GLIBS
03-09-2019
आजम खान के बचाव में उतरे वरिष्ठ सपा नेता मुलायम सिंह यादव, जानिए क्या कहा...

नई दिल्ली। रामपुर से समाजवादी पार्टी सांसद आजम खान पर लगातार कानूनी शिकंजा कसता जा रहा है। मंगलवार को समाजवादी पार्टी के संरक्षक और वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव उनके बचाव में उतरे । लखनऊ के समाजवादी पार्टी के कर्यालय में ढाई साल बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए मुलायम ने कहा कि आजम खान ने सारी जिंदगी मेहनत की है।
उन्होंने कहा कि आजम को सिर्फ परेशान किया जा रहा है। मुलायम ने कहा कि आजम ने चंदें के पैसे से जौहर यूनिवर्सिटी का निर्माण करवाया है। मुलायम ने कहा कि आजम के खिलाफ गलत तरीके से केस दर्ज किए गए हैं। यह आजम खान के खिलाफ एक साजिश है, मैं पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं और नेताओं से उनके समर्थन में आने की अपील करता हूं।

29-08-2019
आजम खान के खिलाफ किसानों ने खोला मोर्चा, कर रहे गिरफ्तारी की मांग 

रामपुर। रामपुर के किसानों ने सांसद आजम खान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। गुरुवार को आजम खान की गिरफ्तारी की मांग को लेकर रामपुर में किसान धरने पर बैठ गए। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हाफिज अब्दुल सलाम के नेतृत्व में किसानों ने धरना देना शुरू कर दिया है। गांधी समाधि पर धरने पर बैठे किसान आजम को गिरफ्तार करो, भू-माफिया हाय-हाय, किसानों की जमीनें वापस करो के नारे लगाते दिखे। बता दें आजम खान के खिलाफ  28 मुकदमे जमीनों पर कब्जे से जुड़े हैं। ये जमीनें आलियागंज के किसानों की हैं। इन सभी किसानों का आरोप है कि सपा शासनकाल में मंत्री रहते आजम खान ने जबरन उनकी जमीनों पर कब्जा कर लिया। जमीनों को अपनी जौहर यूनिवर्सिटी में मिला लिया। इन मामलों में गिरफ्तारी से बचने के लिए आजम खान ने अदालत की शरण ली थी लेकिन वहां उनकी अग्रिम जमानत की याचिका खारिज हो गई है। कोर्ट में आजम पक्ष ने कहा कि सभी मामले राजनीति से प्रेरित हैं और जमीनें खरीदी गई हैं।

वहीं जिला प्रशासन ने दावा किया सभी मुकदमों के सबूत हैं। उधर आजम खान के खिलाफ  रामपुर पुलिस ने अब डकैती के मामले में भी एफआईआर दर्ज की है। एफआईआर में आजम खान, पूर्व सीओ आले हसन, फसाहत शानू, वीरेंद्र गोयल और एसओजी के सिपाही धर्मेंद्र पर डकैती, आपराधिक साजिश और धोखाधड़ी की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।  एक पीडि़त का आरोप है कि उसे बसाने के बाद फिर से हटा दिया गया। सरायगेट घोसियान के रहने वाले नन्हें ने यह एफआईआर दर्ज कराई है। 15 अक्टूबर 2016 के इस मामले में कोतवाली में केस दर्ज कर लिया गया है। मामले में रामपुर एसपी डॉ अजय पाल शर्मा ने बताया कि कोतवाली थाना क्षेत्र में नन्हें नाम के व्यक्ति और कुछ अन्य लोगों द्वारा शिकायत की गई थी। इसमें उन्होंने कहा कि पहले उन्हें लालच देकर उनकी जमीन छीनी गई और उनका घर तोड़ा गया। मामले की जांच कराई तो मामला सही पाया गया है।

