GLIBS
21-08-2019
एक और बाबा पर यौन शोषण का आरोप, वीडियो वायरल होते ही हुआ फरार

नई दिल्ली। हरियाणा के एक और बाबा के खिलाफ महिलाओं के साथ यौन शोषण और नाबालिगों के साथ कथित तौर पर बलात्कार की शिकायतें दर्ज हुई हैं। आरोपों के मुताबिक हरियाणा के गुरुग्राम में बहेडा कला गांव के बाबा ज्योतिगिरी महाराज कई महिलाओं के साथ यौन शोषण में संलिप्त पाए गए हैं और इसके खिलाफ शिकायत भी दर्ज करा दी गई है। दरअसल, बाबा ज्योतिगिरी महाराज के तमाम अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए, जिसकी वजह से पुलिस ने शिकायत दर्ज की और अब गुरुग्राम पुलिस की साइबर सेल वीडियो की जांच कर रही है। इस मामले में वीडियो फैलाने वालों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है।

वायरल हुए इन वीडियो के सामने आने के बाद तथाकथित बाबा अपने आश्रम से गायब हो गया है। इस बाबा पर आरोप है कि आश्रम में आने वाली महिलाओं और बच्चियों के साथ वह जबरन संबंध बनाता था और अब तक दर्जनों बच्चों के साथ यौन शोषण कर चुका है। इस मामले में शिकायत करने वाली एक पीड़िता है, जिसने पुलिस में शिकायत दर्ज की है। एक वीडियो भी सामने आई है, जिसमें यह बाबा बच्चियों के साथ यौन शोषण करता नजर आ रहा है। मामले के सामने आने के बाद शिकायत की एक कॉपी राष्ट्रीय महिला आयोग, हरियाणा महिला आयोग और तमाम अधिकारियों को भी भेज दी गई है। देशभर के कई जगहों पर इस बाबा के आश्रम हैं। हरियाणा में यह बाबा गोशाला भी चलाता है। इसके अलावा उज्जैन, काशी, गुरुग्राम और हरिद्वार में भी इस बाबा के आश्रम हैं, और उनसे यौन शोषण के मामले सामने आने के बाद लोगों को पता चला तो काफी लोग थाने में जाकर इस बाबा के खिलाफ एफआईआर करने की मांग करने लगे और आश्रम को भी बंद करने की मांग पर अड़ गए। हालांकि तनाव को देखते हुए आश्रम के आसपास पुलिस की चौकसी बढ़ा दी गई है।

वायरल करने वालों पर भी केस
इस मामले से जुड़े वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल करने वालों के खिलाफ मामला इसलिए दर्ज किया गया है क्योंकि इन वीडियो में पीड़ित महिला का भी चेहरा साफ दिख रहा है। आइटी कानून के तहत किसी अन्य माध्यम से अश्लील संदेश भेजना और आईपीसी की धारा 509 यानी, किसी महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाना इस कानून के दायरे में आता है। और उसी के तहत उन पर मामला दर्ज किया गया है।

18-06-2019
सीपीएम सचिव के बेटे पर युवती ने लगाया यौन शोषण का आरोप, एफआईआर दर्ज

नई दिल्ली। मुंबई पुलिस ने मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव कोदियेरी बालाकृष्णन के बड़े बेटे बिनॉय कोदियेरी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। एक 33 वर्षीय महिला ने बिनॉय कोदियेरी पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। हालांकि, सीपीएम नेता के बेटे ने इस आरोप को नकारते हुए इसे ब्लैकमेल का मामला करार दिया है। मुंबई में रहने वाली पीड़िता की शिकायत के आधार पर बिनॉय के खिलाफ यौन उत्पीड़न, धोखाधड़ी और धमकाने के लिए प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। 
महिला ने बिनॉय कोदियेरी से 8 साल की बेटी होने का भी दावा किया है और 13 जून को अंधेरी ओशिवारा पुलिस स्टेशन में उसने मामला दर्ज कराया। शिकायत के अनुसार, बिनॉय और वह 2008 से रिश्ते में हैं, जब वह दुबई में एक डांस बार में काम करती थी। उसने कहा कि बिनॉय ने उससे शादी करने का वादा किया था, लेकिन बार-बार मनाने के बावजूद उसे धोखा दिया। जब उसे पता चला कि बिनॉय पहले से ही शादीशुदा हैं, तो महिला ने पुलिस शिकायत दर्ज करने का फैसला किया। बिनॉय कोदियेरी ने हालांकि यह स्वीकार किया है कि वह महिला को जानते हैं लेकिन उन्होंने उसके साथ कोई भी गलत काम करने से इनकार किया है और कहा कि वह उन्हें ब्लैकमेल कर रही है। 
उन्होंने भी उसके खिलाफ पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई है। बिनॉय ने कहा, ‘6 महीने पहले मुझे उसकी ओर से एक पत्र मिला जिसमें उसने मुझसे 5 करोड़ रुपये मांगे। मैंने यह पत्र दिया और कन्नूर में पुलिस के आईजी के समक्ष शिकायत दर्ज कराई। यह ब्लैकमेलिंग है और मैं इस मामले से कानूनी रूप से निपटूंगा। बता दें कि बिनॉय और उनका भाई बिनीश पिछले साल दुबई में वित्तीय धोखाधड़ी के मामले दर्ज होने के बाद सुर्खियों में रहे थे।

 

13-06-2019
मी टू कैंपेन : कोर्ट ने दी नाना पाटेकर को राहत, आरोपों को ठहराया बेबुनियाद 

