GLIBS
06-08-2020
7 अगस्त से दौड़गी देश की पहली किसान रेल, महाराष्ट्र से बिहार के बीच चलेगी, इन राज्यों को मिलेगा फायदा

नई दिल्ली: फल और सब्जियों के मालवहन के लिए भारतीय रेल सात अगस्त को अपनी पहली ‘किसान रेल’ सेवा शुरू करने जा रही है। रेलवे ने कहा कि ऐसी पहली रेलगाड़ी महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के बीच चलेगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल फरवरी में पेश बजट में जल्दी खराब होने वाले फल एवं सब्जियों जैसे उत्पादों के मालवहन के लिए ‘किसान रेल’ चलाने की घोषणा की थी। इस सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) योजना के तहत शीत भंडारण के साथ किसान उपज के परिवहन की व्यवस्था होगी। रेल मंत्रालय ने एक वक्तव्य में कहा है, ‘इस साल के बजट में जल्दी खराब होने वाले कृषि उत्पादों के लिये बेहतर आपूर्ति श्रृंखला स्थापित करने के वास्ते ‘किसान रेल’ चलाने की घोषणा को अमलीजामा पहनाते हुए रेल मंत्रालय इस प्रकार की पहली किसान रेल सात अगस्त को दिन में 11 बजे देवलाली से दानापुर के लिये चला रहा है। यह रेल साप्ताहिक आधार पर चलेगी।’

वक्तव्य में कहा गया है कि यह रेलगाड़ी 1,519 किलोमीटर का सफर करते हुए अगले दिन करीब 32 घंटे बाद शाम पौने सात बजे दानापुर (बिहार) पहुंचेगी। मध्य रेलवे का भुसावल डिवीजन प्राथमिक तौर पर कृषि आधारित डिवीजन है और नासिक तथा इसके आसपास के इलाकों में बड़ी मात्रा में ताजी सब्जियों, फलों, फूल, प्याज तथा अन्य कृषि उत्पादों का उत्पादन होता है। इन उत्पादों को यदि ठीक से रखरखाव नहीं हो तो ये जल्दी खराब हो जाते हैं। ये कृषि उत्पाद नासिक के इन इलाकों से बिहार में पटना, उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद, मध्य प्रदेश के कटनी, सतना तथा अन्य क्षेत्रों को भेजे जाते हैं। किसान रेल इन उत्पादों को गंतव्य तक पहुंचाने का काम करेगी। यह रेल नासिक रोड़, मनमाड़, जलगांव, भुसावल, बुरहानपुर, खंडवा, इटारसी, जबलपुर, सतना, कटनी, मणिकपुर, प्रयागराज छेओकी, पं दीनदयाल उपाध्याय नगर और बक्सर में रुकेगी। वातानुकूलन की सुविधा के साथ फल एवं सब्जियों को लाने ले जाने की सुविधा का प्रस्ताव पहली बार 2009-10 के बजट में उस समय रेल मंत्री रहीं ममता बनर्जी ने किया था, लेकिन इसकी शुरुआत नहीं हो सकी। 

 

03-08-2020
अमृता फडणवीस ने ट्वीट कर कहा-मुंबई ने अपनी मानवता खो दी है,प्रियंका चतुर्वेदी ने किया पलटवार

मुंबई। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस ने सोमवार को ट्वीट किया कि मुंबई ने अपनी 'मानवता' खो दी है और महानगर की पुलिस जिस तरह से सुशांत सिंह राजपूत मामले से निपट रही है उसे देखते हुए वह ‘अब रहने के लिए सुरक्षित नहीं है।’ इस ट्वीट को लेकर शिवसेना और राकांपा के नेताओं ने पलटवार किया और दावा किया कि अमृता फडणवीस उसी पुलिस बल की आलोचना कर रही हैं, जो उनकी सुरक्षा करती है। अमृता फडणवीस ने ट्वीट किया,'जिस तरह से सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में व्यवहार किया जा रहा है, मुझे लगता है कि मुंबई ने मानवता खो दी है और वह भोले भाले, स्वाभिमानी नागरिकों के लिए जीने के लिए सुरक्षित नहीं है।'
शिवसेना की राज्यसभा सदस्य प्रियंका चतुर्वेदी ने पलटवार करते हुए ट्विटर पर कहा,'मुंबई पुलिस की सुरक्षा में कार के साथ चारों ओर घूमिये....'। उन्होंने कहा,'मैं मुंबई पुलिस पर आरोप लगाने वाले, उसे बदनाम करने वाले इन प्रदेश भाजपा नेताओं और उनके परिवारों को चुनौती देती हूं कि अपनी पुलिस सुरक्षा को छोड़ दें और निजी एजेंसियों की सुरक्षा ले लें, जो उन्हें शहर में सुरक्षित महसूस करा सकें। पूर्व मुख्यमंत्री, गृहमंत्री भी थे, की पत्नी के लिए इस तरह से बोलना शर्मनाक है।' राकांपा प्रवक्ता अदिति नलवड़े ने एक समारोह की पुरानी तस्वीर के साथ ट्वीट किया,जिसमें अमृता फडणवीस एक जहाज पर किनारे पर बैठी दिख रही हैं, और लिखा, 'उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि जब वह एक क्रूज जहाज पर किनारे पर खतरनाक तरीके से बैठी थीं, तो वह मुंबई पुलिस का जवान था,जो उनकी सुरक्षा कर रहा था।' 

