GLIBS
23-06-2020
अमेरिका ने लगाई एयर इंडिया की स्पेशल उड़ानों पर रोक, लगाए गंभीर आरोप

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच विदेश में फंसे भारतीयों को वंदे-भारत मिशन के जरिए देश लौटाने की भारत की कोशिशों को झटका लगा है। अमेरिकी सरकार ने भारत पर गंभीर आरोप लगाते हुए भारतीय उड़ानों पर रोक लगा दिया। अमेरिका ने आरोप लगाया है कि भारत एविएशन से जुड़े समझौतों का उल्लंघन कर रहा है।अमेरिका का आरोप है कि भारत की ओर से 'अनुचित और भेदभावपूर्ण' नीति अपनाई जा रही है। कोरोना संकट के बीच भारत ने इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू नहीं की हैं। भारत में भी अतरराष्ट्रीय उड़ानों के आने पर पाबंदी है। हालांकि, वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों में फंसे भारतीयों को लाने के लिए एयर इंडिया की फ्लाइट्स जारी हैं।अमेरिका के ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट ने आरोप लगाया है कि भारत कोरोना संकट में फंसे अपने लोगों को लाने के लिए एयर इंडिया के प्लेन भेज रहा है लेकिन साथ ही एयर इंडिया टिकट भी बेच रही है। वहीं, दूसरी ओर अमेरिकी एयरलाइंस के लिए भारत में रोक लगी हुई है और इससे अमेरिकी एयरलाइंस को कॉम्पिटीशन में नुकसान हो रहा है।अमेरिका के ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट का आरोप है कि एयर इंडिया कोरोना वायरस से पहले की तुलना में 50 प्रतिशत ज्यादा फ्लाइट्स के शेड्यूल का विज्ञापन कर रहा है। डिपार्टमेंट की ओर से कहा गया कि ऐसा लग रहा है कि एयरलाइन अपने देश के लोगों की वापसी के नाम पर धोखा कर रही है। विभाग के अनुसार ये आदेश 30 दिनों में प्रभाव में आ जाएगा।विभाग की ओर से कहा गया कि भारतीय एयरलाइनों को चार्टर उड़ानों के संचालन से पहले प्राधिकरण के लिए डीओटी के पास आवेदन करना चाहिए ताकि यह उन्हें और अधिक बारीकी से जांच सके। भारत की ओर से अमेरिकी वाहनों पर प्रतिबंध हटाये जाने के बाद अमेरिका भी भारत से प्रतिबंध हटाने पर फिर से विचार करेगा। गौरतलब है कि कुछ हफ्ते पहले अमेरिका ने चीन की एयरलाइंस पर भी रोक लगाई थी। बाद में 15 जून को दोनों देशों के बीच समझौता हुआ कि दोनों तरफ से हफ्ते में 4-4 फ्लाइट्स की इजाजत होगी।

 

 

25-05-2020
ईद की छुट्टी के बाद भी महत्वपूर्ण मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में 

नई दिल्ली। न्याय की खातिर विभिन्न अवसरों पर आधी रात को सुनवाई करने वाला उच्चतम न्यायालय आज ईद उल फितर के अवकाश के बावजूद एक महत्वपूर्ण मामले की तत्काल(अर्जेंट) सुनवाई करेगा। मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति हृषिकेश राय की खंडपीठ बॉम्बे उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ केंद्र सरकार और एयर इंडिया की अपील पर त्वरित सुनवाई करेगी। शीर्ष अदालत में ईद उल फितर की आज की छुट्टी पहले से निर्धारित थी, लेकिन रविवार देर रात सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री की ओर से संबंधित मुकदमे को तत्काल सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया गया।

