GLIBS
18-09-2020
कलेक्टर ने कहा, होम आइसोलेशन की अनुमति आसानी से मिले,शिकायत की जांच के लिए टीम गठित करने के निर्देश

जांजगीर-चांपा। कलेक्टर यशवंत कुमार ने शुक्रवार को जिला कार्यालय में कोविड -19 की रोकथाम एवं प्रबंधन से संबंधित जिला स्तरीय आधिकारियों की बैठक मे कहा कि लक्षणरहित कोरोना संक्रमित मरीजों को मेडिसिनकिट के साथ ही होम आइसोलेशन के लिए प्रोत्साहित किया जाए। होम आसोलेशन की अनुमति सरलता से और आसानी से मिलनी चाहिए। किसी भी मरीज को अनुमति के लिए दिक्कत ना हो इसका ध्यान रखें। कलेक्टर ने होम आइसोलेशन के लिए पैसे मांगने की एक शिकायत को गंभीरता से लेते हुए कहा कि ऐसी शिकायत की कड़ाई से जांच होगी। सही पाये जाने पर जिम्मेदार के खिलाफ बर्खास्तगी जैसी कड़ी कार्यवाही की जाएगी। साथ ही थाने में एफआईआर भी दर्ज कराया जाएगा।  शिकायत की जांच के लिए टीम गठित कर मरीजो से टेलीफोन से जानकारी लेने के लिए  जिला पंचायत सीईओ तीर्थराज अग्रवाल को निर्देशित किया। साथ ही काॅल रिकार्ड सुलभ सदर्भ के लिए रखने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने सीएमएचओ से कहा कि सभी आवश्यक दवाईयों का स्टाक पर्याप्त मात्रा मे उपलब्ध रहे,यह सुनिश्चित करें। किसी भी स्वास्थ्य केन्द्र में दवाईयों की कमी नहीं होनी चाहिए। आवश्यकता अनुसार लोकल खरीदी की अनुमति दी जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि मानसिक रूप से अस्वस्थ मरीजों के परामर्श के लिए  मनोचिकित्सक की  ड्यूटी लगाने के लिए सीएमएचओ को निर्देशित किया। ताकि मानसिक रूप से अस्वस्थ मरीज को वीडियो काॅल या वाईस काॅल के माध्यम से तनाव मुक्त करने के लिए परामर्श किया जा सके।  परामर्श का रिकार्ड संधारित करने के निर्देश भी दिए गए। बैठक मे अपर कलेक्टर लीना कोसम, जिला पंचायत सीईओ तीर्थराज अग्रवाल, सीएमएचओ डाॅ. एसआर बंजारे, डिप्टी कलेक्टर करूण डहरिया सहित अधिकारी मौजूद थे। 

 

10-09-2020
घर पर इलाज की पूरी व्यवस्था हो तभी नियम शर्तों के आधार पर होम आइसोलेशन की अनुमति मिलेगी

रायपुर/कवर्धा। अगर घर पर पूरी व्यवस्था हो तो अब होम आइसोलेशन में कोरोना के ईलाज के लिए बने नियम-शर्तों के आधार पर ही अनुमति मिलेगी। स्वास्थ्य विभाग ने होम आइसोलेशन में कोविड-19 के ईलाज की अनुमति नियम-शर्तों के आधार पर देने का निर्णय लिया है। होम आईशोलेशन में कोरोना संक्रमित मरीज के रहने के लिए घर में हवादार कमरा और अलग शौचालय होना अनिवार्य है। यदि घर में ऐसी व्यवस्था नहीं है तो मरीज के ईलाज का प्रबंध कोविड केयर सेंटर में किया जाएगा। सामुदायिक शौचालय का उपयोग करने वाले परिवारों को होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं दी जाएगी।