02-08-2020
दो बीएसएफ के जवान व एक युवती कोरोना संक्रमित

कांकेर। जिले के दुर्गूकोंदल विकासखंड में बीएसएफ के दो और जवानों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। दोनों जवान बिहार और महाराष्ट्र से छुट्टी से कैम्प लौटे थे, जिन्हें क्वारेंटाइन में रखा गया था। 17 जवानों का सैंपल लिया गया था,जिसमें 2 जवान संक्रमित पाए गए हैं।दुर्गूकोंदल की युवती की भी जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इसकी पुष्टि खंड चिकित्सा अधिकारी मनोज किशोरे ने की है।

 

31-07-2020
चोरी का ट्रक खपाने का प्रयास करते चार आरोपी गिरफ्तार, महाराष्ट्र से लेकर पहुंचे थे धमतरी

धमतरी। चोरी के ट्रक खपाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है,जिसमें 4 युवकों को गिरफ्तार किया गया है, जो कि महाराष्ट्र से ट्रक यहां लाकर खपाने के फिराक में थे। पुलिस सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार को अर्जुनी पुलिस गश्त पर थी। इस दौरान पता लगा कि ग्राम पोटीयाडीह के पास एक ट्रक खड़ी हुई है,जिसके आसपास कुछ युवक भी खड़े हैंं। पुलिस ने जब जाकर मामले की तफ्तीश की तो पता लगा कि वह ट्रक चोरी की है,जिसे मौजूद युवक खपाने के प्रयास में थे। पुलिस ने ट्रक को जब्त कर लिया है। इस संबंध में एएसपी मनीषा ठाकुर ने बताया कि चारों युवकों को गिरफ्तार कर आगे की कार्यवाही की जा रही है बताया गया कि ट्रक खपाने के लिये आये युवको में सुलेमान पिता अब्दुल रहमान नागपुर, प्रफुल्ल पिता गजानन्द राव नागपुर, आकाश पिता बबन राउत नागपुर औऱ अब्दुल नाजिम पिता  अब्दुल रफीक नागपुर शामिल है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि आरोपियों के कब्जे से एक कार भी बरामद की गई है।

 

 

30-07-2020
लॉक डाउन में अवैध शराब के मामले बढ़े, आबकारी विभाग सतर्क

राजनांदगांव। लॉक डाउन में अवैध शराब की बिक्री जहां तेजी से बढ़ी है वहीं आबकारी विभाग की टीम भी सक्रिय हो गई है। आबकारी विभाग की टीम को ग्राम बोदेला में अवैध तरीक से शराब बेचने की शिकायत मिली थी। टीम ने सूचना के आधार पर दबिश देकर आरोपी ललित कुमार साहू को गिरफ्तार किया। आरोपी ललित बोदेला थाना तुमड़ीबोड़ महाराष्ट्र का रहने वाला है। आरोपी के पास से 92 पाव शराब जब्त की गई। मामले में आरोपी के विरूद्ध आबकारी अधिनियम की धारा 34(2), 36, 59(क) के तहत अपराध कायम किया गया है। कार्रवाई में निरूपमा लोन्हारे सहायक जिला आबकारी अधिकारी वृत्त राजनांदगाँव (ब) और आरक्षक लालसिंह राजपूत, संतोष अहिरवार शामिल थे।

28-07-2020
मुंबई में कोरोना का कहर थमता लग रहा है,हजारों की बजाए एक दिन में आए सिर्फ 700 मामले