बॉम्बे उच्च न्यायालय ने कोरोना महामारी से बचाव को ध्यान में रखते हुए विदेश से आने वाली उड़ान में एयर इंडिया को बीच की सीट खाली रखने का आदेश दिया है, जिसे केंद्र और एयर इंडिया ने शीर्ष अदालत में चुनौती दी है। एयर इंडिया के पायलट देवेन कनानी ने विमानों में बीच की सीट खाली ना रखे जाने को लेकर बॉम्बे उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार के वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों से भारतीयों को स्वदेश वापस लाने में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में बीच की सीटें खाली नहीं रखी जा रही है, जो गत 23 मार्च के गृह मंत्रालय के सोशल डिस्टेंसिंग के आदेश का उल्लंघन है। इसके बाद उच्च न्यायालय ने बीच की सीटें खाली रखने का एयर इंडिया को निर्देश दिया था। अब केंद्र सरकार और एयर इंडिया ने उसे उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी है। साथ ही न्यायालय से अर्जेंट सुनवाई के लिए आग्रह किया, जिसके बाद इस मामले को आज सुबह साढ़े 10 बजे सुनवाई के लिए मुख्य न्यायाधीश की बेंच के समक्ष सूचीबद्ध कर दिया गया।

22-05-2020
एयर इंडिया समेत अन्य कंपनियों ने हवाई उड़ानों के आज से शुरू की टिकट बुकिंग

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने 25 मई से घरेलू उड़ानों का परिचालन बहाल करने का फैसला किया है। उड्डयन मंत्रालय द्वारा 25 मई से घरेलू यात्री विमान सेवाओं को शुरू करने की घोषणा के बाद आज दोपहर 12.30 बजे से विमान सेवाओं की बुकिंग शुरू हो गई है। बता दें कि देश में हवाई सेवाएं दो महीने के बाद शुरू होंगी। केंद्रीय उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पूरी ने बुधवार को घोषणा की थी कि घरेलू विमान सेवाएं 25 मई से शुरू हो जाएंगी।

एयर इंडिया ने ट्वीट कर दी जानकारी :

एयर इंडिया ने एक ट्वीट जारी कर 12.30 बजे से घरेलू विमानों की टिकट बुकिंग शुरू करने की सूचना दी है। कंपनी की ओर से इसके लिए वेबसाइट की जानकारी दी गई, साथ ही कहा गया कि कस्टमर केयर पर बात भी की जा सकती है।

अन्य एयरलाइंस ने भी शुरू की उड़ानें

इसके अतिरिक्त अन्य सभी एयरलाइंस की ओर से बुकिंग सेवा शुरू कर दी गई है। स्पाइसजेट ने भी ट्वीट कर बताया कि कंपनी ने 25 मई से टिकटों की बुकिंग शुरू कर दी है।

हवाई यात्राओं के लिए दिशानिर्देश :

सरकार ने उड़ान सेवाओं को फिर से शुरू करने के लिए एक विस्तृत दिशा निर्देश जारी निर्धारित किया है, जिनमें दो घंटे से कम की उड़ान अवधि के लिए खान-पान की अनुमति नहीं दी गई है। हालांकि, कुछ स्नैक्स और पेय पदार्थ दिए जा सकते हैं। प्रोसीजर में बताया गया है कि विमान सेवाओं को सिर्फ मुख्य शहरों के लिए सीमित क्षमता में शुरू किया जाएगा। विमान में यात्रियों और स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए केवल स्वस्थ लोगों को यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी। प्रोसीजर के अनुसार विमान में हैंड बैगेज/केबिन बैगेज की अनुमति नहीं होगी और सिर्फ वेब चेक-इन या ऑनलाइन चेक-इन की ही अनुमति होगी।

