GLIBS
01-07-2020
केंद्र सरकार गरीब परिवार को हर माह 7500 रुपए दे : मोहन मरकाम

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि वर्ष 2014-15 से वर्ष 2019-20 तक 6 वर्षों की अवधि के बीच, केंद्रीय भाजपा सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर करों में वृद्धि की।  जनता से 6 साल में 20,00,000 करोड़ रुपए वसूले। हम सरकार से निवेदन करते हैं कि हर गरीब परिवार को हर माह 7500 रुपए सरकार दें। आज की कठिन परिस्थितियों में जब लोगों का गुजर-बसर मुश्किल हो रहा हो,तब किसी भी सरकार को लोगों पर भारी कर लगाने का कोई अधिकार नहीं है। छत्तीसगढ़ के हर एक जिले और ब्लॉक में कांग्रेस के धरना प्रदर्शन में मांगे की जा रही है कि घटे हुए अंतर्राष्ट्रीय कच्चे तेल की कीमतों का लाभ आम लोगों को मिलना चाहिए और पेट्रोल-डीजल-एलपीजी गैस की कीमतों को 2004 के स्तर पर लाना चाहिए। पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के अंतर्गत लाया जाना चाहिए। पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के अंतर्गत लाए जाने तक मोदी सरकार बढ़ाए गए उत्पाद शुल्क वृद्धि को तुरंत वापस ले।

 

30-06-2020
4 जुलाई तक जारी रहेगा धरना प्रदर्शन,मोहन मरकाम ने जिला और ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों को दिए निर्देश  

रायपुर। कांग्रेस के सभी जिला मुख्यालयों में पेट्रोल-डीजल की मूल्य वृद्धि और महंगाई के खिलाफ धरना में एक-एक पदाधिकारी को प्रभारी नियुक्त कर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा। प्रदेश के अनेक ब्लाकों में धरना प्रदर्शन 30 जून को शुरू हुए हैं, जो 4 जुलाई तक चलेंगे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने इस संबंध में सभी जिला और ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों को निर्देश दिए हैं। 4 जुलाई तक प्रदेश के सभी संगठन जिला के अंतर्गत समस्त 307 नगर, ब्लॉक मुख्यालयों में धरना प्रदर्शन करने कहा गया है। इसमें स्थानीय प्रदेश पदाधिकारियों, सांसद, पूर्व सांसद प्रत्याशी, विधायक, पूर्व विधायक, प्रदेश, जिला और ब्लाक कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों, मोर्चा संगठनों, प्रकोष्ठों, विभागों के पदाधिकारियों, सोशल मीडिया, नगरीय निकाय, पंचायतों के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों, वरिष्ठ  कांग्रेसजनों और सभी कार्यकर्ताओं की सहभागिता के निर्देश दिए गए हैं। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि धरना प्रदर्शन के माध्यम से केन्द्र की मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों को आम जनता तक पहुंचाया जाएगा। पेट्रोल-डीजल के मूल्यों मे हो रही अभूतपूर्व वृद्धि के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान चलाकर केन्द्र सरकार के समक्ष विरोध दर्ज कराया जाएगा। इसमें प्रमुख रूप से प्रभावित ओला उबर, ड्राइवर, ट्रक और टैक्सी ड्राइवर सहित आम लोग से राय लेकर वीडियो बनाकर प्रसारित किया जाएगा।

30-06-2020
मोहन मरकाम के कार्यकाल का एक वर्ष पूर्ण होने पर हफ़ीज़ खान ने दी बधाई

राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम के एक वर्ष के कार्यकाल पूर्ण होने पर उनके निवास रायपुर में छत्तीसगढ़ अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य हफ़ीज़ खान ने शुभकामनाएं दी तथा उनके एक वर्ष के कार्यकाल में कई चुनावों में कांग्रेस ने जीत के कई कीर्तिमान बनाये उसके लिए उन्हें बधाई दी।