मुंबई। महाराष्ट्र में कोरोना के फैलते संक्रमण के बीच मुंबई से एक राहत की खबर आई है। महाराष्ट्र सरकार के मंत्री आदित्य ठाकरे ने बताया कि मुंबई में आज सिर्फ 700 नए मामले सामने आए हैं। इसके अलावा यहां एक दिन में अब तक सर्वाधिक 8776 परीक्षण किए गए हैं। ठाकरे ने कहा कि बीएमसी द्वारा शुरू किए गए 'चेज दी वायरस' अभियान के तहत मुंबई में और अधिक संख्या में परीक्षण किए जाएंगे। इसे पूरे महाराष्ट्र में भी लागू किया जाएगा। गौरतलब है कि शुरुआत में महाराष्ट्र में तेजी से संक्रमण फैला था लेकिन कई तरह के कदमों और अभियानों की मदद से यहां स्थिति पर काबू पाया जा रहा है। राज्य स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों में बताया गया है कि सोमवार तक प्रदेश में रिकवरी दर 57.84 फीसदी हो गई है। वहीं, मृत्युदर 3.62 फीसदी है। फिलहाल, राज्य में 9,22,637 लोग होम क्वारंटीन और 44,136 लोग संस्थागत क्वारंटीन हैं। राज्य में संक्रमण के 147896 सक्रिय मामले हैं, 221944 लोग ठीक हुए हैं और 13883 लोगों की मौत हुई है।

27-07-2020
अंतर्कलह से जूझती कांग्रेस महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, हरियाणा आदि राज्यों में भी संकटों से दो-चार होगी : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं के राजभवन जाकर राजस्थान के राजनीतिक घटनाक्रम के मद्देनजर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपने पर निशाना साधा है। उन्होंने इसे हास्यास्पद बताते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता ऐसा करते हुए अपने वैचारिक दीवालिएपन का प्रदर्शन कर रहे हैं। कांग्रेस अपने अंतर्कलह के बोझ में सिसकती बिखराव के कगार पर पहुँच चुकी है और अब वह अनर्गल प्रलाप करती हुई खिसियानी बिल्ली की तरह खंभा नोच रही है। कांग्रेस के नेता आंतरिक लोकतंत्र को लेकर जब तक सचेष्ट नहीं होंगे, अंतर्कलह से जूझती कांग्रेस को इन संकटों से महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, हरियाणा समेत दीगर राज्यों में भी सत्ता और संगठन में दो-चार होना ही पड़ेगा। कांग्रेस चाहे जो कर ले, देश कांग्रेस के असली चरित्र को अच्छी तरह समझ चुका है। यह तो शुरूआत है। श्रीवास्तव ने कहा कि जिस पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र दम तोड़ चुका है, जिस पार्टी ने अपने शासनकाल में संवैधानिक मूल्यों, संसदीय परंपराओं और लोकतंत्र का गला घोंटने में जरा भी हिचकिचाहट महसूस नहीं की, जो पार्टी संविधान और लोकतंत्र में विश्वास नहीं रखती, जिसके खाते में देश में सबसे ज्यादा बार राष्ट्रपति शासन लगाने का रिकॉर्ड है, आज उसी कांग्रेस के मुँह से संविधान, संसदीय परंपरा और लोकतंत्र की बातें जरा भी शोभा नहीं दे रही हैं। श्रीवास्तव ने कहा कि कल तक जिस कांग्रेस को न तो चुनाव आयोग पर विश्वास था, न ईवीएम पर विश्वास था और न ही जनमत पर विश्वास है, एक ही परिवार के आधिपत्य में आंतरिक लोकतंत्र से विहीन वह कांग्रेस आज राजभवन जाकर इस तरह का प्रदर्शन कर और ज्ञापन देकर लोकतंत्र व संविधान की दुहाई दे रही है, इससे अधिक हास्यास्पद कुछ और नहीं हो सकता।

श्रीवास्तव ने कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व को सवालों के घेरे में लेकर पूछा कि क्या मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सत्ता उनके अपने नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के विद्रोह के चलते नहीं गई और अब राजस्थान में कांग्रेस के ही सचिन पायलट की वजह से ही कांग्रेस पर संकट के बादल नहीं मंडराए हुए हैं? न तो मप्र में और अब न ही राजस्थान में कांग्रेस की हो रही छीछालेदर में भाजपा की कोई भूमिका है। कांग्रेस के नेता अपनी कमजोरियों को छिपाने के लिए इस तरह की नौटंकियाँ कर रहे हैं।