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने बताया कि होम आइसोलेटेड मरीज के घर के बाहर निर्धारित प्रारूप में लाल रंग का स्टीकर चस्पा दिया जाएगा। होम आइसोलेशन के लिए उपयुक्त पाए गए मरीजों को उपचार के लिए दवाईयों का एक किट प्रदान किया जाएगा। होम आइसोलेशन की सम्पूर्ण अवधि के दौरान जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा नियुक्त स्वास्थ्यकर्मी प्रतिदिन चिकित्सकों या उनके अटेंडेंट से फोन के माध्यम से संपर्क में रहेंगे। मरीजों द्वारा आइसोलेशन प्रोटोकॉल के किसी भी निर्देश की अवहेलना करने पर उन्हें तत्काल कोविड केयर सेंटर शिफ्ट करते हुए अपनी ही अंडरटेकिंग की अवहेलना करने एवं महामारी अधिनियम के उल्लंघन के लिए उन पर कार्यवाही की जाएगी।

होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज के परिजन भी घर से बाहर नहीं जाएंगे तथा दैनिक वस्तुओं की उपलब्धता आवश्यकतानुसार सुनिश्चित करने के लिए जरूरी प्रबंध करेंगे। होम आइसोलेटेड मरीज के घर के घरेलू अपशिष्ट का संग्रहण एवं समुचित प्रबंधन जिला प्रशासन के माध्यम से किया जाएगा। मरीज और उनके परिजन किसी भी परिस्थिति में अपने घर से बाहर नहीं निकलेंगे और न ही बाहर से कोई परिजन या मित्र उनसे मिलने आ सकेगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुरेश तिवारी ने बताया कि होम आइसोलेशन के प्रबंधन तथा होम आइसोलेशन के इच्छुक मरीजों की निगरानी एवं समन्वय के लिए जिला स्तर पर सप्ताह के सातों दिन चौबीसों घंटे संचालित होने वाले कॉल सेंटर एवं कण्ट्रोल रूम की स्थापना की गयी है। टोल फ्री नंबर 104 एवं जिला कंट्रोल रूम का दूरभाष क्रमांक 07741232078 है, जिस पर संपर्क कर मरीज अपनी समस्या बता सकते हैं एवं ईलाज की सुविधा प्राप्त कर सकते हैं।

26-08-2020
होम आइसोलेशन की अनुमति के लिए संख्या-सीमा की बंदिश खत्म

रायपुर। स्वास्थ्य विभाग ने कलेक्टरों द्वारा होम आइसोलेशन के लिए अनुमति देने के लिए प्रत्येक जिले के लिए निर्धारित मरीजों की संख्या की सीमा हटा दी है। अब कलेक्टर होम आइसोलेशन के लिए उपयुक्त पाए जाने वाले कोविड-19 के लक्षणरहित मरीजों को संख्या-सीमा की बाध्यता के बिना इसकी अनुमति दे सकेंगे। स्वास्थ्य विभाग की सचिव निहारिका बारिक सिंह ने सभी कलेक्टरों को परिपत्र जारी कर नए दिशा-निर्देशों के अनुरूप होम आइसोलेशन की अनुमति देने कहा है। उन्होंने इसके लिए विभाग द्वारा निर्धारित सभी मापदंडों और शर्तों का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड-19 के बिना लक्षण वाले मरीजों को होम आइसोलेशन में इलाज और प्रबंधन के लिए सभी जिलों को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए गए थे। सभी जिलों को एक निर्धारित संख्या में ही होम आइसोलेशन की अनुमति देने कहा गया था। होम आइसोलेशन के लिए उपयुक्त पाए गए मरीजों को उनकी इच्छानुसार जिला स्तर पर इसकी अनुमति दी जाती है।

 

24-08-2020
कोविड-19 संक्रमित पाए जाने पर 7 नए कंटेनमेंट जोन घोषित,जिला दंडाधिकारी का आदेश जारी

