GLIBS
07-04-2020
जिला प्रशासन के अधिकारियों ने की मॉक ड्रिल, लोगों से की घरों में रहने की अपील

रायगढ़। यूं तो रायगढ़ शहर के लिए यह एक अच्छी बात है कि अब तक रायगढ़ के सारे कोरोना जांच के सैंपल नेगेटिव आए हैं। लेकिन जिला प्रशासन कोरोना को लेकर काफी संजीदा है। लगातार जिला प्रशासन द्वारा लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंस का पाठ लोगों को पढ़ाया जा रहा है। कोरोना वायरस के मॉडल शहर में भ्रमण कर लोगों को जागरूक कर रहे हैं। पर यदि भविष्य में कोई भी मरीज कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उसके लिए जिला प्रशासन की क्या तैयारी है। इसी का आज मॉक ड्रील रायगढ़ की सत्ती गुड़ी चौक में किया गया। मॉक ड्रिल में जिला कलेक्टर यशवंत कुमार, जिला पंचायत सीईओ रिचा चौधरी, सीएमएचओ केसरी एवं जिला प्रशासन की पूरी टीम स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा विभाग के लोगों के साथ उपस्थित रहे। और घर घर जाकर लोगों से पूछताछ कर किस प्रकार से इस वायरस की बीमारी से निपटना है। उस का जायजा लिया।

अगर कोई भी कोरोना का पॉजिटिव पाया जाता है तो लगभग 3 किलोमीटर के क्षेत्र को पूरी तरह से सील कर दिया जाएगा और उसके दायरे में आने वाले सभी घरों के लोगों का परीक्षण भी किया जाएगा। उसके बाद जिला प्रशासन की पूरी टीम बंसीवट में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर का जायजा लिया। वहां मौजूद मेडिकल कॉलेज के डीन से भी चर्चा की और डीन की कुछ मांगों पर जिला प्रशासन ने तत्काल हामी भरते हुए जल्द पूरा करने की बात कही। फिर पूरा काफिला एमसीएच हॉस्पिटल के 100 बिस्तर का एक्सक्लूसिव कोबीड सेंटर पहुंचा और वहां की भी तैयारियों का समस्त अधिकारियों ने जायजा लिया। जिला प्रशासन का कहना है कि अभी रायगढ़ में स्थिति सामान्य है। लोगों को डरने की आवश्यकता नहीं है। जिला प्रशासन का हर अधिकारी पूरी तरह से मुस्तैद है और अगर कहीं भी कोई पॉजिटिव केस आता है। उसके लिए भी जिला प्रशासन पूरी तरह से तैयार है। साथ ही साथ लोगों से अपील भी की कि जब तक बहुत जरूरी ना हो अपने घरों से ना निकले डिस्टेंस मेंटेन करें और इस घड़ी में जिला प्रशासन का सहयोग करें।

02-04-2020
पहल: लॉक डाउन का पूर्ण पालन करने वाले ग्रामीणों को मिलेगी नगद राशि

 रायगढ़। जिले में सभी जगह लॉक डाउन का पालन किया जा रहा है। जिला और पुलिस प्रशासन ने व्यापक इंतज़ाम किए हैं। इसी बीच रायगढ़ से लगे हुए ग्राम उच्चभिट्ठी से एक खबर निकल कर सामने आ रही है। यहां राष्ट्रीय सेवा योजना एवं नेहरू युवा केंद्र संगठन जिला रायगढ़ के स्वयंसेवकों द्वारा एक अनोखी पहल ग्राम पंचायत में की गई। उच्चभिट्ठी गांव में स्वयंसेवक ऐसे परिवार को 2100 रुपए की नगद राशि से सम्मानित करेंगे,जो परिवार पूर्ण रूप से लॉक डाउन का पालन करेगा। नेहरू युवा केंद्र संगठन रायगढ़ के स्वयंसेवकों की यह पहल सराहनीय है। ग्राम उच्चभिट्ठी में लॉक डाउन का पालन पूर्णता करने वाले परिवार को पुरस्कार की घोषणा के बाद गांव में कई परिवार के लोग इस पुरस्कार को पाने की लालसा में घरों में ही पूरी तरह लॉक हो चुके हैं। वे अपने घरों के अंदर रह रहे हैं और अत्यावश्यक कार्य से ही बाहर निकल रहे हैं।