 

27-07-2020
उद्धव ठाकरे के जन्मदिवस पर किया गया पौधरोपण

जांजगीर चाम्पा। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के जन्मदिवस पर शिवसेना जांजगीर चाम्पा जिलाध्यक्ष ओंकार सिंह गहलौत के नेतृत्व में शिवसैनिकों ने ग्राम पंचायत पिसौद में पौधरोपण किया। इस अवसर पर शुभम सिंह राजपूत  लासचिव, रमेश साहू अध्यक्ष पिसौद, दिलीप साहू उपाध्यक्ष पिसौद, दिनेश साहू सचिव पिसौद, नीरज कुम्भकार, राजेन्द्र साहू, दीपक साहू, प्रदीप दुबे, शिव केंवट, हेमंत साहू सहित अन्य शिवसैनिक उपस्थित थे।

 

26-07-2020
महाराष्ट्र सरकार जिस किसी को भी गिरानी है, अभी गिराकर दिखाए : उद्धव ठाकरे

मुंबई। महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार के मुखिया उद्धव ठाकरे ने खुली चुनौती दी है कि जिस किसी को भी महाराष्ट्र की सरकार गिरानी है, गिराकर दिखाए। उन्होंने कहा कि कुछ लोग कहते हैं कि अगस्त-सितंबर में गिराएंगे। मैं कहता हूं कि अभी गिराओ। मैं फेविकॉल लगाकर नहीं बैठा हूं। ठाकरे ने प्रदेश में मुख्य विपक्षी दल पर इशारों में तंज कसते हुए कहा, 'आपको (भाजपा को) गिराने-पटकने में आनंद मिलता है न। कुछ लोगों को बनाने में आनंद मिलता है। कुछ लोगों को बिगाड़ने में आनंद मिलता है। बिगाड़ने में होगा तो बिगाड़ो। मुझे परवाह नहीं है। गिराओ सरकार।' ठाकरे से जब पूछा गया कि क्या वह चुनौती दे रहे हैं, तो उन्होंने कहा कि चुनौती नहीं बल्कि यह उनका स्वभाव है। ठाकरे ने कहा, 'इस सरकार का (महाविकास अघाड़ी का) भविष्य विपक्ष के नेता पर निर्भर नहीं है, इसलिए मैं कहता हूं कि सरकार गिराना होगा तो अवश्य गिराओ।' गठबंधन के तीन दलों को उद्धव ने रिक्शा के तीन पहिए बताया। उन्होंने कहा कि रिक्शा गरीबों का वाहन है। बुलेट ट्रेन या रिक्शा में चुनाव करना पड़ा तो मैं रिक्शा ही चुनूंगा। उन्होंने कहा,'मैं गरीबों के साथ खड़ा रहूंगा। मेरी यह भूमिका मैं बदलता नहीं हूं। कोई ऐसी सोच न बनाए कि अब मैं मुख्यमंत्री बन गया हूं, मतलब बुलेट ट्रेन के पीछे खड़ा रहूंगा। नहीं, मैंने इतना ही कहा कि मैं मुख्यमंत्री होने के नाते सर्वांगीण विकास करूंगा।'

 

22-07-2020
गौ तस्करी करते पकड़े गए 5 आरोपी, 68 मवेशियों को छुड़ाया

राजनांदगांव। जिले में गौ तस्करी के मामले पकड़े जा रहे हैं। मोहारा पुलिस टीम ने मवेशियों को कत्लखाना ले जा रहे पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों से 68 मवेशियों को छुड़ाकर गौशाला भेजा गया। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ पशुक्रूरता अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। मोहारा पुलिस ने बताया कि मवेशियों को जंगल के रास्ते हांकते हुए कत्लखाना ले जाने की सूचना मिली। इसके बाद टीम ने ढारा इलाके में पहुंचकर घेराबंदी की। यहां आरोपी देवनाथ भारती (28), भुवन मारकंडे (29), कुमार वर्मा (29), सुरेंद्र कोठले (32) और राकेश भारती (32) को पकड़ा गया। सभी आरोपी मोहारा इलाके के तेंदूभाठा गांव के रहने वाले हैं। जो 68 मवेशियों को जोड़े में बांधकर हांकते हुए जंगल के रास्ते से महाराष्ट्र ले जा रहे थे। पूछताछ में आरोपियों ने मवेशियों को कत्लखाना ले जाने की बात स्वीकारी है। पुलिस ने सभी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