22-08-2019
27 केस रद्द करने की अपील पर आजम खान को तत्काल राहत नहीं

इलाहाबाद। रामपुर से समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान  को इलाहाबाद हाईकोर्ट से निराशा हाथ लगी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 27 मामलों में दर्ज एफआईआर को रद्द किए जाने की अर्जी पर सुनवाई से इनकार कर दिया है। मामले में अदालत ने साफ किया है कि 27 एफआईआर से जुड़े मामलों की सुनवाई एक ही अर्जी से नहीं हो सकती। हर एफआईआर पर राहत पाने के लिए अलग-अलग अर्जी दाखिल करनी होगी। हाईकोर्ट ने आज की सुनवाई टालते हुए 29 अगस्त की तारीख तय की है। वहीं आजम खान के वकीलों ने अदालत के आदेश का पालन करते हुए जल्द ही 27 अर्जी दाखिल करने की बात कही है। एफआईआर दर्ज कराने वाले किसानों की तरफ से आज अदालत में आजम खान की अर्जी का विरोध किया गया। किसानों ने पहले से ही हाईकोर्ट में कैविएट दाखिल कर रखा है। बता दें कि इसी हफ्ते सपा सांसद आजम खान को रामपुर में निर्माणाधीन रामपुर पब्लिक स्कूल के अवैध निर्माण को गिराने के मामले में हाईकोर्ट से राहत मिली है। हाईकोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई तक स्कूल की बिल्डिंग के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने के निर्देश दिए हैं। अदालत ने रामपुर विकास प्राधिकरण को अगले 10 दिनों तक कोई कार्रवाई नहीं करने को कहा है। अदालत ने प्राधिकरण से 10 दिनों में हलफनामा दाखिल करने को भी कहा है। अदालत ने प्राधिकरण के आदेश पर रोक लगाने की आजम खान की अपील को फिलहाल ठुकरा दिया है। इस मामले की अगली सुनवाई 29 अगस्त को होगी। 

 

 

19-08-2019
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सपा सांसद आजम खान को दी राहत

लखनऊ। सपा सांसद आजम खान को इलाहाबाद हाईकोर्ट से फौरी राहत मिल गई है। रामपुर में निर्माणाधीन रामपुर पब्लिक स्कूल के अवैध निर्माण को गिराने के मामले में उन्हें राहत दी गई है। हाईकोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई तक स्कूल की बिल्डिंग के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने के निर्देश दिए हैं। अदालत ने रामपुर विकास प्राधिकरण को अगले 10 दिनों तक कोई कार्रवाई नहीं करने को कहा है। अदालत ने प्राधिकरण से 10 दिनों में हलफनामा दाखिल करने को भी कहा है। अदालत ने प्राधिकरण के आदेश पर रोक लगाने की आजम खान की अपील को फिलहाल ठुकरा दिया है। इस मामले की अगली सुनवाई 29 अगस्त को होगी। आजम खान की तरफ से दलील दी गई कि तमाम लोगों के मकान, स्कूल व दुकानें उनसे भी आगे हैं, लेकिन प्राधिकरण सिर्फ उन्हीं के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। अदालत ने इसी बिंदु पर प्राधिकरण से जवाब दाखिल करने कहा है। प्राधिकरण के सचिव सोमवार को खुद भी सुनवाई के दौरान कोर्ट में मौजूद थे। इससे पहले 16 अगस्त 2019 को आजम खान के हमसफर रिजॉर्ट की दीवार तोड़ दी गई थी, क्योंकि सिंचाई विभाग के नाले पर होटल की दीवार बनी हुई थी। इस कार्रवाई के बाद डीएम आंजनेय कुमार सिंह ने कहा है कि दीवार के मलबे में मिली ईंटों की प्रशासन जांच कराएगा। उन्होंने कहा कि सूचना मिली है दीवार के मलबे में पुरानी ईंटे भी मिली हैं। संभावना है कि किसी और बिल्डिंग को तोड़कर उसकी ईंटे लगाई गई हैं। डीएम ने कहा कि मलबे में मिली पुरानी ईंटों की कमेटी द्वारा जांच कराई जाएगी। बता दें कई बार इस संबंध में नोटिस देने के बावजूद भी आजम खान चुप थे। मौके पर भारी सुरक्षाबल की मौजूदगी में दीवार तोडऩे की कार्रवाई की गई। आरोप है कि अपने इस रिजॉर्ट के लिए आजम खान ने सिंचाई विभाग के नाले की 1000 गज जमीन पर अवैध कब्जा कर रखा है। सिंचाई विभाग इस मामले में आजम खान को नोटिस भी जारी कर चुका है। रामपुर के जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिह ने बताया था कि हमसफर रिजॉर्ट में 1000 गज जमीन पर कब्जा किया गया है। यह जमीन पसियापुरा शुमाली से बड़कुसिया नाले की है। नाले पर कब्जे से पानी निकासी में दिक्कत हो रही है।