जांजगीर-चांपा। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी यशवंत कुमार ने भारत सरकार के गृह, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा छत्तीसगढ़ शासन के जारी मार्गदर्शन के परिपालन में बलौदा तहसील के ग्राम खरमोरा, मालखरौदा तहसील के ग्राम कुरदी वार्ड नंबर 12, पामगढ़ तहसील के ग्राम सेमरिया (डिघोरा) वार्ड क्रमांक 6 व 7, नगर पंचायत चन्द्रपुर के वार्ड क्रमांक 7, डभरा तहसील के ग्राम गाड़ापाली व रामभांठा, अकलतरा तहसील ग्राम लिलवाडीह में कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति पाए जाने के कारण संबंधित नगर व गांव के चिन्हांकित क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। कंटेंनमेंट जोन में अति आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं की आपूर्ति तथा अपरिहार्य स्वास्थगत आपातकालीन परिस्थितियों को छोड़कर कंटेनमेंट जोन में आने-जाने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। कंटेनमेंट जोन के निवासी बिना अनुमति के अपने घरों से बाहर किसी भी परिस्थिति में नहीं निकलेंगे। क्षेत्र के अंतर्गत सभी दुकानें, आफिस एवं अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान आगामी आदेश तक पूर्णतः बंद रहेंगे। वाहनों के आवागमन पर भी पूर्ण का प्रतिबंध लगाया गया है।

अति आवश्यक होने पर पृथक से आदेश प्रसारित किया जाएगा। कंटेनमेंट जोन में घर पहुंच सेवा के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति उचित दरों पर की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग द्वारा संबंधित क्षेत्र में स्वास्थ्य निगरानी,सैंपल की जांच आदि की व्यवस्था की जाएगी। कानून-व्यवस्था, कंटेनमेंट जोन को सील करने एवं गश्त करने के लिए आवश्यक पुलिस व्यवस्था के लिए पुलिस अधीक्षक और अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी गई है। कंटेनमेंट क्षेत्र में केवल एक प्रवेश एवं निकास द्वार की व्यवस्था के लिए पीडब्ल्यूडी के कार्यपालन अभियंता को दायित्व सौंपा गया है। स्वास्थ्य विभाग के एसओपी अनुसार पीपीई कीट, मास्क उपलब्ध करवाने, घरों का एक्टिव सर्विलांस, मेडिकल अपशिष्ट प्रबंधन की व्यवस्था की जिम्मेदारी सीएमएचओ को दी गई है। कंटेनमेंट क्षेत्र में सैनिटाइज के लिए नगर पालिका परिषद अकलतरा, नगर पंचायत बलौदा, अड़भार, राहौद, डभरा व चन्द्रपुंर के  सीएमओ को जिम्मेदारी दी गई है।

20-08-2020
गणेश प्रतिमाओं की स्थापना-विसर्जन के लिए लेनी होगी एसडीएम से अनुमति

कोरबा। कोविड संक्रमण को देखते हुए गणेशोत्सव के दौरान इस बार सार्वजनिक रूप से या घरों से बाहर गणेश प्रतिमाओं की स्थापना और विर्सजन के लिए एसडीएम से अनुमति लेनी पड़ेगी। इस बार चार फीट ऊंचाई और चार फीट चैड़ाई से अधिक आकार की गणेश मूर्तियां पंडालों में स्थापित नही की जा सकेंगी। मूर्ति स्थापना के लिए एसडीएम संबंधित क्षेत्र के पुलिस थाने से विस्तृत रिपोर्ट लेंगे और रिपोर्ट के आधार पर ही अनुमति जारी करेंगे। गणेश उत्सव के दौरान कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कलेक्टर किरण कौशल ने विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए हैं। मूर्ति स्थापना वाले पंडाल का आकार 15*15 फिट से अधिक नहीं होगा। गणेश पंडालों के सामने कम से कम 5000 वर्ग फिट की खुली जगह भी रखनी होगी। घरों पर गणेश प्रतिमाओ की स्थापना के लिए जिला प्रशासन द्वारा अनुमति की आवश्यकता नहीं होगी। परंतु भजन-पूजन के दौरान कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अनिवार्य होगा। कलेक्टर किरण कौशल ने गणेश उत्सव के दौरान लगने वाले पण्डालों में भीड़ और श्रद्धालुओं की ज्यादा संख्या में मौजूदगी को रोकने के लिए दिशा निर्देश जारी किए है, ताकि गणेश उत्सव जैसे पवित्र पर्व के दौरान कोरोना संक्रमण के फैलाव की संभावना को कम किया जा सके। गणेश उत्सव के दौरान जिला प्रशासन द्वारा जारी निर्देशों के साथ-साथ भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी एस.ओ.पी का पालन अनिवार्य रूप से किया जाना होगा।