29-06-2020
मोहन मरकाम ने अपने कार्यकाल की पहली वर्षगांठ पर झीरम घाटी के शहीदों को किया नमन

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने सोमवार 29 जून को अपने एक वर्ष का कार्यकाल पूर्ण किया। उन्होंने राजीव भवन कांग्रेस मुख्यालय में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और झीरम घाटी में शहीद नेताओं,सुरक्षाकर्मियों के छाया चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनको याद किया। मोहन मरकाम ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी व पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली सरकार के जन हितेषी कार्यों को कार्यकर्ताओं के माध्यम से जन-जन तक पहुंचाने में सफलता मिली है। प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं कार्यकर्ताओं का निरंतर सहयोग मिला है। राजीव भवन पहुंचने पर प्रदेश संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने मोहन मरकाम का खादी सूत से निर्मित माला पहनाकर अभिनंदन किया। उन्हें सफलताओं और उपलब्धियों से भरा 1 वर्ष पूर्ण करने पर बधाई और शुभकामनाएं दी। इस दौरान शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित करने प्रदेश कांग्रेस कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष गिरीश देवांगन, संचार विभाग के सदस्य सुशील आनंद शुक्ला, अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष महेंद्र छाबड़ा, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर, वर्क्फ बोर्ड चेयरमेन सलाम रिजवी, राजेश चौबे, मोहम्मद अली, अरुण भद्रा सहित अन्य कांग्रेसी उपस्थित थे।

 

16-06-2020
जिला कांग्रेस ने पौने पांच लाख रुपए का चेक सौंपा प्रदेश अध्यक्ष को 

राजनांदगांव। कोरोना से प्रभावित श्रमिकों के कल्याण के लिए जिला कांग्रेस कमेटी राजनांदगांव के नेतृत्व में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम को कांग्रेस संगठन की तरफ से 4 लाख 78 हजार रुपये की राशि चेक के माध्यम से सौंपी गई। उक्त कार्यक्रम में राजनांदगांव जिले के प्रभारी महामंत्री पंकज शर्मा, जिला कांग्रेस अध्यक्ष पदम कोठारी, विधायक खुज्जी छन्नी साहू, विधायक डोंगरगढ़ भुनेश्वर बघेल, पीसीसी मेंबर सिद्धिक मेमन, महामंत्री जिला कांग्रेस सहित अनेक कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

09-06-2020
पंचायतों को जिम्मेदारी मिलने से रमन सिंह को क्यों तकलीफ हो रही : मोहन मरकाम

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ.रमन सिंह के बयान पर कांग्रेस ने पलटवार किया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि हां, हमें सरपंचों पर भरोसा है। वे निर्वाचित जन प्रतिनिधि हैं। अपनी जिम्मेदारी समझते हैं। जनता के चुने हुए पंचायत के जनप्रतिनिधि को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने महामारी को नियंत्रित करने की जिम्मेदारी दी। प्रवासी मजदूरों की देखभाल के लिए बनाए गए क्वारेटाइन सेंटर की जिम्मेदारी देकर कोरोना महामारी के नियंत्रण के महत्वपूर्ण काम में पंचायतों की सहभागिता तय की है । यहां ठहरे प्रवासी मजदूरों को इससे घर जैसा माहौल और पारिवारिक वातावरण मिल रहा है। प्रवासी मजदूर क्वारेंटाइन सेंटरों में खुद को सुरक्षित और बेहतर महसूस कर रहे हैं। किसी भी प्रकार की रहने खाने की दिक्कतें नहीं हो रही है।