 

01-04-2020
छत्तीसगढ़ के अब 8 अस्पतालों में कोविड-19 के इलाज की सुविधा, 34 अस्पतालों में आइसोलेशन सेंटर

रायपुर। छत्तीसगढ़ के अब आठ सरकारी अस्पतालों में कोविड-19 के इलाज की व्यवस्था की गई है। इसके उपचार के लिए एम्स रायपुर में अभी 200 बिस्तर तैयार हैं। इसे बढ़ाकर 500 बिस्तर करने की तैयारी है। पं. जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय, रायपुर में 400 बिस्तर और माना सिविल अस्पताल में 100 बिस्तर की व्यवस्था है। शासकीय मेडिकल कॉलेजों बिलासपुर, जगदलपुर, राजनांदगांव, अंबिकापुर और रायगढ़ में कोविड-19 के इलाज के लिए कुल एक हजार बिस्तर आरक्षित किए गए हैं।

रायपुर के रिम्स अस्पताल को भी कोविड-19 के इलाज के लिए विकसित किया जा रहा है। यहां 500 लोगों के उपचार की व्यवस्था रहेगी। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव रोजाना कोरोना वायरस के नियंत्रण एवं रोकथाम की व्यवस्था की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दे रहे हैं। वे केन्द्र सरकार के मंत्रियों और अधिकारियों से भी लगातार बात कर राज्य के लिए अधिक से अधिक संसाधन जुटाने की कोशिश कर रहे हैं। प्रदेश के सभी सांसदों और विधायकों से भी उन्होंने मदद की अपील की है। उन्होंने आज केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन को पत्र लिखकर रैपिड एंटी-बॉडी डिटेक्शन किट के उपयोग और खरीदी के संबंध में आईसीएमआर से दिशा-निर्देश जारी करवाने तथा छत्तीसगढ़ के दो और केन्द्रों में कोरोना वायरस टेस्ट की अनुमति देने का अनुरोध किया है।

प्रदेश में 34 आइसोलेशन सेंटर्स भी स्थापित किए गए हैं। सभी 26 जिला अस्पतालों, छह सरकारी मेडिकल कॉलेजों, सिविल अस्पताल माना और एम्स में ये सेंटर स्थापित हैं। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने प्रदेश भर में 74 क्वारेंटाइन सेंटर्स बनाए गए हैं, जहां एक हजार 249 लोगों को रखने की व्यवस्था है। वर्तमान में इन सेंटर्स पर 167 लोगों को रखा गया है। स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की टीम द्वारा होम-क्वारेंटाइन के साथ ही इन क्वारेंटाइन सेंटर्स में रह रहे लोगों पर नजर रखी जा रही है। विदेश प्रवास से लौटे दो हजार 85 लोगों की जानकारी स्वास्थ्य विभाग को अब तक मिली है।

प्रदेश में अब तक कोविड-19 के 919 संभावित मरीजों की जांच के लिए सैंपल लिए गए हैं। इनमें से 849 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव्ह और अब तक कुल 9 की पॉजिटिव्ह आई है। शेष 61 लोगों की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। एम्स में इलाज के बाद दो मरीजों के पूरी तरह ठीक हो जाने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। अभी एम्स में पांच तथा राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज और अपोलो अस्पताल बिलासपुर में एक-एक मरीज का इलाज चल रहा है। एम्स के साथ ही अब जगदलपुर मेडिकल कॉलेज में भी सैंपलों की जांच की जा रही है।

30-03-2020
Breaking : मुख्यमंत्री ने कोरोना की रोकथाम के लिए दिए 2.20 करोड़, 11 जिलों के हिस्से में आया इतना.....