इसके साथ ही हवाई अड्डों पर धूम्रपान की अनुमति भी नहीं होगी। यात्रियों को अपने स्मार्ट फोन पर आरोग्य सेतु एप्लीकेशन डाउनलोड करना अनिवार्य होगा। इसके अलावा यात्रियों को फेस मास्क और हैंड ग्लव्स पहनना अनिवार्य होगा। अगर यात्री पहले कभी क्वारंटाइन में रहा है तो उसे अपनी कोविड-19 क्वारंटाइन हिस्ट्री बताने के लिए एक फॉर्म भरना पड़ेगा। हाल ही में दिल्ली हवाई अड्डे पर अल्ट्रावायलेट तकनीक पर आधारित डिसइंफेक्टेंट टनल बनाए गए हैं, जिस पर यात्रियों के सामान को कीटाणुरहित किया जाएगा, साथ ही जगह-जगह अल्ट्रावायलेट टावर भी लगाए गए हैं जो आने-जाने वाले यात्रियों को डिसइंफेक्ट करेगा।

14-05-2020
एयर इंडिया ने शुरू की घरेलू उड़ानों के लिए बुकिंग, सामान्य यात्री नहीं कर सकेंगे सफर

नई दिल्ली। देश में घरेलू उड़ानों का संचालन 18 मई से शुरू हो रहा है। इसके लिए एयर इंडिया ने टिकटों की बुकिंग भी शुरू कर दी है। टिकट बुकिंग के लिए एयर इंडिया ने कुछ सीमाएं तय की हैं। सरकारी विमानन कंपनी ने साफ कहा है कि ये घरेलू उड़ानें विदेशों से आ रहे लोगों के लिए ही होंगी। सामान्य यात्रियों के लिए यह सर्विस नहीं है। टिकट की बुकिंग 14 मई शुरू हो गई है। ज्यादा जानकारी के लिए एयर इंडिया की वेबसाइट (http://airindia) पर जा सकते हैं। बता दें कि विदेश में फंसे यात्री भारत लौट रहे हैं। उनके सामने सबसे बड़ी समस्या है कि वह अपने गृह राज्य कैसे पहुंचे, जिसको देखते हुए एयर इंडिया ने ये सेवा जारी की है।

बता दें, विदेश में फंसे भारतीयों को स्वेदश वापस लाने के लिए सरकार की और से वंदे भारत मिशन की शुरूआत की गई थी,जिसका पहला चरण समाप्त हो गया है। 12 मई तक वंदे भारत मिशन के तहत 11 फ्लाइट्स से 2171 भारतीयों को वापस लाया जा चुका है। इस मिशन के तहत अब तक बहरीन, दुबई, मस्कट, सिंगापुर, ढाका, दम्मन, मनीला आदि देशों से लोगों को वापस लाया गया है। अभियान का दूसरा चरण 16 मई से शुरू किया जा रहा है। दूसरे चरण में करीब 30 हजार भारतीयों की वापसी होगी। इसके लिए 16 मई से 22 मई तक विशेष उड़ानों का संचालन किया जाएगा।

10-05-2020
एयर इंडिया के 5 पायलट कोरोना संक्रमित, कार्गों विमान लेकर गए थे चीन

नई दिल्ली। एयर इंडिया के पांच पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। उड़ान ड्यूटी से 72 घंटे पहले किए जाने वाले प्री-फ्लाइट वायरस टेस्ट से इस बात का पता चला है। एयर इंडिया के सूत्रों ने कहा है कि ये सभी पायलट फिलहाल एसिम्टोमैटिक हैं और मुंबई में हैं। हाल ही में ये सभी पायलट कार्गों विमान लेकर चीन गए थे। एयर इंडिया के सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी है। गौरतलब है कि हाल के दिनों में चिकित्सा आपूर्ति के लिए भारत ने एयर इंडिया के विमानों को चीन भेजा था।

बता दें कि देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 3277 नए मामले सामने आए हैं और 127 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 62,939 हो गई है, जिनमें 41,472 सक्रिय हैं, 19,358 लोग स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 2109 लोगों की मौत हो चुकी है।

04-04-2020
एयर इंडिया ने 30 अप्रैल तक बुकिंग रोकी, स्पाइस जेट और गोएयर ने 15 अप्रैल से घरेलू उड़ानों के लिए बुकिंग शुरु की