पंचायतों को कोरोना महामारी नियंत्रित करने और क्वारेंटाइन सेंटर की जिम्मेदारी देने से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह को क्यों तकलीफ हो रही है ?मरकाम ने कहा कि लॉक डाउन वन से उत्पन्न परिस्थितियों के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने स्पेशल ट्रेनों बसों और अन्य माध्यमों से प्रवासी मजदूरों के घर वापसी के पुख्ता इंतजाम किए हैं। राज्य में लगभग साढे तीन लाख प्रवासी मजदूरों की घर वापसी हुई है। भूपेश बघेल की सरकार ने मजदूरों के घर वापसी के लिए लगभग 3.30 करोड़ रुपए की राशि खर्च की है। क्वारेंटाइन सेंटर और प्रवासी मजदूरों के रहने खाने की व्यवस्था के लिए जिला कलेक्टरों को भी 3.30 करोड़ रुपए की राशि और ब्लॉक स्तर पर भी धन मुहैया कराया गया है। इसके कारण क्वारेंटाइन सेंटरों में प्रवासी मजदूरों के लिए बेहतर व्यवस्था हुई है। लगातार उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा हैं।

ऐसे समय में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह इतने संवेदनशील मामले में राजनीति कर रहे हैं और बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं।मरकाम ने कहा है कि अपने 15 साल के शासनकाल में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने तो पंचायतों को उनके अधिकार से वंचित किया था। पंचायत मद की राशि का उपयोग भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के स्वागत सत्कार में जबरिया खर्च कराए जाते थे। अमित शाह की रैली के लिए भीड़ भी पंचायतों के पैसे से ही जुटाई जाती थी। रिलायंस कंपनी के टावर लगाने पंचायतों के अनुमति के बगैर बिना अनुमोदन से पंचायत के मद की राशि को जबरिया खर्च कर दिया जाता था। आज पंचायतों को उनका अधिकार दिया गया है। जनता के चुने जनप्रतिनिधियों को करोना महामारी से निपटने में सक्षम और अधिकार संपन्न बनाया गया है। उत्तरदायित्व दिया गया है, ऐसे में भाजपा नेताओं के पेट में दर्द उनके पंचायतीराज विरोधी और लोकतंत्र विरोधी होने का जीता जागता सबूत है।

26-05-2020
दूरस्थ गांवों में बच्चों को मिलेगी बेहतर शिक्षा, बनेंगे दो हायर सेकेंडरी स्कूल भवन

कोंडागांव। विधायक व छग प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने क्षेत्रवासियों की वर्षों पुरानी मांग व क्षेत्र के स्कूली बच्चों की समस्या को ध्यान में रखते हुए ग्राम संबलपुर व ग्राम मालगांव में हायर सेकेण्डरी स्कूल भवन निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया।इस अवसर पर भगवती पटेल, शिवलाल मंडावी, अनसूया नेताम,दासू सोरी,शिशिर श्रीवास्तव , बुधराम नेताम,कैलाश पोयाम,दशरत नेताम, शकुन्तला पोयाम,बुधराम नेताम,तांबेश्वर कोर्राम आदि उपस्थित थे।

 

24-05-2020
मोहन मरकाम ने दी ईद की मुबारकबाद,खुशहाली सुख-शांति की कामना

रायपुर। ईद के मुबारक मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने सबकी खुशहाली सुख शांति की कामना कर मुस्लिम समाज को आपसी प्रेम और भाईचारे के इस पवित्र त्यौहार की हार्दिक बधाई दी है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि रमजान के 1 महीने के उपवास के बाद ईद का त्यौहार आता है। ईद खुशियों के साथ-साथ ने की और भलाई का त्यौहार है। कोरोना महामारी को देखते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने सभी से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और सारी एहतियात बरतते हुए त्यौहार मनाने की अपील भी की है।

 

22-05-2020
भाजपा की केन्द्र सरकार किसान सम्मान निधि किस्तों में ही देती है : मोहन मरकाम