रायपुर।  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम और राहत के लिए अपने सहायता कोष से राज्य के 11 जिलों को 2 करोड़ 20 लाख की राशि दी है। कोरबा, बिलासपुर, रायपुर, दुर्ग, रायगढ़, बलौदाबाजार, राजनांदगांव, बलरामपुर, मुंगेली, कोरिया और कबीरधाम जिले को मुख्यमंत्री सहायता कोष से प्रदत्त 20-20 लाख रुपए की राशि से कोरोना वायरस (कोविड-19) के रोकथाम के लिए आवश्यक संसाधन, सामग्री एवं राहत की व्यवस्था की जाएगी।

29-03-2020
राशन,फल व सब्जियों की निर्धारित दर जारी...

रायगढ़। लॉक डाउन के दौरान अधिक मूल्य में आवश्यक वस्तुओं को दुकानदार नहीं बेच इसको लेकर जिला प्रशासन सजग है। इसके मद्देनजर कलेक्टर कार्यालय ने राशन,फल व सब्जियों की निर्धारित दर जारी की है। कलेक्टर के ओदश के अनुसार अधिक मूल्य पर सामान बेचने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी। देखिए कितने दामों में क्या मिलने वाला है अब रायगढ़ में। आदेश देखने के लिए यहा क्लिक करें..    

 

29-03-2020
रायगढ़ के वरिष्ठ समाजसेवी अजय रतेरिया प्रधानमंत्री राहत सहायता कोष में देंगे 1 लाख रुपये

रायगढ़। भारत में बढ़ते कोरोना संकट को देखते हुए देश के समाजसेवी व दानदाता आगे आ रहे है और सहायता दे रहे है। इसी कड़ी में रायगढ़ अंचल सुप्रसिद्ध समाजसेवी स्व.सेठ रामस्वरूप रतेरिया के पुत्र अजय रतेरिया आगे आए। वे कोरोना महामारी को देखते हुए प्रधानमंत्री सहायता कोष में 1 लाख रुपये देंगे। रायगढ़ को दानवीरों की नगरी के नाम से पहचाना जाता है। यहां के लोग अपनी दानशीलता के लिए पूरे देश में प्रसिद्ध है। ऐसे हालात में रायगढ़ में समाजसेवी अजय रतेरिया की ओर से कोरोना के लिए 1 लाख रुपये की सहायता देना पूरे रायगढ़ अंचल के लिए गर्व की बात है।

26-03-2020
शहर में 44 जगहों पर लगाएं गए सब्जी, दूध, अण्डा व फल के स्टाल

रायगढ़। लॉक डाउन के दौरान रायगढ़ में शहरवासियों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी ना हो इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा शहर में सब्जी,अण्डे व दूध के लिए लगाये जाने वाले स्टॉलों की संख्या बढ़ा दी गई है। आज नगर निगम क्षेत्र के विभिन्न चिन्हांकित 44 स्थानों पर प्रात: 5  से 9 बजे तक स्टॉल लगाकर सब्जी, फल, दूध व अण्डों का विक्रय किया गया। इन स्टॉलों पर आवश्यक व्यवस्था बनाने के लिए पुलिस बल के साथ नगर निगम के कर्मचारी सभी स्थानों पर मौजूद रहे। एक स्टाल से दूसरे स्टाल के बीच की दूरी 10 फीट रखी गई थी। वहीं इस दौरान कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन आज सभी स्थानों पर लोगों के द्वारा किया गया। नगर निगम उपायुक्त पंकज मित्तल ने पूरी कमान सम्हाली रखी थी। सब्जी विक्रेताओं को 44 जगह में विभाजित करने के बाद क्रेताओ में कुछ जगहों पर ही हो रही भीड़ से राहत मिली है।