रायपुर/नई दिल्ली। एयर इंडिया ने घरेलू एवं अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए 30 अप्रैल तक की बुकिंग रद्द कर दी है। एयरलाइंस ने 14 अप्रैल को समाप्त होने जा रहे लॉकडाउन की अवधि पर सरकार के फैसले का इंतजार करते हुए यह फैसला लिया है। एयर इंडिया के प्रवक्ता ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी शेयर की है। दूसरी तरफ इंडिगो, स्पाइस जेट और गोएयर ने कहा है कि वे 15 अप्रैल से घरेलू उड़ानों के लिए बुकिंग कर रहे हैं। स्पाइस जेट और गोएयर ने कहा है कि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए 1 मई से टिकट की बिक्री शुरू कर दी है। इंडिगो के प्रवक्ता ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए बुकिंग फिलहाल नहीं होगी। फुल सर्विस कैरियर विस्तारा ने कहा है कि उसने 15 अप्रैल से यात्रा के लिए बुकिंग शुरू कर दी है। 
ज्ञातव्य है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के कारण घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर कामर्शियल उड़ानें 14 अप्रैल तक निलंबित हैं। एयर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि शुक्रवार से 30 अप्रैल तक बुकिंग बंद कर दी गई है। उन्होंने कहा कि 'हम 14 अप्रैल के बाद के फैसले की प्रतीक्षा कर रहे हैं। गौरतलब है कि कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के कारण घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर कामर्शियल उड़ानें 14 अप्रैल तक निलंबित हैं। एयर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि शुक्रवार से 30 अप्रैल तक बुकिंग बंद कर दी गई है। उन्होंने कहा कि 'हम 14 अप्रैल के बाद के फैसले की प्रतीक्षा कर रहे हैं। स्पाइस जेट और गोएयर के प्रवक्ता ने कहा कि 15 अप्रैल से घरेलू उड़ानों और एक मई से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से यात्रा के लिए बुकिंग खुली है। विस्तारा प्रवक्ता ने कहा, 'अभी तक हम 15 अप्रैल से आगे के लिए बुकिंग जारी रखे हुए हैं। यदि मंत्रालय (नागरिक उड्डयन) की कोई अधिसूचना आती है तो हम कार्रवाई करेंगे।' बजट कैरियर एयरएशिया इंडिया की ओर से कोई टिप्पणी नहीं मिल पाई है। गुरुवार को नागरिक उड्डयन सचिव प्रदीप सिंह खारोला ने कहा कि एयरलाइन 14 अप्रैल के बाद की किसी तारीख के लिए टिकट बुकिंग करने के लिए स्वतंत्र हैं। एयर इंडिया ने घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए 30 अप्रैल तक की बुकिंग रोक दी है। एयरलाइंस ने 14 अप्रैल को समाप्त होने जा रहे लॉकडाउन की अवधि पर सरकार के फैसले की प्रतीक्षा के कारण यह फैसला किया है। एयर इंडिया के प्रवक्ता ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। दूसरी तरफ इंडिगो, स्पाइस जेट और गोएयर ने कहा है कि वे 15 अप्रैल से घरेलू उड़ानों के लिए बुकिंग कर रहे हैं।