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि जिस भाजपा ने अपने शासनकाल में न किसानों को 2100 रुपए समर्थन मूल्य दिया, न 5 साल 300 रुपए बोनस दिया, न 5 हासपावर पंपो को मुफ्त बिजली का वादा निभाया और ना ही किसानों की कर्जमाफी की, वह किस मुंह से कांग्रेस सरकार पर सवाल खड़े करती है। छत्तीसगढ़ के किसान कभी इस बात को नहीं भूल सकते हैं कि इस साल 2500 रुपए धान का दाम देने में भाजपा की ही केन्द्र सरकार ने रूकावट डाली है। कोरोना संकट लॉक डाउन के कारण उत्पन्न वित्तीय संकट में राज्य की राजस्व आय में कमी आई है,इसके बावजूद कांग्रेस सरकार ने किसानों को 1500 करोड़ रुपए जारी किए हैं।मरकाम ने कहा है कि किसानों से वादाखिलाफी और किसान विरोधी आचरण भाजपा का चरित्र है। किसान विरोधी भाजपा की केन्द्र सरकार किसान सम्मान निधि किस्तों में ही देती है। किसानों की इतनी ही चिंता है तो भाजपा नेता केन्द्र सरकार को छत्तीसगढ़ राज्य के लिए 30 हजार करोड़ का वित्तीय पैकेज देने क्यों नहीं कहते? किस्तों पर भाजपा नेताओं के सवालों को खारिज करते हुए मरकाम ने कहा है कि इस समय प्रदेश की अर्थव्यवस्था बड़े खर्च की अनुमति नहीं दे रही है। विपरीत परिस्थितियों में कोरोना लॉक डाउन के कारण वित्तीय संकट के बावजूद छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने दृढ़ संकल्प के साथ गरीब, मजदूर, किसानों की मद्द के लिए कदम आगे बढ़ाए हंै, जो दूरदर्शी सोच का हिस्सा है। दरअसल किसानों को खेती के लिए पैसों की जरुरत एकमुश्त नहीं होती। समय-समय पर खर्च करने की आवश्यकता होती है और उसी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए समय-समय पर उन्हें खाली हाथ मलने से बचाने के लिए किस्तों में पैसे देने का फैसला लिया गया। जाहिर है, इससे खेती का काम नहीं रूकेगा और समय पर किसान अपने कृषि कार्य को पूरा कर सकेंगे।

 

21-05-2020
अजीत जोगी का हाल जानने अस्पताल पहुंचे मोहन मरकाम

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के स्वास्थ्य की जानकारी लेने पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम गुरुवार को अस्पताल पहुंचे। उन्होंने डॉ.रेणु जोगी, अमित जोगी से मुलाकात कर अजीत जोगी के स्वास्थ्य की जानकारी ली। इस दौरान विधायक विनय जायसवाल, चद्रदेव राय,पूर्व विधायक गुरुमुख सिंह होरा, आरके राय, चुन्नीलाल साहू, प्रेमचन्द जायसी,चन्द्रशेखर शुक्ला, गिरीश दुबे भी अजीत जोगी का हाल जानने अस्पताल पहुंचे थे।

19-05-2020
मोहन मरकाम ने धरमलाल कौशिक से पूछे 5 सवाल

रायपुर। धरमलाल कौशिक के बयान पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने 5 सवाल पूछे हैं। आरएसएस के विषय में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि धरमलाल कौशिक आरएसएस के बारे में जानकारी देना ही चाहते हैं तो 5 सवालों का जवाब ही दे दें। मोहन मरकाम ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का गठन 1925 में हुआ था और 15 अगस्त 1947 को देश आजाद हुआ। देश की आजादी की लड़ाई के अंतिम 22 वर्षों में संघ अस्तित्व में था और इस दौरान आजादी की लड़ाई में संघ की भूमिका को लेकर पांच सवाल का जवाब चाहिए। 

मोहन मरकाम ने कौशिक से क्रमशः पूछा है कि आजादी की लड़ाई में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कितने लोगों ने भाग लिया ? राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कितने लोग जेल गये ? आरएसएस राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कितने लोग शहीद हुए ? अंग्रेजों से आरएसएस राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के और संघ विचारधारा के कितने लोगों ने माफी मांगी ? आजादी की लड़ाई के सिपाहियों स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के खिलाफ अंग्रेजों की मुखबिरी में आरएसएस राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कितने लोग शामिल थे ?

Advertise, Call Now - +91 76111 07804