निर्देश के उल्लंघन करने पर ऐपीडेमिक डिसीज एक्ट एवं विधि अनुकूल नियमानुसार अन्य धाराओं के तहत् कठोर कानूनी कार्यवाही भी की जाएगी। विसर्जन के लिए केवल एक वाहन की अनुमति मिलेगी,4 व्यक्ति से अधिक नहीं जा सकेंगे, मूर्ति विसर्जन के लिए एक से अधिक वाहन की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति विसर्जन के लिए पिकअप, टाटा-एस (छोटा हाथी ) से बड़े वाहन का उपयोग प्रतिबंधित होगा। मूर्ति विसर्जन के वाहन में किसी भी प्रकार के अतिरिक्त साज-सज्जा, झांकी की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति विसर्जन के लिए 4 से अधिक व्यक्ति नहीं जा सकेंगे एवं सभी मूर्ति के वाहन में ही बैठेंगे। अलग से वाहन ले जाने की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति विसर्जन के लिए प्रयुक्त वाहन पंडाल से लेकर विसर्जन स्थल तक रास्ते में कहीं रोकने की अनुमति नहीं होगी। विसर्जन के लिए नगर निगम द्वारा निर्धारित रूट मार्ग, तिथि एवं समय का पालन करना होगा। शहर के व्यस्त मार्गो से मूर्ति विसर्जन वाहन ले जाने की अनुमति नहीं होगी। सामान्य रूप से सभी वाहन रिंग रोड के माध्यम से ही गुजरेंगे। सूर्यास्त के पश्चात एवं सूर्योदय के पहले मूर्ति विसर्जन के किसी भी प्रक्रिया की अनुमति नहीं होगी। विसर्जन के मार्ग में कहीं भी स्वागत, भंडारा, प्रसाद वितरण पंडाल लगाने की अनुमति नहीं होगी।

 

 

14-08-2020
एसटीपी स्थापना की अनुमति के लिए महापौर परिषद से मिली स्वीकृति, निगम को मिलेगा राजस्व

भिलाई नगर। महापौर परिषद के सदस्य नीरज पाल की अध्यक्षता एवं आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी की उपस्थिति में निगम के सभागार में सोशल डिस्टेंस मेंटेन करते हुए महापौर परिषद की बैठक हुई। जहां एसटीपी की स्थापना के लिए विष्णु केमिकल लिमिटेड औद्योगिक क्षेत्र को अनुमति प्रदान करने के लिए सर्वसम्मति से महापौर परिषद के सदस्यों ने सहमति जताई। इस प्रस्ताव पर सहमति जताने के साथ ही निगम को इससे राजस्व की प्राप्ति भी होगी। जल कार्य विभाग द्वारा किए गए गणना के अनुसार 5 रुपए प्रति किलोलीटर नाले की जल को लेने की एवज में लिया जाएगा। जितना जल विष्णु केमिकल लिमिटेड द्वारा लिया जाएगा उसकी गणना इसी आधार पर करते हुए राशि की वसूली की जाएगी। बता दें कि विष्णु केमिकल लिमिटेड औद्योगिक क्षेत्र नंदिनी रोड भिलाई के द्वारा एसटीपी की स्थापना की अनुमति के लिए आवेदन प्रस्तुत किया गया था।