स्पाइस जेट और गोएयर ने कहा है कि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए एक मई से टिकट की बिक्री शुरू कर दी है। इंडिगो के प्रवक्ता ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए बुकिंग अभी तक निलंबित है। फुल सर्विस कैरियर विस्तारा ने कहा है कि उसने 15 अप्रैल से यात्रा के लिए बुकिंग शुरू कर दी है। गौरतलब है कि कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के कारण घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मार्गो पर कामर्शियल उड़ानें 14 अप्रैल तक निलंबित हैं। एयर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि शुक्रवार से 30 अप्रैल तक बुकिंग बंद कर दी गई है। उन्होंने कहा, 'हम 14 अप्रैल के बाद के फैसले की प्रतीक्षा कर रहे हैं। गौरतलब है कि कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के कारण घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मार्गो पर कामर्शियल उड़ानें 14 अप्रैल तक निलंबित हैं। एयर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि शुक्रवार से 30 अप्रैल तक बुकिंग बंद कर दी गई है। उन्होंने कहा, 'हम 14 अप्रैल के बाद के फैसले की प्रतीक्षा कर रहे हैं। स्पाइस जेट और गोएयर के प्रवक्ता ने कहा कि 15 अप्रैल से घरेलू उड़ानों और एक मई से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से यात्रा के लिए बुकिंग खुली है। विस्तारा प्रवक्ता ने कहा कि 'अभी तक हम 15 अप्रैल से आगे के लिए बुकिंग जारी रखे हुए हैं। यदि मंत्रालय (नागरिक उड्डयन) की कोई अधिसूचना आती है तो हम कार्रवाई करेंगे।' बजट कैरियर एयरएशिया इंडिया की ओर से कोई टिप्पणी नहीं मिल पाई है।

गुरुवार को नागरिक उड्डयन सचिव प्रदीप सिंह खारोला ने कहा कि एयरलाइन 14 अप्रैल के बाद की किसी तारीख के लिए टिकट बुकिंग करने के लिए स्वतंत्र हैं। डीजीसीए ने लॉकडाउन में विमान उड़ाने की अनुमति की अवधि बढ़ाई नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने शुक्रवार को 21 दिवसीय लॉकडाउन के दौरान विमानों के परिचालन के लिए अस्थायी तौर पर दी गई अनुमति (एयरवर्दीनेस रिव्यू सर्टिफिकेट-एआरसी) की अवधि बढ़ा दी है। अब एआरसी तीन जुलाई तक प्रभावी होगा। डीजीसीए ने कहा है कि कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान भी मालवाहक, चिकित्सा सामग्री का परिवहन करने वाले विमानों और समुद्री सुरक्षा में लगे हेलीकॉप्टरों को डीजीसीए से अनुमति लेने के बाद उड़ान भरने की अनुमति है। उसने कहा कि जिनका एआरसी 23 मार्च को समाप्त हो चुका है वे क्षेत्रीय कार्यालयों से ई-मेल के जरिये अनुमति विस्तार की मांग कर सकते हैं। डीजीसीए ने लॉकडाउन में विमान उड़ाने की अनुमति की अवधि बढ़ाई नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने शुक्रवार को 21 दिवसीय लॉकडाउन के दौरान विमानों के परिचालन के लिए अस्थायी तौर पर दी गई अनुमति (एयरवर्दीनेस रिव्यू सर्टिफिकेट-एआरसी) की अवधि बढ़ा दी है। अब एआरसी तीन जुलाई तक प्रभावी होगा। डीजीसीए ने कहा है कि कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान भी मालवाहक, चिकित्सा सामग्री का परिवहन करने वाले विमानों और समुद्री सुरक्षा में लगे हेलीकॉप्टरों को डीजीसीए से अनुमति लेने के बाद उड़ान भरने की अनुमति है। उसने कहा कि जिनका एआरसी 23 मार्च को समाप्त हो चुका है वे क्षेत्रीय कार्यालयों से ई-मेल के जरिए अनुमति विस्तार की मांग कर सकते हैं।

30-03-2020
एयर इंडिया और वायु सेना आगे आई संकट में, विमानों से पहुंचा रहे चिकित्सा सामग्री

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ‘कोविड 19’ से निपटने के लिए देश के विभिन्न स्थानों पर चिकित्सा सामग्री पहुँचाने में वायु सेना और सरकारी विमान सेवा कंपनी एयर इंडिया तथा उसकी इकाई अलायंस एयर दिन-रात जुटी हुई है।
नागर विमानन मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि वायुसेना के साथ एयर इंडिया और अलायंस एयर के मालवाहक विमानों का इस्तेमाल कोरोना की जाँच तथा इससे बचाव में काम आने वाले जरूरी उपकरणों और अन्य आवश्यक वस्तुओं के परिवहन के लिए किया जा रहा है। राज्य सरकारों के साथ समन्वय कर इन वस्तुओं की समय पर आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है।

