उत्पादन हुआ था। इस वर्ष करीब 15 लाख टन प्याज का निर्यात किया गया है । अब एमएमटीसी और कुछ निजी कम्पनियां प्याज आयात करने की प्रक्रिया में है।

23-10-2020
नगर निगम टीम वसूल रही अर्थदंड, समझाइश के बाद भी नहीं सुधर रहे लोग, कर रहे नियमों की अनदेखी

रायपुर। कोरोना के खिलाफ जंग को जीतने जिला और निगम प्रशासन मुस्तैदी से लगा है। नगर निगम की टीम अपने सभी जोनों में कोविड—19 के प्रसार को रोकने अभियान चला रही है। इसमें पुलिस प्रशासन सहयोग कर रहा है। शासन की गाइडलाइन का पालन नहीं करने वाले लापरवाह लोगों से जुर्माना वसूला जा रहा है बावजूद इसके लोग नहीं सुधर रहे हैं। राजधानी में बिना मास्क लगाए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों पर सख्ती बरती जा रही है। शुक्रवार को भी निगम टीम ने पुलिस के साथ मिल कर लापवाहों से अर्थदंड वसूला। शुक्रवार को कुल 20,420 रुपए का जुर्माना वसूला गया है। इसमें जोन 1 टीम ने 75 लोगों पर 4300 रुपए, जोन 3 ने 38 लोगों पर 1700 रुपए और जोन 4 ने 72 लोगों से 4800 रुपए अर्थदंड वसूला। इस प्रकार जोन 5 ने मास्क नहीं पहनने पर 53 लोगों पर 3250 रुपए,जोन 6 ने 18 लोगों से 820 रुपए,जोन 7 ने 30 लोगों से 3000 रुपए और जोन 8 ने 20 लोगों पर 1000 रुपए जुर्माना वसूली की। जोन 9 ने नियमों का उल्लंघन करने पर 29 लोगों पर 1550 रुपए का जुर्माना ठोका और चेतावनी दी की नियमों का पालन कर अपने और अपने परिवार की कोरोना महामारी से रक्षा करे। आपकी एक भूल परिजनों के साथ मोहल्ले वालों के लिए भी परेशानी का सबब बन सकती है। 

 

17-10-2020
रेलवे सिग्नल पर गलत तरीके से पटरी पार करने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई

रायपुर। ट्रेन की तेज रफ्तार की चपेट से राहगीरों को बचाने रेलवे सुरक्षा बलों ने कार्यविधि सख्त कर दी है। इसके अंतर्गत रेलवे सिग्नल पर गलत तरीके से पटरी पार करने वाले बाइक सवार, साइकिल सवार, पैदल राहगीरों को समझाइस दी गई। इससे राहगीर रेलवे यातायात के नियमों का पालन करते हुए रेल फाटक पार कर खुद को जान-माल की नुकसान से बचा सके। रेल पटरी पार करने के नियामों की समझाइस व जागरूकता के बाद भी अगर कोई बंद फाटक से आड़े-तिरछे होकर बाइक व पैदल पटरी पार करता है तो उन लापरवाह व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए रेलवे फाटकों पर आरपीएफ के जवान नियमित मॉनिटरिंग करेंगे। 
इसी कड़ी में रायपुर मंडल में 5 दिवसीय समपार फाटक सुरक्षा विशेष जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। रायपुर रेल मंडल के विविध रेलवे फाटकों पर रेलवे सुरक्षा बल के जवानों ने सड़क यातायात करने वालों को फाटक बंद होने कि स्थिति में लापरवाही पूर्वक पटरी पार नहीं करने की समझाइस दी गई।