शव दफन के लिए जमीन उपलब्ध कराने पर भी लिया फैसला भिलाई क्षेत्र में मुस्लिम समुदाय द्वारा शव दफन के लिए कब्रिस्तान, सतनामी समाज एवं कबीरपंथी समुदाय के शव के अंतिम संस्कार के लिए जमीन की मांग लंबे समय से की जा रही थी, मांग के अनुसार निगम क्षेत्र में बड़े भूखंड की आवश्यकता है, परंतु जमीन की अनुपलब्धता के चलते इसके लिए नगर पालिक निगम भिलाई सीमा क्षेत्र से बाहर लगे हुए ग्रामीण क्षेत्र में नजूल रिक्त भूमि उपलब्ध कराने नजूल शाखा कार्यालय कलेक्टर, दुर्ग को पत्र प्रेषित किया जाएगा! महापौर परिषद के सदस्यों ने इसके लिए सहमति दी है। बैठक में महापौर परिषद के सदस्य लक्ष्मीपति राजू, जोहन सिन्हा, डाॅ.दिवाकर भारती, दुर्गा प्रसाद साहू, सूर्यकांत सिन्हा, सुभद्रा सिंह, सत्येन्द्र बंजारे, जी.राजू, सुशीला देवांगन, सदीरन बानो, निगम उपायुक्त अशोक द्विवेदी एवं तरुण पाल लहरें, जोन आयुक्त सुनील अग्रहरि, अमिताभ शर्मा एवं पूजा पिल्ले, स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा, लेखा अधिकारी जितेंद्र ठाकुर, सचिव जीवन वर्मा, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी जावेद अली सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

14-08-2020
व्यायाम शाला और योग संस्थान नियमों के अधीन प्रातः 5 बजे से रात 8 बजे खुलेंगे, कलेक्टर ने दी अनुमति

कोरिया। भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के पत्र में निर्धारित गाइडलाइन के आधार पर कलेक्टर एसएन राठौर ने जिले मे संचालित व्यायाम शाला एवं योग संस्थान को सुबह 5 बजे से सायं 8 बजे तक खोलने की अनुमति दी है। इसके तहत सामान्य आवश्यकताओं एवं स्वास्थ्य उद्देश्यों को छोड़कर सभी क्षेत्रों में 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों, किसी भी प्रकार की बीमारी से ग्रसित व्यक्ति, गर्भवती महिलायें और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को जिम में प्रवेश वर्जित रहेगा। दो व्यक्तियों के बीच कम से कम 6 फीट की शरीरिक दूरी का पालन करना अनिवार्य होगा, जिम के दौरान फेस मास्क या फेस कवर लगाना अनिवार्य होगा। बार-बार साबुन के साथ हाथ धोना (कम से कम 40 से 60 सेकेण्ड के लिए) एवं एल्कोहल आधारित हैण्ड सेनिटाइजर का उपयोग (कम से कम 20 सेकेण्ड के लिये), श्वसन शिष्टाचार का पालन करना जैसे - खासते, छीकते वक्त अपना मुंह रूमाल या टिश्यू से ढकना, स्वास्थ्य की स्व-निगरानी करना और राज्य एवं जिला हैल्पलाइन नम्बर में जल्द से जल्द किसी भी तरह की स्वास्थ्य में खराबी की सूचना देना होगा। 

 

13-08-2020
अनुमति से अधिक निर्माण करवाना पड़ा महंगा, नगर निगम ने की कार्यवाही

रायपुर। नगर पालिक निगम रायपुर जोन 5 नगर निवेश विभाग के अमले ने गुरुवार को महंत लक्ष्मीनारायण दास वार्ड क्रमांक 43 में अवैध निर्माण के खिलाफ कार्यवाही की। जोन कमिश्नर चंदन शर्मा के नेतृत्व व जोन कार्यपालन अभियंता डॉ.बीपीके राही, सहायक अभियंता आरएन पटेल, उपअभियंता नगर निवेश सैय्यद जोहेब,अतुल बंसल के साथ पुरानी बस्ती में जोन 5 की टीम पहुंची। अनुमति के विपरीत किए गए अतिरिक्त अवैध निर्माण को थ्रीडी और मजदूरों की सहायता से तोड़वाया गया। संबंधित अवैध निर्माणकर्ता को जोन 5 नगर निवेश विभाग ने निगम अधिनियम के प्रावधानों के तहत नियमानुसार 3 नोटिस पूर्व में ही जारी किया था। संबंधित अवैध निर्माणकर्ता ने अपना अतिरिक्त अवैध निर्माण स्वत: नहीं हटाया। इस पर अंतिम नोटिस जारी कर निगम जोन 5 नगर निवेष विभाग ने अतिरिक्त अवैध निर्माण को तोड़ने दबिश दी।