मंत्रालय द्वारा प्राधिकृत एजेंसियाँ चिकित्सा सामग्री भेजने के लिए मंत्रालय के संबंधित क्षेत्रीय कार्यालयों से संपर्क करती हैं।अलायंस एयर की एक उड़ान 29 मार्च को जरूरी सामग्री लेकर दिल्ली से कोलकाता गई थी। इसमें कोलकाता, गुवाहाटी, डिब्रूगढ़ और अगरतला के शिपमेंट थे। इसी प्रकार वायुसेना का एक विमान वीटीएम किट तथा अन्य जरूरी सामान के साथ दिल्ली से चंडीगढ़ और फिर चंडीगढ़ से लेह गया। वीटीएम किट में जाँच के लिए जैविक नमूने लेकर प्रयोगशाला तक पहुंचाया जाता है।अलायंस एयर की उड़ानों का इस्तेमाल जरूरी सामान को पुणे से मुंबई भेजने के लिए किया जा रहा है जहाँ से एयर इंडिया के विमान उन्हें देश के विभिन्न स्थानों पर लेकर जा रहे हैं।

 

22-03-2020
कोविड 19 का इलाज करा रही युवती के साथ बैठे दो सहयात्रियों की तलाश जारी, यदि आपको हैं जानकारी तो करें मदद

रायपुर। अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी विनीत नंदनवार ने बताया है कि कोरोना वायरस की गत दिवस पॉजिटिव पाई गई रायपुर की युवती के साथ एयर इंडिया के फ्लाइट में उनके साथ बैठे दो सहयात्रियों की पुलिस तलाश कर रही है। ये दोनों यात्री 15 मार्च 2020 को एयर इंडिया की फ्लाइट नंबर एआई 651 में उनके साथ थे। इन दोनों यात्रियों को  मीडिया के माध्यम से अपील की गई है कि वे जहां कहीं भी हो अपने आप को पूरी तरह आइसोलेशन में रखे और अस्वस्थ्य होने की स्थिति में तत्काल चिकित्सालय पहुंच कर अपना इलाज करवाएं तथा प्रशासन को इसकी सूचना दें। उन्होंने नागरिकों से भी आग्रह किया है कि अगर इन लोगो के सम्बन्ध में उन्हें कोई जानकारी हों तो उसे पुलिस या प्रशासन को देने का कष्ट करें।

 

21-03-2020
एयर इंडिया का ड्रीमलाइनर विमान इटली में फंसे भारतीयों को लेने आज होगा रवाना

नई दिल्ली। इटली में फंसे भारतीय नागरिकों और यात्रियों को निकालने के लिए शनिवार को एयर इंडिया का 787 ड्रीमलाइनर विमान रवाना होगा। यह विमान रविवार सुबह फंसे हुए लोगों को लेकर दिल्ली वापस लौटेगा। गौरतलब हो कि 15 मार्च को कोरोना वायरस से प्रभावित ईरान और इटली में फंसे हुए 450 से अधिक भारतीयों को दो विमानों से वापस लाया गया और उन्हें अलग वार्ड में रखा गया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय (आईजीआई) हवाईअड्डे पर सुबह करीब पौने दस बजे मिलान से कुल 218 भारतीय पहुंचे जिनमें अधिकतर छात्र थे। उन्हें दक्षिण पश्चिम दिल्ली के छावला में आईटीबीपी के अलग वार्ड में ले जाया गया।