इसी तरह राशन, दूध डेयरी, अंडा के दुकानों में भी इसी नियम के तहत विक्रय किया गया। यहां भी एक मीटर की दूरी में सर्कल बनाकर लोगों को सामान उपलब्ध कराया गया। आज जिला प्रशासन और निगम प्रशासन ने सख्ती से सभी दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया। निगम उपायुक्त पंकज मित्तल ने सर्वप्रथम स्थानों में सुचारू रूप से दूरी का मारर्किंग करके गोले बनवाये। इससे लोगों में एक सोशल डिस्टेंस के आधार पर सामानों का क्रय विक्रय किया जा सके। साथ ही उपायुक्त ने सभी से अपील की है सुबह 5 से 9 का समय जनता की सुविधा के लिए दिया गया है। इसका मतलब यह नही की लोग बेवजह ही लस्सी पीने ना निकले। ज्यादा जरूरी हो उन्ही सामानों की खरीदारी करे। घर का एक सदस्य ही बाहर आये फिजूल में घूमने ना निकले।

 

25-03-2020
शाकम्बरी स्टील प्लांट को एसडीएम ने किया सील 

रायगढ़। जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र छत्तीसगढ़ को छत्तीसगढ़ राज्य के औद्योगिक संस्थानों में नोवेल कोरोना वायरस कॉविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के संबंध में प्रमुख सचिव द्वारा औद्योगिक संस्थानों को तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश तक उत्पादन एवं संचालन बंद कराने के निर्देश दिए गए थे। जिस के परिपालन  थाना चक्रधरनगर अंतर्गत ग्राम संबलपुरी स्थित मां शाकम्बरी स्टील प्लांट में कार्य होने की सूचना पर एसडीएम रायगढ़ आशीष देवांगन एवं थाना प्रभारी विवेक पाटले ने अपने स्टाफ के साथ मां शाकम्बरी प्लांट जाकर जांच की। प्लांट में कार्य पूर्व की भांति  जारी मिला जिसे एसडीएम द्वारा पंचनामा कर सील किया गया है। साथ ही थाना चक्रधरनगर में अपराध पंजीबद्ध की कार्यवाही की जा रही है।

23-03-2020
नक्सली हमले में शहीद गीतराम राठिया का गृहग्राम में राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

रायगढ़। सुकमा में हुए नक्सली हमले में शहीद हुए जिले के वीर सपूत गीतराम राठिया का आज सोमवार को उनके गृहग्राम सिंघनपुर में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। गीतराम राठिया का पार्थिव शरीर दोपहर 2 बजे भारतीय वायुसेना के विशेष विमान से रायगढ़  के जिंदल एयरस्ट्रिप्स लाया गया। जिंदल एयर स्ट्रिप्स में जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल,जेएसपीएल के अधिकारी व पुलिस विभाग ने उन्हें पुष्पांजलि देकर उनकी शहादत को नमन किया। इसके बाद शहीद के अंतिम दर्शन के लिए पार्थिव काया उनके निवास स्थान विनोबा नगर ले जाई गई,जहां लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। शहीद गीतराम राठिया अमर रहे के नारों से गुंजते स्वरों के बीच एम्बुलेंस शहीद के गृहग्राम की ओर रवाना हुई। सिंघनपुर गांव में प्रत्येक घर के दरवाजे पर लोगों ने शहीद के सम्मान में कलश व दीपक जला रखा था,जैसे ही शहीद की पार्थिव काया सिंघनपुर पहुंची तो लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। सभी अपने गांव के उस वीर योद्धा के अंतिम दर्शन को लालायित थे जिसने नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में डटकर मुकाबला करते हुए शहादत पाई है। गांव के सभी महिला,पुरुष,बुजुर्ग व बच्चों ने वीर सपूत की पार्थिव काया का  अंतिम दर्शन किया। कलेक्टर यशवंत कुमार व पुलिस अधीक्षक सन्तोष कुमार सिंह ने सिंघनपुर में शहीद की पार्थिव काया पर श्रद्धासुमन अर्पित किया। भारी संख्या में पुलिस जवानों की उपस्थिति में ग्राम सिंघनपुर के वीर सपूत गीतराम राठिया का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ सम्पन्न हुआ।