05-08-2019
आजम खान को गिरफ्तारी का खतरा, अग्रिम जमानत के लिए कोर्ट में दी अर्जी  

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद आजम खान ने उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा पिछले तीन महीनों में उनके खिलाफ  64 मामले दायर किए जाने के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की है। रामपुर के जिला अधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने बताया कि सभी 64 मामले गंभीर हैं, जिनमें से 28 केस पिछले एक महीने में दायर किए गए हैं। उन्होंने कहा कि कई और लोगों के आगे आने और सांसद के खिलाफ  शिकायत करने की उम्मीद है। आजम खान पर जबरन किसानों की जमीन हड़पने का आरोप लगा है। करीब 27 किसानों ने यह कहते हुए मामले दर्ज कराए हैं कि उनकी जमीन को आजम खान ने जबरन हड़प लिया है। वहीं चुनाव के दौरान चुनाव नियमों के उल्लंघन, अधिकारियों को धमकी देने और सांप्रदायिक भाषण देने के 13 मामले दर्ज हैं। इन सभी 13 मामलों में पुलिस की ओर से आरोपपत्र दायर किए गए हैं। सूत्रों के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय द्वारा आजम खान के खिलाफ मामला दर्ज होने के बाद पूछताछ के लिए आजम को हिरासत में लिया जा सकता है। ईडी ने आजम खान पर मनी लॉन्ड्रिंग  के तहत केस दर्ज किया है। आजम खान का कहना है कि मैं रामपुर सीट जीतने और भारतीय जनता पार्टी को हराने की कीमत चुका रहा हूं। योगी सरकार की तरफ  से मेरे खिलाफ दबाव बनाया जा रहा है। वहीं समाजवादी पार्टी ने धमकी दी है कि अगर उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आजम खान को गिरफ्तार करने के कदम उठाए जाते हैं तो राज्यव्यापी आंदोलन किया जाएगा। 

02-08-2019
इसका मतलब ये नहीं कि हम लादेन या दाउद हैं : आजम खान

लखनऊ। कानूनी शिकंजे में फंसे आजम खान ने जौहर विश्वविद्यालय के बचाव में कहा है कि अगर ताजमहल की जगह 2 हजार विश्वविद्यालय बने होते तो मुस्लिम विश्व का सबसे पढ़ा-लिखा समुदाय होता। एक इंटरव्यू में आजम ने कहा कि पासपोर्ट में एक गलती से यह मतलब नहीं है कि उनका लादेन से संबंध है। बता दें कि बेटे अब्दुल्ला आजम दो जन्मतिथियों के मामले में फंसे है और उनके खिलाफ  धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज किया गया था। लोकसभा स्पीकर रमा देवी पर टिप्पणी मामले में आजम खान का कहना है कि उर्दू प्यार और मानवता की भाषा है। अगर मैंने एक भी गैरसंसदीय शब्द इस्तेमाल किया है तो मैं लोकसभा से इस्तीफा देने को तैयार हूं। दिक्कत ये है कि स्थानीय प्रशासन के न चाहने के बावजूद मैं लोकसभा चुनाव जीतकर सांसद बना। यही सरकार की आंखों में खटक रहा है। आजमखान ने कहा कि मैं लड़कियों के लिए शिक्षा संस्थान भी चलाता हूं। अगर मैं आदतन ऐसा करता तो मेरे खिलाफ  दूसरी जगहों से भी शिकायत आतीं। जौहर यूनिवर्सिटी में जमीनी विवाद पर कहा  कि चार सौ बीघा जमीन खरीदी गई तो चार बीघे की जालसाजी क्यों की जाएगी? 