रेलवे सुरक्षा बल ने राहगीरों से कहा कि अगर कोई व्यक्ति बंद रेलवे समपार फाटक को पार करने, खोलने, तोड़ने एवं बिना गेटकीपर वाले फाटकों को लापरवाही पूर्वक पार करेगा तो ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ रेल अधिनियम के तहत जुर्माने से लेकर गिरफ्तारी की कार्रवाई की जाएगी।  रायपुर रेल मंडल के अधिकारियों ने बताया कि पिछले एक साल में मंडल क्षेत्र के रेलवे फाटकों को लापरवाही पूर्वक पार करने वाले 45 लोगों को गिरफ्तार किया है। रेलवे सुरक्षा बलों की टीम ने रेल अधिनियम के तहत संबंधित व्यक्तियों के खिलाफ यह कार्रवाई की गई है। इस प्रकार की घटनाओं से ट्रेन एवं रेल यात्रियों की सुरक्षा व संरक्षा प्रभावित होती है। यह रेल दुर्घटना की प्रमुख वजह बनती है। ऐसे में रेलवे फाटकों पर दुर्घटनाओं को कम करने कठोर कदम उठाए जा रहे हैं।

16-10-2020
Breaking: रायपुर में धुमाल और बैंड बजाने मिली अनुमति,नियमों और शर्तों का करना होगा पालन  

रायपुर। जिले के अंतर्गत सामाजिक कार्यक्रमों के दौरान धुमाल और बैंड को बजाने की अनुमति शर्तों के अधीन दी गई है। अपर कलेक्टर ने इस संबंध में आदेश जारी किया है। आदेश के मुताबिक धुमाल व बैंड बजाने वालों की कुल संख्या 10 लोगों से ज्यादा नहीं होगी। साउंड बॉक्स बजाने की अनुमति नहीं होगी। सार्वजनिक रोड पर नहीं बजाया जा सकेगा। केवल कार्यक्रम के नियत स्थान पर बजाने की अनुमति अधिकतम समय रात्रि 10:00 बजे के लिए मान्य होगी। जिस क्षेत्र में धुमाल या बैंड बजाया जाना है, उसके पूर्व क्षेत्र के थाना प्रभारी को पूर्व सूचना देना होगा। धुमाल बैंड के बजाने वालों में सम्मिलित होने वाले समस्त व्यक्तियों की थर्मल स्क्रीनिंग कराया जाना, मास्क पहनना, समय-समय पर हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करना, फिजिकल डिस्टेंसिंग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन,व्यक्तियों के मध्य कम से कम 2 मीटर 6 फीट दूरी रखना अनिवार्य होगा।

03-10-2020
डॉ. टेकाम ने कहा-‘बस्तर नोनी’ कॉल सेंटर समस्याओं को प्रशासन तक पहुंचाने का सहारा बनेगा

रायपुर। आदिम जाति कल्याण मंत्री और बस्तर जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से कोरोना के संबंध में लोगों की सहायता के लिए स्थापित ‘बस्तर नोनी’ कॉल सेंटर का शुभारंभ किया। मंत्री डॉ. टेकाम ने कॉल सेंटर की सराहना की। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जब पूरा विश्व अपने तरीके से इस महामारी से लड़ने की कोशिश कर रहा है, हमे भी आगे आने की आवश्यकता है। यह कॉल सेंटर काफी लोगों की समस्याओं को प्रशासन तक पहुंचाने का सहारा बनेगा। जनता को भरोसा दिलाएगा की शासन-प्रशासन उनके स्वास्थ्य को लेकर गंभीर और तत्पर है। इस बीमारी से लड़ने और हराने का लोगों को मनोबल भी प्रदान करेगा। बस्तर नोनी कॉल सेंटर एक रचनात्मक सोच है, यह एक अच्छा प्रयास है, जिसमें एक बच्ची लोगों को जागरूक कर रही हैै। उन्होंने इस कार्य के लिए स्वयं सेवक के रूप में अपना योगदान देने वाले डॉक्टर्स और नर्सिंग कॉलेज के प्राध्यापकों से चर्चा कर अनुभवों को सुना और उनके कार्यों की सराहना की।

मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि गढ़बो नवा जगदलपुर बस्तर के विकास को एक नया आयाम प्रदान करेगा। जैसे-जैसे अधोसरचाएं व्यवस्थित होती जाएगी, विकास की सभी योजनाओं में हर वर्ग और उम्र के लोगों के लिए पर्याप्त अवसर प्राप्त होगा। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की परियोजना में जनता के सुझाव बहुत महत्वपूर्ण हैं। सांसद दीपक बैज ने कहा कि लोगों के मन में कोरोना के प्रति भय और शंका को दूर करने में यह कॉल सेंटर और एप सहायता करेंगे। इसके माध्यम से अधिक से अधिक लोगों की मदद की जा सकती है। विधायक राजमन बेंजाम ने विकासखण्ड स्तर पर कोविड केयर सेंटर की स्थापना की आवश्यकता बताते हुए कहा कि इससे ग्रामीणों को राहत मिलेगी।

कलेक्टर रजत बंसल ने बताया कि इस कॉल सेंटर के माध्यम से कोविड-19 से संबंधित जानकारी दी जाएगी। इसके जरिए होम आइसोलेशन के नियम, कोविड जांच की सुविधा, एंबुलेंस की सुविधा, कोविड संक्रमित के संपर्क में आने पर उठाए जाने वाले कदम, घबराहट व तनाव की स्थिति में चिकित्सकीय परामर्श, एमरजेंसी सेवा के बारे में आदि जानकारी प्राप्त होगी। एप के माध्यम से कोविड संबंधित समस्त जानकारी लोगों को प्राप्त होगी। वर्तमान में लोगों में कोविड के संबंधित गलत धारणा बनी हुई है, जिसे कॉल सेंटर के माध्यम से इसे दूर करने की पहल जिला प्रशासन की ओर से की जा रही है। कॉल सेंटर के माध्यम से लोगों को कोविड संबंधित सही जानकारी प्राप्त होगी और लोग कोविड के प्रति सजग और जागरूक होंगे। कॉल सेंटर की सेवा सप्ताह के सातों दिन चौबीसों घंटे उपलब्ध होगी। इसके माध्यम से प्रशिक्षित वॉलेंटियर्स की ओर से लोगों की समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

26-09-2020
नियमों के उल्लंघन पर कोरोना मरीज के खिलाफ एफआईआर, रायपुर का मामला

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने कोरोना वायरस संकमण के नियंत्रण और रोकथाम के लिए आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। शासन की ओर से जारी निर्देशों के उल्लंघन करने पर एपीडेमिक डिसीज एक्ट और विधि अनुकुल नियमानुसार अन्य धाराओं के तहत कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। इसी के तहत शनिवार को जोन-3 के इंसिडेंट कमांडर गीता दीवान ने आनंद नगर मौलीपारा निवासी कोरोना संक्रमित पुरुष के खिलाफ एपेडेमिक एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कराई है। शासन की ओर से कोरोना संक्रमित व्यक्ति के निवास पर होम आइसोलेशन का स्टीकर और रिबन भी लगाया गया था। कोरोना संक्रमित व्यक्ति को निर्देश दिए जाने के बाद भी प्रशासन का सहयोग ना कर संक्रमण फैलाने का कार्य किया गया। व्यक्ति के खिलाफ एपिडेमिक एक्ट का उलंघन कर जानबूझकर संक्रामक बीमारी फैलाने के अपराध में धारा  270 आईपीसी के तहत अपराध दर्ज किया गया है। जिला प्रशासन ने कहा है कि,होम आइसोलेशन की सुविधा मरीजों को उनके बेहतर स्वास्थ्य लाभ के लिए दी गई है। इसका उल्लंघन करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

 

21-09-2020
कलेक्टर की अपील : कोरोना को बचाव से ही हराया जा सकता है,आत्मनियंत्रण और जिम्मेदारी से सभी नियमों का पालन करें