ईरान से 230 से अधिक भारतीय सुबह करीब सवा तीन बजे नई दिल्ली पहुंचे और उन्हें जैसलमेर के भारतीय सेना स्वास्थ्य केंद्र में अलग वार्ड में रखा गया। ईरान से निकाले गए भारतीयों का यह तीसरा जत्था है। आईजीआई हवाई अड्डे के अधिकारियों ने कहा था कि वे सभी तेहरान से महान एयर के विमान से दिल्ली पहुंचे थे और उन्हें एयर इंडिया के दो विमानों से जैसलमेर ले जाया गया। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा था कि ईरान से कुल 234 भारतीयों को निकाला गया है। रक्षा विभाग के प्रवक्ता कर्नल संबित घोष ने कहा था कि एयर इंडिया के दो विमानों से आज सुबह 236 लोग जैसलमेर पहुंचे।

मुरलीधरन ने ट्वीट किया था कि (इटली के) मिलान से 211 छात्रों समेत 218 भारतीय दिल्ली पहुंचे। सभी को 14 दिनों तक अलग रखा जाएगा। भारतीय जहां कहीं भी मुसीबत में हैं, भारत सरकार उन तक पहुंचने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा था कि इटली सरकार, इटली में भारतीय दल, एयर इंडिया और विदेश मंत्री एस जयशंकर के सहयोग के लिए उनका शुक्रिया। हवाईअड्डे के एक अधिकारी ने बताया कि इटली से आया विमान सुबह करीब नौ बजकर 45 मिनट पर यहां इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा पर उतरा। बता दें कि चीन के बाद इटली दूसरा ऐसा देश है, जहां इस वायरस से सबसे ज्यादा लोग प्रभावित है। इटली में कोरोना वायरस के कारण मरने वालों की संख्या तेज गति से बढ़ रही है। शुक्रवार को इटली में एक ही दिन में रिकॉर्ड 627 मौत इस महामारी के चलते दर्ज की गईं। इसके चलते देश में कई नए तरह के प्रतिबंध घोषित कर दिए गए हैं। इटली में मरने वालों की संख्या बढ़कर 4,032 हो गई है, जबकि संक्रमित लोगों की संख्या भी 41,035 से बढ़कर 47,021 पर पहुंच गई है। 

20-03-2020
15 मार्च को विमान संख्या AI-651 से रायपुर आने वाले यात्रियों से होम आइसोलेशन में रहने की अपील

रायपुर। स्वास्थ्य विभाग ने 15 मार्च को एयर इंडिया के विमान संख्या AI-651 से सवेरे 11:45 बजे मुम्बई से रायपुर पहुंचने वाले यात्रियों से होम आइसोलेशन में रहने की अपील की है। इस विमान से यात्रा करने वाली एक यात्री कोविड-19 से  पाजिटिव्ह पाई गई हैं। विभाग ने कोरोना वायरस प्रभावित देशों चीन, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कोरिया, फ्रांस, इंग्लैंड, जर्मनी, स्पेन, इटली, ईरान, फिलीपींस, अफगानिस्तान, मलेशिया इत्यादि देशों से लौटने वाले ऐसे यात्री जो रायपुर के अलावा किसी अन्य एयरपोर्ट पर उतरकर ट्रेन, बस या अन्य साधनों से छत्तीसगढ़ पहुंचे हैं, उनसे भी होम आइसोलेशन में रहने की अपील की है।

स्वास्थ्य विभाग ने यात्रियों से खुद के एवं जन स्वास्थ्य की सुरक्षा की दृष्टि से होम आइसोलेशन के दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करते हुए 14 दिनों तक होम आइसोलेशन में रहने कहा है। ऐसे व्यक्ति अपने घर के एक ही कमरे तक रहें। आइसोलेटेड व्यक्ति को घर का एक ही सदस्य मास्क लगाकर पूरी सावधानी बरतते हुए जरूरी समान प्रदान करें। विभाग ने आइसोलेशन में रह रहे व्यक्ति को अन्य लोगों के संपर्क में आने से बचने की अपील की है। आइसोलेशन के दौरान यदि बुखार, खांसी या सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षण दिखाई दें, तो ऐहतियात के तौर पर अपने नजदीकी सरकारी अस्पताल में संपर्क कर अपनी प्रारंभिक जांच करवाएं एवं अपने संबंध में पूरी जानकारी दें। किसी भी प्रकार की समस्या और शंका के समाधान के लिए अपने जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी या टोल-फ्री नंबर 104 पर संपर्क कर सूचित करें।