 

 

30-07-2019
आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी में थीं चोरी की 2000 प्राचीन किताबें  

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान के ड्रीम प्रोजेक्ट जौहर यूनिवर्सिटी पर मंगलवार को पुलिस ने छापा मारा। जिले के एसपी अजय पाल शर्मा के मुताबिक पुलिस ने यूनिवर्सिटी की मुमताज सेंट्रल लाइब्रेरी पर छापा मारा है। पुलिस ने यहां बड़ी संख्या में चोरी हुई पुरानी और महंगी किताबें बरामद की हैं। करीब 2000 से ज्यादा किताबें पुलिस ने बरामद की हैं। दरअसल इसके लिए बीते 16 जून को थाना गंज में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। यह एफआईआर मदरसा आलिया के प्रिंसिपल जुबेद खां ने दर्ज कराई थी। जुबेद खां का आरोप है कि उनके मदरसे से चोरी की गई किताबें जौहर यूनिवर्सिटी की सेंट्रल लाइब्रेरी में मौजूद हैं। पुलिस ने उसी आधार पर कार्रवाई की है। प्राचीन किताबों की चोरी के संदर्भ में पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में भी लिया है। अब पुलिस इन किताबों की पहचान करवा रही है। इस रेड के दौरान एसपी अजय पाल शर्मा खुद भी मौजूद थे। हिरासत में लिए पांच कर्मचारियों में एक महिला भी शामिल है। हालांकि जब पुलिस वहां छापा मारने पहुंची तो महिलाओं द्वारा विरोध किया गया। बताया जा रहा है कि किताबों की तलाश कर रही पुलिस की छापे की कार्रवाई जारी है।


 

 

27-07-2019
सदन के बाहर भी घिरे आजम खान, जया प्रदा केस में चार्जशीट फाइल

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद आजम खान के खिलाफ लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा नेता जया प्रदा पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में पुलिस ने चार्जशीट फाइल की है। 14 अप्रैल को शाहबाद में पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आजम खान के लिए जनसभा की थी। इस सभा में संबोधन के दौरान आजम खान ने भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा को लेकर अमर्यादित टिप्पणी की थी।

26-07-2019
रमा देवी ने कहा- आजम खान ने बिना शर्त माफी नहीं मांगी तो करें 5 साल के लिए सस्पेंड 

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान की टिप्पणी पर रमा देवी ने कार्रवाई की मांग की है। रमा देवी ने सरकार और स्पीकर से कहा कि आजम खान सोमवार को बिना शर्त लोकसभा में माफी मांगे। अगर वे माफी नहीं मागते हैं तो उन्हें 5 साल के लिए निलंबित किया जाए। वहीं स्पीकर ओम बिरला आजम खान को सोमवार को बिना शर्त माफी मांगने के लिए नोटिस भेजने की तैयारी कर रहे हैं। अगर आजम माफी मांगने से कतराते हैं तो उनपर कठोर कार्रवाई भी हो सकती है। इस मामले पर स्पीकर ओम बिरला की अगुवाई में आज बैठक हुई। सूत्रों के अनुसार बैठक के दौरान ओम बिरला ने आजम खान को सदन के सामने माफी मांगने के लिए कहा है। अगर आजम माफी नहीं मांगेगे तो स्पीकर उनपर कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र हैं। आजम खान के खिलाफ कार्रवाई के लिए लोकसभा में आज सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास हो गया है। उनके खिलाफ एक्शन लेने के लिए स्पीकर को अधिकार दे दिया गया है। बता दें कि गुरुवार को लोकसभा में तीन तलाक बिल पर चर्चा के दौरान रामपुर से एसपी सांसद आजम खान ने सभापति की कुर्सी पर बैठी रमा देवी पर निजी और विवादास्पद टिप्पणी की थी। इसे लेकर संसद में काफी हंगामा हुआ था। आजम खान मामले में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि वो सभी दलों के नेताओं के साथ बैठक कर इस बारे में कोई निर्णय करेंगे।