22-03-2020
विदेश से लौटे लोग अस्पताल ना जाकर घरों में रहकर संक्रमण का खतरा बढ़ा रहे हैं, कार्रवाई क्यों नहीं होती ऐसे लोगों पर

रायपुर। विदेश में तो वे लोग अकेले रहते थे। न मां बाप ना भाई बहन ना रिश्तेदार ना पास पड़ोस अकेले ही रहना होता था वँहा। फिर यहां अस्पताल में अकेले रहने में किस बात का डर? क्यों अस्पताल नहीं जाना चाहते वे लोग? क्यों घर में रहकर आसपास के लोगों पर संक्रमण का खतरा बढ़ा रहे हैं वे लोग? क्यों ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती? रायगढ़ में जब ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है तो रायपुर में क्यों नहीं होती? बॉलीवुड की सिंगर पर कार्रवाई हो सकती है तो यहां क्यों नहीं होती? यहां कार्रवाई नहीं होने के कारण बहुत से लोग आज भी घर मे रहकर संक्रमण के खतरे को हवा दे रहे हैं। एक कालोनी में लन्दन से लौटी एक युवती घर में रह रही है। अस्पताल क्यों नहीं जाना चाहती है वो? जांच से बचकर घर क्यों आई वो? उसके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं होती? पता लगने पर पुलिस वाले उसके घर जाकर वापस क्यों लौट गए? सरकार की दिन-रात की मेहनत पर पानी क्यों फेंक रहे हैं ये लोग? ऐसे में कोरोना से लड़ने के सरकारी प्रयास कैसे सफल होंगे? कैसे संक्रमण रुक पाएगा? अगर ऐसे ही लोग अपने अपने घरों में आजादी से घूमते रहेंगे तो ये बहुत चिंता का विषय है। और जिस तरह से कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़ती जा रही है उसका कारण संभवतः ऐसे ही लोग हैं। जो छुप कर इस खतरे को और बढ़ा रहे हैं। 

 

22-03-2020
रायगढ़ में 5 अप्रैल तक लॉक डाउन, कलेक्टर ने दिया आदेश 

रायगढ़। कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिए रायगढ़ में जिला कलेक्टर यशवंत कुमार ने 5 अप्रैल तक राशन दुकान, मेडिकल को छोड़कर सभी दुकान को बंद करने का आदेश जारी किया है। रायगढ़ एक इंडस्ट्रियल एरिया माना जाता है जिस कारण यहां बाहरी लोगों का आना जाना काफी अधिक मात्रा में रहता है। इसी के मद्देनजर जिला कलेक्टर ने आज एक आदेश जारी किया और बताया कि  सब्जी, फल, अनाज, मेडिकल, पेट्रोल पंप, एटीएम, डेली नीड्स व किराना की दुकानें खुली रहेंगी अन्य सभी दुकाने 5 अप्रैल तक बंद किए जाने का निर्णय लिया गया है और लोगों को घर से बाहर न निकलने की अपील की है। रायगढ़ में अभी तक कोई भी पॉजिटिव केस नहीं मिला है।  

20-03-2020
मेडिकल संचालक ने फ्री में बांटा सैनेटाइजर, की सावधानी बरतने की अपील

रायगढ़। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए जिले के मेडिकल संचालक ने मुफ्त सेनेटाइजर बांटकर लोगों से संयम बनाए रखने की अपील की। कोतरा रोड़ स्थित गर्ग मेडिकल स्टोर्स के संचालक मनोज अग्रवाल ने ग्राहकों को मुफ्त में सेनेटाइजर बांटा और सावधानी बरतने की अपील की। मेडिकल संचालक ने बताया कि 500 पीस सैनिटाइजर फ्री में लोगों को मुहैया करा रहे हैं । उन्होंने कहा कि जिलें में धारा 144 लागू होने के कारण कैंप लगाकर सैनिटाइजर वितरण नहीं किया गया।  

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804