21-07-2020
चार पोहा उपभोक्ता प्रदेशों ने छत्तीसगढ़ से पोहा खरीदी बंद की, प्रतिमाह 90 करोड़ का व्यवसाय

रायपुर। छत्तीसगढ़ से चार पोहा उपभोक्ता प्रदेशों ने खरीदी बंद कर दी है। बता दें कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण इन ​राज्यों ने प्रदेश से पोहा खरीदी बंद की है। वहीं हालात इतने बिगड़ गए है कि उत्पादन में 60 फीसदी तक कटौती का फैसला लेना पड़ा है। प्रति माह पोहे से 90 करोड़ रुपये का व्यवसाय होता था। व्यवसायियों की माने तो प्रदेश के पोहा का प्रमुख खरीदार राज्य महाराष्ट्र, कर्नाटक,आंध्रप्रदेश और मध्यप्रदेश रहे हैं। इन राज्यों से पोहा की डिमांड अब नहीं आ रही है। प्रदेश में 220 पोहा मिल हैं। रोजाना यहां एक हजार टन पोहे का उत्पादन किया जाता है। आम दिनों में 80 फीसदी सप्लाई दूसरे प्रदेशों को होती थी। वर्तमान में एक हजार टन की जगह 400 टन ही पोहा की आपूर्ति हो रही है।

बाहरी राज्यों के अलावा घरेलू मांग भी तेजी के साथ घट रही है। व्यवसायियों द्वारा आशंका जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में उत्पादन में और गिरावट आएगी। महाराष्ट्र के अलावा मध्यप्रदेश और कर्नाटक से भी डिमांड आनी बंद हो गई है। व्यवसायियों का कहना है कि जिस तरह से कोरोना का संक्रमण तेजी के साथ बढ़ रहा है इसका असर भी इस व्यवसाय पर देखा जा रहा है। पोहा के लिए मोटा धान की जरूरत पड़ती है। एक दिन में पोहा मिलों को तकरीबन 15-20 हजार क्विंटल धान की जरूरत पड़ती है। पोहा मिलों में जिस तरह ताला बंदी की स्थिति बनती जा रही है। इससे यहां काम करने वाले श्रमिकों के सामने भी रोजी रोटी की समस्या उठ खड़ी होगी। आमतौर पर एक मिल में 30 से 35 श्रमिकों की जरूरत पड़ती है। ये श्रमिक एक शिफ्ट में काम करते हैं। इतने ही श्रमिक दूसरे शिफ्ट में काम पर आते हैं।

18-07-2020
महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 3 लाख के पार, मुंबई में 1 लाख से अधिक संक्रमित

मुंबई। महाराष्ट्र में शनिवार को कोरोना के मामले 3 लाख के पार हो गए, जबकि एक लाख से अधिक मामले मुंबई में हो गए है। हालांकि देश में कोरोना पर रिकवरी रेट में सुधार आ रहा है। केंद्र सरकार ने शनिवार को बताया कि रिकवरी रेट 63 प्रतिशत है। इसी बीच मुंबई के धारावी में कोरोना के कुल केस बढ़कर 2,444 हो गए हैं। शनिवार को वहां छह नए मरीज सामने आए। वहीं, दिल्ली में शनिवार को कोरोना वायरस के 1,475 नए मामले सामने आए जिससे नगर में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 1.21 लाख से अधिक हो गयी। वहीं बीमारी के कारण मृतकों की संख्या बढ़कर 3,597 तक पहुंच गयी। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इस बीच केंद्र सरकार ने चार राज्यों को कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मजबूती दिखाने के लिए कहा है। दरअसल, बिहार, पश्चिम बंगाल, असम और ओडिशा में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं। इस पर केंद्र ने कहा है कि इन राज्यों को अपने यहां मृत्यु दर 1 फीसदी से कम रखने पर काम करना होगा। इसी के साथ टेस्टिंग के अलावा मरीजों की निगरानी और ट्रेसिंग पर ध्यान देना जरूरी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने कहा है कि इन राज्यों में प्रति 10 लाख आबादी पर कम से कम 140 टेस्ट किए जाने चाहिए, इस दौरान टेस्ट पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से नीचे रखने की कोशिश करनी होगी। इस बीच दुनिया में अब तक कोरोना के 1 करोड़ 40 लाख से ज्यादा केस दर्ज हो चुके हैं। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804