 

07-08-2020
सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक मदिरा दुकानों को खोलने की अनुमति

रायपुर/जगदलपुर। जिले के कलेक्टर रजत बंसल ने छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम 1915 की प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए शासन के आदेश के अनुसार नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण से आम लोगों को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से बस्तर जिले के समस्त देसी मदिरा दुकान सी.एस. 2 (घघ), विदेषी मदिरा दुकानें एफ. एल. 1 (घघ) एवं मद्य-भण्डारण मद्यभाण्डागार को शुक्रवार से आगामी आदेश तक सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक खोलने की अनुमति दी है।

06-08-2020
नायब तहसीलदारों ने फिर पकड़ी अवैध रूप से भंडारित लगभग 70 हाईवा रेत

कोरबा। कलेक्टर व एसपी द्वारा सीधे अवैध रेत खनन वाली जगह पर छापामार कार्रवाई कर बिना अनुमति और बिना वैध दस्तावेजों के भारी मात्रा में भण्डारित रेत,गिट्टी की जब्ती के बाद राजस्व विभाग की कार्रवाई गुरुवार को भी जारी रही।
आज करतला तहसील के बरपाली उप-तहसील क्षेत्र में नायब तहसीलदार पंचराम सलामे और पवन कोसमा ने अपनी टीम के साथ दबिश देकर अवैध रूप से भण्डारित लगभग 70 हाईवा रेत जब्त की। इतनी अधिक मात्रा में अवैध रेत जप्ती का यह संभवतः जिले में पहला मामला है। रेत तरदा गांव में शासकीय एवं निजी भूमि मिलाकर लगभग आधे एकड़ रकबे में भण्डारित पाई गई है। रेत को जप्त कर तरदा सरपंच के सुपुर्द किया गया है। राजस्व अधिकारियों ने भण्डारित की गई रेत की मात्रा लगभग 840 घन मीटर आंकी है। भण्डारित रेत के संबंध में खनन, परिवहन, भण्डारण, उपयोग सहित राॅयल्टी भुगतान आदि के संबंध में कोई अभिलेख मौके पर प्रस्तुत नहीं किया गया। इसके साथ ही निजी भूमि पर रेत भण्डारण संबंधी अनुमति के बारे में भी कोई दस्तावेज मौके पर उपलब्ध नहीं था। राजस्व अधिकारियों ने संबंधित व्यक्ति को नोटिस जारी कर वैध दस्तावेज समेत सात अगस्त को अनुविभागीय राजस्व अधिकारी कार्यालय में उपस्थित होने को कहा है।

 

06-08-2020
राजधानी में 7 अगस्त से खुलेगा बाजार, जिला प्रशासन ने जारी किया आदेश 

रायपुर। कोरोना वायरस संक्रमण के नियंत्रण और रोकथम के लिए जिला कलेक्टर ने दुकानों के खोलने के नए दिशा निर्देश जारी किए हैं। आदेशानुसार शहर में  7 अगस्त से बाजार को खोलने की अनुमति सशर्त दी गई है। इसमें प्रात: 6 से सुबह 9 बजे और शाम 5 से रात 8 बजे तक ठेले, गुमटी खुले रहेंगे।  सुबह 6 से दोपहर 12 बजे तक फल, सब्जी, डेयरी, मटन और मछली की दुकानें खुलेंगी। सुबह 8 से 4 बजे तक किराना जनरल और प्रोविजन स्टोर्स खोलने की अनुमति दी गई है। वहीं प्रात: 10 से रात्रि 10 बजे तक  रेस्टोरेंट और होटल खुले रहेंगे। इसके साथ ही सुबह 11 बजे से शाम 7 बजे तक तक अन्य व्यवसाय खोलने की अनुमति दी गई है। रविवार को सभी दुकानें पूर्ण रूप से बंद रहेगी। आदेश देखने के लिए यहां क्लिक करे..     

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804