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता मी टू कैंपेन के तहत नाना पाटेकर पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। इसके बाद यह मामला कई दिनों तक सुर्खियों में बना रहा। लेकिन इस मामले में अब नाना पाटेकर को बड़ी राहत मिली है। मुंबई पुलिस ने अदालत में बी समरी रिपोर्ट फाइल की है। पुलिस ने माना कि नाना के खिलाफ गलत मामला बनाया गया और शिकायतकर्ता ने दुर्भावना के नाते ये शिकायत दर्ज कराई थी। बता दें कि "बी" समरी का मतलब आरोपी के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं।

15-09-2018
Sai Handicapped : साईं विकलांग अनाथ आश्रम की छात्राओं ने लागाया संचालक पर यौन शोषण का आरोप

भोपाल। भोपाल के बैरागढ़ स्थित साईं विकलांग अनाथ आश्रम के छात्र-छात्राओं ने हॉस्टल के संचालक पर यौन शोषण और अप्राकृतिक कृत्य का आरोप लगाया है। इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार आधी को पुलिस थाने का घेराव किया। जिसके बाद देर रात दो आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। हॉस्टल संचालक पर तीन छात्र और दो छात्राओं ने यौन शोषण और अप्राकृतिककृत्य करने का आरोप लगाया है। इन छात्र-छात्राओं ने साइन लैंग्वेज में सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों को पूरी आपबीती सुनाई

बता दें कि भोपाल में पिछले दिनों मूक बधिर छात्राओं के साथ रेप के मामले सामने आने के बाद ये दो मूक-बधिर लड़कियां और तीन लड़के सामाजिक न्याय विभाग पहुंचे हैं। इन्होंने हॉस्टल संचालक पर लम्बे समय से दुष्कर्म और शारीरिक प्रताड़ना का आरोप लगाया। छात्राओं ने हॉस्टल संचालक एमपी अवस्थी पर जहां दुष्कर्म के आरोप लगाए, वहीं लड़कों ने लम्बे समय से शारीरिक प्रताड़ना व अप्राकृतिक कृत्य के आरोप लगाए।

शुक्रवार देर रात आरोपी संचालक एमपी अवस्थी के खिलाफ आईपीसी की धारा 377, 376, 354, 506, 34 के तहत मामला दर्ज किया गया. इस मामले में दो आरोपी एमपी अवस्थी और कविता चौधरी को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। वहीं, इस मामले को उठाने वाली कांग्रेस की मीडिया प्रभारी शोभा ओझा ने सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है।

12-09-2018
NSUI : राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान के खिलाफ भिलाई की महिला कार्यकर्ता ने दिल्ली में दर्ज कराई रिपोर्ट

भिलाई। एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान के खिलाफ उन्हीं के संगठन की भिलाई की महिला कार्यकर्ता ने यौन शोषण का आरोप लगाया था। जिसके बाद इस मामले में एनएसयूआई महिला कार्यकर्ता ने दिल्ली केपार्लियामेंट स्ट्रीट थाने में एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फैरोज खान के खिलाफ कंप्लेन दर्ज कराई है और मामले की जांच करने की मांग की है। यह मामला एनएसयूआई महिला कार्यकर्ता ने 10 सितंबर को की है। महिला कार्यकर्ता ने राहुल गांधी को लेटर लिखा था। जिसमें महिला ने फैरोज खान के खिलाफ मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

महिला कार्यकर्ता ने राहुल गांधी को लिखा था लेटर… 

– मैं आपके एनएसयूआई की वर्कर हूं, पिछली कमेटी की पीएनओबी थी।

– नेशनल प्रेसिडेंट फैरोज खान ने पॉलिटिकल पोस्ट दिलाने के लालच में शारीरिक यौन शोषण करने के लिए दबाव बनाते हैं।

– मैंने अपनी जर्नी खुद से बनाई है। मैं इसे कंटिन्यू इसलिए कर रही हूं क्योंकि राहुल गांधी की लीडरशिप को अपना आदर्श मानती हूं।

– नेशनल प्रेसिडेंट फैरोज ने सिर्फ मुझे ही समझौता के लिए मानसिक प्रताड़ना नहीं किया बल्कि मेरी छोटी बहन को भी कमरे में आने के लिए दबाव बनाया।

– सभी कन्वर्सेशन साथ में अटैच कर रही हूं। मेरी जैसी कई महिला कार्यकर्ता है जो इस चीज का सामना कर चुकी है, पर पब्लिक के सामने नाम खराब होने के डर से नहीं आई है।

– एनएसयूआई इंचार्ज रुचि गुप्ता कैंपेन रन कर रही है आईसीसी (इंटर्नल कंप्लेन कमेटी) बनाने के लिए लेकिन एनएसयूआई में कोई कमेटी नहीं है, जहां इस बारे में मैं डिस्कस कर सकूं।

– मैंने उनको (रुचि गुप्ता) रिक्वेस्ट किया है कि वो इसे गंभीरता से ले।

– मैं पार्टी में एक मिसाल पेश करना चाहती हूं, ऐसे लोगों के खिलाफ जो अपने पोस्ट का दुरुपयोग करते हैं, महिलाओं का शोषण करते हैं और पार्टी का नाम खराब करते हैं।

– मैं इस संबंध में पार्टी के सभी जिम्मेदार पदाधिकारियों से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन किसी ने भी इसका ध्यान नहीं दिया। इसीलिए आपको ये लेटर लिख रही हूं।”

एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष के ऊपर उन्हीं के संगठन के भिालाई की महिला कार्यकर्ता ने यौन शोषण का आरोप लगाया है, जिसके बाद पूरे देश में एनएसयूआई के खिलाफ आक्रोश का माहौल है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804