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने  जिले के नागरिकों से अपील की है। उन्होंने कहा है कि, राजधानी में कोरोना संक्रमण से बचाव में सभी अपनी जागरुकता और आत्मनियंत्रण से अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करें। जिले में बढ़ रहे संक्रमण की श्रृंखला को बाधित करने के उद्देश्य से जिला प्रशासन ने प्रभावी रोकथाम और नियंत्रण के लिए 21 सितंबर की रात 9 बजे से 28 सितंबर के रात 12 बजे तक कुल 7 दिनों के लिए लॉक डाउन किया है। जिले में धारा 144 लागू कर  जिले के सम्पूर्ण क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। कलेक्टर ने कहा है कि, इस बीमारी को बचाव के माध्यम से ही हराया जा सकता है , इसके लिए आवश्यक है कि घर से बाहर निकलने पर मास्क पहने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, हाथ बार-बार धोएं, आयुर्वेदिक उपायों को अपनाएं, स्वच्छता का ध्यान रखें। उन्होंने कहा है कि, सही समय पर मरीज की पहचान होने पर उसे समुचित उपचार से कोरोना की गंभीरता से दूर रखा जा रहा है। देरी से पहचान होने में लोगों को जान का खतरा हो रहा है। इसलिए सभी से आग्रह है कि, किसी प्रकार का लक्षण आते ही तुरंत जांच कराएं। कलेक्टर ने कहा है कि, लॉक डाउन कभी स्थायी हल नहीं हो सकता है।

अत: इस दौरान आदेशों और प्रतिबंधों के कारण जो नियंत्रण स्थापित किया जाएगी, उसकों दैनिक जीवन का हिस्सा सभी को आत्मनियंत्रण से बनाना होगा। तभी हम इस महामारी पर विजय प्राप्त कर सकेंगें। इसके लिए अनावश्यक घरों से न निकलें,क्योंकि यदि आप कहीं बाहर संक्रमित होकर आते हैं तो संभव हैं कि आपकी प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होने के कारण यह आपको उतना नुकसान नहीं करेगा, जितना आपके घर के बुजुर्गों, बच्चों और असाध्य रोगों से पीड़ित परिवारजनों को कर सकता है। कलेक्टर ने कहा है कि,आपकी एक असावधानी आपके हंसते खेलते परिवार के लिए जानलेवा हो सकती है। इसलिए अपने परिवार,समाज और सम्पूर्ण मानवता के हित में वह सभी कोरोना बचाव के उपायों को अपनी जीवनशैली का हिस्सा बनाएं, जो आवश्यक है। उन्होंने कहा है कि शासन, प्रशासन और समस्त प्रशासनिक अमला आप सभी की सेवा और सुरक्षा के लिए कटिबद्ध है। हर स्तर पर आपके साथ है। सभी प्रशासनिक कर्मियों, स्वास्थ्य कर्मियों और स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ सद्भावनापूर्ण व्यवहार करते हुए सहयोग करें।

 

20-09-2020
कंटेनमेंट जोन के नियमों का कड़ाई से पालन कर सुरक्षित रहे : सुमित जैन

 धमतरी। शहर में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण पूरे नगरीय निकाय में 22 सितंबर से 10 दिनों तक के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। सभी दुकानों एवं अन्य जगहों को बंद किया गया है, जिससे संक्रमण की चैन को रोका जा सके। धमतरी व्यापारी संघ, चेम्बर एवं आम नागरिकों के साथ कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने मीटिंग कर 10 दिनों के लिए कंटेनमेंट जोन करने का निर्णय लिया है। जैन युवा संघ के प्रदेश सचिव और कांग्रेस शहर महामंत्री सुमित जैन ने कहा कि निश्चित ही यह निर्णय शहर के हित में लिया गया है। इस फैसले से संक्रमण की रफ्तार कम होगी। हाल में ही संक्रमण की रफ्तार अत्यधिक तेज हो गई है, जिससे रोजाना 50 से 100 संक्रमित मरीज मिलने लगे हैं। लिए गए फैसले से कोरोना वायरस का फैलाव कम होगा। सुमित जैन ने लोगों से अपील की है कि इस निर्णय को सभी लोग गंभीरता से ले और इसे सफल बनाए। जरूरत पड़ने पर ही घर से निकले, आवश्यक कार्य के लिए निकलना पड़े तो मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग करें। आप सभी लोगों के सहयोग से निश्चित ही कोरोना की चेन को तोड़ा जा सकता हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804