 

04-03-2020
एनआईआर कर सकेंगे एयर इंडिया का 100 प्रतिशत अधिग्रहण, सरकार ने बढ़ाई सीमा

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने एयर इंडिया के अधिग्रहण को लेकर बड़ा ऐलान किया है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि एयर इंडिया का पूरा-पूरा अधिग्रहण (100 फीसदी) नॉन रेसिडेंट इंडियन भी कर सकते हैं। पहले एनआरआई के लिए यह सीमा 49 फीसदी थी। एयर इंडिया को 2018 में बेचने की पहली कोशिश असफल रहने के बाद केंद्र सरकार ने इस बार अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचने का निर्णय किया है। वर्ष 2018 में सरकार ने एयरलाइन में 76 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने का निर्णय किया था। बता दें कि एयर इंडिया के लिए बोली जमा करने की आखिरी तारीख 17 मार्च तक है। इसमें रुचि रखने वाले बोली दाताओं का नेटवर्थ 3,500 करोड़ रुपये होना चाहिए। बोली जमा होने के बाद आगे की प्रक्रिया अपनाई जाएगी। हाल ही में अश्विनी लोहानी की जगह वरिष्ठ आईएएस अधिकारी राजीव बंसल को एयर इंडिया का नया चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर नियुक्त किया गया है। एयर इंडिया पर करीब 80 हजार करोड़ का कर्ज है। वित्त वर्ष 2018-19 में एयर इंडिया को 8,556 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। 7 जनवरी को गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में बने एक मंत्री समूह (ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स) ने निजीकरण से जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। एयर इंडिया और एयर इंडिया एक्सप्रेस में 100 पर्सेंट शेयर सरकार के पास ही हैं।

04-03-2020
10 सरकारी बैंकों के विलय के बाद बनेंगे 4 बड़े बैंक, केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में हुआ निर्णय

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्‍यक्षता में बुधवार को हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में कई प्रस्‍तावों को मंजूरी दी गई। इन प्रस्‍तावों में कंपनी कानून में संशोधन,10 सरकारी बैंकों का आपस में विलय कर चार बड़े बैंक बनाने और एयर इंडिया के विनिवेश के लिए एफडीआई नीति में बदलाव जैसे प्रस्‍ताव शामिल हैं। मंत्रिमंडल की बैठक के बाद वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि मंजूरी मिलने के बाद पीएसयू बैंकों का विलय एक अप्रैल से प्रभावी होगा।
उल्‍लेखनीय है कि सरकार ने पंजाब नेशनल बैंक के साथ ओबीसी और यूनाइटेड बैंक का विलय करने की घोषणा की है। इसके अलावा केनरा बैंक और सिंडीकेट का विलय किया जाएगा।

यूनियन बैंक के साथ आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक का विलय होगा। इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक का आपस में विलय होगा। इसके अलावा केंद्रीय मंत्रिमंडल ने सिव‍िल एविएशन सेक्‍टर में विदेशी निवेश के नियमों में भी ढील देने का फैसला किया है। इस फैसले के बाद एयर इंडिया में 100 प्रतिशत विदेशी निवेश का भी रास्‍ता साफ हो गया है। मंत्रीमंडल ने कंपनी कानून में भी बदलाव को मंजूरी दी है,जिसके तहत 40 कानूनों को आपराधिक दर्जा से बाहर किया जाएगा। इस बदलाव के बाद अब घरेलू कंपनियां विदेश में लिस्‍ट हो पाएंगी।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804