 

 

26-07-2019
आजम खान के व्यवहार की एक सुर में निंदा, जल्द कार्रवाई करेंगे अध्यक्ष

नई दिल्ली। लोकसभा में गुरुवार को समाजवादी पार्टी के सदस्य आजम खान के व्यवहार की आज सभी दलों ने एक सुर में निंदा की और अध्यक्ष ओम बिरला ने जल्द कार्रवाई का आश्वासन दिया। कई वरिष्ठ मंत्रियों और सत्ता पक्ष तथा विपक्ष के अन्य सदस्यों द्वारा शुक्रवार को शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाये जाने पर बिरला ने कहा मैंने आप सबकी बात सुनी है। सभी दलों के नेताओं के साथ बैठक बुलाकर इस पर शीघ्र निर्णय लिया जायेगा।

02-06-2019
क्या सांसद आजम खान लोकसभा से दे देंगे इस्तीफा...? 

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के रामपुर से सपा सांसद आजम खान ने ऐलान किया है कि वो जल्द ही इस्तीफा दे सकते हैं। आजम खान ने कहा कि वे बहुत आहत है कि रामपुर में न कोई डॉक्टर और न ही स्वास्थ्य सुविधाएं। उन्होंने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि हम एक अस्पताल चला रहे हैं और इसे भी समाप्त करने के प्रयास हो सकते हैं। आजम ने मीडिया के सामने कहा कि रामपुर में बैराज का निर्माण होना चाहिए, जो कि काफी समय से लंबित है। मैं  लोकसभा से इस्तीफा देने के बारे में सोच रहा हूं। ऐसी संभावना है कि मैं अगले विधानसभा चुनाव लड़ सकता हूं। 

22-04-2019
आजम खान के बेटे ने की जयाप्रदा पर टिप्पणी, जानिए क्या कहा जयाप्रदा ने...

 नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के इस समर में नेताओं के विवादित बोल लगातार समाने आ रहे हैं। उत्तरप्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट पर भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा और सपा के आजम खान आमने सामने है। सपा नेता आजम खान ने चुनावी सभा में अभिनेत्री जयाप्रदा पर विवादित टिप्पणी की थी। इसके बाद उनके पुत्र अब्दुल्ला अजाम ने भी सोमवार को एक चुनावी रैली के दौरान विवादित टिप्पणी कर दी। उन्होंने रामपुर के पान दरीबा में एक जनसभा संबोधित करते हुए जयाप्रदा का नाम लिए बिना कहा कि हमें अली और बजरंगबली की जरूरत है न की अनारकली की। अब्दुल्ला आजम की इस टिप्पणी के बाद जयाप्रदा ने कहा कि जैसा पिता वैसा बेटा है। इसका जवाब रामपुर की जनता देगी। जयाप्रदा ने पलटवार करते हुए कहा कि 'जैसा पापा है वैसा बेटा है। बाप तो ऐसा ही बोलता है, मुझे लगा अब्दुल्ला पढ़े लिखे हैं, लेकिन वे भी उसी परिवार से हैं। उन्हें नहीं पता कि महिलाओं की कैसे कद्र करते हैं। जयाप्रदा ने कहा कि लोग सब कुछ देख रहे हैं। जनता पिता-पुत्र की जोड़ी को करारा जवाब देंगी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804